sri ganganagar

- पूर्णिमा के मौके पर उमड़ा श्रृद्वा का सैलाब श्रीगंगानगर। सिद्धपीठ श्रीझांकीवाले बालाजी मंडल की ओर से जिले की सुख-शांति व खुशहाली के लिए आज पूर्णिमा के मौके पर श्रीबालाजी बगीची में हवन-यज्ञ किया गया। मंडल के मुख्य सेवादार प्रेम अग्रवाल गुरूजी ने बताया कि सुबह 8 बजे रामनाम संकीर्तन किया गया, इसके बाद 9 बजे बगीची में ब्राह्मणों के सानिध्य में वैदिक मंत्रों के बीच जिले की खुशहाली के लिए हवन-यज्ञ हुआ। जिसमें यजमानों ने हवन में आहुतियां दी। उन्होंने बताया कि हवन के बाद श्रीबालाजी महाराज की आरती की गई तथा प्रसाद का वितरण किया गया। इस मौके पर प्रधान सुरेन्द्र चौधरी, प्रेम अग्रवाल गुरूजी, सुरेन्द्र सिंगल पुजारी, मदनगोपाल अग्रवाल, शंकर अग्रवाल, हवन प्रभारी रामचन्द्र मोदी, योगेंद्र वधवा, पवन राजपाल, मीडिया कोॢडनेटर लक्ष्मीकांत गौड़, श्रवण गर्ग, सुशील अग्रवाल, राजू चौहान, दिनेश अग्रावाल, सुरेश गुप्ता, श्रवण पारीक, अनिल मल्होत्रा, राजकुमार जैन सहित काफी संख्या में श्रृद्वालूगण मौजूद थे। वहीं इस दौरान आसपास की मंडिय़ों व पंजाब क्षेत्र से भी पूर्णिमा के मौके पर भक्तगण बाबा के धोक लगाने पहुंचे।
- निराकरण नहीं होने पर 26 जून से मुख्य प्रबन्धक का घेराव किया जाएगा श्रीगंगानगर, 13 जून 2019: भारतीय मजदूर संघ ने रोडवेज श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण करने की माँग की है। जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में मीरा चौक स्थित डिस्ट्रिक सैंटर में बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में भारतीय मजदूर संघ तथा राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन के पदाधिकारी व सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में कर्मचारी फैडरेशन के पदाधिकारियों ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्य प्रबन्धक गंगानगर आगार को अनेकों बार ज्ञापन देने के बावजूद रोडवेज श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण नहीं किया जा रहा है तथा संगठन के साथ भेदभावपूर्ण व पक्षपातपूर्ण नीति अपनाकर दोगला व्यवहार किया जा रहा है, जिसे किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने कहा कि 25 जून तक रोडवेज श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण नहीं होने पर 26 जून, बुधवार से जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में आगार प्रबन्धक के साथ आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी तथा श्रमिकों को न्याय दिलाया जाएगा। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ तथा समस्त सम्बद्ध संगठनों द्वारा मुख्य प्रबन्धक का घेराव किया जाएगा तथा समस्याओं के निराकरण तक आंदोलन जारी रखा जाएगा, जिसकी समस्त जिम्मेवारी मुख्य प्रबन्धक तथा जिला प्रशासन की होगी। रोडवेज श्रमिकों की माँगों के निराकरण के लिए अध्यक्ष/प्रबन्ध निदेशक राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम मुख्यालय जयपुर, प्रदेशाध्यक्ष/प्रदेश महामंत्री भारतीय मजदूर संघ जयपुर, प्रदेशाध्यक्ष/प्रदेश महामंत्री राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन जयपुर, सांसद, विधायक, जिला कलक्टर, जिला पुलिस अधीक्षक को भी ज्ञापन भेजकर निराकरण करने की माँग की गई है। इस अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, राज. परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन संरक्षक मलखान सिंह, राजेन्द्र सूद सहित अनेक पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित थे।
- त्रिदिवसीय मीरा चरित्र भक्तिरस कथा में उमड़े श्रृद्वालू श्रोता- श्रीगंगानगर। कलयुग में हम जैसे साधारण लोगों के लिए मीरा का चरित्र आदर्श चरित्र है। सतयुग, त्रेता और द्वापर युग के भक्तों के साध्य युक्त चरित्रों का अनुकरण करना कठिन है। पर कलयुग में हरिनाम और भक्तवंत मीराबाई जैसी महाभक्तों की भक्तिमय कथा के श्रवण से भगवत कृपा प्राप्त की जा सकती है। ये उद्गार रायसिंहनगर के ब्लिस पैलेस में चल रही मीरा के कृष्ण प्रेम एवं विरह पर भावपूर्ण प्रस्तुति मीरा चरित्र कथा में वृंदावन से आये कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने कहीं। उन्होंने भक्त मीरा बाई के जीवन की भक्तिमय यात्रा को विस्तार से बताया। उनके बालपन से लेकर जीवन के अंतकाल तक भक्ति के बढ़ते आनंद और भगवत की कृपा का वर्णन किया। बालपन में ही कृष्ण भक्ति की ऐसी लगन लगी कि उन्होंने अपना पूरा जीवन कृष्ण भक्ति को समर्पित किया। मीरा ने अपने भक्ति मार्ग में संत रविदास को गुरु माना और वृंदावन के संत गिरिधर गोपाल की प्राप्ता की। वहीं उन्होंने वृंदावन से लेकर द्वारिका तक की यात्रा की और हर यात्रा के साथ ही कृष्ण भक्ति का रंग गहरा होता गया। वहीं कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने मीरा बाई के चरित्र का बहुत सुंदर वर्णन करते हुए बताया कि मीरा बाई अपने दादा के साथ श्रीद्वारिका पुरी दर्शन करने आई तो उनके दादा ने उनसे द्वारकाजी में भजन सुनाने को कहा। इस पर मीरा बाई ने नृत्य करते हुए गाया। म्हारो मन हर लीनो रण छोड़, जिसे सुनकर उपस्थिति मंत्रमुग्ध हो गई। वहां से वापस जब मेवाड़ आए तो वहां मीरा बाई भगवान श्रीकृष्ण की सेवा में लग गई। एक दिन मीरा बाई के घर के आगे से कोई बारात निकल रही थी। मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा तो उनकी मां ने बताया कि यह बींद (दूल्हा) है और हाथी पर बैठकर अपनी बींदड़ी (दुल्हन) को लेने आया है और विवाह के बाद बींदड़ी को ले जाएगा। तो मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा, मां मेरा बींद कौन है, मां ने पीछा छुड़ाने के लिए कह दिया, तेरे बींद भगवान श्रीकृष्ण है। बस फिर तो मीरा जी का जीवन ही बदल गया और वो भगवान श्रीकृष्ण (द्वारकाधीश) को अपने पतिरूप में देखने लगी। कथा से पूर्व यजमानों ने कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज को मालार्पण कर आर्शीवाद लिया। कथा के विराम के बाद भगवान की आरती हुई और प्रसाद सेवा हुई। इसमें विभिन्न प्रकार के भोग प्रसाद अर्पित किए गए।
- त्रिदिवसीय मीरा चरित्र भक्तिरस कथा में उमड़े श्रृद्वालू श्रोता- श्रीगंगानगर। कलयुग में हम जैसे साधारण लोगों के लिए मीरा का चरित्र आदर्श चरित्र है। सतयुग, त्रेता और द्वापर युग के भक्तों के साध्य युक्त चरित्रों का अनुकरण करना कठिन है। पर कलयुग में हरिनाम और भक्तवंत मीराबाई जैसी महाभक्तों की भक्तिमय कथा के श्रवण से भगवत कृपा प्राप्त की जा सकती है। ये उद्गार रायसिंहनगर के ब्लिस पैलेस में चल रही मीरा के कृष्ण प्रेम एवं विरह पर भावपूर्ण प्रस्तुति मीरा चरित्र कथा में वृंदावन से आये कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने कहीं। उन्होंने भक्त मीरा बाई के जीवन की भक्तिमय यात्रा को विस्तार से बताया। उनके बालपन से लेकर जीवन के अंतकाल तक भक्ति के बढ़ते आनंद और भगवत की कृपा का वर्णन किया। बालपन में ही कृष्ण भक्ति की ऐसी लगन लगी कि उन्होंने अपना पूरा जीवन कृष्ण भक्ति को समर्पित किया। मीरा ने अपने भक्ति मार्ग में संत रविदास को गुरु माना और वृंदावन के संत गिरिधर गोपाल की प्राप्ता की। वहीं उन्होंने वृंदावन से लेकर द्वारिका तक की यात्रा की और हर यात्रा के साथ ही कृष्ण भक्ति का रंग गहरा होता गया। वहीं कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने मीरा बाई के चरित्र का बहुत सुंदर वर्णन करते हुए बताया कि मीरा बाई अपने दादा के साथ श्रीद्वारिका पुरी दर्शन करने आई तो उनके दादा ने उनसे द्वारकाजी में भजन सुनाने को कहा। इस पर मीरा बाई ने नृत्य करते हुए गाया। म्हारो मन हर लीनो रण छोड़, जिसे सुनकर उपस्थिति मंत्रमुग्ध हो गई। वहां से वापस जब मेवाड़ आए तो वहां मीरा बाई भगवान श्रीकृष्ण की सेवा में लग गई। एक दिन मीरा बाई के घर के आगे से कोई बारात निकल रही थी। मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा तो उनकी मां ने बताया कि यह बींद (दूल्हा) है और हाथी पर बैठकर अपनी बींदड़ी (दुल्हन) को लेने आया है और विवाह के बाद बींदड़ी को ले जाएगा। तो मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा, मां मेरा बींद कौन है, मां ने पीछा छुड़ाने के लिए कह दिया, तेरे बींद भगवान श्रीकृष्ण है। बस फिर तो मीरा जी का जीवन ही बदल गया और वो भगवान श्रीकृष्ण (द्वारकाधीश) को अपने पतिरूप में देखने लगी। कथा से पूर्व यजमानों ने कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज को मालार्पण कर आर्शीवाद लिया। कथा के विराम के बाद भगवान की आरती हुई और प्रसाद सेवा हुई। इसमें विभिन्न प्रकार के भोग प्रसाद अर्पित किए गए।
नई दिल्ली, 31 मई 2019,राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में भीषण गर्मी और लू का कहर जारी है. राजधानी दिल्ली में तापमान 45 डिग्री पहुंच गया है. मौसम विभाग ने शुक्रवार को येलो अलर्ट जारी किया है. दिल्ली में इस हफ्ते के आखिर तक पारा 47 डिग्री पहुंचने का अनुमान है. दिल्ली से दूर राजस्थान के श्रीगंगानगर में रिकॉर्डतोड़ गर्मी पड़ रही है. आज दोपहर 3 बजे यहां पारा 48.8 डिग्री तक पहुंच गया है. मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के महेश पालवत ने ट्वीट में लिखा, ''दिल्ली के पालम में 46.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. मई महीने में 2013 के बाद दर्ज किया गया यह अधिकतम तापमान है. अब तक मई महीने में 26 मई 1998 को अधिकतम तापमान 48.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था''. देश के विभिन्न हिस्सों में गर्म हवाएं चल रही हैं और भीषण गर्मी का कहर जारी है. कई जगहों पर तापमान 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. दक्षिण भारत के तेलंगाना के कई हिस्से एक महीने से लू की चपेट में हैं. तेलंगाना में लू और भीषण गर्मी से 22 दिन में 17 लोगों की मौत हो चुकी है. तेलंगाना में भीषण गर्मी पड़ रही है. दिलाबाद शहर में लगातार दूसरे दिन भी तापमान 46.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारतीय मौसम विभाग ने तेलंगाना में अगले तीन दिनों तक तेज लू चलने की चेतावनी और लोगों को धूप में निकलने से बचने की सलाह दी है. राजस्थान में भीषण गर्मी और लू के प्रकोप के कारण आम जनजीवन प्रभावित है. चूरू में अधिकतम तापमान 47.3 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया जो सामान्य तापमान से चार डिग्री ज्यादा है. बीकानेर-श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 46.8-46.8 डिग्री सेल्सियस, जैसलमेर में 45.5, कोटा में 45.3 और बाड़मेर में 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. महाराष्ट्र के नागपुर शहर में तापमान 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. वहीं चंद्रपुर में अधिकतम तापमान 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. हिमाचल प्रदेश के ऊना में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तो वहीं जम्मू में इस मौसम का अधिकतम तापमान 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारतीय मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश, तेलंगाना, झारखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, बिहार, झारखंड और ओडिशा में लू का प्रकोप अगले दो-तीन दिन तक जारी रहेगा.
समाज में एकजुटता से ही मिलता हैं मजबूत आधार : विधायक गौड़ - 'ब्राह्मण समाज ने धूमधाम से मनाया श्रीपरशुराम जन्मोत्सव, शहरभर में हुए कई धार्मिक आयोजन श्रीगंगानगर। समाज में एकजुटता से ही मजबूत आधार मिलता हैं, फिर चाहे हम कौनसे भी वर्ण से क्यो न हो, वो चाहे गौड़ हो गुर्जर गौड़ या सारस्वत या अन्य। हमें सिर्फ एक ही बात ध्यान में रखनी चाहिये कि हम सबसे पहले ब्राह्मण हैं, इसलियें अपनी जाति के वर्णों के चक्कर में न पड़कर एक होकर सिर्फ एकजुटता ही रखना ओर इसे आगे बढ़ाना ही हमारा उद्देश्य हैं। यह बात मंगलवार को भगवान श्रीपरशुराम जन्मोत्सव के मौके पर सुखाडिय़ा सर्किल रोड़ पर स्थापित पशुराम चौक पर कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़ एवं मनीष पारीक के नेतृत्व में आयोजित पूजा-अर्चना कार्यक्रम में विधायक राजकुमार गौड़ ने कहीं। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण, ब्राह्मण होता हैं इसलिये इसे किसी वर्ण से न जोड़कर हम उसके सुख-दुख में काम आये इससे बड़ा भाईचारा कोई ओर नहीं हो सकता हैं। वहीं परशुराम जन्मोत्सव के दौरान परशुराम चौक पर कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़ एवं मनीष पारीक के नेतृत्व में विधायक राजकुमार गौड़ एवं विप्र बंधूओं ने पूजा-अर्चना कर समाज में एकता का परिचय दिया। इस दौरान राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश गौड़ ने कहा कि समाज में एकता से हम आगे बढ़ सकते हैं ओर सबसे बड़ी बात हम अपने समाजबंधू के सुख-दुख में काम आये इससे बड़ा भाईचारा कोई ओर नहीं हो सकता हैं। क्योंकि जब तक हम अपने जाति भाई के काम नहीं आयेगें तो ऐसी एकजुटता का क्या फायदा। इसलिये जितना हो सके हर विप्र बंधू के सुखदुख में काम आये। उन्होंने समाज में बालिका शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि गत दिनों आये परीक्षा रिजल्ट में हमारे समाज की बेटियों ने बेटों से आगे बढ़कर पढ़ाई में समाज ओर परिवार का रोशन किया हैं। जिससे हमारा सिर शान से ऊंचा उठ गया हैं, इसलिये बेटियों को खूब पढ़ाये जिससे समाज के साथ-साथ देश का भी नाम रोशन हो सकें। वहीं कार्यक्रम में पारीक समाज के अध्यक्ष मनीष पारीक ने कहा कि चाहे कौनसा भी समाज क्यों न हो जब तक एकजुटता नहीं होगी, तब तक समाज का औचित्य नहीं होगा। क्योंकि समाज में एकजुटता ही ऐसी हैं जो समाज के सभी लोगों को एकसाथ जोड़कर रखती हैं। इसलिये ब्राह्मण समाज को भी एकजुटता रखते हुए अपने प्रत्येक समाजबधूंओं को साथ लेकर विकास में आगे बढऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज बधूओं को एकजुटता दिखाते हुए हर बेहतर कार्य में आगे आकर समाज का नाम रोशन करना चाहिए। परशुराम चौक पर पूजा-अर्चना के बाद फूलों की बारिश की गई तथा भगवान श्री परशुराम महाराज को भोग लगाकर प्रसाद का वितरण किया गया। इस मौके पर विधायक राजकुमार गौड़, कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़, प्रभारी मनीष पारीक, मनोहरलाल शर्मा, पवन गौतम, मदनलाल जोशी, श्रवण पारीक, लक्ष्मीकांत गौड़, महेन्द्र उपाध्याय, डॉ. आरपी भारद्वाज, रघुवीर शर्मा, मांगीलाल सारस्वत, सुभाष शर्मा, राजेन्द्र शर्मा, अशोक गौतम, कर्मचारी नेता सतीष शर्मा, सुभाष भारद्वाज, सत्यनारायण शर्मा, विनोद गौतम, ताराचंद पारीक, आनंद शर्मा, रामबिलाश शर्मा, राधेश्याम शर्मा, राजेश सारस्वत, नरेन्द्र शर्मा, मयूर पारीक, चैतन्य शर्मा, ओमकुमार धनखड़, ओपी जोशी, राजेश गौड़ सहित काफी संख्या में विप्र समाजबंधू मौजूद थे। दूसरी ओर परशुराम चौक पर कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़ एवं मनीष पारीक के नेतृत्व में पूजा-अर्चना के बाद मीरा चौक स्थित गुर्जर गौड़ धर्मशाला में हवन-यज्ञ का आयोजन विजय पंचारिया के नेतृत्व में किया गया। जिसमें समाज के महिला व पुरूषों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। इस मौके पर विधायक राजकुमार गौड़, गौड़ सभा के पूर्व अध्यक्ष जगदीश गौड़, सुभाष शर्मा, पदम कौशिक, विनोद गौतम, सुनीता पंचारिया, प्रभा शर्मा, विजय पंचारिया, आरपी भारद्वाज, विमलेश शर्मा, जगदीश तिवाड़ी, बजरंग सारस्वत, बनवारीलाल ओझा, पूनम शर्मा, अंजना शर्मा, राजेश सारस्वत, प्रेमप्रकाश शर्मा, नानूराम पिरगावत, डॉ. आरपी भारद्वाज, विशाल गौड़, महेन्द्र उपाध्याय, सतीष शर्मा, अशोक गौतम, कृष्ण पारीक, सुभाष शर्मा, मीडिया कोर्डिनेटर लक्ष्मीकान्त शर्मा, महावीर शर्मा, सतपाल शर्मा, पवन गौत्तम, सहित काफी संख्या में विप्र समाज के गणमान्य लोग मौजूद थे।
- राजस्थान के प्रसिद्ध जेजी ग्रुप ने चलाया प्रदेशभर में मतदाता जागरूकता अभियान श्रीगंगानगर। राजस्थान के प्रसिद्ध जेजी ग्रुप द्वारा प्रदेशभर के साथ-साथ श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिले के गांवों व शहरी क्षेत्र में लोकसभा चुनाव को लेकर लोक विजय अभियान के तहत मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जा रहा हैं। जिसके तहत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर मतदाताओं से मतदान कर देश के विकास में भागीदार बनने अपील की जा रही है। इसी क्रम में शुक्रवार को धानमंडी एवं रामलीला मैदान में जेजी ग्रुप के अध्यक्ष जगदीश गौड़ के नेतृत्व में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें उन्होंने वोटरों से किसी के दबाव में आये बगैर निर्भिक होकर मतदान करनेे की सलाह दी। उन्होंने कहा कि मतदाता को जागरूक करने के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। ताकि मतदाता जागरूक होंगे तभी शत प्रतिशत मतदान हो सकता है। जिले के युवा मतदाताओं को जागरूक करने के लिए जेजी ग्रुप द्वारा लोक विजय अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आगामी 6 मई को सभी लोग अपने-अपने मतदान केन्द्र पर जाकर अपना कीमती वोट देने का काम करेगें। जिससे देश का भावी भविष्य तय हो सकें। उन्होंने कहा कि शहर में वोटर जागरूकता अभियान के साथ-साथ जिले के पदमपुर, रायसिंहनगर, अनूपगढ़, सूरतगढ़, घड़साना क्षेत्रों तथा हनुमानगढ़ के रावतसर, संगरिया, पीलीबंगा के अलावा कई गांवों में जाकर मतदाता जागरूकता अभियान चलाया गया। वहीं जेजी ग्रुप के अध्यक्ष जगदीश गौड़ ने कहा कि मतदान के दौरान मतदान केन्द्र पर चुनाव आयोग के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ओर पुलिस प्रशासन द्वारा पुख्ता सुरक्षा बंदोबस्त किये गये हैं। जिससे हर मतदाता निर्भिक होकर अपना मतदान कर सकते हैं। इस मौके पर राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश गौड़, सेवानिवृत वरिष्ठ कर्मचारी मनोहरलाल शर्मा, राजेन्द्र लाटा, पवन गौतम, मीडिया कोर्डिनेटर लक्ष्मीकांत गौड़, अमृत सहजपाल, संजय अग्र्रवाल, राकेश शर्मा, राहुल उपनेजा, जगदीश तिवाड़ी, लालचंद नोखवाल, राजसिंह बेनीवाल, हिम्मत पुष्करणा, विक्रम राठौड़, दिनेश एनिया, विनोद टाक, संतोष गुप्ता, राजेश मिड्ढा, राजकुमार सचदेवा, रमन तिवाड़ी, महेन्द्र उपाध्याय, मन्नू सैन, राजेश धीगड़ा, रामेश्वर शर्मा, जुगल सैनी, कृष्ण पारीक, उम्मेद सारस्वत, नीरज तिवारी, अविनाश ऋषि, श्रीकांत सोनी, सुभाष तिवारी, शहनवाज खान, बिटू प्रजापति, नीतिश दूबे आदि लोग उपस्थित थे।
- प्रशासन ने वार्ता के लिए बुलाया - वार्ता विफल होने पर 2 मई को धानमण्डी के सभी गेटों को बंद किया जाएगा श्रीगंगानगर, 25 अप्रैल 2019: भारतीय मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी तथा जय किसान ट्रक यूनियन संघ के अध्यक्ष संतलाल जाखड़ के नेतृत्व में ट्रक चालकों द्वारा अवैध ओवरलोडिंग के खिलाफ कड़ा आक्रोश व्यक्त करते हुए नैशनल हाईवे स्थित हनुमानजी के मूर्ति के सामने धानमण्डी गेट के समक्ष सांकेतिक धरना लगाया गया। भामसं जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि इस पर जिला प्रशासन द्वारा आज संगठन को वार्ता के लिए बुलाया गया है। इस वार्ता में जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में 5 सदस्यीय शिष्टमण्डल शामिल होगा। वार्ता में जिला प्रशासन के समक्ष अवैध लोवरलोडिंग का मुद्दा पुरजोर शब्दों में उठाते हुए, इस पर अंकुश लगाने तथा कड़ी कार्यवाही करने की माँग की जाएगी। इस मौके पर नाजायज रूप से चल रही ट्रेक्टर-ट्रॉलियों पर रोकथाम का मुद्दा भी प्रमुखता से उठाया जाएगा। जय किसान ट्रक यूनियन संघ के अध्यक्ष संतलाल जाखड़ ने कहा कि ट्रेक्टर-ट्रॉली वाले नियमानुसार लोडिंग परिवहन की बजाय अवैध रूप से तीन-चार गुणा ओवरलोडिंग करके परिवहन कार्य करते हैं, जो नियम विरूद्ध है तथा इससे नित्यप्रति दुर्घटनायें होती हैं। लेकिन जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन तथा परिवहन विभाग द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। अवैध ओवरलोडिंग से ट्रक मालिकों-चालकों के हितों पर कुठाराघात हो रहा है, जबकि सबसे ज्यादा टैक्स ट्रक मालिकों द्वारा ही दिया जाता है, फिर भी उनकी कोई सुनवाई नहीं होती है। भारतीय मजदूर संघ तथा जय किसान ट्रक यूनियन संघ ने पुरजोर शब्दों में माँग की है कि अवैध परिवहन की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाये जायें, अन्यथा वार्ता विफल होने पर 2 मई, बृहस्पतिवार को धानमण्डी के सभी गेटों को बंद करके जोरदार विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध समस्त संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से इस विरोध प्रदर्शन में अधिकाधिक संख्या में शामिल होने का आह्वान किया है, ताकि ट्रक मालिकों व चालकों के हितों की रक्षा हो सके। इस अवसर पर भामसं जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, ट्रक यूनियन संघ के अध्यक्ष संतलाल जाखड़, राहुल योगी, पूर्णचन्द शर्मा, महावीर झाझडिय़ा, सुरेन्द्र कुमार, सोनू, करण, हरिसिंह, पशुपालक संघ के अध्यक्ष हाजी माहरम खान, विश्वकर्मा इलैक्ट्रिक ट्रेड संघ के अध्यक्ष अविनाश सिंह, राजस्थान रोडवेज फैडरेशन के राजन सूद, भवन निर्माण संघ के अध्यक्ष इन्द्रजीत कारगवाल, दीनदयाल बिरथलिया सहित भामसं तथा जय किसान ट्रक यूनियन संघ के अनेक पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित थे।

Top News