taaja khabar...पीएम मोदी का पाक पर करारा वार, कहा- जो आतंकवाद का टूल के तौर पर इस्‍तेमाल कर रहे हैं उनको भी खतरा........यूएन महासभा में भाषण के बाद सुरक्षा प्रोटोकाल तोड़कर भारतीयों के बीच पहुंचे पीएम मोदी, लगे भारत माता की जय के नारे...चाय बेचने वाले के बेटे का चौथी बार UNGA का संबोधित करना भारत के लोकतंत्र की ताकत: पीएम मोदी...UNGA में पीएम मोदी ने पाक और चीन की खोली पोल, कहा- समुद्री सीमा का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए..अमेरिका चाहता है यूएन में भारत को मिले स्थायी सदस्यता - हर्षवर्धन श्रृंगला..अफगानिस्तान में हजारा समुदाय को जमीन छोड़ने के लिए मजबूर कर रहा तालिबान..भारत को 'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा....केंद्र सरकार ने कहा- सफल नहीं होगी आतंकियों की ना'पाक' कोशिश, देश सुरक्षित हाथों में..दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या, दो हमलावर ढेर...सचिन पायलट ने पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनने से किया इंकार...: निषाद पार्टी व अपना दल के साथ BJP का गठबंधन, प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान ने की घोषणा...भारत में 84 करोड़ से अधिक हुआ टीकाकरण, यूपी नंबर 1..ब्रिटिश सांसद ने दी चेतावनी, जम्‍मू-कश्‍मीर से हटी भारतीय सेना तो आएगा 'तालिबान राज'... आजादी के बाद सेनाओं के सबसे बड़े कायापलट की दिशा में भारत...PM नरेंद्र मोदी के सामने कमला हैरिस ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को लताड़ा, 'ऐक्शन लें इमरान'...इजरायली 'लौह कवच' से लैस होगा अमेरिका, आयरन डोम से मिलेगी फौलादी सुरक्षा...

Hanumangarh

हनुमानगढ़, 24 सितंबर। 26 सितंबर को रीट परीक्षा को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने लोगों से अपील की है कि वे 26 सितंबर को अति आवश्यक कार्य के लेिए ही घर से बाहर निकलें। जो कार्य अगले दिन पर टाले जा सकते हैं तो उसे अगले दिन या बाद के लिए टाल दें। उन्होने बताया कि चूंकि 26 सितंबर को रविवार का दिन है। आर्थिक गतिविधियां वैसे भी बंद होती है। अत अति आवश्यक कार्य होने पर ही घर से निकलें अन्यथा जिन कार्यों को आगे के लिए टाला जा सकता है तो उसे आगे के लिए टाल दें। उन्होने बताया कि 26 सितंबर को करीब 50 हजार परीक्षार्थियों का मूवमेंट रहेगा तो यातायात व्यवस्था पर काफी दबाव रहेगा। लिहाजा 26 सितंबर को अनावश्यक कार्यों हेतु घर से बाहर निकलने और यात्रा करने से बचें। जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रीट परीक्षा को लेकर अलग अलग स्तर पर सुरक्षा की पूरी व्यवस्था की गई है। आवागमन को लेकर कानून व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न ना हो। इसको लेकर यातायात और पार्किंग की माकूल व्यवस्था की गई है। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर दो कांस्टेबल, दो होमगार्ड के जवान और 2 महिला कार्मिक लगाई गई हैं। ताकि कोई भी परीक्षार्थी अवांछनीय सामग्री के साथ परीक्षा केन्द्र में प्रवेश ना कर सके। अगर कोई भी अवांछनीय व्यक्ति परीक्षा की निष्पक्ष प्रक्रिया को प्रभावित करने का प्रयास करता है तो सभी पुलिस ऑफिसर्स को निर्देशित किया गया है कि ऐसे व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई तुरंत करे। ताकि परीक्षा को सफलतापूर्वक संपन्न करवाया जा सके।
हनुमानगढ़, 24 सितंबर। राज्य में 26 सितंबर को अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) में बड़ी संख्या युवा भाग ले रहे है जिन्हें भोजन की असुविधा न हो इस हेतु राज्य सरकार ने इन्दिरा रसोईयों में भोजन करने वाले अभ्यार्थियों से लाभार्थी अंशदान राशि 8 रू नहीं लिये जाकर निःशुल्क भोजन उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है। अन्य लोगों से पहले की भांति ही 8 रूपए चार्ज लिया जाएगा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बताया कि स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक और विशिष्ट सचिव श्री दीपक नंदी ने इस बाबत आदेश जारी करते हुए लिखा है कि 8 रू. प्रति थाली का भुगतान रसोई संचालकों को सम्बन्धित जिला कलेक्टर एवं अध्यक्ष जिला परीक्षा संचालन समिति के स्तर से किया जायेगा। राजकीय अनुदान राशि 12 रू. प्रतिथाली का भुगतान इन्दिरा रसोई मद से पूर्व की भांति किया जायेगा। साथ ही इन्दिरा रसोई पोर्टल पर दिनांक 25 से 27 सितंबर तक भोजन थाली की क्षमता भी असीमित (Unlimited) रहेगी। यानि इंदिरा रसोई संचालक इन तीन दिनों में क्षमतानुसार कितने भी लोगों को भोजन करवा सकेेंगे। साथ ही निर्देश दिया गया है कि अभ्यार्थियों को वितरित निःशुल्क भोजन पैकिट्स का इन्द्राज इन्दिरा रसोई पोर्टल पर नहीं किया जाकर ऑफलाईन संधारण किया जायेगा।
हनुमानगढ़, 24 सितंबर। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 26 सितंबर को आयोजित की जा रही रीट परीक्षा को सफलतापूर्वक संपन्न करवाने के लिए माकूल व्यवस्था की गई है। ये कहना है जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल का जो शुक्रवार को मीडिया से मुखातिब थे। जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में नकल या अन्य आवंछनीय गतिविधियों को रोकने के लिए 29 उड़नदस्तों की व्यवस्था की गई है। जिसमें एक प्रशासनिक अधिकारी, एक पुलिस अधिकारी और शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारी को शामिल किया गया है। इसके अलावा परीक्षार्थियों के लिए सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से आवास और भोजन की निशुल्क व्यवस्था की गई है। परिवहन और ट्रैफिक को लेकर भी व्यवस्थाएं चाकचौबंद की गई है। 1- परिवहन व्यवस्था- जिला परिवहन अधिकारी श्री जगदीश अमरावत ने बताया कि रीट परीक्षा को ध्यान में रखते हुए परिवहन विभाग और रोडवेज के द्वारा जिले में बसों की माकूल व्यवस्था की गई है। 25 सिंतबर परिवहन व्यवस्था- जो परीक्षार्थी 25 सिंतबर को हनुमानगढ़ जिले से बाहर अन्य जिलों में परीक्षा देने के लिए जाएंगे,उनके लिए जंक्शन बस स्टेंड, नोहर और भादरा बस स्टेंड पर पर्याप्त संख्या में बसों की व्यवस्था की गई है। ये बसें जयपुर, सीकर, झुंझुनूं, चूरू, अलवर, बीकानेर इत्यादि जगहों के लिए सुबह 5 बजेे से रात तक इन तीन स्थानोें से विद्यार्थियों की संख्या अनुसार रवाना होगी। गौरतलब है कि हनुमानगढ़ जिले से बाहर करीब 17 हजार विद्यार्थी जयपुर, चूरू, सीकर, झुंझुनूं, अलवर, बीकानेर इत्यादि जिलोें में परीक्षा देने जाएंगे। 26 सिंतबर परिवहन व्यवस्था- अन्य जिलों से हनुमानगढ़ आने वाले 3572 और जिले के भीतर एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक में करीब 51 हजार 483 विद्यार्थियों का इस दिन मूवमेंट होगा। इसको लेकर सभी ब्लॉक मुख्यालय के बस स्टेंड पर अन्य ब्लॉक मुख्यालय को जाने के लिए पर्याप्त संख्या में रोडवेज और परिवहन विभाग की ओर से बसों की व्यवस्था की गई है। ये बसें शाम को पेपर खत्म होने के बाद संबंधित ब्लॉक मुख्यालय के लिए वापस रवाना हो जाएगी। इसी दिन शाम और रात को हनुमानगढ़ जिले से बाहर अन्य जिलों में जाने वाले विद्यार्थियों के लिए बसों की व्यवस्था केवल जंक्शन बस स्टेंड से रहेगी। चूंकि हनुमानगढ़ जिले में अन्य जिलों से आनेे वाले 3572 परीक्षार्थी बीकानेर, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, पाली, जयपुर इत्यादि जिलों से आ रहे हैं लिहाजा इन्हीं जिलों के लिए पर्याप्त संख्या में बसों की व्यवस्था जंक्शन बस स्टैंड पर की जाएगी। 27 सितंबर परिवहन व्यवस्था- जिला परिवहन अधिकारी ने बताया कि चूंकि हनुमानगढ़ जिले में अन्य जिलों से आनेे वाले 3572 परीक्षार्थी बीकानेर, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, पाली, जयपुर इत्यादि जिलों से आ रहे हैं लिहाजा इन्हीं जिलों के लिए पर्याप्त संख्या में बसों की व्यवस्था 27 सितंबर को भी सुबह 5 बजे से जंक्शन बस स्टैंड पर की जाएगी। जिला परिवहन अधिकारी श्री अमरावत ने बताया कि 25 और 26 सिंतबर को जंक्शन बस स्टैंड को केवल रीट परीक्षा हेेतु बसों की रवानगी हेतु आरक्षित किया गया है। स्थानीय लोग जिला मुख्यालय से अन्य स्थानों पर जाने के लिए टाउन बस स्टेंड और जंक्शन में भगत सिंह चौक सेे या अन्य स्थानों से बसों में बैठ सकेंगे। 2- ट्रैफिक व्यवस्था- परिवहन थाना इंचार्ज श्री अनिल कुमार चिंदा ने बताया कि जिला मुख्यालय पर ट्रैफिक कंट्रोल को लेकर विशेष व्यवस्था की गई है। 25-26 को जिला मुख्यालय पर तूड़ी के ट्रोले नहीं आ सकेंगे। जंक्शन में भगतसिंह चौक से रेलवे स्टेशन तक गाड़ियां खड़ी नहीं कर सकेंगे। भगत सिंह चौक से बस स्टैंड तक रेहड़ियां नहीं लग पाएंगी। भगत सिंह चौक से संगरिया रोड़ पर भी रेहड़ियों को रोड़ पर नहीं लगने दिया जाएगा। टाउन मेें भारतमाता चौक से पूल तक और जंक्शन में राजीव चौक से गंगानगर फाटक तक, चूना फाटक, सतीपुरा फाटक इत्यादि ट्रैफिक जाम वाली जगहों को चिन्हित करते हुए वहां सुगम ट्रैफिक को लेकर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल लगाया जाएगा। 10 अतिरिक्त मोबाईल ट्रैफिक नियंत्रण टीमों का गठन किया गया है। 3 अतिरिक्त अस्थाई बस स्टेण्ड (राजीव गांधी स्टेडियम हनुमानगढ़ जंक्शन, जिला कलक्टर कार्यालय के सामने हनुमानगढ जंक्शन और साहवा रोड नोहर बनाए गए हैं। जिला परिवहन अधिकारी द्वारा प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय पर 1-1 प्रभारी इंस्पेक्टर लगाए गए हैं। 3- नियंत्रण कक्ष :- रीट परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर पांच कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। जिनमें जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय कंट्रोल रूम नंबर- 01552260299, जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय -01552-261193, जिला परिवहन अधिकारी कार्यालय- 6375103784, एनएमपीजी कॉलेज कंट्रोल रूम नंबर- 01552-222063, अवांछनीय गतिविधियों में लिप्त व्यक्तियों, गैंग या कोचिंग सेंटरों के द्वारा सम्पर्क करने पर उसकी गोपनीय सूचना पुलिस नियंत्रण कक्ष के दूरभाष न 01552-261105, मोबाइल नंबर 9530432468 पर या ओसीआर के दूरभाष न० 01552-260003, 266104 पर सूचना दी जा सकती है। 4- सुरक्षा व्यवस्था : जिला पुुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने बताया कि जिले के 102 परीक्षा केन्द्रों पर 2 पुलिस कांस्टेबल, 2 होमगार्ड के जवान और 2 महिला कार्मिक लगाई जाएंगी। ताकि कोई भी परीक्षार्थी कोई अवांछनीय सामग्री परीक्षा केन्द्र में नहीं ले जा सके। जिले के सभी एसएचओ, उपाधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक कर सभी स्तर पर पुलिस व्यवस्था हेतु कार्मिकों की उपलब्धता का आकलन किया जा चुका है। 5- आवास,भोजन व्यवस्था- अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री रामरतन सौंकरिया और जिला रसद अधिकारी श्री राकेेश न्यौल द्वारा इंदिरा रसोई, माँ अन्नपूर्णा रसोई, मंदिर एवं गुरुद्वारा समितियों, होटल, धर्मशालाओं के प्रबंधकों के साथ विस्तृत बैठक की चुकी है। जिला मुख्यालय पर करीब 2 दो दर्जन से ज्यादा विभिन्न सामाजिक संस्था / व्यक्तियों ने अभ्यर्थियों के ठहरने और भोजन, चाय, नाश्ते की निशुल्क व्यवस्था की है। इसके अलावा सभी ब्लॉक मुख्यालय पर भी आवास औऱ खाने की निशुल्क व्यवस्था की गई है। 6-स्वास्थ्य व्यवस्था- सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा ने बताया कि 26 सितंबर को जिले के समस्त चिकित्सा संस्थान 24x7 खुले रहेंगे एवं परिवहन मार्ग के आस-पास वाले चिकित्सा संस्थान पर दक्ष मानव संसाधन प्राथमिक उपचार हेतु आवश्यक संसाधन एवं समस्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर सैनिटाइजर एवं कोविड-19 की गाइडलाइन की पालना करते हुए आवश्यक इमरजेंसी किट की व्यवस्था की जाएगी। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा थर्मल स्कैनिंग एवं अन्य जांच प्रत्येक केन्द्र पर सैनिटाइजर एवं अतिरिक्त मास्क की व्यवस्था की गई है। 7- अधिकारियों का आमुखीकरण- जिला कलक्टर, जिला पुलिस अधीक्षक, प्रभारी जिला समन्वयक एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों की आधा दर्जन से ज्यादा बैठकें आयोजित की जा चुकी है। समस्त उपखण्ड अधिकारियों एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों का 22 सितंबर को वीसी के माध्यम से आमुखीकरण हो चुका है। केन्द्राधीक्षक, केन्द्र पर्यवेक्षक, पेपर को-ऑर्डिनेटर की आमुखीकरण कार्यशाला शुक्रवार 24 सितंबर को संपन्न हो चुकी है। 8- प्रश्न पत्र व्यवस्था- - प्रश्न पत्रों को ट्रेजरी के डबल लॉक में कड़ी सुरक्षा में रखवाये जा चुके है तथा प्रश्न पत्रों की निगरानी हेतु वीडियोग्राफी व सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था की गई है। ब्लॉक स्तरीय समितियों का गठन हो चुका है।25 सितंबर को प्रश्न पत्र ब्लॉक नोहर पर पहुंचाने हेतु टीमों का गठन किया गया है। परीक्षा केन्द्रों पर प्रश्न पत्र पहुँचाने हेतु पेपर को-ऑर्डिनेटरों की नियुक्ति की गई है। परीक्षा सामग्री को ब्लॉक मुख्यालयों एवं परीक्षा केन्द्रों तक पहुँचाने हेतु जिला परिवहन अधिकारी द्वारा 1 बस एवं 60 बंद वाहनों की व्यवस्था की गई है। 9- वीडियोग्राफी व्यवस्था- -समस्त 102 परीक्षा केन्द्रों / वितरण केन्द्रों / संग्रहण केन्द्र हेतु 102 वीडियोग्राफर मय कैमरा की व्यवस्था की गई है।
हनुमानगढ़, 22 सितंबर। संपर्क पोर्टल पर लंबित परिवेदनाओं की समीक्षा को लेेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों और ब्लॉक स्तर पर वीसी के जरिए जुडे ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर निर्देश दिए कि जिला स्तरीय अधिकारीगण प्रतिदिन खुद संपर्क पोर्टल को लॉगिन कर देखेंगे कि उनके खाते में कितनी परिवेदनाएं लंबित हैं। उनका जल्द से जल्द निस्तारण करें ताकि आमजन को राहत प्रदान की जा सके।साथ ही जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि विधायक और सांसद की ओर से कोई पत्र आता है तो उसकी पावती आवश्यक रूप से दें। साथ ही जब तक कार्य नहीं होता है तब तक प्रत्येक माह के अंत में संबंधित विधायक और सांसद को पत्र लिखकर परिवेदना के निस्तारण के संबंध में हुई प्रगति के बारे में जानकारी देंगे। साथ ही जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, इत्यादि से प्राप्त होने वाले पत्रों पर उच्च प्राथमिकता के साथ कार्रवाही करते हुए उनका जवाब भेजें। जिला कलक्टर ने कहा कि मुख्य सचिव के स्तर पर लाइनस के जरिए प्राप्त होने वाली न्यूज पेपर कटिंग्स को भी उच्च प्राथमिकता से लेते हुए उनका जवाब अतिशीघ्र देना सुनिश्चित करें। जिला कलक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों एसडीएम, तहसीलदार को निर्देशित किया कि वे निरीक्षण, रात्रि विश्राम, दौरों इत्यादि का पोर्टल पर इंद्राज आवश्यक रूप से समय पर करें। इससे पहले सहायक निदेशक, लोकसेवाएं श्रीमती मोनिका बलारा ने संपर्क पोर्टल पर एक माह, छह माह, और एक साल से लंबित प्रकरणों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि संपर्क पोर्टल पर जोधपुर विद्युत वितरण निगम, नगरीय निकाय, पीएचईडी, मनरेगा में सर्वाधिक परिवेदनाएं दर्ज हो रही हैं। साथ ही बताया कि बिजली विभाग में भादरा और नोहर में सर्वाधिक परिवेदनाएं दर्ज होती है। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग में बिजली कट इत्यादि और पीएचईडी में पीेने के पानी से संबंधित समस्याओं को लेकर संपर्क पोर्टल पर परिवेदना दर्ज होने को लेकर विद्युत विभाग और पीएचईडी के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे लोगों को इस बारे में जागरूक करें कि वे विद्युत और पीने के पानी सेे संबंधित समस्याओं को लेकर विद्युत विभाग और पीएचईडी की हेल्प लाइन पर शिकायत दर्ज करवाएं ताकि उनका जल्द निस्तारण हो सके। बैठक में श्रीमती मोनिका बलारा ने बताया कि संपर्क पोर्टल पर छह माह से पुरानी जिला स्तर पर तीन परिवेदनाएं हैं जिनमें से 2 नोहर ईओ और एक पीडब्ल्यूूडी से संबंधित है। जिला कलक्टर ने तीनों परिवेदनाओं का निस्तारण आगामी सात दिन में करने के निर्देश दिए। श्रीमती बलारा ने बताया कि एक साल से पुरानी कुल 18 परिवेदना हैं जिनमें से 17 राज्य स्तर पर और एक जिला स्तर पर है। जो गोगामेड़ी थानाधिकारी से संबंधित है। इसका जल्द निस्तारण के निर्देश दिए। बैठक में जिला कलक्टर ने रीट परीक्षा के सफल आय़ोजन के निर्देश के साथ कोविड टीकाकऱण को लेकर कहा कि फिल्ड में अफसर जब भी जाएं तो लोगों से ये जरूर पूछें कि उन्होने दोनों टीके लगाए हैं या नहीं। लोगों को टीके की दोनों डोज लगवाने के लिए प्रेरित करने को कहा। बैठक में श्री नथमल डिडेल, एडीएम श्री रामरतन सौंकरिया, सहायक निदेशक, लोकसेवाएं श्रीमती मोनिका बलारा, एसडीएम हनुमानगढ़ डॉ अवि गर्ग समेत सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण और वीसी के जरिए एसडीएम,बीडीओ समेत सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारीगण और सहायक निदेशक लोकसेवाएं कार्यालय के श्री मदसूद उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 22 सितंबर। जल जीवन मिशन कार्यक्रम की कार्य निर्देशिका के अनुसरण में बुधवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमे जिले में जल जीवन मिशन कार्यक्रम के क्रियान्वयन व करवाये जाने वाले कार्यो की समीक्षा की गई। बैठक में जिला कलक्टर ने कार्यक्रम क्रियान्वयन सहयोगी एजेन्सी (आई एस ए) कृषक सेवा संस्थान, नागौर को निर्देशित किया कि 2 अक्टूबर 2021 को होने वाली ग्राम सभा में सभी वंचित विलेज एक्शन प्लान ( वीएपी) अनुमोदन कराएं व 2 अक्टूबर 2021 से शुरू होने वाले प्रशासन गांवों के संग अभियान में एजेंसी का प्रतिनिधि जलदाय विभाग के प्रतिनिधि के साथ प्रत्येक ग्राम पंचायत में उपस्थित रहे। साथ ही जल जीवन मिशन की पूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाते हुए मिशन के कार्य में आने वाली समस्याओं का निराकरण प्रशासन का सहयोग लेते हुए करवाएं व सभी ग्राम पंचायतों का बैंक खाता खुलवाए। जिला कलक्टर ने पेयजल कनेक्शन से वंचित आंगनबाड़ी केन्द्रों व स्कूलों को चिन्हित कर तथ्यात्मक जानकारी लेते हुए पेयजल कनेक्शन से लाभान्वित करने हेतु निर्देशित किया। जिला कलक्टर ने जल जीवन मिशन कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु गांव की ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियों को क्रियाशील करने व ग्राम की आंतरिक वितरण प्रणाली की कुल लागत के 10 प्रतिशत सहयोग राशि लाभार्थी समूह द्वारा जमा करवाने हेतु प्रेरित करने बाबत आदेशित किया व कार्यक्रम के अंतर्गत आवंटित लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु भरसक प्रयास करने हेतु निर्देशित किया। इससे पहले बैठक में अधीक्षण अभियंता एवं सदस्य सचिव जल जीवन मिशन श्री पी. सी. मिढ्ढा ने बताया कि जिले को जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत जिला हनुमानगढ़ हेतु जलसम्बन्ध के निर्धारित लक्ष्य 122042 के विरूद्ध अब तक कुल 8457 जलसम्बध जारी कर दिये गये हैं। विभाग द्वारा जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत कुल 356 जलयोजनाओं के अधीन कुल 1302 गांवों हेतु राशि 83222.95 लाख की प्रशासनिक एवं वित्तिय स्वीकृति जारी की जा चुकी है जिनसे कुल 186811 जल सम्बंध किये जाने प्रस्तावित हैं। वर्तमान में 133 जलयोजनाओं के अधीन कुल 374 गांवों के कार्य आदेश जारी किये जा चुके है व कार्य प्रगतिरत है। शेष जलयोजनाओं के कार्यादेश की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। अधीक्षण अभियंता श्री मिढ्ढा ने बताया कि जिले में कुल 1831 राजस्व गांव है जिसमे से कुल 1831 गांवों में ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियों का गठन किया जाकर कार्यक्रम की वेबसाइट पर इन्द्राज कर दिया गया है। बैठक में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन हनुमानगढ़ के सदस्य उपस्थित रहे ।
हनुमानगढ़, 22 सितंबर।विभिन्न सरकारी ऋण योजनाओं के लंबित आवेदन पत्रों के जल्द निस्तारण को लेकर बुधवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिले में स्थित विभिन्न बैंकों के नियंत्रक अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर निर्देश दिए कि बैंक विभिन्न सरकारी ऋण योजनाओं के लंबित प्रकरणों का शिविर लगाकर जल्द से जल्द उनका निस्तारण करें। बैठक में पोप योजना, इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना, दीनदयाल राष्ट्रीय ग्रामीण आजिविका मिशन योजना, पीएमईजीपी योजना, पीएम स्वनिधि व दीन दयाल उपाध्याय राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना, राजस्थान कृषि प्रसंस्करण नीति 2019, पीएमएपएमई योजना, पीएमईजीपी योजना को लेकर विभिन्न बैंकों में लंबित आवेदनों को लेकर समीक्षा की गई। बैठक में एलडीएम श्री राज कुमार ने सभी विभागों के प्रतिनिधियों एवम संबन्धित बैंकों के नियंत्रक अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट पर विस्तृत चर्चा की तथा जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने सभी बैंकों को ऋण आवेदन पत्र अधिकतम 7 दिवस के भीतर निस्तारित करने के निर्देश दिये तथा सभी आवेदन पत्रों के निस्तारण हेतु शाखा स्तर पर शिविर का आयोजन कर शिविर की तिथि से जिला अग्रणी बैंक प्रबन्धक के माध्यम से अवगत कराएं ताकि वो स्वयं शिविर में हिस्सा ले सकें। इसके अलावा नवम्बर माह के दौरान 5 नवम्बर को पीएनबी, 12 नवम्बर को एसबीआई, 19 नवम्बर को बैंक ऑफ बड़ौदा, तथा 26 नवम्बर को आरएमजीबी विशेष शिविर का आयोजन कर सभी बकाया आवेदन पत्रों का निस्तारण कर वित्तीय वर्ष 2021-22 के लक्ष्यों की प्राप्ति 31 दिसंबर तक सुनिश्चित करें। अंत में अग्रणी बैंक प्रबन्धक श्री राज कुमार ने जिला कलेक्टर को बैंकों की तरफ आश्वस्त किया कि सभी लक्ष्यों का समय पर पूरा किया जाएगा तथा बैंक जिले के विकास में कन्धे से कन्धा मिलकर सदैव तत्पर रहेंगे व अपेक्षाओं पर खरा उतरेंगे। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के अलावा अग्रणी बैंक प्रबन्धक श्री राजकुमार, नाबार्ड के जिला विकास प्रबन्धक श्री दयानन्द काकोडिया, एसबीआई क्षेत्रीय व्यवसाय कार्यालय पश्चिम के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री एसएस मीना, एसबीआई क्षेत्रीय व्यवसाय कार्यालय पूर्व के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री बीएस मीना, राजीविका परियोजना प्रबंधक सुश्री शाजिया तबस्सुम, उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग श्री विक्रम सिंह, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, नगर परिषद के प्रतिनिधियों समेत विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।
हनुमानगढ़, 22 सितंबर।अटल भू-जल योजना के अंतर्गत जिला कलक्टर एवं अध्यक्ष जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई ( डीपीएमयू ) श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई की बैठक का आयोजन बुधवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। बैठक में जिला कार्य योजना की सतत मॉनिटरिंग करते हुए हनुमानगढ जिले के तीन ब्लॉक हनुमानगढ, संगरिया व टिब्बी के वाटर सिक्योरिटी प्लान की प्रगति पर चर्चा की गई। बैठक में 15 अगस्त, 2021 को संबंधित ग्राम सभाओं में अनुमोदित किए जा चुके 5 ग्राम पंचायतों रणजीतपुरा, भोमपुरा, बोलांवाली, रासूवाला और चंदूरवाली के वाटर सिक्योरिटी प्लान को डीपीएमयू स्तर पर अनुमोदित किया गया। उक्त तीनों ब्लॉक की शेष 25 ग्राम पंचायतों के वाटर सिक्योरिटी प्लान के ग्राम सभाओं में अनुमोदन का निर्देश उक्त तीनों ब्लॉकों की शेष 25 ग्राम पंचायतों के वाटर सिक्योरिटी प्लान के डाटा पोर्टल पर यथाशीघ्र अपलोड कर ग्राम सभाओं में अनुमोदन हेतु निर्देश अध्यक्ष द्वारा जारी किए गए। चयनित की गई शेष 25 ग्राम पंचायतों के वाटर सिक्योरिटी प्लान को 2 अक्टूबर, 2021 को होनेे वाली ग्राम सभाओं में अनुमोदित करवाने हेतु वीडब्ल्यूएससी के सदस्यों को ग्राम सभा में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के लिए आदेशित किया गया, जिसमें जिला परिषद, हनुमानगढ का सहयोग लेते हुए संबंधित ग्राम पंचायतों से सहयोग एवं कार्य लेना प्रस्तावित है।
गुरूशरण छाबड़ा जन-जागरूकता अभियान के लिए बजट स्वीकृत हनुमानगढ़/जयपुर, 21 सितम्बर। राज्य सरकार नशे की लत से ग्रसित और हथकढ़ शराब बनाने में लिप्त व्यक्तियों तथा परिवारों के पुनर्वास के लिए नवजीवन योजना के विस्तार के लिए नई कार्ययोजना लागू करेगी। इस क्रम में पूर्व विधायक स्व. श्री गुरूशरण छाबड़ा की स्मृति में नशे की लत के खिलाफ व्यापक जन-जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इस विषय में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के प्रस्ताव का अनुमोदन कर 25.74 करोड़ रुपए के अतिरिक्त बजट प्रावधान को स्वीकृति दी है। वर्ष 2009 में, राज्य में हथकढ़ शराब से जुड़े परिवारों के पुनर्वास के लिए ‘नवजीवन योजना’ शुरू की गई थी। इसके सकारात्मक परिणामों के दृष्टिगत राज्य बजट वर्ष 2021-22 में योजना के विस्तार तथा नशे की प्रवृत्ति के खिलाफ राज्यव्यापी जन-जागरूकता अभियान की घोषणा की गई थी। स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार, नई कार्ययोजना के तहत नशे की लत से ग्रसित व्यक्तियों और परिवारों के चिन्हिकरण और पुनर्वास के लिए नवजीवन योजना के माध्यम से विभिन्न गतिविधियों के लिए 22.60 करोड़ रूपए व्यय किए जाएंगे। इसके तहत लक्षित समूह के 5 हजार व्यक्तियों को कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिस पर कुल 11.2 करोड़ रूपए खर्च होंगे। आधारभूत संरचना के लिए 10 करोड़ रूपए खर्च करने का बजट प्रावधान है। इस योजना के तहत संबंधित परिवारों के स्कूली बच्चों हेतु 2 हजार साइकिलों के वितरण के लिए 70 लाख रूपए, लक्षित व्यक्तियों एवं परिवारों के सर्वे के लिए 60 लाख रूपए तथा 500 विद्यार्थियों को छात्रावास के लिए 10 लाख रूपए खर्च किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त, नशे से ग्रसित परिवारों को प्राथमिकता के आधार पर इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट योजना, महात्मा गांधी नरेगा और राजीविका योजना के अन्तर्गत ऋण अनुदान और शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत फीस पुनर्भरण से लाभान्वित किया जाएगा। प्रस्ताव के अनुसार, नशे की प्रवृत्ति के खिलाफ स्व. गुरूशरण छाबड़ा जनजागरूकता अभियान के तहत पंचायत स्तर तक विभिन्न गतिविधियां संचालित की जाएंगी, जिन पर 3.14 करोड़ रूपए खर्च होंगे। लक्षित समूह की बस्तियों में जागरूकता शिविरों के आयोजन पर 1.64 करोड़ रूपए और राज्य स्तर पर इलेक्ट्रोनिक मीडिया एवं समाचार पत्रों में विज्ञापन तथा फिल्म निर्माण पर 1 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे। अभियान के तहत जिला स्तर पर नशा मुक्ति के लिए प्रचार-प्रसार, विज्ञापन, होडिंर्ग्स, पैम्पलेट्स वितरण आदि किया जाएगा, जिसके लिए 50 लाख रूपए का बजट प्रस्तावित है। साथ ही, अन्य नशामुक्ति कार्यक्रमों और योजनाओं के तहत फिल्म प्रदर्शन, लघुकथा एवं नुक्कड़ नाटक, खेलकूद प्रतियोगिताएं, नवाचार प्रोत्साहन और शैक्षणिक विकास गतिविधियां संचालित की जाएंगी। श्री गहलोत के इस निर्णय से पूर्व विधायक श्री गुरूशरण छाबड़ा के साथ 8 सितम्बर, 2013 को हुए समझौते की पालना के लिए राज्य सरकार की प्रतिबद्धता जाहिर है। इस क्रम में नशे के आदी तथा हथकढ़ शराब बनाने में लिप्त परिवारों की इस बुराई से मुक्ति और पुनर्वास कर उन्हें रचनात्मक कार्यों के लिए प्रेरित किया जा सकेगा।
हनुमानगढ़, 21 सितम्बर। हनुमानगढ़ टाउन में चर्म प्रशिक्षण् लैदर गुडस हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक श्रीमती आकाशदीप सिद्धू ने बताया कि प्रशिक्षाणार्थी जिनकी आयु 18 से 34 वर्ष हैं व अनुसूचित जाति के हैं और लैदर गुडस प्रशिक्षण में रूचि रखता हैं वे सभी कार्यालय जिला उद्योग केन्द्र हनुमानगढ़ में सम्पर्क कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षाणार्थी 30 सितम्बर 2021 तक जिला उद्योग केन्द्र में आवेदन जमा करवा सकते हैं। श्रीमती सिद्धू ने बताया कि प्रशिक्षाणार्थियों का चयन कमेटी द्वारा सर्व सहमति से किया जाएगा एवं महिलाओं को प्राथमिकता होगी।
हनुमानगढ़, 21 सितम्बर। देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी के जन्मदिवस के अवसर पर आगामी 19 नवम्बर को राज्य सरकार की ओर से प्रदेश की समस्त महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य एवं व्यक्तिगत शारीरिक स्वच्छता के प्रति जागरूक करने और विभिन्न रोगों से बचाव के लिए महत्वाकांक्षी ‘उडान योजना‘ का शुभारंभ किया जाएगा। योजना के तहत विद्यालयों, कॉलेजों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों आदि के जरिए चरणबद्ध रूप से सेनेटरी नैपकिन का निशुल्क वितरण किया जाएगा। महिला अधिकारिता की सहायक निदेशक सुश्री शाजिया तब्बसुम ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने उडान योजना के लिए 200 करोड़ रूपए के बजट प्रावधान के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है। प्रस्ताव के अनुसार, छात्राओं और किशोरियों को बेहतर हेल्थ एवं हाइजीन के लिए मुफ्त सेनेटरी नैपकिन वितरण का दायरा बढ़ाकर अब यह सुविधा आवश्यकतानुसार प्रदेश की सभी महिलाओं को चरणबद्ध रूप से उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही, महिला स्वयं सहायता समूहों, सामाजिक तथा गैर सरकारी संस्थाओं आदि के माध्यम से महिला स्वास्थ्य संबंधी विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। सुश्री साजिया ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा राज्य बजट वर्ष 2021-22 में घोषित उडान योजना का नोडल विभाग महिला अधिकारिता विभाग होगा। इसका क्रियान्वयन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, स्कूल शिक्षा तथा कॉलेज शिक्षा विभागों के साथ-साथ तकनीकी एवं उच्च शिक्षा, जनजाति क्षेत्रीय विकास और पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभागों की सहभागिता से किया जाएगा। प्रभावी क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तर पर 2 तथा जिला स्तर पर एक-एक ब्रांड एम्बेसेडर बनाए जाएंगे। योजना से जुड़े स्वयंसेवी संगठनों, ब्रांड एम्बेसेडर आदि को उत्कृष्ट कार्य करने के लिए पुरस्कृत भी किया जाएगा। सुश्री शाजिया तब्बसुम ने बताया कि योजना के प्रस्ताव के अनुसार, राजस्थान स्वास्थ्य सेवाएं कॉर्पाेरेशन लिमिटेड (आरएमएससीएल) द्वारा स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से तैयार नैपकिन की ‘मुख्यमंत्री निःशुल्क योजना’ के अन्तर्गत खरीद की जाएगी। स्कूल-कॉलेजों तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों आदि के माध्यम से नैपकिन का मुफ्त वितरण किया जाएगा। आरएमएससीएल द्वारा सभी वितरण केंद्रों पर सेनेटरी नैपकिन का समुचित स्टॉक उपलब्ध कराया जाएगा। नैपकिन की व्यवस्था से संबंधित शिकायत हेल्पलाइन नम्बर 181 पर की जा सकेगी। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री के इस निर्णय से प्रदेश की सभी किशोरियों एवं महिलाओं में स्वास्थ्य और व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ेगी। विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाएं एवं महिलाएं, जो संकोचवश अपनी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर चर्चा नहीं कर पाती हैं और इस कारण कई प्रकार के रोगों से ग्रसित हो जाती हैं, वे अधिक सुगमता से निःशुल्क सेनेटरी नैपकिन की सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकेंगी।
हनुमानगढ़, 21 सितम्बर। राज्य सरकार द्वारा हनुमानगढ़ जिले में गर्भवतियों, प्रसूताओं व एक साल से छोटे बच्चों के उपचार के लिए परिवहन के उद्देश्य से पुरानी 104 एम्बुलेंस के स्थान पर नई दो 104 जननी एक्सप्रेस एम्बूलेंस वाहनों को आवंटित किया है। इनमें से एक एम्बूलेंस पीएचसी डाबड़ी एवं पीएचसी मंदरपुरा में को आवंटित की गई है। ये एंबुलेंस पीएचसी पर तैनात रहकर मातृ शिशु सेवाओं को सुदृढ़ करेंगी। जिला प्रभारी मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने आज इन दोनों एम्बूलेंस को जिला कलक्ट्रेट से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। उनके साथ नोहर विधायक अमित चाचाण, भादरा विधायक बलवान पूनिया, जिला कलक्टर नथमल डिडेल, एसपी श्रीमती प्रीति जैन एवं अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि राज्य स्तर से जिले को दो पुरानी 104 एम्बुलेंस के स्थान पर नई 104 जननी एक्सप्रेस एम्बूलेंस वाहन आवंटित किए गए हैं। इनमे से एक भादरा में पीएचसी डाबड़ी एवं दूसरी नोहर में पीएचसी मंदरपुरा में संचालित पुराने 104 जननी एक्सप्रेस एम्बूलेंस की जगह पर आवंटित की गई है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में सेवा प्रदाता एजेंसी मै. मॉर्डन एमरजेंसी सर्विस, जयपुर के माध्यम से इस सेवा का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज जिला प्रभारी मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने इन दोनों वाहनों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। डॉ. नवनीत शर्मा ने 104 जननी एक्सप्रेस सेवा को मातृ शिशु स्वास्थ्य सेवाओं की अहम कड़ी बताया। उन्होंने जानकारी दी कि किसी भी गर्भवती महिला, प्रसूता (प्रसव पश्चात 42 दिन तक) अथवा 1 वर्ष आयु तक के बच्चे को घर से अस्पताल, अस्पताल से उच्चतर संस्थान एवं पुनरू घर तक छोडऩे की सेवाएं 104 जननी एक्सप्रेस के माध्यम से निरूशुल्क दी जाती है। इसके साथ अन्य सुविधायें जैसे रैफरल, आयरन सुक्रोज, नसबंदी कैसेज हेतु नसबंदी कैम्प में लाने व वापिस घर छोडऩे की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। इसके लिए टोल फ्री नंबर 104 अथवा 108 पर कॉल करके सेवा प्राप्त की जा सकती है। इस अवसर पर डीपीएम जितेन्द्र राठौड़, डीएनओ-आईएपी प्रदीप सहारण, सेवा प्रदाता एजेंसी के नवीन कुमार, सीओ-आईईसी मनीष शर्मा मौजूद रहे। --
हनुमानगढ़। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोमवार को पीलीबंगा के गांव बिलोचावाली में रेड कर एक आरएमपी चिकित्सक को बिना लाइसेंस क्लीनिक को चलाते पकड़ा है। टीम में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार डिग्रवाल, ड्रग इंस्पेक्टर श्वेता छाबड़ा, संत कुमार बिश्नोई, गोलूवाला एमओ डॉ. चिराग एवं गोलूवाला थाना से दो कांस्टेबल शामिल थे। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि उन्हें एक सूचना प्राप्त हुई कि खण्ड पीलीबंगा में गांव बिलोचावाली में एक चिकित्सक एक साल से बिना किसी डिग्री एवं लाइसेंस के हार्दिक टेलीमेडिसिन के नाम से क्लीनिक चला रहा था। उन्होंने डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार के निर्देशन में टीम बनाकर जांच के आदेश दिए। उन्होंने बताया कि टीम ने गांव बिलोचांवाली में सोमवार शाम को क्लीनिक पर रेड की। रेड के दौरान चिकित्सक से दस्तावेज दिखाने के लिए कहा गया, लेकिन चिकित्सक ना तो कोई डिग्री दिखा पाया और ही उसके पास कोई वैध लाइसेंस था। उसने अपना नाम राजेश वर्मा बताया। उसने बताया कि उसने श्रीगंगानगर की एक संस्थान से डीएमएलटी किया हुआ है। उसके क्लिनिक जांच करने पर सामान्य दवाइया मिली। वह आने वाले रोगियों के सैम्पल एकत्र करने का भी कार्य कर रहा था। डॉ. शर्मा ने बताया कि क्लीनिक को सील कर राजेश के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।
हनुमानगढ़, 20 सितम्बर। खाद्य पदार्थों के अवमानक पाए जाने पर माननीय न्यायालय ने पांचों खाद्य पदार्थ व्यापारियों पर 2 लाख 35 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। संबंधित फर्म संचालकों को यह राशि एक माह के अंदर-अंदर जमा करवानी पड़ेगी। जुर्माना राशि जमा ना करवाने पर खाद्य विक्रेता का लाइसेंस निरस्त कर वसूली की कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जावेगी। इसके अलावा एक पुराने मामले में मिलावटी दूध बेचने वाले को 6 माह की सजा सुनाई गई। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि श्शुद्ध के लिए युद्ध अभियान्य एवं रुटीन निरीक्षण में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारी जीतसिंह यादव द्वारा गत माह हनुमानगढ़ जिले में अनेक संस्थानों पर निरीक्षण कर खाद्य पदार्थों के नमूने एकत्र करने की कार्यवाही की गई थी। एकत्र नमूनों को जांच के लिए बीकानेर स्थित जांच लैब में भेजा गया। उक्त नमूनों की जांच रिपोर्ट में सामने आया कि पांच फर्मों के नमूनों को अवमानक अथवा मिथ्याछाप होना पाया गया। उक्त पांच फर्मों पर माननीय न्यायालय एडीएम कोर्ट हनुमानगढ़ ने जुर्माना लगाया है। उन्होंने बताया कि रावतसर के सतवीर जाट पुत्र किशनलाल जाट के संस्थान से मावा का सैम्पल भरा गया था, जो अवमानक पाया गया, जिस पर एक लाख रुपए जुर्माना लगाया गया। इसी तरह, पीलीबंगा के चेतराम पुत्र काशीराम स्वामी के संस्थान से भी घी का सैम्पल भरा गया। यह सैम्पल अवमानक पाए जाने पर कोर्ट ने इन पर 50 हजार रुपए जुर्माना लगाया। नोहर के देवकीनंदन पुत्र चेतनदास के संस्थान से सरसों के तेल का सैम्पल लिया गया, जो मिथ्याछाप पाए जाने पर संस्थान पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया। हनुमानगढ़ निवासी राजेश कुमार पुत्र बलराम के संस्थान से गाय के दूध का सैम्पल भरा गया, जो अवमानक पाया गया। इन पर कोर्ट द्वारा 25 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया। हनुमानगढ़ के बालकिशन पुत्र रामचन्द्र हलवाई के संस्थान से मावा का सैम्पल लिया गया, जो फेल हो गया। इन पर भी 10 हजार रुपए की जुर्माने से दण्डित किया गया। उन्होंने बताया कि कोर्ट द्वारा संबंधित संस्थानों को जुर्माना राशि जमा करवाने के लिए अवगत करवा दिया गया है। खाद्य अपमिश्रण अधिनियम 1956 के अंतर्गत एसीजेएम कोर्ट नोहर में दर्ज पुराने प्रकरण में मिलावटी दूध बेचने के दोषी मानते हुए पीएफए एक्ट धारा 7/16 के अंतर्गत दर्ज परिवाद में नोहर के थालड़का निवासी राजवीर पुत्र बलवंत को छरू माह के कारावास एवं 3 हजार रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। यह फैसला 17 अगस्त 2021 को सुनाया गया। डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले में निरीक्षण की कार्यवाही निरंतर जारी रहेगी। उन्होंने आमजन से अपील की कि जिले में अगर कहीं पर भी मिलावटी खाद्य सामग्री का बेचान किया जाता है, तो उसकी सूचना चिकित्सा विभाग को आवश्यक रूप से दें। ----------------
हनुमानगढ़, 20 सितंबर। राज्य सरकार के युवा मामले एवं खेल विभाग एवं राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद जयपुर द्वारा संचालित खेल अकादमियों के लिए संभाग स्तर पर चयन स्पर्धा 22 से 23 सितम्बर 2021 को रखी गई थी। जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम प्रजापत ने बताया कि कोविड-19 के संदर्भ में जारी त्रिस्तरीय जन-अनुशासन दिशा निर्देश 6.0 के द्वारा खेल गतिविधियों के तहत संभाग स्तर पर विभिन्न अकादमियों की चयन स्पर्धा आगामी आदेशों तक स्थगित कर दी गई है।
हनुमानगढ़ 20 सितम्बर। राज्य सरकार ने ग्राम विकास अधिकारी संवर्ग के मासिक वेतन के अतिरिक्त देय भत्तों में वृद्धि करने का निर्णय लिया है।सीईओ जिला परिषद श्री अशोक असीजा ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इस संवर्ग के 11,317 अधिकारियों को बहुआयामी कार्यों के लिए देय विशेष भत्ते और अतिरिक्त कार्य करने (दोहरे प्रभार) के लिए देय अतिरिक्त कार्य भत्ते की राशि में 50 प्रतिशत वृद्धि के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है। श्री असीजा ने बताया कि प्रस्ताव के अनुसार, ग्राम विकास अधिकारी संवर्ग के लिए बहुआयामी भत्ते (हार्ड ड्यूटी अलाउंस) की राशि 1500 रूपए प्रतिमाह से बढ़ाकर 2250 रूपए प्रतिमाह तथा अतिरिक्त कार्य भत्ता राशि 2500 रूपए प्रतिमाह से बढ़ाकर 3750 रूपए प्रतिमाह की जाएगी। उल्लेखनीय है कि अगस्त 2021 तक ग्राम विकास अधिकारियों को देय अतिरिक्त भत्ते राजस्व विभाग के पटवारियों के समान थे। पटवारियों को दिए जाने वाले अतिरिक्त कार्य भत्तों में वृद्धि के बाद ग्राम विकास अधिकारियों के भत्तों में भी बढ़ोतरी प्रस्तावित की गई है। श्री असीजा ने बताया कि सरकार के इस निर्णय से पंचायती राज विभाग के ये कार्मिक पंचायती राज संस्थाओं तथा ग्रामीण विकास से जुड़े अपने दायित्वों का निर्वहन अधिक उत्साह और मनोयोग के साथ करेंगे। ग्राम विकास अधिकारियों के भत्तों में वृद्धि 1 अक्टूबर, 2021 से लागू होगी, जिस पर राज्य सरकार को प्रतिवर्ष लगभग 12.55 करोड़ रूपए का अतिरिक्त वित्तीय भार वहन करना होगा।
- शुक्रवार देर रात तक चला वैक्सीनेशन, 74376 नागरिकों के लगी कोविशील्ड डोज हनुमानगढ़। जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन में जिला अभी भी दूसरे नम्बर पर है। जिले को शुक्रवार चले वैक्सीनेशन में जिले के 74376 नागरिकों को कोविशील्ड की डोज लगाई गई। 353 टीकाकरण केन्द्रों पर टीकाकरण देर रात तक चला। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले के नागरिक उत्साहित होकर टीकाकरण के लिए आगे आ रहे हैं। शुक्रवार को देर रात तक हुआ वैक्सीनेशन इस बात का प्रमाण है। जिले को मिली कोविशील्ड की एक लाख डोज में से शुक्रवार को 74376 नागरिकों ने वैक्सीन लगवाई। सातों ब्लॉक में वैक्सीनेशन टीम टीकाकरण स्थल पर रहकर आमजन को प्रथम व द्वितीय लगाती रही। स्वयंसेवी संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों, सरपंचों, पार्षदों सहित आमजन ने भी अपने परिचितों को वैक्सीनेशन के लिए लेकर आए। चिकित्साकर्मियों ने भी कोविशील्ड की द्वितीय डोज लगाने वालों से बात कर उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित किया। व्यापारी वर्ग भी शाम को अपने कार्य के बाद वैक्सीनेशन स्थल पर वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे। उन्होंने कहा कि शुकवार को हुए वैक्सीनेशन में 47049 नागरिकों ने प्रथम डोज एवं 27327 नागरिकों ने कोविशील्ड की द्वितीय डोज लगवाई। डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि हनुमानगढ़ जिला अभी भी दूसरे स्थान पर बरकरार है। जिले में अब तक 15 लाख 55 हजार 197 नागरिकों ने वैक्सीनेशन लगवा ली है। इनमें 11 लाख 58 हजार 847 नागरिकों ने प्रथम डोज एवं 3 लाख 96 हजार 350 नागरिकों ने वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा ली है। जिले में अब तकि 86.9 प्रतिशत लोगों ने प्रथम डोज एवं 28.7 लोगों ने वैक्सीनेशन की दूसरी डोज लगवा ली है। उन्होंने कहा कि प्रथम स्थान पर सीकर, तीसरे स्थान पर जयपुर-द्वितीय, चौथे स्थान पर झुंझनूं एवं पांचवें स्थान पर अजमेर जिला है। वैक्सीनेशन में संगरिया सबसे आगे आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन में कई ब्लॉक अच्छा कार्य कर रहे हैं। उनके द्वारा शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इनमें संगरिया ब्लॉक सबसे अच्छा कार्य कर रहा है। संगरिया में 95.51 प्रतिशत नागरिकों का प्रथम डोज एवं 36.02 प्रतिशत नागरिकों ने द्वितीय डोज का वैक्सीनेशन करवा लिया है। इसी प्रकार दूसरे नम्बर खण्ड रावतसर के 94.31 प्रतिशत लोगों ने प्रथम डोज एवं 33.49 प्रतिशत लोगों ने द्वितीय डोज लगवाया है। उन्होंने बताया कि आमजन धीरे-धीरे टीकाकृत हो रहे हैं और बहुत जल्द हम पूरे हनुमानगढ़वासियों को कोविड वैक्सीन लगवाकर सुरक्षित कर देंगे।
हनुमानगढ़, 16 सितंबर। टाऊन के वार्ड न. 24 में जय श्री गणेश युवा क्लब द्वारा हर वर्ष भी भांति इस वर्ष भी पांचवा श्री गणेश महोत्सव बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। जिसके तहत बुधवार रात्रि को आल इंडियन कांग्रेस संगठन महिला विंग जिलाध्यक्ष हेमलता प्रजापत व जगदीशराय प्रजापता सपरिवार द्वारा भगवान श्री गणेश की महाआरती की गई तथा लड्डुओं का भोग लगा श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया। इस मौके पर क्लब सदस्यों ने बताया की रोजाना सुबह व शाम गणेश जी की महाआरती की जाती है तथा 19 सितंबर रविवार को महोत्सव स्थल पर विशाल भण्डारे का आयोजन किया जाएगा तथा 20 को विशाल शोभायात्रा के साथ जंक्शन खुंजा नहर पर गणेश जी की प्रतिमा का विसर्जन किया जायेगा। इस अवसर पर मंगल, कमल, प्रवीण, रतन, संदीप, गौरव, मनीष, मनजोत, विकास, विनित, हरीश, मनीष कुमार, भुपेंद्र, कुलविंदर, राहुल, सोनू, मयंक आदि मौजूद थे।
हनुमानगढ़, 16 सितंबर। अंतराष्ट्रीय ओजोन डे पर यूथ विरांगना संगठन द्वारा टाऊन के वार्ड न. 27 स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में स्वच्छता अभियान चलाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ पार्षद भूपेंद्र नेहरा ने हरी झंडी दिखाकर किया। इस मौके पर यूथ विरांगनाओं द्वारा विधालय प्रांगण की साफ सफाई की गई तथा पौधारोपण किया गया। इस अवसर पर यूथ विरांगना रजनी ने ओजोन डे के बारे में जानकारी देते हुए बताया की विश्व ओजोन दिवस पहली बार साल 1995 में मनाया गया था। यह दिवस धरती पर पर्यावरण के प्रति जागरूरता व ओजोन परत की अहमियत के कारण मनाया जाता है। सूर्य का प्रकाश जीवन बनाती है, लेकिन ओजोन परत जीवन बनाती है जैसा कि हम जानते हैं कि यह संभव है। जब 1970 के दशक के अंत में काम करने वाले वैज्ञानिकों को पता चला कि मानवता इस सुरक्षात्मक ढाल में एक छेद बना रही है तो उन्होंने आवाज उठाई इस पर वैश्विक प्रतिक्रिया निर्णायक थी। 1985 में दुनिया की सरकारों ने ओजोन परत के संरक्षण के लिए वियना कन्वेंशन को अपनाया। और उद्योग ने सभी ओजोन-क्षयकारी पदार्थों को 99 प्रतिशत हिस्से को काटने के लिए मिलकर काम किया। 16 सितंबर को आयोजित विश्व ओजोन दिवस इस उपलब्धि का जश्न मनाता है। इस अवसर पर अध्यापक राकेश बाघला, कुलदीप, सीमा, सुनेना, रजनी, मीनाक्षी, शिमला, ऊषा, शीला आदि यूथ विरांगनायें मौजूद थी।
रीट परीक्षा को देखते हुए 25, 26 और 27 सितंबर को अति आवश्यक होने पर ही करें यात्रा’’ हनुमानगढ़, 15 सितंबर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर के तत्वाधान में 26 सिंतबर को आयोजित होने वाली रीट- 2021 परीक्षा के जिले में सफल आयोजन को लेकर बुधवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई इस बैठक में जिला कलक्टर ने जिले में रीट परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारियों को आपसी समन्वय से परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर दिशा निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि रीट परीक्षा को लेकर बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन पर व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए ताकि आमजन को किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। रेलवे और परिवहन विभाग की गाडि़यों की समय सारणी का भी सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की ओर से प्रचारित किया जाए ताकि परीक्षा देने आ रहे परीक्षार्थियों को असुविधा ना हो। परीक्षा केन्द्र पर महिला पुलिस कर्मी, पटवारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता इत्यादि में से किसी एक महिला को लगाया जाएगा। बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने बताया कि जिले में जिन परीक्षा केन्द्रों पर करीब 200 स्टूडेंट्स हैं वहां 2 पुलिसकर्मी की तैनाती की जाएगी। करीब 6 सेंटर ऐसे हैं जहां करीब 500 स्टूडेंट्स होंगे, वहां उसी अनुपात में अधिक कार्मिक लगाए जाएंगे। जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने बताया कि परीक्षा ऑबजर्वर और केन्द्र अधीक्षक अपने फोन का ब्लू टूथ ऑन रखेंगे ताकि परीक्षा केन्द्रों के आसपास चल रहे ब्राडबैंड का पता लगाकर उन्हें लॉक किया जा सके। जिले में रीट परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के प्रतिनिधि के रूप में आए बीकानेर की श्री डूंगर कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ विजय कुमार ऐरी ने बताया कि चार परीक्षा केन्द्रों पर एक फ्लाइंग टीम लगाई जाएगी। प्राइवेट स्कूल और कॉलेज के सेंटर्स पर 50 प्रतिशत से अधिक स्टॉफ सरकारी लगाया जाएगा ।बैठक में डीटीओ श्री जगदीश अमरावत ने कहा कि बसों की पर्याप्त व्यवस्था जिले में है। साथ ही कहा कि जिले में रीट परीक्षा के दिन और उससे एक दिन पहले व बाद में लोग अति आवश्यक होने पर ही यात्रा करें। इसको लेकर अगर एडवाइजरी जारी की जाए तो लोगों को कम परेशानी होगी। बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन, हनुमानगढ़ में रीट परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से लगाए गए प्रतिनिधि श्री डूंगर कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ विजय कुमार ऐरी, एडीएम श्री रामरतन सौंकरिया, एडीएम नोहर श्री भागीरथ सांख, डीटीओ श्री जगदीश अमरावत, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, सीडीईओ श्री वीरेन्द्र सिंह, डीईओ प्रारंभिक श्री रामेश्वर गोदारा, एडीईओ माध्यमिक श्री रणवीर शर्मा, एनएमपीजी कॉलेज से डॉ विनोद कुमार जांगिड़, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश कुमार सोलंकी, सीडीपीओ रावतसर श्रीमती रेणु चौधरी, सीडीपीओ हनुमानगढ़ श्रीमती सुनीता शर्मा, डीओआईटी से डॉ केन्द्र प्रताप समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। गौरतलब है कि रीट परीक्षा के अंतर्गत हनुमानगढ़ जिले में बनाए गए 102 परीक्षा केन्द्रों पर दो पारियों में करीब 29 हजार विद्यार्थी सम्मिलित होंगे। परीक्षा के सफल संचालन को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में संचालन समिति का गठन किया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक श्री हंसराज जाजेवाल को इस समिति का सचिव बनाया गया है। एडीएम को इसका नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। समिति में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के प्रतिनिधि के रूप में श्री डूंगर कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ विजय कुमार ऐरी और सह प्रतिनिधि डॉ विनोद कुमार जांगिड़ शामिल हैं।
हनुमानगढ़, 15 सितम्बर। मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने कहा कि आगामी 26 सितम्बर को आयोजित होने वाली रीट परीक्षा के सफल संचालन को उच्च प्राथमिकता दी जाए तथा इस संबंध में अधिकारी लगातार समीक्षा बैठक लें, सबंधित विभाग तालमेल के साथ कार्य करें तथा इसकी लगातार मॉनिटरिंग हो। श्री आर्य बुधवार को शासन सचिवालय में रीट परीक्षा के आयोजन की समीक्षा बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रीट परीक्षा का आयोजन आगामी 26 सितम्बर को किया जाएगा, परीक्षा में लगभग 26 लाख अभ्यर्थी भाग लेंगे तथा परीक्षा को आयोजन दो पारियों में लगभग 4000 परीक्षा केन्द्रों पर होगा। उन्होंने कहा कि इस परीक्षा में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी भाग लेंगे ऎसे में परीक्षा का सफलता पूर्ण आयोजन चुनौती भरा कार्य है, उन्होंने सबंधित विभागों को आपस में उचित तालमेल बैठाकर कार्य करने के निर्देश दिए जिससे कानून व्यवस्था एवं शांति बनी रहें। श्री आर्य ने कहा कि परीक्षा के दिन भारी संख्या में अभ्यर्थियों का आवागमन रहेगा, व्यवस्था को सुचारु बनाए रखने के लिए पुलिस विभाग द्वारा विस्तृत निर्देश जारी किए गए है। उन्होंने जोर देकर कहा कि परीक्षा की गरिमा बनाए रखने की जिम्मेदारी प्रशासन की है तथा इसमें किसी भी स्तर पर कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्रों पर पुलिस जाब्ता, मोबाइल वैन सहित तमाम तरह के इंतजाम किया जाए जिससे परीक्षा में किसी भी तरह की नकल न हों। उन्होंने सभी जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए कि परीक्षा के सफल आयोजन के लिए अतिशीघ्र योजना बनाएं तथा उसकी लगातार मॉनिटरिंग करें। उन्होेंने कहा कि परीक्षा आयोजन की माकूल इंतजाम करने के लिए आज से ही इसकी बागडोर संभाल लें तथा लगातार कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समिति की बैठक लें। उन्होंने कहा कि कलेक्टर प्रत्येक जिले में अभ्यर्थियों के आवागमन का रूट चार्ट बनाएं तथा माइक्रो स्तर पर आवागमन की व्यवस्था की जाएं। बैठक में रीट परीक्षा में शामिल होने वाली अभ्यर्थियों के आवागमन, उनके लॉजिस्टिक, कोरोना गाइडलाइन की पालना, पुलिस बल का तैनाती, परीक्षा के दिन इंटरनेट पर पांबदी सहित विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा विभाग श्री पी के गोयल ने परीक्षा के आयोजन के सफल संचालन के लिए विस्तार से विभागवार जिम्मेदारियों पर चर्चा की। बैठक में श्री आर्य ने सभी जिलों के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षकों से परीक्षा के आयोजन के दौरान व्यावहारिक समस्याएं तथा सफल संचालन के लिए सुझाव भी मांगे। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. धर्मपाल जारोली ने भी परीक्षा के सम्पूर्ण कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी। वीसी के दौरान जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल और जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने कहा कि वीसी में दिए गए दिशा निर्देशों की पालना करते हुए संबंधित विभागों के बीच समन्वय स्थापित करते हुए हनुमानगढ़ जिले में रीट की परीक्षा का सफल आयोजन किया जाएगा। हनुमानगढ़ में ये अधिकारी रहे मौजूद- वीसी के दौरान जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन, हनुमानगढ़ में रीट परीक्षा के आयोजन को लेकर बीकानेर से आए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के प्रतिनिधि श्री डूंगर कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ विजय कुमार ऐरी, एडीएम श्री रामरतन सौंकरिया, एडीएम नोहर श्री भागीरथ, डीटीओ श्री जगदीश अमरावत, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, सीडीईओ श्री वीरेन्द्र सिंह, डीईओ प्रारंभिक श्री रामेश्वर गोदारा, एनएमपीजी कॉलेज के डॉ विनोद जांगिड़, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश कुमार सोलंकी, एडीईओ माध्यमिक श्री रणवीर शर्मा, सीडीपीओ रावतसर श्रीमती रेणु चौधरी, सीडीपीओ हनुमानगढ़ श्रीमती सुनीता शर्मा,डीओआईटी से डॉ केन्द्र प्रताप, समेत जिले के सभी सीडीपीओ और अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे। ------------
संगरिया. स्थानीय माहेश्वरी समाज द्वारा ऋषि पंचमी के अवसर पर शनिवार को रक्षाबंधन पर्व का आयोजन किया गया। भाई-बहन के इस पर्व पर बहनों ने भाईयों को राखी बांधकर परिवार के मंगल की कामना की वहीं भाईयों ने बहन की रक्षा का वचन दिया। जिलाध्यक्ष रतनलाल लाहोटी व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कृष्ण कुमार करवा ने बताया की माहेश्वरी समाज द्वारा मान्यता है कि महेश नवमीं को समाज की उत्पत्ति के समय भगवान शिव द्वारा 72 उमराव को पाषाण से मानव बनाया था व क्षत्रिय कर्म छोड़कर वणिक बनने का आशीर्वाद दिया था। उनके द्वारा ऋषियों को कुलगुरू का दायित्व दिया जिन्होने अनेक अनुष्ठान किए, जिससे उन परिवारों की बेटियों को अपने भाईयों को राखी बांधने का अवसर प्राप्त हुआ। तब से समाज द्वारा यह पर्व ऋषि पंचमी के दिन मनाया जाता है। इस अवसर पर महिलाओं द्वारा भाईयों व परिवार की रक्षा के लिए उपवास भी रखा जाता है। माहेश्वरी महिला मंडल की अध्यक्ष सरोज राठी के अनुसार पर्व समाज की संस्कृति व विरासत को प्रस्तुत करने वाले होते है। ऋषि पंचमीं को ऋषि पूजन भी किया जाता है। यह पर्व माहेश्वरी समाज के अतिरिक्त बीकानेर रियासत मूल के अनेक समाज द्वारा भी इस दिन मनाया जाता है।
हनुमानगढ़, 12 सितंबर। गांधी जी की 150 वीं जयंती वर्ष के क्रम में 11 से 17 सितंबर तक जिले भर में आयोजित सत्याग्रह सप्ताह के अंतर्गत दूसरे दिन रविवार को जिला कलेक्ट्रेट परिसर में सफाई अभियान चलाकर श्रमदान किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने को लेकर गठित जिला स्तरीय समिति के सह संयोजक श्री तरुण विजय, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री रामरतन सोंकरिया थे। इस मौके पर जिला सह संयोजक श्री तरुण विजय एवं अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री रामरतन सोंकरिया ने खुद झाड़ू एवं फावड़े चलाकर कचरा एकत्रित किया और उसे कचरे वाली गाड़ी में डालकर सभी को स्वच्छता का संदेश दिया। रविवार को जिला कलेक्ट्रेट परिसर में मुख्य वाटिका, ज्ञानोदान वाटिका, जिला कलेक्ट्रेट के पीछे अधिवक्ता चौंबर्स के पास सहित समस्त कलेक्ट्रेट परिसर में सफाई अभियान चलाया गया। जिसमें सफाई कर्मचारियों ने भी सहयोग किया। इस अवसर पर जिला सह संयोजक श्री तरुण विजय ने कहा कि सत्याग्रह सप्ताह मनाने का मुख्य उद्देश्य आम जन को महात्मा गांधी के जीवन से प्रेरणा देना है। उन्होंने कहा कि इस सप्ताह के अंतर्गत महात्मा गांधी की जीवनी पर आधारित अनेकों कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है जिससे आमजन को उनके दिखाए मार्गदर्शन पर चलने की प्रेरणा मिल सके। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री राम रतन सोंकरिया ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन दर्शन की प्रासंगिकता आज भी है। युवा पीढ़ी समेत सभी को महात्मा गांधी के दर्शन को आत्मसात करने की आवश्यकता है लिहाजा राज्य सरकार के निर्देश पर सत्याग्रह सप्ताह के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रम जिला प्रशासन की ओर से आयोजित की जा रहे हैं। स्वच्छता अभियान में महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय अंग्रेजी माध्यम से श्री सूर्य प्रकाश जोशी के नेतृत्व में विद्यार्थियों, पटवार संघ के जिला अध्यक्ष श्री वीरेंद्र पारीक के नेतृत्व में पटवारियों, जिला कलेक्ट्रेट के कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल के नेतृत्व में सिविल डिफेंस के कार्यकर्ताओं ने सहयोग दिया। सत्याग्रह सप्ताह के अंतर्गत आयोजित होने वाले कार्यक्रम अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री रामरतन संकोरिया कोरिया ने बताया कि 11 से 17 सितंबर तक आयोजित सत्याग्रह सप्ताह के अंतर्गत 13 सितंबर को सुबह 9 से 10 बजे जंक्शन स्थित महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय अंग्रेजी माध्यम में गांधी अतीत ही नहीं भविष्य भी है विषय पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन, 14 सितंबर को सुबह 11 बजे एनएमपीजी कॉलेज टाउन में सत्याग्रह और गांधीजी के प्रयोग विषय पर भाषण प्रतियोगिता, 15 सितंबर को जंक्शन स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में सुबह 8 बजे पौधरोपण, 16 सितंबर को टाउन के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में सुबह 10 बजे गांधी बनो प्रतियोगिता का आयोजन और 17 सितंबर को समापन समारोह कलेक्ट्रेट परिसर स्थित गांधी पार्क में सुबह 8 बजे सर्वधर्म प्रार्थना, भजन, गांधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण और रंगोली की आयोजन किया जाएगा। ---------------
हनुमानगढ़, 11 सितंबर। मुख्यमंत्री की वर्ष 2021-22 की बजट घोषणा संख्या 62 की अनुपालन में राजस्थान ग्रामीण ओलंपिक खेलों के सफल आयोजन को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया गया। ग्राम स्तर पर खेल प्रतिभाओं की खोज कर आगे लाने के लिए राज्य खेलों की तर्ज पर ग्राम पंचायत स्तर, ब्लॉक स्तर और जिला स्तरीय आयोजन को लेकर जिला कलक्टर ने जिले के सभी एसडीएम और विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश प्रदान किए। जिला कलक्टर ने राजस्थान ग्रामीण ओलंपिक खेलों के सफल आयोजन को लेकर सभी एसडीएम को ब्लॉक स्तर पर बैठक करने, गांवों में खेल मैदानों की उपलब्धता सुनिश्चित करने,मैदान नहीं होने की स्थिति में मनरेगा से उसे तैयार करने, पीटीआई, भामाशाहों का चयन, ब्लॉक वाइज ड्यूटी लगाने, विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित कर सहयोग लेने इत्यादि को लेकर दिशा निर्देशित किया। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि ग्राम स्तरीय आयोजन के दौरान अगर ग्राम पंचायत मुख्यालय पर सभी खेलों के लिए पर्याप्त व्यवस्था नहीं हो तो संबंधित ग्राम पंचायत के राजस्व गांव का चयन किया जा सकता है। लेकिन सभी प्रतियोगिता उसी राजस्व गांव में ही या संबंधित ग्राम पंचायत मुख्यालय पर ही आयोजित की जाएं। इससे पहले जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम प्रजापत ने बताया कि राजस्थान ग्रामीण ओलंपिक खेलों के दौरान चार खेलों कबड्डी, शूटिंग वॉलीबॉल (बालक वर्ग) , टेनिस बॉल क्रिकेट, खो-खो (बालिका वर्ग) का आयोजन संभवत नवंबर माह में ग्राम पंचायत, ब्लॉक और फिर जिला स्तरीय पर किया जाना है। ग्राम पंचायत स्तर पर 2 दिन, ब्लॉक स्तर पर 4 दिन, जिला स्तर पर 2 दिन और राज्य स्तर पर 4 दिन इन खेलों का आयोजन होना है। तारीखों की अभी घोषणा नहीं हुई है। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि इस आयोजन को लेकर सफल बनाने के लिए जिला, ब्लॉक और ग्राम स्तरीय क्रियान्वयन समिति का गठन किया जाना है। जिला स्तरीय समिति में जिला कलक्टर या उनका प्रतिनिधि संयोजक, के अलावा सीईओ जिला परिषद, खेल अधिकारी, डीईओ, खेल संघों के प्रतिनिधि और शारीरिक या अल्पकालीन प्रशिक्षकों को सदस्य बनाया गया है। ब्लॉक स्तरीय समिति में संबंधित एसडीएम संयोजक, प्रधान, बीडीओ, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी, खेल अधिकारी के प्रतिनिधि को सदस्य और ग्राम स्तरीय समिति में संबंधित सरपंच संयोजक, राजकीय विद्यालय के प्रधानाचार्य, ग्राम सचिव, पटवारी, शारीरिक शिक्षक को सदस्य बनाया गया है। इन समितियों को खिलाडि़यों का रजिस्ट्रेशन, मॉनिटरिंग, प्रमाण पत्र तैयार करना इत्यादि कार्य दिया गया है। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि ग्राम, ब्लॉक व जिला स्तरीय आयोजन को लेकर बजट का प्रावधान भी किया गया है। बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के अलावा एडिशनल एसपी श्री राजेन्द्र मीणा, हनुमानगढ़ एसडीएम डॉ अवि गर्ग, नोहर एसडीएम सुश्री श्वेता कोचर, पीलीबंगा एसडीएम सुश्री प्रियंका तिलानिया, रावतसर एसडीएम श्रीमती शिवा चौधरी, भादरा एसडीएम श्रीमती शंकुतला चौधरी, संगरिया एसडीएम श्री रमेश देव, टिब्बी एसडीएम श्री मांगीलाल,सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, सीडीईओ श्री वीरेन्द्र कुमार, डीईओ माध्यमिक श्री हंसराज, डीईओ प्रारंभिक श्री रामेश्वर गोदारा,जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम, वॉलीबॉल कोच श्री बसंत सिंह मान,हॉकी संघ से श्री मलकीत सिंह मान,कबड्डी संघ से श्री हरजीत सिंह, खो-खो संघ से श्री रामप्रताप गोदारा, टेनिस बॉल क्रिकेट संघ से श्री श्याम पांडे, शूटिंगबॉल संघ से श्री सुरेन्द्र, सीनियर पीटीआई श्री राकेश कुमार, राजीव गांधी स्टेडियम से श्री ओम सेन समेत अन्य उपस्थित थे। --------
हनुमानगढ,11 सितंबर। गांधी जी की 150 वीं जयंती वर्ष के क्रम में 11 से 17 सितंबर तक जिले भर में आयोजित सत्याग्रह सप्ताह का आगाज शनिवार को जंक्शन स्थित एनपीएस स्कूल में गांधी और सत्याग्रह विषय पर आयोजित संगोष्ठी से हुआ मनाया जा रहा है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाने को लेकर गठित जिला स्तरीय समिति के सह संयोजक श्री तरूण विजय, उपखंड अधिकारी डॉ. अवि गर्ग, विशिष्ट अतिथि पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, नेहरू युवा केन्द्र की जिला युवा अधिकारी श्रीमती मधु यादव, डीईओ प्रारंभिक श्री रामेश्वर गोदारा, महिला बाल विकास के उप निदेशक श्री प्रवेश सोलंकी,श्री राधेश्याम लखोटिया थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय प्रबंधक समिति के निदेशक अजय गर्ग ने की। कार्यक्रम की शुरूवात अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष द्वीप प्रज्जवलित कर किया गया। संगोष्ठी में जिले के विभिन्न स्कूलों ने भाग लिया। संगोष्ठी में विद्यार्थियों ने महात्मा गांधी एवं सत्याग्रह विषय पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री तरुण विजय ने कहा कि राज्य सरकार गांधी जी की 150वीं जयंती वर्ष को आगे बढ़ाते हुए लगातार विभिन्न तरह के आयोजन कर रही है ताकि युवा पीढ़ी गांधी जी के सत्य अहिंसा समेत अन्य दर्शन को ना केवल समझे बल्कि अपने जीवन में भी उतारे। उन्होंने कहा कि आज विश्व की कोई भी समस्या हो, उसका हल गांधी जी के दर्शन के जरिए किया जा सकता है। आज पूरा विश्व गांधी की शिक्षाओं को को मानता है। उन्होंने युवा पीढ़ी से गांधी की लिखी पुस्तक श्सत्य के साथ प्रयोगश् पढ़ने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि चंपारण में गांधी जी ने सत्याग्रह की शुरुआत कर के पूरे देश में निर्भिकता का वातावरण बनाया और अहिंसा के बल पर देश को आजादी दिलवाई। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपखंड अधिकारी डॉ. अवि गर्ग ने गांधी के दर्शन को आज भी प्रासंगिक बताते हुए स्वतंत्रता और समानता के बारे में विस्तार से युवा पीढ़ी को बताया। डॉ गर्ग ने ग्राम स्वराज, सांप्रदायिक सद्भाव, भारत छोड़ो आंदोलन, असहयोग आंदोलन के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि किस प्रकार साबरमती के संत ने बिन खड्ग बिना ढाल आजादी दिलवाई। स्कूल प्रिंसिपल श्रीमती जसविंदर कौर सोढ़ी ने भी गांधी और सत्याग्रह विषय पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला।मंच संचालन श्रीमती कुसुम शर्मा ने किया इस अवसर पर श्री दर्शन कटारिया, स्कूल स्टॉफ समेत बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स उपस्थित थे सत्याग्रह सप्ताह के अंतर्गत आयोजित होने वाले कार्यक्रम उपखंड अधिकारी डॉ.अवि गर्ग ने बताया कि 11 से 17 सितंबर तक आयोजित सत्याग्रह सप्ताह के अंतर्गत 12 सितंबर को सुबह साढ़े 7 बजे कलेक्ट्रेट परिसर में श्रमदान का आयोजन, 13 सितंबर को सुबह 9 से 10 बजे जंक्शन स्थित महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय अंग्रेजी माध्यम में गांधी अतीत ही नहीं भविष्य भी है विषय पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन, 14 सितंबर को सुबह 11 बजे एनएमपीजी कॉलेज टाउन में सत्याग्रह और गांधीजी के प्रयोग विषय पर भाषण प्रतियोगिता, 15 सितंबर को जंक्शन स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में सुबह 8 बजे पौधरोपण, 16 सितंबर को टाउन के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में सुबह 10 बजे गांधी बनो प्रतियोगिता का आयोजन और 17 सितंबर को समापन समारोह कलेक्ट्रेट परिसर स्थित गांधी पार्क में सुबह 8 बजे सर्वधर्म प्रार्थना, भजन, गांधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण और रंगोली की आयोजन किया जाएगा।
हनुमानगढ़, 09 सितंबर। जिले में संचालित पेट्रोल पंप के संचालकों को अब तेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर और विधिक माप विज्ञान अधिकारी के नाम और मोबाइल नंबर पेेट्रोल पंप पर सहज सृदृश्य स्थान पर लिखने होंगे ताकि किसी ग्राहक को पेट्रोल पंप पर तेल की मात्रा या क्वालिटी को लेकर कोई शिकायत हो तो सीधे तेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर को शिकायत दर्ज करवा सके। जिला रसद अधिकारी श्री राकेश न्यौल ने बताया कि तेेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर्स एवं विधिक माप विज्ञान अधिकारी के नाम और मोबाईल नम्बर सदृश्य स्थल पर प्रदर्शित नहीं करने पर पेट्रोल पंप सीज की कार्रवाई की जाएगी। जिला रसद अधिकारी श्री न्यौल ने आमजन की सुविधा के लिए तेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर के नाम और नंबर भी जारी किए ताकि उपभोक्ता सीधे शिकायत दर्ज करवा सके। जिला रसद अधिकारी श्री राकेश न्यौल ने बताया कि जिले में आये दिन विभिन्न पेट्रोल पम्पों पर कम मात्रा में और पेट्रोल, डीजल में मिलावट की शिकायत प्राप्त होती रहती है। इसी क्रम में पेट्रोल पम्पों की जांच में यह पाया गया कि पेट्रोल पम्पों पर उक्त शिकायतों की तकनीकी जांच हेतु सक्षम सेल्स ऑफिसर एवं विधिक माप विज्ञान अधिकारी के मोबाईल नम्बर प्रदर्शित नहीं होते हैं। जिससे पीड़ित उपभोक्ताओं को उपयुक्त स्तर पर शिकायत करने में परेशानी होती है। सक्षम स्तर पर शिकायत की पहुंच नहीं होने के कारण संवेदनशील प्रकरणों की जांच भी शीघ्र नहीं हो पाती है। लिहाजा जिले में संचालित सभी पेट्रोल पम्प संचालकों को निर्देशित किया गया है कि वे पेट्रोल पम्प पर सहज सदृश्य स्थल पर तेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर एवं विधिक माप विज्ञान अधिकारी के नाम और मोबाईल नम्बर प्रदर्शित करें। अन्यथा पेट्रोल पंप सीज की कार्रवाई की जाएगी। जिला रसद अधिकारी ने बताया कि पेट्रोल पंप संचालकों को ये भी निर्देशित किया गया है कि उपभोक्ता की मांग पर स्टैण्डर्ड माप से तेल का माप किया जाकर उपभोक्ता को संतुष्ट करें। विभिन्न तेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर्स जिला रसद अधिकारी ने बताया कि आमजन की सुविधा हेतु जिले में कार्यरत विभिन्न तेल कंपनियों के सेल्स ऑफिसर्स के नाम और मोबाईल नम्बर जारी किए जा रहे हैं। एचपी कंपनी के सेल्स ऑफिसर श्री भुवनेश कुमावत और उनका मोबाइल नंबर 9587868510 है। इसी प्रकार बीपीसीएल के सेल्स ऑफिसर श्री नितिन, मो. नं - 9530265555, आईओसी के श्री मोहित भाटिया, मोबाइल नंबर- 8319965006, एस्सार के श्री उदय प्रताप सिंह, मोबाइल नंबर 8739922111, रिलायंस के श्री अभिषेक गौतम और उनके मो.नं. 7985118876 हैं। डीएसओ श्री न्यौल ने बताया कि पेट्रोल पम्पों पर तेल की गुणवत्ता या माप आदि से सम्बन्धित शिकायत होने पर सम्बन्धित तेल कम्पनी के सेल्स ऑफिसर से सीधे सम्पर्क कर सकते हैं और उन्हें शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।
हनुमानगढ़, 09 सितंबर। राजस्व वन महोत्सव के उपलक्ष्य पर गुरूवार को पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में 100 पौधे लगाए गए। संत निरकारी मंडल हनुमानगढ़ के सहयोग से पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में ये पौधरोपण किया गया। इस अवसर पर एडीएम श्री रामरतन सौंकरिया, डीएफओ श्री करण सिंह काजला, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, तहसीलदार श्री बाबूलाल, कलेक्ट्रेट के कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल समेत अन्य अधिकारियों और संत निरंकारी मंडल हनुमानगढ़ ब्रांच के संयोजक श्री देवराज छाबड़ा, श्री अशोक सोनी, श्री नारायणजीत, श्री देवीलाल वर्मा , श्री नितिन चुघ, श्री गुरदौर सिंह, श्री जसवंत सिंह, श्री औंकार सिंह, श्री विनोद कुमार,नौरंगदेसर से श्री जय सिंह बेनीवाल, श्री मदनलाल इत्यादि ने पौधरोपण किया। गौरतलब है कि संत निरंकारी मंडल की ओर से वननेस वन कार्यक्रम के अंतर्गत पुरानी कलेक्ट्रेट के पीछे सघन पौधरोपण किया जा रहा है। अब तक करीब 500 पौधे लगाए जा चुके हैं। करीब 250 पौधे यहां और लगाए जाएंगे।
हनुमानगढ़, 09 सितंबर। राजस्व वन महोत्सव के अवसर पर गुरूवार को जिले भर में पटवार मंडल से लेकर जिला मुख्यालय तक पौधरोपण के कार्यक्रम आयोजित किए गए। पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने और आमजन में पौधरोपण के प्रति जागरूकता लाने को लेकर आयोजित किए गए इन कार्यक्रमों में हजारों की संख्या में पौधे जिले भर में लगाए गए। जिला मुख्यालय पर पौधरोपण का कार्यक्रम जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में पहले कलेक्ट्रेट परिसर में और फिर पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित किया गया। कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित किए गए पौधरोपण कार्यक्रम में जिला कलक्टर ने अमरूद का पौधा लगाया। उनके बाद अन्य अधिकारियों एडीएम श्री रामरतन सौंकरिया, डीएफओ श्री करण सिंह काजला, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, तहसीलदार श्री बाबूलाल, नायब तहसीलदार श्री दानाराम मीणा, कलेक्ट्रेट कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल, स्काउट गाइड के सीओ श्री भारत भूषण, रेंजर लीडर सुश्री हरजीत कौर ने भी फलदार और छायादार पौधे लगाए। इस अवसर पर स्काउट गाइड के रोवर्स और रेंजर्स, आपदा प्रबंधन के वॉलिंटियर्स इत्यादि उपस्थित रहे। कलेक्ट्रेट कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल ने बताया कि जिला कलेक्ट्रेट परिसर में करीब 40 पौधे लगाए गए। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुरूप राजस्व वन महोत्सव का आयोजन पूरे जिले में किया गया। जिसके अंतर्गत पटवार मंडल से लेकर, भूअभिलेख निरीक्षक,नायब तहसीलदार, तहसीलदार,उपखंड अधिकारी, अतिरिक्त जिला कलक्टर, जिला कलक्टर कार्यालय तक में खाली पड़ी भूमि पर पौधरोपण किया गया। साथ ही अन्य सरकारी कार्यालयों और स्थानों पर पौधरोपण स्वयंसेवी संगठनों के सहयोग से किया गया। बड़ी संख्या में हुए पौधरोपण से पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।
हनुमानगढ़। कोविड संक्रमण के प्रचार को रोकने, संक्रमण की शृंखला को तोडऩे, कोविड के कारण होने वाली जनहानि को न्यूनतम किए जाने, तीसरी लहर को रोकने व सीमित करने तथा घर पर ही कोविड-19, सिलिकोसिस एवं अन्य रोगों के मरीजों को उनकी मेडिकल स्थिति के अनुसार मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए जिला स्तर पर जिला औषधि भण्डार में ऑक्सीजन बैंक स्थापित कर दिया गया है। इसके लिए निदेशालय से पांच लीटर क्षमता के 100 ऑक्सीजन कन्संटेटर जिला औषधि भण्डार को मंगलवार शाम प्राप्त हो गए हैं। जिला औषधि भण्डार के जिला समन्वयक अधिकारी डॉ. कुलदीप बराड़ ने बताया कि जिले में 100 ऑक्सीजन कन्संटेटर आने के बाद ऑक्सीजन की आवश्यकता होने पर अब ऑक्सीजन कन्संटेटर घर पर उपयोग करने के लिए उपलब्ध हो सकेगा।
हनुमानगढ़। परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत परिवार नियोजन सेवाओं में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के लिए जिले के गांवों में एनएसवी चैंपियन बनाए जाएंगे। अब तक परिवार नियोजन में महिलाओं की भागीदारी अधिक होती थी, लेकिन चिकित्सा विभाग की ओर से इस बार परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के लिए गांवों में पुरुष सहभागिता सम्मेलन किए जाएंगे। इसमें एनएसपी चैंपियन्स और एनएसवी मोटीवेटर्स का चयन किया जाएगा। इन दोनों को विभाग की ओर से प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। ऐसे चुनेंगे रोल मॉडल एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार ने बताया कि सम्मेलनों में जहां विभाग के अधिकारी पुरुषों को परिवार नियोजन के साधनों जैसे एनएसवी या पुरुष नसबंदी और कण्डोम के उपयोग के लिए प्रेरित करेंगे। वहीं गांव से एनएसवी चैंपियन और एनएसवी मोटीवेटर्स को भी चुना जाएगा। एनएसवी चैंपियन उन्हें चुना जा सकेगा, जिन्होंने एनएसवी को अपनाया है और मोटीवेटर्स एएनएम, स्वास्थ्य मित्र या विभागीय कड़ी में से कोई भी हो सकता है। इन दोनों को विभाग की ओर से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसका मुख्य कारण सम्मेलन में आए पुरुषों को एनएसवी और कण्डोम के उपयोग के लिए प्रेरित करना होगा। प्रत्येक ब्लॉक से 20 एनएसवी चुनेंगे डॉ. पवन कुमार ने बताया कि जिले के सातों ब्लॉकों में 140 चैंपियन चुने जाएंगे। इस प्रकार प्रत्येक वर्ष कम से कम 5 एनएसवी लाभार्थियों को प्रेरित करने वाले चिकित्सा अधिकारी, एएनएम, आशा या स्वैच्छिक कार्यकर्ता को एनएसवी मोटरीवेटर के रूप में पहचाना जाएगा। कहां कितने होंगे सम्मेलन उन्होंने बताया कि प्रत्येक ब्लॉक में 10 गांवों में पुरुष सहभागिता सम्मेलन कराने का लक्ष्य रखा गया है। एक वित्तीय वर्ष में प्रत्येक ब्लॉक में एक ही गांव में सम्मेलन आयोजित किया जा सकेगा। गांवों में सम्मेलन आयोजित करने की जिम्मेदारी एएनएम को दी गई है। स्वास्थ्य मित्र भी इसमें सहयोग करेंगें। इन बिंदुओं पर होगी चर्चा सम्मेलनों में सीमित परिवार के लाभ, विवाह की न्यूनतम आयु, परिवार नियोजन के साधनों की उपलब्धता व उपयोगिता, 2 बच्चों के बीच अंतर, परिवार कल्याण कार्यक्रमों के तहत दी जाने वाले क्षतिपूर्ति राशि, पुरुष नसबंदी, महिला नसबंदी में अंतर आदि के बारे में बताया जाएगा। एनएसवी चैंपियन एनएसवी के बारे में अपने अनुभव सम्मेलनों में साझा करेंगे। ताकि और भी पुरुषों को इसके लिए प्रेरित किया जा सके। इनका कहना है जिले में परिवार नियोजन में पुरुषों की सहभागिता बढ़ाने के लिए सभी ब्लॉकों के गांवों में पुरुष सहभागिता सम्मेलन होंगे। इसके तहत परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के लिए उन्हें प्रेरित किया जाएगा। जिले में 10 सितंबर से सम्मेलन होंगे। इसमें शामिल सहभागियों को अल्पाहार की व्यवस्था की जाएगी। एनएसवी चैंपियन और मोटीवेटर्स को प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। - डॉ. नवनीत शर्मा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, हनुमानगढ़
हनुमानगढ़, 08 सितंबर। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार एवं पदेन अध्यक्ष श्री संजीव मागो, जिला एवं सेशन न्यायाधीश, हनुमानगढ़ के निर्देशन में ए.डी.आर. भवन, हनुमानगढ़ में पदेन सचिव श्रीमती संदीप कौर, सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश, हनुमानगढ़ की अध्यक्षता में जिला विधिक चेतना समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में पदेन सदस्य बार संघ अध्यक्ष श्री मनजिन्द्र सिंह लेघा, सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई, प्रतिनिधि समाज कल्याण विभाग श्री विकास कुमार एवं सदस्यगण अधिवक्ता श्रीमती रेशमी सियाग,श्रीमती सुनीता वर्मा, श्री कानाराम वर्मा,श्री जयसिंह दायमा एवं सदस्य सेवानिवृत पटवारी श्री गोरधनलाल मीणा द्वारा भाग लिया गया। बैठक में पदेन सचिव द्वारा बताया गया कि जिला विधिक चेतना समिति का यह कर्तव्य है कि वह विधिक चेतना के बारे में राज्य प्राधिकरण की नीति और निर्देशों को क्रियान्वित करे जिससे समाज में विशिष्ट रूप से महिलाओं और समाज के कमजोर वर्गों में विधिक चेतना को प्रोन्नत करने के लिए विधिक साक्षरता शिविर आदि सम्मिलित है। सचिव द्वारा यह भी बताया गया कि रालसा, जयपुर द्वारा वर्ष 2021-22 महिला सम्मान, सुरक्षा और गौरव को समर्पित किया गया है। इसी क्रम में कार्यालय द्वारा महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण, स्वच्छता व सांस्कृतिक अधिकारों को दृष्टिगत रखते हुए विधिक सेवा कार्यक्रमों का आयोजन समय-समय पर ग्राम, ढाणी, मोहल्ला आदि स्थानों पर कर उनके अधिकारों के प्रति उन्हें जागरूक किया जा रहा है एवं उक्त प्रकार की गतिविधियां तालुका स्तर पर भी आयोजित की जा रही हैं। विधिक योजनाओं को धरातल पर कैसे उतारा जा सकता है एवं किस प्रकार से विधिक सेवाओं की पहुंच और आसान तरीके से आमजन तक पहुंच सकती है, के बारे में अपने-अपने विचार रखने हेतु सचिव द्वारा आग्रह करने पर अध्यक्ष बार संघ व अधिवक्तागण द्वारा अवगत करवाया गया कि शहर में विधिक सेवाओं की पहुंच आमजन तक करने के लिए हमें छोटे से छोटे स्तर के जनप्रतिनिधियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आदि से मिलकर योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया जा सकता है। सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने अवगत करवाया कि यदि प्राधिकरण अन्य राजकीय प्रशासनिक विभागों जैसे समाज कल्याण विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, श्रम कल्याण विभाग, जिला परिषद, नेहरू युवा केन्द्र आदि से समन्वय स्थापित कर कार्याशालाओं का आयोजन करे तो प्राधिकरण एवं राजकीय योजनाओं का बड़े स्तर पर प्रचार-प्रसार हो सकेगा। चूंकि उक्त सभी विभाग छोटे से बड़े स्तर तक कार्य करते हैं।
हनुमानगढ़,8 सितम्बर। युवा मामले एवं खेल राज्यमंत्री श्री अशोक चांदना ने कहा कि राज्य में आयोजित होने वाले राजस्थान ग्रामीण ओलम्पिक खेल,ग्रामीण क्षेत्र की खेल प्रतिभाओं को आगे लाने का अवसर देने के साथ ही गांवों में खेल का माहौल तैयार करनें में सहायक होंगे। श्री चांदना ने कहा कि राजस्थान ग्रामीण ओलम्पिक खेल देश ही नही बल्कि पूरे विश्व में आयोजित होने वाला अपनी तरह का सबसे बड़ा खेल आयोजन होगा,जिसमें करीब 50 लाख प्रतिभागी भाग लेंगे । उन्होंने कहा कि प्रतिभागियों की संख्या के लिहाज से इस आयोजन को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करवाने का प्रयास भी किया जायेगा। राज्यमंत्री बुधवार को शासन सचिवालय में मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य के साथ युवा मामले एवं खेल विभाग द्वारा राजस्थान ग्रामीण ओलम्पिक खेल के आयोजन के लिए गठित समिति की बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भाग ले रहे थे।श्री चांदना ने बताया कि इन खेलों में कबड्डी,शूटिंग वॉलीबॉल, टेनिस बॉल क्रिकेट,खो-खो, वॉलीबॉल और हॉकी को सम्मिलित किया गया है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में सम्मिलित सभी राजस्व गांवों की टीम बनाई जायेगी तथा ग्राम पंचायत स्तर पर विजेता टीम ब्लॉक स्तर पर, ब्लॉक स्तर पर विजेता टीम जिला स्तर पर और जिला स्तर पर विजेता टीम राज्य स्तर पर खेलेगी। बैठक में मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने बताया कि मुख्यमंत्री की वर्ष 2021-22 की बजट घोषणा के अनुरूप ग्राम स्तर पर खेल प्रतिभाओं की खोज कर आगे लाने के लिए राज्य खेलों की तर्ज पर ग्राम पंचायत स्तर, ब्लॉक स्तर,जिला स्तरीय व राज्य स्तरीय राजस्थान ग्रामीण ओलम्पिक खेलों का आयोजन किया जाएगा।श्री आर्य ने कहा कि प्रदेश में राज्य स्तरीय खेलों के सफल आयोजन के बाद ग्रामीण ओलम्पिक खेलों का आयोजन ग्रामीण खेल प्रतिभाओं के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने खेल राज्य मंत्री को राजस्थान की 5 प्रतिभाओं द्वारा टोक्यो पैरा ओलंपिक खेलों में पदक जीतने पर बधाई भी दी। इस अवसर पर युवा मामले एवं खेल विभाग के शासन सचिव श्री विकास भाले ने बताया कि विभाग द्वारा इन खेलोें में पंचायत स्तर पर खिलाडि़यों के रजिस्ट्रेशन के लिए एक एप और वेबपोर्टल तैयार किया गया है। जिस पर जाकर खिलाड़ी संबंधित खेल में अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में ग्राम पंचायत स्तर पर इन खेलों का अयोजन एक ही दिन में करवाया जायेगा। खेलों का आयोजन माह नवम्बर व दिसम्बर में प्रस्तावित हैं। वीसी के जरिए हनुमानगढ़ में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन, सीईओ जिला परिषद श्री अशोक असीजा, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक श्री हंसराज जाजेवाल, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक श्री रामेश्वर गोदारा, जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम प्रजापत, स्काउट गाइड से श्रीमती मोनिका यादव, अन्य अधिकारीगण शामिल थे। गौरतलब है कि इससे पहले वर्ष 2017 में तत्कालीन जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित ने ओलंपिक खेलों की तर्ज पर जिले में पहली बार हनुमानगढ़ ओलंपिक- 2017 का आयोजन किया था। जिसका उद्देश्य जिले के सभी खिलाडि़यों को उचित प्लेटफार्म प्रदान करने, जिले में खेल प्रतिभाओं को तराशने, युवाओं को नशे की प्रवृत्ति से दूर रखने और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ व स्वच्छता का संदेश देना था। ये आयोजन 7 अक्टूबर से नवंबर 2017 को किया गया था। त्रिस्तरीय प्रतियोगिता में पहले ग्राम पंचायत, फिर तहसील और आखिर में जिला स्तर पर खेलकूद प्रतियोगिताएं आयोजित किए गए। इनमें भी कोई आयु सीमा नहीं रखी गई थी। हनुमानगढ़ ओलंपिक्स में करीब 15 खेलों को शामिल किया गया था। जिसमें टीम प्रतियोगिता में फुटब़ॉल, बास्केटबॉल, कबड्डी, वॉलीबॉल, खो-खो, हॉकी और हैंडबाल को शामिल किया गया था। वहीं एकल प्रतियोगिता में दौड़ 100 मीटर, 200, 400, 1500 मीटर, लंबी कूद, ऊंची कूद, गोला फेंक, भाला फेंक और बैैडमिंटन को शामिल किया गया था। पंचायत समिति और जिला स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं में खिलाडि़यों को आवास व भोजन की निशुल्क व्यवस्था की गई थी। जिला स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता में खिलाडि़यों को निशुल्क ड्रेस दी गई और अलग अलग तहसील की टीमों की ड्रेस का रंग भी अलग अलग था।
हनुमानगढ़, 08 सितंबर। मातृ वंदना सप्ताह के सम्मापन अवसर पर जिला स्तरीय सम्मान समारोह का आयोजन टाउन के एक रेस्टोरेन्ट में किया गया। कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनान्तर्गत ब्लॉकवार उत्कृष्ट कार्य करने वाली आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और आशा सहयोगिनियों को सम्मानित किया गया। इसी योजना के तहत फील्ड स्तर से कार्य करवाकर मॉनिटरिंग कर फॉर्म को समय पर ऑनलाइन करना एवं लाभार्थियों को योजना का यथोचित लाभ दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाली महिला पर्यवेक्षकों एवं ब्लॉक स्तर के डाटा एंट्री ऑपरेटर को भी सम्मानित किया गया। साथ ही कार्यालयों में प्राप्त समस्त फॉर्मों का रखरखाव और मॉनिटरिंग एवं समस्त प्रकार के विभागीय कार्याे में उत्कृष्ट कार्य करने पर परियोजना कार्यालय में कार्यरत कार्मिकों को भी सम्मानित किया गया। पोषण अभियान के अंतर्गत कार्यालय में कार्यरत ब्लॉक समन्वयक/ब्लॉक परियोजना सहायक को भी उत्कृष्ट कार्य करने पर सम्मानित किया गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश कुमार सोलंकी द्वारा ने आज ही समस्त पेन्डेंसी को क्लियर करवाकर लक्ष्यों को अर्जित करने के निर्देश दिए। श्री सोलंकी ने बताया कि सितम्बर माह पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है पोषण के तहत समस्त महिला पर्यवेक्षक अपने-अपने परिक्षेत्र से आंगनबाड़ी केन्द्रों का चयन कर पोषण वाटिकाओं को विकसित करें ताकि हम पौष्टिक आहार की आपूर्ति के साथ-साथ समस्त समुदाय को पोषण के संबंध में जागरूक कर सकें।
हनुमानगढ़, 08 सितंबर। राज्य सरकार के युवा मामले एवं खेल विभाग एवं राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद जयपुर द्वारा संचालित खेल अकादमियों के लिए संभाग स्तर पर चयन स्पर्धा 22 से 23 सितम्बर 2021 को रखी गई है। जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम प्रजापत ने बताया कि जिले के इच्छुक बालक बालिका खिलाड़ी अपना आवेदन कार्यालय समय में जिला खेलकूद प्रशिक्षण केन्द्र, राजीव गांधी स्टेडियम हनुमानगढ़ से प्राप्त कर सकते है। आवेदन पत्र भरकर खिलाड़ी निर्धारित तिथि पर अपने साथ लेकर जावें। आवेदन करने वाले खिलाड़ी की आयु 1 जुलाई 2021 को बालक वर्ग में न्यूनतम 13 वर्ष तथा अधिकतम 16 वर्ष व बालिका वर्ग में न्यूनतम 13 वर्ष तथा अधिकतम 17 वर्ष होनी चाहिये तथा बास्केटबॉल में सीनियर बालक वर्ग में न्यूनतम 18 वर्ष तथा अधिकतम 20 वर्ष के मध्य होना आवश्यक है। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि सीनियर बालक वर्ग बास्केटबॉल अकादमी जयपुर में नेशनल मेडलिस्ट खिलाडियों को ही रखा जाएगा। जिसमें एसजीएफआई मेडलिस्ट, विश्वविद्यालय जोनल मेडलिस्ट, सीनियर नेशनल प्रतियोगिता का प्रतिभागी, ओपन नेशनल मेडलिस्ट खिलाड़ी सम्मिलित हो सकते है। उन्होने बताया कि आवेदनकर्ता राजस्थान का मूल निवासी खिलाड़ी होना आवश्यक है एवं खिलाड़ी किसी भी प्रकार की बीमारी से ग्रसित नहीं होना चाहिए। राज्य सरकार द्वारा जारी गाइलाइन की पालना करते हुए कोविड 19 की रिपोर्ट साथ लानी आवश्यक होगी। चयनित खिलाड़ी को आवास, भोजन, शिक्षा प्रशिक्षण एवं सीमित चिकित्सा की सुविधाएं राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद के नियमानुसार दी जाएगी। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि जोधपुर में बास्केटबॉल जूनियर व सीनियर बालक वर्ग एवं हैंडबॉल जूनियर बालक वर्ग, अकादमी की चयन स्पर्धा होगी। इसी प्रकार बीकानेर में एथलेटिक्स एवं साइकिलिंग बालक वर्ग, उदयपुर में तीरंदाजी बालक वर्ग, अजमेर में हॉकी जूनियर बालक -बालिका वर्ग, कोटा में फुटबॉल जूनियर बालक -बालिका वर्ग, भरतपुर में कुश्ती जूनियर बालक वर्ग, जयपुर में कबड्डी एवं वॉलीबॉल जूनियर बालक वर्ग व बालिका वर्ग में वॉलीबॉल तीरंदाजी, बास्केटबॉल, हैंडबॉल एवं एथलेटिक्स खेल आयोजित किए जाएंगे।
- जिला कलक्टर ने कोविड वैक्सीनेशन संबंधी बैठक ली हनुमानगढ़। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने आज जिला कलक्ट्रेट सभागार में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए कोविड वैक्सीनेशन संबंधी बैठक ली। बैठक में एसपी श्रीमती प्रीति जैन, हनुमानगढ़ उपखण्ड अधिकारी अवि गर्ग, सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा, आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह, हनुमानगढ़ बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा एवं डीएनओ सुदेश जांगिड़ उपस्थित थे। खण्ड स्तर से समस्त उपखण्ड अधिकारी एवं समस्त बीसीएमओ उपस्थित थे। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कहा कि जिले को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीनेशन डोज मिल रही है। हमें प्लानिंग के साथ अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करना होगा। इसके लिए चिकित्सा विभाग की तरफ से खण्ड स्तर पर द्वितीय वैक्सीनेशन की ड्यू लिस्ट भिजवा दी गई है। उसके अनुसार सैशन निर्धारित किए जाएं। आमजन को फोन, मुनादी, सोशल मीडिया आदि माध्यमों से द्वितीय डोज लगवाने एवं टीकाकरण स्थान की जानकारी जल्द से जल्द दी जाए ताकि गुरुवार को आयोजित टीकाकरण में अधिक से अधिक द्वितीय डोज के लाभार्थियों को टीकाकृत किया जा सके। उन्होंने कहा कि कोविड टीकाकरण में जिला 5वें नम्बर पर हैं, लेकिन हम इससे बेहतर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि नोहर, संगरिया व पीलीबंगा में सुधार की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रशासन व चिकित्सा विभाग के अधिकारी बैठक कर गुरुवार को होने वाले कोविड वैक्सीनेशन का रिव्यू कर लें ताकि कहीं पर भी संशय ना रहे। हमें कल अधिक से अधिक नागरिकों का द्वितीय डोज का वैक्सीनेशन करवाना है। अगर कोई प्रथम डोज का वैक्सीनेशन करवाने आता है, तो उसे भी टीकाकृत किया जाए। हमें कोविड की तीसरी लहर से पहले जिले के प्रत्येक नागरिक को टीकाकृत करना है।
हनुमानगढ़, 6 सितम्बर। मिशन निदेशक एनएचएम एवं विशिष्ट शासन सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं प.क. के आदेशानुसार प्रथम चरण की नर्सिग प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन सोमवार को दोपहर बाद 1 से 2 बजे तक संस्था में आयोजित की गई । राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (प्री सर्विस एज्युकेशन) प्रतियोगितापी एस.ई. कार्यक्रम के अन्तर्गत हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी राज्य के सभी नर्सिग प्रशिक्षण संस्थाओं में आयोजित की गई। यह प्रतियोगिता गर्भवती महिला स्वास्थ्य, एन्टीनेटल, प्रीनेटल, पोस्टनेटल, दूध पिलाने वाली माताओं का स्वास्थ्य, नवजात शिशु सुरक्षा, बायोमैडिकल वैस्ट मैनेजमैन्ट, महिला एवं बच्चों के लिए काम आने वाले उपकरण जैसे रेडियन्टवार्मर, संक्रामक रोग जैसे कोविड 19, मलेरिया इत्यादि, नर्सिग का सामान्य ज्ञान, नर्सिग की सामान्य प्रक्रिया, सामान्य बीमारियां एवं सामान्य जांच सम्बन्धी सलेब्स पर आधारित थी। जिसमें संस्था के प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के 68 छात्राओं ने भाग लिया। संस्था द्वारा नामित परीक्षकों द्वारा उत्तर पुस्तिकाओं की जाँच के बाद परिणाम जारी किया गया। जिसमें प्रथम स्थान किस्मत कुमारी गुर्जर पुत्री लेखराज एवं द्वितीय स्थान शहनाज पुत्री श्री रोहताश ने प्राप्त किया। संस्था के नर्सिग अधीक्षक श्री रणवीर सिहाग द्वारा जारी परिणाम को राज्य स्तर पर भिजवाना सुनिश्चित किया एवं संस्था के परीक्षकों द्वारा प्रतियोगिता को पूर्ण जिम्मेदारी से सफलतापूर्वक आयोजित करवाने पर आभार व्यक्त किया एवं अव्वल रहे नर्सिग छात्राओं को बघाई प्रेषित कर भविष्य में आयोजित प्रतियोगिता में भी सफलता प्राप्त कर अपना व संस्था का नाम रोशन करते रहने का आशिर्वाद दिया। नामित परीक्षक कॉपी जांचने हेतु नर्सिग ट्यूटर श्री हंसराजतुनगरिया, श्रीमती सरोज, श्रीमती मोनिका, श्रीमती सुमन गोदारा, श्रीमती किरणजीत कौर एवं श्रीमती राज औलख थे। तथा परीक्षा परियवेक्षक श्रीमती सुमन कुमारी, श्रीमती सिमरनप्रीत कौर, श्रीमती राजिन्द्र कौर एवं श्रीमती कान्ता कुकणा थे। इस प्रतियोगिता को सम्पन्न करवाने में नर्सिग टयूटर श्री बलबीर सिंह भाम्भू, श्री हंसराजतुनगरिया एवं डालचन्द अठवाल चतुर्थ र्श्रणी कर्मचारी ने पूर्ण सहयोग दिया।
हनुमानगढ़/जयपुर, 6 सितम्बर। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के योगदान को युवा पीढ़ी तक पहुंचाने एवं सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हो रहे विकास के बारे में जागरुक करने के लिए आयोजित राज्य स्तरीय ‘राजीव-2021 डिजीटल क्विजथॉन’ के तीनों चरणों में 37 हजार से ज्यादा युवाओं ने भाग लिया। अंतिम चरण की प्रतियोगिता में 6 सितम्बर को रिकॉर्ड 14 हजार प्रतिभागी शामिल हुए। कॉलेज शिक्षा आयुक्त श्री सन्देश नायक ने बताया कि मुख्यमंत्री के आह्वान पर कॉलेज शिक्षा विभाग तथा सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के संयुक्त तत्वावधान में 20 अगस्त को डिजीटल क्विजथॉन की शुरूआत की गई। इसके तहत प्रदेश के राजकीय एवं निजी क्षेत्र के सभी महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों, पॉलीटेक्निक एवं इन्जीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ रहे विद्यार्थियों के लिए तीन चरणों में ऑनलाइन परीक्षाओं का आयोजन किया गया। तीनों प्रतियोगिताओं में 37 हजार 221 युवक-युवतियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। श्री नायक ने बताया कि इसके पहले चरण में सूचना प्रौद्योगिकी आधारित ऑनलाइन टेस्ट में 12 हजार 846 विद्यार्थियों ने भाग लिया। दूसरे चरण में 3 सितम्बर को ‘स्थानीय प्रशासन में सूचना प्रौद्योगिकी नवाचारों से सुशासन’ विषय पर आयोजित परीक्षा में 10 हजार 273 विद्यार्थी शामिल हुए। इसी प्रकार सामान्य ज्ञान एवं करंट अफेयर विषय पर 6 सितम्बर को आयोजित अन्तिम चरण की प्रतियोगिता में 14 हजार 102 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। आयुक्त श्री सन्देश नायक ने बताया कि इन प्रतियोगिताओं का परिणाम 10 सितम्बर को घोषित किया जाएगा। विजेताओं को 15 सितम्बर को पुरस्कार वितरण करना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि तीनों प्रतियोगिताओं में से प्रत्येक में श्रेष्ठतम 25 प्रतिभागियों को प्रथम पुरस्कार के रूप में एक-एक टैब दिया जाएगा तथा इनसे अगले 30 प्रतिभागियों को द्वितीय पुरस्कार के रूप में पुरस्कृत किया जाएगा। इस प्रकार तीनों प्रतियोगिताओं में कुल 75 प्रथम पुरस्कार एवं 90 द्वितीय पुरस्कार दिए जायेंगे।
20 से 26 सितंबर तक आयोजित वाणिज्य सप्ताह के अंतर्गत होगा आयोजन हनुमानगढ़, 6 सितंबर। राज्य में निर्यात को प्रोत्साहन देने के लिए ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत 20 से 26 सितंबर तक वाणिज्य सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। इसकी शुरुआत 21 और 22 सितबंर को जयपुर में होने वाले दो दिवसीय राज्य स्तरीय “वाणिज्य उत्सव” से होगी। केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय ने राज्य सरकार को लिखे पत्र के अनुसार राजस्थान के सभी जिलों में 24 से 26 सितबंर के मध्य एक दिवसीय निर्यात सम्मेलन आयोजित किए जाएंगें। बीकानेर और जोधपुर में “मेगा एक्सपोर्टर्स कॉन्क्लेव” होंगे। साथ ही राज्य के अन्य जिलों में एक दिवसीय “एक्सपोर्टर्स कॉन्क्लेव” का आयोजन किया जाएगा। जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक श्रीमती आकाशदीप सिद्धू ने बताया कि वाणिज्य सप्ताह के तहत होने वाले एक दिवसीय “एक्सपोर्टर्स कॉन्क्लेव” का आयोजन हनुमानगढ़, अलवर, झुंझुनू, सीकर, दौसा, चूरु, श्री गंगानगर, अजमेर, नागौर और जैसलमेर में 24 सितबंर को होगा। भीलवाड़ा, टोंक, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर, बारां, बूंदी, झालावाड़ और कोटा में 25 सितबंर और बाड़मेर, जालौर, पाली, सिरोही, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, उदयपुर, राजसमंद और प्रतापगढ़ में 26 सितंबर को यह कॉन्क्लेव आयोजित किए जाएंगें। श्रीमती सिद्धू ने बताया कि राज्य में निर्यात से जुड़ी गतिविधियों को जिला स्तर तक पहुंचाने के लिए मिशन निर्यातक बनो संचालित किया जा रहा है। जिसके तहत निर्यात लाइसेंस दिलवाने की प्रक्रिया से लेकर पहला कंसाइनमेंट भेजने तक सहयोग दिया जा रहा है। ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत आयोजित होने वाले वाणिज्य सप्ताह के माध्यम से निर्यात से जुड़े सभी हितधारकों को एक प्लेटफॉर्म पर लाकर समन्वय स्थापित किया जाएगा।
हनुमानगढ़, 3 सितंबर। वर्ष 2021 में अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का आयोजन 08 सितम्बर, 2021 को जिला स्तर पर आयोजित किया जाएगा। जिला साक्षरता एवं सतत शिक्षा अधिकारी श्री प्रेम कुमार ने बताया कि कार्यक्रम में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले 03 स्वयंसेवी शिक्षकों, 03 साक्षरता शिक्षकों को स्मृति चिन्ह एवं प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया जाना है। श्री प्रेम ने बताया कि जिले में पढ़ना-लिखना अभियान के अन्तर्गत स्वयंसेवी शिक्षकों एवं साक्षरता शिक्षकों द्वारा दिए गए लक्ष्य से अधिक लर्नर्स को “ईच वन-टीच वन” की अवधारणा से अभिप्रेरित होकर बेसिक मूल्यांकन परीक्षा में सभी ब्लॉक में ग्राम पचांयत स्तर पर सर्वाधिक लर्नर्स को परीक्षा में सम्मिलित किया गया है। उन्होंने सभी मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को संबंधित ब्लॉक से एक-एक स्वंयसेवी शिक्षक एवं साक्षरता शिक्षक की इस अभियान में दिए गए उल्लेखनीय योगदान एवं उपलब्धि के संबंध में जिला स्तर पर सम्मानित हेतु अभिशंषा सहित सूचना 6 सितम्बर 2021 दोपहर तक आवश्यक रूप से भिजवाने को कहा है ताकि जिला स्तर पर इसकी समीक्षा की जाकर सबंधित ब्लॉक एवं सम्मानित होने वाले स्वंयसेवी शिक्षक एवं साक्षरता शिक्षक को आपके माध्यम से सूचना अव्वल समय पर भिजावाई जा सके। उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय सम्मान समारोह, स्थल एवं समय की सूचना दिनांक 6 सितम्बर 2021 को सांय तक सभी को प्रेषित कर दी जावेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि विस्तृत जानकारी के लिए जिला साक्षरता एवं सतत शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सहायक परियोजना अधिकारी श्री राजकुमार छाबड़ा के मो.न. 9414508385, 9571708385 पर सम्पर्क कर सकते हैं।
हनुमानगढ़, 3 सितंबर। जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की बैठक शुक्रवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। समिति में आए कुल 31 मामलों में से 19 मामलों का जिला कलक्टर ने मौके पर ही निस्तारण किया। बाकि मामलों को पेंडिंग रखते हुए जिला कलक्टर ने संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देशित किया। जिला कलक्टर ने सतर्कता समिति की आगामी बैठकों में ब्लॉक स्तर पर सभी विभागों के ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को उपस्थित रहने के निर्देश भी दिए। साथ ही शुक्रवार को हुई बैठक मेें उपस्थित हुए अधिकारियों की उपस्थिति भिजवाने के निर्देश सभी एसडीएम को दिए। गांवों में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हुआ तो पटवारी और ग्राम विकास अधिकारी होंगे जिम्मेदार लखासर की सुमन पत्नी कमलेश के द्वारा जोहड़ पर अतिक्रमण हटाने के मामले की सुनवाई करते हुए जिला कलक्टर ने कहा कि ग्राम पंचायतों में आज के बाद कोई अतिक्रमण हुआ तो पटवारी और ग्राम विकास अधिकारी सामूहिक रूप से इसके लिए जिम्मेदार होंगे। अगर आज के बाद कहीं अतिक्रमण हुआ तो पटवारी और ग्राम विकास अधिकारी निलंबित होंगे और इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसको लेकर सभी एसडीएम, बीडीओ और तहसीदारों को निर्देशित किया गया कि इस बाबत सभी पटवारियों और ग्राम विकास अधिकारियों की बैठक लेकर इसकी जानकारी दी जाए।जिला कलक्टर ने कहा कि सभी विकास अधिकारी और ग्राम विकास अधिकारी सभी गांवों में कुल जमीन और उसमें से खाली पड़ी जमीन के बारे में पूरी जानकारी ले लें। प्रीमियम काट कर बीमा कंपनी को जमा नहीं करवाया तो बैंक के खिलाफ होगी कार्रवाई सतर्कता समिति में चक 30 एलएलडब्ल्यू के अमर सिंह पुत्र श्री सुरजाराम के द्वारा दर्ज करवाए गए मामले में जिला कलक्टर ने बैंक के द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्रीमियम काटने के बावजूद बीमा कंपनी को पैसा जमा नहीं करवाने को लेकर संबंधित बैंक एसबीआई गोलूवाला के अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में कहीं भी अगर बैंक प्रीमियम काटता है और पैसा बीमा कंपनी को जमा नहीं करवाता है तो संबंधित बैंक अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होगी। साथ ही निर्देश दिए कि कृषि विभाग जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत किसानों के कटने वाले प्रीमियम और किसानों को मिले क्लेम के बारे में पूरी जानकारी रखे। ताकि इस तरह की दिक्कत आने पर संबंधित एजेंसी के खिलाफ त्वरित कार्रवाई की जा सके। 15 की बजाय 1 सितंबर से गिरदावरी के निर्देश संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीनी ने संगरिया, टिब्बी और हनुमानगढ़ में मूंग, ग्वार की फसल कम बारिश से चौपट होने की बात कही तो जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में गिरदावरी 15 सितंबर की बजाय 1 सितंबर से करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। मौके पर जो फसल है उसी की गिरदावरी की जाएगी। क्रॉप कटिंग शत प्रतिशत ऑनलाइन करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को क्रॉप कटिंग का 2 प्रतिशत क्रॉस वेरिफिकेशन करने के निर्देश भी दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि कोई कार्मिक क्रॉप कटिंग ऑनलाइन करने में सक्षम नहीं है तो वीआरएस ले लें। जो भी कार्मिक है उन्हें आधुनिक तकनीक के साथ कार्य संपन्न करना होगा। ट्री गार्ड लगाने और ठेका कंपनी पेनल्टी लगाने के निर्देश हनुमानगढ़ से सूरतगढ़ तक फोरलेन के निर्माण के दौरान काटे गए पेड़ों की एवज में करीब 9 हजार पौधे आरएसआरडीसी की ओर से लगाए जाने के मामले को लेकर पत्रकार गुरदेव सैनी की ओर से दर्ज प्रकरण की सुनवाई करते हुए जिला कलक्टर ने आरएसआरडीसी के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे ठेका कंपनी से पौधों के ऊपर ट्री गार्ड लगवाए। साथ ही ठेका कंपनी तय समय अवधि छह महीने में कार्य नहीं पूरा करने पर पेनल्टी लगाने के निर्देश दिए। वन विभाग द्वारा करीब साढ़े 5 हजार पौधे लगे होने और आरएसआरडीसी के द्वारा करीब 9 हजार पौधे लगाने के दावे को लेकर पत्रकार गुरदेव सैनी ने वन विभाग और आरएसआरडीसी के आंकड़ों में ही अंतर होने पर एतराज जताया। अवैध निर्माण में तत्काल कार्रवाई कर 4 सितंबर को रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश टाउन की मैनादेवी पत्नी स्व बृजमोहन अग्रवाल के द्वारा दर्ज शिकायत के मामले में सुनवाई करते हुए जिला कलक्टर ने नगर परिषद कमीश्नर को अवैध निर्माण की एक मंजिल को तत्काल तोड़कर 5 सितंबर को ही कार्यवाही रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। एक दिन में 1 लाख से ज्यादा वैक्सीन लगने की हुई प्रशंसा जिले में एक दिन में 1 लाख कोरोना वैक्सीनेशन लगने को लेकर हनुमानगढ़ प्रधान प्रतिनिधि और प्रगतिशील किसान श्री दयाराम जाखड़ ने प्रशासन की प्रशंसा करते राज्य में दूसरे स्थान पर रहने के लिए बधाई दी तो जिला कलक्टर ने कहा कि सभी के सामूहिक प्रयास से ही संभव हो पाया है। जिला कलक्टर ने कहा कि बड़े बड़े जिलों को 40 से 50 हजार डोज मिलती है लेकिन हनुमानगढ़ में वैक्सीनेशन को लेकर चिकित्सा विभाग के द्वारा अच्छा कार्य किया जा रहा है। सुबह आठ बजे से रात 9 बजे तक वैक्सीनेशन किया गया। जिला कलक्टर ने कोरोना काल में नवंबर 2019 से मार्च 2020 तक पांच महीनों के भुगतान को लेकर 3.76 करोड़ का बजट शीघ्र आवंटन को लेकर सचिव को उनकी ओर से एक लेटर और लिखने के निर्देश महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक को दिए। बैठक के आखिर में जिला कलक्टर ने कहा कि सभी विभाग 181 पर दर्ज हो रही शिकायतों का 5 से 7 दिन में निस्तारण करें। साथ ही सभी अधिकारी खुद एसएसओ आईडी से लॉगिन कर 181 पर आ रही शिकायतों को व्यक्तिश: देखें। 2 अक्टूबर को प्रशासन गांव के संग और प्रशासन शहरों के संग के अंतर्गत जिस ग्राम पंचायत पर शिविर का आयोजन किया जाएगा। इसको लेकर सभी संबंधित विभाग पहले से पूरी तैयारी कर लें। ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित शिविर में 18 विभागों के संबंधित अधिकारी मौजूद रहें और आम जनता को सरकार की चल रही योजनाओं का अधिकतम लाभ दें। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। जो लोगों की लापरवाही से ही आएगी। लिहाजा सभी एसडीएम, तहसीलदार, बीडीओ और ईओ को निर्देशित किया कि वे कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं होने पर चालान काटने की कार्रवाई जारी रखें और इसे बढाएं । बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिेडेल के अलावा संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीनी, जिला प्रमुख श्रीमती कविता मेघवाल, नगर परिषद चेयरमैन श्री गणेशराज बंसल, हनुमानगढ़ प्रधान प्रतिनिधि श्री दयाराम जाखड़, एसडीएम हनुमानगढ़ डॉ अवि गर्ग, डीएसओ श्री राकेश न्यौल, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, नगर परिषद कमिश्नर श्रीमती पूजा शर्मा, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री दानाराम गोदारा, डीटीओ श्री जगदीश अमरावत, एसई पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, एसई डिस्कॉम श्री एमआर बिश्नोई, एसई सिंचाई श्री डीएस बेनीवाल, एमडी डेयरी श्री पवन गोयल, एसीपी श्री योगेन्द्र कुमार, सहायक लेखाधिकारी श्री रतन सिंह, कलेक्ट्रेट के कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल, श्री हरि सिंह समेत अन्य सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी और ब्लॉक स्तर पर एसडीएम, तहसीलदार, विकास अधिकारी समेत अन्य विभागों के ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
हनुमानगढ़/जयपुर, 03 सितंबर। खान एवं गोपालन मंत्री श्री प्रमोद जैन “भाया” ने कहा है कि राज्य में प्रत्येक पंचायत समिति स्तर पर एक करोड़ 57 लाख रुपये की लागत से नंदीशाला का निर्माण किया जायेगा, जिसके तहत 10 प्रतिशत अंशदान संबंधित संस्थान एवं 90 प्रतिशत अंशदान गोपालन विभाग द्वारा व्यय किया जायेगा। गोपालन मंत्री शुक्रवार को चूरू जिले के श्रीबालाजी गौशाला संस्थान सालासर में आयोजित कार्यक्रम में चूरू जिले के गौशाला संचालकों एवं गोपालन विभाग के अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में गौशाला संचालकों की मांग पर राज्य सरकार द्वारा छोटे पशु के लिए 16 से 20 रुपये एवं बड़े पशु के लिए 32 से 40 रुपये अनुदान स्वीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि गौशाला अनुदान के लिए आवेदन की प्रक्रिया को सरल व ऑनलाइन किया गया है तथा प्रत्येक गौशाला में 200 गायों की सीमा को घटाकर 100 किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में नंदियों के संरक्षण हेतु एक वर्ष में 9 माह का अनुदान तथा गौशालाओं के लिए एक वर्ष में 6 माह के अनुदान की जगह 9 माह का अनुदान दिया जायेगा। गोपालन मंत्री ने कहा कि राज्य में बीमार पशुओं के उपचार के लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय पर 102 एम्बुलेंस सेवा शुरू की जा रही है तथा गौशाला विकास योजनान्तर्गत अभियान चलाकर गौशाला विकास कार्यों को अंजाम दिया जायेगा। उन्होंने गौशाला संचालकों को विश्वास दिलाया कि राज्य में गौ संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए राज्य सरकार उदार मन से कार्य करने हेतु संकल्पित है। उन्होंने कहा कि राज्य में बीमार गौवंश के उपचार के लिए माकूल चिकित्सा व्यवस्था, गौशाला भूमि पर अतिक्रमण हटाने एवं गौचर भूमि विकास के लिए गौशाला संचालकों की सहायता से कारगर कदम उठाये जायेंगे। गोपालन विभाग की सचिव आरूषि मलिक ने कहा कि राज्य में गौशाला निर्माण के लिए राज्य सरकार द्वारा 10 लाख रुपये दिये जा रहे है, जिसके तहत कैटल शैड, पानी की टंकी व टीन शैड निर्माण, चार दिवारी निर्माण के कार्य करवाये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि आगामी तीन माह में राज्य में 328 करोड़ रुपये के अनुदान गौशालाओं को दिये जायेंगे। उन्होंने नंदीशाला निर्माण, पशुओं का स्वास्थ्य परीक्षण एवं गौशाला विकास योजना की जानकारी देते हुए कहा कि राज्य सरकार की महती योजनाओं का लाभ अधिकाधिक गौशाला संचालकों को उठाना चाहिए।
देर रात तक चला वैक्सीनेशन एवं रिपोर्टिंग का कार्य हनुमानगढ़। जिले में अब आमजन कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर जाग्रत हो रहे हैं। अपने वैक्सीनेशन के साथ-साथ वे अपने परिचितों को भी वैक्सीनेशन करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। निदेशालय द्वारा जिले को काफी अधिक संख्या में कोविड वैक्सीन दी जा रही है, जो एक ही दिन में आमजन को लगाई जा रही है। इस बार 325 टीकाकरण केन्द्र बनाए गए थे, जिनमें सभी केन्द्रों पर लोगबाग वैक्सीन लगवाने को लेकर उत्साहित थे। 1 सितम्बर को आयोजित कोविड-19 वैक्सीनेशन में हनुमानगढ़ जिले ने कीर्तिमान रचते हुए एक ही दिन में 325 सेंटर्स पर 1 लाख 2 हजार 879 नागरिकों को कोविड वैक्सीनेशन की डोज लगाई, जो बीकानेर सम्भाग में एक दिन में लगाई गई डोज की सर्वाधिक संख्या थी। बीकानेर, चूरू व श्रीगंगानगर में अब तक इतनी अधिक संख्या में वैक्सीन नहीं हो पाया है। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के निर्देशन में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अन्य विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर वैक्सीनेशन कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हनुमानगढ़ जिले के नागरिक जल्द से जल्द अपना व अपने परिजनों का वैक्सीनेशन करवाना चाहते हैं। वैक्सीन लगवाने को लेकर लोगों में बहुत अधिक उत्साह है। जिले को मिल रही वैक्सीन एक ही दिन में लगाई जा रही है। लोग देर शाम व रात तक वैक्सीन सेंटर्स पर रूककर वैक्सीन लगवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हनुमानगढ़ में गत 1 सितम्बर को 1,02,879 नागरिकों को वैक्सीनेशन किया गया, जो बीकानेर सम्भाग में अब तक का एक ही दिन में वैक्सीनेशन का सर्वाधिक रहा। अब तक बीकानेर सम्भाग के किसी भी जिले ने एक लाख वैक्सीनेशन नहीं किया है। इससे पूर्व हनुमानगढ़ में 31 अगस्त को 96,560, 29 अगस्त को 75,892, 26 अगस्त को 54,610, 16 अगस्त को 45240, 18 जुलाई को 45162 व 3 जुलाई को 31184 नागरिकों का वैक्सीनेशन एक ही दिन में किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि राज्य में भी हनुमानगढ़ जिला एक दिन में सर्वाधिक वैक्सीनेशन करवाने में दूसरे स्थान पर है। गत 30 अगस्त को सीकर में 1,06,038 लोगों ने वैक्सीनेशन करवाया था। जोधपुर में भी गत 31 अगस्त को 1,00,011 नागरिकों का वैक्सीनेशन हुआ, जो तीसरे स्थान पर है। उन्होंने बताया कि हनुमानगढ़ गत 1 सितम्बर को आयोजित सैशन में स्वास्थ्य कार्मिकों ने 12 से 15 घंटे तक कोविड वैक्सीनेशन में अपनी सेवाएं दी। गर्मी के बावजूद स्वास्थ्यकर्मी देर रात तक लोगों का वैक्सीनेशन कर रहे थे। जिला स्तरीय अधिकारी व समस्त बीसीएमओ भी वैक्सीनेशन साइट्स का निरीक्षण करते रहे। राज्य मेंं सबसे अधिक वैक्सीनेशन वाले जिले जिला वैक्सीन डोज दिनांक सीकर 1,06,038 30 अगस्त हनुमानगढ़ 1,02,879 1 सितम्बर जोधपुर 1,00,011 31 अगस्त हनुमानगढ़ मेंं सबसे अधिक वैक्सीनेशन दिनांक वैक्सीन डोज 1 सितम्बर 1,02,879 31 अगस्त 96,560 29 अगस्त 75,892 26 अगस्त 54,610 16 अगस्त 45240 18 जुलाई 45162 03 जुलाई 31184
हनुमानगढ़, 1 सितम्बर।श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डाटावेस तैयार करने हेतु ई-श्रम पोर्टल लॉच किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से असंगठित क्षेत्र के कामगार केन्द्र सरकार के श्रम विभाग में पंजीकरण करवा सकते हैं। जिला श्रम कल्याण अधिकारी श्री अमर चन्द्र लहरी द्वारा बताया गया कि असंगठित क्षेत्र के कामगार जैसे भवन निर्माण से जुड़े मिस्त्री, मजदूर, कृषि श्रमिक, घरेलू श्रमिक, प्रवासी श्रमिक अन्य श्रमिक कॉमन सर्विस सेंटर (CSC). ई-मित्रा के माध्यम से ई-श्रम पोर्टल (NDUW) पर अपना निशुल्क पंजीकरण करवा सकते है। इन श्रेणियों के श्रमिकों को नियोजित करने वाले संस्थान मालिक या नियोजकों से अपील की जाती है ये अधिकाधिक पंजीयन करवाये। ध्यान रहे यह राज्य सरकार की श्रमिक कार्ड योजना से अलग है।
हनुमानगढ़, 1 सितंबर। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अन्तर्गत मातृ वंदना सप्ताह (01 सितम्बर 2021 से 07 सितम्बर 2021) कार्यक्रम का उद्घाटन समारोह ग्राम पंचायत सतीपुरा के पंचायत भवन में आयोजित किया गया। उद्घाटन कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक श्री प्रवेश कुमार सोलंकी एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी हनुमानगढ़ ग्रामीण श्रीमती सुनिता शर्मा, पीएमएमवीवाई की जिला कार्यक्रम समन्वयक नेहा शर्मा शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरपंच श्रीमती जसपाल कौर ने की। कार्यक्रम में महिला पर्यवेक्षक श्रीमती गुलजारो बानो समेत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा भाग लिया गया। कार्यक्रम में श्री प्रवेश कुमार सोलंकी द्वारा बताया गया की मातृ वंदना सप्ताह के अन्तर्गत प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार आंगनबाड़ी कैन्द्रों, सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से किया जायेगा। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा इस सप्ताह में अभियान के रूप में कार्य करते हुए घर-घर जा कर लाभार्थियों के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किश्त के फॉर्म एकत्रित किये जाएंगे एवं परियोजना स्तर पर समस्त फॉर्म को ऑनलाईन किया जाकर लाभार्थियों को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ दिया जाएगा। साथ ही जो ऑनलाईन फॉर्म करेक्शन क्यु में है उनका भी निस्तारण इसी सप्ताह में किया जावेगा। श्री सोलंकी ने बताया कि सप्ताह के दौरान आंगनबाड़ी केन्द्र पर लाभार्थियों के लिए महिला सामुदायिक गतिविधियों का आयोजन, स्वास्थ्य पोषण एवं स्वच्छता आदि जैसे विषय पर आधारित जानकारी पूर्ण खेल का भी आयोजन करवाया जावेगा।
हनुमानगढ़। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने आज खण्ड संगरिया में दो निर्माणाधीन उपकेन्द्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने उपकेन्द्र में कमियों को चिन्हित कर उसे सही करने के निर्देश दिए। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि आज उन्होंने खण्ड संगरिया में एनएचएम द्वारा निर्माणाधीन दो उपकेन्द्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने आज चक प्रतापनगर उपकेन्द्र व लम्बी ढाब उपकेन्द्र की निर्माणाधीन बिल्डिंग का निरीक्षण किया। उनके साथ एनएचएम के इंजीनियर, निर्माणाधीन उपकेन्द्र के ठेकेदार, सीएमएचओ कार्यालय से राजेन्द्र शर्मा एवं चक हीरासिंहवाला पीएचसी के मेडिकल ऑफिसस डॉ. प्रशांत कुमार भी थे। इस दौरान उन्होंने उपकेन्द्र में कमियों के बारे में इंजीनियर एवं ठेकेदार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द कमियों को दुरुस्त कर निर्माण कार्य पूरा किया जाए ताकि वे जल्द से जल्द इन उपकेन्द्रों को कार्यशील कर सकें। उन्होंने डॉ. प्रशांत कुमार बिल्डिंग अधिग्रहण के लिए निर्देशित किया। इसके उपरांत उन्होंने लम्बी ढाब स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में चल रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन का निरीक्षण किया। तब तक वहां 112 नागरिकों को कोविड वैक्सीन लग चुकी थी।
हनुमानगढ़, 1 सितंबर। राष्ट्रीय पोषण माह की शुरूआत जंक्शन में इन्दिरा वाटिका से पोषण रैली निकाल कर की गई। पोषण रैली को महिला बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश कुमार सोलंकी एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी हनुमानगढ़ ग्रामीण श्रीमती सुनिता शर्मा द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रैली को रवाना किया गया। उक्त आयोजन में महिला पर्यवेक्षक मधु महाजन, रजनी एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा भाग लिया गया। सीडीपीओ श्रीमती सुनीता शर्मा ने बताया कि पोषण अभियान के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु व पोषण को जन आंदोलन बनाने एवं समुदाय की प्रभावी भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु सितम्बर माह को पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। जिसकी मुख्य थीम ’’कुपोषण छोड़ पोषण की ओर, थामें क्षेत्रीय भोजन की डोर’’ रखी गई है। महीने के प्रत्येक दिवस को विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। पोषण माह के प्रथम सप्ताह में पोषण वाटिकाओं का विकास एवं पौधारोपण गतिविधियां आयोजित की जाएगी। द्वितीय सप्ताह में पोषण के लिए योग एवं आयुष का उपयोग, तृतीय सप्ताह में अति भारित जिलों की आंगनबाड़ी केन्द्रों के पंजीकृत लाभार्थियों को क्षेत्रीय पोषण किट वितरण, चतुर्थ सप्ताह में अति कुपोषित बच्चों की पहचान एवं उनको पौष्टिक भोजन का वितरण किया जाएगा।
हनुमानगढ़ में सबसे अधिक 75 हजार 892 नागरिकों को लगी वैक्सीन हनुमानगढ़। जिले में रविवार को एक दिन का अब तक का रिकॉर्ड टीकाकरण हुआ। जिले में 75 हजार 892 नागरिकों को कोविशील्ड कोवैक्सीन की प्रथम व द्वितीय डोज लगाई गई। इससे पहले 26 अगस्त को सबसे ज्यादा 54610 डोज लगाई गई थी। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले में रविवार को कोविशील्ड की 60 हजार एवं कोवैक्सीन की 20 हजार डोज मिली थी, जो खण्ड स्तर पर वितरित करवाई गई। दोपहर लगभग 12 बजे शुरु हुए कोविड वैक्सीनेशन देर रात तक चला। आमजन ने संयम बरतते हुए कोविड वैक्सीनेशन में जिला प्रशासन, चिकित्सा विभाग एवं अन्य सभी विभागों का सहयोग किया। रविवार को 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का वैक्सीनेशन किया गया। जिले में 75 हजार 892 नागरिकों को वैक्सीन लगाई गई, जो हनुमानगढ़ में सबसे अधिक एक दिन में वैक्सीनेशन करने का रिकॉर्ड बन गया है। बीकानेर सम्भाग में भी आयोजित वैक्सीनेशन में हनुमानगढ़ में सबसे अधिक वैक्सीनेशन हुआ। उन्होंने बताया कि चूरू में 73 हजार 711, श्रीगंगानगर में 4 हजार 233 एवं बीकानेर में 28 हजार 917 नागरिकों का वैक्सीनेशन किया गया। जिले को मिली एक लाख वैक्सीन, 1 सितम्बर को होगा वैक्सीनेशन सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले में वैक्सीनेशन लगाने में तेजी को देखते हुए निदेशालय से हनुमानगढ़ को एक लाख वैक्सीन और दी गई है। इसके लिए 30 अगस्त शाम को वाहन वैक्सीन लेने के लिए रवाना होगा। 31 अगस्त को दोपहर बाद वैक्सीन जिले में पहुंचेगी, जिसे खण्ड स्तर पर वितरित करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इतनी अधिक वैक्सीन मिलने के बाद हम अधिक से अधिक नागरकिों को टीकाकृत कर पाएंगे। सैशन लगवाना चाहते हैं, तो बीसीएमओ से मिले डॉ. नवनीत शर्मा ने कहा कि जिले की सामाजिक संस्थान एवं जनप्रतिनिधि जो अपने-अपने क्षेत्रों में वैक्सीनेशन सत्र लगवाना चाहते हैं, वो 31 अगस्त को प्रात: 11 बजे तक अपने-अपने खण्ड के बीसीएमओ से मिलकर वैक्सीनेशन सेंटर निर्धारित करवा लें। कोरोना की तीसरी लहर से पहले सभी का टीकाकरण पहली प्राथमिकता डॉ. नवनीत शर्मा ने कहा कि अन्य स्थानों से कोरोना की तीसरी लहर के समाचार मिल रहे हैं। इसको देखते हुए चिकित्सा विभाग का प्रयास है कि हनुमानगढ़ जिले के अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण हो जाए। निदेशालय को भी समय-समय पर सूचित किया जा रहा है कि जिले में अधिक से अधिक वैक्सीन भिजवाई जाए ताकि अधिक से अधिक सैशन रख जल्द से जल्द लोगों का कोविड वैक्सीनेशन किया जा सके।
हनुमानगढ़, 30 अगस्त। जिला परिषद में जन्माष्टमी के पर्व पर पौधरोपण का कार्यक्रम जिला प्रमुख कविता मेघवाल की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक असीजा रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला प्रमुख ने धरती की चमक पेड़ से है इसलिए सभी लोग पेड़ को परिवार का हरित सदस्य बनाकर वृक्षारोपण करेगा तभी एक पौधा पेड़ का आकार लेगा। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित ग्राम विकास अधिकारियों से ग्राम पंचायतों में वृक्षारोपण के कार्य अधिक से अधिक करवाने की अपील भी की। मुख्य अतिथि असीजा जी ने परिसर में विभिन्न तरह के पौधे लगाने के कार्य की सराहना करते हुए पूरी टीम की हौसला अफजाई की और वृक्षारोपण के लिए हरसंभव मदद करने की सहमति दी। जामुन, अमलताश, अशोक, गुलम़हर, बरकैण,शीशम के 60 के करीब पौधे मय ट्रीगार्ड लगाये गये। इस अवसर पर सहायक विकास अधिकारी राजेश वर्मा, सहायक अभियंता मदन कुमार गोदारा, सहायक अभियंता छगनाराम बरायच, कार्टूनिस्ट मस्तान सिंह, लेखाधिकारी ऋषि भारद्वाज, ग्राम विकास अधिकारी जिला अध्यक्ष नरेश शर्मा, पंचायत प्रसार अधिकारी अनिल कुमार, ग्राम विकास अधिकारी प्रेम कुमार, अशोक कुमार, कनिष्ठ सहायक जगपाल, भरत सिंह, सुभाष, आशाराम ने श्रमदान कर सहयोग किया। कार्यक्रम के अंत में सभी पर्यावरण प्रेमियों का पर्यावरण पाठशाला के जिला संयोजक पदमेश सिहाग द्वारा आभार व्यक्त किया गया।
हनुमानगढ़, 30 अगस्त। जिला परिषद में जन्माष्टमी के पर्व पर पौधरोपण का कार्यक्रम जिला प्रमुख कविता मेघवाल की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक असीजा रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला प्रमुख ने धरती की चमक पेड़ से है इसलिए सभी लोग पेड़ को परिवार का हरित सदस्य बनाकर वृक्षारोपण करेगा तभी एक पौधा पेड़ का आकार लेगा। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित ग्राम विकास अधिकारियों से ग्राम पंचायतों में वृक्षारोपण के कार्य अधिक से अधिक करवाने की अपील भी की। मुख्य अतिथि असीजा जी ने परिसर में विभिन्न तरह के पौधे लगाने के कार्य की सराहना करते हुए पूरी टीम की हौसला अफजाई की और वृक्षारोपण के लिए हरसंभव मदद करने की सहमति दी। जामुन, अमलताश, अशोक, गुलम़हर, बरकैण,शीशम के 60 के करीब पौधे मय ट्रीगार्ड लगाये गये। इस अवसर पर सहायक विकास अधिकारी राजेश वर्मा, सहायक अभियंता मदन कुमार गोदारा, सहायक अभियंता छगनाराम बरायच, कार्टूनिस्ट मस्तान सिंह, लेखाधिकारी ऋषि भारद्वाज, ग्राम विकास अधिकारी जिला अध्यक्ष नरेश शर्मा, पंचायत प्रसार अधिकारी अनिल कुमार, ग्राम विकास अधिकारी प्रेम कुमार, अशोक कुमार, कनिष्ठ सहायक जगपाल, भरत सिंह, सुभाष, आशाराम ने श्रमदान कर सहयोग किया। कार्यक्रम के अंत में सभी पर्यावरण प्रेमियों का पर्यावरण पाठशाला के जिला संयोजक पदमेश सिहाग द्वारा आभार व्यक्त किया गया।
60 हजार कोविशील्ड तथा 20 हजार कोवैक्सीन के लिए 292 केन्द्रों पर होगा टीकाकरण हनुमानगढ़। जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन की गति को देखते हुए निदेशालय द्वारा अब अधिक मात्रा में वैक्सीनेशन की डोज दी जा रही है। इसी के तहत जिले को 60 हजार कोविशील्ड व 20 हजार कोवैक्सीन की डोज दी गई है। इसके लिए रविवार 29 अगस्त को 292 टीकाकरण केन्द्रों पर 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु वालों का प्रथम व द्वितीय डोज का वैक्सीनेशन किया जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि दो दिन पहले जिले के 54610 नागरिकों ने एक ही दिन में कोविड-19 वैक्सीन लगवाकर एक रिकॉर्ड स्थापित किया। इसी को देखते हुए निदेशालय ने इस बार 80 हजार वैक्सीनेशन डोज जिले में भिजवाई है, जिसमें 60 हजार कोविशील्ड व 20 हजार कोवैक्सीन है। रविवार 29 अगस्त को 292 टीकाकरण सेंटर्स पर वैक्सीनेशन किया जाएगा। 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। रविवार को भी टोकन सिस्टम के आधार पर वैक्सीनेशन के लिए एण्ट्री दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन नागरिकों के कोविशील्ड की प्रथम वैक्सीनेशन डोज लगवाने के बाद 84 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे रविवार को दूसरी डोज आवश्यक रूप से लगवाएं। इसी तरह, वे नागरिक जिन्हें कोवैक्सीन की प्रथम डोज लगवाए को 28 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे भी रविवार को वैक्सीनेशन स्थल पर जाकर वैक्सीन लगवा लें। उन्होंने कहा कि वैक्सीन रविवार सुबह जिले में पहुंचेगी। इसलिए कुछ सेंटर्स पर वैक्सीन पहुंचने में विलम्ब हो सकता है। इसलिए सहयोग बनाएं रखें।
हनुमानगढ़, 27 अगस्त। मेजर ध्यानचंद के जन्म दिवस 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम प्रजापत ने बताया कि राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर जंक्शन स्थ्ति राजीव गांधी स्टेडियम में पुरुष और महिला वर्ग के हॉकी मैत्री मैच आयोजित किये जायेंगे। इससे पहले 29 अगस्त को सुबह 6 बजे स्टेडियम से ही प्रभात फेरी निकाली जाएगी।
- राधास्वामी सत्संग डेरा में यूपीएचसी स्टॉफ ने एक सेंटर पर लगाए 3330 डोज हनुमानगढ़। कोरोना वायरस के खात्मे को लेकर भारत में 16 जनवरी 2021 से दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। केन्द्र व राज्य सरकार लगातार वैक्सीनेशन तेज करने की कोशिश में जुटी हुई है। इस बीच हनुमानगढ़ जिले ने आज एक दिन में सबसे ज्यादा कोविड-19 वैक्सीनेशन करने का रिकॉर्ड बनाया गया। जिले में आज 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु वाले 54610 नागरिकों को कोविशील्ड का प्रथम व द्वितीय डोज का मंगल टीका लगाया गया। जिले में इससे पूर्व 3 जुलाई को 31184, 18 जुलाई को 45162 तथा 16 अगस्त को 45240 नागरिकों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले को बुधवार शाम कोविशील्ड की पचास हजार डोज प्राप्त हुई। इतनी अधिक संख्या में प्राप्त हुई डोज को जल्द से जल्द खण्ड स्तर पर भिजवाने की व्यवस्था की गई। अधिक संख्या में वैक्सीन आने के बाद इसके लिए वैक्सीनेशन सेंटर बनाने के लिए खण्ड स्तर पर प्लान बनाए गए। जिले में आज 211 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन रखा गया। 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु वाले नागरिकों का टोकन सिस्टम के आधार पर वैक्सीनेशन रखा गया। आज शिक्षण संस्थान में कार्यरत टीचर्स और अन्य शैक्षणिक स्टॉफ को प्राथमिकता दी गई। उन्होंने बताया कि आज 54610 नागरिकों को कोविशील्ड का प्रथम व द्वितीय डोज लगाया गया। एक रिकॉर्ड वैक्सीनेशन होने के बाद सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने वैक्सीन लगवाने वालों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज की रिकॉर्ड तोड़ टीकाकरण संख्या प्रसन्न करने वाली है। कोविड-19 से लडऩे के लिए वैक्सीन हमारा सबसे मजबूत हथियार बना हुआ है। यूपीएचसी स्टॉफ ने एक सेंटर पर किया सबसे अधिक वैक्सीनेशन डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि टाउन स्थित यूपीएचसी स्टॉफ ने आज टाउन के राधा स्वामी सत्संग भवन में वैक्सीनेशन शुरु किया। टाउन यूपीएचसी स्टॉफ ने सुबह से ही वैक्सीनेशन की कमान सम्भाली और 3330 नागरिकों को कोविशील्ड की डोज लगाई। एक ही सेंटर पर आज सबसे अधिक वैक्सीनेशन करने में यूपीएचसी स्टॉफ ने अपनी सफलतम भूमिका अदा की। आज यूपीएचसी स्टॉफ में एएनएम प्रियंका, एएनएम पूजा स्वामी, एएनएम पूजा चौधरी, एएनएम मीरा सांखला, एएनएम पूनम शर्मा, एएनएम राधा व एएनएम मोनिका शामिल रहीं।
जयपुर, 17 अगस्त। राज्य सरकार ने कोविड-19 की परिस्थिति के मद्देनजर विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये प्रति विधायक राशि 225.25 लाख रूपये से बढ़ाकर 500 लाख रूपये कर दी है। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के शासन सचिव श्री के.के. पाठक ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में इस राशि में से 25 लाख रूपये कर्फ्यू, लॉकडाउन या जनअनुशासन पखवाड़े के कारण प्रभावित गरीब, निराश्रित, असहाय एवं दिहाड़ी मजदूर जैसे लोगों पर सामाजिक एवं खाद्य सुरक्षा के लिए खाद्य सामग्री और जीवन यापन पर खर्च किए जा सकेंगे। श्री पाठक ने बताया कि कोरोना से उत्पन्न परिस्थितियों के मद्देनजर विधायक की अनुशंषा पर विधानसभा क्षेत्र में न्यूनतम 175 लाख रूपये मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के सुदृढ़ीकरण, आदर्श सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की स्थापना के लिए उपयोग में ली जा सकेगी। इसमें से अप्रयुक्त राशि का उपयोग अन्य विकास कार्यों पर किया जा सकेगा। शेष राशि 300 लाख रूपये अन्य विकास कार्यों में उपयोग में ली जा सकेगी।
हनुमानगढ़/जयपुर, 17 अगस्त। राज्य सरकार ने मोहर्रम के उपलक्ष्य में पूर्व में घोषित अवकाश को 19 अगस्त (गुरूवार) के स्थान पर अब 20 अगस्त, 2021 (शुक्रवार) को सम्पूर्ण राज्य में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। संयुक्त शासन सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग श्री राजीव जैन ने बताया है कि 19 अगस्त (गुरूवार) को सम्पूर्ण राज्य में कार्य दिवस रहेगा।
हनुमानगढ़/जयपुर, 17 अगस्त। राज्य सरकार ने विधि एवं विधिक कार्य विभाग द्वारा विभिन्न जिलोें में नवसृजित 21 न्यायालयों में सहायक अभियोजन अधिकारी, कनिष्ठ सहायक और चतुर्थ श्रेणी संवर्ग के 63 नए पद सृजित करने को मंजूरी दी है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इस संबंध में वित्त विभाग के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है। श्री गहलोत द्वारा स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार, विधि एवं विधिक कार्य विभाग में सृजित नवीन न्यायालयों में अभियोजन की पैरवी के लिए सहायक अभियोजन अधिकारी, कनिष्ठ सहायक एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के 21-21 पदों सहित कुल 63 नवीन पद सृजित किए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि मई 2021 में विधि एवं विधिक कार्य विभाग ने अधिसूचना जारी कर हनुमानगढ़ के संगरिया, बीकानेर के नोखा, चूरू के बीदासर, भीलवाड़ा जिले के गंगापुर,धौलपुर के सैंपऊ और बसेड़ी, जोधपुर के लोहावट, बाप और भोपालगढ़ में सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालयों का गठन किया था। इस अधिसूचना के तहत चूरू, जैसलमेर, झुंझुनू जिलों के साथ-साथ पाली के सोजत और सुमेरपुर, सीकर के श्रीमाधोपुर और लक्ष्मणगढ़, टोंक जिले के टोंक और निवाई में अतिरिक्त सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालयों और पाली, राजसमन्द तथा अलवर जिलों में विशिष्ट न्यायिक मजिस्ट्रेट (एनआई एक्ट प्रकरण) न्यायालयों का भी गठन किया गया था। अब उक्त 21 न्यायालयों के लिए सहायक अभियोजन अधिकारी सहित विभिन्न नवीन पदों का सृजन किया गया है।
हरियाणा, पंजाब समेत आधा दर्जन से ज्यादा राज्यों को भी भेजी गई है इसकी सूचना हनुमानगढ़, 13 अगस्त। देवस्थान विभाग ने कोविड 19 के चलते गोगामेड़ी मेला स्थगित कर दिया है। देवस्थान विभाग के आयुक्त श्री जितेन्द्र कुमार उपाध्याय ने बताया कि देवस्थान विभाग द्वारा प्रबंधित राजकीय आत्मनिर्भर मंदिर श्रीगोगाजी ( गोगामेड़ी) का वार्षिक मेला इस वर्ष माह अगस्त-सितंबर 2021 में भरना प्रस्तावित था। कोविड 19 से उत्पन्न परिस्थितियों के मद्देनजर आमजन के स्वास्थ्य की रक्षा की दृष्टि से राज्य सरकार ने उक्त मेले को स्थगित कर दिया है। श्री उपाध्याय ने बताया कि इस मेले में विभिन्न राज्यों से लाखों श्रद्धालु आते हैं। श्रद्धालुओं को अनावश्यक परेशानी का सामना ना करना पड़े। इसको लेकर मेला स्थगित की जानकारी हरियाणा, पंजाब, मध्यप्रदेश, नई दिल्ली, गुजरात, छत्तीसगढ़ और उत्तरप्रदेश के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के आयुक्त को भी भिजवाई गई है। ताकि उन राज्यों में गोगामेड़ी मेले के स्थगित होने की सूचना समय पर पहुंच जाए।
नई दिल्ली, संसद के मानसून सत्र के दौरान राज्यसभा में बुधवार को हुए हंगामे और धक्का-मुक्की का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। राहुल गांधी सहित 15 विपक्षी नेताओं ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताया, तो केंद्र सरकार के 8 मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और आरोपों का जवाब दिया। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्यसभा में विपक्षी सांसदों पर मार्शलों के हमले का गंभीर आरोप लगाया तो सरकार ने सदन का सीसीटीवी फुटेज ही जारी कर दिया। इस वीडियो में राहुल गांधी के दावे को उलट कांग्रेस सांसद ही महिला मार्शलों से बदसलूकी करते दिख रहे हैं। वीडियो में साफ दिख रहा है कि कांग्रेस सांसद मार्शलों को बार-बार धक्का दे रहे हैं। महिला सांसदों को तो महिला मार्शलों की कॉलर तक पकड़ती देखा जा सकता है। अगर राहुल गांधी को अपनी जिम्मेदारी का एहसास है तो मांगे मांफी इतना ही नहीं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी संसद के आखिरी दिन हुई कार्यवाही को लेकर बोल रहे हैं कि यह लोकतंत्र की हत्या थी। ऐसे में संसद की कार्यवाही के उस दिन के वीडियो में देखा जा सकता है कि संसद में क्या हुआ था। मंत्री ने आगे कहा कि अगर राहुल गांधी को अपनी जिम्मेदारी का अहसास है तो उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए। हम अध्यक्ष से भी मांग करते हैं कि उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए और इस तरह की घटना को दोहराया नहीं जाना चाहिए। वीडियो शूटिंग की इजाजत ना होने पर भी हुआ शूट- जोशी प्रह्लाद जोशी ने आगे कहा कि बीते दिन कि घटना से एक दिन पहले कुछ सांसद मेजों पर चढ़ गए थे। वे अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे। उन्हें लगा कि उन्होंने कुछ अच्छा किया है। उन्होंने इसका वीडियो शूट करने के बाद ट्वीट किया। वीडियो शूटिंग की अनुमति नहीं है फिर भी ऐसा किया गया। अनुराग ठाकुर भी बोले- विपक्ष को देश से मांगनी चाहिए माफी बता दें कि आज भाजपा नेताओ द्वारा हुई प्रेस कांफ्रेंसिंग के दौरान केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ( Piyush Goyal), धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan), प्रह्लाद जोशी (Prahlad Joshi), भूपेंद्र यादव (Bhupendra Yadav) और अनुराग सिंह ठाकुर ( Anurag Singh Thakur) शामिल हुए। वहीं अनुराग ठाकुर भी कहा कि जहां विपक्ष को देश से माफी मांगनी चाहिए।
हनुमानगढ़,12 अगस्त। महात्मा गांधी की 150 वी जयंती एवं स्वतंत्रता दिवस के 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष पर अगस्त क्रांति सप्ताह के चौथे दिन जिला मुख्यालय पर टाउन स्थित रेल्वे स्टेशन के सामने वार्ड नं 37 में सफाई अभियान चलाकर श्रमदान किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री रामरतन सोंकरिया थे। एडीएम ने खुद फावड़ा लेकर कचरा एकत्रित किया और नगरपरिषद की कचरा एकत्र करने वाली गाड़ी में डाला। एडीएम ने आस पास रहने वाले लोगों को स्वच्छता का महत्व बताते हुए कहा कि अगर हमारे गली मौहल्ले में साफ सफाई होगी तो हममें सकारात्मक उर्जा बढ़ेगी। ऐसी गंदगी से अनेकों बीमारियां फैलती है। उन्होने आमजन को बताया कि प्रशासन केवल आपका मार्गदर्शन कर सकता है परन्तु जबतक आमजन स्वच्छता के प्रति जागरूक नही होगी तो स्वच्छता बनानी संभव नही है। कभी नगरपरिषद की कचरा एकत्रित करने वाली गाड़ी न आये तो पास के कचरा पात्र में ही कचरा एकत्रित कर डाले। इसी के साथ साथ मौके पर उपस्थित वार्डवासियों ने जिन्होने मास्क का उपयोग नही कर रहे थे उन्हे मास्क लगाने की हिदायत देते हुए कोरोना वैश्विक महामारी के बारे में बताया और मास्क का वितरण भी किया। उन्होने बताया कि महामारी अभी समाप्त नही हुई है और अगर हम सब मिलकर इसे समाप्त करना चाहते है तो मास्क लगाना अतिआवश्यक है। उन्होने कहा कि अगर हम सभी प्रत्येक वर्ष दिवाली के आसपास अपने घरों को साफ कर सकते हैं तो यह कदम स्वच्छता और स्वच्छ भारत की ओर क्यों नहीं उठाया जा सकता है। उन्होने सफाई के लिये आमजन को दृष्टिकोण में परिवर्तन लाए जाने का आह्वान किया। महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के सदस्य मनोज सैनी ने बताया कि 13 अगस्त को सुबह 7ः00 बजे पौधरोपण का कार्यक्रम जंक्शन स्थित पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में बनी हुई बा-बापू वाटिका में, 14 अगस्त को सुबह 6ः30 बजे क्रिकेट मैच का आयोजन प्रशासन एवं न्याय विभाग के मध्य एसकेडी विश्वविद्यालय हनुमानगढ़ जंक्शन में, 15 अगस्त को रक्तदान शिविर का आयोजन शाम 4ः00 बजे राजकीय जिला चिकित्सालय में किया जाएगा। एडीएम ने बताया कि इसी तरह 20 से 26 अगस्त तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे।
हनुमानगढ़ 11 अगस्त। पंचायत समिति भादरा के ग्राम मुंसरी में घर-घर औषधि योजना के अंतर्गत पोध वितरण का कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें सरपंच श्रीमती सुनीता मेघवाल सहायक वन संरक्षक दिलीप सिंह राठौड़ क्षेत्रीय वन अधिकारी भादरा अश्वनी कुमार राठौड़, वनपाल श्री मादुराम वनरक्षक ओमप्रकाश राजेंद्र और पालक सरपंच प्रतिनिधि श्री सुरेंद्र कुमार, द्वारका प्रसाद , मन्दिर रामदेव ईसरणा धाम के श्री कृष्ण जी आदि उपस्थित रहे। सहायक वन संरक्षक दिलीप सिंह राठौड़ ने राज्य सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के बारे में प्रकाश डालते हुए इन औषधीय पौधों को उपयोग एवं लाभ के बारे में लोगों को जानकारी दी गई। साथ ही इन पौधों के उपयोग एवं उनके पौधारोपण से संबंधित पंपलेट भी लोगों को वितरित किए गए। प्रत्येक परिवार को तुलसी अश्वगंधा गिलोय व कालमेघ के दो दो पौधे कुल 8 पौधों का एक किट निशुल्क वितरित किया गया आज के कार्यक्रम में कुल 200 परिवारों को औषधीय पौधों का वितरण किया गया
9 से 15 अगस्त तक जिले भर में आयोजित किए जाएंगे विभिन्न कार्यक्रम हनुमानगढ़, 11 अगस्त। महात्मा गांधी की 150 वी जयंती एवं स्वतंत्रता दिवस के 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष पर अगस्त क्रांति सप्ताह के तीसरे दिन जिला मुख्यालय पर जंक्शन में भगत सिंह चौक से टाउन में भारत माता चौक तक साईकिल रैली का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती को लेकर जिला स्तर पर गठित समिति के सह संयोजक श्री तरूण विजय, पार्षद श्री मनोज सैनी, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री रामरतन सौंकरिया, जिला परिषद सीईओ श्री अशोक असीजा और सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई थे। रैली में युवाओं व खिलाडि़यों ने भारी उत्साह से भाग लिया। रैली भगत सिंह चौक से टाउन भारत माता चौक पहंुची जिसमें यातायात पुलिस द्वारा यातायात की सुव्यवस्थित व्यवस्था की गई। रैली के समापन पर टाउन भारतमाता चौक पर नगरपरिषद व सरस डेयरी द्वारा युवाओं के लिये दुध की व्यवस्था की गई। समापन समारोह को संबोधित करते हुए जिला परिषद सीईओ अशोक असीजा ने युवाओं को गांधी जी के जीवन से प्ररेणा लेते हुए बिना किसी हिंसा के जीवन जीने की अपील की। उन्होने युवाओं को नशे से दूर रहते हुए शारीरिक श्रम करने की अपील की। उन्होने बताया कि शारीरिक श्रम करने से शरीर स्वस्थ तो रहता ही है साथ ही व्यक्ति का चहुमुखी विकास भी होता है। स्वास्थय अच्छा रहेगा तो अपने जीवन में आगे बढ़ पायेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गांधीजी की 150 वीं जयंती को लेकर गठित जिला स्तरीय समिति के सह संयोजक तरूण विजय ने युवाओं को गांधी जी के जीवन से प्ररेणा लेने की अपील करते हुए कहा कि युवा लाईब्रेरी या नेट पर ऑनलाईन गांधी जी के जीवन पर आधारित पुस्तकों का चयन कर उसे पढ़े ताकि गांधी जी किस तरह बिना हिंसा के देश को आजाद करवाया। उन्होने युवाओं को कोई भी कार्य करने से पहले लक्ष्य निर्धारण करने की बात कही। जब तक हम हमारा लक्ष्य निर्धारित नही करते तब तक हमारा सफल होना संभव नही है। गांधी के दर्शन की आज भी उतनी ही प्रासंगिकता है जितनी पहले थी। युवा वर्ग को गांधीजी के बारे में विस्तार से पढ़ना चाहिए ताकि उनके बताए मूल्यों को अपने जीवन में आत्मसात करके जीवन को सफल बना सके। उन्होने युवाओं को सफलता का गुरूमंत्र देते हुए लक्ष्य निर्धारित कर बिना किसी शॉटकर्ट के आगे बढने की अपील की। अतिरिक्त जिला कलक्टर रामरतन सौंकरिया ने बताया कि 12 अगस्त को सुबह 7 बजे श्रमदान का आयोजन वार्ड नंबर 37 हनुमानगढ़ टाउन रेलवे स्टेशन के सामने रखा गया है। 13 अगस्त को सुबह 7ः00 बजे पौधरोपण का कार्यक्रम जंक्शन स्थित पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में बनी हुई बा-बापू वाटिका में, 14 अगस्त को सुबह 6ः30 बजे क्रिकेट मैच का आयोजन प्रशासन एवं न्याय विभाग के मध्य एसकेडी विश्वविद्यालय हनुमानगढ़ जंक्शन में, 15 अगस्त को रक्तदान शिविर का आयोजन शाम 4ः00 बजे राजकीय जिला चिकित्सालय में किया जाएगा। एडीएम ने बताया कि इसी तरह 20 से 26 अगस्त तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। कार्यक्रम में इनकी भी रही उपस्थिति:- तहसीलदार श्री बाबूलाल रेगर, जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम प्रजापत, राजीव गांधी स्टेडिय से श्री ओमप्रकाश, नगरपरिषद से सहायक अभियंता श्री मेघराज, सफाई निरीक्षक श्री जगदीश सिराव, मुख्य सफाई निरीक्षक श्रीमती प्रेमलता पुरी, स्वच्छता इन्चार्ज श्री नवल किशोर समेत अन्य लोग उपस्थित थे।
हनुमागनढ़। जिले में मंगलवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि हनुमानगढ़ को निदेशालय से सोमवार को कोविशील्ड की 20 हजार डोज प्राप्त हुई थी। आज 106 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। जिले में आज 15831 नागरिकों ने प्रथम डोज एवं 6780 नागरिकों ने द्वितीय डोज लगवाई। जिले में आज 22611 नागरिकों ने वैक्सीनेशन करवाया। बुधवार 11 अगस्त को हनुमानगढ़ में वैक्सीनेशन नहीं किया जाएगा।
हनुमागनढ़। जिले में मंगलवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि हनुमानगढ़ को निदेशालय से सोमवार को कोविशील्ड की 20 हजार डोज प्राप्त हुई थी। आज 106 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। जिले में आज 15831 नागरिकों ने प्रथम डोज एवं 6780 नागरिकों ने द्वितीय डोज लगवाई। जिले में आज 22611 नागरिकों ने वैक्सीनेशन करवाया। बुधवार 11 अगस्त को हनुमानगढ़ में वैक्सीनेशन नहीं किया जाएगा।
हनुमानगढ़, 10 अगस्त। राजस्थान पेंशनर समाज की जिला शाखा हनुमानगढ़ के अध्यक्ष श्री आरएल कक्कड़ ने जिले के समस्त पेंशनर्स और पारिवारिक पेंशनर्स से अपील की है कि वे राज्य सरकार की मेडिकल बीमा से संबंधित आरजीएचएस योजना में समय रहते अपना रजिस्ट्रेशन ई-मित्र के माध्यम से करा लें ताकि निर्धारित अस्पतालों से इन-डोर तथा आउटडोर चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल सके। यदि रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते हैं तो यह सुविधा नहीं मिल पाएगी। श्री कक्कड़ ने बताया कि राज्य सेवा से सेवानिवृत जिले के समस्त पेंशनर्स तथा पारिवारिक पेंशनर्स को सूचना दी जाती है कि अपने स्तर पर विभिन्न अस्पतालो से ईलाज कराने के पश्चात् कोष कार्यालय में प्रस्तुत किए जाने वाले बिल कोषालय द्वारा 16 जुलाई 2021 के पश्चात् अवधि के स्वीकार नही किए जा रहे हैं। इसके स्थान पर राज्य सरकार द्वारा दी गई व्यवस्था के अनुसार राजस्थान सरकार स्वास्थ्य बीमा योजना (आरजीएचएस) के तहत सरकार द्वारा निर्धारित किए गए अस्पताल से कैशलेस ईलाज करवाएं। जो एक वर्ष मे 5 लाख तक निःशुल्क इलाज करवा सकते हैं।
हनुमानगढ़, 10 अगस्त। आबकारी आयुक्त श्री जोगाराम,अतिरिक्त आबकारी आयुक्त श्री अजीत सिह राजावत के निर्देशानुसार अवैध शराब के खिलाफ जिले में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिला आबकारी अधिकारी श्री चिमनलाल मीणा ने बताया कि आबकारी विभाग को मिली गुप्त सूचना के आधार पर मंगलवार को हनुमानगढ़ जिले के गाँव 12 एच.एम.एच गुरुसर में एक व्यक्ति के घर पर दबिश दी गई तो रिहायशी मकान के किरायेदार जितेन्द्र कुमार पुत्र मुरली मनोहर के घर से 2,127 आरएसजीएसएम के नकली ढक्कन, 1424 आरएसजीएसएम के नकली पव्वे, 2622 आरएसजीएसएम के नकली देशी मदिरा सादा के लेबल, 45 नग आरएसजीएसएम के नकली गत्ता कार्टन, 3 पानी की टंकी,1 प्लास्टिक ड्रम, 3 भरे हुए प्लास्टिक जरीकन जिसमें 150 लीटर स्प्रीट व 1 जरीकन खाली, 1 कीप पव्वा भरने के लिए, 2 बाल्टी व 7 मीटर रबर पाईप मौके से बरामद की गई। श्री मीणा ने बताया कि मौके से एक व्यक्ति श्री रामप्रसाद पुत्र सुभाष चन्द्र गोदारा को गिरफ्तार किया गया। आरोपी जितेन्द्र कुमार पुत्र मुरली मनोहर मकान पर मौजूद नहीं मिला। श्री मीणा ने बताया कि हनुमानगढ जिले में अवैध शराब के निर्माण, भण्डारण एवं विक्रय के विरुद्ध आबकारी विभाग का अभियान जारी रहेगा।
हनुमानगढ़। जिले को कोविशील्ड की 20 हजार डोज प्राप्त हुई, जिसे सोमवार खण्ड स्तर पर भिजवा दिया गया। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को अब पर्याप्त मात्रा में कोविड वैक्सीन प्राप्त हो रही है। इसी क्रम में सोमवार को कोविशील्ड की 20 हजार डोज प्राप्त हुई। मंगलवार 10 अगस्त को समस्त खण्ड स्तर पर कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। वैक्सीनेशन के लिए 103 टीकाकरण केन्द्र बनाए गए हैं। 18 से 44 एवं 45 से अधिक आयु के नागरिक प्रथम व द्वितीय डोज लगवाने के लिए वैक्सीनेशन स्थल पर जाएं, जहां टोकन सिस्टम के आधार पर वैक्सीनेशन के लिए एण्ट्री दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन नागरिकों के कोविशील्ड की प्रथम वैक्सीनेशन डोज लगवाने के बाद 84 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे मंगलवार को दूसरी डोज आवश्यक रूप से लगवाएं।
जिला मुख्यालय पर रेलवे स्टेशन परिसर में कार्यक्रम का आयोजन कर रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना हनुमानगढ़, 9 अगस्त। महात्मा गांधी की 150 वी जयंती एवं स्वतंत्रता दिवस के 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष पर अगस्त क्रांति सप्ताह के अंतर्गत जिला एवं सभी ब्लॉक मुख्यालय पर सोमवार को "हिंद स्वराज अपनाओ-सामाजिक सरोकार बढ़ाओ रैली" का आयोजन किया गया। ज़िला जिला मुख्यालय पर रैली का आयोजन जंक्शन में रेलवे स्टेशन परिसर में कार्यक्रम का आयोजन कर मुख्य अतिथियों के द्वारा हरी झंडी दिखाकर किया गया। रैली को हरी झंडी दिखाने वाले मुख्य अतिथियों में नगर परिषद चेयरमैन श्री गणेश राज बंसल, श्री भूपेंद्र चौधरी, महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के आयोजन को लेकर गठित जिला स्तरीय समिति के सह-संयोजक श्री तरुण विजय एडीएम श्री राम रतन सोंकरिया, सीईओ जिला परिषद श्री अशोक असीजा, एडिशनल एसपी श्री जस्साराम बोस शामिल थे। रैली रेलवे स्टेशन परिसर से रवाना होकर भगत सिंह चौक, बस स्टैंड, राजीव चौक होते हुए वापस भगत सिंह चौक पर समापन हुआ।वहीं जिले के सभी ब्लॉक मुख्यालय पर रैली का आयोजन विभिन्न स्थानों पर किया गया जिला स्तर पर रैली को लेकर रेलवे स्टेशन परिसर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष को लेकर गठित जिला स्तरीय समिति के सह संयोजक श्री तरुण विजय ने कहा कि महात्मा गांधी का दर्शन आज भी विश्व भर के लिए प्रासंगिक है। आज विश्व की बड़ी समस्याओं का हल गांधी दर्शन सत्य, अहिंसा के जरिए निकाला जा सकता है। राज्य के गांधीवादी मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की भी मंशा है कि महात्मा गांधी का दर्शन राज्य में जन जन तक पहुंचे। इसको लेकर समिति के सदस्य प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। इस कार्य मे किसी प्रकार की कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। मंगलवार को होगा संगोष्ठी का आयोजन - अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री रामरतन सोंकरिया ने बताया कि अगस्त क्रांति सप्ताह के अंतर्गत दूसरे दिन 10 अगस्त को "गांधी दर्शन की वर्तमान जीवन में प्रासंगिकता" विषय पर संगोष्ठी का आयोजन टाउन स्थित राजकीय एनएमपीजी कॉलेज में सुबह 11:30 बजे किया जाएगा। अगस्त क्रांति सप्ताह के अन्य कार्यक्रम - अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने बताया कि तय कार्यक्रम के अनुसार 11 अगस्त को सुबह 7 बजे साइकिल रैली का आयोजन जंक्शन में भगत सिंह चौक से टाउन भारत माता चौक तक किया जाएगा। 12 अगस्त को सुबह 7 बजे श्रमदान का आयोजन वार्ड नंबर 37 हनुमानगढ़ टाउन रेलवे स्टेशन के सामने रखा गया है। 13 अगस्त को सुबह 7:00 बजे पौधरोपण का कार्यक्रम जंक्शन स्थित पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में बनी हुई बा-बापू वाटिका में, 14 अगस्त को सुबह 6:30 बजे क्रिकेट मैच का आयोजन प्रशासन एवं न्याय विभाग के मध्य बेबी हैप्पी मॉडर्न पीजी कॉलेज जंक्शन में, 15 अगस्त को रक्तदान शिविर का आयोजन शाम 4:00 बजे राजकीय जिला चिकित्सालय में किया जाएगा। एडीएम ने बताया कि इसी तरह 20 से 26 अगस्त तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। रैली में इनकी रही उपस्थिति एसडीएम डॉ अवि गर्ग, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, समाज कल्याण अधिकारी श्री सुरेंद्र पूनिया,डीईओ माध्यमिक श्री हंसराज जाजीवाल, एडीईओ माध्यमिक श्री रणवीर शर्मा, नायब तहसीलदार श्री दानाराम मीणा, नेहरू युवा केंद्र से श्रीमती मधु यादव, महिला बाल विकास से एएसओ श्रीमती हेमलता,सीडीपीओ श्रीमती सुनीता शर्मा, महिला पर्यवेक्षक श्रीमती मधु महाजन, श्रीमती आशा चौधरी, श्रीमती कमलजीत, श्रीमती पुष्पा, जूडो कोच श्री अभयजीत, एथलेटिक्स कोच श्री सुनील सांमरिया, वुशू कोच श्री शंकर नरूका,श्री ओम प्रकाश सेन, सीओ स्काउट श्री भारत भूषण समेत पुलिस, स्काउट गाइड, एनएसएस, एनसीसी के वॉलिंटियर्स और राजीव गांधी स्टेडियम के विभिन्न खेलों से जुड़े हुए खिलाड़ी उपस्थित रहे।
हनुमानगढ़, 11 जुलाई। जिला स्थापना दिवस 12 जुलाई पर आज जिला मुख्यालय पर विभिन्न कार्यक्रम होंगे। एडीएम श्री अशोक असीजा ने बताया कि जिला स्थापना दिवस पर सुबह 7 से 8 बजे तक कलेक्ट्रेट परिसर में श्रमदान किया जाएगा। इस दौरान कलेक्ट्रेट परिसर स्थित ज्ञानोदय पार्क में सुबह 7 बजे पौधरोपण किया जाएगा। सुबह 8 बजे कलेक्ट्रेट परिसर में ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति पर माल्यार्पण कार्यक्रम और उसके बाद पौधरोपण का कार्यक्रम रखा गया है। कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल ने इसको लेकर पूरी तैयारी कर ली है। पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में सुबह साढ़े 8 बजे बा-बापू वाटिका में पौधरोपण का कार्यक्रम रखा गया है। इसके बाद सुबह 9 बजे कोरोना जागरूकता रैली व मास्क वितरण का कार्यक्रम होगा। जिला मुख्यालय पर सुबह 10 बजे शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन प्रजापत धर्मशाला में होगा। कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल इसके प्रभारी हैं। प्रतियोगिता में जीतने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा। सुबह 11 बजे जिला चिकित्सालय हनुमानगढ टाउन और सीएचसी नोहर में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। एडीएम ने बताया कि जिला स्थापना दिवस पर आयोजित सभी कार्यक्रमों में केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 के संबंध में समय समय पर जारी समस्त निर्देशों की पालना प्रभारी अधिकारी के द्वारा सुनिश्चित की जाएगी।
हनुमानगढ़, 11 जुलाई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने शनिवार रात 10 बजे जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान जिला कलक्टर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि औचक निरीक्षण का मकसद यही है कि जिला अस्पताल में आमजन को बेहतर इलाज मिले। एमसीएच यूनिट में गहन जांच की गई परिजनों से भी बात की गई तो सभी परिजन इलाज से खुश हैं। साफ सफाई भी अच्छी है। ठंडे पानी को लेकर कुछ लोगों ने शिकायत की कि यहां पीने का ठंडा पानी नहीं मिल रहा तो जिला अस्पताल में पांच-सात पीने के पानी के पॉइंट है वहां ठंडा पानी उपलब्ध करवा दिया जाएगा। हनुमानगढ़ वासियों को जिला अस्पताल में उपलब्ध साधनों में बेहतर सुविधा देने की कोशिश की जाएगी। औचक निरीक्षण के दौरान जिला कलक्टर ने सबसे पहले ट्रोमा सेंटर का विजिट किया जहां मरीज का संबंधित मेडिकल स्टॉफ इलाज कर रहा था। उसके बाद जिला कलक्टर ने एमसीएच यूनिट गए जहां साफ सफाई मिली। जिला कलक्टर ने मरीज और उनके परिजनों से ईलाज को लेकर बात की। मौके पर मौजूद नर्सिंग स्टॉफ ने ऑन कॉल डॉक्टर को बुलाया। इसके बाद जिला कलक्टर ने पीएमओ डॉ दीपक मित्र सैनी की उपस्थिति में ऑक्सीजन प्लांट देखा। जनरल वार्ड में भी मरीजों से मिले और उनके ईलाज को लेकर जानकारी ली। इस दौरान जिला कलक्टर को कुछ लोगों ने कहा कि यहां जो वाटर कूलर लगा हुआ है उसमें ठंडा पानी नहीं आता। जिला कलक्टर ने देखा कि एक वाटर कूलर में ठंडा और दूसरे में गर्म पानी आ रहा था। इस पर पीएमओ ने कहा कि एक दो दिन में ही दूसरे वाटर कूलर को भी दुरूस्त करवा दिया जाएगा। ओपीडी के समय पुलिस स्टॉफ मौजूद रहने के चौकी इंचार्ज को दिए निर्देश निरीक्षण के दौरान जिला कलक्टर ने जिला अस्पताल चौकी इंचार्ज को निर्देशित किया कि ओपीडी के समय चौकी स्टॉफ में जिसकी भी यहां ड्यूटी होगी वह ओपीडी एरिया में ही रहे और वहां कोरोना गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करते हुए उपस्थित लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग और व्यवस्था बनाए रखे।
हनुमानगढ़। जिले में 11 जुलाई रविवार को 18 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को कोविशील्ड की 10 हजार डोज प्राप्त हुई थी। रविवार 11 जुलाई को जिले के 74 टीकाकरण केन्द्रों पर प्रथम व द्वितीय डोज का वैक्सीनेशन किया गया। उन्होंने बताया कि जिले में 11328 नागरिकों का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया।
हनुमानगढ़, 10 जुलाई। जिले के भू अभिलेख निरीक्षक व पटवारी स्वैच्छा से अपना स्थानांतरण करवाना चाहते हैं तो वे 14 जुलाई से 21 जुलाई 2021 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। किसी भी कार्मिक का व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर प्रस्तुत किया गया कागजी आवेदन पत्र पर विचार नहीं किया जाएगा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने जिले में कार्यरत भू अभिलेख निरीक्षकों व पटवारियों के स्वैच्छिक स्थानांतरण हेतु आवेदन के संबंध में सभी एसडीएम, तहसीलदार और उपपंजीयक हनुमानगढ़, नोहर को पत्र लिखकर निर्देशित किया है कि संबंधित विभाग की वेबसाइट या पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन ही स्वीकार करें। पत्र में जिला कलक्टर ने लिखा है कि प्रशासनिक सुधार एवं समन्वय विभाग द्वारा राजकीय अधिकारियों व कर्मचारियों के स्थानांतरण पर पूर्ण प्रतिबंध में दिनांक 14 जुलाई 21 से 14 अगस्त 21 तक छूट प्रदान कर निर्देशित किया गया है कि राज्य में कोविड 19 की स्थिति को ध्यान में रखते हुए स्थानांतरण के लिए आवेदक का प्रार्थना पत्र संबंधित विभाग की वेबसाइट या पोर्टल पर ऑनलाइन ही स्वीकार किया जाए। इस क्रम में जिले में कार्यरत भू अभिलेख निरीक्षक व पटवारी यदि स्वैच्छा से अपना स्थानांतरण करवाना चाहता है तो वह इस कार्यालय की मेल आईडी dmlr141@gmail.com पर दिनांक 14 जुलाई 21 से 21 जुलाई 21 तक आवेदन कर सकता है। किसी भी कार्मिक का व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर प्रस्तुत किया गया कागजी आवेदन पत्र पर विचार नहीं किया जाएगा।
हनुमानगढ़, 10 जुलाई। जिले में अगर कोई पटवारी या भू अभिलेख निरीक्षक अपने गांव या ऐसी जगह पदस्थापित है जहां उसकी या उसके नजदीकी रिश्तेदार की अचल संपत्ति है तो उसे वहां से हटाया जाएगा। कलेक्ट्रेट की भू अभिलेख शाखा के प्रभारी अधिकारी और एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल कुमार यादव ने जिले के सभी तहसीलदारों और उपपंजीयक हनुमानगढ़ व नोहर को पत्र लिखकर ऐसे पटवारी और भू अभिलेख निरीक्षकों की पहचान करने और ऐसा पाए जाने पर संबंधित पटवारी व भू अभिलेख निरीक्षक को उक्त स्थान से हटाकर निकटस्थ रिक्त पटवार मंडल में पदस्थापित किए जाने के लिए पत्र लिखा है। पत्र में लिखा गया है कि राजस्व मंडल राजस्थान के निबंधक के द्वारा निर्देशित किया गया है कि जिले में कार्यरत भू अभिलेख निरीक्षक व पटवारी को राजस्थान भू राजस्व नियम 1957 के नियम 4 (ड़) में प्रावधा है कि किसी भी पटवारी को ऐसे क्षेत्र में नहीं रखा जाएगा कि जिसमें उसका खुद का गांव हो अथवा जिसमें वह खुद या उसके नजदीकी रिश्तेदार कोई अचल संपत्ति खेती के लिए धारण करते हो। लिहाजा उक्त नियम के विपरीत जिले में पदस्थापित भू अभिलेख निरीक्षक व पटवारी को उक्त स्थान से हटाकर निकटस्थ रिक्त पटवार मंडल में पदस्थापित किया जाए। पत्र में श्री यादव ने लिखा है कि इस नियम से प्रभावित कार्मिकों की सूचना निर्धारित प्रारूप में 21 जुलाई तक भू अभिलेख कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें। साथ ही इस आशय का प्रमाण पत्र भिजवाया जाना भी सुनिश्चित करें कि उक्त नियम से प्रभावित समस्त कार्मिकों का नाम प्रेषित सूची में भिजवा दिए गए हैं और कोई भी नाम शेष नहीं है। पत्र में ये भी लिखा गया है कि भू अभिलेख कार्यालय के द्वारा 09 जुलाई को जारी पत्रांक के जरिए भू अभिलेख निरीक्षकों और पटवारियों के स्थानांतरण बाबत आवेदन भी आमंत्रित किए गए हैं। लिहाजा सभी तहसीलदार अपने क्षेत्र में कार्यरत भू अभिलेख निरीक्षकों व पटवारियों को आदेशित करें कि वे आवेदन पत्र में स्वयं का निवास स्थान व धारित कृषि भूमि के क्षेत्र का स्थानांतरण करवाने हेतु आवेदन ना करें।
हनुमानगढ़। जिले में 11 जुलाई रविवार को 18 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। जिले को निदेशालय से कोविशील्ड की 10 हजार डोज प्राप्त हुई, जो सातों खण्ड स्तर पर भिजवा दी गई। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को कोविशील्ड की 10 हजार डोज प्राप्त हुई है। रविवार 11 जुलाई को जिले के 74 टीकाकरण केन्द्रों पर 18 से अधिक आयु के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रथम बार वैक्सीनेशन करवाने वाले नागरिक रजिस्ट्रेशन करवा आए और वैक्सीनेशन स्थल पर अपना रजिस्ट्रेशन नम्बर बताकर वैक्सीनेशन करवाएं। इसी तरह, जिले के वे नागरिक जिन्हें प्रथम वैक्सीनेशन के बाद 84 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे भी रविवार को अपनी दूसरी डोज आवश्यक रूप से लगवाएं। उन्होंने बताया कि हनुमानगढ़ में महिलाओं के वैक्सीनेशन के लिए अलग से 'पिंक बूथÓ बनाया गया है। टाउन स्थित व्यापार मण्डल बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में 18 से अधिक आयु की महिलाओं का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। इसी तरह टाउन स्थित एनएम लॉ कॉलेज में सिर्फ पुरुषों का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा।
हनुमानगढ़। विश्व जनसंख्या दिवस के साथ ही रविवार से जिलेभर में विश्व जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा प्रारंभ होगा। इस बार कोविड के चलते सार्वजनिक समारोह आदि आयोजित नहीं किए जाएंगे ताकि सोशल डिस्टेंसिंग की पालना सुनिश्चित हो सके। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि कोविड महामारी के चलते परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत आधुनिक गर्भ निरोधक साधनों व परिवार नियोजन सेवाओं की सूचना, परामर्श एवं सेवाएं प्रदान करने के प्रावधान पर जोर दिया गया है। एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार ने बताया कि विभाग की ओर से जिले में 27 जून से मोबिलाइजेशन पखवाड़ा शुरू हुआ जो 10 जुलाई तक चला। अब 11 से 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा चलेगा। इस दौरान विभिन्न जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। उन्होंने बताया कि योग्य दम्पत्तियों से संपर्क कर सीमित परिवार और स्थाई व अस्थाई परिवार कल्याण साधनों की जानकारी देने के लिए जिलेभर में मोबिलाइजेशन पखवाड़ा चलाया गया। इस दौरान जिले के गांव-ढाणियों में स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं अपने क्षेत्र में जन-जागृति पैदा की। टीमों ने सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क व सेनेटाइजर का उपयोग करते हुए आवश्यक गतिविधियां आयोजित की। उन्होंने बताया कि दो चरणों में चलने वाले परिवार कल्याण अभियान के पहले चरण में स्वास्थ्य कार्यकर्ता योग्य दंपतियों को सीमित परिवार रखने के लाभ सहित विवाह की सही आयु, विवाह पश्चात कम से कम दो वर्ष बाद पहला बच्चा, पहले एवं दूसरे बच्चे में कम से कम तीन साल का अंतर, अंतरा इंजेक्शन, प्रसवोत्तर परिवार कल्याण सेवाएं, पुरूषों की परिवार नियोजन में सहभागिता, अंतरा, गर्भपात पश्चात परिवार कल्याण सेवाओं के बारे में संपूर्ण जानकारी देकर उन्हें इन सेवाओं से लाभान्वित होने के लिए प्रेरित किया। आगामी पखवाड़े में स्वास्थ्य कार्यकर्ता लक्षित दम्पत्ति को नसबंदी के लिए प्रेरित करेंगे और आयूडी निवेशन की जानकारी भी देंगे। वहीं महिलाओं को ऑरल पिल्स और दम्पत्तियों को निरोध का वितरण नियमित रूप से किया जाएगा। रविवार से शुरू हो रहे दूसरे चरण में परामर्श सेवाओं के साथ ही आमजन को जागरूक किया जाएगा। आमजन कोविड के चलते परिवार कल्याण संबंधी जागरूकता सामग्री सोशल मीडिया के माध्यम से विभागीय फेसबुक पेज 'आईईसी हैल्थ डिपार्टमेंट, हनुमानगढ़Ó और ट्वीटर के 'आईईसी हनुमानगढ़Ó पेज से प्राप्त कर सकते हैं।
-जिला कलक्टर ने एसडीएम को लिखा पत्र संगरिया। जिला कलक्टर ने मीरा कन्या राजकीय महाविद्यालय की कृषि भूमि को अगले कृषि वर्ष में खेती करने के लिए सरकारी नियमानुसार नीलामी करवाए जाने की मांग पर नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश संगरिया के उपखंड अधिकारी को दिए हैं। जिला कलक्टर ने एडवोकेट संजय आर्य, ओमप्रकाश जांगू व भूप सहारण द्वारा दिए गए ज्ञापन पर कार्यवाही करते हुए उपखंड अधिकारी को भेजे पत्र में यह निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि एडवोकेट संजय आर्य, ओमप्रकाश जांगू व भूप सहारण ने गत दिनों जिला कलक्टर को ज्ञापन दिया था। ज्ञापन में कलक्टर से मांग की गई कि मीरा कन्या राजकीय महाविद्यालय की चक एक आरटीपी खाता संख्या 37/40 के राजस्व रिकार्ड मेंं दर्ज 2.050 हेक्टेयर कृषि भूमि को आगामी कृषि वर्ष में काश्त के लिए अनुबंध पर देने के लिए राजकीय नियमानुसार नीलामी करवाई जाए। इस मांग पर जिला कलक्टर ने उपखंड अधिकारी को निर्देशित किया है कि इस प्रकरण में नियमानुसार कार्यवाही कर उससे अवगत कराया जाए।
- शनिवार मिलेगी कोविशील्ड की 10 हजार डोज, रविवार होगा कोविड वैक्सीनेशन हनुमानगढ़, 9 जुलाई। जिले में आज 18 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों का द्वितीय डोज का कोविड-10 वैक्सीनेशन किया गया। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को कोविशील्ड 6850 डोज प्राप्त हुई थी। आज 48 टीकाकरण केन्द्रों पर वैक्सीनेशन किया गया, जिसमें 18 से अधिक आयु के 7771 नागरिकों का दूसरी डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। उन्होंने बताया कि निदेशालय से हनुमानगढ़ को कोविशील्ड की 10 हजार डोज शनिवार को प्राप्त होगी, जो शनिवार को ही खण्ड स्तर पर वितरित करवा दी जाएगी। रविवार को जिले में 18 से अधिक आयु के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का कोविड वैक्सीनेशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले के वे नागरिक जिन्हें प्रथम वैक्सीनेशन के बाद 84 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे रविवार को वैक्सीनेशन करवाएं। महिलाओं के बनाया जाएगा 'पिंक बूथ' हनुमानगढ़ बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा ने बताया कि जिले में महिलाओं के लिए अलग से 'पिंक बूथ' की स्थापना की जाएगी। इस 'पिंक बूथ' पर केवल 18 से अधिक आयु के महिलाओं का ही कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि रविवार को होने वाले कोविड वैक्सीनेशन में टाउन स्थित व्यापार मण्डल बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय को 'पिंक बूथ' बनाया जाएगा।
हनुमानगढ़/जयपुर,9 जुलाई। मुख्य सचिव श्री निरन्जन आर्य ने कहा कि बजट घोषणा वर्ष 2020 - 21 के अनुसार राज्य में 57 नई पंचायत समितियों एवं 1456 ग्राम पंचायतों के गठन के बाद जिन पंचायत समितियों और ग्राम पंचायतों में कार्यालय के लियेे उपयुक्त सरकारी भवन उपलब्ध नहीं है, वहां मिनी सचिवालय की तर्ज पर पंचायत सचिवालय भवनों का निर्माण किया जाये। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत भवनों,पंचायत समिति भवनों और पंचायत समिति मुख्यालय पर बनने वाले अम्बेडकर भवनों के लिए भूमि आवंटन में आ रही समस्याओं का शीघ्र निस्तारण किया जाना चाहिए।श्री आर्य शुक्रवार को शासन सचिवालय में ग्रामीण एवं पंचायती राज विभाग द्वारा इस सम्बन्ध में आयोजित बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। मुख्य सचिव ने कहा कि पंचायत समिति और ग्राम पंचायत के कार्यालय के साथ साथ नरेगा कार्यालय,राजीव गांधी सेवा केन्द्र एवं अन्य सरकारी कार्यालय होने से गांवो के स्तर तक मिनी सचिवालय की अवधारणा को साकार किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पंचायत स्तर पर बनाये जाने वाले भवनों में सभी सरकारी कार्यालय एक ही परिसर में होने से लोगों को सुविधा होगी। श्री आर्य ने कहा कि ग्राम पंचायत और पंचायत समिति स्तर पर बनाये जाने वाले भवनों का मानचित्र भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए बनाया जाए। नये भवन पर्यावरण के अनुकूल हों,वहां सघन वृक्षारोपण किया जाये और वर्षा जल संचयन का भी प्रावधान हो। पंचायती राज विभाग की शासन सचिव श्रीमती मंजु राजपाल ने बताया कि पंचायत समिति के लिए 6 एकड़ भूमि, ग्राम पंचायत के लिए 3 एकड भूमि और अम्बेडकर भवन के लिए एक हजार वर्ग मीटर भूमि की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग, नगरीय विकास विभाग और जिलों के सहयोग से भूमि उपलब्ध होते ही भवन निर्माण का कार्य शीघ्र ही प्रांरभ किया जायेगा। बैठक में वीडियों कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रमुख शासन सचिव,राजस्व विभाग श्री आनंद कुमार, प्रमुख शासन सचिव नगरीय विकास विभाग श्री कुंजी लाल मीणा सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 09 जुलाई। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत भादरा की मलसीसर ग्राम पंचायत में गड़बड़ी पाए जाने पर दर्ज पुलिस केस के बाद मलसीसर ग्राम सेवा सहकारी समिति श्री दुलीचंद को निलंबित कर दिया गया है। सहकारी समितियों के उपरजिस्ट्रार श्री दीपक कुक्कड़ ने मलसीसर ग्राम सहकारी समिति के अध्यक्ष को श्री दुलीचंद को आगामी तीन महीनों के लिए मलसीसर ग्राम सेवा सहकारी समिति के व्यवस्थापक पद से निलंबित करने के लिए पत्र लिखा। पत्र के आधार पर मलसीसर ग्राम सहकारी समिति के अध्यक्ष ने व्यवस्थापक को निलंबित कर दिया है। अध्यक्ष एवं संचालक मंडल मलसीसर ग्राम सेवा सहकारी समिति को लिखे पत्र में उप रजिस्ट्रार ने लिखा है कि मलसीसर ग्राम सेवा सहकारी समिति के व्यवस्थापक श्री दुलीचंद ने फसल बीमा का अनुचित लाभ प्राप्त करने हेतु स्वयं अन्य काश्तकार की भूमि का बीमा ने करते हुए पोर्टल पर अन्य भूमि का इंद्राज किया गया और बीमा दावों का लाभ स्वयं के खातों में प्राप्त किया गया जो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत जारी अधिसूचना के प्रावधानोें के विपरित है। साथ ही समिति व्यवस्थापक होने के नाते आंवटित कर्तव्यों एवं दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरतने के मद्यनजर ग्राम सहकारी सोसायटी नियम 2003 के नियम संख्या 39(4) अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए दुलीचंद को आगामी 03 माह की अवधि के लिए व्यवस्थापक पद से निलंबित कर सूचित करने के निर्देश दिए गए थे।
हनुमानगढ़। जिले में आज 18 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों का द्वितीय डोज का कोविड-10 वैक्सीनेशन किया गया। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को कोविशील्ड 6850 डोज प्राप्त हुई थी। आज 48 टीकाकरण केन्द्रों पर वैक्सीनेशन किया गया, जिसमें 18 से अधिक आयु के 7771 नागरिकों का दूसरी डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया गया। उन्होंने बताया कि निदेशालय से हनुमानगढ़ को कोविशील्ड की 10 हजार डोज शनिवार को प्राप्त होगी, जो शनिवार को ही खण्ड स्तर पर वितरित करवा दी जाएगी। रविवार को जिले में 18 से अधिक आयु के नागरिकों का प्रथम व द्वितीय डोज का कोविड वैक्सीनेशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले के वे नागरिक जिन्हें प्रथम वैक्सीनेशन के बाद 84 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे रविवार को वैक्सीनेशन करवाएं।
हनुमानगढ़, 09 जुलाई। कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों के मद्देनजर जिले में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर पीएसए प्लांट्स की स्थापान की जा रही है। व ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आपूर्ति भी की जा रही है। पीएसए प्लांट्स की समय से स्थापना व संचालन सुनिश्चित करने के लिए पीएसए प्लांट्स और आक्सीजन कंंसंट्रेटर्स की मॉनिटरिंग व निगरानी को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने तीन नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की है। जिला कलक्टर ने आदेश जारी कर डीआईजी स्टांप श्री कैलाश चंद शर्मा, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा और पीएमओ डॉ दीपक मित्र सैनी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। ये अधिकारी कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर में ऑक्सीजन की आपूर्ति हेतु जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर स्थापित किए जा रहे पीएसए प्लांट्स और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की मॉनिटरिंग और निगरानी सुनिश्चित करेंगे। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देशानुसार ये नियुक्ति की गई है। आदेश में जिला कलक्टर ने लिखा है कि तीनों अधिकारियों की कमेटी राज्य सरकार और भारत सरकार से प्राप्त पत्रों में दिए गए निर्देशों की पालना में कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें व की गई कार्यवाही से जिला कलक्टर को अवगत करवाएं।
नई दिल्ली। देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर से अभी पूरी तरह से मुक्त नहीं हुआ है। दूसरी लहर ने भारी तबाही मचाई है, इससे सबक लेते हुए सरकार ने महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां तेज कर दी हैं। दूसरी लहर में सबसे ज्यादा आक्सीजन का संकट देखने को मिला था, इसलिए इस जीवन रक्षक गैस की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। देश भर के 1500 आक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस पर नजर रख रहे हैं और शुक्रवार को उच्च स्तरीय बैठक में उन्होंने इसकी प्रगति की समीक्षा की और जल्द से जल्द इन प्लांट को चालू करने निर्देश दिया। आक्सीजन प्लांट की ऑनलाइन मानिटरिंग की तकनीक विकसित स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आक्सीजन प्लांट की ऑनलाइन मानिटरिंग की तकनीक विकसित की गई है और उसका परीक्षण भी कर लिया गया है। इससे अस्पतालों में लगने वाले आक्सीजन प्लांट पर एक केंद्रीय कंट्रोल रूम से नजर रखी जा सकेगी। प्रधानमंत्री ने सभी ऑक्सीजन प्लांट को इस तकनीक से जोड़ने का निर्देश दिया। अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लगाने का काम तेजी से चल रहा प्रधानमंत्री मोदी को अधिकारियों ने बताया कि देश के विभिन्न अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लगाने का काम तेजी से चल रहा है और कुल 1500 प्लांट लगाए जा रहे हैं। हालांकि, अभी तक बहुत कम प्लांट ही लग पाए हैं। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केवल पीएम-केयर्स फंड से लगने वाले प्लांट से चार लाख मरीजों को आक्सीजन मुहैया कराया जा सकेगा। दूसरी लहर जैसी न हो किल्लत इसके लिए उपायों को सुनिश्चित करने का पीएम ने दिया निर्देश ध्यान देने की बात है कि कोरोना की पहली लहर के दौरान भी पीएम-केयर फंड से अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लगाने के लिए धन दिए गए थे, लेकिन दूसरी लहर के आने के बाद पता चला कि इनमें अधिकतर प्लांट लगे ही नहीं थे। प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को साफ निर्देश दिया कि ऐसी गलती दोबारा नहीं होनी चाहिए और वे यह सुनिश्चित करें कि जल्द से जल्द ये प्लांट चालू हो जाएं। बता दें कि एक दिन पहले ही कैबिनेट मे फैसला लिया गया था कि 1050 आक्सीजन स्टोरेज टैंक भी तैयार होंगे। हर जिले में कम से कम एक ऐसे टैंक होंगे। 8000 युवा प्रशिक्षित किए जाएंगे समीक्षा बैठक में आक्सीजन प्लांट को चलाने के लिए प्रशिक्षित लोगों की कमी की भी बात उठी। अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को बताया कि पूरे देश में इसके लिए आठ हजार युवाओं को प्रशिक्षित करने की तैयारी है। प्रशिक्षण के लिए मॉड्यूल तैयार कर लिया गया है और राज्यों के साथ संपर्क कर युवाओं को प्रशिक्षित करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। जिला स्तर पर युवाओं का चयन करने का निर्देश प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को सुनिश्चित करने के लिए कहा कि प्रशिक्षण के लिए युवाओं का चुनाव जिला स्तर पर किया जाए, ताकि हर जिले में ऐसे प्लांट को चलाने व रखरखाव के लिए प्रशिक्षित युवा उपलब्ध हो सकें।
हनुमानगढ़, 08 जुलाई।जिले में मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना के अंतर्गत पात्रता रखने वालों को तत्काल सहायता की कवायद जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने गुरूवार को सभी उपखंड अधिकारियों को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना के पात्रता रखने वाले अनाथ बालक, बालिकाओं, विधवा महिला एवं उनके बच्चों को अनुदान, आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु सर्वे, चिन्हीकरण व कोरोना महामारी से हुई मृत्यु के प्रकरणों का प्रमाणीकरण कर 9 जुलाई की सायं तक जिला परिवीक्षा एवं समाज कल्याण अधिकारी को आवश्यक रूप से भिजवाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैें। ताकि पात्रता रखने वालों को तत्काल सहायता प्रदान की जा सकी। साथ ही पत्र में जिला कलक्टर ने जिला परिवीक्षा एवं समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया है कि वे ऐसे प्रकरणों में ततकाल आवश्यक कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें।
हनुमानगढ़, 08 जुलाई। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति की पहली बैठक जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की अध्यक्षता मे्ं हुई। कलेक्ट्रेट सभागार में हुई इस बैठक में जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति के सचिव और डीईओ माध्यमिक श्री हंसराज जाजेलवा ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर पावर पोइंट प्रजेंटेशन देते हुए राष्ट्रीय शिक्षा नीति का परिचय, विजन, मुख्य बातें, क्रियान्वयन, टाइमलाइन इत्यादि के बारे में जानकारी दी। बैठक के अंत में समिति के अध्यक्ष जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने शैक्षणिक गुणवत्ता व नामांकन वृद्धि हेतु सार्थक प्रयास करने और राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का ज्यादा से ज्यादा प्रचार प्रसार के लिए प्रेरित किया। इससे पहले बैठक में समिति के सचिव श्री हंसराज जाजेवाल ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का उद्देश्य शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के साथ शिक्षा में नवाचार और अनुसंधान को बढ़ावा देना तथा भारतीय शिक्षा प्रणाली को वैश्विक प्रतिस्पर्धा के योग्य बनाना है।इसके तहत वर्तमान में सक्रिय 10+2 के शैक्षिक माॅडल के स्थान पर शैक्षिक पाठ्यक्रम को 5+3+3+4 प्रणाली के आधार पर विभाजित किया गया है। इसमें 5 वर्ष का फाउंडेशन स्टेज, 3 वर्ष का प्रिप्रेटरी स्टेज, 3 वर्ष का मिडिल स्टेज और 4 वर्ष का सैकेडंरी स्टेज को शामिल किया गया है। श्री जाजेवाल ने बताया कि 5 वर्षीय फांउडेशन स्टेज में बच्चों को लचीली, बहुआयामी, खेल गतिविधि आधारित, साक्षरता और संख्यात्मक ज्ञान करवाया जाएगा। इसमें 3 से 6 वर्ष के बच्चे को आंगनबाड़ी केन्द्र पर प्री स्कूल हेतु, उसके बाद 6 से 8 वर्ष में कक्षा 1 और 2 की शिक्षा को शामिल किया गया है। इसी तरह 3 वर्षीय प्रिपेटरी स्टेज में बच्चों को कक्षा 3 से 5 ( आयुवर्ग 8 से 11) में संवादात्मक कक्षा शैली, शारीरिक शिक्षा, कला, भाषा, विज्ञान, गणित, पाठ्य पुस्तक आधारित शिक्षण होगा। इसके बाद मिडिल स्टेज के 3 वर्ष में कक्षा 6 से 8 ( आयुवर्ग 11 से 14 वर्ष) में विषय विशेषज्ञ द्वारा विज्ञान, गणित, कला, खेल, सामाजिक विज्ञान, मानविकी, व्यावसायिक विषयों में अमूर्त धारणाओं पर काम किया जाएगा। सैंकंडरी स्टेज के 4 वर्ष में कक्षा 9 से 12 वीं ( आयुवर्ग 14 से 18) को शामिल करते हुए बहुविषयक अध्ययन शामिल किया गया है साथ ही विषय चयन में लचीलापन रखा जाएगा। श्री जाजेवाल ने बताया कि नई शिक्षा नीति में कक्षा 6 से शैक्षिक पाठ्यक्रम में व्यावसायिक शिक्षा को शामिल किया गया है। इसी तरह नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत वर्ष 2021-22 तक विद्यालय शिक्षा व शिक्षक शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है। वर्ष 2022-23 तक शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय व्यावसायिक मानक का विकास करने का लक्ष्य है। वर्ष 2026-27 तक फाउंडेशनल लिटरेसी एण्ड न्यूमरेसी अन्तर्गत कक्षा 3 तक का प्रत्येक विद्यार्थी आधारभूत शिक्षा एवं संख्या ज्ञान प्राप्त कर सकेगा। इस संबन्ध में शिक्षा मंत्रालय द्वारा 5 जुलाई 2021 को निपुण भारत कार्यक्रम की शुरूआत हो चुकी है। समिति के सचिव ने बताया कि अब तक आरटीई के अंतर्गत 6 से 14 आयु वर्ग के बच्चों को निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का प्रावधान था जिसे 2030 तक 3 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों यानि प्री स्कूल से माध्यमिक स्तर तक 100 प्रतिशत नामांकन लक्ष्य प्राप्त करना है। नई शिक्षा नीति में विद्यार्थियों के बस्ते का बोझ कम किया जाएगा। विशेष आवश्यकता वाले मूक बधिर विद्यार्थियों के लिए भारतीय सांकेतिक भाषा मानकीकरण किया जाएगा। देशभर के 2 करोड़ ड्राॅप आउट विद्यार्थियों को मुख्य धारा में लाया जाएगा। इसके अलावा समग्र मूल्यांकन, जेण्डर असमानता दूर करना,संवेदनशीलता, समता, समावेशी शिक्षा, प्रतिभाशाली विद्यार्थियों पर विषेष ध्यान इत्यादि को भी नई शिक्षा नीति में शामिल किया गया है। श्री जाजेवाल ने बताया कि वन नेशन वन डिजिटल प्लेटफार्म के जरिए देशभर के शिक्षकों की क्षमता संवर्द्धन, स्कूल लीडरशिप, ऑनलाइन व डिजिटल शिक्षा के रिफ्रेशर कोर्स करवाए जाएंगे। नई शिक्षा नीति में प्रोद्योगिकी का भी शिक्षण कार्य में अधिकतम उपयोग में लिया जाएगा। बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के अलावा सीडीईओ श्री तेजा सिंह गदराना,महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी, समाज कल्याण अधिकारी श्री सुरेन्द्र पूनियां, डीईओ माध्यमिक श्री हंसराज जाजेवाल, डीईओ प्रारंभिक श्री रामेश्वर गोदारा, एपीसी श्री जितेन्द्र बटला, डाइट प्रिसिंपल श्री गौरीशंकर सहारण, तकनीकी सहयोगी श्री राजेन्द्र सैनी उपस्थित रहे। --
हनुमानगढ़, 08 जुलाई। बठिंडा से सूरतगढ़ के बीच अमरपुरा राठान के पास रेलवे ट्रैक नवीनीकरण कार्य के चलते आज ( 9 जुलाई को) शाम 4 से 6 बजे तक इस रूट से परिवहन पूर्णतया बंद रहेगा। लिहाजा यातायात डायवर्ट करते हुए आवागमन को सुचारू एवं व्यवस्थित किया जाएगा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने जिला पुलिस अधीक्षक, एसडीएम पीलीबंगा, डीटीओ हनुमानगढ़, राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम और पीलीबंगा पंचायत समिति के विकास अधिकारी को पत्र लिखा है कि सहायक मंडल इंजीनियर प्रथम उत्तर पश्चिम रेलवे हनुमानगढ़ द्वारा सूचित कर निवेदन किया है कि बठिंडा से सूरतगढ़ के बीच अमरपुरा राठान के पास रेलवे ट्रैक नवीनीकरण कार्य के चलते 9 जुलाई को शाम 4 से 6 बजे तक इस रूट से परिवहन पूर्णतया बंद रहेगा। अत पुलिस व स्थानीय प्रशासन को यातायात व्यवस्था सुचारू रखने हेतु निर्देशित करने का कष्ट करें। लिहाजा सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया जाता है कि आप सभी अधिकारीगण 9 जुलाई को सूचित समय के अनुसार यातायात डायवर्ट करते हुए आवागमन को सुचारू व व्यवस्थित करवाया जाना सुनिश्चित करें। इसके लिए एसडीएम पीलीबंगा स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ मौका निरीक्षण कर कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखते हुए यातायात व्यवस्था सुचारू रखा जाना सुनिश्चित करेें।
हनुमानगढ़, 08 जुलाई। कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री दानाराम गोदारा ने फसल बीमा कंपनी एग्रीकल्चर इंशोरेंस कंपनी ऑफ इंडिया के मुख्य प्रबंधक को पत्र लिखकर अवगत करवाया है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना-खरीफ 2021 के अंतर्गत 05 जुलाई तक कुल 10818 किसानों ने राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल पर फसल बीमा दस्तावेज अपलोड किए हैं। जिनमें से करीब 8448 कृषकों के दस्तावेज सीएससी ( कॉमन सर्विस सेंटर) के जरिए अपलोड हुए हैं। श्री गोदारा ने पत्र में लिखा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि सीएससी के माध्यम से गैर ऋणी व बटाईदार कृषकों का राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल पर अपलोड दस्तावेजों में 28 जून 2021 को जारी संशोधित अधिसूचना के दोनों नए प्रावधानों की पालना नहीं हुई है। लिहाजा आपकी कंपनी के द्वारा बाद में दस्तावेजों को अपूर्ण मानकर उक्त आवेदनों को निरस्त किए जाने की प्रबल संभावना है। अगर इतनी बड़ी संख्या में योजना के पात्र कृषकों के आवेदनों को निरस्त किया जाता है तो कृषकों द्वारा रोष व्यक्त कर धरना प्रदर्शन करने की संभावना रहती है। पत्र में श्री गोदारा ने लिखा है कि इस संबध में जिला कलक्टर ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लेकर हाल ही में आयोजित की गई बैठक में आपकी कंपनी के जिला प्रबंधक श्री राजेश कुमार को स्पष्ट निर्देश दिये हैं कि फसल बीमा कंपनी समय रहते उक्त सीएससी के माध्यम से गैर ऋणी कृषकों के राष्ट्रीय पोर्टल पर हुए आवेदनों की सघनता से जांच कर पुष्ठि कर लें कि आवेदन विधिवत सही है या नहीं। अगर दस्तावेजों में कोई कमी पायी जाती है तो जिला स्तर पर संज्ञान में लाकर पाई गयी कमी को दुरस्त करवाया जाए। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लेकर 28 जून 2021 को जारी संशोधित अधिसूचना में खरीफ 2021 के अंतर्गत किए जाने वाले फसल बीमा में इस बार प्रावधान किया गया है कि गैर ऋणी व बटाईदार कृषकों को कृषि भूमि जमाबंदी संबंधित पटवारी या गिरदावर या तहसीलदार में से किसी एक से सत्यापित करवाना अनिवार्य होगा। साथ ही राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल पर अपलोड करने से पहले सभी दस्तावेजों की जांच स्थानीय कमेटी से करवाया जाना अनिवार्य है। स्थानीय कमेटी में राजस्व विभाग के पटवारी या गिरदावर, कृषि विभाग के सहायक कृषि अधिकारी या कृषि पर्यवेक्षक और बीमा कंपनी के प्रतिनिधि को शामिल किया गया है। खरीफ 2021 में अधिसूचित फसल- कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री दानाराम गोदारा ने बताया कि हनुमानगढ़ जिले में खरीफ 2021 की फसल में बाजरा, कपास, मूंगफली, ग्वार, मूंग, मोठ, धान व तिल को अधिसूचित किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत हनुमानगढ़ जिले में एग्रीकल्चर इन्श्योरेंश कम्पनी आफ इण्डिया लिमिटेड को फसल बीमा के लिए अधिकृत किया गया है। खरीफ 2021 हेतु विभिन्न फसलों की प्रीमियम हिस्सा राशि कृषि विभाग के उपनिदेशक श्रीा दानाराम गोदारा ने बताया कि हनुमानगढ़ जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना- खरीफ 2021 के अंतर्गत कृषकों की ओर से दी जाने वाली प्रीमियम राशि में बाजरा के लिए 342.98 रूपए, कपास के लिए 1649.80 रूपए, मूंगफली के लिए 2100.50रू, ग्वार के लिए 433.50 रू, मूंग के लिए 771.78रू., मोठ के लिए 404.70रू, धान के लिए 1423.86 रू, तिल के लिए 435.06 रूपए प्रति हैक्टेयर निर्धारित की गई है। 31 जुलाई तक करवा सकेंगे फसल बीमा- श्री गोदारा ने बताया कि जिले में ऋणी कृषक, गैर ऋणी कृषक एवं बटाईदार कृषक स्वैच्छिक आधार पर दिनांक 31 जुलाई 2021 तक करवा सकते हैं। इसमें ऋणी कृषक संंबंधित बैंक से और गैर ऋणी व बंटाईदार कृषक अपना फसल बीमा नजदीकी बैंक शाखा, सीएससी( कॉमन सर्विस सेंटर) या बीमा कंपनी एंजेन्ट के माध्यम से करवा सकते हैं। ऋणी कृषक को अगर बीमा नहीं करवाना है तो 7 दिन पहले सूचना देनी होगी श्री गोदारा ने बताया कि अधिसूचना अनुसार यदि ऋणी कृषकों को खरीफ 2021 हेतु फसल बीमा नहीं करवाना है तो 31 जुलाई 2021 से सात दिवस पूर्व यानि 24 जुलाई 2020 तक कृषक को वित्तीय संस्थान में योजना से पृथक रहने के लिए इस बाबत अपना घोषणा पत्र ( प्रारूप संबधित बैंक शाखा में उपलब्ध) अनिवार्य रूप से भरकर जमा कराना होगा। यदि यह घोषणा पत्र निर्धारित दिनांक तक जमा नहीं कराया जाता है तो संबंधित बैंक के द्वारा दिए गये फसली ऋण के अनुसार अनिवार्य रूप से फसल बीमा कर दिया जाएगा। यदि कोई किसान पूर्व में योजना से अलग हुआ है और अब वापस फसल बीमा योजना में जुड़ना चाहता है तो उसे संबंधित घोषणा पत्र ( प्रारूप संबधित बैंक शाखा में उपलब्ध) अनिवार्य रूप से भरकर जमा कराना होगा। साथ ही संबधित बैंक/संस्था को अपना आधार क्रमांक अथवा आधार नामांकन संख्या, कृषक द्वारा बुवाई की गयी फसल का विवरण आदि अनिवार्य रूप से उपलब्ध करवाना होगा। गैर ऋणी कृषक को फसल बीमा करवाने हेतु जरूरी दस्तावेज गैर ऋणी कृषक को फसल बीमा करवाने के लिए जो दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे उन में बीमा हेतु प्रास्तावित क्षेत्रफल में बाई गयी/बाई जाने वाली फसल के खसरा नम्बरों की नवीनतम जमाबंदी पटवारी या गिरदावर या तहसीलदार द्वारा सत्यापित प्रति देनी होगी। इसके अलावा एक स्वंय प्रमाणित घोषणा पत्र जिसमें प्रत्येक खसरा संख्या का कुल क्षेत्र, प्रस्तावित फसल बुवाई का क्षेत्र, मालिक का नाम एंव बीमा हित का प्रकार(स्वंय, परिवार अथवा बंटाई) जमा करवाना होगा। इसके अलावा बैंक खाते की पास बुक की प्रति देनी होगी। बंटाईदार को फसल बीमा हेतु जमा करवाए जाने वाले दस्तावेज- श्री गोदारा ने बताया कि भूमि बंटाई पर होने की दशा में गैर ऋणी कृषक द्वारा प्रस्तुत करने वाले दस्तावेजों के अलावा कुछ अतिरिक्त दस्तावेज देने होंगेे जिनमें संबधित खातेदार से प्राप्त शपथ पत्र की कॉपी देनी होगी कि उस खातेदार ने जमीन बंटाई पर दी है। इसमें कृषि भूमि का विवरण भी होगा। इसके अलावा बंटाई कृषक के राजस्थान के मूल निवास की प्रति (बंटाईदार कृषक जिस जिले में स्वयं रहता है, उसी जिले की परिधि क्षेत्र में बंटाई की भूमि मान्य होगी) और जिस कृषक से जमीन बंटाई पर ली गई है उस कृषक का तथा बंटाईदार स्वयं दोनों कृषकों का स्वयं द्वारा सत्यापित आधार कार्ड की प्रति संलग्न करनी होगी। खास बात ये कि इस बार गैर ऋणी और बंटाईदार कृषकों की कृषि भूमि जमाबंदी संबंधित पटवारी या गिरदावर या तहसीलदार से सत्यापित करवानी अनिवार्य होगी और राष्ट्रीय फसल बीमा योजना पोर्टल पर समस्त दस्तावेज अपलोड करने से पहले इसे स्थानीय कमेटी से जांच करवाया जाना भी अनिवार्य किया गया है। फसल बीमा कंपनी की ओर से प्रशिक्षण कार्यशाला जिला कलक्टर के निर्देशानुसार बीमा कंपनी की ओऱ से तहसीलवाइज बैंकर्स, कृषि व राजस्व विभाग के कार्मिक आदि का प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। अब तक रावतसर, नोहर, भादरा और हनुमानगढ़ जंक्शन में ये प्रशिक्षण हो चुका है। अब ये प्रशिक्षण कार्यशाला पीलीबंगा में 9 जुलाई, संगरिया में 12 जुलाई और टिब्बी में 13 जुलाई को संबंधित पंचायत समिति में सुबह 11 बजे से आयोजित की जाएगी। इसके अलावा फसल बीमा कंपनी की ओर से योजना के अधिकाधिक प्रचार प्रसार के लिए 7 प्रचार-प्रसार वैन के जरिए 1 से 25 जुलाई तक गांव-गांव, ढाणी-ढाणी तक किया जा रहा है।
हनुमानगढ़। जिले में शुक्रवार 9 जुलाई को 18 से अधिक आयु के नागरिकों को कोविशील्ड की दूसरी डोज का कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को निदेशालय से कोविशील्ड की 6850 डोज बीकानेर से प्राप्त हुई, जो खण्ड स्तर पर वितरित करवा दी गई। शुक्रवार को जिले के 48 टीकाकरण केन्द्रों पर 18 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों को कोविड-19 वैक्सीन की द्वितीय (बूस्टर) डोज लगाई जाएगी। जिले के वे नागरिक जिन्हें कोविशील्ड लगवाए को 84 अथवा इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे कल आवश्यक रूप से कोविड-19 वैक्सीनेशन करवाएं।
हनुमानगढ़, 07 जुलाई। अधिकारीगण घमंड को ताक पर रखकर लोकल भाषा में आमजन की परिवेदनाओं का शीघ्र निस्तारण करें।कम्युनिकेशन गैप भी ना रहे। साथ ही आमजन के मन में अधिकारियों के प्रति प्रशेप्सन इस तरह का होना चाहिए कि साहब हमारे हैं हमारे हित के हैं , कोई इगो नहीं है। ये कहना है संभागीय आयुक्त श्री बीएल मेहरा का। जो बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व, भारतमाला प्रोजेक्ट, कोविड समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर संबंधित अधिकारियों की समीक्षा बैठक ले रहे थे। श्री मेहरा ने कहा कि आरपीएससी से चनयित होने के बाद आपको जनता की सेवा का मौका मिला है। जिनकी कोई नहीं सुनता उनकी आप सुनिए। साथ ही जनप्रतिनिधियों को भी सम्मान दें। कोई जनप्रतिनिधि आता है और नियमानुसार कार्य नहीं हो सकता तो उन्हें अपने पास बिठाकर नम्रता से बताएं। साथ ही उन्हें संबंधित कार्य के प्रति गाइड भी कर दें। सरकार के गुड गवर्नेंस का मैसेज आमजन और जनप्रतिनिधियों में जाना चाहिए। बैठक में संभागीय आयुक्त ने 60 दिन की ऐतिहासिक नहरबंदी को लेकर कहा कि इस दौरान जिले मेें पीएचईडी, सिंचाई विभाग और जिला प्रशासन ने बेहतरीन समन्वय से बहुत ही अच्छा कार्य किया। आगे भी इस समन्यव को बनाए रखें। साथ ही उन्होनेे कोरोना की दूसरी लहर के दौरान सीएमएचओ और पीएमओ की पूरी टीम के द्वारा किए गए बेहतरीन कार्य को लेकर प्रशंसा की। संभागीय आयुक्त ने कहा कि जिले में एक भी सरकारी कार्यालय प्राइवेट जगह पर नहीं चलना चाहिए। कार्यालय को लेकर जिनको भूमि चाहिए वे भूमि आवंटन के प्रस्ताव जल्द से जल्द संबंधित एसडीएम को भिजवाएं। बैठक में उन्होने मुख्यंमत्री बजट घोषणाओं को भी संबंधित विभागों के द्वारा जल्द पूरा करने के निर्देश दिए गए। भारतमाला प्रोजेक्ट को लेकर भूमि अधिग्रहण जल्द करने के निर्देश बैठक में सबसे पहले भारतमाला प्रोजेक्ट की समीक्षा करते हुए संभागीय आयुक्त ने सभी संबंधित एसडीएम से अब तक की प्रगति रिपोर्ट लेते हुए कहा कि जितनी जमीन का कब्जा एनएचएआई को दिया जा सकता है उसे जल्द से जल्द पर्याप्त पुलिस जाप्ते का सहयोग लेते हुए दे दें। पीलीबंगा और टिब्बी एसडीएम के द्वारा अब तक एक भी म्यूटेशन नहीं करने को लेकर संभागीय आयुक्त ने नाराजगी जाहिर की। साथ ही जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को जमीन अधिग्रहण मामलों में लोगों की समस्याओं को दूर करते हुए प्रशासन का सहयोग करने के निर्देश दिए। सरकारी कार्यालयों के लिए जल्द करें जमीन आवंटन सरकार की बजट घोषणानुसार जो कार्यालय सरकारी भूमि पर नहीं चल रहे उन्हें भूमि का आवंटन किया जाना है लिहाजा संबंधित अधिकारीगण भूमि आवंटन का प्रस्ताव बनाकर संबंधित एसडीएम के पास भेजें। गांवों में अगर चिकित्सा विभाग का सब सेंटर बनाना है तो गांव की आबादी भूमि में ही इसे बनाना सुनिश्चित करें और इसको लेकर संबंधित बीडीओ के जरिए प्रस्ताव भेजें। श्री मेहरा ने कहा कि कोई भी सरकारी कार्यालय बिना सरकारी भूमि के नहीं चलना चाहिए। कोविड से मृत्यु मामलों में मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना का लाभ दिलवाएं- बैठक में श्री मेहरा ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान जो बच्चे अनाथ हो गए हैं या कोई महिला विधवा हो गई है तो ऐसे मामलों में संवेदनशीलता के साथ मुख्यमंत्री कोरोना सहायता योजना का लाभ दिलाएं। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बताया कि जिले में इसको लेकर एक कमेटी का गठन कर दिया गया है। ऐसे मामलों की पहचान कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को सरकार की योजना का लाभ दिया जाएगा। कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए बच्चों के लिए चिकित्सालयों में विशेष तैयारी रखें बैठक में श्री मेहरा ने कोरोना की पहली और दूसरी लहर के दौरान हुई मृत्यु समेत कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर अब तक की तैयारियों को लेकर समीक्षा करते हुए कहा कि चिकित्सालयों में बच्चों के लिए विशेष व्यवस्था रखें। साथ ही कहा कि जिले में कहीं भी झोलाछाप डॉक्टर नहीं होने चाहिए। सीएमएचओ ने बैठक में कोरोना की अब तक की पूरी रिपोर्ट प्रस्तुत की। जल जीवन मिशन के अंतर्गत एक भी स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र, स्वास्थ्य केन्द्र और ग्राम पंचायत भवन बिना कनेक्शन ना बचे पीएचईडी की जल जीवन मिशन की समीक्षा करते हुए संभागीय आयुक्त ने कहा कि जिले में एक भी स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र, स्वास्थ्य केन्द्र और ग्राम पंचायत भवन नल के कनेक्शन से नहीं बचना चाहिए। जमीन से संबंधित मामले पेंडिंग ना रहे राजस्व से संबंधित मामलों की समीक्षा करते हुए संभागीय आयुक्त ने कहा कि जमीन से संबंधित मामले राजस्व अधिकारियों के पास पेंडिंग नहीं रहने चाहिए। अगर कार्य नहीं हो सकता तो साफ मना कर दें और हो सकता है तो उसे जल्द से जल्द कर दें। लैंड कनवर्जन और लैंड अलोटमेंट के मामले अच्छे से देख परख कर करें। बैठक में श्री मेहरा ने कहा कि जिले में कहीं भी बसों की छत पर कोई यात्री सवारी ना करे। बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में कहीं भी बिजली के तार ढीले ना हों। मानसून को देखते हुए कलेक्ट्रेट में बाढ़ नियंत्रण कक्ष के बेहतरीन कार्य करने और सिविल डिफेंस की टीम को तैयारी के साथ रखने के निर्देश दिए। बैठक में उन्होने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, मनरेगा इत्यादि की भी समीक्षा की। बैठक के अंत में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कहा कि बैठक में जो भी निर्देश संभागीय आयुक्त महोदय के द्वारा दिए गए हैं उनकी पालना सभी संबंधित विभागों के द्वारा संवेदनशीलता के साथ सुनिश्चित की जाएगी। बैठक में ये रहे उपस्थित - बैठक में संभागीय आयुक्त श्री बीएल मेहरा के अलावा जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, एडीएम हनुमानगढ़ श्री अशोक असीजा, एडीएम नोहर श्री गुंजन सोनी, सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता श्री विनोद मित्तल, सीईओ जिला परिषद डॉ अवि गर्ग, सभी एसडीएम, नगर परिषद कमीश्नर श्रीमती पूजा शर्मा, एसई पीएचईडी श्री पीसी मिढ्ढा, एसई बिजली श्री मांगीलाल बिश्नोई, एसई पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, पीएमओ डॉ दीपक मित्र सैनी, एसई सिंचाई विभाग श्री देवीसिंह बेनीवाल, समाज कल्याण अधिकारी श्री सुरेन्द्र पूनियां, नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल, कलेक्ट्रेट के कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहन सोखल इत्यादि मौजूद रहे।
हनुमानगढ़, 07 जुलाई। बठिंडा से सूरतगढ़ के बीच अमरपुरा राठान के पास रेलवे ट्रैक नवीनीकरण कार्य के चलते 9 जुलाई को शाम 4 से 6 बजे तक इस रूट से परिवहन पूर्णतया बंद रहेगा। लिहाजा यातायात डायवर्ट करते हुए आवागमन को सुचारू एवं व्यवस्थित किया जाएगा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने जिला पुलिस अधीक्षक, एसडीएम पीलीबंगा, डीटीओ हनुमानगढ़, राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम और पीलीबंगा पंचायत समिति के विकास अधिकारी को पत्र लिखा है कि सहायक मंडल इंजीनियर प्रथम उत्तर पश्चिम रेलवे हनुमानगढ़ द्वारा सूचित कर निवेदन किया है कि बठिंडा से सूरतगढ़ के बीच अमरपुरा राठान के पास रेलवे ट्रैक नवीनीकरण कार्य के चलते 9 जुलाई को शाम 4 से 6 बजे तक इस रूट से परिवहन पूर्णतया बंद रहेगा। अत पुलिस व स्थानीय प्रशासन को यातायात व्यवस्था सुचारू रखने हेतु निर्देशित करने का कष्ट करें। लिहाजा सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया जाता है कि आप सभी अधिकारीगण 9 जुलाई को सूचित समय के अनुसार यातायात डायवर्ट करते हुए आवागमन को सुचारू व व्यवस्थित करवाया जाना सुनिश्चित करें। इसके लिए एसडीएम पीलीबंगा स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ मौका निरीक्षण कर कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखते हुए यातायात व्यवस्था सुचारू रखा जाना सुनिश्चित करेें।
हनुमानगढ़, 07 जुलाई। अलवर के बहरोड़ में लगे उपखंड अधिकारी श्री संतोष कुमार मीणा के साथ बहरोड़ विधायक के द्वारा किए गए कथित दुर्व्यवहार मामले में राजस्थान प्रशासनिक सेवा परिषद जिला इकाई हनुमानगढ़ ने जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को माननीय मुख्यमंत्री के प्रमुख शासन सचिव के नाम ज्ञापन दिया। इस अवसर पर ज्ञापन देने वाले आरएएस अधिकारियों में एडीएम हनुमानगढ़ श्री अशोक असीजा, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, एसडीएम पीलीबंगा सुश्री प्रियंका, टिब्बी एसडीएम श्री मांगीलाल शामिल रहे। ज्ञापन में माननीय मुख्यमंत्री के प्रमुख शासन सचिव को संबोधित करते हुए लिखा गया है कि बहरोड़ एसडीएम श्री संतोष कुमार मीणा के साथ हुए दुर्व्यवहार मामले में राजस्थान प्रशासनिक सेवा इकाई हनुमानगढ़ के समस्त पदाधिकारियों में काफी रोष है। अत श्रीमान जी से अनुरोध है कि उक्त घटना पर संज्ञान लेते हुए उचित कार्यवााही करने का श्रम करें।
हनुमानगढ, 07 जुलाई। प्रशासनिक सुधार एवं समन्वय विभाग (अनुभाग-1) राजस्थान जयपुर के संयुक्त शासन सचिव से प्राप्त निर्देशानुसार हनुमानगढ जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने एक आदेश जारी कर सांसदों और विधायकों से प्राप्त पत्रों की पावती भिजवाये जाने के लिए जिला एवं विभागीय स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किये हैं। जिला कलेक्टर द्वारा जारी आदेशानुसार विभाग स्तरीय नोडल अधिकारी अपने अधीन समस्त कार्यालयों से प्राप्त सूचना की पूरी रिपोर्ट प्रत्येक माह की 5 तारीख तक जिला स्तरीय नोडल अधिकारी को भेजेंगे। इसके बाद जिला स्तरीय नोडल अधिकारी इस सूचना को प्रत्येक माह की 10 तारीख तक मासिक विवरण तैयार कर प्रशासनिक सुधार एवं समन्वय विभाग (अनुभाग-1), राजस्थान जयपुर को प्रेषित करेंगे। लोक सेवाओं के सहायक निदेशक श्री ऋषभ जैन को जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसके अलावा विभाग स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं। विभाग स्तर पर नियुक्त नोडल अधिकारियों में पुलिस विभाग में जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन को, अतिरिक्त जिला कलक्टर, हनुमानगढ़ श्री अशोक असीजा को राजस्व, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जिला परिषद् डॉ अवि गर्ग को पंचायती राज, मुख्य अभियन्ता, जल संसाधन वृत हनुमानगढ़ श्री विनोद मित्तल को जल संसाधन, उपवन संरक्षक श्री करण सिंह काजला को वन, सहायक निदेशक, अभियोजन श्री ओमप्रकाश को अभियोजन (गृह), नगरपरिषद आयुक्त श्रीमती पूजा शर्मा को स्वायत्त शासन, कोषाधिकारी श्री सुनील ढाका को कोष एवं लेखा, जिला रसद अधिकारी श्री राकेश कुमार न्योल को रसद, अधीक्षण अभियन्ता, जन स्वास्थ्य अभियान्त्रिकी विभाग श्री पी.सी. मिढ्ढा को जन स्वास्थ्य अभियान्त्रिकी, अधीक्षण अभियंता, जोधपुर डिस्कॉम श्री मांगेराम बिश्नोई को विद्युत, अधीक्षण अभियन्ता, सार्वजनिक निर्माण विभाग, श्री गुरनाम सिंह को सार्वजनिक निर्माण विभाग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी श्री नवनीत शर्मा को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, उपनिदेशक, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग,श्री योगेन्द्र कुमार को सूचना प्रौद्यो. एवं संचार, जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई को सूचना एवं जनसम्पर्क, जिला परिवहन अधिकारी श्री जगदीश अमरावत को परिवहन, प्रबन्धक, लीडबैक श्री राजकुमार को बैकिंग, जिला श्रम कल्याण अधिकारी श्री अमरचन्द लहरी को श्रम, जिला आबकारी अधिकारी श्री चिमनलाल को आबकारी, जिला खेल अधिकारी श्री सीताराम को खेल, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी श्री अमरसिंह ढाका को अल्पसंख्यक, सहायक खनि अभियन्ता श्री सुरेश अग्रवाल को खान एवं भू विज्ञान का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसी प्रकार एमडी डेयरी श्री पी.के. गोयल को डेयरी, सहायक निदेशक श्री विनोद गोदारा सांख्यिकी, मुख्य आयोजना अधिकारी, श्री विनोद गोदारा को आयोजना, जिला सूचना एंव विज्ञान अधिकारी श्री शैलेन्द्र कुमार को सूचना एवं विज्ञान, क्षेत्रीय प्रबन्धक, रीको, श्री अमिताभ जोशी को रीको, मुख्य प्रबन्धक, राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम श्री रणवीर पूनियां को राजस्थान राज्य पथ परि. निगम, सहायक आयुक्त, देवस्थान विभाग श्री जतिन कुमार गांधी को देवस्थान, उपनिदेशक श्री सुरेन्द्र जोशी को आयुर्वेद, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी श्री तेजा सिंह गदराना को शिक्षा, जिला परिवीक्षा एवं समाज कल्याण अधिकारी श्री सुरेन्द्र पूनियां को समाज कल्याण, उपनिदेशक, कृषि विभाग श्री दानाराम गोदारा को कृषि, उप रजिस्ट्रार सहकारी समितियां श्री दीपक कुक्कड को सहकारी समितियां, संयुक्त निदेशक, पशुपालन विभाग श्री हरीश गुप्ता को पशुपालन, उपनिदेशक, कृषि विपणन बोर्ड, श्री सुभाष सहारण कृषि विपणन, सहायक निदेशक, उद्यान विभाग श्री दानाराम को उद्यान, उपनिदेशक, महिला एवं बाल विकास विभाग श्री प्रवेश सोलकीं को महिला एवं बाल विकास, सहायक निदेशक, महिला अधिकारिता विभाग श्री प्रवेश सोलंकी को महिला अधिकारिता, महाप्रबन्धक, जिला उद्योग केन्द्र श्रीमती आकाशदीप को उद्योग, जिला रोजगार अधिकारी श्री श्रेष्ठ दीक्षित को रोजगार, डिप्टी कमिश्नर, वाणिज्यिक कर विभाग श्री विश्वनाथ कौशिक को वाणिज्यिक, आवासीय अभियन्ता, राजस्थान आवासन मण्डल श्री चन्द्र मोहन सहारण को आवासन मण्डल विभाग का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।
हनुमानगढ़। निदेशालय से हनुमानगढ़ जिले को कोविशील्ड की 6850 डोज की सूचना प्राप्त हुई है, जिसके लिए जिला स्तर से वाहन गुरुवार को डोज लेने के लिए बीकानेर जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने जानकारी दी कि जिले को कोविशील्ड की 6850 डोज की सूचना निदेशालय से प्राप्त हुई है। गुरुवार प्रात: वैक्सीन लेने के लिए वाहन बीकानेर के लिए रवाना होगा, जो गुरुवार सायं वापिस हनुमानगढ़ आएगा। वैक्सीन को गुरुवार को ही खण्ड स्तर पर वितरित कर दिया जाएगा। डॉ. विक्रमसिंह ने बताया शुक्रवार 9 जुलाई को टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 वैक्सीनेशन किया जाएगा। टीकाकरण केन्द्रों की सूचना स्वास्थ्य विभाग हनुमानगढ़ के फेसबुक पेज 'आईईसी हैल्थ डिपार्टमेण्ट, हनुमानगढ़Ó पर दे दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह शुक्रवार को 18 से अधिक आयु के नागरिकों का कोविड वैक्सीनेशन किया जाएगा। इसमें द्वितीय डोज वाले नागरिकों को प्राथमिकता दी जाएगी।
हनमानगढ़। विशेष योग्यजनों को दिव्यांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए पहले हनुमानगढ़ स्थित एमजीएम जिला अस्पताल में जाना पड़ता था। अब यह दिव्यांग प्रमाण पत्र नोहर सीएचसी में प्रत्येक सोमवार व गुरुवार को बनाएं जाएंगे। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि नोहर व भादरा तहसील क्षेत्र के विशेष योग्यजनों एवं उनके परिजनों को दिव्यांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए हनुमानगढ़ स्थित एमजीएम जिला अस्पताल में जाना पड़ता था। अब प्रत्येक सोमवार व गुरुवार सीएचसी नोहर में दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाएं जाएंगे। नोहर सीएचसी में मेडिकल बोर्ड की गठन कर दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाने के निर्देश मंगलवार 6 जून को जारी किए गए। उन्होंने बताया कि अब नोहर व भादरा तहसील क्षेत्र के नागरिकों को दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाने के लिए हनुमानगढ़ नहीं आना पड़ेगा।
मुख्यमंत्री का महत्वपूर्ण निर्णय-3000 करोड़ रुपये के कर्मचारी कल्याण कोष के गठन को मंजूरी हनुमानगढ़/जयपुर, 6 जुलाई। राज्य सरकार के कार्यरत और सेवानिवृत कार्मिकों के हितार्थ विभिन्न योजनाओं के संचालन के लिए 3 हजार करोड़ रुपये की राशि से कर्मचारी कल्याण कोष का गठन होगा। इस कोष से कर्मचारियों के लिए स्वास्थ्य बीमा, आवास, उच्च अध्ययन तथा वाहन ऋण एवं बच्चों के लिए छात्रवृति सहित कर्मचारी कल्याण के लिए अन्य योजनाएं संचालित की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने राज्य बजट 2021-22 की बजट घोषणा की क्रियान्विति के क्रम में कर्मचारी कल्याण कोष के गठन के लिए वित्त विभाग के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है। प्रस्ताव के अनुसार, इस कोष का संचालन निदेशक, बीमा विभाग द्वारा किया जाएगा। इसके लिए नया बजट मद खोला जाएगा तथा कोष के तहत योजनाओं की स्वीकृति की प्रक्रिया पृथक से निर्धारित की जाएगी। श्री गहलोत द्वारा स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार, इस कोष के माध्यम से राज्य में सेवारत तथा सेवानिवृत कर्मियों के कल्याण के लिए जिन नई योजनाओं को लागू किया जाएगा, इनमें राजस्थान सरकार स्वास्थ्य योजना (आरजीएचएस) में अंशदान, आवास ऋण, उच्च अध्ययन के लिए ऋण, व्यक्तिगत ऋण, वाहन ऋण, कामकाजी महिलाओं के लिए कार्यालयों में क्रेच तथा अल्प वेतन भोगी कार्मिकों के बच्चों के लिए प्रतिभावान छात्रवृति योजना शामिल हैं। कर्मचारी कल्याण कोष का उद्देश्य कर्मचारी कल्याण और सामाजिक सहायता के साथ-साथ राजकार्य का बेहतर निष्पादन भी है। ऎसे में, राज्य सरकार इस कोष के माध्यम से कर्मचारी कल्याण के लिए भविष्य में आवश्यकतानुसार अन्य अतिरिक्त सेवाएं भी सशुल्क अथवा निःशुल्क उपलब्ध करवा सकती है। उल्लेखनीय है कि राज्य कार्मिकों एवं पेंशनरों को राजकीय अस्पतालों के साथ-साथ अनुमोदित निजी चिकित्सालयों में बेहतर एवं गुणवत्तापूर्वक विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाएं कैशलेस उपलब्ध करवाने के लिए आरजीएचएस योजना शुरू की गई है। इस योजना के लिए राज्य सरकार के अंशदान का वित्तपोषण निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार इस कोष से किया जा सकेगा। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार के कर्मचारियों को इस कोष के माध्यम से 15 लाख रुपये की अधिकतम सीमा तक 10 वर्ष तक की अवधि के लिए आवास ऋणय पुत्र-पुत्री अथवा आश्रित के लिए देश-विदेश में उच्च अध्ययन के लिए 5 लाख रुपये की अधिकतम सीमा तक 5 वर्ष तक की अवधि के लिए उच्च अध्ययन ऋणय आकस्मिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए 3 लाख रुपये की अधिकतम सीमा तक 5 वर्ष तक की अवधि के लिए व्यक्तिगत ऋण और 5 लाख रुपये की अधिकतम सीमा तक 5 वर्ष तक की अवधि के लिए वाहन ऋण आदि उपलब्ध कराए जाएंगे।
हनुमानगढ़, 06 जुलाई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने आदेश जारी कर जिले में जारी शस्त्र अनुज्ञापत्रों पर दर्ज शस्त्रों का भौतिक सत्यापन करने हेतु कार्यक्रम निर्धारित किया है। जारी आदेशानुसार सभी उपखंडों में शस्त्र अनुज्ञापत्रों पर दर्ज शस्त्रों का भौतिक सत्यापन संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट के निर्देशन में संबंधित तहसील के पंचायत समिति हॉल में प्रातः 9ः30 बजे से सायं 6ः00 बजे तक किया जाएगा। भौतिक सत्यापन की तारीख अलग अलग तहसीलों में अलग अलग रखी गई है। जारी आदेशानुसार भादरा में 8 जुलाई से 10 जुलाई तक, नोहर में 13 से 15 जुलाई, रावतसर में 19 और 20 जुलाई, टिब्बी में 22 से 24 जुलाई, संगरिया में 26 से 29 जुलाई, पीलीबंगा में 30 जुलाई से 1 अगस्त, हनुमानगढ़ में 02 अगस्त से 06 अगस्त तक संबंधित उपखंड कार्यालयों में सुबह 9.30 बजे से शाम 6 बजे तक शस्त्र अनुज्ञापत्रों पर दर्ज शस्त्रों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। जिला कलक्टर ने सभी उपखंड अधिकारियों की निर्देशित किया है कि वे नियत दिनांक से पहले संबंधित पंचायत समिति के हॉल में एक कंप्यूटर मय सूचना सहायक व एक कनिष्ठ सहायक या वरिष्ठ सहायक की ड्यूटी भी इस कार्य में सहयोग हेतु लगाया जाना सुनिश्चित करें। न्याय शाखा के श्री सुरेन्द्र कुमार कोे निर्देशित किया गया है कि वे मौके पर उपस्थित रहकर भौतिक सत्यापन से संबंधित समस्त कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। आदेश में बताया गया है कि भादरा तहसील में भादरा थाने के अंतर्गत 423 और भिराना थाना के अंतर्गत 124 शस्त्र अनुज्ञापत्र धारी हैं। वहीं नोहर तहसील के पुलिस थाना नोहर के अंतर्गत कुल 515, पुलिस थाना खुईयां व पुलिस थाना गोगामेड़ी के अंतर्गत कुल 47, रावतसर तहसील के पुलिस थाना रावतसर के अंतर्गत कुल 596 व पुलिस थाना पल्लू के अंतर्गत कुल 28, टिब्बी तहसील के पुलिस थाना टिब्बी के अंतर्गत कुल 927 व पुलिस थाना तलवाड़ा के अंतर्गत कुल 104, संगरिया तहसील के पुलिस थाना संगरिया के अंतर्गत कुल 1088, पीलीबंगा तहसील के पुलिस थाना पीलीबंगा के अंतर्गत कुल 667 व पुलिस थाना गोलूवाला के अंतर्गत कुल 338, हनुमानगढ़ तहसील के अंतर्गत पुलिस थाना जंक्शन के अंतर्गत 867, टाउन के अंतर्गत 793 और सदर थाने के अंतर्गत 867 शस्त्र अनुज्ञापत्र धारी हैं।
हनुमानगढ़, 06 जुलाई। संभागीय आयुक्त श्री बीएल मेहरा बुधवार दोपहर तीन बजे सभी जिला स्तरीय अधिकारियों की कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक लेंगे। बैठक में संभागीय आयुक्त राजस्व से संबंधित मामलों की समीक्षा करेंगे। संभागीय आयुक्त के द्वारा जिला कलक्टर हनुमानगढ़ को भेजे गए पत्रानुसार संभागीय आयुक्त बैठक में आवंटन एवं संपरिवर्तन से संबंधित प्रकरणों, गैर खातेदारी से खातेदारी के लंबित प्रकरणों, सीमाज्ञान, आम रास्ता, नामान्तरकरण, आवंटन, राजस्व न्यायालयों में लंबित प्रकरणों की समीक्षा करेंगे। इसके अलावा अंतर्विभागीय प्रकरणों में नवसृजित ग्राम पंचायतों व पंचायत समितियों को भूूमि आवंटन से संबंधित लंबित प्रकरणों, राजस्थान राज्य विद्युत वितरण प्रसारण निगम लिमिटेड को भूमि आवंटन से संबंधित लंबित प्रकरणों, नवीन औद्योगित क्षेत्र की स्थापना हेतु रीको को भूमि आंवटन संबंधी प्रकरणों,नवसृजित नवीन राजकीय महाविद्यालयों के भवन निर्माण हेतु भूमि आवंटन हेतु लंबित प्रकरणों, आयुर्वेद विभाग, पीएचईडी, नागरीक विमानन निदेशालय को ििव्भन्न प्रयोजनार्थ राजकीय भूमि आवंटन से संबंधित लंबित प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी। इसके अलावा भारत माला परियोजना के अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग में आई भूमियों के अवार्ड, मुआवजा राशि का वितरण, अवाप्तधीन भूमि का राजस्व रिकॉर्ड में अंकन, कब्जा हस्तांतरण एवं अन्य बिदुंओं पर समीक्षा की जाएगी। इसके अलावा बैठक में संभागीय आयुक्त विभागीय मंदिरों की कृषि भूमि पर अतिक्रमियों के विरूद्ध भू-राजस्व अधिनियम 1956 को धारा 91 एवं राजस्व विभाग के परिपत्र के संबंध में संपादित कार्यवाही की समीक्षा की जाएगी। जिला कलक्टर ने सभी संबंध्ति अधिकारियों को जून 2021 तक की प्रगति रिपोर्ट के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं।
हनुमानगढ़, 06 जुलाई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने आदेश जारी कर जिले में जारी शस्त्र अनुज्ञापत्रों पर दर्ज शस्त्रों का भौतिक सत्यापन करने हेतु कार्यक्रम निर्धारित किया है। जारी आदेशानुसार सभी उपखंडों में शस्त्र अनुज्ञापत्रों पर दर्ज शस्त्रों का भौतिक सत्यापन संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट के निर्देशन में संबंधित तहसील के पंचायत समिति हॉल में प्रातः 9ः30 बजे से सायं 6ः00 बजे तक किया जाएगा। भौतिक सत्यापन की तारीख अलग अलग तहसीलों में अलग अलग रखी गई है। जारी आदेशानुसार भादरा में 8 जुलाई से 10 जुलाई तक, नोहर में 13 से 15 जुलाई, रावतसर में 19 और 20 जुलाई, टिब्बी में 22 से 24 जुलाई, संगरिया में 26 से 29 जुलाई, पीलीबंगा में 30 जुलाई से 1 अगस्त, हनुमानगढ़ में 02 अगस्त से 06 अगस्त तक संबंधित उपखंड कार्यालयों में सुबह 9.30 बजे से शाम 6 बजे तक शस्त्र अनुज्ञापत्रों पर दर्ज शस्त्रों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। जिला कलक्टर ने सभी उपखंड अधिकारियों की निर्देशित किया है कि वे नियत दिनांक से पहले संबंधित पंचायत समिति के हॉल में एक कंप्यूटर मय सूचना सहायक व एक कनिष्ठ सहायक या वरिष्ठ सहायक की ड्यूटी भी इस कार्य में सहयोग हेतु लगाया जाना सुनिश्चित करें। न्याय शाखा के श्री सुरेन्द्र कुमार कोे निर्देशित किया गया है कि वे मौके पर उपस्थित रहकर भौतिक सत्यापन से संबंधित समस्त कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। आदेश में बताया गया है कि भादरा तहसील में भादरा थाने के अंतर्गत 423 और भिराना थाना के अंतर्गत 124 शस्त्र अनुज्ञापत्र धारी हैं। वहीं नोहर तहसील के पुलिस थाना नोहर के अंतर्गत कुल 515, पुलिस थाना खुईयां व पुलिस थाना गोगामेड़ी के अंतर्गत कुल 47, रावतसर तहसील के पुलिस थाना रावतसर के अंतर्गत कुल 596 व पुलिस थाना पल्लू के अंतर्गत कुल 28, टिब्बी तहसील के पुलिस थाना टिब्बी के अंतर्गत कुल 927 व पुलिस थाना तलवाड़ा के अंतर्गत कुल 104, संगरिया तहसील के पुलिस थाना संगरिया के अंतर्गत कुल 1088, पीलीबंगा तहसील के पुलिस थाना पीलीबंगा के अंतर्गत कुल 667 व पुलिस थाना गोलूवाला के अंतर्गत कुल 338, हनुमानगढ़ तहसील के अंतर्गत पुलिस थाना जंक्शन के अंतर्गत 867, टाउन के अंतर्गत 793 और सदर थाने के अंतर्गत 867 शस्त्र अनुज्ञापत्र धारी हैं।
हनुमानगढ़, 06 जुलाई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कहा कि सिद्धमुख नहर परियोजना की रासलाना वितरिका के 29 जून से 06 जुलाई तक चले रेगुलेशन के दौरान पानी चोरी की एक भी घटना नहीं होने दी गई। उन्होने बताया कि पानी चोरी रोकने को लेकर 25 जून को आदेश जारी कर 27 सुपरवाइजरी अधिकारियों की राउंड-द-क्लॉक ड्यूटी लगाई थी ताकि नहर से पानी चोरी ना हो और किसानों को उनके हक का पूरा पानी मिले। अधिकारियों ने भी तपती गर्मी में अपनी ड्यूटी बखूबी निभाई और पानी चोरी की एक भी घटना नहीं होने दी। जल संसाधन विभाग भादरा के अधीक्षण अभियंता श्री अनिल कुमार कैथल ने बताया कि इस बार रासलाना वितरिका के 29 जून से 06 जुलाई तक रेगुलेशन के दौरान हालांकि पीछे से पानी की कुछ कमी रही लेकिन बावजूद इसके पानी चोरी की एक भी घटना नहीं हुई। जिला कलक्टर ने जिन अधिकारियों की राउंड-द-क्लॉक ड्यूटी लगाई थी। उन्होने तपती गर्मी में अपनी ड्यूटी की। खास बात ये कि 27 सुपरवाइजरी अधिकारियों में सिंचाई विभाग के अधिकारियों के अलावा जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक, अतिरिक्त शिक्षा अधिकारी माध्यमिक व प्रारंभिक, मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी, अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी, मत्सस्य अधिकारी, श्रम कल्याण अधिकारी,महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक, सहायक खनिज अधिकारी,पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता, पीएचईडी के अधिशाषी अभियंता तक शामिल थे। नोहर विधायक श्री अमित चाचाण ने बताया कि इस बार रासलाना वितरिका में हरियाणा से बहुत कम पानी मिला। जहां 400 क्यूसेक पानी की आवश्यकता थी पीछे से 200 क्यूसेक पानी ही मिला।मुख्य नहर में ही पानी चल पाया, माइनरों में पानी बहुत कम पहुंच पाया। फिर भी रेगुलेशन के दौरान अधिकारियों ने राउंड-द-क्लॉक ड्यूटी की और पानी चोरी की घटना नहीं होने दी। जिला कलक्टर श्री डिडेल ने बताया कि रासलाना वितरिका में गत वर्षों में पानी चोरी की घटनाओं को देखते हुए 64 किलोमीटर लंबी रासलाना वितरिका को 9 हिस्सों में बांटते हुए 27 अधिकारियों की राउंड- द- क्लॉक ड्यूटी लगाई गई थी। साथ ही सुपरवाइजरी अधिकारियों के साथ पुलिस का 1+2 का जाप्ता लगाया गया था। इसके अलावा भादरा एसडीएम को सभी अधिकारियों के साथ एक-एक गिरदावर की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए थे।सिंचाई विभाग की टीम को भी लगाया गया था। सभी अधिकारियों, कार्मिकों ने कोविड गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करते हुए राउंड-द-क्लॉक ड्यूटी निभाई। जिसका नतीजा ये हुआ कि पानी चोरी की एक भी घटना नहीं होने दी गई। सभी अधिकारियों के ठहरने की व्यवस्था भादरा एसडीएम के द्वारा की गई। ड्यूटी के दौरान सुपरवाइजरी अधिकारियों ने फोटोग्राफ्स भी टीम हनुमानगढ़ वाट्सअप ग्रुप पर शेयर किए। गौरतलब है कि इससे पहले 12 से 20 जनवरी 2021 तक चले रेगुलेशन के दौरान तत्कालीन जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने सिद्धमुख नहर परियोजना की रासलाना वितरिका में पानी चोरी रोकने को लेकर पहली बार राउंड द क्लॉक अधिकारियों की ड्यूटी लगाई थी। अधिकारियों ने हाड़कंपाती ठंड में रात-दिन नहर की पहरेदारी की तो नहर बनने के 18 साल बाद रासलाना वितरिका के टेल के किसानों को उनके हक का पूरा पानी मिला था। रासलाना वितरिका से अवैध पाइप लाइनों के जरिए पानी हरियाणा में बेचा जा रहा था साथ ही स्थानीय किसान भी पानी चोरी कर रहे थे। उस पर पूरी तरह अंकुश लगा दिया गया था। माननीय मुख्यमंत्री ने भी पीलीबंगा आगमन के दौरान इस कार्य को लेकर तत्कालीन जिला कलक्टर की प्रशंसा की थी। वर्ष 2014 में तत्कालीन जिला कलक्टर श्री पीसी किसन ने राजस्थान की नहर से पानी चोरी कर हरियाणा में बेचने का मुद्दा पहली बार तत्कालीन सरकार के सामने 8-9 जनवरी 2014 को जयपुर में हुई कलक्टर-एसपी कॉन्फ्रेंस में उठाया तो तत्कालीन मुख्यमंत्री ने नहरी पानी चोरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे। लिहाजा 1 से 5 फरवरी 2014 को तत्कालीन जिला कलक्टर ने पानी चोरों के खिलाफ पांच दिवसीय अभियान चलाकर नहर किनारे बनाए गए अवैध कुएं और खेतों में दो-तीन फीट नीचे बिछाई गई अवैध पाइप लाइनों को उखाड़कर पानी चोरों की कमर तोड़ी थी। उस समय नहर बनने के बाद टेल के किसानों को पहली बार पानी नसीब हुआ। लेकिन उनके हक का पूरा पानी तब भी नहीं मिल पाया। अब नोहर विधायक श्री अमित चाचाण ने रासलाना वितरिका से पानी चोरी के मुद्दे को लेकर नहर किनारे टेंट लगाकर नहर की निगरानी करने से लेकर जिला प्रभारी मंत्री और मुख्यमंत्री तक इस मुद्दे को उठाया तो तत्कालीन जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने पुलिस और प्रशासन के उच्चाधिकारियों के साथ मिलकर नई रणनीति बनाते हुए अवैध पाइप लाइनों को तोड़ने के बजाय रासलानी वितरिका के रेगुलेशन 12 जनवरी से 20 जनवरी तक के लिए नहर की निगरानी के लिए राउंड द क्लॉक पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर पानी चोरी पर पूर्णतय अंकुश पाया था।
हनुमानगढ़ध्जयपुर, 5 जुलाई। राज्य सरकार ने कोविड महामारी तथा लॉकडाउन आदि प्रतिबन्धों के कारण उत्पन्न आर्थिक स्थितियों में व्यापारियों एवं उद्यमियों के लिए मूल्य सवंर्धित कर (वैट) प्रकरणों के बकाया, विवादों के निपटान आदि के लिए लागू एमनेस्टी योजना 2021 की अवधि बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस योजना के तीन चरणों की संशोधित तिथियां क्रमशः 31 जुलाई, 31 अगस्त तथा 30 सितम्बर रहेंगी। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने एमनेस्टी योजना की अवधि तथा वैट के लिए घोषणा पत्रों में शुद्धि के लिए आवेदन एवं वैट-41 फॉर्म जमा कराने की तिथि बढ़ाने के वाणिज्यिक कर विभाग के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है। उन्होंने इस संबंध में अधिसूचना के प्रारूप का भी अनुमोदन कर दिया है। गौरतलब है कि 30 जून 2017 तक लागू वैट अधिनियम के तहत बकाया मांग एवं विवादों के निपटान के लम्बित प्रकरणों के निस्तारण के लिए राज्य बजट 2021-22 में एमनेस्टी स्कीम लाने की घोषणा की गई थी। योजना के पहले चरण की अवधि 30 अप्रैल 2021 तक थी, लेकिन कोविड महामारी के कारण लागू लॉकडाउन एवं अन्य प्रतिबन्धों के क्रम में अपेक्षित संख्या में व्यापारी एवं उद्यमी योजना का लाभ नहीं ले सके। इस कारण प्रथम चरण को 31 जुलाई तक बढ़ाया गया है। इसी प्रकार, 1 अप्रैल से 30 जून तक योजना के दूसरे चरण की अवधि में आवेदनों की निरंतर प्राप्ति जारी रहने के कारण इस चरण की संशोधित अवधि 1 अगस्त से 31 अगस्त तथा पूर्व में 1 जुलाई से प्रस्तावित तीसरे चरण की संशोधित अवधि 1 सितम्बर से 30 सितम्बर करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही, एमनेस्टी स्कीम के अन्तर्गत लम्बित घोषणा पत्रों, घोषणा पत्रों में शुद्धि के लिए आवेदन तथा वैट 41 फॉर्म आदि जमा करवाने की निर्धारित अन्तिम तिथि को 30 जून से बढ़ाकर 30 सितम्बर किया गया है।
हनुमानगढ़ध्जयपुर, 5 जुलाई। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि आगामी वर्षों में ग्रामीण स्तर पर प्लम्बर, इलैक्ट्रीशियन एवं फिटर की मांग बढ़ेगी। ऎसे में, राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (आरएसएलडीसी) के माध्यम से अधिक से अधिक ग्रामीण युवाओं को प्लम्बर, इलैक्ट्रीशियन एवं फिटर जैसे कोर्स में प्रशिक्षित किया जाए ताकि हर गांव में प्रशिक्षित कारीगर उपलब्ध हो सकें। युवाओं को प्रशिक्षण देने के लिए अतिरिक्त प्रशिक्षण केंद्र की आवश्यकता हो तो उसके लिए भी तैयारी की जाए। श्री गहलोत सोमवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आरएसएलडीसी की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि स्किल डवलपमेंट के माध्यम से अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लक्ष्य तय कर विभिन्न विभागों से समन्वय स्थापित किया जाए। साथ ही, उन्होंने बजट घोषणाओं की समयबद्ध क्रियान्विती एवं पर्याप्त मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निगम द्वारा चुनी गई ट्रेनिंग पार्टनर फर्म एमओयू की शर्तों के मुताबिक निर्धारित संख्या में प्रशिक्षित युवाओं को प्लेसमेंट उपलब्ध कराएं यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि स्किल डवलपमेंट के लिए तय की गई शर्तों के अनुसार उपलब्ध इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं सुविधाओं के बारे में पूरी छान-बीन कर ट्रेनिंग पार्टनर फर्म का चयन किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों को भिक्षावृत्ति मुक्त बनाने के लिए भिखारियों को कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों से जोड़कर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने भिक्षावृत्ति उन्मूलन एवं भिखारियों को रोजगार से जोड़ने की योजना की सराहना करते हुए इसे हर जिले में लागू करने के निर्देश दिए और कहा कि इससे भिक्षावृत्ति उन्मूलन में काफी सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा कि योजना का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाए, ताकि भिक्षावृत्ति में शामिल अन्य लोगों को भी प्रशिक्षण प्राप्त कर रोजगार के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। उन्होंने कहा कि स्किल ट्रेनिंग के बाद रोजगार हासिल करने वाले भिखारियों की सेवाएं अन्य भिखारियों को प्रशिक्षण देकर मुख्यधारा में लाने के लिए मास्टर ट्रेनर्स की तरह ली जाएं। उन्होंने भिखारियों के पुनर्वास एवं उनके प्रशिक्षण के लिए आरएसएलडीसी एवं सामाजिक न्याय व आधिकारिता विभाग को समन्वय के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। बैठक में आरएसएलडीसी के चौयरमेन श्री नीरज के. पवन ने युवाओं मे स्किल डवलपमेंट के लिए चलाई जा रही योजनाओं एवं बजट घोषणाओं की क्रियान्विति के बारे में विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया। उन्होंने बताया कि भिखारियों को रोजगार से जोड़ने की योजना में 100 भिखारियों को प्रशिक्षित किया गया, उनमें से 40 को अक्षयपात्र संस्था में रोजगार मिल चुका है। उन्होंने बताया कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत 39,193 युवाओं को प्लंबिंग, फिटिंग एवं इलेक्ट्रीशियन का 4 माह का अल्प अवधि का प्रशिक्षण दिया जा चुका है। युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने के लिए आरएसएलडीसी द्वारा उद्योग, उद्योग संघों, विश्वविद्यालयों एवं सेक्टर स्किल काउंसिलों की सूची तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि राज्य पोषित योजनाओं को पुनर्गठित कर उन्हें फिर से लॉन्च किया गया है। राजक्विक, सक्षम एवं समर्थ योजनाओं के तहत हजारों युवाओं को स्किल डवलपमेंट ट्रेंनिंग दी गई है। बैठक में कौशल विकास राज्यमंत्री श्री अशोक चांदना, मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य, आरएसएलडीसी के एमडी श्री प्रदीप के. गवांडे सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 5 जुलाई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने राजकीय आत्मनिर्भर मंदिर श्री गोगाजी गोगामेड़ी एवं गोरख टीला परिसर क्षेत्र में 31 जुलाई 2021 तक 5 से अधिक व्यक्ति के एकत्रित न होने के संबंध में प्रतिबंधित आदेश जारी किए हैं। आदेश में लिखा गया है कि गृह विभाग के द्वारा 07 जून, 15 जून और 26 जून 2021 को जारी आदेशानुसार किसी भी प्रकार के सार्वजनिक, सामाजिक, राजनीतिक, शैक्षणिक, सांस्कृतिक व धार्मिक समारोह, जुलूस, त्योहारों, मेलों, हाट बाजार इत्यादि के आयोजन की अनुमति नहीं होने के आदेश प्रदत्त है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के साथ गोगामेड़ी मंदिर विजिट के दौरान आगामी आयोजित होने वाले मेले के संबंध में महंत रूनाथ, जनप्रतिनिधियों व देवस्थान विभाग से चर्चा के अनुसार गोगामेडी मेला में जिला हनुमानगढ़ के अलावा अन्य राज्यों उत्तरप्रदेश, बिहार, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश व उत्तराखंड से काफी तादाद में श्रद्धालु आते हैं लिहाजा श्रद्धालुओं को कोरोना के संक्रमण से बचाने व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करवाना चुनौतीपूर्ण कार्य है। आदेश में लिखा गया है कि चूकिं वर्तमान में कोरोना के नए वैरियंट से वैक्सीनेशन के बाद भी लोगों में संक्रमण के फैलने का खतरा बना हुआ है। लॉकडाउन प्रतिबंधों में शिथिलन प्रदान करने के पश्चात अगर भीड़ भाड़ को नियंत्रित नहीं किया गया और कोविड उपयुक्त व्यवहार की पालना सुनिश्चित नहीं की गई तो कोरोना की संभावित तीसरी लहर से सामना करना पड़ सकता है। लिहाजा राजकीय आत्मनिर्भर मंदिर श्री गोगाजी गोगामेड़ी एवं गोरख टीला परिसर क्षेत्र में 31 जुलाई 2021 तक 5 से अधिक व्यक्ति के एकत्रित न होने के संबंध में प्रतिबंधित आदेश जारी किए जाते हैं।
हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के खण्ड हनुमानगढ़ एवं रावतसर में ब्लॉक मीटिंग बैठक का आज आयोजन किया गया। जिला एएनएम ट्रेनिंग सेंटर में आयोजित बैठक में सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा, एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार, डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार डिग्रवाल, आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह भाटी, बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा अन्य अधिकारी एवं स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने उपस्थित कहा कि कोरोना काल में स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा बहुत ही अच्छा कार्य किया गया है। कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सभी ने अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए आमजन को भी संक्रमण से बचाने के लिए हर स्तर पर प्रयास किया। उन्होंने कहा कि अब हमें आमजन को ई-संजीवनी एवं मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में अधिक से अधिक जानकारी देनी होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना के इस दौर में लोगबाग घर बैठे ही अपने छोटी-मोटी स्वास्थ्य जांच ऑनलाइन करे, इसका हमें प्रयास करना होगा। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार डिग्रवाल ने मौसमी बीमारियों सहित मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में जानकारी दी। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने कोविड टीकाकरण एवं रूटीन टीकाकरण के बारे में जानकारी दी। बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा ने खण्ड संबंधित जानकारी भी दी गई। उन्होंने कहा कि विभाग की अन्य योजनाओं के बारे में भी आमजन को जानकारी देते रहें। रावतसर में आयोजित बैठक में एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार ने परिवार कल्याण योजनाओं के बारे में जानकारी दी। इसके अलावा उन्होंने चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, ई संजीवनी, गहन दस्त नियंत्रण कार्यक्रम एवं मौसमी बीमारियों के संबंध में विस्तृत निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी स्वास्थ्य योजनाओं की रिपोर्टिंग समय अनुसार जिला एवं राज्य स्तर पर भिजवाई जाती रहे ताकि जिला किसी भी योजना में पिछडे नहीं।
हनुमानगढ़। पांच से कम आयु के बच्चों में दस्त तथा कुपोषण के कारण होने वाली मृत्यु दर में कमी लाने के लिए हनुमानगढ़ जिले सहित प्रदेशभर में सशक्त दस्त नियंत्रण अभियान संचालित किया जाएगा, जो 7 जुलाई से 6 अगस्त तक चलेगा। अभियान में दस्त एवं कुपोषण से होने वाली बीमारियों के प्रति आमजन में जनजागृति लाने के लिए व्यापक जागरूकता गतिविधियां भी आयोजित की जाएंगी। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से इस दौरान दस्त से पीडित पांच वर्ष तक के बच्चों की पहचान कर उन्हें ओआरएस पैकेट एवं जिंक टेबलेट नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी। विभाग के स्वास्थ्य कार्यकर्ता जनसमुदाय को स्वच्छता, पौष्टिक आहार एवं हाथ धोने के सही तरीके आदि की जानकारी भी देंगे। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि प्रत्येक जिला अस्पताल, सीएचसी तथा पीएचसी तथा सबसेंटर स्तर पर ओआरएस कॉर्नर स्थापित किये जाएंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ जिला स्तर पर समन्वय स्थापित कर दस्त नियंत्रण अभियान में आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की भूमिका भी सुनिश्चित की जाएगी। आशा सहयोगिनियों के सहयोग से इस अभियान को घर-घर तक ले जाया जाएगा। स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा हाथ धुलाई का तरीका एवं महत्व भी बताया जाएगा। दस्त नियंत्रण अभियान में पांच साल तक की उम्र तक के बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा। बच्चों को ओआरएस का घोल पिलाकर और जिंक टेबलेट देकर डायरिया व कुपोषण से दूर रखा जा सकता है। पूरे अभियान के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार ने बताया कि दस्त एवं उसके कारण होने वाले निर्जलीकरण से होने वाली मृत्यु को ओआरएस एवं जिंक की गोली के उपयोग के साथ पर्याप्त पोषण द्वारा रोका जा सकता है। साथ ही दस्त की रोकथाम के लिए पीने के लिए साफ पानी का प्रयोग, समय-समय पर हाथों को पानी एवं साबुन सेे धोना, स्वछता, समय पर टीकाकरण, स्तनपान एवं पर्याप्त पोषण लेना जरूरी है। 5 वर्ष से छोटे बच्चों में दस्त रोग एक गंभीर समस्या है। बाल्यकाल में आज भी दस्त रोग 5 वर्ष से कम उम्र में होने वाली मृत्यु का महत्वपूर्ण कारण है। हमारे देश में लगभग 10 प्रतिशत मृत्यु इस रोग के कारण होती है। दस्त से होने वाली ये मृत्यु प्राय: गर्मी/मानसून के मौसम में होती है और सामाजिक एवं आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों में इसका सबसे बुरा प्रभाव पड़ता है। डॉ. पवन कुमार ने बताया कि अभियान के दौरान पांच वर्ष तक के बच्चों वाले सभी घरों में आशा सहयोगिनियों के जरिए ओआरएस पैकेट व सूचनाप्रद सामग्री पहुंचाई जाएगी। सभी चिकित्सा संस्थानों पर ओआरएस व जिंक कॉर्नर बनाकर घोल तैयार करने व उपयोग के तरीके का प्रदर्शन किया जाएगा। दस्त व निर्जलीकरण से होने वाली मृत्यु को ओआरएस व जिंक की गोली देकर और पर्याप्त पोषण के जरिए रोका जा सकता है। साथ ही दस्त की रोकथाम के लिए साफ पानी, समय-समय पर हाथों को सफाई, स्वच्छता, टीकाकरण, स्तनपान व पोषण का अहम योगदान होता। घर-घर जाकर ओआरएस के पेकेट एवं जिंक वितरित करने एवं आईवाईसीएफ का परामर्ष देने पर आशा सहयोगिनी को प्रोत्साहन राशि का भुगतान भी किया जाएगा। जिले के प्रत्येक जिला अस्पताल, सामुदायिक/प्राथमिक/उपकेन्द्र पर ओआरएस जिंक कॉर्नर एवं आईवाईसीएफ परामर्श केन्द्र स्थापित किये जाएंगे। इस कार्य के लिए आशा सहयोगिनियां अपने-अपने क्षेत्रों में प्रतिदिन घरों का विजिट कर सर्वे करेंगी तथा दस्त व कुपोषण ग्रस्त बच्चों को चिन्हित करेगीं। जिले की सभी चिकित्सा संस्थानों में ओआरएस-जिंक कॉर्नर बनाए जाएंगे एवं स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा हाथ धुलाई का तरीका एवं महत्व भी बताया जाएगा एवं प्रचार-प्रसार किया जाएगा।
हनुमानगढ़। आज का कोविड-19 वैक्सीनेशन 31228 रहा। यह आंकड़ा सचमुच में राहत देने वाला है। क्योंकि पहले जहां आमजन वैक्सीनेशन लगवाने के लिए आगे नहीं आ रहा थे, लेकिन आज यह स्थिति बदल चुकी है। हनुमानगढ़ जिले के लोग-बिना किसी डर के, बिना किसी शंका के और बिना किसी दबाव के खुद आगे आकर वैक्सीन लगवा रहे हैं और अन्य लोगों को को भी वैक्सीनेशन के लिए साथ ला रहे हैं। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले को निदेशालय से कोविशील्ड की 27330 डोज मिली थी, जिसके एवज में आज शनिवार को 179 टीकाकरण केन्द्रों वैक्सीनेशन किया गया और 31184 लोगों को कोविशील्ड की डोज लगाई गई। यह जिला प्रशासन, चिकित्सा विभाग सहित जिले के सभी लोगों के संयुक्त प्रयास का ही परिणाम है कि आज वैक्सीन अगले दिन के लिए नहीं बच रही है। पहले जहां, 20 हजार वैक्सीन को लगाने में दो से तीन दिन लगते थे, वहीं आज 27 हजार 330 डोज एक ही दिन में लग गई और इसमें वेस्टेज बिलकुल भी नहीं। प्रत्येक वैक्सीन वाइल में से 11 से 12 डोज निकल रहे हैं और सुरक्षित लग भी रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले में आज सुबह से ही वैक्सीनेशन के प्रति 18 से अधिक आयु वर्ग के लोगों में उत्साह देखा गया। जिले के 179 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविशील्ड लगाई गई। एक सेंटर पर कोवैक्सीन की चार वाइल उपलब्ध थी, जहां भी 44 डोज लगाए गए। उन्होंने कहा कि जिले में आज 180 टीकाकरण केन्द्रों पर 18 से अधिक आयु के 31228 नागरिकों को कोविशील्ड की प्रथम व द्वितीय डोज लगाई गई। हनुमानगढ़ जिले में आज (3 जुलाई 2021) आज तक लिए गए कुल सैम्पल : 259009 आज कोरोना पॉजीटिव : 4 आज तक कुल पॉजीटिव : 16014 आज रिकवर हुए मरीज : 1 आज तक कुल रिकवर हुए मरीज : 15867 आज मृत्यु : 0 आज तक की कुल मृत्यु : 111 कोरोना एक्टिव केस : 36
हनुमानगढ़, 3 जुलाई। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार शनिवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरणअ हनुमानगढ़ की सचिव एवं अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश महोदया श्री संदीप कौर द्वारा जिला कारागृह, हनुमानगढ़ में महिला सुरक्षा संवेदीकरण बाबत् विधिक सेवा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। श्री संदीप कौर ने महिला बंदीगण को बताया कि हर व्यक्ति को कानून और अपने अधिकारों के बारे में जानकारी अवश्य होनी चाहिए, जानकारी के अभाव में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बच्चियों को पढ़ाना और आत्मनिर्भर बनाना जरूरी है। सक्षम नारी ही सशक्त नारी बन पाएगी और सशक्त समाज बनाएगी। महिलाओं को कोई भी परेशानी हो तो डरना नहीं चाहिए, तुरंत कॉल करके पुलिस को सूचना देनी चाहिए. जिससे तुरंत उनको सहायता मिल सके। समानता के लिए महिलाओं को आर्थिक, सामाजिक, शैक्षणिक तौर पर मजबूत होना पड़ेगा, वहीं पुरुष प्रधान समाज को अपनी मानसिकता में बदलाव लाना होगा तभी इसका सार्थक परिणाम मिलेगा। लैंगिक असमानता हमारे समाज में एक दीर्घकालिक समस्या है। आज भी महिलाओं के साथ कई तरह से भेदभाव किया जाता है। कानूनी रूप से महिलाओं को समान अधिकार प्राप्त है मगर लैंगिक मुद्दों पर समाज को संवेदनशील बनाने की बहुत आवश्यकता है ताकि कोई समस्या न हो। महिलाओं को हिंसा, उत्पीड़न और भेदभाव से मुक्त होने का अधिकार है, असुरक्षित वातावरण की बाधाओं को दूर करने से महिलाओं को व्यक्तियों और कार्य, समुदायों और अर्थव्यवस्थाओं के योगदानकर्ताओं के रूप में अपनी क्षमता को पूरा करने में मदद मिल सकती है। कारागृह में निरूद्ध महिलाओं को सुरक्षित स्पर्श और असुरक्षित स्पर्श के बारे में विधिक जानकारी दी गई तथा सभी को अपने अंदर छिपे डर व शर्म को खत्म करके आवाज उठाने के लिए प्रेरित किया गया तथा कहा कि बालिकाओं के साथ कहीं भी कुछ गलत हो रहा है या हुआ हो तो वह आत्मविश्वास से अपनी बात अपने माता-पिता को या विश्वसनीय को बता सकें इसी सोच के साथ प्राधिकरण कार्य कर रहा है। शिविर के दौरान का निरीक्षण भी किया गया। निरीक्षण के दौरान कारागृह परिसर का वातावरण स्वच्छ पाया गया व कारागृह परिसर को पूर्ण रूप से स्वच्छता रखने बाबत् निर्देश दिए गए। जिला कारागृह में बंदीगण को जेल मेन्युअल के अनुसार मिलने वाली सुविधाओं आदि के संबंध में पूछने पर उनके द्वारा किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होना जाहिर किया। बंदियों को उपलब्ध करवाए जाने वाले भोजन की जांच करने पर सही पाया गया। सचिव द्वारा पुरूष बंदीगण को निःशुल्क विधिक सहायता, धारा 436ए के तहत जमानत का लाभ प्राप्त करने आदि के संबंध में विधिक जानकारी प्रदान की गई तथा उनके प्रकरणों के संबंध में बातचीत करने पर उनके प्रकरण के संबंध में विधिक जानकारी प्रदान की गई।

Top News