sri ganganagar

- रंग-बिरंगी रोशनी से नहाया मंदिर, धूमधाम से मनेगी जन्माष्टमी श्रीगंगानगर। पुरानी आबादी के उदाराम चौक स्थित सिद्धपीठ श्री झांकीवाले बालाजी मंदिर में आज शनिवार को जन्माष्टमी पर्व बड़ी ही धूमधाम से मनाया जायेगा। इस दौरान साक्षात वंृदावन साकार होगा ओर भजनों के माध्यम से भगवान श्रीकृष्ण को रिझाया जायेेगा एवं मंदिर में आने वालों श्रृद्वालूओं पर फूलों व इत्र की बारिश की जायेगी। मंदिर के मुख्य सेवादार प्रेम अग्रवाल गुरुजी ने बताया कि 24 अगस्त को जन्माष्टमी पर्व के मद्देनजर मंदिर को भव्य रंगीन रोशनी से सजाया गया हैं ओर आज शनिवार रात्रि 9.15 बजे से लेकर 12 बजे तक बड़ी ही धूमधाम से मंदिर प्रधान सुरेन्द्र चौधरी के नेतृत्व में सेवादार ओर भक्तजन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनायेगें। इस दौरान श्रीबालाजी भजन मंडल की ओर से कीर्तन व भजनों के द्वारा भगवान श्रीकृष्ण को रिझाया जायेगा। वहीं पूजा-अर्चना के बाद भगवान श्रीकृष्ण को पंजीरी का भोग लगाकर भगतों में वितरित किया जायेगा।
- रंग-बिरंगी रोशनी से नहाया मंदिर, धूमधाम से मनेगी जन्माष्टमी श्रीगंगानगर। पुरानी आबादी के उदाराम चौक स्थित सिद्धपीठ श्री झांकीवाले बालाजी मंदिर में आज शनिवार को जन्माष्टमी पर्व बड़ी ही धूमधाम से मनाया जायेगा। इस दौरान साक्षात वंृदावन साकार होगा ओर भजनों के माध्यम से भगवान श्रीकृष्ण को रिझाया जायेेगा एवं मंदिर में आने वालों श्रृद्वालूओं पर फूलों व इत्र की बारिश की जायेगी। मंदिर के मुख्य सेवादार प्रेम अग्रवाल गुरुजी ने बताया कि 24 अगस्त को जन्माष्टमी पर्व के मद्देनजर मंदिर को भव्य रंगीन रोशनी से सजाया गया हैं ओर आज शनिवार रात्रि 9.15 बजे से लेकर 12 बजे तक बड़ी ही धूमधाम से मंदिर प्रधान सुरेन्द्र चौधरी के नेतृत्व में सेवादार ओर भक्तजन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनायेगें। इस दौरान श्रीबालाजी भजन मंडल की ओर से कीर्तन व भजनों के द्वारा भगवान श्रीकृष्ण को रिझाया जायेगा। वहीं पूजा-अर्चना के बाद भगवान श्रीकृष्ण को पंजीरी का भोग लगाकर भगतों में वितरित किया जायेगा।
- रंग-बिरंगी रोशनी से नहाया मंदिर, धूमधाम से मनेगी जन्माष्टमी श्रीगंगानगर। पुरानी आबादी के उदाराम चौक स्थित सिद्धपीठ श्री झांकीवाले बालाजी मंदिर में आज शुक्रवार को जन्माष्टमी पर्व बड़ी ही धूमधाम से मनाया जायेगा। इस दौरान साक्षात वंृदावन साकार होगा ओर भजनों के माध्यम से भगवान श्रीकृष्ण को रिझाया जायेेगा एवं मंदिर में आने वालों श्रृद्वालूओं पर फूलों व इत्र की बारिश की जायेगी। मंदिर के मुख्य सेवादार प्रेम अग्रवाल गुरुजी ने बताया कि 23 अगस्त को जन्माष्टमी पर्व के मद्देनजर मंदिर को भव्य रंगीन रोशनी से सजाया गया हैं ओर आज शुक्रवार रात्रि 9.15 बजे से लेकर 12 बजे तक बड़ी ही धूमधाम से मंदिर प्रधान सुरेन्द्र चौधरी के नेतृत्व में सेवादार ओर भक्तजन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनायेगें। इस दौरान श्रीबालाजी भजन मंडल की ओर से कीर्तन व भजनों के द्वारा भगवान श्रीकृष्ण को रिझाया जायेगा। वहीं पूजा-अर्चना के बाद भगवान श्रीकृष्ण को पंजीरी का भोग लगाकर भगतों में वितरित किया जायेगा।
श्रीगंगानगर। जिले की फतूही और 18 जैड ग्राम पंचायत में रंगीन कुर्सियों (सीमेंट बैंच) की खरीद को लेकर भारी गड़बड़झाला पकड़ में आया है। जिला परिषद सीईओ के आदेश पर हुई जांच में यह तथ्य सामने आया है कि इन रंगीन कुर्सियों के लिए जो निर्धारित राशि तय की गई थी, उससे अधिक राशि में उक्त कुर्सियां खरीद ली गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए सीईओ ने ग्राम पंचायत के सचिव राजू अहीर को 17 सीसी का नोटिस थमाते हुए, उससे वसूली करने के आदेश दिए हैं। साथ ही ग्राम विकास अधिकारी से पूरे मामले में स्पष्टीकरण भी मांगा गया है। नोटिस में उल्लेख किया है कि ग्राम पंचायत स्तर पर क्रय की गई रंगीन कुर्सियों की जांच हेतु जिला स्तर पर कमेटी का गठन किया गया। जांच रिपोर्ट के अनुसार कुर्सियां क्रय करने में राजस्थान लोक उपापन में अधिनियम 2012 व नियम 2013 की पालना नहीं की गई। रंगीन कुर्सियां एसएफसी/ एफएफसी मद से क्रय की गई, जो अनुमत नहीं है। सहायक अभियंता जिला परिषद श्रीगंगानगर द्वारा तैयार की गई तकनीकी स्वीकृति के अनुसार एक रंगीन सीमेंटेड कुर्सी की लागत/भुगतान योग्य राशि 3219 रूपये है, जिसके अनुसार कई ग्राम पंचायतों द्वारा क्रय की गई रंगीन सीमेंटेड कुर्सियों की राशि 128760 रूपये होनी चाहिए। जबकि ग्राम पंचायतों द्वारा 2,80,000 का भुगतान किया गया। इस प्रकार 511240 राशि वसूली योग्य है। नोटिस में स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए गए हैं।
- मुख्य प्रबन्धक की संस्थान व श्रमिक विरोधी नीतियों पर आक्रोश व्यक्त श्रीगंगानगर, 31 जुलाई 2019: राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ, श्रीगंगानगर द्वारा संस्थान एवं श्रमिक हित में समस्याओं की निराकरण की माँग को लेकर दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन के पश्चात् पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत समस्याओं का निराकरण नहीं होने पर आज फैडरेशन पदाधिकारी आमरण अनशन पर बैठ गये। भारतीय मजदूर संघ के जिला संगठन मंत्री एवं फैडरेशन प्रवक्ता प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि भारतीय मजदूर संघ जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी तथा फैडरेशन के सम्भाग संरक्षक मलखान सिंह द्वारा आज कालूराम, लीलाधर माहर, हरगोपाल, प्रभुराम तथा करनी सिंह को आमरण-अनशन पर बैठाया गया। आमरण अनशन स्थल पर सभा को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि मुख्य प्रबन्धक अपने पद का दुरूपयोग कर आंदोलन को कुचलना चाहता है। कर्मचारियों की छुट्टियों पर प्रतिबंध व अनावश्यक कार्यवाहियां शुरू कर कर्मचारियों में भय व्याप्त करना चाहता है। भारतीय मजदूर संघ जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी ने इस मौके पर सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्य प्रबन्धक अपने द्वारा किए गए भ्रष्टाचार एवं अनैतिक कारनामों को छुपाने के लिए झूठी व अनर्गल बयानबाजी कर शान्तिपूर्वक चल रहे आन्दोलन को उग्र करवाकर औद्योगिक शांति को भंग करना चाहता है, जिससे संगठन पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं में रोष व्याप्त है। भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध संगठनों के कार्यकर्ता धरनास्थल पर उपस्थित होकर समर्थन दे रहे हैं, जिसे मुख्य प्रबन्धक बाहरी व्यक्ति बता रहा है, जबकि रोडवेज फैडरेशन भारतीय मजदूर संघ का ही अभिन्न अंग है। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी कि मुख्य प्रबन्धक हठधर्मिता छोडक़र शांतिपूर्वक फैडरेशन पदाधिकारियों से वार्ता कर समस्याओं का निराकरण करे, अन्यथा आंदोलन को जिलेभर में फैलाया जाएगा, जिसकी समस्त जिम्मेवारी मुख्य प्रबन्धक की होगी। उन्होंने घोषणा की कि माँगों का निराकरण होने तक आमरण-अनशन निरन्तर जारी रहेगा। इस अवसर पर भामसं जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, फैडरेशन सम्भाग संरक्षक मलखान सिंह, राजेन्द्र सूद, सुरेन्द्र बागड़ी, प्रीतपाल, रघुवीर खोसा, गुरलाल सिंह, दर्शन सिंह, ओमप्रकाश शर्मा, पाखर सिंह, सहदेव, रामचन्द्र वर्मा, अविनाश सिंह, राकेश कुमार, प्रदीप पंडित कश्मीरी, भगवान दास, मेजर रमाणा सहित भारी संख्या में राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन तथा भारतीय मजदूर संघ एवं सम्बद्ध संगठनों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।
- आज से आमरण-अनशन शुरू श्रीगंगानगर, 30 जुलाई 2019: राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ, श्रीगंगानगर द्वारा संस्थान एवं श्रमिक हित में समस्याओं की निराकरण की माँग को लेकर दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन के अन्तर्गत फैडरेशन के सम्भाग संरक्षक मलखान सिंह व कालूराम के नेतृत्व में मंगलवार को दूसरे दिन भी रोडवेज आगार कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन जारी रहा। भारतीय मजदूर संघ के जिला संगठन मंत्री एवं फैडरेशन प्रवक्ता प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि आज कालूराम, मलखान सिंह, लीलाधर, रघुवीर खोसा, गुरलाल सिंह, दर्शन सिंह, ओमप्रकाश, पाखर सिंह, सुरेन्द्र करीर, मदनलाल, बलराम वर्मा, जगदीश सिंह, मेजर रमाना, प्रभुराम, सुरेन्द्र बागड़ी, करणी सिह, राजेन्द्र सूद, प्रदीप पंडित, मनजीत सिंह, प्रीतपाल सिंह सहित 21 कार्यकर्ता धरने पर बैठे। धरनास्थल पर सभा को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि मुख्य प्रबन्धक द्वारा हठधर्मितापूर्ण रवैया अपनाकर गंगानगर आगार को आर्थिक नुकसान पहुंचाया जा रहा है तथा संगठन के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है, जिसे किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बार-बार माँग-पत्र देने के बावजूद भी मांग-पत्र का निराकरण नहीं किया जा रहा है तथा ना ही समझौता वार्ता की जा रही है, जिससे मजबूर होकर फैडरेशन को धरना-प्रदर्शन व आमरण-अनशन का निर्णय लेना पड़ा है। फैडरेशन के सम्भागीय संरक्षक मलखान सिंह ने कहा कि मुख्य प्रबन्धक द्वारा श्रमिक समस्या पत्र मांग-पत्र का निराकरण नहीं करने से आक्रोशित फैडरेशन पदाधिकारी व कार्यकर्ता 31 जुलाई, बुधवार को आमरण-अनशन पर बैठेंगे, जिन्हें भारतीय मजदूर संघ जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी व फैडरेशन पदाधिकारियों द्वारा आमरण-अनशन पर बैठाया जाएगा। अगर मुख्य प्रबन्धक द्वारा फिर भी संस्थान एवं श्रमिक हित में समस्याओं का निराकरण नहीं किया गया तो आंंदोलन को उग्र रूप दिया जाएगा, जिसकी समस्त जिम्मेवारी मुख्य प्रबन्धक की होगी। आमरण अनशन को भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध समस्त 18 संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं द्वारा समर्थन देने की घोषणा की गई है। माँगों का निराकरण होने तक आमरण-अनशन निरन्तर जारी रहेगा।
श्रीगंगानगर 22 जुलाई। श्रीगंगानगर लायंस क्लब सेंट्रल के द्वारा कल शाम अरोड़वंश पब्लिक स्कूल में मैंगो पार्टी का आयोजन किया गया। जिस में क्लब परिवार के सदस्यों ने प्रतियोगिताओं का लुत्फ उठाया। आयोजन के दौरान हुई बारिश इस लुत्फ को दुगना कर दिया।।मैंगो पार्टी के प्रोजेक्ट चेयरमेन गौरीशंकर मित्तल ने बताया कार्यक्रम में 20 से अधिक परिवारों ने हिस्सा लिया। महिलाओं,पुरषों व बच्चों ने प्रश्नोत्तरी में सही उत्तर देकर पुरस्कार प्राप्त किये। रस्साकसी प्रतियोगिता पुरुष सदस्यों ने दमखम दिखाया। आम को मुंह से एक जगह से उठाकर टोकरी में डालने की प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार दिए गए। एक अन्य रोचक प्रतियोगिता में कपल्स ने आम को बिना टच किए खाया। एक दूसरे की सहायता भी की। महिला व पुरषों ने मैंगो की शेप में बनी ड्रेस की पहचान की, जिसने लोगों को खूब आकर्षित किया। अतिथियों को क्लब अध्यक्ष आशीष अरोड़ा द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। सचिव शैलेन्द्र चौहान ने बताया कि इस कार्यक्रम के कन्वीनर लायन रमेश मित्तल व अनिता मित्तल थे। कोषाध्यक्ष अरुण लोहिया ने अतिथियों को आभार व्यक्त किया। अध्यक्ष आशीष अरोड़ा, सचिव शैलेन्द्र चौहान, कोषाध्यक्ष अरुण लोहिया,गौरीशंकर मित्तल, केवल सचदेवा, रमेश मित्तल, अनिता मित्तल, रूबी लोहिया, रीटा अरोड़ा, विपिन सरीन,भूपेंद्र शर्मा,परमिंदर लूना,सुधीर अनेजा,मनोज मिड्ढ़ा,रोबिन खुराना,ज्योति सचदेवा, महेश गणेशगढिया,प्रकाश जलंधरा,सुमन जलंधरा,सरोज मित्तल,निशा शर्मा, ललिता गणेशगढिया व शिल्पा मिड्ढ़ा आदि शामिल हुए। मंच संचालन रमेश मित्तल द्वारा किया गया।
श्रीगंगानगर,22 जुलाई । हिंदी सिनेमा जगत के मशहूर पार्श्व गायक मुकेश कुमार को आज उनकी जयंती के उपलक्ष में उनके प्रशंसक याद कर रहे हैं। श्रीगंगानगर में दीवाने म्यूजिक क्लब द्वारा गायक मुकेश की जयंती के उपलक्ष में कल रविवार को महावीर इंटरनेशनल द्वारा संचालित वृद्धाश्रम में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। क्लब के संयोजक केपी योगी ने बताया कि इस मौके पर केक काटा गया और आश्रम में रह रहे वृद्ध जनों को क्लब की तरफ से भोजन करवाया गया। उपस्थित गीत संगीत प्रेमियों ने स्व. मुकेश महान गायक बताते हुए उन्हें स्वरांजलि प्रस्तुत की। गायक राजरमन वशिष्ठ, सतीश सहानी, ओम गोस्वामी, नवीन मदान, रवि डाबला हनुमानगढ़ से आए साहिल फतेहगढ़िया और अबोहर से आए कृष्ण वर्मा ने मुकेश द्वारा गाए हुए गीतों को सुनाकर समां बांध दिया। केपी योगी ने बताया कि आगामी 4 अगस्त को दीवाने म्यूजिक क्लब की ओर से नोजगे पब्लिक स्कूल के ऑडिटोरियम में गीत संगीत का एक भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम की गायक कलाकारों द्वारा रिहर्सल व क्लब के पदाधिकारियों द्वारा तैयारियां आरंभ कर दी गई है।
- 29 जुलाई से दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन व आमरण-अनशन किया जाएगा श्रीगंगानगर, 19 जुलाई 2019: राजस्थान निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन तथा भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों की बैठक मीरा चौक स्थित उप जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि इस बैठक में राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन द्वारा श्रमिक हित व संस्थान हित में मुख्य प्रबन्धक, गंगानगर आगार को दिये गये 19 सूत्री मांग-पत्र का निराकरण नहीं होने पर आक्रोश व्यक्त किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए फैडरेशन के सम्भागीय संरक्षक मलखान सिंह ने बताया कि गत दिनों जयपुर में आयोजित विशाल प्रदर्शन में श्रीगंगानगर से भी फैडरेशन पदाधिकारियों ने भाग लिया। इस मौके पर संगठन पदाधिकारियों द्वारा प्रबन्ध निदेशक से मिलकर उन्हें मुख्य प्रबन्धक की हठधर्मिता तथा द्वेषतापूर्ण कार्यवाही से अवगत करवाया गया तथा मुख्य प्रबन्धक द्वारा लूट-खसोट को बंद करने की माँग की गई। इस मौके पर संगठन द्वारा 19 सूत्री माँग-पत्र भी सौंपा गया। संगठन ने माँग की है कि रोडवेज कर्मचारियों को चयनित वेतनमान का लाभ देने, सहारा अनुबन्ध पर लिए चालकों-परिचालकों को निगम में नई भर्ती में प्राथमिकता से नियुक्ति देने, नई बसों का संचालन करने, चालकों, परिचालकों व मैकेनिकों के रात्रि भत्ते में वृद्धि करने, पूर्व की भांति टीआई व एटीआई ग्रेड देने, व्हीकल इंस्पेक्टर पद पर पदोन्नति प्रदान करने, महिला कर्मचारियों को अन्य विभागों की तरह प्रसव के दौरान अवकाश देने, छोटे बच्चे की स्थिति में उसकी देखभाल हेतु मार्ग पर न भेजकर कार्यालय कार्य लेने, मुख्य प्रबन्धक द्वारा किए जा रहे भाई-भतीजावाद व अमानवीय कार्य व्यवहार पर अंकुश लगाने, सेवानिवृत्त कर्मचारियों का बकाया भुगतान करने, तकनीकी कर्मचारियों की लम्बे समय से रूकी हुई पदौन्नति करने आदि माँगों के निराकरण की माँग की गई। इस पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा संगठन की माँगों को जायज ठहराते हुए यथोचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया गया। संगठन पदाधिकारियों ने कहा कि मुख्य प्रबन्धक श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण करने की बजाय कार्यालय में ही नहीं आ रहा है तथा निरन्तर श्रमिक विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहता है। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि बैठक में विचार-विमर्श के पश्चात् सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि मुख्य प्रबन्धक द्वारा संगठन के 19 सूत्री माँग-पत्र का निराकरण नहीं करने पर रोषस्वरूप 29 जुलाई, 2019 से जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में रोडवेज आगार गेट पर दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया तथा मुख्य प्रबन्धक की कार्यशैली में सुधार नहीं होने पर भूख हड़ताल व आमरण-अनशन करने की घोषणा की गई, जिसकी समस्त जिम्मेवारी मुख्य प्रबन्धक की होगी। धरना-प्रदर्शन व आमरण-अनशन आंदोलन में राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन के साथ-साथ भारतीय मजदूर संघ से सम्बन्धित 18 संगठनों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल होंगे। इस अवसर पर बैठक में जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, फैडरेशन के सम्भागीय संरक्षक मलखान सिंह, सम्भागीय उपाध्यक्ष लीलाधर माहर, शाखा अध्यक्ष सुरेन्द्र बागड़ी, शाखा सचिव करणी सिंह सहित भारतीय मजदूर संघ से सम्बन्धित संगठनों के अनेक पदाधिकारी उपस्थित थे।
श्रीगंगानगर, 12 जुलाई 2019: अकाली दल राजस्थान द्वारा सुन्दरम गार्डन में मीटिंग का आयोजन किया गया। इस मीटिंग में राजस्थान अकाली दल के प्रभारी स. सिकंदर सिंह मलूका व तेजिन्द्र सिंह मिठुखेड़ा ने विशेष रूप से उपस्थित रहकर कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया। प्रवक्ता जसमीत सिंह ‘बोबी’ ने बताया कि मीटिंग में इलाके की संगत ने उत्साहपूर्वक भाग लिया, जिसमें काफी संख्या में महिलाओं की भी सहभागिता रही। स. सिकन्दर सिंह मलूका ने अकाली दल पार्टी की नीतियों व जत्थेबंदिक ढांचे के बारे में बताते हुए कहा कि आने वाले समय में अकाली दल व भाजपा पंजाब एवं हरियाणा की तरह मिलकर काम करेंगे तथा विधानसभा व लोकसभा चुनाव इक्_े लड़ेंगे। तेजिन्द्र सिंह मिठुखेड़ा ने कहा कि राजस्थान का एक-एक कार्यकर्ता आज से ही अकाली दल की मैम्बरशिप से ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़े, ताकि आने वाले समय में आकली दल पार्टी राजस्थान के लोगों की सेवा कर सके। इस मीटिंग में राजस्थान से सरपंच नाहर सिंह चक महाराजका, दलबीर सिंह जोशन जिलाध्यक्ष कम्बोज समाज हनुमानगढ़, दरबारा सिंह सिंहपुरा, जसमीत सिंह ‘बोबी’ प्रवक्ता राजस्थान, गुरसाहब सिंह, मनजीत सिंह पूर्व जिला परिषद् डायरेक्टर, लखविन्द्र सिंह, गुरजंट सिंह, पूर्व सरपंच प्रताप सिंह, हरगोबिंद सिंह, जगसीर सिंह, बलकरण सिंह प्रधान सहित अनेक कार्यकर्ता एवं गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
- मुख्यमंत्री के नाम हस्ताक्षरयुक्त फ्लैक्स सौंपे श्रीगंगानगर, 5 जुलाई 2019: श्रीगंगानगर में सरकारी मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य शुरू करवाने के लिए आज गंगानगर युवा मोर्चा मेडिकल बनाओ टीम के सदस्य विधायक राजकुमार गौड़ से मिले और मुख्यमंत्री के नाम हस्ताक्षर युक्त फ्लैक्स सौंपा। गंगानगर युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष देवकरण नायक ने बताया कि मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य शुरू करवाने के लिए गंगानगर युवा मोर्चा टीम के सदस्य निरन्तर संघर्ष कर रहे है। गत भाजपा सरकार में 106 दिन धरना-प्रदर्शन आंदोलन किया और अब निर्माण कार्य शुरू करवाने के लिए शहर में हस्ताक्षर अभियान शुरू कर रखा है। आज मेडिकल कॉलेज को लेकर गंगानगर युवा मोर्चा के सदस्यों के साथ शहर के अनेक गणमान्य नागरिक भी विधायक से मिले और निर्माण शुरू करवाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम हस्ताक्षर युक्त फ्लैक्स सौंपकर शीघ्र मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य शुरू करने की माँग की। विधायक राजकुमार गौड़ ने भी फ्लैक्स पर हस्ताक्षर किये और कहा कि वे सरकारी मेडिकल कॉलेज के लिए निरन्तर प्रयासरत हैं। उन्होंने इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री महोदय से बात की है। गंगानगर युवा मोर्चा सदस्यों ने कहा कि दानदाता बी.डी. अग्रवाल द्वारा निर्माण कार्य में देरी की जा रही है, इसलिये उन्हें शीघ्र निर्माण कार्य शुरू करने के लिए कहा जाये, अन्यथा सरकार द्वारा एमओयू रद्द करके मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य करवाया जाये। इस पर विधायक राजकुमार गौड़ ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष यह मुद्दा उठाते हुए कहा था कि अगर बी.डी अग्रवाल मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य शुरू नही करते तो सरकार स्वयं के स्तर पर निर्माण कार्य शुरू करे। गौड़ ने कहा कि विधानसभा में भी मेडिकल कॉलेज के लिए उन्होंने आवाज उठाई थी। गौड़ ने कहा कि वे अब पुन: इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री से बात करेंगे और विधानसभा में फिर मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर आवाज उठाएंगे। गंगानगर युवा मोर्चा के तमाम सदस्यों ने विधायक से आग्रह किया कि वे जल्द से जल्द मुख्यमंत्री स्तर पर प्रयास कर निर्माण कार्य शुरू करवाएं, क्योंकि मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास अशोक गहलोत द्वारा किया गया था तथा सरकार द्वारा मेडिकल कॉलेज का निर्माण करवाने से श्रीगंगानगर सहित आसपास के जिलों की जनता लाभान्वित होगी। इस अवसर पर देवकरण नायक, देशवीर सिंह गौड़, भजनसिंह घारू, नीरज शर्मा, तेजपाल नायक, शुभम अरोड़ा, मोहनलाल गुप्ता, सुनील सोनी डावर, विकास शाही, नरेन्द्र चौधरी, महावीर गुप्ता, विक्रम राव, रमेश नायक, कंवरजीत बराड़, अच्छे लाल सोनी, अशोक जैसल, श्याम सोनी, सीता राम मोट, बलवीर सोनी आदि उपस्थित थे।
- प्रबन्ध निदेशक के वार्ता के आमंत्रण पर 18 जुलाई तक धरना स्थगित श्रीगंगानगर, 3 जुलाई 2019: राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन (सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ) द्वारा आज मुख्य प्रबन्धक की हठधर्मिता तथा संस्थान व श्रमिक विरोधी नीतियों से आक्रोशित होकर आगार कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया गया। भामसं. जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि धरने को भारतीय मजदूर संघ जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, सम्भाग संरक्षक मलखान सिंह, पूर्णचन्द शर्मा, सम्भागीय उपाध्यक्ष लीलाधर माहर, प्रीतपाल, राधा देवी, शाखा सचिव करनी सिंह आदि ने सम्बोधित किया। भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों द्वारा शाखा अध्यक्ष सुरेन्द्र बागड़ी, सचिव करनी सिंह, सेवा सिंह, हरगोपाल, घनश्याम दास, मनजीत सिंह, चन्द्रभान द्वितीय, चन्द्रभान तृतीय, रघुवीर वर्मा, सुरेश वर्मा, दिवान बत्तरा, प्रभुराम को फूलमालायें महनाकर धरने पर बैठाया गया। धरने को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि संगठन द्वारा मुख्य प्रबन्धक को 21 सूत्री मांग-पत्र के निराकरण की माँग की गई थी। इस पर श्रम समझौता द्वारा संगठन के माँग-पत्र का निराकरण करने के लिए 28 जून को दोनों पक्षों को वार्ता के लिए पाबन्द किया गया था। संगठन पदाधिकारियों ने धरने पर सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि रोडवेज आगार में रोडवेज से सम्बन्धित यात्रियों की शिकायत सुनने वाला कोई नहीं है। संगठन यात्रियों की समस्याओं के निराकरण के लिए सदैव तत्पर रहेगा। प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि मुख्य प्रबन्धक द्वारा गैर कानूनी ढंग से की जा रही कार्यशैली का पर्दाफाश होने के भय से श्रम समझौता अधिकारी वार्ता के लिए उपस्थित नहीं हुआ। इस पर संगठन द्वारा धरना-प्रदर्शन एवं आन्दोलन करने का निर्णय लिया गया तथा आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत श्रमिक हित में धरना लगाया गया है। वक्ताओं ने कहा कि इसके बावजूद भी मुख्य प्रबन्धक अपनी हठधर्मिता पर अड़ा हुआ है तथा तथा अवकाश लेकर अनुपस्थित रहा है, जो कि संस्थान एवं श्रमिक विरोधी नीति को दर्शाता है। मुख्य प्रबन्धक ने अपना कार्यभार किसी को नहीं सौंपा। अधिनस्थ अधिकारियों द्वारा संगठन पदाधिकारियों से वार्ता में कोई रूचि नहीं ली गई तथा धरना-प्रदर्शन के प्रति असंवेदनशील रवैया अपनाया गया, जो रोडवेज में व्याप्त भ्रष्टाचार तथा लाल फीताशाही को दर्शाता है। अधिनस्थ अधिकारी भी दोपहर बाद कार्यालय छोडक़र चले गये। इससे संगठन पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं में रोष फैल गया, परन्तु संगठन पदाधिकारियों व सदस्यों द्वारा अपनी मर्यादा में रहते हुए धरना-प्रदर्शन किया गया। प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि संगठन पदाधिकारियों द्वारा शान्तिपूर्वक धरना-प्रदर्शन किया गया। मुख्य प्रबन्धक की हठधर्मिता तथा संगठन के धरना-प्रदर्शन की रोडवेज मुख्यालय को जानकारी मिलने पर प्रबध निदेशक मुख्यालय द्वारा मुख्य प्रबन्धक को पत्र क्रमांक 422 दिनांक 28 जून, 2019 को भेजा गया तथा इसी के संदर्भ में फैडरेशन के प्रान्तीय अध्यक्ष व महामंत्री से भी आग्रह किया गया। इस पर फैडरेशन द्वारा सौहार्दपूर्ण रवैया अपनाया गया। संगठन पदाधिकारियों ने जानकारी दी कि आज प्रबन्ध निदेशक मुख्यालय द्वारा फैडरेशन पदाधिकारियों व रोडवेज कर्मचारियों के रोष को देखते हुए संगठन की माँगों के निरांकरण के लिए मुख्य प्रबन्धक व संगठन पदाधिकारियों को 18 जुलाई, 2019 को जयपुर में वार्ता हेतु आमंत्रित किया गया। इस पर विचार-विमर्श के पश्चात् सांय 5 बजे धरना स्थगित करने की घोषणा की गई तथा निर्णय लिया गया कि 18 जुलाई, 2019 की वार्ता सफलतापूर्वक सम्पन्न नहीं होने पर आगामी रूपरेखा तैयार कर जोरदार आन्दोलन किया जाएगा। इस अवसर पर राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन तथा भारतीय मजदूर संघ एवं सम्बद्ध संगठनों के पदाधिकारी तथा सदस्य उपस्थित थे।
- सरकार द्वारा रोडवेज के प्रति द्वेषतापूर्ण व्यवहार की कड़ी आलोचना श्रीगंगानगर, 29 जून 2019: राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन की प्रदेश कार्यसमिति द्वारा निर्धारित प्रवास कार्यक्रम के अन्तर्गत श्रीगंगानगर आगार की प्रवास बैठक प्रदेशाध्यक्ष नात्थू सिंह की अध्यक्षता में मीरा चौक स्थित जिला उप कार्यालय में आयोजित की गई। इस मौके पर सम्भागीय पदाधिकारी विनोद भाकर भी मौजूद रहे। बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष नात्थू सिंह ने सरकार द्वारा रोडवेज के प्रति द्वेषतापूर्ण व्यवहार की कड़ी आलोचना की। उन्होंने राज्य सरकार से 1000 नई बसें, रिक्त पदों पर भर्ती करने, सातवां वेतनमान का लाभ रोडवेज कर्मचारियों को देने तथा सेवानिवृत्त कर्मचारियों के बकाया वेतन आदि माँगों का अविलम्ब निराकरण करने की माँग की। प्रदेशाध्यक्ष नात्थू सिंह ने राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन द्वारा 19 सूत्री मांग-पत्र के निराकरण की माँग को लेकर जयपुर में प्रस्तावित 18 जुलाई की जयपुर रैली में श्रीगंगानगर शाखा से अधिकाधिक पदाधिकारियों व सदस्यों से भाग लेने का आह्वान किया। इस अवसर पर बैठक में मलखान सिंह फैडरेशन संरक्षक, हेमराज चौधरी भामसं जिलाध्यक्ष, प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ जिला संगठन मंत्री, लीलाधर माहर फैडरेशन सम्भागीय उपाध्यक्ष, सुरेन्द्र बागड़ी शाखा अध्यक्ष, करनी सिंह शाखा सचिव सहित अनेक पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित थे।
श्रीगंगानगर, 28 जून 2019: श्रीगंगानगर में सरकारी मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर आज गंगानगर युवा मोर्चा द्वारा शहर के हृदय स्थल भारत माता चौक, सुखाडिय़ा सर्किल पर हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। गंगानगर युवा मोर्चा संयोजक देवकरण नायक ने बताया कि आज हस्ताक्षर अभियान के दौरान मेडिकल कॉलेज को लेकर लोगों की राय भी ली गई। शहरवासियों ने कहा कि मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य में देरी पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि अब तो राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनी है और मेडिकल कॉलेज की नींव भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ही रखी गई थी। मेडिकल कॉलेज पिछली भाजपा सरकार में राजनीति की भेंट चढ़ गया था, जिस कारण निर्माण कार्य में लगातार कोई ना कोई रुकावट आती गई। अब गहलोत सरकार को श्रीगंगानगर की इस बहुप्रतीक्षित माँग को पूरा करना चाहिए। क्योंकि पर्याप्त ईलाज के अभाव में गरीब लोग दम तोड़ देते हैं। प्रत्येक व्यक्ति जयपुर, दिल्ली या चण्डीगढ़ जाकर ईलाज नहीं करवा सकता है। शहर के जागरूक नागरिकों ने कहा कि एक और पंजाब से लगातार नहरों में दूषित केमिकलयुक्त गन्दा पानी आ रहा है, जिससे जिलेवासियों में कैंसर जैसा भयानक रोग हो रहा है और यहां पर कोई ऐसी उचित मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध नही है, जिससे इस भयानक रोग का समय पर ईलाज हो सके। पीडि़त लोगों को ईलाज करवाने के लिए बड़े दूरस्थ स्थानों पर जाना पड़ता है। ऐसी स्थिति में कई लोग समयाभाव तथा पैसों के अभाव में अकाल मृत्यु का भी शिकार हो जाते हैं, क्योंकि उन्हें उचित मेडिकल सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती है। इसलिए सरकार को इस और शीघ्र ध्यान देना चाहिए। श्रीगंगानगर बोर्डर एरिया पर बसा हुआ है। अगर भविष्य में कोई भी आपातकालीन स्थिति बनती है तो उचित मेडिकल सुविधा कहाँ से उपलब्ध होगी, सरकार को इस मुद्दे पर भी गौर करना चाहिए। इसलिए राजस्थान सरकार को अविलम्ब मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य शुरू करके मेडिकल कॉलेज की सौगात श्रीगंगानगर जिले की जनता को देनी चाहिए। इससे श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ सहित 250 किलोमीटर तक की जनता लाभान्वित होगी। आज हस्ताक्षर अभियान में देवकरण नायक, मनजीत सिंह राणा, भजन सिंह घारू, महेश पेड़ीवाल, सुरेन्द्र पारीक, मोहनलाल गुप्ता, अच्छे लाल सोनी, लोकेश सिहाग, रमेश नायक, विक्रम राव, तेजपाल नायक, के.पी. योगी, महावीर गुप्ता, सुरेन्द्र चन्नानी, देशवीर सिंह गौड़, बलवीर सोनी, ओम कस्वां, संजय आचार्य, नीरज शर्मा, शुभम अरोड़ा, गौरव मिड्ढा, प्रदीप चौहान, गौरव मिड्ढा, पदम कौशिक सहित अनेकों शहरवासी शामिल हुए।
प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन श्रीगंगानगर, 27 जून 2019: भारतीय मजदूर संघ जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ एवं सम्भाग पदाधिकारी शिवकुमार व्यास के नेतृत्व में जिला कलक्टर के माध्यम से प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर निर्माण श्रमिकों की समस्याओं के निराकरण की माँग की गई है। भारतीय भवन निर्माण मजदूर संघ अध्यक्ष इन्द्रजीत कारगवाल ने कहा कि संगठन ने माँग की है कि राजस्थान प्रदेश के भवन एवं अन्य संनिर्माण श्रमिक एवं असंगठित श्रमिक कल्याण बोर्ड का पुन: गठन कर उसे सशक्त बनाया जाये, सभी जिलों पर भी भवन एवं अन्य संनिर्माण व असंगठित श्रमिक कल्याण बोर्ड का गठन किया जाये। इससे जिले के श्रमिकों की स्थानीय स्तर की समस्याओं का निदान जिले पर ही हो जायेगा। इससे प्रदेश स्तर की समस्यायें ही प्रदेश पर पहुंचेगी, आवासविहीन निर्माण श्रमिकों के लिये जिला, कस्बा, पंचायत स्तर पर सस्ती दर पर भवन/भूखण्ड उपलब्ध करायें जावे, ताकि केन्द्र सरकार के 2022 तक सभी को घर का लक्ष्य पूरा हो सके, सभी विभागीय कार्यालयों में स्टाफ की कमी को दूर कर निर्माण श्रमिकों के कार्य को सुगम बनाया जावे, किसी भी योजना के प्राप्त आवेदनों के निस्तारण हेतु समय तय किया जावे। बार-बार एतराज लगाकर आवेदनों को लोटा-फेरी करना बन्द करें, ऑनलाईन कार्यों में आ रही कठिनाई जैसे एक श्रमिक के दो या तीन पंजीयन नम्बर हो जाना/नाम जोडऩा/संशोधन कराना/गलती से आवेदन निरस्त हो जाना/पुरानी श्रमिक डायरियों को डिजिटराईज्ड करना/अपडेट करना आदि समस्याओं के लिये जयपुर श्रम आयुक्त कार्यालय में ई-मेल करना पड़ता है। ऐसे कई आवेदन विभिन्न जिलों के हैं, जिनको ई-मेल करने के पश्चात् भी महीनों बीत जाने पर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। संघ की माँग है कि उक्त सभी कार्य उप श्रम आयुक्त/श्रम निरीक्षक की आई.डी. से कराये जावें, ताकि श्रमिकों को इसका लाभ शीघ्र प्राप्त हो सके, कई आवेदन पास होने के बावजूद भी भुगतान हेतु महीनों से लम्बित हैं। विभाग द्वारा श्रमिकों से लिखित प्रार्थना-पत्र लेने के बावजूद भी भुगतान नहीं मिलना गम्भीर विषय है। कृपया भुगतान की व्यवस्था को भी समयबद्ध किया जाये, मृत्यु दावे का निस्तारण 7 दिवस में किया जाये। इस हेतु सिस्टम में अलग फाईल बनाई जाये। साथ ही एल.आई.सी. फार्म को भी ऑनलाईन किया जाये। मृत्यु दावे का भुगतान एक विशेष बैंक में ना होकर, सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों में होना चाहिए, आवासीय योजना के देय लाभ एक लाख पचास हजार के बजाय प्रधानमंत्री आवास योजना में देय दो लाख पचास हजार की छूट के बराबर किया जाये। पुराने मकानों को सुधारने हेतु भी लाभ दिया जाये, छात्रवृत्ति योजना में देय हित लाभ को बढ़ाकर न्यूनतम 20 हजार किया जाये, बड़े-बड़े निर्माण कार्यों में कार्यस्थल पर नियोजकों द्वारा कोई भी सेफ्टी संयंत्र की, शौचालयों की, बच्चों के लिये क्रिचेज की व्यवस्था नहीं की जाती है, इसकी सुनिश्चितता की जाये, गम्भीर बीमारियों जैसे हार्ट अटेक, लकवा, किडनी, लीवर फेलियर, केंसर, एक्युट शुगर, डायलिसिस आदि बीमारियों के ईलाज खर्च के पुनर्भरण का प्रावधान किया जाये। राजस्थान में आयुष्मान स्वास्थ्य योजना लागू नहीं हुई है, जबकि भामाशाह के जरिये इन बीमारियों का ईलाज नहीं हो रहा है, जिससे संगठित व असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को भारी आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है इसलिये अविलम्ब पुनर्भरण का प्रावधान किया जाये, शुभ शक्ति योजना में संशोधन कर बच्ची की शैक्षणिक योग्यता साक्षर की जाये तथा देय राशि 55 हजार से बढ़ाकर एक लाख रूपये की जाये, संगठित एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों व कर्मचारियों को अनेक वर्षों से राशन कार्ड पर खाद्य सामग्री नहीं मिल रही है। बार-बार जिला प्रशासन के चक्कर लगाने पर भी कोई कार्यवाही नहीं होती है। इसलिये सुगम व्यवस्था बनाकर रसद अधिकारी के माध्यम से संगठित एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों व कर्मचारियों को राशन कार्ड पर खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई जाये तथा समाचार-पत्रवाहक एवं समाचार-पत्र कार्यालय में कार्य करने वाले श्रमिकों को भी श्रमिक कार्ड बनाकर श्रम कल्याण योजनाओं से लाभान्वित किया जाये। इस अवसर पर भामसं जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, सम्भाग पदाधिकारी शिवकुमार व्यास, मंगलचन्द शर्मा, बलवन्त जाखड़, सलीम खान, जाकिर बाबा, जयप्रकाश, भारतीय भवन निर्माण मजदूर संघ अध्यक्ष इन्द्रजीत कारगवाल, जगदीश कुमार, सुरजीत सिंह रमाना, गगनदीप सिंह, गौरी शंकर, अवतार सिंह, जगदीश लिम्बा, देवराज, सतपाल, श्रीभगवान, महेन्द्र, प्रेमकुमार, सन्तलाल, अजय ज्याणी, अश्विनी चौधरी, हरमनदीप बिश्नोई, कुलदीप सिहाग, मोहित शर्मा, पंकज शर्मा, रोहित पारीक, प्रवीण सहित भारी संख्या में भारतीय मजदूर संघ तथा सम्बद्ध संगठनों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।
- पूर्णिमा के मौके पर उमड़ा श्रृद्वा का सैलाब श्रीगंगानगर। सिद्धपीठ श्रीझांकीवाले बालाजी मंडल की ओर से जिले की सुख-शांति व खुशहाली के लिए आज पूर्णिमा के मौके पर श्रीबालाजी बगीची में हवन-यज्ञ किया गया। मंडल के मुख्य सेवादार प्रेम अग्रवाल गुरूजी ने बताया कि सुबह 8 बजे रामनाम संकीर्तन किया गया, इसके बाद 9 बजे बगीची में ब्राह्मणों के सानिध्य में वैदिक मंत्रों के बीच जिले की खुशहाली के लिए हवन-यज्ञ हुआ। जिसमें यजमानों ने हवन में आहुतियां दी। उन्होंने बताया कि हवन के बाद श्रीबालाजी महाराज की आरती की गई तथा प्रसाद का वितरण किया गया। इस मौके पर प्रधान सुरेन्द्र चौधरी, प्रेम अग्रवाल गुरूजी, सुरेन्द्र सिंगल पुजारी, मदनगोपाल अग्रवाल, शंकर अग्रवाल, हवन प्रभारी रामचन्द्र मोदी, योगेंद्र वधवा, पवन राजपाल, मीडिया कोॢडनेटर लक्ष्मीकांत गौड़, श्रवण गर्ग, सुशील अग्रवाल, राजू चौहान, दिनेश अग्रावाल, सुरेश गुप्ता, श्रवण पारीक, अनिल मल्होत्रा, राजकुमार जैन सहित काफी संख्या में श्रृद्वालूगण मौजूद थे। वहीं इस दौरान आसपास की मंडिय़ों व पंजाब क्षेत्र से भी पूर्णिमा के मौके पर भक्तगण बाबा के धोक लगाने पहुंचे।
- निराकरण नहीं होने पर 26 जून से मुख्य प्रबन्धक का घेराव किया जाएगा श्रीगंगानगर, 13 जून 2019: भारतीय मजदूर संघ ने रोडवेज श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण करने की माँग की है। जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में मीरा चौक स्थित डिस्ट्रिक सैंटर में बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में भारतीय मजदूर संघ तथा राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन के पदाधिकारी व सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में कर्मचारी फैडरेशन के पदाधिकारियों ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्य प्रबन्धक गंगानगर आगार को अनेकों बार ज्ञापन देने के बावजूद रोडवेज श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण नहीं किया जा रहा है तथा संगठन के साथ भेदभावपूर्ण व पक्षपातपूर्ण नीति अपनाकर दोगला व्यवहार किया जा रहा है, जिसे किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने कहा कि 25 जून तक रोडवेज श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण नहीं होने पर 26 जून, बुधवार से जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में आगार प्रबन्धक के साथ आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी तथा श्रमिकों को न्याय दिलाया जाएगा। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ तथा समस्त सम्बद्ध संगठनों द्वारा मुख्य प्रबन्धक का घेराव किया जाएगा तथा समस्याओं के निराकरण तक आंदोलन जारी रखा जाएगा, जिसकी समस्त जिम्मेवारी मुख्य प्रबन्धक तथा जिला प्रशासन की होगी। रोडवेज श्रमिकों की माँगों के निराकरण के लिए अध्यक्ष/प्रबन्ध निदेशक राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम मुख्यालय जयपुर, प्रदेशाध्यक्ष/प्रदेश महामंत्री भारतीय मजदूर संघ जयपुर, प्रदेशाध्यक्ष/प्रदेश महामंत्री राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन जयपुर, सांसद, विधायक, जिला कलक्टर, जिला पुलिस अधीक्षक को भी ज्ञापन भेजकर निराकरण करने की माँग की गई है। इस अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, राज. परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन संरक्षक मलखान सिंह, राजेन्द्र सूद सहित अनेक पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित थे।
- त्रिदिवसीय मीरा चरित्र भक्तिरस कथा में उमड़े श्रृद्वालू श्रोता- श्रीगंगानगर। कलयुग में हम जैसे साधारण लोगों के लिए मीरा का चरित्र आदर्श चरित्र है। सतयुग, त्रेता और द्वापर युग के भक्तों के साध्य युक्त चरित्रों का अनुकरण करना कठिन है। पर कलयुग में हरिनाम और भक्तवंत मीराबाई जैसी महाभक्तों की भक्तिमय कथा के श्रवण से भगवत कृपा प्राप्त की जा सकती है। ये उद्गार रायसिंहनगर के ब्लिस पैलेस में चल रही मीरा के कृष्ण प्रेम एवं विरह पर भावपूर्ण प्रस्तुति मीरा चरित्र कथा में वृंदावन से आये कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने कहीं। उन्होंने भक्त मीरा बाई के जीवन की भक्तिमय यात्रा को विस्तार से बताया। उनके बालपन से लेकर जीवन के अंतकाल तक भक्ति के बढ़ते आनंद और भगवत की कृपा का वर्णन किया। बालपन में ही कृष्ण भक्ति की ऐसी लगन लगी कि उन्होंने अपना पूरा जीवन कृष्ण भक्ति को समर्पित किया। मीरा ने अपने भक्ति मार्ग में संत रविदास को गुरु माना और वृंदावन के संत गिरिधर गोपाल की प्राप्ता की। वहीं उन्होंने वृंदावन से लेकर द्वारिका तक की यात्रा की और हर यात्रा के साथ ही कृष्ण भक्ति का रंग गहरा होता गया। वहीं कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने मीरा बाई के चरित्र का बहुत सुंदर वर्णन करते हुए बताया कि मीरा बाई अपने दादा के साथ श्रीद्वारिका पुरी दर्शन करने आई तो उनके दादा ने उनसे द्वारकाजी में भजन सुनाने को कहा। इस पर मीरा बाई ने नृत्य करते हुए गाया। म्हारो मन हर लीनो रण छोड़, जिसे सुनकर उपस्थिति मंत्रमुग्ध हो गई। वहां से वापस जब मेवाड़ आए तो वहां मीरा बाई भगवान श्रीकृष्ण की सेवा में लग गई। एक दिन मीरा बाई के घर के आगे से कोई बारात निकल रही थी। मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा तो उनकी मां ने बताया कि यह बींद (दूल्हा) है और हाथी पर बैठकर अपनी बींदड़ी (दुल्हन) को लेने आया है और विवाह के बाद बींदड़ी को ले जाएगा। तो मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा, मां मेरा बींद कौन है, मां ने पीछा छुड़ाने के लिए कह दिया, तेरे बींद भगवान श्रीकृष्ण है। बस फिर तो मीरा जी का जीवन ही बदल गया और वो भगवान श्रीकृष्ण (द्वारकाधीश) को अपने पतिरूप में देखने लगी। कथा से पूर्व यजमानों ने कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज को मालार्पण कर आर्शीवाद लिया। कथा के विराम के बाद भगवान की आरती हुई और प्रसाद सेवा हुई। इसमें विभिन्न प्रकार के भोग प्रसाद अर्पित किए गए।
- त्रिदिवसीय मीरा चरित्र भक्तिरस कथा में उमड़े श्रृद्वालू श्रोता- श्रीगंगानगर। कलयुग में हम जैसे साधारण लोगों के लिए मीरा का चरित्र आदर्श चरित्र है। सतयुग, त्रेता और द्वापर युग के भक्तों के साध्य युक्त चरित्रों का अनुकरण करना कठिन है। पर कलयुग में हरिनाम और भक्तवंत मीराबाई जैसी महाभक्तों की भक्तिमय कथा के श्रवण से भगवत कृपा प्राप्त की जा सकती है। ये उद्गार रायसिंहनगर के ब्लिस पैलेस में चल रही मीरा के कृष्ण प्रेम एवं विरह पर भावपूर्ण प्रस्तुति मीरा चरित्र कथा में वृंदावन से आये कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने कहीं। उन्होंने भक्त मीरा बाई के जीवन की भक्तिमय यात्रा को विस्तार से बताया। उनके बालपन से लेकर जीवन के अंतकाल तक भक्ति के बढ़ते आनंद और भगवत की कृपा का वर्णन किया। बालपन में ही कृष्ण भक्ति की ऐसी लगन लगी कि उन्होंने अपना पूरा जीवन कृष्ण भक्ति को समर्पित किया। मीरा ने अपने भक्ति मार्ग में संत रविदास को गुरु माना और वृंदावन के संत गिरिधर गोपाल की प्राप्ता की। वहीं उन्होंने वृंदावन से लेकर द्वारिका तक की यात्रा की और हर यात्रा के साथ ही कृष्ण भक्ति का रंग गहरा होता गया। वहीं कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज ने मीरा बाई के चरित्र का बहुत सुंदर वर्णन करते हुए बताया कि मीरा बाई अपने दादा के साथ श्रीद्वारिका पुरी दर्शन करने आई तो उनके दादा ने उनसे द्वारकाजी में भजन सुनाने को कहा। इस पर मीरा बाई ने नृत्य करते हुए गाया। म्हारो मन हर लीनो रण छोड़, जिसे सुनकर उपस्थिति मंत्रमुग्ध हो गई। वहां से वापस जब मेवाड़ आए तो वहां मीरा बाई भगवान श्रीकृष्ण की सेवा में लग गई। एक दिन मीरा बाई के घर के आगे से कोई बारात निकल रही थी। मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा तो उनकी मां ने बताया कि यह बींद (दूल्हा) है और हाथी पर बैठकर अपनी बींदड़ी (दुल्हन) को लेने आया है और विवाह के बाद बींदड़ी को ले जाएगा। तो मीरा बाई ने अपनी मां से पूछा, मां मेरा बींद कौन है, मां ने पीछा छुड़ाने के लिए कह दिया, तेरे बींद भगवान श्रीकृष्ण है। बस फिर तो मीरा जी का जीवन ही बदल गया और वो भगवान श्रीकृष्ण (द्वारकाधीश) को अपने पतिरूप में देखने लगी। कथा से पूर्व यजमानों ने कथावाचक श्रीहित मोहन महाराज को मालार्पण कर आर्शीवाद लिया। कथा के विराम के बाद भगवान की आरती हुई और प्रसाद सेवा हुई। इसमें विभिन्न प्रकार के भोग प्रसाद अर्पित किए गए।
नई दिल्ली, 31 मई 2019,राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में भीषण गर्मी और लू का कहर जारी है. राजधानी दिल्ली में तापमान 45 डिग्री पहुंच गया है. मौसम विभाग ने शुक्रवार को येलो अलर्ट जारी किया है. दिल्ली में इस हफ्ते के आखिर तक पारा 47 डिग्री पहुंचने का अनुमान है. दिल्ली से दूर राजस्थान के श्रीगंगानगर में रिकॉर्डतोड़ गर्मी पड़ रही है. आज दोपहर 3 बजे यहां पारा 48.8 डिग्री तक पहुंच गया है. मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के महेश पालवत ने ट्वीट में लिखा, ''दिल्ली के पालम में 46.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. मई महीने में 2013 के बाद दर्ज किया गया यह अधिकतम तापमान है. अब तक मई महीने में 26 मई 1998 को अधिकतम तापमान 48.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था''. देश के विभिन्न हिस्सों में गर्म हवाएं चल रही हैं और भीषण गर्मी का कहर जारी है. कई जगहों पर तापमान 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. दक्षिण भारत के तेलंगाना के कई हिस्से एक महीने से लू की चपेट में हैं. तेलंगाना में लू और भीषण गर्मी से 22 दिन में 17 लोगों की मौत हो चुकी है. तेलंगाना में भीषण गर्मी पड़ रही है. दिलाबाद शहर में लगातार दूसरे दिन भी तापमान 46.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारतीय मौसम विभाग ने तेलंगाना में अगले तीन दिनों तक तेज लू चलने की चेतावनी और लोगों को धूप में निकलने से बचने की सलाह दी है. राजस्थान में भीषण गर्मी और लू के प्रकोप के कारण आम जनजीवन प्रभावित है. चूरू में अधिकतम तापमान 47.3 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया जो सामान्य तापमान से चार डिग्री ज्यादा है. बीकानेर-श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 46.8-46.8 डिग्री सेल्सियस, जैसलमेर में 45.5, कोटा में 45.3 और बाड़मेर में 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. महाराष्ट्र के नागपुर शहर में तापमान 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. वहीं चंद्रपुर में अधिकतम तापमान 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. हिमाचल प्रदेश के ऊना में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तो वहीं जम्मू में इस मौसम का अधिकतम तापमान 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारतीय मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश, तेलंगाना, झारखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, बिहार, झारखंड और ओडिशा में लू का प्रकोप अगले दो-तीन दिन तक जारी रहेगा.
समाज में एकजुटता से ही मिलता हैं मजबूत आधार : विधायक गौड़ - 'ब्राह्मण समाज ने धूमधाम से मनाया श्रीपरशुराम जन्मोत्सव, शहरभर में हुए कई धार्मिक आयोजन श्रीगंगानगर। समाज में एकजुटता से ही मजबूत आधार मिलता हैं, फिर चाहे हम कौनसे भी वर्ण से क्यो न हो, वो चाहे गौड़ हो गुर्जर गौड़ या सारस्वत या अन्य। हमें सिर्फ एक ही बात ध्यान में रखनी चाहिये कि हम सबसे पहले ब्राह्मण हैं, इसलियें अपनी जाति के वर्णों के चक्कर में न पड़कर एक होकर सिर्फ एकजुटता ही रखना ओर इसे आगे बढ़ाना ही हमारा उद्देश्य हैं। यह बात मंगलवार को भगवान श्रीपरशुराम जन्मोत्सव के मौके पर सुखाडिय़ा सर्किल रोड़ पर स्थापित पशुराम चौक पर कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़ एवं मनीष पारीक के नेतृत्व में आयोजित पूजा-अर्चना कार्यक्रम में विधायक राजकुमार गौड़ ने कहीं। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण, ब्राह्मण होता हैं इसलिये इसे किसी वर्ण से न जोड़कर हम उसके सुख-दुख में काम आये इससे बड़ा भाईचारा कोई ओर नहीं हो सकता हैं। वहीं परशुराम जन्मोत्सव के दौरान परशुराम चौक पर कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़ एवं मनीष पारीक के नेतृत्व में विधायक राजकुमार गौड़ एवं विप्र बंधूओं ने पूजा-अर्चना कर समाज में एकता का परिचय दिया। इस दौरान राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश गौड़ ने कहा कि समाज में एकता से हम आगे बढ़ सकते हैं ओर सबसे बड़ी बात हम अपने समाजबंधू के सुख-दुख में काम आये इससे बड़ा भाईचारा कोई ओर नहीं हो सकता हैं। क्योंकि जब तक हम अपने जाति भाई के काम नहीं आयेगें तो ऐसी एकजुटता का क्या फायदा। इसलिये जितना हो सके हर विप्र बंधू के सुखदुख में काम आये। उन्होंने समाज में बालिका शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि गत दिनों आये परीक्षा रिजल्ट में हमारे समाज की बेटियों ने बेटों से आगे बढ़कर पढ़ाई में समाज ओर परिवार का रोशन किया हैं। जिससे हमारा सिर शान से ऊंचा उठ गया हैं, इसलिये बेटियों को खूब पढ़ाये जिससे समाज के साथ-साथ देश का भी नाम रोशन हो सकें। वहीं कार्यक्रम में पारीक समाज के अध्यक्ष मनीष पारीक ने कहा कि चाहे कौनसा भी समाज क्यों न हो जब तक एकजुटता नहीं होगी, तब तक समाज का औचित्य नहीं होगा। क्योंकि समाज में एकजुटता ही ऐसी हैं जो समाज के सभी लोगों को एकसाथ जोड़कर रखती हैं। इसलिये ब्राह्मण समाज को भी एकजुटता रखते हुए अपने प्रत्येक समाजबधूंओं को साथ लेकर विकास में आगे बढऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज बधूओं को एकजुटता दिखाते हुए हर बेहतर कार्य में आगे आकर समाज का नाम रोशन करना चाहिए। परशुराम चौक पर पूजा-अर्चना के बाद फूलों की बारिश की गई तथा भगवान श्री परशुराम महाराज को भोग लगाकर प्रसाद का वितरण किया गया। इस मौके पर विधायक राजकुमार गौड़, कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़, प्रभारी मनीष पारीक, मनोहरलाल शर्मा, पवन गौतम, मदनलाल जोशी, श्रवण पारीक, लक्ष्मीकांत गौड़, महेन्द्र उपाध्याय, डॉ. आरपी भारद्वाज, रघुवीर शर्मा, मांगीलाल सारस्वत, सुभाष शर्मा, राजेन्द्र शर्मा, अशोक गौतम, कर्मचारी नेता सतीष शर्मा, सुभाष भारद्वाज, सत्यनारायण शर्मा, विनोद गौतम, ताराचंद पारीक, आनंद शर्मा, रामबिलाश शर्मा, राधेश्याम शर्मा, राजेश सारस्वत, नरेन्द्र शर्मा, मयूर पारीक, चैतन्य शर्मा, ओमकुमार धनखड़, ओपी जोशी, राजेश गौड़ सहित काफी संख्या में विप्र समाजबंधू मौजूद थे। दूसरी ओर परशुराम चौक पर कार्यक्रम संयोजक जगदीश गौड़ एवं मनीष पारीक के नेतृत्व में पूजा-अर्चना के बाद मीरा चौक स्थित गुर्जर गौड़ धर्मशाला में हवन-यज्ञ का आयोजन विजय पंचारिया के नेतृत्व में किया गया। जिसमें समाज के महिला व पुरूषों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। इस मौके पर विधायक राजकुमार गौड़, गौड़ सभा के पूर्व अध्यक्ष जगदीश गौड़, सुभाष शर्मा, पदम कौशिक, विनोद गौतम, सुनीता पंचारिया, प्रभा शर्मा, विजय पंचारिया, आरपी भारद्वाज, विमलेश शर्मा, जगदीश तिवाड़ी, बजरंग सारस्वत, बनवारीलाल ओझा, पूनम शर्मा, अंजना शर्मा, राजेश सारस्वत, प्रेमप्रकाश शर्मा, नानूराम पिरगावत, डॉ. आरपी भारद्वाज, विशाल गौड़, महेन्द्र उपाध्याय, सतीष शर्मा, अशोक गौतम, कृष्ण पारीक, सुभाष शर्मा, मीडिया कोर्डिनेटर लक्ष्मीकान्त शर्मा, महावीर शर्मा, सतपाल शर्मा, पवन गौत्तम, सहित काफी संख्या में विप्र समाज के गणमान्य लोग मौजूद थे।
- राजस्थान के प्रसिद्ध जेजी ग्रुप ने चलाया प्रदेशभर में मतदाता जागरूकता अभियान श्रीगंगानगर। राजस्थान के प्रसिद्ध जेजी ग्रुप द्वारा प्रदेशभर के साथ-साथ श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिले के गांवों व शहरी क्षेत्र में लोकसभा चुनाव को लेकर लोक विजय अभियान के तहत मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जा रहा हैं। जिसके तहत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर मतदाताओं से मतदान कर देश के विकास में भागीदार बनने अपील की जा रही है। इसी क्रम में शुक्रवार को धानमंडी एवं रामलीला मैदान में जेजी ग्रुप के अध्यक्ष जगदीश गौड़ के नेतृत्व में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें उन्होंने वोटरों से किसी के दबाव में आये बगैर निर्भिक होकर मतदान करनेे की सलाह दी। उन्होंने कहा कि मतदाता को जागरूक करने के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। ताकि मतदाता जागरूक होंगे तभी शत प्रतिशत मतदान हो सकता है। जिले के युवा मतदाताओं को जागरूक करने के लिए जेजी ग्रुप द्वारा लोक विजय अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आगामी 6 मई को सभी लोग अपने-अपने मतदान केन्द्र पर जाकर अपना कीमती वोट देने का काम करेगें। जिससे देश का भावी भविष्य तय हो सकें। उन्होंने कहा कि शहर में वोटर जागरूकता अभियान के साथ-साथ जिले के पदमपुर, रायसिंहनगर, अनूपगढ़, सूरतगढ़, घड़साना क्षेत्रों तथा हनुमानगढ़ के रावतसर, संगरिया, पीलीबंगा के अलावा कई गांवों में जाकर मतदाता जागरूकता अभियान चलाया गया। वहीं जेजी ग्रुप के अध्यक्ष जगदीश गौड़ ने कहा कि मतदान के दौरान मतदान केन्द्र पर चुनाव आयोग के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ओर पुलिस प्रशासन द्वारा पुख्ता सुरक्षा बंदोबस्त किये गये हैं। जिससे हर मतदाता निर्भिक होकर अपना मतदान कर सकते हैं। इस मौके पर राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश गौड़, सेवानिवृत वरिष्ठ कर्मचारी मनोहरलाल शर्मा, राजेन्द्र लाटा, पवन गौतम, मीडिया कोर्डिनेटर लक्ष्मीकांत गौड़, अमृत सहजपाल, संजय अग्र्रवाल, राकेश शर्मा, राहुल उपनेजा, जगदीश तिवाड़ी, लालचंद नोखवाल, राजसिंह बेनीवाल, हिम्मत पुष्करणा, विक्रम राठौड़, दिनेश एनिया, विनोद टाक, संतोष गुप्ता, राजेश मिड्ढा, राजकुमार सचदेवा, रमन तिवाड़ी, महेन्द्र उपाध्याय, मन्नू सैन, राजेश धीगड़ा, रामेश्वर शर्मा, जुगल सैनी, कृष्ण पारीक, उम्मेद सारस्वत, नीरज तिवारी, अविनाश ऋषि, श्रीकांत सोनी, सुभाष तिवारी, शहनवाज खान, बिटू प्रजापति, नीतिश दूबे आदि लोग उपस्थित थे।
- प्रशासन ने वार्ता के लिए बुलाया - वार्ता विफल होने पर 2 मई को धानमण्डी के सभी गेटों को बंद किया जाएगा श्रीगंगानगर, 25 अप्रैल 2019: भारतीय मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी तथा जय किसान ट्रक यूनियन संघ के अध्यक्ष संतलाल जाखड़ के नेतृत्व में ट्रक चालकों द्वारा अवैध ओवरलोडिंग के खिलाफ कड़ा आक्रोश व्यक्त करते हुए नैशनल हाईवे स्थित हनुमानजी के मूर्ति के सामने धानमण्डी गेट के समक्ष सांकेतिक धरना लगाया गया। भामसं जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि इस पर जिला प्रशासन द्वारा आज संगठन को वार्ता के लिए बुलाया गया है। इस वार्ता में जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में 5 सदस्यीय शिष्टमण्डल शामिल होगा। वार्ता में जिला प्रशासन के समक्ष अवैध लोवरलोडिंग का मुद्दा पुरजोर शब्दों में उठाते हुए, इस पर अंकुश लगाने तथा कड़ी कार्यवाही करने की माँग की जाएगी। इस मौके पर नाजायज रूप से चल रही ट्रेक्टर-ट्रॉलियों पर रोकथाम का मुद्दा भी प्रमुखता से उठाया जाएगा। जय किसान ट्रक यूनियन संघ के अध्यक्ष संतलाल जाखड़ ने कहा कि ट्रेक्टर-ट्रॉली वाले नियमानुसार लोडिंग परिवहन की बजाय अवैध रूप से तीन-चार गुणा ओवरलोडिंग करके परिवहन कार्य करते हैं, जो नियम विरूद्ध है तथा इससे नित्यप्रति दुर्घटनायें होती हैं। लेकिन जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन तथा परिवहन विभाग द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। अवैध ओवरलोडिंग से ट्रक मालिकों-चालकों के हितों पर कुठाराघात हो रहा है, जबकि सबसे ज्यादा टैक्स ट्रक मालिकों द्वारा ही दिया जाता है, फिर भी उनकी कोई सुनवाई नहीं होती है। भारतीय मजदूर संघ तथा जय किसान ट्रक यूनियन संघ ने पुरजोर शब्दों में माँग की है कि अवैध परिवहन की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाये जायें, अन्यथा वार्ता विफल होने पर 2 मई, बृहस्पतिवार को धानमण्डी के सभी गेटों को बंद करके जोरदार विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध समस्त संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से इस विरोध प्रदर्शन में अधिकाधिक संख्या में शामिल होने का आह्वान किया है, ताकि ट्रक मालिकों व चालकों के हितों की रक्षा हो सके। इस अवसर पर भामसं जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, ट्रक यूनियन संघ के अध्यक्ष संतलाल जाखड़, राहुल योगी, पूर्णचन्द शर्मा, महावीर झाझडिय़ा, सुरेन्द्र कुमार, सोनू, करण, हरिसिंह, पशुपालक संघ के अध्यक्ष हाजी माहरम खान, विश्वकर्मा इलैक्ट्रिक ट्रेड संघ के अध्यक्ष अविनाश सिंह, राजस्थान रोडवेज फैडरेशन के राजन सूद, भवन निर्माण संघ के अध्यक्ष इन्द्रजीत कारगवाल, दीनदयाल बिरथलिया सहित भामसं तथा जय किसान ट्रक यूनियन संघ के अनेक पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित थे।

Top News