taaja khabar...कोरोना से तबाही पर बोले पीएम मोदी- जिस दर्द से देशवासी गुजरे हैं, उसे मैं भी महसूस कर रहा हूं....चित्रकूट जेल के अंदर गैंगवॉर, दो गैंगस्टर की हत्या, तीसरा पुलिस कार्रवाई में मारा गया..995.40 रुपये में मिलेगी रूसी कोरोना वैक्सीन की एक डोज, देश में बनने पर हो सकती है सस्‍ती...गुजरात, असम सहित कई राज्यों को भेजी कोवैक्सीन की खेप...जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं...हमास कर रहा रॉकेट की बारिश, इजरायली 'लौह कवच' आयरन डोम कर रहा तबाह...PM Kisan में 50 लाख नए लोगों को भी मिलेंगे 2000-2000 रुपए, ऐसे कर सकते हैं अपना अकाउंट चेक...केंद्र ने कहा, राज्यों को निशुल्क भेजी जाएगी करीब एक करोड़ 92 लाख कोरोना वैक्सीन...पत्रकारों के लिए मध्यप्रदेश सरकार का अहम ऐलान, कोरोना संक्रमित होने पर इलाज का खर्च देगी राज्य सरकार...दवाओं की कालाबाजारी करने वालों पर भड़के प्रधानमंत्री, राज्य सरकारों को दिया कड़ी कार्रवाई का आदेश...कोरोना के एक दिन में नए मामलों से अधिक ठीक होने वालों का आंकड़ा, इस दौरान 4000 संक्रमितों की मौत..कोरोना महामारी के बीच सांसों के साथ अपनों ने छोड़ा हाथ, संघ निभा रहा मानवता का रिश्ता...

Hanumangarh

हनुमानगढ़, 14 मई। कोरोना महामारी संक्रमण की गांव में चैन तोड़ने को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए 141 ग्राम पंचायतों के सरपंचों, उप सरपंचों और ग्राम स्तरीय कोरोना कोर कमेटी के सदस्यों को प्रेरित किया। जिला कलक्टर ने सुबह 11 से 12 बजे तक कुल 141 ग्राम पंचायतों के सरपंचों, उपसरपंचों और ग्राम स्तरीय कोर कमेटी के सदस्यों से सीधी बात करके उन्हें गांव में कोरोना महामारी की चैन तोड़ने को लेकर कहा कि कोरोना की चैन सभी गांवों में टूट जाएगी तो जिला मुख्यालय पर पॉजिटिव केस आना बंद हो जाएंगे औऱ जिला कोरोना मुक्त हो सकेगा। गौरतलब है कि गुरूवार को जिला कलक्टर ने कुल 70 ग्राम पंचायतों के सरपंचों, उपसरपंचों और ग्राम पंचायत स्तरीय कोर कमेटी के सदस्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बात की थी। जिला कलक्टर ने कहा कि गांव में शादी वगैरह हों तो फिलहाल उसे टाल दें। गांवों में लोग कहीं एक जगह पर इकट्ठा ना हों। जिन घरों में लोग पॉजिटिव आ रहे हैं वे होम आइसोलेशन का पालन करें। उनके संपर्क में आए लोगों में अगर खांसी जुकाम के लक्ष्ण हो तो तुरंत कोविड जांच करवाएं। साथ ही जो लोग बाहरी राज्यों से आ रहे हैं लेकिन उनका आटीपीसीआर टेस्ट नहीं करवाया हुआ है तो वे 15 दिन तक होम आइसोलेशन में रहें। इसको लेकर पूरी निगरानी गांव के सरपंच, उपसरपंच और ग्राम पंचायत स्तरीय कोरोना कोट कमेटी के सदस्य भी रखे। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक है। जिस प्रकार सरपंचों, उपसरपंचों ने पहली लहर में गांवों की पहरेदारी करवाई थी। दूसरी लहर में भी उसी तरह की पहरेदारी की जरूरत है ताकि हम कोरोना की चैन को तोड़ सकें। जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना को लेकर कहा कि गांव के सभी परिवारों का इस योजना के अंतर्गत रजिट्रेशन करवाना सुनिश्चित करें ताकि एक परिवार को मात्र साढ़े आठ सौ रूपए में 5 लाख के स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिल सके। इस योजना के अंतर्गत कोरोना का इलाज भी शामिल कर लिया गया है। लिहाजा जिस दिन इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवा देंगे उसी दिन से इस योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। इसको लेकर सभी सरपंच, उपसरपंच और कोर कमेटी के सदस्य देख लें कि इस योजना के लाभ से गांव का कोई भी परिवार ना चूके।
हनुमानगढ़, 14 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण से युवा वर्ग को बचाने के लिए निशुल्क टीकाकरण में आर्थिक सहयोग हेतु नगर परिषद के उपसभापति श्री अनिल खीचड एक साल की सैलरी का चैक जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा। 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के युवाओं को निशुल्क टीकाकरण हेतु आर्थिक सहयोग के रूप में नगर परिषद के उपसभापति श्री खीचड़ ने एक साल की सैलरी 31 हजार रूपए का चैक जिला कलक्टर को सौंपा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने उपसभापति का आभार जताते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश के 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं को निशुल्क कोरोना वैक्सीनेशन की घोषणा की थी। जिसको लेकर करीब 3 हजार करोड़ रूपए का भार राज्य सरकार पर आएगा। ऐसे में माननीय मुख्यमंत्री जी की 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं के निशुल्क टीकाकऱण के लिए सहयोग की अपील से प्रेरित होकर नगर परिषद के उपसभापति ने जो आर्थिक सहयोग किया है उसके लिए हम आभार व्यक्त करते हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही नगर परिषद के सभापति श्री गणेश राज बंसल और पार्षद श्री सुमित रिणवा ने एक-एक साल की सैलरी का चैक जिला कलक्टर को निशुल्क वैक्सीनेशन को लेकर सौंपा था। जिला कलक्टर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि पूरा देश और प्रदेश कोविड संक्रमण के गंभीर खतरे से जूझ रहा है। राज्य सरकार कोविड के बेहतर प्रबंधन के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सा संसाधनों में किसी तरह की कमी नहीं रख रही है, लेकिन संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अधिकतम लोगों का वैक्सीनेशन जल्द से जल्द होना जरूरी है। इस दिशा में राज्य सरकार ने 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को भी निशुल्क वैक्सीन लगानी शुरू कर दी है। चूंकि कोरोना की दूसरी लहर में युवा, बच्चे एवं गर्भवती महिलाएं भी अधिक संख्या में संक्रमित हो रहे हैं। इसके चलते राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों की जीवनरक्षा को सर्वाच्च प्राथमिकता देते हुए राज्य में 18 से 44 आयु वर्ग (युवा पीढ़ी) के लिए लगभग 3 हजार करोड़ रुपये वहन करते हुए निशुल्क टीकाकरण 1 मई से प्रदेश में किया जा रहा है। हनुमानगढ़ जिले में भी 18 से 44 आयु वर्ग में निशुल्क वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। किया जा चुका है। माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए निशुल्क वैक्सीनेशन की घोषणा के क्रम में दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से आर्थिक सहयोग की अपील की है। 18 से 44 आयु वर्ग के युवा वर्ग में निशुल्क वैक्सीनेशन हेतु सहयोग के लिए डेडिकेटेड बैंक खाता (Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT) खोला जा चुका है। माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर यह बैंक खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की जयुपर सचिवालय शाखा में खोला गया है, जिसकी खाता संख्या 40166914665 और आईएफएससी कोड SBIN0031031 है। सहयोगकर्ता इस विवरण के साथ नकद, चैक एवं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से इस खाते में सहयोग राशि हस्तान्तरित कर सकते हैं। इस खाते में प्राप्त दान राशि का प्रयोग केवल युवा वर्ग के निशुल्क टीकाकरण के लिए किया जाएगा। जिला कलक्टर ने जिले के दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से अपील करते हुए कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के युवा वर्ग में निशुल्क टीकाकरण हेतु मुख्यमंत्री सहायता कोष के अन्तर्गत Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT खाते में यथाशक्ति स्वैच्छिक सहयोग करें ताकि कोविड की इस भीषण चुनौती का हम सफलतापूर्वक सामना कर पाएं।
हनुमानगढ़, 14 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण से 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं को बचाने के लिए सरकार की ओर से निशुल्क टीकाकरण किया जा रहा है। इसमें राज्य सरकार का आर्थिक सहयोग करने हेतु शुक्रवार को जनता ट्रक यूनियन ने 1 लाख 20 हजार और जितेन्द्रा ट्रांसपोर्ट कंपनी ने 51 हजार रूपए चैक जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा। इस अवसर पर जनता ट्रक यूनियन के श्री जुगल राठी के साथ नगर परिषद के उपसभापति श्री अनिल खीचड़, मक्कासर के श्री रघुवीर गोदारा और जितेन्द्रा ट्रांसपोर्ट कंपनी के श्री विपिन बिश्नोई के साथ नगर परिषद उपसभापति श्री अनिल खीचड़, फूडग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष श्री जिनेन्द्र जैन, फूडग्रेन सचिव श्री विजय गर्ग और कृषि उपज मंडी के सदस्य श्री सुमन कामरा साथ थे। जनता ट्रक यूनियन के श्री जुगल राठी और जितेन्द्रा ट्रांसपोर्ट कंपनी के श्री विपिन बिश्नोई ने मीडिया से मुखातिब होते बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी और उनके बाद जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की युवा वर्ग में निशुल्क टीकाकऱण हेतु दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से आर्थिक सहयोग की अपील से प्रेरित होकर उन्होने ये सहयोग किया है। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने जनता ट्रक यूनियन और जितेन्द्रा ट्रांसपोर्ट कंपनी का आभार जताते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश के 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं को निशुल्क कोरोना वैक्सीनेशन की घोषणा की थी। जिसको लेकर करीब 3 हजार करोड़ रूपए का भार राज्य सरकार पर आएगा। ऐसे में माननीय मुख्यमंत्री जी की 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं के निशुल्क टीकाकऱण के लिए सहयोग की अपील से प्रेरित होकर ट्रांसपोर्ट कंपनी ने जो आर्थिक सहयोग किया है उसके लिए हम आभार व्यक्त करते हैं। जिला कलक्ट ने कहा कि कोरोना महामारी की जंग हम सब मिलकर ही जीत पाएंगे। जिला कलक्टर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि पूरा देश और प्रदेश कोविड संक्रमण के गंभीर खतरे से जूझ रहा है। राज्य सरकार कोविड के बेहतर प्रबंधन के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सा संसाधनों में किसी तरह की कमी नहीं रख रही है, लेकिन संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अधिकतम लोगों का वैक्सीनेशन जल्द से जल्द होना जरूरी है। इस दिशा में राज्य सरकार ने 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को भी निशुल्क वैक्सीन लगानी शुरू कर दी है। चूंकि कोरोना की दूसरी लहर में युवा, बच्चे एवं गर्भवती महिलाएं भी अधिक संख्या में संक्रमित हो रहे हैं। इसके चलते राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों की जीवनरक्षा को सर्वाच्च प्राथमिकता देते हुए राज्य में 18 से 44 आयु वर्ग (युवा पीढ़ी) के लिए निशुल्क टीकाकरण 1 मई से प्रदेश में किया जा रहा है। हनुमानगढ़ जिले में भी 18 से 44 आयु वर्ग में निशुल्क वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। जिला कलक्टर ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए निशुल्क वैक्सीनेशन की घोषणा के क्रम में दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से आर्थिक सहयोग की अपील की है। 18 से 44 आयु वर्ग के युवा वर्ग में निशुल्क वैक्सीनेशन हेतु सहयोग के लिए डेडिकेटेड बैंक खाता (Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT) खोला जा चुका है। माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर यह बैंक खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की जयुपर सचिवालय शाखा में खोला गया है, जिसकी खाता संख्या 40166914665 और आईएफएससी कोड SBIN0031031 है। सहयोगकर्ता इस विवरण के साथ नकद, चैक एवं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से इस खाते में सहयोग राशि हस्तान्तरित कर सकते हैं। इस खाते में प्राप्त दान राशि का प्रयोग केवल युवा वर्ग के निशुल्क टीकाकरण के लिए किया जाएगा। जिला कलक्टर ने जिले के दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से अपील करते हुए कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के युवा वर्ग में निशुल्क टीकाकरण हेतु मुख्यमंत्री सहायता कोष के अन्तर्गत Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT खाते में यथाशक्ति स्वैच्छिक सहयोग करें ताकि कोविड की इस भीषण चुनौती का हम सफलतापूर्वक सामना कर पाएं।
हनुमानगढ़। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले में शनिवार 15 मई को कोविड वैक्सीन बीकानेर से हनुमानगढ़ पहुंचेगी, जिसका वितरण शनिवार को विभिन्न वैक्सीन सेंटर्स पर करवा दिया जाएगा। रविवार 16 मई को जिले में 18 से 44 वर्ष तक के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। 18 से 44 वर्ष के नागरिक अपना कोविड वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन करवा लें ताकि स्लॉट ओपन होते ही आप अपाइटमेण्ट करवा सकें। अपाइटमेण्ट होने के बाद ही आपका वैक्सीनेशन होगा। वैक्सीनेशन सेंटर्स एवं स्लॉट ओपन होने की सूचना चिकित्सा विभाग के आईईसी ब्यूरो के फेसबुक पेज, फेसबुक आईडी, ट्विटर आईडी, लिंकडिन आईडी एवं इन्स्ट्राग्राम आईडी पर दे दी जाएगी। आईईसी ब्यूरो की संबंधित आईडी व पेज के लिंक दिए जा रहे हैं, जहां पर कल शनिवार को वैक्सीनेशन सेंटर्स एवं स्लॉट ओपन होने की सूचना दी जाएगी।
हनुमानगढ़, 13 मई। कोरोना महामारी संक्रमण की दूसरी लहर में अस्पताल में भर्ती हो रहे ज्यादातर मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। ऐसे में मरीजों को ऑक्सीजन की कोई कमी ना हो। इसको लेकर जिले भर से भामाशाह, समाजसेवी सहायता करने को लेकर आगे आ रहे हैं। पूर्व मंत्री डॉ. रामप्रताप की प्रेरणा से नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन श्री राजकुमार हिसारिया ने गुरूवार को 5 लाख 13 हजार कीमत के 15 ऑक्सीजन कंंसंट्रेटर जिला प्रशासन को सौंपे। इस अवसर पर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, एसपी श्रीमती प्रीति जैन, पूर्व मंत्री डॉ रामप्रताप, नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन श्री राजकुमार हिसारिया, श्री बलबीर बिश्नोई, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, पूर्व पीएमओ डॉ एमपी शर्मा, एसीएमएचओ डॉ पवन छिंपा, श्री मयंक हिसारिया,श्री राजीव हिसारिया,श्री राजेश हिसारिया,श्री दीपक खाती समेत अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर पूर्व मंत्री डॉ रामप्रताप ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि कोरोना जैसी महामारी ना तो हमने कभी पहले सुनी थी और ना देखी थी। ऐसी भंयकर बिमारी में हरेक व्यक्ति अपनी ओर से सहयोग कर रहा है। इसमें सबसे ज्यादा जरूरत ऑक्सीजन की है। हिसारिया परिवार ने पंद्रह ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जिला प्रशासन को दिए हैं जिनसे बहुत से मरीजों की जान बचेगी और हॉस्पिटल पर ऑक्सीजन सिलेंडर का लोड भी कम होगा। नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन श्री राजकुमार हिसारिया ने कहा कि पूर्व मंत्री डॉ रामप्रताप, श्री बलबीर बिश्नोई, पूर्व पीएमओ डॉ एमपी शर्मा की प्रेरणा से 15 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जिला प्रशासन को दिए हैं। अभी फिलहाल सबसे ज्यादा जरूरत जिले में ऑक्सीजन की है। लिहाजा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर देने से बढ़िया कोई सहयोग कार्य नहीं हो सकता। लिहाजा ये ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिए हैं ताकि ये सभी के काम आए और लोग जल्द स्वस्थ हों। इस अवसर पर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन श्री राजकुमार हिसारिया का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि जिले में कोरोना महामारी के चलते संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। जो लोग हॉस्पिटलाइज हो रहे हैं उनमें से ज्यादातर को ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ रही है। पूरे देश में ही लिक्विड ऑक्सीजन की कमी के चलते ये बार बार महसूस किया जा रहा था कि मरीजों को ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में किस प्रकार उपलब्ध करवाएं। इसी को लेकर हनुमानगढ़ जिले में लोगों की सहयोग करने को लेकर लहर पैदा हो गई है। पूर्व मंत्री डॉ रामप्रताप की प्रेरणा से हिसारिया परिवार ने 15 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिए हैं जिसमें पूर्व पीएमओ डॉ एमपी शर्मा और सीएमएचओ का अच्छा योगदान रहा है। जिला कलक्टर ने कहा कि जिस तरह से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जिला प्रशासन को जनसहयोग से मिल रहे हैं उससे हम कोरोना मरीजों के मैनेजमेंट में बड़ी सहायता मिलेगी। जिन मरीजों का 85 से ऊपर ऑक्सीजन सैचुरेशन है उनको इन ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से मदद मिलेगी। रिकवरी रेट हमारी बढ़ेगी और ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत में बहुत कमी आएगी। पहले डॉ प्रीत पाल सिंह सिद्दू ने जो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिए थे उसके बड़े ही पॉजिटिव रिजल्ट मिल रहे हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही ढाबां के अमरीका निवासी भामाशाह डॉ प्रीत पाल सिंह सिद्दू ने संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी की प्रेरणा से 335 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जिला प्रशासन को डेढ़ करोड़ की लागत से सौंपे थे।
हनुमानगढ़। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि शुक्रवार को हनुमानगढ़ जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तक 18 से 44 एवं 45 एवं इससे अधिक उम्र के नागरिकों के लिए वैक्सीन जिले में उपलब्ध नहीं है। निदेशालय से वैक्सीन की उपलब्धता की सूचना मिलने पर ही वैक्सीन आमजन को लगाई जाएगी। वैक्सीन आने की सूचना समाचार पत्रों एवं हनुमानगढ़ आईईसी ब्यूरो के फेसबुक पेज, फेसबुक आईडी, ट्विटर आईडी, लिंकडिन आईडी एवं इन्स्ट्राग्राम आईडी पर दे दी जाएगी।
हनुमानगढ़। आमजन को उपचार देने के उद्देश्य जिले के प्रत्येक ब्लॉक हेडक्वार्टर पर कोविड कंसल्टेंसी केयर सेंटर (4-सी) बना दिए गए हैं। घर-घर जाकर सर्वे कर रही स्वास्थ्यकर्मियों की टीम द्वारा आईएलआई (खांसी, जुकाम बुखार) के मरीजों का पहचान कर उन्हें कोविड कंसल्टेंसी केयर सेंटर पर चिकित्सकों से राय लेकर उपचार करने की सलाह दी जा रही है। 4-सी बनाने का उद्देश्य है कि आमजन बुखार होने पर सीधा जिला अस्पताल की ओर रुख ना करें। उसे ब्लॉक हेडक्वार्टर पर ही अच्छे से अच्छा सलाह एवं उपचार मिले। इससे सामान्य मरीजों को खण्ड स्तर पर ही उपचार मुहैया होगा। जिला चिकित्सालय में मरीजों की संख्या में कमी आएगी और वहां पदस्थापित डॉक्टर्स गंभीर मरीजों का इलाज कर पाएंगे। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि ब्लॉक हेडक्वार्टर पर अब तक छ: कोविड कंसल्टेंसी केयर सेंटर स्थापित कर दिए गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) भादरा, सीएचसी संगरिया, सीएचसी पीलीबंगा, सीएचसी नोहर, सीएचसी रावतसर एवं सीएचसी टिब्बी में कोविड कंसल्टेंसी केयर सेंटर शुरु कर दिए गए हैं। इनमें सीएचसी भादरा, सीएचसी नोहर एवं सीएचसी रावतसर में पहले से ही डेडीकेटीड कोविड हैल्थकेयर सेंटर (डीसीएचसी) के रूप में कार्य कर रहे हैं। 4-सी में कोविड संक्रमित मरीजों के लिए बैड भी आरक्षित रख दिए गए हैं, जहां कोविड संक्रमित मरीज को भर्ती कर इलाज किया जा सकेगा। कोविड प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा ने बताया कि 4-सी में प्रभारी के साथ-साथ चिकित्सक एवं नर्सिंगकर्मी भी लगाए गए हैं। कोविड संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए अतिरिक्त बैड, ऑक्सीजन सिलेण्डर, ऑक्सीजन कंसलट्रेटर, पल्स ऑक्सीमीटर सहित गाइडलाइन के अनुरुप उपलब्ध करवा दिया गया है। उन्होंने बताया कि भादरा 4-सी में प्रभारी डॉ. जसवंत सहारण के साथ 3 चिकित्सक, 9 स्वास्थ्यकर्मियों सहित 20 बैड, 45 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 11 ऑक्सीजन कंसलट्रेटर उपलब्ध हैं। 4-सी संगरिया में प्रभारी डॉ. बलवंत गुप्ता के साथ 5 चिकित्सक, 7 स्वास्थ्यकर्मियों सहित 16 बैड, 5 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 3 ऑक्सीजन कंसलट्रेटर उपलब्ध हैं। 4-सी पीलीबंगा में 4-सी पीलीबंगा में प्रभारी डॉ. हरिओम बंसल के साथ 1 चिकित्सक, 4 स्वास्थ्यकर्मियों सहित 10 बैड, 6 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 15 ऑक्सीजन कंसलट्रेटर उपलब्ध हैं। 4-सी नोहर में प्रभारी डॉ. सुरेन्द्र शर्मा के साथ 5 चिकित्सक, 12 स्वास्थ्यकर्मियों सहित 40 बैड, 113 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 36 ऑक्सीजन कंसलट्रेटर उपलब्ध हैं। 4-सी रावतसर में प्रभारी डॉ. सुभाष भिड़ासरा के साथ 3 चिकित्सक, 7 स्वास्थ्यकर्मियों सहित 25 बैड, 19 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 20 ऑक्सीजन कंसलट्रेटर उपलब्ध हैं। 4-सी टिब्बी में प्रभारी डॉ. रितिका पारीक के साथ 1 चिकित्सक, 1 स्वास्थ्यकर्मी सहित 8 बैड, 8 ऑक्सीजन सिलेण्डर व 8 ऑक्सीजन कंसलट्रेटर उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि आमजन 4-सी पर जाकर बेहतर इलाज ले सकते हैं।
हनुमानगढ़, 13 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण से 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं को बचाने के लिए सरकार की ओर से निशुल्क टीकाकरण किया जा रहा है। इसमें आर्थिक सहयोग हेतु एक शिक्षक दंपत्ति ने 11 हजार रूपए चैक गुरूवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय 32 एसएसडब्ल्यू के शिक्षक श्री दिनेश खीचड़ ने 11 हजार का चैक जिला कलक्टर को सौंपने के बाद मीडिया से मुखातिब होते बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी और उनके बाद जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल की युवा वर्ग में निशुल्क टीकाकऱण हेतु दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से आर्थिक सहयोग की अपील से प्रेरित होकआर उन्होने और उनकी धर्मपत्नी राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय नई खुंजा हनुमानगढ़ जंक्शन की अध्यापिका श्रीमती मीना चौधरी ने मिलकर ये सहयोग किया है। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने शिक्षक दंपत्ति का आभार जताते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश के 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं को निशुल्क कोरोना वैक्सीनेशन की घोषणा की थी। जिसको लेकर करीब 3 हजार करोड़ रूपए का भार राज्य सरकार पर आएगा। ऐसे में माननीय मुख्यमंत्री जी की 18 से 44 आयु वर्ग के युवाओं के निशुल्क टीकाकऱण के लिए सहयोग की अपील से प्रेरित होकर शिक्षक दंपत्ति ने जो आर्थिक सहयोग किया है उसके लिए हम आभार व्यक्त करते हैं। जिला कलक्ट ने कहा कि कोरोना महामारी की जंग हम सब मिलकर ही जीत पाएंगे। जिला कलक्टर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि पूरा देश और प्रदेश कोविड संक्रमण के गंभीर खतरे से जूझ रहा है। राज्य सरकार कोविड के बेहतर प्रबंधन के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और रोगियों को बेहतर उपचार उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सा संसाधनों में किसी तरह की कमी नहीं रख रही है, लेकिन संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए अधिकतम लोगों का वैक्सीनेशन जल्द से जल्द होना जरूरी है। इस दिशा में राज्य सरकार ने 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को भी निशुल्क वैक्सीन लगानी शुरू कर दी है। चूंकि कोरोना की दूसरी लहर में युवा, बच्चे एवं गर्भवती महिलाएं भी अधिक संख्या में संक्रमित हो रहे हैं। इसके चलते राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों की जीवनरक्षा को सर्वाच्च प्राथमिकता देते हुए राज्य में 18 से 44 आयु वर्ग (युवा पीढ़ी) के लिए निशुल्क टीकाकरण 1 मई से प्रदेश में किया जा रहा है। हनुमानगढ़ जिले में भी 18 से 44 आयु वर्ग में निशुल्क वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। जिला कलक्टर ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए निशुल्क वैक्सीनेशन की घोषणा के क्रम में दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से आर्थिक सहयोग की अपील की है। 18 से 44 आयु वर्ग के युवा वर्ग में निशुल्क वैक्सीनेशन हेतु सहयोग के लिए डेडिकेटेड बैंक खाता (Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT) खोला जा चुका है। माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर यह बैंक खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की जयुपर सचिवालय शाखा में खोला गया है, जिसकी खाता संख्या 40166914665 और आईएफएससी कोड SBIN0031031 है। सहयोगकर्ता इस विवरण के साथ नकद, चैक एवं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से इस खाते में सहयोग राशि हस्तान्तरित कर सकते हैं। इस खाते में प्राप्त दान राशि का प्रयोग केवल युवा वर्ग के निशुल्क टीकाकरण के लिए किया जाएगा। जिला कलक्टर ने जिले के दानदाताओं, भामाशाहों, समाज सेवियों, जनप्रतिनिधियों, कार्मिकों एवं समाज के सभी वर्गां से अपील करते हुए कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के युवा वर्ग में निशुल्क टीकाकरण हेतु मुख्यमंत्री सहायता कोष के अन्तर्गत Raj CMRF COVID VACCINATION ACCOUNT खाते में यथाशक्ति स्वैच्छिक सहयोग करें ताकि कोविड की इस भीषण चुनौती का हम सफलतापूर्वक सामना कर पाएं।
हनुमानगढ़। कोरोना संक्रमण में लोगों को बेहतर इलाज कराने के उद्देश्य से कोविड कंसलटेंशन सेंटर भी स्थापित किए जा रहे हैं। पीलीबंगा में आज बुधवार को एसीएमएचओ डॉ. पवन कुमार ने कोविड कंसलटेंशन सेंटर स्थापित किए जाने की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि उन्होंने आज पीलीबंगा के अम्बेडकर छात्रावास में स्थापित सीसीसी का जायजा लिया। उन्होंने वहां दी जा रही सुविधाओं और बेहतर बनाने के के संबंध में दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पीलीबंगा सीएचसी में कोविड कंसलटेंशन सेंटर बनाए जाने की तैयारियां की जा रही है। यहां पर 10 बैडेड कोविड कंसलटेंशन सेंटर को तैयार करने संबंधी तैयारियां की जा रही हैं। गुरुवार शाम तक यहां समस्त तैयारियां पूर्ण कर ली जाएंगी। उन्होंने पीलीबंगा बीसीएमएचओ एवं सीएचसी इंचार्ज से कोरोना संक्रमितों एवं पीलीबंगा में उपचार की तैयारियों के संबंध में बातचीत की।
हनुमानगढ़, 12 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण को रोकने को लेकर पूरे राज्य में 10 मई से लागू लॉकडाउन के चलते सभी धार्मिक स्थलों के बंद होने के कारण ईद की नमाज घरों में अदा करें। ईद के अवसर पर नमाज घरों में अदा करने की अपील और समझाइश को लेकर पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को टाउन जिला चिकित्सालय के पुलिस चौकी में मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। बैठक में एडीश्नल एसपी श्री जस्साराम बोस और सीओ सिटी श्री प्रशांत कौशिक ने मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों से कहा कि कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर की भयावहता के चलते लॉकडाउन लगे होने एवं सभी धार्मिक स्थल बंद रहने के कारण ईद की नमाज मुस्लिम समाज के द्वारा अपने घरों में अदा करने को लेकर जानकारी दी। इस पर मुस्लिम समाज के धर्मावलंबियों ने अपने घरों में रहकर नमाज अदा करने के अलावा सरकारी गाइडलाइन की पालना करते हुए अपना व समाज का ध्यान रखते हुए ईद का त्यौहार अपने घर में मनाने की बात कही। साथ ही इन धर्मावलंबियों ने मुस्लिम समुदाय के लोगों से घरों में रहकर ही ईद का त्योहार मनाने की अपील की। बैठक में टाउन थानाधिकारी श्री लक्ष्मण सिंह के अलावा शहर इमाम मोहम्मद अली, मुफ़्ती अहमद जिया नईमी प्रबंधक जामिया कादरिया मदरसा, पूर्व NDPS कोर्ट लोक अभियोजक एवं एडवोकेट श्री जाकिर हुसैन, टाउन इदमाह प्रतिनिधि श्री इसहार, श्री ताज मोहम्मद, सामाजिक कार्यकर्ता श्री यूनुस खान शामिल थे।
हनुमानगढ़, 11 मई।बेमौसम बारिश एवं अंधड से हुए कम चमक के गेहूं को एमएसपी पर निर्धारित छूट के अनुसार खरीद केन्द्रों पर खरीद करने के निर्देश जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने दिए हैं। जिला कलक्टर ने बताया कि रबी विपणन वर्ष 2021-22 के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा जिले में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद हेतु यूनिफोर्म स्पेसिफिकेशन में छूट प्रदान की गई है। लिहाजा जिले के समस्त खरीद केंद्रों पर संबंधित खरीद एजेसिंयों भारत सरकार द्वारा प्रदान की गई छूट के अनुसार आगामी खरीद जारी रखे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के निर्देश पर कोविड महामारी से उत्पन्न विशेष परिस्थितियों में किसानों को राहत प्रदान किये जाने के लिए केंद्र सरकार से पत्राचार कर बेमौसम बारिश एवं अंधड़ के कारण प्रभावित हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर एवं कोटा जिलों में गेहूं खरीद हेतु निर्धारित मापदंडों में छूट चाही गयी। इस सम्बन्ध में भारत सरकार द्वारा गठित टीम द्वारा प्रभावित जिलों में गेहूं फसल के खरीद सैंपल लेकर जांच की गयी। केंद्र सरकार द्वारा जांच उपरांत समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद हेतु निर्धारित मापदंडों के अनुसार छूट प्रदान की गयी जिसके कारण प्रदेश के गेहूं उत्पादक काश्तकारों को काफी राहत मिलेगी। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के शासन सचिव श्री नवीन जैन ने बताया कि प्रदेश में रबी विपणन वर्ष 2021-22 के दौरान समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद का कार्य सुचारु रूप से जारी है। उन्होंने बताया कि जिला हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर व कोटा में बेमौसम बारिश एवं अंधड़ के कारण गेहूं फसल की गुणवत्ता में गुणात्मक क्षति होने के कारण भारतीय खाद्य निगम के किस्म निरीक्षक द्वारा बरसात से प्रभावित गेहूं (बिनाकम चमक का गेहूं) को भारत सरकार के खरीद मानकों के अनुरूप नहीं नहीं पाया गया जिससे गेहूं खरीदने में असमर्थता जताई जा रही थी। उन्होंने बताया कि गेहूं उत्पादक किसानों को असुविधा हो रही थीं जिसके बारे में जिला कलेक्टरों द्वारा भी इस सम्बन्ध में छूट दिलाये जाने का अनुरोध किया गया।उन्होंने जिला कलक्टर हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर एवं कोटा सहित खरीद एजेंसीज को केंद्र सरकार से प्राप्त छूट के सम्बन्ध में अवगत कराते हुए गेहूं की निर्बाध रूप से खरीद किये जाने के निर्देश प्रदान किए हैं।
हनुमानगढ़, 11 मई। समस्त उद्योग एवं निर्माण से सम्बन्धित ईकाइयों में कार्य करने की अनुमति होगी ताकि श्रमिक वर्ग का पलायन रोका जा सके। जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक श्रीमती आकाशदीप ने बताया कि प्रत्येक उद्योग इकाई द्वारा अपने श्रमिक/ कार्मिक के लिये एक पहचान पत्र उपलब्ध कराना होगा जिसमें सम्बन्धित का नाम, फोटो, पता, मोबाईल न0 एवं शिफ्ट का समय अंिकत हो। जारी किया गया पास वाहन पर आगे चिपका कर रखना होगा। उन्होंने बताया कि उद्योग एवं निार्मण इकाईयों में काम करने वाले श्रमिकों/ कार्मिकों की सूचना की प्रक्रिया को और अधिक सरल बनाने हेतु e-intimation ID Card की व्यवस्था की गई है जो 12 मई 2021 से आवेदन हेतु चालू होगा। इस web portal https://covidinfo.rajasthan.gov.in--> e-intimation by industries पर अप्लाई कर प्राप्त किये गये पहचान पत्र इकाई द्वारा अधिकृत व्यक्ति के हस्ताक्षर मय सील सभी श्रमिकों को उपलब्ध कराना होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि समस्त कार्यस्थल पर कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन किया जाना सुनिश्चित करे। पालना नही करने वाले उद्यमों पर आई.पी.सी. की सम्बन्धित धाराओं एवं राजस्थान महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की जायेगी। अधिक जानकारी हेतु गृह विभाग राजस्थान के इस लिंक https://home.rajasthan.gov.in/content/homeportal/en/homedepartment/order.html से सूचना प्रापत करे।
हनुमानगढ़, 11 मई। जिले को कोविशील्ड की 11400 डोज प्राप्त हुई है। बुधवार 12 मई को 45 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को कोविड-19 वैक्सीनेशन की द्वितीय डोज (बूस्टर डोज) लगाई जाएगी। उनके साथ हैल्थ वर्कर्स व फ्रण्टलाइन वर्कर्स भी द्वितीय डोज लगवा सकेंगे। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने बताया कि जिले को चूरू से कोविशील्ड की 11400 डोज मिली, जो खण्डवार वितरित करवा दी गई। बुधवार 12 मई को 45 से अधिक आयु वाले नागरिकों, हैल्थ वर्कर्स व फ्रण्टलाइन वर्कर्स का द्वितीय डोज का वैक्सीनेशन किया जाएगा। वह व्यक्ति जिन्होंने प्रथम डोज लगवाए को 42 दिन या इससे अधिक दिन हो गए हैं, वे कल कोविड वैक्सीनेशन करवा सकते हैं। इसके लिए 106 वैक्सीन सैण्टर बनाए गए हैं, जहां कल वैक्सीनेशन किया जाएगा। आज 1459 ने करवाया वैक्सीनेशन जिले में आज 18 से 44 वर्ष की आयु वर्ग के 1459 लोगों ने कोविड-19 वैक्सीनेशन करवाया। आज जिला स्तर पर 6 वैक्सीनेशन सैण्टर्स बनाए गए थे, जहां पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद ऑनलाइन अपाइटमेंट दिए गए। अपाइटमेंट मिलने के बाद आज वैक्सीनेशन किया गया। जहां पर वैक्सीनेशन किया जाना है, उसकी जानकारी भी लाभार्थी को मोबाइल पर ही प्राप्त हो गई थी, जिसके अनुसार आज उनका वैक्सीनेशन किया गया। भादरा में बनाए गए दो सेटर्स में 547, हनुमानगढ़ में बनाए गए दो सेंटर्स में 483, संगरिया में बनाए गए सेंटर में 249 एवं टिब्बी में बनाए गए सेंटर में 180 नागरिकों ने वैक्सीनेशन करवाया।
विधायक श्री गुरदीप शाहपीनी, श्री सिद्दू की मां ढाबां सरपंच श्रीमती सिमरजीत सिद्दू और उनके भाई ने जिला प्रशासन को सौंपे 335 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हनुमानगढ़, 11 मई। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में जहां सभी जगह ऑक्सीजन की कमी महसूस की जा रही है। वहां संजीवनी के रूप में ढाबां के भामाशाह और वर्तमान में अमेरीकी बेस कंपनी सोलर डायग्नोसिस के सीईओ डॉ प्रीत पाल सिंह सिद्धू ने संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी की प्रेरणा से 335 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हनुमानगढ़ भिजवाए हैं। जिन्हें जो मंगलवार सु,बह उनकी मां ढाबां सरपंच श्रीमती सिमरजीत कौर, उनके भाई श्री रमनदीप सि्ददू, संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी, पूर्व मंत्री डॉ रामप्रताप और अन्यों ने जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, एसीएमएचओ डॉ पवन छिंपा, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह की उपस्थित में जिला प्रशासन को सौंपे। जिन्हें मंगलवार को ही जिला अस्पताल और विभिन्न तहसीलों की पीएचसी, सीएचसी भिजवा दिया गया। एसीएमएचओ डॉ पवन छिंपा ने बताया कि जिला अस्पताल को 100, भादरा तहसील में 50, नोहर में 25, रावतसर में 25, पीलीबंगा में 30, टिब्बी में 20 , संगरिया में 40 और हनुमानगढ़ की दो सीएचसी पक्कासहारणा और धौलीपाल में 5-5 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भिजवा दिए गए। 25 मशीनों को सीएमएचओ कार्यालय में रिजर्व में रखे गए हैं। खास बात ये कि जिला कलक्टर के विशेष प्रयास और राज्य सरकार के सहयोग से 12 प्रतिशत जीएसटी में भी छूट दे दी गई। भामाशाह और वर्तमान में अमेरीकी बेस कंपनी सोलर डायग्नोसिस के सीईओ ढाबां के डॉ प्रीत पाल सिंह सिद्धू की मां और वर्तमान में ढाबां सरपंच श्रीमती सिमरजीत कौर ने इस अवसर पर कहा कि मेरे बेटे ने बाहर से ये ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जरूरतमंदों के लिए भेजे हैं इससे वे बहुत खुश हैं और उम्मीद करती हैं कि ये ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लोगों के जीवन बचाने में काम आएंगे। डॉ प्रीतपाल सिंह सिद्दू के भाई ढाबां निवासी श्री रमनदीप सिद्दू ने कहा कि मेरे बड़े भाई अमेरीका मे रह रहे हैं उन्हें जब दिल्ली में लोगों के रोड़ पर ऑक्सीजन लगाने की स्थिति का पता चला तो उन्होने 1000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भारत भेजने का फैसला किया जिसमें से 335 हनुमानगढ़, 335 खालसा एड और 330 दिल्ली इंटरनेश्नल सेवा समिति को भिजवाए गए हैं। उन्होने कहा कि दान आसान है लेकिन सेवा करना बड़ा कार्य है। विधायक और जिला कलक्टर के सहयोग से तीन दिन में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हनुमानगढ़ पहुंच गए। अब जरूरतमंद लोगों को ये उपलब्ध हों। इस अवसर पर संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी ने कहा कि हमारे जिले में कोरोना की दूसरी लहर में सबसे बड़ी समस्या आक्सीजन की ही आ रही है। ज्यादातर मरीजों को इसकी जरूरत महसूस हो रही है। दिल्ली में लोगों की हालत देखकर ढाबां के अमरीका निवासी डॉ प्रीतपाल सिंह सिद्धू ने एक हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन दिल्ली में देने भिजवाने का जब हमें पता चला तो हमने उनके भाई श्री रमनदीप सिद्धू और उनकी मां ढाबां सरपंच श्री सिमरजीत कौर से कहा कि हनुमानगढ़ जिले के लिए भी कुछ करें। सारा लोड जिला अस्पताल पर पड़ रहा है। ऐसे में उन्होने 335 ऑक्सीजन कंंसंट्रेटर हनुमानगढ़ को देने की बात कही। जिनकी लागत करीब डेढ़ करोड़ रूपए हैं। सोमवर रात 10 बजे दिल्ली से लेकर आए। इन मशीनों से बड़ा फायदा जिले को मिलेगा। इस अवसर पर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कहा कि ना केवल हनुमानगढ़ बल्कि पूरे देश में लिक्विड ऑक्सीजन की बहुत कमी है। कोरोना की दूसरी लहर में जो मरीज अस्पताल में आ रहे हैं उनमें से 60 से 70 फीसदी मरीजों को ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ रही है। इस संकट काल में संगरियाा विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी की प्रेरणा से ढाबां के भामाशाह और वर्तमान में अमेरीकी बेस कंपनी सोलर डायग्नोसिस के सीईओ डॉ प्रीत पाल सिंह सिद्धू ने बहुत ही मानवीयता का कार्य करते हुए जिला प्रशासन के लिए 335 ऑक्सीजन कंंसंट्रेटर निशुल्क प्रदान किए हैं। जिन्हें मंगलवार को ही जिले की विभिन्न तहसीलों की पीएससी, सीएचसी और जिला अस्पताल में भेज दिया जाएगा। उन्होने कहा कि इससे जिला अस्पताल का भी भार कम होगा। इससे लोगों में मानसिक रूप से संतुष्टी मिलेगी कि मुझे शुरूआती दौर में ही ऑक्सीजन मिल गई है। तीन चार दिन लगातार इससे ऑक्सीजन प्राप्त करेंगे तो उनकी रिकवरी रेट भी अच्छी हो जाएगी।बहुत ही कम समय में उन्होने ये कार्य किया है राज्य सरकार ने भी 12 प्रतिशत जीएसटी में भी राज्य सरकार के सहयोग से मिल गई। राज्य सरकार ने इसे बहुत ही सरल कर दिया। इससे हमें मात्र 3 दिन में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्राप्त हो गए। इससे हनुमानवासियों को बहुत सुविधा मिलेगी। जिला कलक्टर ने कहा कि जिला प्रशासन का लगातार प्रयास है कि जिले के लोगों के सहयोग से यहां लोगों को बचाए रखें किसी को ना मरने दें। जिला कलक्टर ने कहा कि कोई भी डॉक्टर किसी मरीज को मारना नहीं चाहता है। जिला अस्पताल में दिनरात डॉक्टर्स मरीजों को बचाने में लगे हैं। बहुत ही अच्छी सेवा डॉक्टर्स कर रहे हैं। संसाधनों और समय की कमी या किसी वजह से कुछ होता है तो परिजन अपनी भावनाओं को और आक्रोश को संयमित रखे। उन्होने कहा कि ये संकट का समय है जिसमें प्रत्येक व्यक्ति का सहयोग जरूरी है। ताकि हमारे कोरोना वॉरियर्स डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टॉफ है जो 18 से 20 घंटे ड्यूटी दे रहे हैं। वे डेडिकेशन के साथ मेहनत करते रहें। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना की पहली लहर में हम सबने मिलकर विजय प्राप्त की थी। दूसरी लहर भंयकर है। लेकिन हम सब मिलकर विजय प्राप्त करेंगे। इस संकट से निकलने में आप सब हमारा सहयोग करें। ये रहे उपस्थित- इस अवसर पर भामाशाह डॉ प्रीत पाल सिंह सिद्दू की मां ढाबां सरपंच श्रीमती सिमरजीत कौर, भाई श्री रमनदीप सिद्दू, संगरिया विधायक श्री गुपदीप शाहपीनी, जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, पूर्व मंत्री डॉ रामप्रताप,श्री बलबीर बिश्नोई, एसडीएम श्री कपिल यादव, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा,पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, तहसीलदार श्री दानाराम मीणा, एसई डिस्कॉम श्री मांगीलाल बिश्नोई, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, एसीएमएचओ डॉ पवन छिंपा, पूर्व उपप्रधान श्री हरवीर सिंह, हरिपुरा सरपंच श्री सुरेन्द्र जाखड़, सिंहपुरा सरपंच श्री जोहन सिंह, पंचायत समिति डायरेक्टर श्री हरदेव सिंह ग्रेवाल, श्री उत्तम सिंह राठौड़, ए़डवोकेट श्री प्रिंस मिढ्ढा, श्री संजय जिदंल, एडवोकेट श्री जसवीर सिंह बराड़,श्री बलकरण सिंह सिददू,श्री कुलदीप सिहं सिद्दू,श्री मनदीप सिंह सिद्दू, श्री योगेश पालीवाल, श्री गगन मिढ्ढा, श्री सिकंदर सिंह आदि मौजूद रहेे।
शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने, तनाव मुक्त आनंदित जीवन व आंतरिक विकास को लेकर देंगे महत्वपूर्ण जानकारी हनुमानगढ़, 09 मई। कोरोना महामारी के इस संकटकाल में लोगों का तनावग्रस्त होना स्वाभाविक है। ऐसे माहौल में जो लोग घरों में बैठे हैं वे भी थोड़ा बहुत तनाव तो झेल ही रहे हैं। ऐसे माहौल में जिले में हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़ाने को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने नवाचार करते हुए आनंदम पहल की है। जिसके अंतर्गत रेलवे के गोल्डमेडलिस्ट पूर्व इंजीनियर संबुद्ध स्वामी आलोक आज (10 मई) से 14 मई तक सुबह 8 से 9 बजे तक यूट्यूब चौनल पर लाइव होंगे। इसका लिंक सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय की ओर से जारी किया जाएग। उन्होने बताया कि तय कार्यक्रम के अनुसार 10 मई को सुबह 8 से 9 बजे तक शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने को लेकर सम्यक आहार पर प्रस्तुति दी जाएगी। 11 मई को तनाव मुक्त जीवन के लिए सम्यक दृष्टिकोण, 12 मई को सुंदर जीवन सृजन को लेकर सम्यक ज्ञान, 13 मई को आनंदित जीवन के लिए सम्यक व्यवहार और 14 मई को सफलता व आंतरिक विकास के लिए सम्यक संकल्प पर अपनी प्रस्तुति देंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि लोग घर बैठे इस यूट्यूब चौनल( आनंदम स्वामी आलोक) पर कार्यक्रम को देख सकेगें। उम्मीद की जा रही है कि कार्यक्रम को देखकर लोग अच्छा महसूस करेंगे। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बताया कि महामारी रेड अलर्ट- स्व अनुशासन पखवाड़ा की निरंतरता में सरकार ने 10 से 24 मई तक लॉकडाउन लगाया है। जिसमें लोग अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकल पाएंगे। लिहाजा लोग इस तरह के कार्यक्रम देखें और समय का सदुपयोग करें। जिला कलक्टर ने आमजन से अपील की है कि वे लॉकडाउन की गाइडलाइन की पालना करें।माननीय मुख्यमंत्री की शादी टालने की अपील को साकार करें। हम सब स्वस्थ रहेंगे तो शादी समेत सभी तरह के समारोह भविष्य में भी अच्छे से आयोजित किए जा सकेंगे। साथ ही कहा कि अति आवश्यक होने पर ही घरों से निकले और मास्क लगाकर ही निकलें। मुख्यमंत्री जी की नो मास्क, नो मूवमेंट की पालना करें।
हनुमानगढ़, 09 मई। कोरोना महामारी के इस संक्रमण काल में माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की लोगों से शादी टालने की अपील का असर अब जिले भर में देखने को मिल रहा है। जिले के एडिश्नल एसपी श्री जस्साराम बोस ने भी अपने बेटे मुकेश की शादी स्थगित कर दी है। शादी 22 मई को होनी थी। पाली जिले के जीवंदकला गांव से बारात पाली जिले की ही मारवाड़ तहसील में जानी थी। शादी के कार्ड भी सारे बंट चुके थे। लेकिन मुख्यमंत्री की शादी टालने की अपील के बाद जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल और पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन के द्वारा लोगों से शादी टालने के आग्रह को देखते हुए एडीश्नल एसपी श्री बोस ने भी अपने बेटे की शादी टालने का निर्णय लिया। श्री बोस ने मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि अभी कोरोना से लोगों को बचाने का समय है। जुलाई तक हालात सामान्य होंगे तो बेटे की शादी धूमधान से करेंगे। रावतसर के श्री किशनलाल स्वामी ने बेटे की शादी की स्थगित माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की कोरोना काल में शादी टालने की अपील का असर रावतसर में भी दिखाई दे रहा है। रावतसर के श्री किशनलाल स्वामी ने अपने पुत्र विजेन्द्र स्वामी की शादी हनुमानगढ़ जंक्शन के सेक्टर नंबर 6 निवासी श्री लाल चंद की पुत्री ममता जो अध्यापक पद पर बाड़मेर जिले में पद स्थापित है से तय की थी। शादी का शुभ मुहूर्त 26 मई 2021 को करना निश्चित किया था। माननीय मुख्यमंत्री की शादी टालने की अपील और कोरोना महामारी को देखते हुए दोनों परिवारों ने आपसी सहमति से शादी को स्थगित कर दी है। अब आगे उचित समय आने पर मुहूर्त निकलवाया जाकर शादी की तारीख तय की जाएगी रावतसर के ही जगदीश सिसोदिया ने अपने दो बेटों की शादी की स्थगित कोरोना महामारी के चलते लगे लॉकडाउन और मुख्यमंत्री की शादी टालने की अपील को देखते हुए जिले भर में लोगों के द्वारा शादी स्थगित करने के समाचार मिल रहे हैं। रावतसर के श्री जगदीश सिसोदिया ने भी अपने दो बेटों की शादी को स्धगित कर दिया है। श्री सिसोदिया बताते हैं कि दोनों बेटों की शादी 14 मई को होनी तय थी। लेकिन मुख्यमंत्री जी की अपील से प्रेरित होकर उन्होने शादी टालने का निर्णय लिया है। श्री सिसोदिया रावतसर में बुकिंग एजेंट का कार्य करते हैं।
हनुमानगढ़, 08 मई। कोरोना महामारी के इस संक्रमण काल में लोगों को इस बिमारी से बचाने के लिए नोहर विधायक श्री अमित चाचाण ने नोहर विधानसभा क्षेत्र के 18 से 45 आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन हेतु विधायक कोटे से 3 करोड़ रूपए दिए हैं। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को शनिवार को जारी किए गए पत्र में श्री चाचाण ने लिखा है कि माननीय मुख्यमंत्री महोदय द्वारा विधायक स्थानीय क्षेत्रीय विकास कोष में प्रतिवर्ष प्रति विधायक बजट रू 5 करोड़ की घोषणा करने के क्रम में उनके विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास कोटे से कोविड 19 की स्थिति को देखते हुए नोहर विधानसभा क्षेत्र में 18 से 45 आयु वर्ग के व्यक्तियों को कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीनेशन पर होने वाले खर्च के लिए 3 करोड़ रूपए देने की अनुशंसा की जाती है।
हनुमानगढ़, 08 मई। कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच जिले के लोगों को ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए हनुमानगढ़ विधायक चौधरी विनोद कुमार ने शनिवार को चिकित्सा मंत्री श्री रघु शर्मा को एक पत्र लिखा है। पत्र में चौधरी विनोद कुमार ने चिकित्सा मंत्री से मांग की है कि जिले के निर्धारित कोटे की लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन टैंकर के जरिए सीधे हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर नवस्थापित विकास मेडिकल गैसेज रिको प्रथम फेज को भिजवाने की कार्यवाही करें। पत्र में लिखा है कि जिला मुख्यालय पर रिको फेज प्रथम में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की स्थापनाा की जा चुकी है। बावजूद इसके 05 मई को उद्योग विभाग के सचिव और अध्यक्ष रीको के द्वारा जयपुर से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का टैंकर श्रीगंगानगर भिजवा दिया गया। जिससे हनुमानगढ़ को लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन मिलने में अनावश्यक देरी हुई तथा परिवहन खर्च व समय की हानि भी हुई।साथ ही वर्तमान व्यवस्था चालू रहने से हनुमानगढ़ जिला को उसके हिस्से की निर्धारित लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की मात्रा से कम मिल पा रही है। लिहाजा आगे से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का टैंकर सीधे हनुमानगढ़ भिजवाएं ताकि प्राप्त ऑक्सीजन का भंडारण व वितरण हनुमानगढ़ जिला प्रशासन के पूर्ण नियंत्रण में होने से जिले के कोविड संक्रमित मरीजों को समय पर समुचित ऑक्सीजन मिल सके। इसको लेकर हनुमानगढ़ विधायक चौ विनोद कुमार ने चिकित्सा मंत्री से फोन पर सीधी बात भी की। और पूरी समस्या को लेकर उनके अवगत करवाया। चिकित्सा मंत्री ने आश्वासन दिया कि इस समस्या का शीघ्र ही निदान कर दिया जाएगा।
हनुमानगढ़, 8 मई। जिले में आज कोविड वैक्सीनेशन पूर्व की भांति जारी रहा। आमजन ने 59 टीकाकरण केन्द्रों पर जाकर वैक्सीनेशन करवाया। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि जिले में शनिवार को सुबह से चिकित्सा संस्थानों पर 45 से अधिक उम्र के लोग वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे। शनिवार को 59 चिकित्सा संस्थानों पर कोविड वैक्सीनेशन किया। ४५ से ५९ वर्ष की आयु के 4141 नागरिकों का वैक्सीनेशन किया गया जबकि ६० वर्ष की अधिक की आयु के 3857 बुजुर्गों का वैक्सीनेशन किया गया। आज जिले में 7998 लोगों ने वैक्सीनेशन करवाया।
रेलवे के गोडमैडलिस्ट पूर्व इंजीनियर यूट्यूब चैनल पर 10 से 14 मई तक सुबह 8 से 9 बजे होंगे लाइव शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने, तनाव मुक्त आनंदित जीवन व आंतरिक विकास को लेकर देंगे महत्वपूर्ण जानकारी हनुमानगढ़, 08 मई। कोरोना महामारी के इस संकटकाल में लोगों का तनावग्रस्त होना स्वाभाविक है। ऐसे माहौल में जो लोग घरों में बैठे हैं वे भी थोड़ा बहुत तनाव तो झेल ही रहे हैं। ऐसे माहौल में जिले में हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़ाने को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने नवाचार करते हुए आनंदम पहल की है। जिसके अंतर्गत रेलवे के गोल्डमेडलिस्ट पूर्व इंजीनियर संबुद्ध स्वामी आलोक 10 मई से 14 मई तक सुबह 8 से 9 बजे तक यूट्यूब चैनल पर लाइव होंगे। इसका लिंक सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय की ओर से जारी किया जाएग। उन्होने बताया कि तय कार्यक्रम के अनुसार 10 मई को सुबह 8 से 9 बजे तक शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने को लेकर सम्यक आहार पर प्रस्तुति दी जाएगी। 11 मई को तनाव मुक्त जीवन के लिए सम्यक दृष्टिकोण, 12 मई को सुंदर जीवन सृजन को लेकर सम्यक ज्ञान, 13 मई को आनंदित जीवन के लिए सम्यक व्यवहार और 14 मई को सफलता व आंतरिक विकास के लिए सम्यक संकल्प पर अपनी प्रस्तुति देंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि लोग घर बैठे इस यूट्यूब चैनल( आनंदम स्वामी आलोक) पर कार्यक्रम को देख सकेगें। उम्मीद की जा रही है कि कार्यक्रम को देखकर लोग अच्छा महसूस करेंगे। गौरतलब है कि ये कार्यक्रम संगरिया तहसीलदार श्री विवेक चौधरी और सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई के सहयोग से तैयार किया गया है। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बताया कि महामारी रेड अलर्ट- स्व अनुशासन पखवाड़ा की निरंतरता में सरकार ने 10 से 24 मई तक लॉकडाउन लगाया है। जिसमें लोग अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकल पाएंगे। लिहाजा लोग इस तरह के कार्यक्रम देखें और समय का सदुपयोग करें। जिला कलक्टर ने आमजन से अपील की है कि वे लॉकडाउन की गाइडलाइन की पालना करें।माननीय मुख्यमंत्री की शादी टालने की अपील को साकार करें। हम सब स्वस्थ रहेंगे तो शादी समेत सभी तरह के समारोह भविष्य में भी अच्छे से आयोजित किए जा सकेंगे। साथ ही कहा कि अति आवश्यक होने पर ही घरों से निकले और मास्क लगाकर ही निकलें। मुख्यमंत्री जी की नो मास्क, नो मूवमेंट की पालना करें।
हनुमानगढ़, 08 मई। कोरोना महामारी के इस संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने 10 से 24 मई तक लॉकडाउन की घोषणा की है। लॉकडाउन में लोग घरों में ही रहें। अनावश्यक रूप से बाहर ना निकलें। इसको लेकर जिले के वरिष्ठ साहित्यकार डॉ भरत ओला ने हनुमानगढ़ के निवासियों से अपील करते हुए कहा कि अगर हम घरों में रहेंगे तो जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य कर्मियों पर एक तरह से अहसान ही करेंगे। अस्पतालों का बोझ कम होगा तो डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को भी थोड़ी रिलीफ मिलेगी। अति जरूरतमंद लोगों को बेड और पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिल सकेगी। ऐसे में डॉक्टर्स कुछ और जिंदगी बचा पाने में कामयाब होंगे। डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मी भी इंसान हैं। कम से कम इनके लिए ही घरों में रहे। डॉ ओला ने प्रेस में आमजन से अपील करते हुए लिखा है कि पल-प्रतिपल बुरी खबर सुनने को मिल रही है। कभी कोई दोस्त जा रहा है, कभी दोस्त का परिजन, तो कभी कोई रिश्तेदार। इतने भयावह और क्रूर समय की तो किसी ने कल्पना ही नहीं की थी। समझ में नहीं आता क्या करें ? डॉक्टर कहते हैं पैनिक नहीं लेना। मानते हैं पैनिक लेने से कोई फायदा नहीं।लेकिन मन बहुत ही विचलित और उडार है। सोचा नहीं था कि 21वीं सदी में इस तरह की महामारी देखने को मिलेगी। हम सब एक दूसरे को यही सलाह दे रहे हैं कि घर में रहें और सुरक्षित रहें। बिल्कुल हमें घर में भी रहना है और सुरक्षित भी लेकिन डॉक्टर ,नर्स, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिसकर्मी,प्रशासन और अन्य दूसरे वे लोग जो इस महामारी में रात दिन सेवाएं दे रहे हैं, वे बेचारे घर में कैसे रहें ? संकट और खिन्नता भरे समय में हमारा फर्ज बनता है कि हम उन लोगों के प्रति भी सोचें और उनको उचित सम्मान दें। कई बार यह देखने में आया है कि बीमार के परिजनों द्वारा डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बदसलूकी की जाती है। मानते हैं कि बीमार के परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूटा है लेकिन हमें संयम से काम लेना है।हमें यह भी देखना है कि डॉक्टर या स्वास्थ्य कर्मी जानबूझकर लापरवाही या किसी की जान नहीं ले रहे। वे भी इंसान हैं। उन्हें भी आराम की जरूरत है। उनका पेट भी खाना मांगता है। उनके भी छोटे-छोटे बच्चे हैं।उनके भी चिंतित मां-बाप और पत्नी घर पर इंतजार कर रहे हैं। इस भयानक महामारी से उन्हें भी डर लगता है। हमें यह समझना चाहिए कि उनकी भी कुछ मजबूरी या संसाधनों की कमी हो सकती है। इसमें कोई दो राय नहीं कि लापरवाही के कुछ अपवाद भी हो सकते हैं या आपदा में भी अवसर तलाशने वाले संवेदनहीन लोग भी हो सकते हैं लेकिन थोड़े से लोगों के कारण बहुत सारे लोगों का अपमान नहीं किया जाना चाहिए। आखिर में डॉ ओला ने लिखा है कि हम घर में रहेंगे तो प्रशासन एवं स्वास्थ्य कर्मियों पर भी एक तरह का एहसान ही करेंगे।अस्पतालों का बोझ कम होगा तो डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मियों को भी थोड़ी रिलीफ मिलेगी। लोगों को बेड और ऑक्सीजन मिलेगी, तो वे कुछ और जिंदगी बचा पाने में कामयाब होंगे। समझिए डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मी भी इंसान हैं। तमाम कोरोना वॉरियर्स को दिल से सलाम।
हनुमानगढ़, 07 मई। कोरोना महामारी संक्रमण की दूसरी लहर से आमजन को बचाने और कोरोना बचाव को लेकर प्रचार-प्रसार करने के लिए जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने जिला स्तर पर कोविड-19 प्रचार प्रसार टीम का गठन किया है। चार सदस्यीय इस टीम में सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई को प्रभारी अधिकारी और राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नोहर के चित्रकला प्राध्यापक श्री महेन्द्र प्रताप शर्मा, जवाहर नवोदय विद्यालय पल्लू के चित्रकला के प्राध्यापक श्री रामकिशन अडिग और राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय लखासर पीलीबंगा के शारीरिक शिक्षक और काटूनिस्ट श्री मस्तान सिंह को सदस्य बनाया गया है। आदेश में जिला कलक्टर ने जिले के आमजन को कोरोना से बचाव हेतु जागरूक करने व सावधानियां बरतने के व्यापक प्रचार-प्रसार विभिन्न माध्यमों से करने के लिए निर्देशित किया है। जिला कलक्टर ने बताया कि आज सोशल मीडिया के जरिए युवाओं को बड़ी संख्या में पहुंच सुनिश्चित की जा सकती है। वहीं विभिन्न प्रकार के वीडियो, पोस्टर, अपील इत्यादि जारी कर आमजन को कोरोना से बचाव को लेकर अधिक से अधिक संख्या में जागरूक करें। वरिष्ठ साहित्यकार डॉ भरत ओला भी प्रचार प्रसार टीम का सहयोग - जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बताया कि प्रचार प्रसार टीम के सहयोग को लेकर जिले के वरिष्ठ साहित्यकार डॉ भरत ओला को भी जिला स्तरीय टीम में शामिल किया गया है। डॉ ओला प्रचार प्रसार में स्थानीय भाषा में गीत, कोरोना से जागरूकता को लेकर पंक्तियां लिखने इत्यादि को लेकर सहयोग करेंगे। डॉ भरत ओला ने बताया कि वे प्रशासन की मदद करने के लिए सदैव तैयार हैं। कोरोना रोकथाम को लेकर वे भी अपना सर्वोच्च योगदान देंगे। गौरतलब है कि डॉ ओला ने कुछ समय पहले ही वीआऱएस लिया है
हनुमानगढ़, 7 मई। जिले को बीकानेर के रिजनल वैक्सीन स्टोर (आरवीएस) से कोविशील्ड की 7400 डोज वैक्सीन आज शुक्रवार को प्राप्त हुई, जो जिले में सिविल लाइन स्थित जिला वैक्सीन स्टोर (डीवीएस) में पहुंच गई। वैक्सीन को समस्त खण्ड स्तर पर वितरित करवा दी गई। शनिवार 8 मई को जिले के 62 वैक्सीन सैण्टर्स पर 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि जिले को शनिवार शाम कोविशील्ड की 7400 डोज प्राप्त हो गई, जिनका समस्त ब्लॉकों में वितरित करवा दिया गया। इनमें हनुमानगढ़ को वैक्सीन की 1600 डोज, नोहर को 1300 डोज, भादरा को 1500 डोज, पीलीबंगा को 800 डोज, रावतसर को 900 डोज, संगरिया को 650 डोज व टिब्बी को वैक्सीन की 650 डोज भिजवा दी गई है। शनिवार 8 मई को जिले के 62 वैक्सीन सैण्टर्स पर पूर्व की भांति 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने आमजन से आग्रह किया है कि शनिवार को विभाग द्वारा निर्धारित अपने नजदीकी चिकित्सा संस्थान पर वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे व निर्धारित गाइडलाइन की पालना करते हुए वैक्सीनेशन करवाएं। 62 जगहों पर होगा वैक्सीनेशन खण्ड हनुमानगढ - हनुमानगढ़ में गांव रोडांवाली, गांव 2 केएनजे, गांव गुरुसर, गांव कोहलां, एनएम लॉ कॉलेज, गांव 42 एसएसडब्ल्यू, गांव 42 एसएसडब्ल्यू, गांव नौरंगदेसर, गांव मूण्डा, पक्कासारना, जंक्शन स्थित कोर्ट कैम्पस, शहरी पीएचसी सुरेशिया, बस स्टैण्ड स्थित शहरी पीएचसी, कैनाल कॉलोनी डिस्पेंसरी तथा करणी धर्मशाला में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड नोहर - नोहर में शहरी पीएचसी, गांव फेफाना, गांव परलीका, गांव मेघाना व गांव बिरकाली में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड पीलीबंगा - पीलीबंगा स्थित सरकारी गर्ल्स स्कूल, राधा स्वामी डेरा दुलमाना, सब सैण्टर राधा स्वामी डेरा गोलूवाला, राजकीय बालिका विद्यालय अयालकी, पंचायत घर डबलीबास कुटुब, जीपीएस 2 3 एमओडी, राजकीय बालिका विद्यालय कोठांवाली व राजकीय बालिका विद्यालय जाखड़ंवाली में वैक्सीनेशन होगा। खण्ड भादरा - भादरा में राजकीय बालिका विद्यालय, गांव चिडियागांधी, गांव 6 एसडीआर, गांव निनान, गांव साहूवाला, गांव अजीतपुरा, गांव राजपुरा, गांव बोझाला, गांव जिगासरी बड़ी व गांव नेठराना में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड रावतसर - रावतसर में गांव में रामकन, गांव धन्नासर, गांव सरदारपुरा, गांव कनवानी, गांव केलनिया, गांव धनियासर, पल्लू, जेधासर, न्योलखी, 2 केकेएम, रावतसर, गांव 4 सीवाईएम, 4 डीडब्ल्यूएम, गांव 22 एजी व 15-16 केडब्ल्यूडी में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड संगरिया - संगरिया में वार्ड नं. 12 स्थित राजकीय बालिका विद्यालय, संगरिया में कृषि विज्ञान केन्द्र, गांव ढाबां, राजकीय बालिका विद्यालय दीनगढ़ व राजकीय बालिका विद्यालय रतनपुरा में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड टिब्बी - टिब्बी में राजकीय बालिका विद्यालय पीरकामडिया, टिब्बी, राजकीय बालिका विद्यालय नाईवाला, राजकीय बालिका विद्यालय रामपुरा रामसरा व राजकीय बालिका विद्यालय चहूवाली में वैक्सीनेशन किया जाएगा। ------------
हनुमानगढ़/जयपुर, 07 मई। जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) श्री सुधांश पंत एवं जल संसाधन विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री नवीन महाजन ने इंदिरा गांधी नहर परियोजना (आईजीएनपी) से जुड़े जिलों में जारी नहरबंदी के दौरान सभी क्षेत्रों में सुचारू पेयजल प्रबंधन पर सतत नजर रखने के निर्देश दिए हैं। श्री पंत एवं श्री महाजन शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेसिंग (वीसी) के माध्यम से इंदिरा गांधी नहर परियोजना से जुड़े श्री गंगानगर, जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर, हनुमानगढ़, झुंझुनू, जोधपुर, नागौर, चुरू और सीकर जिलों के जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, जल संसाधन विभाग एवं इंदिरा गांधी नहर परियोजना के अधिकारियों की संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। पीएचईडी के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं प्रमुख शासन सचिव, जल संसाधन विभाग ने सभी जिलों से सम्बंधित दोनो विभाग केे अधिकारियों से विस्तार से चर्चा करते हुए शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को पेयजल आपूर्ति के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में फीडबैक लिया। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम और कोविड-19 के कारण उत्पन्न चुनौतीपूर्ण स्थितियों में जलदाय विभाग और जल संसाधन विभाग के अधिकारी आपसी समन्वय, सर्तकता और सजगता के साथ कार्य करे। दोनों विभागों के शीर्ष अधिकारियों ने फील्ड में कार्यरत अधिकारियों को पेयजल प्रबंधन, मॉनिटरिंग और समन्वय के लिए निर्देशित किया। उन्होंने नहरबंदी के लिए जिला स्तर पर की गई प्लानिंग और उसके क्रियान्वयन के बारे में भी सभी अधिकारियों से विस्तृत चर्चा की। एसीएस श्री पंत ने कहा कि इंदिरा गांधी नहर में श्पोंडिंगश् तथा पीएचईडी के स्तर पर किए गए स्टोरेज के अलावा भी किसी जिले में टेल एंड पर किसी भी प्रकार की आवश्यकता हो तो टैंकर्स के माध्यम से जल परिवहन व्यवस्था एवं कंटीजेंसी के कार्यों को पूर्ण करते हुए लोगों को समय पर राहत दी जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे कोविड-19 की चुनौती को देखते हुए पूरी सावधानी रखें, श्कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियरश् को फॉलो करे और अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखते हुए अपना काम करे। उन्होंने जलदाय विभाग के मुख्य अभियंता (ग्रामीण) को नहरबंदी से सम्बंधित सभी जिलों के अधिकारियों से नियमित तौर पर चर्चा करते हुए पेयजल सप्लाई की स्थिति पर पूरा फोकस करने के निर्देश दिए। जल संसाधन विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री नवीन महाजन ने बताया कि इंदिरा गांधी नहर परियोजना में गत 28 अप्रैल से आरम्भ एक माह की पूर्ण नहरबंदी से पहले बीबीएमबी से कुछ अतिरिक्त पानी लेते हुए जलदाय विभाग को पेयजल आपूर्ति के लिए मुहैया कराया गया है। इंदिरा गांधी नहर परियोजना के 79 साइट्स पर मरम्मत एवं रखरखाव के कार्य निर्धारित शेड्यूल के अनुसार चल रहे है। ये सभी कार्य समय पर पूरे कर लिए जाएंगे। जिला मुख्यालयों से वीसी के दौरान जलदाय विभाग और जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रो में पेयजल सप्लाई की स्थिति, पानी के स्टोरेज की व्यवस्थाओं और अब तक के परिदृश्य पर प्रकाश डालते हुए नहरबंदी के शेष बचे दिनों के लिए तैयार रणनीति और आपसी समन्वय के बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पंत और जल संसाधन विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री महाजन ने कहा कि जनता को कहीं भी पेयजल की दृष्टि से कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। सभी अधिकारी नहरबंदी के बारे में अपने जिलों में लोगों को जागरूक करते हुए आगे भी ऐसी ही सक्रियता से कार्य जारी रखें। वीसी से पीएचईडी के मुख्य अभियंता (ग्रामीण) श्री आरके मीना एवं मुख्य अभियंता (विशेष प्रोजेक्ट्स) श्री दिलीप गौड़, मुख्य अभियंता (नागौर) श्री दिनेश गोयल, मुख्य अभियंता (जोधपुर) श्री नीरज माथुर, जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता श्री अमरजीत मेहरड़ा एवं हनुमानगढ़ में आईजीएनपी के मुख्य अभियंता श्री विनोद मित्तल के अलावा सम्बंधित जिलों के पीएचईडी, जल संसाधन विभाग एवं इंदिरा गांधी नहर परियोजना के अधिकारी भी जुड़े।
हनुमानगढ़। जिले को बीकानेर के रिजनल वैक्सीन स्टोर (आरवीएस) से कोविशील्ड की 7400 डोज वैक्सीन आज शुक्रवार को प्राप्त हुई, जो जिले में सिविल लाइन स्थित जिला वैक्सीन स्टोर (डीवीएस) में पहुंच गई। वैक्सीन को समस्त खण्ड स्तर पर वितरित करवा दी गई। शनिवार 8 मई को जिले के 62 वैक्सीन सैण्टर्स पर 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि जिले को शनिवार शाम कोविशील्ड की 7400 डोज प्राप्त हो गई, जिनका समस्त ब्लॉकों में वितरित करवा दिया गया। इनमें हनुमानगढ़ को वैक्सीन की 1600 डोज, नोहर को 1300 डोज, भादरा को 1500 डोज, पीलीबंगा को 800 डोज, रावतसर को 900 डोज, संगरिया को 650 डोज व टिब्बी को वैक्सीन की 650 डोज भिजवा दी गई है। शनिवार 8 मई को जिले के 62 वैक्सीन सैण्टर्स पर पूर्व की भांति 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह ने आमजन से आग्रह किया है कि शनिवार को विभाग द्वारा निर्धारित अपने नजदीकी चिकित्सा संस्थान पर वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे व निर्धारित गाइडलाइन की पालना करते हुए वैक्सीनेशन करवाएं। 62 जगहों पर होगा वैक्सीनेशन खण्ड हनुमानगढ : हनुमानगढ़ में गांव रोडांवाली, गांव 2 केएनजे, गांव गुरुसर, गांव कोहलां, एनएम लॉ कॉलेज, गांव 42 एसएसडब्ल्यू, गांव 42 एसएसडब्ल्यू, गांव नौरंगदेसर, गांव मूण्डा, पक्कासारना, जंक्शन स्थित कोर्ट कैम्पस, शहरी पीएचसी सुरेशिया, बस स्टैण्ड स्थित शहरी पीएचसी, कैनाल कॉलोनी डिस्पेंसरी तथा करणी धर्मशाला में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड नोहर : नोहर में शहरी पीएचसी, गांव फेफाना, गांव परलीका, गांव मेघाना व गांव बिरकाली में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड पीलीबंगा : पीलीबंगा स्थित सरकारी गल्र्स स्कूल, राधा स्वामी डेरा दुलमाना, सब सैण्टर राधा स्वामी डेरा गोलूवाला, राजकीय बालिका विद्यालय अयालकी, पंचायत घर डबलीबास कुटुब, जीपीएस 2 3 एमओडी, राजकीय बालिका विद्यालय कोठांवाली व राजकीय बालिका विद्यालय जाखड़ंवाली में वैक्सीनेशन होगा। खण्ड भादरा : भादरा में राजकीय बालिका विद्यालय, गांव चिडिय़ागांधी, गांव 6 एसडीआर, गांव निनान, गांव साहूवाला, गांव अजीतपुरा, गांव राजपुरा, गांव बोझाला, गांव जिगासरी बड़ी व गांव नेठराना में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड रावतसर : रावतसर में गांव में रामकन, गांव धन्नासर, गांव सरदारपुरा, गांव कनवानी, गांव केलनिया, गांव धनियासर, पल्लू, जेधासर, न्योलखी, 2 केकेएम, रावतसर, गांव 4 सीवाईएम, 4 डीडब्ल्यूएम, गांव 22 एजी व 15-16 केडब्ल्यूडी में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड संगरिया : संगरिया में वार्ड नं. 12 स्थित राजकीय बालिका विद्यालय, संगरिया में कृषि विज्ञान केन्द्र, गांव ढाबां, राजकीय बालिका विद्यालय दीनगढ़ व राजकीय बालिका विद्यालय रतनपुरा में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड टिब्बी : टिब्बी में राजकीय बालिका विद्यालय पीरकामडिय़ा, टिब्बी, राजकीय बालिका विद्यालय नाईवाला, राजकीय बालिका विद्यालय रामपुरा रामसरा व राजकीय बालिका विद्यालय चहूवाली में वैक्सीनेशन किया जाएगा।
हनुमानगढ़, 06 मई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने गुरूवार सुबह रावतसर एसडीएम कार्यालय में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने अधिकारियों को डोर-टू-डोर मेडिकल सर्वे को जारी रखने और एक बार फिर से सर्वे करने के निर्देश देने के साथ कहा कि मेडिकल किट भी साथ में बांट दी जाए। ताकि लोगों को प्रारंभिक इलाज के लिए इधर उधर ना जाना पड़े। जिला कलक्टर ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि ब्लॉक में सर्वाधिक कोरोना पॉजिटिव वाली तीन ग्राम पंचायत और ब्लॉक मुख्यालय के तीन वार्डों में जीरो मोबिलिटी लागू कर दी जाए। चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद 5-6 घंटे में संबंधित मरीज के पास चिकित्सा विभाग का कार्मिक दवा देने पहुंच जाए। ताकि मरीज की स्थिति का आकलन के साथ साथ उसका इलाज शुरू हो जाए। जिला कलक्टर ने बैठक में पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि सब्जी मंडी में सुबह पर्याप्त संख्या में जाप्ता लगाएं ताकि अनावश्यक भीड़ ना हों। सब्जीमंडी में दुकानें ऑड-इवन नंबर में ही खुलें। इसे सुनिश्चित करें। साथ ही कहा कि सब्जी मंडी में सब्जियों के ठेले अनावश्यक रूप से खड़े ना रहें। सभी ठेलों को वार्डवाइज वहां से रवाना करें। नगर पालिका के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी वार्डों में सैनेटाइजेशन करवाएं। साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। बैठक में जिला कलक्टर महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाले पोषाहार की क्वलिटी की जांच की जाए। अगर वह खराब है एक्सपायरी डेट की है तो उसे वितरीत ना किया जाए। इसका विशेष ध्यान रखें। जिला कलक्टर ने कहा कि सरकार ने 10 से लॉकडाउन लगा दिया है उसके लिए अलग से गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। उसकी पालना सख्ती के साथ करवाई जाए। लेकिन उससे पहले 9 मई तक ये सुनिश्चित करें कि विवाह समारोह में अधिकतम 31 लोग से ज्यादा शामिल ना हो। उपखंड अधिकारी के पास 31 लोगों की जो लिस्ट भेजी गई है। उनसे अलग कोई व्यक्ति शादी में शामिल ना हो। जिला कलक्टर ने इसको लेकर भी सख्ती बरतने के निर्देश दिए। बैठक में जिला कलक्टर के अलावा सीओ रावतसर श्री रणवीर मीणा, तहसीलदार श्रीमती उमा मित्तल, विकास अधिकारी श्री गोपीराम भांभू, सीडीपीओ श्रीमती रेणु चौधरी, थानाधिकारी श्री अशोक बिश्नोई, बीसीएमओ डॉ संजीव चौधरी,कार्यवाहक ईओ श्री प्रमोद स्वामी समेत अन्य ब्लॉक स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। ---------------------
हनुमानगढ़, 6 मई। जिला मुख्यालय के वार्ड नंबर 17 बी के आंगनबाड़ी केन्द्र पर खराब दाल की सप्लाई की शिकायत मिलने पर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए पूरे जिले में हाल ही में आपूर्ति की गई चना दाल की जांच के निर्देश गुरूवार को दिए। महिला एवं बाल विकास के उपनिदेशक और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों द्वारा जिला मुख्यालय के आंगनबाड़ी केन्द्र वार्ड नं. 17 बी की शिकायत की जांच की गई। जांच में आंगनबाड़ी केन्द्र पर 525 किग्रा चना दाल खराब/अवधिपार पाई गई। जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में आपूर्ति की गई 95637 किग्रा में से 25138 किग्रा दाल अवधिपार/खराब पाई गई है। जिसके आंगनबाड़ी केन्द्रों से वापस उठाव हेतु संबंधित को तुरन्त निर्देशित कर दिया गया है। प्रकरण में दोषी अधिकारी/कार्मिको पर कार्रवाई हेतु खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के महाप्रबंधक को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने को लिखा गया है। उन्होने बताया कि आगामी आपूर्ति अवधिपार/खराब नहीं होने की सुनिश्चितता करने के लिए समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारियों, महिला पर्यवेक्षको एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को केन्द्र पर पूरक पोषाहार की आपूर्ति लेने से पूर्व ही गुणवत्ता की जांच करने के लिए निर्देशित किया गया है एवं पोषाहार गुणवत्तापूर्ण नहीं होने की स्थिति में किसी भी हाल में आपूर्ति न लेने के लिए भी निर्देशित किया गया है। जांच में महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी व रसद विभाग के प्रवर्तन अधिकारी और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक श्री विनोद कुमार ढाल भी शामिल थे। इस अवसर पर वार्ड पार्षद श्री प्रदीप ऐरी मौके पर मौजूद रहे।
हनुमानगढ़, 06 मई। टाउन के श्री गौशाला समिति के हॉल में बनाया गया कोविड केयर सेंटर रविवार से शुरू हो जाएगा। 40 बैडेड इस कोविड केयर सेंटर में ऐसी व्यवस्थाएं की गई है कि ये किसी हैपनिंग प्लेस से कम नहीं लगता। सेंटर में की गई व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए गुरूवार शाम को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल प्रशासनिक अधिकारियों के साथ पहुंचे। जिला कलक्टर ने बताया कि 40 बैडेड इस कोविड केयर सेंटर में उन लोगों को रखा जाएगा जो कोरोना पॉजिटिव हैं लेकिन जिनमें कोरोना के लक्ष्ण सामान्य हैं, जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत नहीं है और जिनके घर में अलग से आइसोलेट रहने की जगह नहीं है। ऐसे लोग सीधे कोविड सेंटर मेंं नहीं आ सकेंगे। उन्हें बीसीएमओ के जरिए ही यहां भेजा जाएगा। जल्द ही इस कोविड केयर सेंटर को 40 से बढ़ाकर 60 बैड किया जाएगा। जिला कलक्टर के निरीक्षण के दौरान एसडीएम श्री कपिल यादव, बीसीएमओ डॉ ज्योति धींगड़ा, तहसीलदार श्री दानाराम मीणा, नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल,श्री गौशाला समिति के अध्यक्ष श्री मनोहर बंसल, श्री विजय रौंता, एडवोकेट श्री अमित माहेश्वरी मौजूद रहे। कोविड केयर सेंटर में ये रहेगी सुविधाएं- कोविड केयर सेंटर में व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुए जिला कलक्टर ने बताया कि यहां आने वाले मरीजों को योगा करवाया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक मरीज के लिए अलग से योगा मैट लगाई गई है। इसके अलावा यहां व्हीलचेयर और लिफ्ट की व्यवस्था, भाप की सुविधा, पीने के गर्म पानी, प्रोजेक्टर के माध्यम से मनोरंजक और मोटिवेश्नल कार्यक्रम दिखाने की व्यवस्था भी की गई है। जिला कलक्टर ने बताया कि खाने की व्यवस्था विभिन्न संस्थाओं व भामाशाहों से करवाई जाएगी। खाने की व्यवस्था को लेकर अभी राधास्वामी डेरा और पीरखाना से प्रस्ताव आया है। खाने की क्वालिटी उत्तम होगी। इसके अलावा यहां 24 घंटे मेडिकल स्टॉफ और पुलिस स्टॉफ भी मौजूद रहेगा। साथ ही यहां सुपरवाइजरी स्टॉफ भी लगाया गया है। जिला कलक्टर ने बताया कि कोविड केयर सेंटर में श्री गौशाला समिति की ओर से शानदार व्यवस्था की गई है। खास बात ये भी कि श्री गौशाला समिति ने खुद चलाकर यहां कोविड केयर सेंटर बनाने का प्रस्ताव प्रशासन को दिया और तमाम व्यवस्थाएं यहां उपलब्ध करवाई है। श्री गौशाला समिति की ओर से इस प्रोजेक्ट का इंचार्ज एडवोकेट श्री अमित माहेश्वरी को बनाया गया है।
हनुमानगढ़, 06 मई। जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बतया कि जिले में अब कोरोना पॉजिटिव और उनके संपर्क में आए लोगों को होम क्वारेंटीन में रखने के साथ साथ उनकी ऑनलाइन ट्रेकिंग की जाएगी। अगर कोई व्यक्ति होम क्वारेंटीन गाइडलाइन की पालना का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। साथ ही उसे होम क्वारेंटीन से हटाकर संस्थागत क्वारेंटीन में रखा जाएगा। जिला कलक्टर ने गुरूवार को सभी उपखंड अधिकारियों को एक पत्र लिखकर होम क्वारेंटीन किए गए लोगों की ऑनलाइन ट्रेकिंग करने और होम क्वारेंटीन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे में प्रतिदिन उन्हें जानकारी देने के लिए निर्देशित किया है। जिला कलक्टर ने बताया कि राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए अब सभी उपखंड अधिकारियों की एसएसओ आईडी पर ट्रेकिंग सॉफ्टवेयर उपलब्ध करवा दिया गया है। अब होम क्वारेंटीन किए गए लोगों की सभी एसडीएम ऑनलाइन ट्रेकिंग कर सकेंगे। उन्होने बताया कि अब कोरोना पॉजिटिव आए लोगों के साथ साथ उनके कॉन्टेक्ट में आए लोगों को भी होम क्वारेंटीन में रहना होगा। इसकी पालना नहीं करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम हम सब मिलकर ही कर सकते हैं। जो भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आए वो खुद होम क्वारेंटीन होने के साथ साथ उनके संपर्क में आए लोगों को भी होम क्वारेंटीन होने के लिए कहे।
हनुमानगढ़, 6 मई। गुरूवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव संदीप कौर की अध्यक्षता में जिला न्यायालय परिसर के नजदीक विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। विधिक जागरूकता शिविर में सचिव द्वारा उपस्थित आमजन को बाल विवाह को कहें ना अभियान के तहत बाल विवाह के दुष्परिणाम एवं इसे राकने के लिए बाल विवाह निषेध अधिनियम, 2006 के तहत निरोधात्मक, दण्डात्मक एवं सुरक्षात्मक प्रावधानों की जानकारी दी गई। शिविर में उपस्थित प्रतिभागियों को कोरोना वायरस संक्रमणकालीन परिस्थितियों के दौरान केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों की पालना करने तथा कोविड-19 वैक्सीनेशन के बारे में जागरूक किया गया तथा अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया तथा इससे संबंधित पम्पलेट्स व पोस्टर का वितरण किया गया।
हनुमानगढ़, 6 मई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना संक्रमितों मरीजों के शरीर में ऑक्सीजन का लेवल बढ़ाने के लिए उन्हें लम्बे समय तक पेट के बल लेटने की सलाह दी है। प्रोनिंग नाम की इस प्रक्रिया को करने के बाद मरीजों के ऑक्सीजन लेवल में काफी सुधार देखा गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस प्रक्रिया के लिए गाइडलाइन भी जारी की है। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच ऑक्सीजन की कमी भी चिंता में डाल रही है। प्रोनिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिससे कोई व्यक्ति खुद से शरीर का ऑक्सीजन लेवल मेंटेन कर सकता है। ये प्रक्रिया कोरोना संक्रमण में काफी कारगर साबित हो रही है। जो व्यक्रि संक्रमित हैं, होम आइसोलेशन में हैं और ऑक्सीजन का लेवल 94 से कम होने पर सांस लेने में दिक्कत हो रही है, उन्हें प्रोनिंग से काफी आराम मिल रहा है। यह प्रक्रिया मेडिकली अप्रूव है और करीब 80 प्रतिशत तक कारगर है। प्रोनिंग प्रक्रिया से फेफड़ों में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। और ऑक्सीजन आसानी से फेफड़ों तक पहुंचती है। कोविड संक्रमित मरीजों के पास लगाए पोस्टर सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के निर्देश पर एमजीएम जिला अस्पताल सहित जिले में संचालित हो रहे समस्त सीसीसी, डीसीएचसी आदि में संक्रमित मरीजों के पास एक-एक प्रोनिंग की जानकारी वाली फ्लैक्स लगा दिए गए हैं ताकि वे प्रोनिंग की विधि को भली-भांति समझ सकें और दिन में कई बार इस विधि को करें। इससे ना केवल उनका ऑक्सीजन लेवल सुधर रहा है, बल्कि वे दुगनी गति से उपचार लेकर सही हो रहे हैं। कैसे करें प्रोनिंग प्रोनिंग प्रक्रिया बहुत आसान है। प्रोनिंग के लिए चार से पांच तकियों की जरूरत पड़ेगी। इसके लिए समतल बिस्तर पर व्यक्ति को पेट के बल लिटा दें। एक तकिया गर्दन के नीचे रखें। एक या दो तकिए छाती और पेट के नीचे रखें। दो तकिए पैर के पंजे के नीचे रखें। प्रोनिंग प्रोसेस में करीब 30 मिनट से 2 घंटे तक रहना है। अगर प्रोनिंग 2 घंटे के लिए कर रहे हैं तो हर 30 मिनट पर पोजिशन बदल लें। तकिए को शरीर की सुविधा के अनुसार रखें। अगर प्रोनिंग पोजीशन में दिक्कत महसूस हो तो इसे तत्काल छोड़ दें। कब जरूरी है प्रोनिंग दरअसल, कोरोना संक्रमित मरीज अक्सर होम आइसोलेशन या फिर अस्पताल में भर्ती होने पर भी पीठ के बल लेटे रहते हैं। इससे फेफड़े यानी लंग गुरुत्वाकर्षण से प्रभावित होते हैं। यही नहीं, शरीर के दूसरे अंगों का दबाव भी उन पर पड़ता है, जिससे फेफड़े तक ऑक्सीजन का प्रवाह पर्याप्त तरीके से नहीं हो पाता। वहीं, प्रोनिंग से वायुकोष्ठिका यानी एल्वेओली खुल जाती है और ऑक्सीजन का प्रवार सही तरीके से होने लगता है। कोरोना मरीज या कोई व्यक्ति इसे तभी करे जब उसे सांस लेने में दिक्कत हो। यानी ऑक्सीजन का स्तर 94 से कम हो। कोरोना संक्रमित मरीज ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहें और जरूरत के हिसाब से इसे करें। मौजूदा संकट में सही समय पर प्रोनिंग बहुत मददगार है। कब और किसे प्रोनिंग नहीं करना चाहिए प्रेगनेंसी में प्रोनिंग को बिल्कुल ना करें। भोजन करने के एक घंटे बाद तक प्रोनिंग बिल्कुल ना करें। जिन लोगों केा कार्डियक की दिक्कत है, वे भी इससे परहेज करें। स्पाइन या पेल्विक फ्रैक्चर्स से ग्रस्त लोगों को भी अवाइड करना ही बेहतर है।
हनुमानगढ़, 06 मई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने गुरूवार सुबह टिब्बी एसडीएम कार्यालय में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन ग्राम पंचायतों में कोरोना के ज्यादा मरीज आ रहे हैं उन ग्राम पंचायतों में जीरो मोबिलिटी या लोगों का कम से कम आवागमन सुनिश्चित करें। साथ ही कहा कि ऐसे गांवों का डोर-टू-डोर सर्वे दुबारा करवाकर कोरोना पॉजिटिव आने वाले लोगों के कॉन्टेक्ट में आए लोगों को ट्रेस आउट कर जिनमें खांसी जुकाम के लक्ष्ण हों। उन्हें मेडिकल किट उपलब्ध करवाई जाए। ऐसी ग्राम पंचायतों में वैक्सीनेशन भी ज्यादा से ज्यादा लोगों के पहले करवाएं। बैठक में जिला कलक्टर ने महामारी रेल अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि बाजार समय पर बंद हों, लोग अनावश्यक रूप से बाहर ना घूमें। ऐसे लोगों को पकड़ कर संस्थागत क्वारेंटीन करें। बैठक में जिला कलक्टर ने ब्लॉक में कोरोना मैनेजमेंट की विस्तृत जानकारी लेने के साथ साथ कहा कि लोगों को शादी इत्यादि को फिलहाल टालने को लेकर प्रेरित करें। बैठक में जिला कलक्टर के अलावा एसडीएम श्री मांगीलाल, विकास अधिकारी श्रीमती शीला सोनी, नायब तहसीलदार श्री सुभाष, थानाधिकारी श्री भूपसिंह सहारण समेत अन्य ब्लॉक स्तरीय अधिकरी मौजूद थे। बैठक के बाद जिला कलक्टर ने मसीतावाली हैड के पास चैक पोस्ट का भी जायजा लिया। वहां तैनात कार्मिकों को निर्देशित किया कि प्राइवेट गाड़ियों को भी चैक किया जाए। साथ ही बसों को चैंकिग करते हुए देखें कि उनमें पचास फीसदी सवारी ही हो। चैक पोस्ट के बाद जिला कलक्टर मेहरवाला में हो रही एक शादी को चैक करने पहुंचे। जहां शादी के सारे इंतजामात कोरोना गाइडलाइन के अनुरूप देखकर आयोजकों की प्रशंसा भी की। साथ ही कहा कि शादी में 31 से कम ही लोग शामिल हों।मसीतावाली हैड और मेहरवाला विजिट के दौरान जिला कलक्टर के साथ एसडीएम टिब्बी श्री मांगीलाल समेत ब्लॉक स्तरीय अधिकारी भी साथ रहे।
हनुमानगढ़, 05मई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बुधवार दोपहर पीलीबंगा एसडीएम कार्यालय में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को आपसी समन्वय से कार्य करते हुए कोरोना की इस महामारी से लड़ने में अपनी अहम भूमिका निभाने की बात कही। बैठक में जिला कलक्टर ने ब्लॉक में कोरोना मरीजों की संख्या, एक्टिव केसों की संख्या, महामारी रेल अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा गाइडलाइन की पालना, डोर-टू-डोर सर्वे समेत कोरोना मैनेजमेंट को लेकर विस्तृत जानकारी ली। जिला कलक्टर ने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे में जिन लोगों में खांसी जुकाम के लक्ष्ण पाए जाते हैं उन्हें उसी समय दवा वितरित कर दी जाए। साथ ही कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे में जिन ग्राम पंचायतों में कोरोना के ज्यादा केस मिलेंगे वहां रिसर्वे किया जाएगा। ताकि वहां स्थिति को पूर्णतया कंट्रोल किया जा सके। जिला कलक्टर ने वैक्सीनेशन, सैंपलिंग, मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की भी समीक्षा की। चिरंजीवी योजना की समीक्षा करते हुए विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि ज्यादा से ज्यादा लोगों के रजिस्ट्रेशन करवाए जाएं। साथ ही सभी ईमित्र संचालकों की बैठक लेकर उन्हें ज्यादा से ज्यादा लोगों के पंजीकरण करवाने हेतु प्रेरित करें। बैठक में जिला कलक्टर ने कहा कि विवाह इत्यादि को लेकर लगातार निरीक्षण करें। कहीं अगर 31 लोगों से ज्यादा लोग पाए जाते हैं तो जुर्माना लगाने की कार्रवाई करें। साथ ही लोगों से समझाइश करें कि वे विवाह को फिलहाल टालें। साथ ही उन्होने महामारी रेल अलर्ट- जन अनुशासन पखवाड़ा गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करने और जो लोग इसका उल्लंघन करे उनके जुर्माना या प्रतिष्ठान को सील करने की कार्रवाई करें। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव आए लोगों औऱ उनके कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग वाले लोगों को होम आइसोलेशन में रखने के निर्देश हैं। इसकी पालना सुनिश्चित करवाएं। अगर कोई इसका उल्लंघन करता है तो उसे संस्थागत क्वारेंटीन सेंटर भेजें। बैठक में जिला कलक्टर के अलावा एसडीएम पीलीबंगा सुश्री प्रियंका तलानियां, तहसीलदार श्री विनोद कुमार, विकास अधिकारी श्री विनोद कुमार रैगर, नगर पालिका ईओ श्री गोपीकिशन दाधीच नायब तहसीलदार श्रीमती पूनम कंवर, बीसीएमओ डॉ मनोज कुमार, सीबीईओ श्री पूर्णराम देव ईआई सुश्री बलदीप कौर, थानाधिकारी श्री इंद्र कुमार, समेत ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 05मई। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बुधवार दोपहर पीलीबंगा एसडीएम कार्यालय में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को आपसी समन्वय से कार्य करते हुए कोरोना की इस महामारी से लड़ने में अपनी अहम भूमिका निभाने की बात कही। बैठक में जिला कलक्टर ने ब्लॉक में कोरोना मरीजों की संख्या, एक्टिव केसों की संख्या, महामारी रेल अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा गाइडलाइन की पालना, डोर-टू-डोर सर्वे समेत कोरोना मैनेजमेंट को लेकर विस्तृत जानकारी ली। जिला कलक्टर ने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे में जिन लोगों में खांसी जुकाम के लक्ष्ण पाए जाते हैं उन्हें उसी समय दवा वितरित कर दी जाए। साथ ही कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे में जिन ग्राम पंचायतों में कोरोना के ज्यादा केस मिलेंगे वहां रिसर्वे किया जाएगा। ताकि वहां स्थिति को पूर्णतया कंट्रोल किया जा सके। जिला कलक्टर ने वैक्सीनेशन, सैंपलिंग, मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की भी समीक्षा की। चिरंजीवी योजना की समीक्षा करते हुए विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि ज्यादा से ज्यादा लोगों के रजिस्ट्रेशन करवाए जाएं। साथ ही सभी ईमित्र संचालकों की बैठक लेकर उन्हें ज्यादा से ज्यादा लोगों के पंजीकरण करवाने हेतु प्रेरित करें। बैठक में जिला कलक्टर ने कहा कि विवाह इत्यादि को लेकर लगातार निरीक्षण करें। कहीं अगर 31 लोगों से ज्यादा लोग पाए जाते हैं तो जुर्माना लगाने की कार्रवाई करें। साथ ही लोगों से समझाइश करें कि वे विवाह को फिलहाल टालें। साथ ही उन्होने महामारी रेल अलर्ट- जन अनुशासन पखवाड़ा गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करने और जो लोग इसका उल्लंघन करे उनके जुर्माना या प्रतिष्ठान को सील करने की कार्रवाई करें। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव आए लोगों औऱ उनके कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग वाले लोगों को होम आइसोलेशन में रखने के निर्देश हैं। इसकी पालना सुनिश्चित करवाएं। अगर कोई इसका उल्लंघन करता है तो उसे संस्थागत क्वारेंटीन सेंटर भेजें। बैठक में जिला कलक्टर के अलावा एसडीएम पीलीबंगा सुश्री प्रियंका तलानियां, तहसीलदार श्री विनोद कुमार, विकास अधिकारी श्री विनोद कुमार रैगर, नगर पालिका ईओ श्री गोपीकिशन दाधीच नायब तहसीलदार श्रीमती पूनम कंवर, बीसीएमओ डॉ मनोज कुमार, सीबीईओ श्री पूर्णराम देव ईआई सुश्री बलदीप कौर, थानाधिकारी श्री इंद्र कुमार, समेत ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 05 मई। कोरोना महामारी के इस संक्रमण काल में बिना किसी सक्षम अधिकारी की अनुमति के धार्मिक आयोजन करना पीलीबंगा तहसील के कालीबंगा पटवार मंडल की पटवारी श्रीमती प्रियंका भारतीय को भारी पड़ गया। पटवारी श्रीमती प्रियंका भारतीय के विरूद्ध कोरोना वायरस महामारी संक्रमण काल के दौरान ग्राम सालिमपुर थाना महुआ जिला दौसा में अपने बच्चे का मुण्डन करवाने का धार्मिक आयोजन, बिना किसी सक्षम अनुमति के करने के कारण मुकदमा दर्ज किया गया है। श्रीमती भारतीय पर पुलिस थाना महुआ, जिला दौसा में एफआईआर नम्बर 0272 दिनांक 04.05.2021 द्वारा भ.दं.सं. 1860 की धारा 188, 269, 270, राजस्थान महामारी अधिनियम, 2020 की धारा 4, 5, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51बी अन्तर्गत मुकदमा किया गया है। पटवारी के दौसा में दर्ज हुए मुकदमें के बाद जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने राजस्थान सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण और अपील) नियम 1958 के नियम 13(2) द्वारा प्रदत्त शक्तियों के प्रयोग करते हुए श्रीमती प्रियंका भारतीय, पटवारी, पटवार मण्डल कालीबंगा तहसील पीलीबंगा को तुरन्त प्रभाव से निलंबित करने के आदेश बुधवार शाम को जारी किए। आदेश में श्रीमती भारतीय का निलम्बन काल में मुख्यालय कार्यालय तहसील (भू.अ.) रावतसर रहेगा तथा इस अवधि में मूल वेतन 50 प्रतिशत एवं उस पर नियमानुसार भत्ते देय होंगे।
हनुमानगढ़, 05 मई। कोरोना महामारी के इस संक्रमण काल में बिना किसी सक्षम अधिकारी की अनुमति के धार्मिक आयोजन करना पीलीबंगा तहसील के कालीबंगा पटवार मंडल की पटवारी श्रीमती प्रियंका भारतीय को भारी पड़ गया। पटवारी श्रीमती प्रियंका भारतीय के विरूद्ध कोरोना वायरस महामारी संक्रमण काल के दौरान ग्राम सालिमपुर थाना महुआ जिला दौसा में अपने बच्चे का मुण्डन करवाने का धार्मिक आयोजन, बिना किसी सक्षम अनुमति के करने के कारण मुकदमा दर्ज किया गया है। श्रीमती भारतीय पर पुलिस थाना महुआ, जिला दौसा में एफआईआर नम्बर 0272 दिनांक 04.05.2021 द्वारा भ.दं.सं. 1860 की धारा 188, 269, 270, राजस्थान महामारी अधिनियम, 2020 की धारा 4, 5, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51बी अन्तर्गत मुकदमा किया गया है। पटवारी के दौसा में दर्ज हुए मुकदमें के बाद जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने राजस्थान सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण और अपील) नियम 1958 के नियम 13(2) द्वारा प्रदत्त शक्तियों के प्रयोग करते हुए श्रीमती प्रियंका भारतीय, पटवारी, पटवार मण्डल कालीबंगा तहसील पीलीबंगा को तुरन्त प्रभाव से निलंबित करने के आदेश बुधवार शाम को जारी किए। आदेश में श्रीमती भारतीय का निलम्बन काल में मुख्यालय कार्यालय तहसील (भू.अ.) रावतसर रहेगा तथा इस अवधि में मूल वेतन 50 प्रतिशत एवं उस पर नियमानुसार भत्ते देय होंगे।
हनुमानगढ़, 05 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के नेतृत्व में जहां प्रशासन और पुलिस दिन रात लगा हुआ है। वहीं कोरोना महामारी के इस संकट काल में सरकार का सहयोग करने के लिए लोग भी लगातार आगे आ रहे हैं। सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की 18-45 आयु वर्ष के लोगों को फ्री वैक्सीनेशन को लेकर सहयोग करने की अपील से प्रेरित होकर बुधवार को जंक्शन निवासी श्री करणपाल सिंह बराड़ पुत्र श्री बलवीर सिंह बराड़ (सेवानिवृत पुलिस सब इंस्पेक्ट, राजस्थान पुलिस) ने जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को कोरोना वैक्सीनेशन में सहयोग हेतु 51 हजार रूपए का चैक सौंपा। इस अवसर पर श्री डिप्टी सिंह,श्री प्यारा सिंह भी मौजूद रहे। जिला कलक्टर ने श्री करणपाल सिंह बराड़ का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि कोरोना के इस संकट में जिले के भामाशाह और अन्य लोग मदद के लिए आगे आ रहे हैं ये अनुकरणीय है। इससे और लोग भी प्रेरित होंगे। उन्होने कहा कि कोरोना महामारी से हम सब मिल कर ही लड़ सकते हैं। इसमें सभी का सहयोग जरूरी है।
हनुमानगढ़, 05 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव को लेकर जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के नेतृत्व में जहां प्रशासन और पुलिस दिन रात लगा हुआ है। वहीं कोरोना महामारी के इस संकट काल में सरकार का सहयोग करने के लिए लोग भी लगातार आगे आ रहे हैं। सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की 18-45 आयु वर्ष के लोगों को फ्री वैक्सीनेशन को लेकर सहयोग करने की अपील से प्रेरित होकर बुधवार को जंक्शन निवासी श्री करणपाल सिंह बराड़ पुत्र श्री बलवीर सिंह बराड़ (सेवानिवृत पुलिस सब इंस्पेक्ट, राजस्थान पुलिस) ने जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को कोरोना वैक्सीनेशन में सहयोग हेतु 51 हजार रूपए का चैक सौंपा। इस अवसर पर श्री डिप्टी सिंह,श्री प्यारा सिंह भी मौजूद रहे। जिला कलक्टर ने श्री करणपाल सिंह बराड़ का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि कोरोना के इस संकट में जिले के भामाशाह और अन्य लोग मदद के लिए आगे आ रहे हैं ये अनुकरणीय है। इससे और लोग भी प्रेरित होंगे। उन्होने कहा कि कोरोना महामारी से हम सब मिल कर ही लड़ सकते हैं। इसमें सभी का सहयोग जरूरी है।
वरिष्ठ आरएएस अधिकारी श्रीमती रचना भाटिया को लगाया प्रभारी अधिकारी हनुमानगढ़, 05 मई। जिले में कोरोना संक्रमण की चैन को प्रारंभिक स्तर पर ही तोड़ने के लिए जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ का गठन किया है। जो कोरोना पॉजिटिव आए व्यक्ति के कॉन्ट्रेक्ट में आए लोगों को ट्रेसिंग करने के साथ साथ उन्हें होम आइसोलेशन में रहने की हिदायत देंगे। जिला कलक्टर ने एक आदेश जारी करते हुए कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ का प्रभारी अधिकारी राजस्थान प्रशासनिक सेवा की वरिष्ठ अधिकारी और माध्यमिक शिक्षा निदेशालय की अतिरिक्त निदेशक श्रीमती रचना भाटिया को और सहायक प्रभारी अधिकारी सब रजिस्ट्रार श्रीमती स्वाति गुप्ता को लगाया है। इनके सहयोग के लिए आठ कार्मिकों का एक मॉनिटरिंग दल और पांच-पांच कार्मिकों के दस दलों का अलग से गठन किया गया है। जो कोरोना पॉजिटिव आए लोगों से घर बैठे ही फोन करके उनके कॉन्टेंक्ट में आए लोगों की जानकारी लेंगे। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से यथा शीघ्र सूचना संप्रेषण व समन्वय हेतु डॉ रविशंकर शर्मा को निर्देशित किया गया है। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने बताया कि कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ का उद्देश्य कोविड पॉजिटिव आने वाले लोगों की कॉन्टेक्ट चेन बनाना और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग व संबंधित उपखंड अधिकारी को उपलब्ध करवाना है। आदेश में जिला कलक्टर ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के कार्मिकों को निर्देशित किया है कि वे कोविड पॉजिटिव के कॉन्टेक्ट में आए लोगों के संदर्भ में कोविड प्रोटोकॉल की पालना सुनिश्चित करवाएं। साथ ही सभी उपखंड अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे ग्राम पंचायत स्तरीय कोविड प्रबंधन हेतु गठित कोर कमेटी और शहरी क्षेत्र में वार्ड स्तर पर प्रबंधन हेतु गठित कमेटी के माध्यम से ये सुनिश्चित करेंगे कि कोविड मरीज के कॉन्ट्रेक्ट में आया कोई भी व्यक्ति किसी भी परिस्थिति में कोविड प्रोटोकॉल की पालना का उल्लंघन ना करे। साथ ही जिला कलक्टर ने निर्देशित किया है कि कॉन्टेक्ट चैन में आए हाई रिस्क लोगों के संदर्भ में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अतिरिक्त संवेदनशीलता रखते हुए कार्य करे। जिला कलक्टर ने कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ के कार्य करने के बारे में आदेश में लिखा है कि चिकित्सा विभाग के द्वारा कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ के अधिकारिक मेल आईडी पर कोविड पॉजिटिव की सूची मय मोबाइल नंबर के एक्सल सीट में अविलंब उपलब्ध करवाई जाएगी। मॉनिटरिंग दल तुरंत उसे सभी 10 दलों में सूची को आवंटित करेंगे। प्रत्येक दल प्रभारी अपने दिशा निर्देश में केवल दूरभाष पर कोविड पॉजिटिव से संपर्क कर उनकी कॉन्टेक्ट चैन तैयार कर प्रकोष्ठ की मेल आईडी पर प्रेषित करेंगे। वहीं कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ की प्रभारी अधिकारी प्रतिदिन संख्यात्मक सूचना जिला कलक्टर को प्रेषित करेंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि इस प्रकार हम कोरोना पॉजिटिव आए लोगों के कॉन्टेक्ट में आए लोगों को शुरू में ही होम आइसोलेशन में रखकर कोरोना संक्रमण की चैन को प्रारंभिक स्तर पर ही तोड़ने में सफल हो सकेंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि प्रकोष्ठ ने बुधवार सुबह से कार्य करना शुरू कर दिया है। मॉनिटरिंग दल और सभी अन्य 10 दलों को सक्रिय कर दिया गया है। हम जल्द ही इस प्रकोष्ठ के माध्यम से कोरोना संक्रमण की चैन को प्रारंभिक स्तर पर रोकने में सफल हो सकेंगे। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग प्रकोष्ठ की प्रभारी अधिकारी श्रीमती रचना भाटिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार कोरोना पॉजिटिव आए व्यक्ति के कॉन्टेक्ट में आए लोगों में अगर कोरोना के कोई लक्ष्ण नहीं भी है तो भी उन्हें कम से कम 7 दिन तक होम आइसोलेशन में रहने के निर्देश दिए जाएंगे और जिनमें लक्ष्ण पाए जाएंगे उन्हे कोविड प्रोटोकॉल के हिसाब से होम आइसोलेशन किया जाएगा। होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों पर बीट कांस्टेबल्स नजर रखेंगे। अगर उनमें से कोई बाहर घूमता पाया गया तो उसे होम आइसोलेशन की बजाय संस्थागत क्वारेंटीन सेंटर में भेज दिया जाएगा। श्रीमती भाटिया ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव आए व्यक्ति के कॉन्टेक्ट में आए हाई रिस्क कैटेगरी के लोग जैसे उम्रदराज व्यक्ति, शुगर, ह्दय या अस्थमा के मरीज,गर्भवती महिलाएं और बच्चों को हम प्रारंभिक स्तर पर ही पहचान कर होम आइसोलेशन में रहने को लेकर निर्देशित कर सकेंगे। श्रीमती भाटियाा ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव आए व्यक्ति से फोन पर संपर्क कर उससे कोरोना के लक्ष्ण आने से चार दिन पहले तक संपर्क में आए लोगों के नाम और मोबाइल नंबर लिए जाएंगे।
हनुमानगढ़, 05 मई। कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच जिले के परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों ने माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन हेतु सहयोग की अपील पर एक-एक महीने की सैलरी का चैक बुधवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा। सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने बताया कि परिवहन विभाग के निरीक्षक श्री रामचंद्र, सब इंस्पेक्टर श्री प्रमोद चौधरी और सब इंस्पेक्टर श्री रायसिंह कलेक्ट्रेट पहुंचे और तीनों ने अपनी एक-एक महीने की सैलरी का चैक जिला कलक्टर को सौंपा। परिवहन निरीक्षक श्री रामचंद्र ने 45 हजार, जबकि सब इंस्पेक्टर श्री प्रमोद चौधऱी ने 33,460 और रायसिंह ने 33,000 का चैक जिला कलक्टर को सौंपा। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन भी उपस्थित रहीं। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने परिवहन विभाग के तीनों अधिकारियों का आभार जताते हुए कहा कि तीनों अधिकारियों ने वैक्सीनेशन को लेकर जो सहयोग किया है वह अनुकरणीय है। इससे और लोग भी सहयोग करने के लिए प्रेरित होंगे। कोरोना महामारी से लड़ाई हम सब मिलकर ही लड़ सकेंगे। सब इंस्पेक्टर श्री प्रमोद चौधऱी ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 18 से 45 आयु वर्ग के लोगों में फ्री वैक्सीनेशन को लेकर सहयोग की अपील की थी। साथ ही ऑक्सीजन सिलेंडर की सप्लाई को लेकर सभी परिवहन अधिकारियों का जिला अस्पताल अक्सर जाना होता है। जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों को देखकर उन्हें ये प्रेरणा मिली कि लोग अगर समय पर वैक्सीन लगा लें तो ऐसी स्थिति से नहीं गुजरना पड़ेगा। वैक्सीनेशन के बाद कोरोना के लक्ष्ण बेहद कम दिखाई देते हैं। लिहाजा जिले में 18 से 45 वर्ष के लोगों में कोरोना वैक्सीनेशन लग जाएगी तो इसका बड़ा फायदा इस आयु वर्ग के लोगों को मिलेगा।
हनुमानगढ़, 05 मई। कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच जिले के परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों ने माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन हेतु सहयोग की अपील पर एक-एक महीने की सैलरी का चैक बुधवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा। सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने बताया कि परिवहन विभाग के निरीक्षक श्री रामचंद्र, सब इंस्पेक्टर श्री प्रमोद चौधरी और सब इंस्पेक्टर श्री रायसिंह कलेक्ट्रेट पहुंचे और तीनों ने अपनी एक-एक महीने की सैलरी का चैक जिला कलक्टर को सौंपा। परिवहन निरीक्षक श्री रामचंद्र ने 45 हजार, जबकि सब इंस्पेक्टर श्री प्रमोद चौधऱी ने 33,460 और रायसिंह ने 33,000 का चैक जिला कलक्टर को सौंपा। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन भी उपस्थित रहीं। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने परिवहन विभाग के तीनों अधिकारियों का आभार जताते हुए कहा कि तीनों अधिकारियों ने वैक्सीनेशन को लेकर जो सहयोग किया है वह अनुकरणीय है। इससे और लोग भी सहयोग करने के लिए प्रेरित होंगे। कोरोना महामारी से लड़ाई हम सब मिलकर ही लड़ सकेंगे। सब इंस्पेक्टर श्री प्रमोद चौधऱी ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 18 से 45 आयु वर्ग के लोगों में फ्री वैक्सीनेशन को लेकर सहयोग की अपील की थी। साथ ही ऑक्सीजन सिलेंडर की सप्लाई को लेकर सभी परिवहन अधिकारियों का जिला अस्पताल अक्सर जाना होता है। जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों को देखकर उन्हें ये प्रेरणा मिली कि लोग अगर समय पर वैक्सीन लगा लें तो ऐसी स्थिति से नहीं गुजरना पड़ेगा। वैक्सीनेशन के बाद कोरोना के लक्ष्ण बेहद कम दिखाई देते हैं। लिहाजा जिले में 18 से 45 वर्ष के लोगों में कोरोना वैक्सीनेशन लग जाएगी तो इसका बड़ा फायदा इस आयु वर्ग के लोगों को मिलेगा।
हनुमानगढ़। जिले को झुंझनूं से बुधवार को कोविशील्ड की 9000 डोज वैक्सीन प्राप्त हो गई, जिसका खण्ड स्तर पर वितरण करवा दिया गया। अब गुरुवार 6 मई को सरकारी चिकित्सा संस्थानों पर 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। इनमें भी द्वितीय डोज (बूस्टर डोज) वालों को प्राथमिकता दी जाएगी। आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि जिले को कोविशील्ड की 9000 डोज प्राप्त हो गई, जिनका समस्त ब्लॉकों में वितरित करवा दिया गया। गुरुवार 6 मई को जिले के चिकित्सा संस्थानों में पूर्व की भांति 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा, जिनका वैक्सीनेशन का द्वितीय डोज लगाया जाना है, उन्हें कल प्राथमिकता दी जाएगी। इसलिए वे व्यक्ति 45 से अधिक आयु वे नागरिक जिनके प्रथम वैक्सीनेशन के बाद 42 दिन अथवा उससे अधिक दिन हो गए हैं, वे कल आवश्यक रूप से वैक्सीनेशन करवाएं। 6 मई गुरुवार को यहां होगा वैक्सीनेशन खण्ड हनुमानगढ़ : टाउन स्थित शहरी पीएचसी, रोडांवाली सब सैण्टर, हिरणांवाली सब सैण्टर, धोलीपाल सीएचसी, मक्कासर पीएचसी अमरपुरा थेहड़ी सब सैण्टर, घेउ सब सैण्टर, 22 एनडीआर सब सैण्टर, कोहलां सब सैण्टर, चोहिलांवाली सब सैण्टर, जाखड़ांवाली पीएचसी, नवां पीएचसी, सहजीपुरा पीएचसी, 31 एसएसडब्ल्यू सब सैण्टर, नौरंगदेसर पीएचसी, मुण्डां पीएचसी, आदर्श नगर सब सैण्टर, रणजीतपुरा सब सैण्टर, जोरावरपुरा सब सैण्टर, ढाणी कुम्हारांवाली सब सैण्टर एवं उत्तमसिंहवाला सब सैण्टर में वैक्सीनेशन होगा। खण्ड पीलीबंगा : खण्ड पीलीबंगा में पीलीबंगा सीएचसी, दुलमाना सब सैण्टर, गोलूवाला सीएचसी, डबलीराठान सीएचसी, 2 पीबीएन सब सैण्टर, जाखड़ावाली पीएचसी, सूरेवाला सब सैण्टर, डबलीबास मिढारोही पीएचसी, भांभू वाली ढाणी सब सैण्टर, लिखमीसर पीएचसी एवं दौलतांवाली पीएचसी में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड रावतसर : खण्ड रावतसर में बरमसर पीएचसी, हरदासवाली बिछवास सब सैण्टर, गंधेली पीएचसी, लालपुरा सब सैण्टर, केलनिया पीएचसी, नयासर सब सैण्टर, मोदूनगर सब सैण्टर, भैरूसरी सब सैण्टर, पल्लू सीएचसी, दनियांसर सब सैण्टर, मायला सब सैण्टर, रामपुरा मटोरिया सब सैण्टर, 8 केकेएम सब सैण्टर, रावतसर सीएचसी, 8 बीपलएम, 4 डीडब्ल्यू एम एवं खोदान पीएचसी में होगा वैक्सीनेशन। खण्ड नोहर : खण्ड नोहर में नोहर सीएचसी, फेफाना सीएचसी, गोरखाना सब सैण्टर, ललाना दिखनाधा पीएचसी, देईदास सब सैण्टर एवं धानसियां पीएचसी में वैक्सीनेशन किया जाएगा। खण्ड भादरा : खण्ड भादरा में भोजासर सब सैण्टर, डूंगरबास सब सैण्टर, करनपुरा सब सैण्टर, मलखेड़ा सब सैण्टर, भानगढ़ सब सैण्टर, गदरा पीएचसी, अनूपशहर पीएचसी, डाबडी पीएचसी, रामबास सब सैण्टर, भादरा सीएचसी एवं गांधीछानी सब सैण्टर में होगा वैक्सीनेशन। खण्ड संगरिया : खण्ड संगरिया में सीएचसी संगरिया, बचपन स्कूल, कमला देवी डेरा वार्ड नं. 3, राधा स्वामी डेरा, किशनपुरा उत्तराधा में होगा वैक्सीनेशन। खण्ड टिब्बी : खण्ड टिब्बी में टिब्बी सीएचसी, सलेमगढ़ 14 जीजीआर सब सैण्टर, बशीर सब सैण्टर, सहारनी सब सैण्टर, रामपुरा रामसरा सब सैण्टर, मेहरवाला सब सैण्टर, बुरहानपुरा 11 आरडब्ल्यूडी सब सैण्टर, मिर्जावाली मेहर पीएचसी एवं केलनिया सब सैण्टर में वैक्सीनेशन किया जाएगा।
हनुमानगढ़, 5 मई। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार पूरे प्रदेश में कोविड-19 के प्रसार को रोकने हेतु नवीन कोविड-19 संक्रमण रोकथाम अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत बुधवार को श्रीमती संदीप कौर, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, हनुमानगढ़ द्वारा गंगानगर फाटक के नजदीक विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। विधिक जागरूकता शिविर में मौका पर उपस्थित आमजन को मास्क पहनने, किसी भी चीज को छूने से पहले एवं बाद में हाथ सेनीटाइज करते रहने, सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करने, लक्षण दिखने पर खुद को दूसरों से अलग रखने व तुरन्त चिकित्सक परीक्षण करवाने तथा कोविड-19 वैक्सीनेशन करवाने के बारे में जागरूक किया गया तथा अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया। इसके अतिरिक्त किसी व्यक्ति को कोविड-19 से संबंधित किसी भी प्रकार की चिकित्सकीय या अन्य सहायता व सहयोग की आवश्यकता होने पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करने आदि के संबंध में विधिक जानकारी प्रदान कर लाभान्वित किया गया।
आमजन को उपयुक्त एवं समुचित चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने का उद्धेश्य हनुमानगढ़, 5 मई। न्यायाधिपति श्री संगीत लोढ़ा प्रशासनिक न्यायाधीश राजस्थान उच्च न्यायालय जोधपुर एवं कार्यकारी अध्यक्ष राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के निर्देशानुसार मंगलवार को कोविड-19 महामारी के दौरान आमजन को उपयुक्त एवं समुचित चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने के उद्देश्य से राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा स्थापित 27X7 हेल्पलाइन के सुचारू संचालन हेतु संबंधित सभी मुख्य सूत्रधारों जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, पैरा लीगल वालंटियर की वर्चुअल बैठक का आयोजन प्रातः 11ः30 बजे से दोपहर 12ः30 बजे तक किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय न्यायाधिपति श्री संगीत लोढ़ा कार्यकारी अध्यक्ष राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा की गई। वर्चुअल बैठक में माननीय कार्यकारी अध्यक्ष माननीय न्यायाधिपति श्री संगीत लोढ़ा, प्रशासनिक न्यायाधीश, राजस्थान उच्च न्यायालय, जोधपुर ने सभी प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि चिकित्सकीय सुविधा प्राप्त करना हर नागरिक का संवैधानिक अधिकार है और कल्याणकारी राज्य का यह दायित्व है कि वह हर नागरिक को उचित चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध करवाएं। वर्तमान में कोविड- महामारी के चलते यद्यपि वांछित चिकित्सकीय सुविधाओं की कमी है व आम व्यक्ति इलाज के लिए इधर से उधर भटक रहा है। यद्यपि राज्य सरकार इस दिशा में यथासंभव प्रयास कर रही है। विधिक सेवा संस्थान होने के नाते हमारे यह विधिक दायित्व है कि हम हर जरूरतमंद की मदद करें। कोविड- महामारी के प्रथम दौर में विधिक सेवा संस्थानों द्वारा हर जरूरतमंद को समुचित सहायता प्रदान की गई है। अब कोविड- महामारी के द्वितीय दौर में आमजन को हर संभव सलाह व सहायता उपलब्ध कराने के लिए प्रत्येक जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कार्यालय में 24’7 हेल्पलाइन स्थापित की गई है। जिसका मुख्य कार्य आमजन व चिकित्सा सुविधा प्रदाताओं के मध्य कडी का कार्य कर चिकित्सकीय व अन्य संबंधित सहायता उपलब्ध कराना है। माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय ने हाल ही में चिकित्सकीय सुविधाओं की उपलब्धता व मरीजों की सहायतार्थ आदेश पारित किया है। हेल्पलाइन का संचालन करते समय सभी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण यह सुनिश्चित करें कि सहायता के लिए फोन करने वाले व्यक्ति की प्रार्थना पर संबंधित सेवा प्रदाता द्वारा समुचित कार्यवाही की जाए। प्राधिकरण हर प्रार्थी की हर प्रार्थना का फॉलोअप करते हुए उसे वांछित सहायता दिया जाना सुनिश्चित करें। माननीय न्यायाधिपति महोदय ने यह भी कहा है कि आमजन में कोविड- महामारी, कोविड बीमारी से ग्रसित होने पर उपचार संबंधी गाइडलाइन व टीकाकरण के बारे में जागरूकता लाने के संबंध में विशेष अभियान का संचालन किया जावे ताकि महामारी जनित घबराहट को कम किया जा सके। न्यायाधिपति द्वारा इस बात को मुख्य रूप से कहा गया कि हेल्पलाइन का कार्य मात्र यही नहीं है कि वह किसी व्यक्ति की प्राप्त वेदना को चिकित्सा विभाग या राज्य सरकार के अधिकृत अधिकारी तक पहुंचाए, बल्कि संबंधित विभाग द्वारा उस शिकायत पर क्या कार्यवाही की गई, यह भी जानने का दायित्व है। यदि संबंधित चिकित्सा विभाग या अधिकारी द्वारा योग्य व्यक्ति को चिकित्सा सहायता या अन्य किसी प्रकार की वांछित सहायता नियमानुसार उपलब्ध नहीं करवायी जाती है तो इसकी रिपोर्ट अविलंब रालसा मुख्यालय को एवं राज्य सरकार के उच्च प्राधिकारियों को करें। श्री ब्रजेन्द्र कुमार जैन, सदस्य सचिव, रालसा ने सभी जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों, पैरा लीगल वोलेन्टियर्स को संबोधित करते हुए निर्देशित किया कि वे फील्ड में कार्य करते समय किसी भी प्रकार की बाधा या परेशानी का सामना करते हैं तो वे रालसा कार्यालय में तुरंत संपर्क करें ताकि समस्या के समाधान हेतु राज्य सरकार के उच्चपदाधिकारियों से संपर्क कर समस्या का अविलंब समाधान किया जा सके। अंत में सभी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से संबंधित जिले में हेल्प लाइन के संबंध में आ रही बाधाओं, प्रशासन के सहयोग व हेल्पलाइन को प्रभावी बनाने के संबंध में सुझाव भी आमंत्रित किए गए। इस वर्चुअल बैठक का संचालन सुश्री पूनम दरगन निदेशक रालसा ने किया और उन्होंने माननीय कार्यकारी अध्यक्ष महोदय रालसा श्रीमान संगीत लोढ़ा जी का धन्यवाद ज्ञापित किया। बैठक में सभी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व प्रदेश भर से करीब 500 पैरालीगल वॉलिन्टीयर्स ने भाग लिया।
नियत समय के अलावा प्रतिष्ठान खोले तो जुर्माने के साथ साथ विभिन्न धाराओं में होगी कार्रवाई हनुमानगढ़, 03 मई। कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार ने 03 मई से 17 मई 2021 तक महामारी रेड अलर्ट- जन अनुशासन पखवाड़ा गाइड लाइन जारी की है। इस दौरान शुक्रवार दिनांक 07 मई को दोपहर 12 बजे से सोमवार 10 मई को सुबह 5 बजे तक और शुक्रवार 14 मई को दोपहर 12 बजे से सोमवार 17 मई को सुबह 5 बजे तक वीकेंड कर्फ्यू के आदेश हैं। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने सभी उपखंड अधिकारियों को पत्र लिखकर निर्देशित किया है कि इस वीकेंड कर्फ्यू में अनुमत श्रेणी के अलावा अन्य कोई व्यक्ति बिना किसी कारण के घूमता हुआ पाया जाता है तो ऐसे व्यक्ति को संस्थागत क्वारेंटीन किया जाए। जब तक उसकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव ना आ जाए। साथ ही निर्देश दिए हैं कि यदि कोई नियत समय के अलावा अपने प्रतिष्ठान खुला रखकर व्यावसायिक गतिविधियां जारी रखता है तो उसके विरूद्ध राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 की धारा 4 के अंतर्गत घोषित अपराध मानते हुए धारा 11 के अंतर्गत जुर्माना एवं समन की कार्रवाई अमल में लाने के साथ साथ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60, राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 एवं विधि की अन्य सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई करते हुए उन्हें अवगत कराएं।
हनुमानगढ़, 03 मई। कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव को लेकर जहां माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में पूरे प्रदेश में प्रशासनिक अमला दिन रात एक किए हुए है। वहीं कोरोना महामारी के इस संकट काल में सरकार का सहयोग करने के लिए भामाशाह भी आगे आ रहे हैं। कोरोना संकट में मदद करने के लिए भादरा प्रधान श्री अनिल औलख ने सोमवार को खुद के एक साल के वेतन का 81 हजार रूपए का चैक जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा। जिला कलक्टर ने भादरा प्रधान का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि कोरोना के इस संकट में जिले के भामाशाह और अन्य लोग प्रशासन की मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं ये अच्छी बात है। कोरोना महामारी से हम सब मिल कर ही लड़ सकते हैं। इसमें सभी का सहयोग जरूरी है। भादरा प्रधान द्वारा जिला कलक्टर को चेक सौंपने के अवसर पर पंचायत समिति डायरेक्टर श्री बंशीलाल बेनीवाल, जोगीवाले के पूर्व सरपंच प्रतिनिधि श्री शेर सिंह गोस्वामी, श्री महेन्द्र गुर्जर, समाजसेवी श्री चंद्रपाल महला भी साथ में उपस्थित थे। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही भादरा नगरपालिका के पूर्व चेयरमैन और भामाशाह हाजी दाउद के बेटे मोहम्मद रफीक ने भी ऑक्सीजन सिलेंडर्स क्रय करने हेतु जिला अस्पताल को पौने तीन लाख का चैक जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल को सौंपा था।
हनुमानगढ़, 3 मई। महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़ा गाइडलाइन पालना सुनिश्चित करने के लिए सोमवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल और जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने टाउन में पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों के साथ फ्लैगमार्च निकाला। फ्लैगमार्च में पुलिस का घुड़सवार दल भी शामिल हुआ। जिला कलक्टर और एसपी के नेतृत्व में फ्लैगमार्च टाउन थाने से वाल्मीकि चौक, जनता स्वीट, हिसारिया मार्केट, सुभाष चौक होते हुए वापस टाउन थाने पहुंचा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि जिस प्रकार जिले में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 25 से 30 प्रतिशत चल रही है। हम सबकी जिम्मेदारी बन जाती है कि कोरोना की चैन को हर हाल में तोड़ा जाए। इसी के मद्देनजर पुलिस और प्रशासन की ओर से फ्लैगमार्च किया गया। जिला कलक्टर ने कहा कि हम आमजन को भी ये मैसेज देना चाहते हैं कि राज्य सरकार आपकी जीवन रक्षा को लेकर गंभीर है। लेकिन इसमें आमजन के सहयोग की भी महत्ती आवश्यकता है। जिला कलक्टर ने कहा कि अति आवश्यक कार्य होने पर ही लोग घर से बाहर निकलें और जब भी निकलें मास्क लगाकर ही निकले। माननीय मुख्यमंत्री के नो मास्क, नो मूवमेंट अपील की पालना करें। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करे और हाथों को धोते रहें। जिला कलक्टर ने कहा कि अभी जो संक्रमण देखा जा रहा है वो शादियों और अन्य जगह लोगों के इकट्ठा होने से ही फैल रहा है। लिहाजा उन्होने आमजन से अपील करते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री भी कह चुके हैं कि कोरोना की इस महामारी में जहां तक संभव हो विवाह इत्यादि समारोह को फिलहाल टालें। अगर जरूरी हो तो गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करें। जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार की ओर से महामारी रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा को लेकर जो गाइडलाइन जारी की गई है। उसकी सख्त पालना सुनिश्चित की जा रही है। उन्होने कहा कि सुबह के समय सब्जी मंडी इत्यादि जगहों पर भीड़ इकट्ठा होती है। प्रयास किया जा रहा है कि लोग सोशल डिस्टेंस में खड़े हों। सब्जी मंडी, दूध डेयरियों इत्यादि पर भीड़ कम आए। एसपी ने बताया कि गाइडलाइन की पालना हेतु रविवार को जंक्शन में फ्लैगमार्च निकाला गया था। वहीं सोमवार को जिले के सभी थाना क्षेत्रों में भी लोकल प्रशासनिक अधिकारियों के साथ फ्लैगमार्च निकाला जा रहा है। जिसका मुख्य उद्देश्य कोरोना से खुद को बचाने के साथ साथ पूरे परिवार को भी बचाना है। फ्लैगमार्च में जिला कलक्टर और एसपी के अलावा एडीश्नल एसपी श्री जस्साराम बोस, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, सीओ सिटी श्री प्रशांत कौशिक, तहसीलदार श्री दानाराम मीणा, टाउन थानाधिकारी श्री लक्ष्मण सिंह, ट्रैफिक थानाधिकारी श्री अनिल चिंदा, पुलिस लाइन घुड़साल से घुड़सवार समेत बड़ी संख्या में पुलिस कार्मिक शामिल हुए। गौरतलब है कि रविवार को यही फ्लैगमार्च जंक्शन में कलक्टर-एसपी के नेतृत्व में निकाला गया था।
हनुमानगढ़, 3 मई। मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतक आश्रित को एक लाख की सहायता राशि की स्वीकृति जारी की गई है। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने हनुमानगढ़ के सिकलीगर मोहल्ला निवासी श्री गुरदेव सिंह पुत्र श्री गुरबचन सिंह की 12 सितम्बर 2020 को सड़क दुर्घटना में मृत्यु होने पर आश्रित पत्नी श्रीमती निक्की कौर को एक लाख की आर्थिक सहायता प्रदान की है। उन्होने बताया कि राशि का भुगतान संबंधित के बैंक खाता के माध्यम से किया जाएगा।
हनुमानगढ़। जिले की मेडिकल टीमें राज्य की बेहतर टीमों में से है। कोविड जैसे संक्रमण काल में भी जिले की मेडिकल टीमें किसी भी कार्य में पीछे नहीं हटी है। अब चाहे वो डॉक्टर हो या एएनएम कर्मी, जीएनएम हो, स्वास्थ्यकर्मी या एनएचएम कर्मी। कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज एवं रिपोर्टिंग सहित समस्त कार्य बेहतर से बेहतर तरीके से किया जा रहा है। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने कहा कि समस्त चिकित्साकर्मी पिछले एक साल से दिन-रात काम कर रहे हैं। कोविड संक्रमण काल में जहां हर व्यक्ति अपनी उम्र व बीमारी का बहाना बनाकर कोरोना संक्रमित मरीज से दूर भागने की कोशिश में रहता है, वहीं स्वास्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार कर उन्हें स्वास्थ्य लाभ देने के प्रयास में लगे हैं। उन्होंने कहा कि जिले में सात बीसीएमओ में से छ: बीसीएमओ 55 वर्ष की आयु को पार कर चुके हैं, परंतु फिर भी वे अपने स्वास्थ्य की परवाह किए बगैर खण्ड स्तर पर अपना-अपना मोर्चा सम्भाले हुए हैं। इसके अलावा चिकित्सा विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी, जिला अस्पताल सहित समस्त चिकित्सा संस्थानों पर कार्यरत अनेक डॉक्टर्स सहित एएनएम कर्मी भी 55 वर्ष की आयु को पार कर चुके हैं। एमजीएम जिला अस्पताल सहित समस्त चिकित्सा संस्थान में कार्य कर रहा स्वास्थ्यकर्मी अपनी क्षमता से अधिक कार्य कर रहा है। अस्पताल ही नहीं, बाहर भी सैम्पल, सर्वे, घर पर रह रहे कोविड कर्मियों का उपचार, घर-घर जाकर सर्दी, खासी व जुकाम के मरीजों का चिन्हिकरण आदि अनेक कार्यों को समाज के प्रति अपना प्रमुख दायित्व समझकर कार्य कर रहा है। सोमवार से होगा कोविड वैक्सीनेशन उन्होंने कहा कि जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन सोमवार से शुरु किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी तक जिले को बीकानेर से वैक्सीन प्राप्त नहीं हुई है। जिले में रविवार शाम को कोविड वैक्सीन जिला वैक्सीन स्टोर पहुंचेगी, जहां से उसका खण्ड स्तर पर त्वरित वितरण करवा सोमवार से कोविड वैक्सीनेशन शुरु करवा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में अब 95.43 प्रतिशत फ्रण्टलाइन वर्कर्स ने वैक्सीन लगवा ली है जबकि 60 से अधिक आयु के बुजुर्गों ने 53.88 एवं 45 से 59 वर्ष तक की आयु के 29.32 लोगों ने अब तक वैक्सीनेशन करवा लिया। जिले में भादरा व रावतसर ब्लॉक के नागरिकों ने सबसे अधिक वैक्सीनेशन करवाया है। स्वस्थ हो रहे हैं कोरोना संक्रमित उन्होंने बताया कि जिले में अब तक कोरोना संक्रमण के 4734 एक्टिव केस हैं। इनमें से 9 का इलाज खण्ड स्तर पर बनाए गए कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) में किया जा रहा है। 13 कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में बनाए गए डेडीकेटिड कोविड हैल्थकेयर सेंटर (डीसीएचसी) में किया जा रहा है। 25 मरीजों का इलाज हनुमानगढ़ के हिसारिया हॉस्पीटल एवं भादरा के स्वामी विवेकानंद अस्पताल में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों में सबसे ज्यादा प्रभावित 21 से 45 वर्ष तक के लोग हुए हैं। इसी तरह, जिले में जिले में आज 160 कोविड संक्रमित मरीज स्वास्थ्य उपचार लेकर ठीक हुए हैं। रिपोर्टिंग सहित अन्य कार्यों में पीछे नहीं एनएचएम कर्मी उन्होंने कहा कि जिले सहित ब्लॉकों में कार्यरत एनएचएम कर्मी सहित अन्य कर्मी भी कम काम नहीं कर रहे हैं। समस्त कार्य एवं योजनाओं को सफल बनाने में एनएचएम कर्मी व सांख्यिकी विभाग अपना सौ प्रतिशत दे रहे हैं। जिला स्तर पर कार्य कर रही डीपीएम टीम जिला एवं ब्लॉक स्तर पर योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने का प्रयास में लगे हैं। सांख्यिकी अधिकारी, अतिरिक्त सांख्यिकी अधिकारी, डीपीएम, डीएनओ, सीओ-आईईसी, डीएसी, पीसीपीएनडीटी, बीपीएम, विभिन्न विभागों से कोविड रिर्पोटिंग कार्यों में कार्यरत इन्फोरमेटिक असिस्टेंट, कम्प्यूटर ऑपरेटर सहित समस्त एनएचएम कर्मी पिछले एक साल से ऑफिस में रहकर ही कार्य कर रहा है, जिन्हें शनिवार-रविवार का अवकाश भी नहीं मिल पा रहा।
हनुमानगढ़, 1 मई। अन्तर्राष्ट्रीय श्रम दिवस के अवसर पर शनिवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव संदीप कौर की अध्यक्षता में रविदास मंदिर के नजदीक, ओवरब्रिज के नीचे, हनुमानगढ़ जंक्शन में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। विधिक जागरूकता शिविर में सचिव द्वारा नालसा (असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए विधिक सेवाएं) योजना 2015, कार्यस्थल पर यौन अपराधों से संरक्षण एवं महिला कर्मियोंध्श्रमिकों के अधिकारों का संरक्षण, बंधुआ मजदूर एवं बाल मजदूरों की तस्करी पर रोक, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा अधिनियम 2008 की जानकारी, बंधुआ मजदूर एवं बाल श्रमिकों का पुनर्वास, श्रमिकों के विरूद्ध अपराध, रोजगार जनित बीमारी सिलोकोसिस टी.बी. आदि से पीडि़त श्रमिकों हेतु बनाई गई जन कल्याणकारी योजनाएं आदि के संबंध में विधिक जानकारी प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त माननीय रालसा, जयपुर के निर्देशानुसार बाल विवाह को कहें ना अभियान के तहत बाल विवाह के दुष्परिणाम एवं इसे राकने के लिए बाल विवाह निषेध अधिनियम, 2006 के तहत निरोधात्मक, दण्डात्मक एवं सुरक्षात्मक प्रावधानों की जानकारी दी गई तथा शिविर में बताया कि बाल विवाह सामाजिक बुराई है जो सिर्फ कानूनी उपायों से पूरी तरह समाप्त नहीं की जा सकती, इसके लिए हमें सामाजिक सोच में परिवर्तन लाना होगा। शिविर में उपस्थित आमजन को कोरोना वायरस संक्रमणकालीन परिस्थितियों के दौरान केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों की पालना करने तथा कोविड-19 वैक्सीनेशन के बारे में जागरूक किया गया तथा अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया।
हनुमानगढ़, 30 अप्रैल। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने शुक्रवार को सिंचाई और जलदाय विभाग के अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक कर जिले में नहरों से पेयजल की सुनिश्चितता को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में जिला कलक्टर ने ग्रामीण इलाकों समेत जहां पानी सप्लाई को लेकर कुछ दिक्कते हैं वहां पीएचईडी के कंटेनजेंसी प्लान के अनुरूप पानी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। मुख्य अभियंता श्री विनोद मित्तल ने बताया कि अभी नहरों में 200 क्यूसेक पानी चल रहा है। संगरिया, हनुमानगढ़ में पानी पहुंच चुका है। पीलीबंगा शनिवार सुबह तक पहुंच जाएगा। पंजाब इलाके में कुछ गड़बडी हुई है वहां लिंक को जल्द बंद करने पर सिटी सप्लाई नियमित हो जाएगी। आईजीएनपी में पानी को लेकर कोई समस्या नहीं है। वहां 90 प्रतिशत तक योजनाओं में पीएचईडी की ओर से पानी भर लिया गया है। नोहर-भादरा में भी पेयजल शुरू हो चुका है। अगले पांच-सात दिनों में वहां स्थिति बिल्कुल सामान्य हो जाएगी। पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता श्री पीसी मिढ्ढा ने बताया कि सिद्धमुख में पानी चोरी हो रही है वहां सिंचाई विभाग के स्टॉफ को अन्य जगह पर लगाया हुआ है। सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता ने वहां जल्द स्टॉफ फिर से लगाने की जानकारी दी। श्री मिढ्ढा ने सरहिंद फीडर में पानी की आपूर्ति जल्द शुरू करने का आग्रह किया। बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के अलावा एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता श्री विनोद मित्तल, एसई देवी सिंह बेनीवाल, पीएचईडी के एसई श्री पीसी मिढ्ढा, अधिशाषी अभियंता श्री दिनेश कुकणा, अधिशाषी अभियंता नोहर श्री ताराचंद पिलानिया समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 30 अप्रैल। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल और जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने शुक्रवार शाम को जिला मुख्यालय पर करीब आधा दर्जन विवाह स्थालों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान जिला कलक्टर ने कई विवाह स्थलों पर ज्यादा प्लेट लगी देखकर विवाह आयोजनकर्ताओं को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि जिले में कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। जिला अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। बाद में आप ही कहेंगे कि जिला अस्पताल में बैड नहीं मिल रहा।लिहाजा आप सब लोग सरकार की ओर से विवाह को लेकर जारी गाइडलाइन की अक्षरश पालना सुनिश्चित करें। अन्यथा मैरिज पैलेस मालिकों, केटरिंग संचालनकर्ता और विवाह आयोजनकर्ता के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। एसपी श्रीमती प्रीति जैन ने कहा कि विवाह की वीडियोग्राफी की एक कॉपी प्रशासन को उपलब्ध करवाएं। साथ ही कहा कि विवाह स्थलों पर निर्धारित संख्या से ज्यादा लोग मिलने पर पुलिस-प्रशासन की ओर से भी वीडियोग्राफी की जाएगी। जिला कलक्टर और एसपी ने जन अनुशासन पखवाड़ा गाइड लाइन और कोरोना गाइडलाइन की पालना को लेकर सभी विवाह स्थलों पर समझाइश भी की। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना महामारी में सरकार की ओर से जो गाइडलाइन जारी की गई है। उसमें विवाह को लेकर जो अधिकमत संख्या निर्धारित की गई है। उसका विवाह के आयोजनकर्ता खुद ही अक्षरश पालन करें ताकि प्रशासन को चालान या फाइन लगाने की कार्रवाई भी नहीं करनी पड़े। जब तक हम सब मिलकर स्वप्रेरणा से गाइडलाइन की पालना नहीं करेंगे। हम कोरोना से जंग जीत नहीं पाएंगे।कलक्टर-एसपी ने जंक्शन में व्यापार संघ धर्मशाला, टाउन में राजवी पैलेस, जीएम रिसोर्ट, चंदड़ा पैलेस और सिटी पैराडाईज का जायजा लिया। इस दौरान एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, सीओ सिटी श्री प्रशांत कौशिक, नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल, तहसीलदार श्री दानाराम, जंक्शन थानाधिकारी श्री नरेश गैरा, टाउन थानाधिकारी श्री लक्ष्मण सिंह समेत प्रशासन और पुलिस के अधिकारीगण शामिल थे।
हनुमानगढ़, 30 अप्रैल। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल और जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने शुक्रवार शाम को जिला मुख्यालय पर करीब आधा दर्जन विवाह स्थालों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कलक्टर-एसपी ने जन अनुशासन पखवाड़ा गाइड लाइन और कोरोना गाइडलाइन की पालना को लेकर समझाइश करने के साथ साथ दिशा निर्देश भी दिए। कि कोरोना महामारी में सरकार ने विवाह को लेकर जो गाइडलाइन जारी की है। उसका विवाह के आयोजनकर्ता खुद ही अक्षरश पालन करें ताकि प्रशासन को चालान या फाइन लगाने की कार्रवाई करनी ही ना पड़े। जब तक हम सब मिलकर स्वप्रेरणा से गाइडलाइन की पालना नहीं करेंगे। हम कोरोना से जंग जीत नहीं पाएंगे। लिहाजा सभी लोग खुद ही विवाह को लेकर अधिकतम 50 लोगों की अधिकतम सीमा का पालन करें। निरीक्षण के दौरान दौरान कई विवाह स्थलों पर खाने की अधिक प्लेट लगी होने पर कलक्टर-एसपी ने आयोजनकर्ताओं से सवाल जवाब किए। कलक्टर-एसपी ने जंक्शन में व्यापार संघ धर्मशाला, टाउन में राजवी पैलेस, जीएम रिसोर्ट, चंदड़ा पैलेस और सिटी पैराडाईज का जायजा लिया। इस दौरान एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, सीओ सिटी श्री प्रशांत कौशिक, नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल, तहसीलदार श्री दानाराम, जंक्शन थानाधिकारी श्री नरेश गैरा, टाउन थानाधिकारी श्री लक्ष्मण सिंह समेत प्रशासन और पुलिस के अधिकारीगण शामिल थे।
सुबह 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक घर बैठे फोन पर ले सकते हैं आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी चिकित्सकों से निशुल्क परामर्श हनुमानगढ़, 29 अप्रैल। कोरोना महामारी के चलते आयुर्वेद विभाग ने जिला मुख्यालय पर आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी चिकित्सा पद्धति से चिकित्सकीय परामर्श व औषधियों की घर बैठे जानकारी लेने हेतु हेल्प लाइन नंबर जारी किए हैं। आयुर्वेद विभाग के उपनिदेशक डाॅ सुरेन्द्र कुमार जोशी ने बताया कि कोविड-19 नियंत्रण में सहयोग हेतु जिला मुख्यालय पर चिकित्सकीय परामर्श हैल्प लाईन प्रारम्भ की गई है जो कलेक्ट्रेट की हैल्पलाइन से संबद्ध होगी। श्री जोशी ने बताया कि हैल्प लाइन में राज्य सरकार के निर्देशानुसार आयुर्वेद, यूनानी व होम्योपैथी तीनों पद्धतियों के एक-एक विशेषज्ञ चिकित्साधिकारियों की सेवाएं प्रातः 8 बजे से 2 बजे तथा दोपहर 2 बजे से रात्रि 8 बजे तक दूरभाष पर चिकित्सकीय परामर्श एवं औषधियों की जानकारी देने हेतु उपलब्ध रहेगी। डाॅ सुरेन्द्र जोशी ने बताया कि प्रातः 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक आयुर्वेद विशेषज्ञ डाॅ तीर्थ कुमार शर्मा से उनके मोबाइल नम्बर 94149-89697, होम्योपैथी विशेषज्ञ डाॅ रीटा गुप्ता से उनके मोबाइल नम्बर 75977-18681 व यूनानी विशेषज्ञ डाॅ मोहम्मद शकील से उनके मोबइल नम्बर 99286-32765 पर संपर्क किया जा सकता है। इसके साथ ही दोपहर 2 बजे से रात्रि 8 बजे तक आयुर्वेद विशेषज्ञ डाॅ सत्यप्रकाश से उनके मोबाइल नम्बर 63784-48313 व होम्योपैथी विशेषज्ञ डाॅ सुनीता सैनी से मोबाइल नम्बर 80056-33452 पर सम्पर्क कर चिकित्सकीय परामर्श व औषधियों की जानकारी निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं।
जयपुर/हनुमानगढ़, 28 अप्रेल। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए करीब 7 करोड़ वैक्सीन की आवश्यकता है। केंद्र सरकार से वैक्सीन मिलने के साथ ही प्रदेश में वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। डॉ. शर्मा ने कहा कि प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों की संख्या करीब 3.25 करोड़ है। पहला और दूसरा दोनों डोज और वेस्टेज को मिलाएं तो करीब 7 करोड़ वैक्सीन की डोज की राजस्थान को जरूरत रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश को अगर समय रहते वैक्सीन मिल जाएगी तो प्रधानमंत्री की मंशा के अनुसार राज्य की युवा पीढ़ी को वैक्सीन कर सुरक्षित करने को तैयार है। चिकित्सा मंत्री ने कहा कि विभाग के अधिकारियों ने सीरम इंस्टीटृयूट के अधिकारियों से बात कर 3 करोड़ 75 लाख डोजेज बुक करने का ऑर्डर दिया था लेकिन वहां के अधिकारियों ने बताया कि 15 मई तक केंद्र सरकार द्वारा दिए गए ऑर्डर की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश को वैक्सीन तो मिल जाएगी तो राज्य की सबसे बड़ी आबादी को समय रहते वैक्सीनेट किया जा सकेगा। चिकित्सा मंत्री ने कहा कि प्रदेश को केंद्र सरकार से अब तक 1 करोड़ 38 लाख 57 हजार 360 वैक्सीन की डोज प्राप्त हुई हैं, जिनमें से विभाग ने एक करोड़ 36 लाख 180 वैक्सीन जिलों में पहुंचा दी। उन्होंने कहा कि सरकार के पास स्टोरेज की क्षमता ठीक है और कोल्ड चेन भी 2444 की संख्या में विकसित किए जा चुके हैं और मैनपावर भी र्प्याप्त है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पिछले दिनों विभाग ने 5 लाख 80 हजार वैक्सीन एक दिन में लगाए थे। वर्तमान में 7 लाख इंजेक्शन प्रतिदिन लगाने का तंत्र विकसित किया जा चुका है, जिसे और भी बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि 45 से अधिक उम्र के लोग करीब 2 करोड़ 9 लाख हैं। इनमें से भी कई लोगों को दूसरा डोज लगाना बाकी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 27 अप्रेल तक 1 करोड़ 26 लाख 53 हजार 991 लोगों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है। प्रदेश के स्टोरेज में अब वैक्सीन नहीं बची हैं।
जयपुर/हनुमानगढ़, 28 अप्रेल। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने दिल्ली दौरे से लौटने के बाद कहा है कि प्रदेश से गए मंत्री समूह ने कोरोना महामारी की राजस्थान में स्थिति और उसकी प्रदेश की जरुरत के बारे में सबंधित केन्द्रीय मंत्रियों के साथ विस्तार और सकारात्मक माहौल में चर्चा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के स्वायत शासन मंत्री शांति धारीवाल, उर्जा मंत्री डॉ बीडी कल्ला और मैंने दिल्ली में सबंधित केन्द्रीय मंत्रियों से कल मुलाकात की थी। प्रदेश से गए मंत्री समूह को केन्द्रीय मंत्रियों ने प्रदेश की जरुरत के अनुसार रेमडेसिविर इंजेक्शन और आक्सीजन सप्लाई को लेकर उचित सहयोग का आश्वासन दिया है। 10 - 12 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन की प्रतिदिन जरुरत होगी चिकित्सा मंत्री ने कहा कि वर्तमान में आक्सीजन के साथ सबसे अधिक मांग रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरुरत पड़ रही है। उन्होंने कहा कि मंत्री समूह ने केन्द्रीय मंत्रियों से विशेष मांग की है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन का आवंटन राजस्थान के लिए बढ़ाया जाए। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में प्रदेश को प्रतिदिन 10 हजार से अधिक रेमडेसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता पड़ सकती है इसी के अनुसार केन्द्र की ओर से आवंटन किया जाए। उन्होंने कहा कि आरएमएससीएल की ओर 1 लाख 75 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए बुकिंग की गई है लेकिन अब तक विभाग को इसकी आपूर्ति नहीं मिली है। 365 मीट्रिक टन आक्सीजन की जरुरत चिकित्सा मंत्री ने कहा कि केन्द्रीय मंत्रियों को प्रदेश की वर्तमान आक्सीजन मांग को लेकर भी पूर्ण जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राजस्थान को 310 मीट्रिक टन से अधिक मेडिकल आक्सीजन की जरुरत है। जबकि प्रदेश को बमुश्किल करीब 300 मीट्रिक टन आक्सीजन की मिल पा रही है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार प्रतिदिन आक्सीजन की मांग बढ़ रही है उसके अनुसार आने वाले दोकृतीन दिन में प्रदेश को 365 मीट्रिक टन से अधिक आक्सीजन की आवश्यकता होगी। 32 टैंकरों की आवश्यकता डॉ शर्मा ने कहा कि प्रदेश में बढ़ती आक्सीजन की आपूर्ति के लिए आने वाले माह में 32 टैंकरों की आवश्यकता होगी। जिनकी क्षमता करीब 400 मीट्रिक मेडिकल आक्सीजन सप्लाई की होगी। उन्होंने कहा कि अधिक टैंकरों की जरुरत इसलिए क्योंकि मेडिकल आक्सीजन देश के दूरकृदराज के इलाकों से होती है इसलिए ट्रांसपोर्ट में अधिक समय लगता है। जबकि वर्तमान में प्रदेश में केवल 23 मेडिकल आक्सीजन सप्लाई करने वाले टैंकर है। जिनके द्वारा करीब 258 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई की जा रही है। रेलवे ट्रांसपोर्ट से भी आपूर्ति की मांग चिकित्सा मंत्री ने कहा कि उनके द्वारा सबंधित केन्द्रीय मंत्रियों से मांग की गई कि आक्सीजन की जल्द से जल्द सप्लाई के लिए रेलवे ट्रांसपोर्ट की भी उनको अनुमति प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि अधिकतर आक्सीजन प्लांट छत्तीसगढ़, झारखंड, उड़ीसा जैसे राज्यों में जहां जहां से सड़क परिवहन के जरिए आक्सीजन की सप्लाई में काफी समय लगता है इसलिए रेलवे ट्रांसपोर्ट एक बेहतर विकल्प हो सकता है। 30 हजार रेमडेसिविर कम मिले है डॉ शर्मा ने कहा कि उनके द्वारा दिल्ली में केन्द्रीय मंत्रियों को अवगत कराया गया कि राजस्थान को कोरोना महामारी से लड़ने के लिए इंजेक्शन और आक्सीजन का जो कोटा तय किया गया था वह पूरा नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि अप्रेल माह में प्रदेश को 67 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन मिलने थे लेकिन अब तक प्रदेश को केवल 37 हजार इंजेक्शन ही उपलब्ध हो सकें है, जबकि अप्रेल माह समाप्त होने को है।
हनुमानगढ़. 28 अप्रैल। कोरोना महामारी पर रोकथाम को लेकर राज्य सरकार की ओर से 3 मई तक जन अनुशासन पखवाड़ा को लेकर जारी गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करने के लिए बुधवार को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल और जिला पुलिस अधीक्षक श्री प्रीति जैन ने अन्य अधिकारियों के साथ जंक्शन व टाउन बाजारों का जायजा लिया। बाजारों का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इसके अलावा जंक्शन-टाउन में वे स्थान भी देखे जहां कोविड केयर सेंटर बनाए जा सकते हैं। जिला कलक्टर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि जिले कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इसकी रोकथाम को लेकर राज्य सरकार ने जो गाइड लाइन जारी की है। जिले में उसकी पालना सुनिश्चित की जा रही है। इसको लेकर एसपी और अन्य अधिकारियों के साथ विजिट किया गया। ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि जो गतिविधियां अनुमत है उनकी पालना हो। जिला कलक्टर ने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना की इस महामारी में प्रत्येक व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी समझे और जब तक अतिआवश्यक ना हो अपने घर से बाहर ना निकलें। घर से निकलें तो मास्क पहन कर ही निकलें और लोगों से दो गज की दूरी रखे, सैनेटाइजर का भी इस्तेमाल करें। इन सभी उपायों से संक्रमण की चैन को हम तोड़ पाएंगे। जिले में कोविड केयर सेंटर बनाए जाने को लेकर उन्होने कहा कि जिला अस्पताल में रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिनका ऑक्सीजन लेवल अच्छा हैं उनको हम प्राइवेट धर्मशालाओं में या दूसरे अच्छे स्थान पर रखेंगे ताकि उनकी रिकवरी भी अच्छी हो। वहीं जिला अस्पताल में ऑक्सीजन व वेंटिलेटर बैंड को जिन रोगियों को वास्तव में आवश्यकता है उनको दिलवा सकें। उन्होने जिले वासियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि कोरोना से निपटने के लिए जिले में व्यवस्थाओं को लेकर किसी प्रकार की कोई कमी नहीं छोडी जाएगी। आप हमारा सहयोग करें कोरोना की बीमारी की जंग में जीत हासिल करेंगे। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में जिले में लगातार केस बढते जा रहे हैं। प्रशासन सक्रिय है आमजन भी सहयोग कर रहे हैं। जिले में अंतर जिला और अंतर्राज्यीय कुल 21 नाके स्थापित कर रखे हैं। जिसमें आरएसी, पुलिस, होमगार्ड इत्यादि को तैनात किया गया है। होमगार्ड के 150 कार्मिकों को अलग से तैनात किया गया है। एसपी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि लोग घरों में ही रहें। अतिआवश्यक होने पर ही घर से निकलें। साथ ही आसपास के लोगों को भी इस बात के लिए प्रेरित करें। लोग बिना पुलिस की सख्ती के खुद ही नियमों का पालन करें। लोगों से समझाइश भी कर रहे हैं अति आवश्यकता होने पर सख्ती की जा रही है। जिला कलक्टर और एसपी ने जंक्शन और टाउन के मुख्य बाजारों का निरीक्षण करने के साथ उन सेंटर्ट को भी देखा जहां कोविड केयर सेंटर बनाए जा सकते हैं। इन सेंटरों में उन कोरोना रोगियों को रखा जाएगा जिनकी हालत गंभीर नहीं है और जिन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता नहीं है। इसके लिए प्रशासन की ओर से निजी धर्मशालाओं सहित अन्य बेहतर जगहों को चिह्नित किया जा रहा है। टाउन में कलक्टर और एसपी ने कॉलेज फाटक रोड स्थित गोशाला सेवा समिति के भवन का कोविड केयर सेंटर बनाए जाने हेतु जायजा लिया। इस अवसर पर उपखण्ड अधिकारी श्री कपिल यादव, जिला उद्योग केंद्र महाप्रबंधक श्रीमती आकाशदीप सिद्धू, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. अवि गर्ग, तहसीलदार श्री दानाराम मीणा, जंक्शन थाना प्रभारी नरेश गेरा सहित प्रशासन व पुलिस के अन्य अधिकारी भी साथ थे।
हनुमानगढ़, 28 अप्रैल। कोरोना संकट में जिले के भामाशाह आगे आ रहे हैं। नगर पालिका भादरा के पूर्व चेयरमैन और भामाशाह श्री हाजी दाउद के बेटे श्री रफीक मोहम्मद ने ऑक्सीजन सिलेंडर हेतु पौने तीन लाख रूपए का चौक जिला कलक्टर को भिजवाया। बुधवार को उनके प्रतिनिधि श्री दिनेश शर्मा ने हनुमानगढ़ पहुंच कर जिला कलक्टर को ये चौक सौंपा। इस अवसर पर सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई और भादरा नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी श्री गुरदीप सिंह उनके साथ थे। जिला कलक्टर ने प्रशासन को की गई इस मदद के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जिले में बहुत से भामाशाह हैं जिन्होने संकट की घड़ी में प्रशासन की सदैव मदद की है। उनमें हाजी दाउद साहब का नाम भी प्रमुख रूप से आता है। उनके बेटे ने ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद को लेकर प्रशासन की मदद की है। साथ ही कहा कि जिले में ऑक्सीजन को लेकर किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। ऑक्सीजन सिलेंडर्स की लगातार व्यवस्था की जा रही है। डीएमएफटी फंड से भी 10 लाख रूपए ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद को लेकर जारी किए गए हैं। जिले में कोरोना से निपटने के लिए व्यवस्थाएं चाक चौबंद हैं।
हनुमानगढ़, 28 अप्रैल। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने कोरोना मैनेजमेंट, वैक्सीनेशन, चिरंजीवी योजना और गेहूं खरीद की समीक्षा करने के लिए जिले के सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले भर में सभी लोगों का 30 अप्रैल से पहले इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाएं। अन्यथा रजिस्ट्रेशन नहीं करवाने वाले मई, जून और जुलाई में बीमार हुए तो उन्हें योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा। जिला कलक्टर ने कहा कि सरकार की ये अति महत्वपूर्ण योजना है जिसमें रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद 5 लाख रूपए तक का कैशलेश इलाज बड़े प्राइवेट अस्पतालों में भी करवाया जा सकेगा। इसमें कोरोना का इलाज भी शामिल कर लिया गया है। लिहाजा जिले के सभी ब्लॉक में सभी संबंधित अधिकारी पार्षदों, सरपंचों, पंचों, राशन डिलर्स इत्यादि के साथ बैठक कर लोगों को इस योजना में 30 अप्रैल से पहले रजिट्रेशन करवाने के लिए प्रोत्साहित करें। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत वैसे तो सरकार ने एनएफएसए, लघु व सीमांत किसान, संविदाकर्मियों इत्यादि का निशुल्क रजिस्ट्रेशन करने का प्रावधान किया है। वहीं आमजन भी मात्र 850 रूपए में 5 लाख रूपए का कैशलेश स्वास्थ्य बीमा का लाभ ले सकेंगे। उन्होने कहा कि हो सकता है कि ब्लॉक में कई लोग ऐसे भी हों जो 850 रूपए भी ना दे सकें तो ऐसे में ब्लॉक स्तरीय अधिकारी स्थानीय भामाशाहों के सहयोग से ऐसे लोगों का रजिस्ट्रेशन करवाने का प्रयास करें। साथ ही कहा कि ब्लॉक में ऐसे ईमित्रों को नोटिस दें जहां बहुत कम रजिस्ट्रेशन हुआ है। साथ ही उन्हें 10-15 दिन के लिए ब्लैक लिस्ट भी कर दें। जिला कलक्टर ने कहा कि इस योजना के अंतर्गत कुछ दिन पहले जिला काफी नीचे था। लेकिन जिले के सभी अधिकारियों ने काफी अच्छा कार्य करते हुए पिछले तीन चार दिनों में बहुत अच्छी प्रगति इस योजना में ला दी है। लेकिन हमारा लक्ष्य जिले के शत प्रतिशत लोगों का इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाना है ताकि लोगों को इस योजना का लाभ मिल सके। जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में पूरी प्रशासनिक टीम अच्छा कार्य कर रही है। आगे भी टीम स्प्रीट और आपसी समन्वय से कार्य करने की जरूरत है।ताकि कोरोना जैसी महामारी से ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचाया जा सके। जिला कलक्टर ने बैठक में कोरोना वैक्सीनेशन की समीक्षा करते हुए जिले में लोगों का वैक्सीनेशन के प्रति बढ़ते रूझान को देखते हुए उच्चाधिकारियों को जिले के लिए अतिरिक्त डोज भेजे जाने हेतु पत्र लिखने के निर्देश दिए। बैठक के तुरंत बाद जिला कलक्टर ने जिले के लिए अतिरिक्त डोज हेतु पत्र जयपुर भिजवा भी दिया। कोरोना वैक्सीनेशन की समीक्षा करते हुए उन्होने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे अपने इलाके में उन ग्राम पंचायतों में 45 से ज्यादा उम्र के लोगों को पहले वैक्सीनेशन करवाएं जहां कोरोना पॉजिटिव केस ज्यादा आ रहे हैं। जिला कलक्टर ने सभी एसडीएम से कोरोना मैनेजमेंट,कोरोना पॉजिटिव केस, एक्टिव केसेज, डोर-टू-डोर सर्वे, जन अनुशासन पखवाड़ा में कोरोना गाइडलाइन की पालना, गाइडलाइन की पालना नहीं करने पर चालान, सीज की कार्रवाई, वैक्सीनेशन, चिरंजीवी योजना इत्यादि की समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना प्रबंधन में किसी प्रकार की कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ये जीवन और आजीविका बचाने का मिशन है। कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करने वालों के अधिकतम चालान, कठोरतम कार्रवाई करने का समय है।ताकि सरकार को पूर्ण लॉक डाउन ना लगाना पड़े। जिला कलक्टर ने डोर-टू-डोर सर्वे को लेकर निर्देशित किया कि इस सर्वे के जरिए हम बहुत लोगों की जान बचा सकते हैं। जहां खांसी, जुकाम इत्यादि के मरीज हैं उन्हें ट्रेस आउट कर इलाज शुरू करवाएं ताकि गंभीर स्थिति में अस्पताल में पहुंचने से पहले ही उन्हें चिन्हित कर ईलाज शुरू किया जा सके। उन्होने कहा कि जहां भी कोरोना पॉजिटिव केस आ रहे हैं संबंधित कोरोना पॉजिटिव लोगों के होम आइसोलेशन में रहना सुनिश्चित करें। साथ ही उनका ईलाज भी जल्द शुरू कराएं। संबंधित पीएससी, सीएसची पर इलाज करवाएं। गंभीर रोगियों को ही जिला अस्पताल रैफर किया जाए। जिन लोगों में कोरोना के लक्ष्ण कम हैं उन्हें कोविड केयर सेंटर या होम आइसोलेशन में ही इलाज करवाएं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और आशा को लेकर कहा कि ये तीनों वर्कर डोर-टू-डोर सर्वे के साथ साथ चिरंजीवी योजना में भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं। साथ ही कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को होम आइसोलेशन में रखें। अगर वे होम आइसोलेशन के नियमों का पालन नहीं करें उनको पूर्व की भांति स्कूल या धर्मशाला में बनाए गए सेंटर में रखना शुरू करें। जिला कलक्टर ने कहा कि शादियों को लेकर जो गाइडलाइन गृह विभाग ने जारी की है। उसकी कठोरता से पालना सुनिश्चित करें। अगर कोई संबंधित पटवारी, ग्राम विकास अधिकारी इत्यादि शादी में 50 से ज्यादा लोग के होने की जानकारी ना दें तो संबंधित के खिलाफ नोटिस जारी करें। जिला कलक्टर ने गेहूं खरीद की समीक्षा करते हुए सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे उपज मंडी का विजिट करें। समय पर लिफ्टिंग और समय पर किसानों को भुगतान सुनिश्चित करें। किसानों को उपज मंडी में किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। बैठक में जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री रामनिवास जाट, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, डीएसओ श्री राकेश न्यौल, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, नगर परिषद कमीश्नर श्रीमती पूजा शर्मा, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, सीडीईओ श्री तेजा सिंह, डीईओ श्री हंसराज, कृषि उपज मंडी समिति के उपनिदेशक श्री सुभाष सहारण, महिला एवं बाल विकास के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, कृषि उपज मंडी समिति के सचिव श्री सीएल वर्मा समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
तेजाब पीडि़ता को अंतरिम राहत के रूप में 1 लाख 50 रूपये की राशि दिए जाने के आदेश पारित हनुमानगढ़, 28 अप्रैल। 27 अप्रैल को तेजाब पीडि़ता को आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाने के संबंध में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लिंक अधिकारी (जिला एवं सेशन न्यायाधीश) के अध्यक्ष श्री पलविन्द्र सिंह की अध्यक्षता में पीडि़त प्रतिकर स्कीम, 2011 के अन्तर्गत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की आपात बैठक का आयोजन किया गया। श्री पलविन्द्र ने बताया कि कमेटी द्वारा पीडि़ता को अन्तरिम राहत के रूप में 1,50,000 रूपये की राशि दिए जाने के आदेश पारित किए गए। पीडि़ता के बेहतर ईलाज हेतु बीकानेर अस्पताल में रैफर किया गया है तथा उसके ईलाज में किसी प्रकार की धन की कमी आडे नहीं आए इसलिए अन्तरिम प्रतिकर पीडि़ता को दिलवाया गया है। बैठक में सदस्यगण सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, पुलिस अधीक्षक प्रिती जैन, लिंक अधिकारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रमेश कुमार, बार संघ अध्यक्ष श्री मनजिन्द्र सिंह लेघा, व राजकीय अधिवक्ता श्री उग्रसेन नैण उपस्थित रहे।
बंदियो को कोविड-19 से बचाव के उपायों की दी जानकारी हनुमानगढ़, 28 अप्रैल। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार 28 अप्रैल 2021 को हनुमानगढ़ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव द्वारा कोविड-19 की स्थिति से सम्बन्धित जायजा लेने हेतु जिला जेल का निरीक्षण किया गया निरीक्षण के दौरान पाया गया कि जेल प्रशासन द्वारा 27 मार्च 1 अप्रैल 2021 को तथा उसके बाद दिनांक 3 अप्रैल 2021 व 27 अप्रैल को इस प्रकार अलग-अलग दिवस को कोविड-19 की जांच करवाई गई जिसमें कुल 415 बंदियों के सेम्पल तथा 23 जेल के अधिकारियों, कर्मचारियों आरटीपीसीआर जांच करवाई गई थी। निरीक्षण के दौरान एक बंदी ने सिर दर्द की शिकायत की थी जिसे आईसोलेशन में रखे जाने के निर्देश मौका पर दिये गये तथा पूर्ण उपचार करवाये जाने बाबत भी निर्देशित किया गया। जब भी कोई नया बंदी आता है तो प्रथमतः उसकी आरटीपीसीआर जांच करवाई जाती है तथा रिपोर्ट आने तक बंदी को आईसोलेशन में रखा जाता है रिपोर्ट नकारात्मक आने पर ही बंदी को अन्य बंदियों के साथ शामिल किया जाता है। निरीक्षण के दौरान कोविड-19 में दी जाने वाली आवश्यक दवाईयों का स्टॉक जांचा गया। मौका पर उपस्थित बंदियों को कोविड-19 से बचाव के उपायों के बारे में बताते हुए मास्क, सैनेटाईजर व सामाजिक दूरी की उपयोगिता के बारे में बताया गया तथा पाया गया कि निवासरत बंदी कोविड-19 से सम्बन्धित उपयुक्त व्यवहार कर रहे थे तथा बंदीजन कोविड-19 से बचाव हेतु की जाने वाली सावधनियों से भलीभांति अवगत थे। जिस पर उपाधीक्षक द्वारा अवगत करवाया गया कि सभी बंदियों को कोविड-19 से बचाव किस प्रकार किया जा सकता है के बारे में समय-समय पर जानकारी दी जा रही है जिसके कारण समस्त बंदी उक्त से परिचित है तथा यह भी बताया गया कि कारागृह में समय-समय पर हाईपोक्लोराईट का छिडकाव किया जा रहा है तथा स्वच्छता का पूर्ण ध्यान रखा जा रहा है।
श्रीगंगानगर/हनुमानगढ़, 27 अप्रैल। देश व प्रदेश में कोरोना महामारी के बढ़ते हुए खतरे के मद्देनजर श्रीगंगानगर सांसद श्री निहाल चन्द ने हनुमानगढ़ जिला कलेक्टर के साथ बैठक कर जिलें में स्वास्थ्य सेवाओं व हालात का जायजा लिया । सांसद महोदय ने कलेक्टर महोदय से जिले में ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति व जीवन रक्षक दवाईयों की उपलब्धता पर भी पूरा ध्यान देने का आग्रह किया साथ ही उन्होंने प्रदेश व केंद्र सरकार से हरसंभव मदद उपलब्ध करवाने का भी भरोसा दिया । बैठक में सांसद निहाल चन्द, जिला कलेक्टर श्री नथमल डिडेल, डॉ. रामप्रताप, जिलाध्यक्ष श्री बलबीर बिश्नोई, विधायक श्री गुरदीप शाहपीनी, श्री अभिषेक मटोरिया समेत स्वास्थ्य विभाग से च्डव् और ब्डभ्व् ने भाग लिया । सांसद महोदय ने अवगत करवाया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने हेतु पीएम केयर्स फंड से देश के 551 सार्वजनिक जिला अस्पतालों पर समर्पित पीएसए (प्रेशर स्विंग ऐड्सॉर्प्शन) चिकित्सा ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना किये जाने को मंजूरी दी गई है । जिला मुख्यालयों के सरकारी अस्पतालों में पीएसए ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को और मजबूत करना है और यह सुनिश्चित करना है कि इनमें से प्रत्येक अस्पतालों में कैप्टिव ऑक्सीजन उत्पादन की सुविधा बनी रहे । प्रत्येक संयंत्र की स्थापना के लिए लगभग एक से डेढ़ करोड़ की राशि पीएम केयर्स फंड से जारी की जायेगी । खराब मौसम व कोरोना महामारी की दोहरी मार क्षेत्र के किसानों पर भी पड़ रही है । इस समय फसल खरीद का काम जोरों पर चल रहा है ऐसे में फसल खरीद व फसल की गुणवत्ता दोनों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है । खराब मौसम के कारण गेहूं की चमक कम होना व गेहूं के दाने का 10 से 12 प्रतिशत तक सिकुड़ने जैसी समस्याएँ क्षेत्र के किसानों के सामने आ रही है, ऐसे में सासंद निहाल चन्द जी ने नई दिल्ली में केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र तोमर जी से वार्ता करके एफ.सी.आई. (थ्ब्प्) की एक टीम का दौरा इस क्षेत्र में कराने को मंजूरी दिलवाई है, जिसके तहत टीम यहाँ का दौरा कर अपनी रिपोर्ट शीर्ष स्तर पर भेजेगी और एफ.सी.आई. (थ्ब्प्) के मानकों में बदलाव करते हुए खरीद करने हेतु सिकुड़े दाने का प्रतिशत 6 से बढाकर 10 से 12 प्रतिशत तक किया जाएगा । सांसद ने जिलें में बारदाने की भी पर्याप्त आपूर्ति किये जाने हेतु किसानों को आश्वस्त किया है । सांसद श्री निहाल चन्द ने जिलें में स्वास्थ्य सेवाओं को और ज्यादा मजबूती प्रदान करने और जरूरतमंद तक हरसंभव मदद पहुँचाने के लिए जिला कलेक्टर व प्रशासन को युद्धस्तर पर तैयारियां करने हेतु निर्देशित किया । सांसद निहाल चन्द व डॉ रामप्रताप ने लोगों से मास्क लगाने, बिना जरुरी काम के घर से बाहर नहीं निकलने, उचित दूरी बनाये रखने, साबुन व सैनिटाईजर का प्रयोग करने, नंबर आने पर वैक्सीन जरुर लगाने और प्रसाशन द्वारा जारी नियमों का सख्ती से पालन करने का आह्वान किया है । उन्होंने अफवाहों पर ध्यान नहीं देते हुए अपना और अपनों का ध्यान रखने की अपील भी आमजन से की । जिलाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा संगठन एक परिवार है और जिले के हर जरूरतमंद व्यक्ति तक हरसंभव मदद के लिए संगठन के लोग पूरी तत्परता के साथ काम कर रहे है, वहीँ संगरिया विधायक गुरदीप शाहपीनी ने भी क्षेत्र के किसानों को फसल की राशि समय पर उनको दिलवाने का आग्रह कलेक्टर महोदय से किया
हनुमानगढ़, 27 अप्रैल। कोरोना महामारी के दौर में राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जन अनुशासन पखवाड़े के तहत मंगलवार को जंक्शन भगत सिंह चौक पर जिला प्रशासन के निर्देशानुसार सरस्वती कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय की छात्राओं व राजकीय नेहरु मेमोरियल कॉलेज हनुमानगढ़ के स्काउट गाइड के रोवर्स ने राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत आमजन को जागरूक करने के लिए रंगोली बनाई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उपखंड अधिकारी कपिल यादव, डीवाईएसपी प्रशांत कौशिक ने रंगोली का निरीक्षण किया। उक्त रंगोली में जिला कोऑर्डिनेटर विनोद जांगिड़ एवं सरस्वती कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ श्याम सुंदर शर्मा के नेतृत्व में छात्राओं ने रंगोली में आमजन को घरों में रहने ,मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना एवं कोरोना वैक्सीन लगवाने के संदेश दिए। अतिथियों ने छात्राओं के उक्त प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि अगर आमजन राज्य सरकार के दिए गए निर्देशों की पालना करने का आह्वान किया । इस अभियान के अंतर्गत आमजन को कोरोना महामारी से लड़ने के लिए और बचाने के लिए जागरूक करने हेतु 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीकाकरण लगवाने के लिए प्रेरित किया गया तथा इसके अलावा आमजन को कोरोना महामारी की जंग से लड़ने के लिए मास्क लगाने ,सामाजिक दूरी का पालन करने ,सैनिटाइजर का बार-बार उपयोग करने, साबुन से हाथ बार-बार धोने के लिए तथा अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकलने के लिए आमजन को जागरूक किया गया ।इस जन जागरूकता अभियान मैं हनुमानगढ़ जंक्शन के सरस्वती गर्ल्स कॉलेज कि स्वयं सेविकाओं तथा राजकीय नेहरु मेमोरियल कॉलेज हनुमानगढ़ के स्काउट गाइड के रोवर्स द्वारा यह जागरूकता अभियान चलाया गया।
हनुमानगढ़। जिले में सोमवार का दिन कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए खासा उत्साहजनक रहा। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के निर्देशन में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की अथक मेहनत एवं जागरुकता की बदौलत जिले के 235 टीकाकरण केंद्रों पर 25407 लोगों ने कोविड का टीका लगवाया। इनमें 18927 लोगों ने प्रथम डोज व 6480 लोगों ने वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई। जिले में टीकाकरण अभियान की शुरूआत के बाद यह पहली बार हुआ है कि एक ही दिन में इतनी बड़ी संख्या में आमजन ने एक साथ टीका लगवाया। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिला कलेक्टर श्री नथमल डिडेल के निर्देशों के चलते समस्त विभागों ने अपने-अपने स्तर से सोमवार से पुन: शुरु हो रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन पर अधिक से अधिक टीकाकरण करवाने का प्रयास किया। समस्त विभागों के आपसी सामंजस्य से आज 235 चिकित्सा केन्द्रों पर 25407 लाभार्थियों ने टीकाकरण करवाया। इनमें 45 से अधिक उम्र के 13294 लोगों ने प्रथम डोज व 1419 लोगों ने दूसरा डोज लगवाया। इसी तरह 60 से अधिक उम्र के 5515 बुजुर्गों ने प्रथम डोज व 4892 बुजुर्गों ने बूस्टर डोज लगवाया। आज के टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए जिला एवं खण्डस्तरीय अधिकारियों ने अभियान निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
हनुमानगढ़। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से आमजन घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं। ई-मित्र संचालकों को भी निर्देश हैं कि वे आमजन के मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अधिकाधिक संख्या में पंजीयन करवाएं। ऐसे में हम स्वयं भी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पंजीयन करवा सकते हैं। हमें इसके लिए किसी ई-मित्र पर जाने की आवश्यकता नहीं है। सीओ-आईईसी मनीष शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ रहे संक्रमण की वजह से लोगबाग अपने घरों पर रहकर कार्य कर रहे हैं। ऐसे में वे किसी भी स्थिति में घर से बाहर निकलने में संकोच कर रहे हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीयन करने की अन्तिम तिथि 30 अप्रैल है। ऐसे में हम स्वयं भी अपना आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि आमजन द्वारा बड़ी संख्या में पंजीयन करवाया जा रहा है। ई-मित्र केन्द्रों एवं राजीव गांधी सेवा केन्द्रों पर आमजन द्वारा पंजीयन करवाकर बीमा पॉलिसी ली जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा भी प्रचार-प्रचार के जरिए अधिक से अधिक पंजीयन करवाने की अपील की जा रही है। चिकित्सा विभाग द्वारा भी आईईसी एवं प्रचार रथ के जरिए आमजन से पंजीयन करवाने के लिए आग्रह किया जा रहा है। यह प्रक्रिया अपनाएं डीएनओ सुदेश जांगिड़ ने बताया कि योजना में स्वयं ऑनलाइन पंजीयन (रजिस्ट्रेशन) करवाने के लिये आपको सबसे पहले अपनी एसएसओ आईडी बनानी होगी। इसे आप sso-rajasthan-gov-in वेबसाइट लिंक पर जाकर बना सकते है। एसएसओ आइडी बनाने के बाद योजना में अपना रजिस्ट्रेशन कराने के लिये विभाग की वेबसाइट health-rajasthan-gov-in/mmcsby पर रजिस्ट्रेशन के लिये दिये लिंक पर क्लिक कर अपनी एसएसओ आईडी से log-in करें। आपको यहां पर दो विकल्प दिखाई देंगे। पहला Free और दूसरा Paid आप अपनी निर्धारित श्रेणी के अनुसार दोनो में से एक विकल्प को चुन सकते है। Free श्रेणी के अंदर राज्य के कृषक (लघु एवं सीमांत) SMF पर, संविदाकर्मी अपनी श्रेणी Contractual पर तथा राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 अनुग्रह राशि भुगतान प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवार Covid 19 ex Gratia पर क्लिक करें। इसके बाद आप अपने जनआधार नम्बर अथवा जनआधार पंजीयन रसीद नम्बर सॉफटवेयर में दर्ज कर सर्च करें। उन्होंने बताया कि परिवार के सभी सदस्यो के नाम आपको सॉफटवेयर में दिखाई देंगे, जिनमें से किसी भी एक सदस्य को डिजिटल हस्ताक्षर (ई-सिग्नेचर) करना होगा जिसके लिये आधार कार्ड में दर्ज कराये हुए मोबाइल नम्बर पर ओटीपी आयेगा। इस ओटीपी को सॉफटवेयर में सबमिट कर ई-सिग्नेचर करना होगा। तत्पश्चात श्रेणी अनुसार आपको अपना विवरण दर्ज करना होगा। इसके बाद आप पॉलिसी डॉक्यूमेंट प्रिंट कर पायेंगे। Paid श्रेणी के परिवार आवेदन Submit करने पर सॉफटवेयर आपको ऑनलाइन पेमेंट माध्यम पर लेकर जायेगा, जहां पर आपको निर्धारित प्रीमियम राशि 850 रूपये का भुगतान करना होगा। भुगतान के पश्चात पॉलिसी डॉक्यूमेंट का प्रिंट लिया जा सकेगा।
हनुमानगढ़। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से आमजन घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं। ई-मित्र संचालकों को भी निर्देश हैं कि वे आमजन के मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अधिकाधिक संख्या में पंजीयन करवाएं। ऐसे में हम स्वयं भी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पंजीयन करवा सकते हैं। हमें इसके लिए किसी ई-मित्र पर जाने की आवश्यकता नहीं है। सीओ-आईईसी मनीष शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के बढ़ रहे संक्रमण की वजह से लोगबाग अपने घरों पर रहकर कार्य कर रहे हैं। ऐसे में वे किसी भी स्थिति में घर से बाहर निकलने में संकोच कर रहे हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीयन करने की अन्तिम तिथि 30 अप्रैल है। ऐसे में हम स्वयं भी अपना आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि आमजन द्वारा बड़ी संख्या में पंजीयन करवाया जा रहा है। ई-मित्र केन्द्रों एवं राजीव गांधी सेवा केन्द्रों पर आमजन द्वारा पंजीयन करवाकर बीमा पॉलिसी ली जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा भी प्रचार-प्रचार के जरिए अधिक से अधिक पंजीयन करवाने की अपील की जा रही है। चिकित्सा विभाग द्वारा भी आईईसी एवं प्रचार रथ के जरिए आमजन से पंजीयन करवाने के लिए आग्रह किया जा रहा है। यह प्रक्रिया अपनाएं डीएनओ सुदेश जांगिड़ ने बताया कि योजना में स्वयं ऑनलाइन पंजीयन (रजिस्ट्रेशन) करवाने के लिये आपको सबसे पहले अपनी एसएसओ आईडी बनानी होगी। इसे आप sso-rajasthan-gov-in वेबसाइट लिंक पर जाकर बना सकते है। एसएसओ आइडी बनाने के बाद योजना में अपना रजिस्ट्रेशन कराने के लिये विभाग की वेबसाइट health-rajasthan-gov-in/mmcsby पर रजिस्ट्रेशन के लिये दिये लिंक पर क्लिक कर अपनी एसएसओ आईडी से log-in करें। आपको यहां पर दो विकल्प दिखाई देंगे। पहला Free और दूसरा Paid आप अपनी निर्धारित श्रेणी के अनुसार दोनो में से एक विकल्प को चुन सकते है। Free श्रेणी के अंदर राज्य के कृषक (लघु एवं सीमांत) SMF पर, संविदाकर्मी अपनी श्रेणी Contractual पर तथा राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 अनुग्रह राशि भुगतान प्राप्त करने वाले निराश्रित एवं असहाय परिवार Covid 19 ex Gratia पर क्लिक करें। इसके बाद आप अपने जनआधार नम्बर अथवा जनआधार पंजीयन रसीद नम्बर सॉफटवेयर में दर्ज कर सर्च करें। उन्होंने बताया कि परिवार के सभी सदस्यो के नाम आपको सॉफटवेयर में दिखाई देंगे, जिनमें से किसी भी एक सदस्य को डिजिटल हस्ताक्षर (ई-सिग्नेचर) करना होगा जिसके लिये आधार कार्ड में दर्ज कराये हुए मोबाइल नम्बर पर ओटीपी आयेगा। इस ओटीपी को सॉफटवेयर में सबमिट कर ई-सिग्नेचर करना होगा। तत्पश्चात श्रेणी अनुसार आपको अपना विवरण दर्ज करना होगा। इसके बाद आप पॉलिसी डॉक्यूमेंट प्रिंट कर पायेंगे। Paid श्रेणी के परिवार आवेदन Submit करने पर सॉफटवेयर आपको ऑनलाइन पेमेंट माध्यम पर लेकर जायेगा, जहां पर आपको निर्धारित प्रीमियम राशि 850 रूपये का भुगतान करना होगा। भुगतान के पश्चात पॉलिसी डॉक्यूमेंट का प्रिंट लिया जा सकेगा।
हनुमानगढ़, 25 अप्रैल। भारतीय बैंक संघ के निर्देशानुसार 22 अप्रैल 2021 को राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति, राजस्थान की विशेष उपसमिति बैठक आयोजित की गई। जिसमें राज्य में कोविड-19 के मामलों में लगातार बढ़ोतरी होने के कारण तथा आमजन की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बैंक शाखाओं में ग्राहकों के लेन-देन का समय 26 अप्रैल 2021 से 15 मई 2021 तक प्रातः 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक करने का निर्णय लिया गया है। इस समय के दौरान बैंको द्वारा आवश्यक बैंकिंग सेवाएं यथा नकद जमा, नकद निकासी, आरटीजीएस प्रेषण व समाशोधन एवं सरकारी लेनदेन सुविधा प्रदान की जावेगी। केंद्र/राज्य सरकार के स्तर से निर्धारित अन्य आवश्यक कार्यों को बैंको द्वारा प्राथमिकता प्रदान की जाएगी। साथ ही उन्होंने आमजन से निवेदन किया है कि बैंकिंग लेन देन के लिए अधिक से अधिक डिजिटल माध्यमों एवं एडीसी का प्रयोग करें एवं आपके निवास स्थान के निकटतम बीसी के माध्यम से भी बैंकिंग लेन-देन कर सकते हैं।
हनुमानगढ, 25 अप्रैल। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने रविवार को नोहर विधायक श्री अमित चाचाण के साथ नोहर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और अनाज मंडी में व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही नोहर एसडीएम कार्यालय में सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना और कोरोना मैनेजमेंट को लेकर समीक्षा की। जिला कलक्टर ने पहले नोहर विधायक श्री अमित चाचाण के साथ नोहर के राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होने सबसे पहले सीएचसी में भर्ती मरीजों की कुशलक्षेम पूछी। वहां डिलीवरी पेशेंट से कुशलक्षेम पूछते हुए उन्हें सरकार की जननी सुरक्षा, राजश्री और प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का लाभ दिलाने को लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया। सीएचसी इंचार्ज डॉ सुरेन्द्र ने बताया कि 75 बैड के इस अस्पताल में ट्रोमा सेंटर भी मंजूर है इस पर जिला कलक्टर ने रावतसर में ट्रोमा सेंटर में की गई व्यवस्थाओं इत्यादि की जानकारी लेकर जल्द ही नोहर में भी ट्रोमा सेंटर शुरू करने की तैयारी करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने अस्पताल में कोरोना के इलाज को लेकर की जा रही व्यवस्थाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी ली। जिला कलेक्टर ने अस्पताल में ऑक्सीजन प्रबंधन, कोरोना सैंपलिंग और वैक्सीनेशन की जानकारी भी ली। जिला कलेक्टर ने जनता से अपील करते हुए कहा कि कोरोना से बचाव के लिए 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोग यह वैक्सीन लगवाएं। उन्होने वैक्सीन की महत्वता बताते हुए इसे जीवन रक्षक करार दिया। नोहर विधायक श्री अमित चाचान ने जिला कलेक्टर से चिकित्सालय भवन के नवनिर्माण पर भी चर्चा की । इस अवसर पर आरएमआरएस सदस्य श्री हनुमान प्रसाद व्यास,संयुक्त व्यापार संघ अध्यक्ष श्री संजय मोदी, डॉ. विनोद मूंड, डॉ जयप्रकाश सुथार, डॉ. गौतम स्वामी, डॉ संगीता खीचड़, डॉ. राकेश शर्मा समेत समस्त चिकित्सालय स्टाफ उपस्थित रहा । अनाज मंडी का किया निरीक्षण- नोहर सीएचसी का निरीक्षण करने के बाद जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने नोहर अनाज मंडी का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि अनाज मंडी में अनाज लेकर आने वाले किसानों को किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की जाए। साथ ही उन्होने गेहूं की लिफ्टिंग और किसानों को भुगतान को लेकर जानकारी ली। उपखंड कार्यालय में ली ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक- जिला कलक्टर ने एसडीएम कार्यालय में सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिला कलेक्टर ने राज्य सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में अधिकारियों को निर्देशित किया। जिला कलेक्टर ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना को लेकर अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा करते हुए इस योजना का लाभ प्रत्येक व्यक्ति को मिले, इस बात पर विशेष बल दिया। उन्होने कहा कि सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ दिलाने के लिए 30 अप्रैल से पहले सभी का रजिस्ट्रेशन करवाएं। बैठक के दौरान नोहर विधायक श्री अमित चाचाण ने जिला कलेक्टर को विभिन्न समस्याओं से भी अवगत करवाया। विधायक ने सिंचाई पानी चोरी के मुद्दे पर भी जिला कलेक्टर के साथ चर्चा की। उपखंड कार्यालय में बैठक के दौरान विधायक श्री अमित चाचाण, जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री राजेंद्र मीणा, पंचायत समिति प्रधान श्री सोहन ढील, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती मोनिका कठोतिया, एसडीएम सुश्री श्वेता कोचर, विकास अधिकारी श्री देशराज, तहसीलदार श्री हरिकिशन मीणा, बीसीएमओ डॉ प्रदीप कड़वासरा, प्रभारी चिकित्सालय डॉ सुरेंद्र शर्मा समेत अनेक अधिकारी उपस्थित रहे।गौरतलब है कि जिला कलक्टर ने शनिवार को भादरा में सीएचसी और अंतर्राज्यीय चौक पोस्ट का निरीक्षण करने के साथ साथ ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली थी। -----------------
- 235 जगहों पर होगा वैक्सीनेशन हनुमानगढ़। जिले को रविवार रात कोविड-19 वैक्सीन की 25 हजार डोज प्राप्त हो गई। यह वैक्सीन बीकानेर वैक्सीन स्टोर से पुलिस जाब्ते के साथ सुरक्षित हनुमानगढ़ वैक्सीन स्टोर पहुंच गई, जिसे खण्ड स्तर पर वितरित करवा दिया गया। जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के निर्देशन में अब 26 अप्रैल सोमवार से 235 सरकारी चिकित्सा संस्थानों में पुन: कोविड-19 वैक्सीनेशन पूर्व की भांति जारी रहेगा। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि गत शुक्रवार को जिले में कोविड वैक्सीन समाप्त हो गई थी। ऐसे में वैक्सीन की कमी के चलते जिले में टीकाकरण का कार्य प्रभावित हो रहा था। चिकित्सा केन्द्रों में आमजन कोविड-19 वैक्सीन लगवाने के लिए निरंतर आ रहे थे। चिकित्सा विभाग ने निदेशालय में कोविड-19 वैक्सीन की मांग की गई थी। रविवार रात बीकानेर से कोविशील्ड की 25 हजार डोज हनुमानगढ़ पहुंच गई, जिसे खण्ड स्तर पर भिजवा दिया गया। उन्होंने बताया कि 26 अप्रैल सोमवार से पूर्व की भांति कोविड-19 वैक्सीनेशन 45 से अधिक उम्र के नागरिकों के लिए शुरु किया जाएगा। हमारी पूरी कोशिश है कि एक ही दिन में आमजन को 25 हजार वैक्सीन लगा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जो भी लोग वैक्सीन लगवाना चाहते हैं, वे अपने पहचान पत्र के साथ अपने नजदीकी सरकारी चिकित्सा संस्थान पर पहुंचकर वैक्सीनेशन करवा सकते हैं। उन्होंने समस्त जनप्रतिनिधियों से निवेदन किया है कि इस बाबत अपने-अपने क्षेत्र में अधिक से अधिक प्रचार करें ताकि अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन किया जा सके। साथ ही वे बाहर से आए व्यक्ति की सूचना भी आवश्यक रूप से जिला प्रशासन को दें। संक्रमण बढ़ रहा है, इसलिए लगवाएं वैक्सीन सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने आमजन से अपील की है कि जिले में कोरोना का संक्रमण पहले से भी अधिक गति से बढ़ रहा है। ऐसे में हमें अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन अवश्य करवाना चाहिए। उन्होंने बताया कि टीका एक जैविक मिश्रण है, जब व्यक्ति को टीका दिया जाता है तब यह उसके शरीर की 'प्रतिरक्षा प्रणाली/रोग प्रतिरोधक क्षमताÓ को बढ़ाता हैं, जिसके माध्यम से संक्रामक वायरस के खिलाफ एंटीबॉडीज का उत्पादन होता है। जब शरीर रोग के सम्पर्क में आता है, तब ये संक्रामक वायरस के खिलाफ एंटीबॉडीज का उत्पादन करते है। यदि हम भविष्य में इस तरह के सूक्ष्मजीव/रोगाणु के सम्पर्क में आते हैं, तो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली प्रतिक्रिया करती है और जल्द ही उन्हें नष्ट कर देती है। इसलिए हमें हर्ड इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए वैक्सीनेशन अवश्य करवाना चाहिए। स्वयं अपना ध्यान रखें चिकित्साकर्मी सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने कहा कि कोविड कार्य में चिकित्साकर्मियों से कहा है कि उन्हें आमजन के साथ-साथ अपना व अपने परिजनों का भी ध्यान रखना होगा। कोविड कार्य में लगे किसी चिकित्साकर्मी को अपने स्वास्थ्य में कोई गिरावट या बीमारी के लक्षण दिखते हैं, तो उन्हें तुरंत होम क्वारेंटाइन हो जाना चाहिए तथा अपना कोविड सैम्पल करवाना चाहिए। रिपोर्ट आने तक उसे होम क्वारेंटाइन ही रहना चाहिए ताकि वह कम से कम लोगों के सम्पर्क में आ सके। पॉजीटिव व्यक्ति के परिजन लापरवाही ना बरतें उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है, ऐसे में कोविड पॉजीटिव आए व्यक्ति के परिजन उससे दूरी बना रखें। उसका सैम्पल करवाने समय भी उसे अकेला ही भेजें ताकि अन्य परिजन उससे संक्रमित ना हो पाएं। ऐसा करने पर हम कोविड संक्रमण को फैलने से रोकने में सहायक साबित होंगे। अगर किसी व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही हो, तो आप उसे आधे घंटे तक पेट के बल लिटाएं। इससे उसे सांस लेने में दिक्कत नहीं आएगी। प्रत्येक छ: घण्टे में उसे आधे घण्टे के लिए पेट के बल लिटाएं। उसे खाने के लिए अच्छी खुराक दें व उसे व्यायाम करने के लिए प्रोत्साहित करें। उसे फास्ट फूड खाने के लिए ना दें। गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारे करने के लिए दें। ध्यान रखें कि घर में किसी भी बाहरी व्यक्ति को ना आने दें। जिले में 26 कण्टेनमेंट जोन बनाए गए कोविड प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा ने बताया कि कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के लिए जिले में 26 कण्टेनमेंट जोन बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि हनुमानगढ़ में 4, रावतसर में 8, पीलीबंगा में 3, नोहर में 4 व रावतसर में 7 कण्टेनमेंट जोन बना दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द टिब्बी व संगरिया में भी कण्टेनमेंट बना दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जिले में पूर्व की भांति सैम्पलिंग का कार्य किया जा रहा है। किसी व्यक्ति के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद उसकी कान्टेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है तथा उन सबकी भी सैम्पलिंग की जा रही है। 235 चिकित्सा संस्थानों पर होगा वैक्सीनेशन डीएनओ सुदेश जांगिड़ ने बताया कि जिले में 235 चिकित्सा संस्थानों पर वैक्सीनेशन करवाया जाएगा ताकि अधिक से अधिक लोगों को टीकाकृत किया जा सके। एमजीएम जिला अस्पताल सहित जिले की समस्त सीएचसी, पीएचसी एवं सब सैण्टर पर वैक्सीनेशन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि हनुमानगढ़ में 47 चिकित्सा संस्थानों, नोहर में 16, भादरा में 31, पीलीबंगा में 30, संगरिया में 45, रावतसर में 40 व टिब्बी में 25 चिकित्सा संस्थानों पर वैक्सीनेशन किया जाएगा।
जिला मुख्यालय पर एसडीएम श्री कपिल यादव के नेतृत्व में प्रशासन, पुलिस और नगर परिषद टीम ने की संयुक्त कार्रवाई हनुमानगढ़, 23 अप्रैल। कोरोना रोकथाम को लेकर गृह विभाग की ओर से जारी की गई गाइडलाइन की पालना नहीं करने पर जिला मुख्यालय पर शुक्रवार को चार प्रतिष्ठानों को सील किया गया। जिसमें दो शराब के ठेके, एक कोचिंग संस्थान और एक मोबाइल शॉप शामिल थी। एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव के नेतृत्व में प्रशासन,पुलिस और नगर परिषद टीम ने संयुक्त रूप से ये कार्रवाई की। एसडीएम श्री यादव ने बताया कि शुक्रवार सुबह जंक्शन में एक प्राइवेट कोचिंग संस्थान चलने और उसमें बड़ी संख्या में विद्यार्थियों के होने की सूचना मिली। जिस पर सुबह साढे सात बजे ही पुलिस, प्रशासन और नगर परिषद की टीम मौके पर पहुंची और कोचिंग संस्थान को जुर्माना लगाकर सीज किया गया। वहीं जंक्शन और टाउन में एक-एक शराब ठेके को अनुमत समय से ज्यादा समय तक खुले रखने पर सीज की कार्रवाई की गई। साथ ही जंक्शन में एक मोबाइल शॉप को भी सीज किया गया। एसडीएम श्री यादव ने बताया कि इसके अलावा एक बैंक में भी कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं होने पर लोगों के मास्क नहीं लगाने पर चालान काटे गए। कुल 17 चालान काटे गए। एसडीएम श्री कपिल यादव ने बताया कि लगातार लोगों से कोरोना गाइडलाइन की पालना करने और अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलने को लेकर समझाइश की जा रही है। श्री यादव ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर बहुत खतरनाक है। लिहाजा लोग अनावश्यक रूप से बाहर ना निकलें। अगर जरूरी हो तो मास्क लगाकर ही निकलें। लोग इस बिमारी को हल्के में ना लें। सरकार ने जो गाइडलाइन जारी की है उसकी अक्षरश पालना करें। कार्रवाई के दौरान एसडीएम श्री कपिल यादव के अलावा सीओ सिटी श्री प्रशांत कौशिक, नगर परिषद अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल,जंक्शन थाना इंचार्ज श्री नरेश गेरा समेत प्रशासन, पुलिस और नगर परिषद के अन्य अधिकारीगण शामिल थे।
जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने हरी झण्डी दिखाकर प्रचार वाहनों को किया रवाना 30 अप्रैल से पहले पंजीकरण करवाएं ताकि कोई भी व्यक्ति सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना से वंचित ना रहे- कलक्टर हनुमानगढ़, 23 अप्रैल। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत पात्र परिवारों का अधिकाधिक पंजीयन करवाने के उद्देश्य से आज चार प्रचार वाहनों (ई-रिक्शा) का जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह प्रचार वाहन जिले में योजना की जानकारी देंगे व पम्फलेट्स भी वितरित करेंगे। जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि शहर के साथ-साथ गांव स्तर पर भी प्रचार अभियान शुरु किया जाए ताकि शहर तथा गांव के सभी लोगों को सरकार की इस योजना की जानकारी मिल सके और इसका फायदा उठा सकें। उन्होने लोगों से अपील की है कि इस योजना के अंतर्गत अपना पंजीयन 30 अप्रैल से पहले अवश्य करवा लें। ताकि योजना का लाभ ले सकें। इस योजना के अंतर्गत सरकार ने अब कोरोना के उपचार को भी शामिल कर लिया है। जिले में भी कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। लिहाजा इस योजना के अंतर्गत पंजीयन करवा कर कोरोना का इलाज भी योजना से संबद्ध निजी अस्पतालों में मुफ्त करवा सकेंगे। जिला कलक्टर श्री डिडेल ने कहा कि पंच-सरपंच, पार्षद, विधायक, सांसद सहित सभी जनप्रतिनिधि तथा बीएलओ, ग्राम विकास अधिकारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी, एएनएम सहित ग्राम स्तर तक के सभी कार्मिक लोगों को इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित करें। ताकि कोई भी व्यक्ति सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना से वंचित नहीं रहे। उन्होंने कहा कि योजना में 1 अप्रेल से 30 अप्रेल तक पंजीयन किया जा रहा है। जो परिवार 30 अप्रेल तक पंजीयन से वंचित रह जायेगा तो फिर उसे योजना से जुड़ने के लिए 3 माह का इंतजार करना पडे़गा। जिला कलक्टर ने बताया कि जनाधार कार्ड धारक लाभार्थी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट heaith.rajasthan.gov.in पर उलब्ध लिंक के माध्यम से भी रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इस योजना में कोविड सहित विभिन्न बीमारियों के इलाज के 1576 पैकेज शामिल हैं। लाभार्थी सरकारी एवं योजना से संबद्ध निजी अस्पतालों में उपचार प्राप्त कर सकेंगे। इसमें अस्पताल में भर्ती होने के 5 दिन पहले और डिस्चार्ज के 15 दिन बाद का चिकित्सा व्यय भी शामिल होगा। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिले में मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत पंजीयन अभियान 1 अप्रैल 2021 से शहर व ग्राम स्तर पर चल रहा है। शहर और गांवों में शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। अभियान के तहत जिले के प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र पर पंजीयन शिविर लगाए जा रहे हैं, जहां योजनान्तर्गत पात्र लाभार्थी परिवारों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। पात्र परिवारों को अधिकाधिक पंजीयन करवाने के उद्देश्य से आज चार प्रचार वाहनों को जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल ने जिला कलक्ट्रेट परिसर से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। दो प्रचार वाहन टाउन एवं दो प्रचार वाहन जंक्शन क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर योजना का प्रचार करेंगे। प्रचार वाहनों के तीनों तरफ योजना से संबंधित संदेश चस्पां किए हुए हैं। इसके अलावा प्रचार वाहन जगह-जगह पर रंगीन पम्फलेट्स भी वितरित करेंगे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना राज्य सरकार की सम्पूर्ण देश में एक अद्वितीय जनकल्याणकारी योजना है। योजना में पंजीकरण कराने हेतु जन आधार कार्ड को आवश्यक किया गया है। योजनान्तर्गत एन.एफ.एस.ए., सामाजिक आर्थिक एवं जातिगत जनगणना, राज्य सरकार के संविदाकर्मी एवं लघु सीमान्त कृषकों को निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ दिया जा रहा है। इन चार श्रेणियों के अतिरिक्त राज्य के समस्त निवासी जन आधार कार्डधारी परिवार भी 850 रूपये शुल्क (कुल प्रीमीयम का लगभग 50 प्रतिशत) जमा करा कर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकरण करवा सकते है, उक्त प्रीमीयम का लगभग 50 प्रतिशत शुल्क राज्य सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। जन आधार कार्ड बनवाने एवं मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकरण हेतु किसी भी प्रकार की न्यूनतम अथवा अधिकतम आय अथवा आयु सीमा निर्धारित नहीं है, राज्य का कोई भी निवासी जन आधार कार्ड बनवाकर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकरण के माध्यम से स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है। जन आधार कार्ड नामांकन पश्चात् सत्यापन की निर्धारित प्रक्रिया उपरान्त जन आधार ई-कार्ड जारी कर दिया जाता है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकरण जन आधार नामांकन की रसीद संख्या (EID) अथवा जन आधार संख्या अथवा जन आधार ई-कार्ड डाउनलोड करके भी कराया जा सकता है, इसके लिए मुद्रित कार्ड ही होने की आवश्यकता नहीं है। जन आधार कार्ड के माध्यम से न केवल मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में अपितु राज्य की अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं में भी पात्रतानुसार लाभ प्राप्त किया जा सकता है। 1 मई से लागू होने वाली इस योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करने, प्रीमियम जमा करने तथा प्रिटिंग के लिए ई-मित्र को कोई शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होगी। यह शुल्क राज्य सरकार वहन करेगी। ई-मित्र पर पंजीयन कराते समय लाभार्थी को प्रीमियम राशि के रूप में मात्र 850 रूपए ही देने होंगे। आमतौर पर लोगों को 5 लाख रूपए तक का कैशलेस स्वास्थ्य बीमा करवाने के लिए 30 हजार रूपए तक का प्रीमियम देना होता है, लेकिन प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य के लिए राज्य सरकार ने 3 हजार 500 करोड़ रूपए वहन कर मात्र 850 रूपए में यह सुविधा देने की कल्याणकारी पहल की है। इसमें राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा एवं सामाजिक आर्थिक जनगणना-2011 के दायरे में आने करीब 1 करोड़ 10 लाख परिवारों के साथ-साथ 13 लाख लघु एवं सीमांत किसान तथा 4 लाख से अधिक संविदाकर्मियों के परिवारों को यह स्वास्थ्य बीमा सरकार बिना किसी प्रीमियम के उपलब्ध करवायेगी। अन्य परिवार मात्र 850 रूपए में बीमा का लाभ ले सकेंगे।
हनुमानगढ़। जिले में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। कोरोना पॉजीटिव मरीजों की संख्या में भी दिन-प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में आमजन को घर पर रहने के निर्देश दे दिए गए हैं। आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर बाजार भी बन्द हो गए हैं। ऐसे में किसी भी बीमारी से ग्रस्ति रोगी अब ई-संजीवनी ऐप्प के जरिए ऑनलाइन उपचार ले सकते हैं। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार डिग्रवाल ने बताया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के ई-संजीवनी ऐप्प के जरिए आमजन कोविड-19 के दौरान घर बैठे ऑनलाइन चिकित्सकीय परामर्श ले सकते हैं। इस ऐप्प से कोई भी नागरिक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लेते हुए घर बैठे गुणवत्तापूर्ण चिकित्सकीय सेवाएं निःशुल्क प्राप्त कर सकता है। इससे आमजन कोरोना संबंधी नियमों की पालना भी कर रहे हैं और भीड़ में नहीं जाना पड़ रहा। जिले में पिछले कुछ महीनों में अनेक लोगों ने इस सेवा का लाभ लिया है। विभाग ने पुनः अपील जारी की है कि हनुमानगढ़ जिलावासी अधिकाधिक इस सेवा का लाभ लें। उन्होंने बताया कि लगभग सभी परिवार के सदस्यों के पास अपने-अपने मोबाइल फोन है। चिकित्सकीय सेवा लेने के लिए अब हमें अस्पतालों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं हैं। हम घर बैठे ही ऑनलाइन तरीके से उपचार ले सकते हैं। जिलेवासियों के लिए सरकार ने ऐप्प के माध्यम से ऑनलाइन टेली-कन्सल्टेशन सेवा शुरू की है। कोई भी व्यक्ति सोमवार से शनिवार सुबह नौ बजे से अपरान्ह तीन बजे तक सामान्य बीमारियों के लिए टेली कंसलटेंसी सेवाएं प्राप्त कर सकता है। इसके लिए राज्य के विशेषज्ञ चिकित्सकों को प्रशिक्षित किया गया है जो ऐप्प के माध्यम से सेवाएं दे रहे हैं। सीओ-आईईसी मनीष शर्मा ने बताया कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए सबसे पहले गूगल ऐप्प से ई-संजीवनी एप डाउनलोड करना होगा। इसके बाद अपना मोबाइल नम्बर ओटीपी के माध्यम से सत्यापित कर पंजीकरण कर सकते हैं। पंजीकरण के लिए नाम, पता, जेंडर व आयु आदि सूचना दर्ज करनी होगी और यदि चाहें तो अपनी पिछली पर्ची भी अपलोड करें। ऐप्प पर दी गई जानकारी अनुसार पेशेंट आईडी और टोकन नंबर मरीज के मोबाइल पर एसएमएस के जरिए भेज दिए जाएंगे। मरीज अपने मोबाइल नम्बर या पेशेंट आईडी या टोकन नंबर डालकर सिस्टम में लॉग-इन करें। मरीज अपने बारी का इन्तजार करें और टोकन नम्बर आने पर ऑनलाइन चिकित्सक से परामर्श प्राप्त करे। परामर्श के दौरान आप संबंधित चिकित्सक को परेशानी, बीमारी, लक्षण आदि के बारे में बताएं ताकि चिकित्सक आपको दवाएं, सावधानी व परहेज आदि बता सकें। टेली-कन्सल्टेशन पूर्ण होने पर ई प्रिस्क्रिप्शन प्राप्त करें। इसके जरिए आप निकटतम सरकारी डीडीसी अथवा किसी भी मेडिकल स्टोर से दवा प्राप्त कर सकेंगे। जरूरत होने पर आप फॉलोअप परामर्श कर सकते हैं।
हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में क्वारेंटाइन सैण्टर, कोविड केयर सैण्टर (सीसीसी) व डेडीकेटिड कोविड केयर सैण्टर (डीसीसीसी) स्थापित किए जाने को लेकर आज विभिन्न स्थानों का स्थान चयन किया तथा उनमें होने वाली समस्त व्यवस्थाओं को लेकर दिशा-निर्देश दिए एवं निरीक्षण किया गया। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि जिला कलक्टर श्री नथमल डिडेल के दिशा-निर्देशों की पालना में चिकित्सा विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों ने समस्त खण्ड पर जाकर वहां कोविड संक्रमितों के लिए बनाए जा रहे कोविड सैण्टर्स के स्थान चिन्हित किए तथा वहां गाइडलाइन संबंधी दिशा-निर्देश प्रदान किए। उनके साथ संबंधित खण्ड के एसडीएम, बीडीओ, बीसीएमओ, बीपीएम, पुलिस अधिकारी एवं अन्य कार्मिक उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि खण्ड हनुमानगढ़ में बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा, खण्ड संगरिया व खण्ड टिब्बी में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार और डीएसी संदीप बिश्नोई, खण्ड रावतसर, खण्ड नोहर व खण्ड भादरा में कोविड प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा व खण्ड पीलीबंगा में आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह एवं डीपीएम जितेन्द्रसिंह राठौड़ ने कोविड सैण्टर्स का खण्ड स्तरीय अधिकारियों के साथ मिलकर स्थान चिन्हित कर गाइडलाइन के अनुसार व्यवस्थाएं किए जाने के निर्देश दिए। हनुमानगढ़ निरीक्षण कोरोना नियंत्रण में आज खण्ड हनुमानगढ़ में ब्लॉक टास्क फोर्स की बैठक का अयोजन किया गया। बैठक में एसडीएम कपिल यादव, बीडीओ रामावतार यादव, बीसीएमओ डॉ. ज्योति धींगड़ा सहित चिकित्सा विभाग के कार्मिक उपस्थित थे। बैठक में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए दिशा-निर्देश दिए गए। बैठक उपरांत समस्त टीम ने आपात स्थिति के लिए दो नए कण्टेनमेंट जोन बनाने के लिए उनकी व्यवस्थाएं देखने के लिए लिटिल फ्लावर स्कूल के हॉस्टल परिसर एवं रिको एरिया में स्थान चिन्हित किया गया एवं वहां कण्टेनमेंट जोन बनाने के लिए तैयारियां शुरु आदेश दिए। इसके उपरांत उन्होंने करणी चौक स्थित अम्बेडकर भवन में व्यवस्थाएं देखीं। अम्बेडकर भवन को कोविड केयर सैण्टर (सीसीसी) के रूप में तैयार करने के निर्देश दिए गए। इसके उपरांत टीम ने पूर्व में बनाए गए सीसीसी कन्दोई धर्मशाला व अरोड़वंश धर्मशाला का निरीक्षण किया। कन्दोई धर्मशाला में कोविड के दो पेशेण्ट पूर्व में भर्ती हैं। टीम पर वहां पर व्यवस्थाएं देखी व उपचार कोविड पेशेण्ट की कुशलक्षेम पूछी। इसके उपरांत टीम ने सतीपुरा स्थित राधा स्वामी डेरा पहुंचकर वहां कोविड टीकाकरण की व्यवस्थाएं देखीं। संगरिया व टिब्बी निरीक्षण डिप्टी सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार और डीएसी संदीप बिश्नोई ने आज खण्ड संगरिया व टिब्बी में कोविड केयर सैण्टर की व्यवस्थाएं देखीं। अधिकारियों ने संगरिया स्थित ग्रामोथान विद्यापीठ उच्च माध्यमिक विद्यालय का निरीक्षण कर वहां व्यवस्थाएं देखीं। उन्होंने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को कोविड संक्रमण एवं उपचार पर विशेष ध्यान देने की बात कही। उन्होंने वहां विभाग के अधिकारियों की बैठक ली तथा एसडीएम, ईओ से भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सैण्टर पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। इसके उपरांत उन्होंने टिब्बी स्थित अम्बेडकर छात्रावास में भी तैयारियों का जायजा लिया। रावतसर, नोहर व भादरा निरीक्षण कोविड प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा ने आज रावतसर, नोहर व भादरा के कोविड केयर सैण्टर (सीसीसी) व डेडीकेटिड कोविड केयर सैण्टर (डीसीसीसी) का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि रावतसर में विश्वकर्मा धर्मशाला को सीसीसी एवं रावतसर सीएचसी को डीसीसीसी के रूप में स्थापित किया गया है। इसके अलावा नोहर में अम्बेडकर छात्रावास को सीसीसी एवं भादरा में अम्बेडकर भवन में सीसीसी के रूप में स्थापित किया गया है। उन्होंने समस्त केन्द्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां पर समस्त व्यवस्थाएं, डीसीसीस में ऑक्सीजन सिलेण्डर, दवाइयां, सेनेटाइजर, मास्क एवं स्टॉफ के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने रावतसर व नोहर में भर्ती कोविड मरीजों की तबीयत एवं उपचार के बारे में जानकारी ली। पीलीबंगा निरीक्षण आरसीएचओ डॉ. विक्रमसिंह एवं डीपीएम जितेन्द्रसिंह राठौड़ ने आज खण्ड पीलीबंगा का दौरा किया। उन्होंने पीलीबंगा स्थित वृद्धाश्रम को क्वारेंटाइन सैण्टर एवं डॉ. भीमराव अम्बेडकर राजकीय छात्रावास को कोविड केयर सैण्टर बनाए जाने को लेकर स्थान का निरीक्षण किया। जिला स्तरीय अधिकारियों ने पीलीबंगा एसडीएम प्रियंका तलानिया की अध्यक्षता में बैठक की। उनके साथ पीलीबंगा बीसीएमओ डॉ. मनोज अरोड़ा व बीपीएम राकेश जोशी उपस्थित थे। टीम ने निर्णय लिया गया क्वारेंटाइन सैण्टर को 50 बैड व कोविड केयर सैण्टर को 30 बैड बनाए जाने के हिसाब से तैयारियां की जाए। उन्होंने दोनों सैण्टर्स को अतिशीघ्र तैयार किए जाने के संबंध में दिशा-निर्देश दिए।
हनुमानगढ़, 22 अप्रैल। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती संदीप कौर द्वारा गुरूवार को जिला चिकित्सालय में स्थित वन स्टॉप सखी सेंटर का निरीक्षण किया गया। सखी सेंटर में आने वाली महिलाओं को दी जानी वाली सुविधाओं के बारे में पूछा गया तो मौका पर उपस्थित श्रीमती मोनिका शर्मा द्वारा बताया गया कि जो भी महिला सखी सेंटर पर आती है उसे सुनने के बाद आवश्यकतानुसार महिला के ससुराल वालों व परिवार वालों से प्रिकाउंसलिंग करवाई जा रही है तथा आवश्यक होने पर महिलाओं को आश्रय उपलब्ध करवाया जा रहा जिसके अन्तर्गत उन्हें भोजन भी उपलब्ध करवाया जा रहा है। यदि किसी महिला को पुलिस की सहायता या विधिक सहायता चाहिए होती है तो उसे वह भी नियमानुसार उपलब्ध करवाई जा रही है। आश्रय देते समय यदि किसी महिला को मेडिकल की आवश्यकता है तो उसे तुरन्त मेडिकल सहायता भी उपलब्ध करवाई जा रही है। श्रीमती संदीप कौर द्वारा सखी सेंटर के अस्थाई आश्रय स्थल का भी निरीक्षण किया गया जहां की व्यवस्थाएं सामान्य पाई गई। सखी सेंटर के निरीक्षण के पश्चात अपना घर वृद्धाश्रम का भी निरीक्षण किया गया। मौका पर 15-16 वृद्धजन निवासरत पाये गये वहां पर निवासरत वृद्धजनों से उन्हें मिले वाली सुविधाओं आश्रय, खाने पीने की वस्तुओं आदि के बारे में पूछा तो वहां पर उपस्थित वृद्धजन द्वारा सभी व्यवस्थाएं पर्याप्त होना तथा अच्छी होना बताया गया। वृद्धजन द्वारा बताया गया कि उन्हें समय पर भोजन आदि उपलब्ध करवाया जा रहा है। निरीक्षण के पश्चात् मौका पर शिविर भी आयोजित किया गया तथा सचिव द्वारा वृद्धजन को उनके अधिकारों के बारे में, कोविड-19 से बचाव के उपायों के बारे में बताया गया तथा वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया। शिविर में उपस्थित वृद्धजन को कोविड-19 टीकाकरण व बाल विवाह प्रतिषेध अभियान के पोस्टर भी वितरित किये गये।
हनुमानगढ़, 22 अप्रैल। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती संदीप कौर द्वारा जिला जेल का गुरूवार को औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान श्रीमती संदीप कौर द्वारा जेल की विभिन्न व्यवस्थाओं को जांचा गया। बंदियों की बैरकों का निरीक्षण भी किया गया। उसके पश्चात् जेल की कैन्टीन का निरीक्षण किया गया कैन्टीन में आयात होने वाली वस्तुओं का जायजा किया गया तथा जेल की कैन्टीन में किस प्रकार सामान आयात किया जाता है का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण पश्चात् जिला कारागृह में विधिक साक्षरता शिविर का भी आयोजन किया गया जिसमें विचाराधीन बंदियों को उनके अधिकारों, कोविड-19 से बचाव के उपायों, वैक्सीनेशन एवं बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के बारे में बताया गया। शिविर के दौरान उपस्थित बंदीजन को कोविड-19 का वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया तथा कोविड-19 की वैक्सीनेशन के लाभ आदि के बारे में बताया गया। मौका पर उपस्थित जेल अधिकारी द्वारा बताया गया कि जेल में मास्क व सैनेटाईजर का पूर्णतः उपयोग किया जा रहा है। समय-समय पर जेल परिसर में सोडियम हाईपोक्लोराईड का छिडकाव किया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जा रही है। नया कैदी आने पर सर्वप्रथम कोविड-19 की जांच करवाई जा रही है उसके बाद ही उसे अन्य बंदियों के साथ निवासरत होने दिया जा रहा है। जब तक कोविड-19 की रिपोर्ट नहीं आती है तब तक नये कैदी को अन्य कैदियों से अलग रखा जा रहा है। निरीक्षण के दौरान सचिव द्वारा बंदियों से वार्ता की गई किसी भी बंदी द्वारा कोई शिकायत नहीं की गई सभी व्यवस्थाएं सामान्य पाई गई।
हनुमानगढ़, 21 अप्रैल। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री नथमल डिडेल ने बुधवार को जिला कलक्टर पद पर कार्यभार ग्रहण किया। श्री डिडेल ने दोपहर करीब सवा बारह बजे पदभार ग्रहण किया। इस अवसर पर उनकी धर्मपत्नी श्रीमती मोनिका बलारा, परिजन श्री महादेव बलारा, एडीएम श्री अशोक असीजा, सीईओ जिला परिषद श्री रामनिवास जाट, एसडीएम श्री कपिल यादव, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई मौजूद रहे। श्री डिडेल ने 20 वें जिला कलक्टर के रूप में कार्यग्र्हण किया। कोविड-19 समीक्षा- जिला कलक्टर ने ज्याइन करने के बाद सबसे पहले कोरोना रोकथाम को लेकर की जा रही व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होने प्रशासनिक और चिकित्सा अधिकारियों के साथ जिले में कोविड अस्पताल, कोविड केयर सेंटर्स, ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता, कोविड वैक्सीनेशन, कोरोना सैंपलिंग इत्यादि को लेकर विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर उन्होने बीकानेर जिला कलक्टर और श्रीगंगानगर में ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लायर्स से सीधी बात की। साथ ही ये इंशोर किया कि जिले में ऑक्सीजन सिलेंडर की जिले में किसी की स्थिति में कमी ना आए। उन्होने कोरोना सैंपल को लेकर कोरोना पॉजिटिव आए लोगों के क्लोज कांटेक्ट ट्रेस कर उनकी सैंपलिंग लेने के निर्देश दिए।उन्होने एडीएम को निर्देशित किया कि वे सभी एसडीएम को निर्देश दें कि कोरोना पॉजिटिव आए मरीजों का तत्काल ट्रीटमेंट शुरू करवाएं ताकि किसी की मृत्यु ना हो। नहरबंदी को लेकर की समीक्षा- जिला कलक्टर श्री डिडेल ने नहरबंदी को लेकर मुख्य अभियंता श्री विनोद मित्तल के साथ चर्चा करते हुए नहरबंदी की अब तक की स्थिति के बारे में विस्तार से जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि जिले में नहरबंदी के दौरान लोगों को पीने के पानी की कोई समस्या ना आए। इसको लेकर पीएचईडी व सिंचाई विभाग के अधिकारी आपसी समन्वय से कार्य करें। पीने के पानी को लेकर कोई भी दिक्कत आए तो उन्हें इसकी जानकारी तत्काल दी जाए। मनरेगा को लेकर की समीक्षा जिला कलक्टर ने सीईओ जिला परिषद श्री रामनिवास जाट के साथ मनरेगा योजना को लेकर समीक्षा करते हुए मनरेगा मजदूरों को कोविड गाइडलाइन की पालना के साथ कार्यस्थल पर लगाने के निर्देश दिए। सीईओ ने बताया कि अभी फिलहाल फसल कटाई का वक्त है लेकिन मनरेगा कार्मिकों को रोजगार उपलब्ध करवाया जा रहा है। चिरंजीवी योजना की समीक्षा - मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की समीक्षा करते हुए जिला कलक्टर ने एडीएम को निर्देशित किया वे सभी विकास अधिकारियों को इस बाबत निर्देशित करे कि इस योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में भी सभी लोगों को मिले। इसको लेकर शिविर लगाकर सरकार की इस बेहतरीन योजना का लाभ सभी को दिलवाएं।समीक्षा के दौरान एडीएम श्री अशोक असीजा, सीईओ जिला परिषद श्री रामनिवास जाट, एसडीएम श्री कपिल यादव, पीआऱओ श्री सुरेश बिश्नोई, मुख्य अभियंता सिंचाई श्री विनोद मित्तल, सीएमएचओ डॉ नवनीत शर्मा, पीएमओ डॉ दीपकमित्र सैनी, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, जिला क्षय अधिकारी श्री रविशंकर शर्मा उपस्थित थे। गौरतलब है कि सरकार ने मंगलवार को 8 आईएएस अधिकारियों की तबादला सूची जारी की। जिसमें जयपुर विकास प्राधिकरण में सचिव पद पर कार्यरत आईएएस अधिकारी श्री नथमल डिडेल का तबादला हनुमानगढ़ जिला कलक्टर के पद पर किया था। वर्ष 2013 बैच के आईएएस व मूलत नागौर के रहने वाले श्री डिडेल इससे पहले भरतपुर जिला कलक्टर और माध्यमिक शिक्षा निदेशालय बीकानेर में डायरेक्टर के पद पर रह चुके हैं। भरतपुर जिला कलक्टर के रूप में उनका कार्यकाल दिसंबर 2019 से अप्रैल 2021 तक और माध्यमिक शिक्षा निदेशालय बीकानेर में उनका कार्यकाल मई 2017 से दिसंबर 2019 तक रहा। इससे पहले मसूरी से आईएएस की ट्रेनिंग के बाद उनकी पहली पोस्टिंग राज्य में एसीईएम जालौर के पद पर हुई। उसके बाद एसीईएम भीलवाड़ा, एसडीएम सवाईमाधोपुर, सीईओ जिला परिषद चित्तौड़गढ़ के पद पर रहे।
उपजिला मजिस्ट्रेट रावतसर शिवा चौधरी ने आगामी आदेशों तक लागू की जीरो मोबिलिटी निषेधाज्ञा हनुमानगढ़, 20 अप्रैल। रावतसर के वार्ड नः 16 में 6 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। इसे देखते हुए उपजिला मजिस्ट्रेट शिवा चौधरी ने तत्काल प्रभाव से संबंधित इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है। उपजिला मजिस्ट्रेट शिवा चौधरी ने रावतसर के वार्ड नः 16 में श्री गुरदयाल मेहरड़ा व श्री आत्माराम अग्रवाल के मकान से शिव मंदिर व श्री बनवारीलाल के मकान तक जीरो मोबीलिटी निषेधाज्ञा तुरन्त प्रभाव से लागू कर दी है। साथ ही आदेश में लिखा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की गम्भीरता को देखते हुए उक्त क्षेत्र में निवासरत समस्त व्यक्ति अपने आवास से बाहर आगमन नहीं करेंगे ।इस क्षेत्र को जीरो मोबीलिटी क्षेत्र घोषित कर (लॉकिंग ऐरिया में जन साधरण के आगमन-निर्गमन) प्रतिबंधित किया जाता है। चिकित्सकीय सेवाओं को छोड़कर अन्य व्यवसायिक एवं वाणिज्यक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे तथा समस्त सामूहिक गतिविधियां यथा रैली, जुलूस, सभा एवं समारोह इत्यादि पूर्णतया प्रतिबंधित रहेंगे। व्यवसायिकध्व्यापारिक प्रतिष्ठानों में दैनिक आवश्यकताओं से संबंधित किराना एवं जनरल स्टोर इत्यादि एवं फल-सब्जी प्रतिष्ठान आगामी आदेशों तक बंद रहेंगे। जीरो मोबीलिटी क्षेत्र में पूर्व जारी समस्त प्रकार की स्वीकृतियांध्अनुमति-पत्र तुरन्त प्रभाव से निरस्त किये जाते हैं।उक्त क्षेत्र में समस्त प्रकार के वाहनों का आवागमन पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा। आवश्यक व्यवस्थाएं बनाये रखने हेतु आवश्यकतानुसार राजकीय अधिकारी, कर्मचारियों के आवागमन के साधन उपयोग में लिये जाने हेतु अधिकृत होंगे। साथ ही अग्निशमन वाहन, जलदाय, विद्युत, पुलिस एवं प्रशासन के वाहन, चिकित्सकीय सेवाओं से संबंधित वाहन, रसद विभाग द्वारा एवं अन्य आवश्यक सेवाओं से संबंधित विशेष अनुमति पत्र प्राप्त वाहन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। उक्त क्षेत्र में पुलिस विभाग द्वारा निर्धारित एन्ट्री पोइन्ट्स पर चिकित्सा विभाग द्वारा टीम नियुक्त की जाएगी, जिसके द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि बिना स्क्रीनिंग के कोई भी व्यक्ति उक्त क्षेत्र में प्रवेश नहीं करें और किसी भी व्यक्ति का प्रतिबंधित क्षेत्र से बाहर निकलना पूर्णतया निषेध रहेगा। खास बात ये कि यह प्रतिबन्ध बीमार व्यक्तियों एवं चिकित्सा संबंधी आपात स्थिति में प्रभावित व्यक्तियों पर लागू नहीं होगा, परन्तु उन्हें चिकित्सकीय लाभ हेतु निकटवर्ती चिकित्सा केन्द्र से प्राथमिक उपचार लिया जावेगा। उक्त क्षेत्र के समस्त धार्मिक स्थलों में आमजन, दर्शनार्थियों एवं श्रद्धालुओं के प्रवेश पर पूर्ण प्रतिबन्ध रहेगा, किन्तु प्रबन्धन द्वारा धार्मिक स्थल की साफ-सफाई एवं रख-रखाव हेतु अधिकतम 2 व्यक्तियों को उक्त कार्य सम्पादित करने के लिए न्यूनतम अवधि हेतु अनुमति रहेगी, जिसकी सूचना संबंधित पुलिस थाना के स्तर पर संधारित होगी। आदेश में लिखा गया है कि उपजिला मजिस्ट्रेट शिवा चौधरी ने क्षेत्र के सभी निवासियों को इस आदेश की पालना करने एवं अवहेलना नहीं करने के निर्देश दिए हैं। यदि कोई व्यक्ति उपरोक्त प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन करेगा, तो वह भारतीय दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 188, 269, 270 एवं राजस्थान महामारी अधिनियम 1957 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 के सुसंगत विधिक प्रावधानों के अन्तर्गत अभियोजित किया जावेगा।
हनुमानगढ़, 20 अप्रैल। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार 8 मई 2021 को पूरे प्रदेश में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है जिसके सफल आयोजन हेतु श्रीमती संदीप कौर, सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, हनुमानगढ़ द्वारा वर्चुअल माध्यम से समस्त न्यायिक अधिकारीगण से बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में संदीप कौर द्वारा लोक अदालत के महत्व आदि के बारे में बताते हुए अधिक से अधिक प्रकरणों को लोक अदालत में निपटाने हेतु अधिकारीगण को प्रेरित किया गया। बैठक में प्रत्येक न्यायालय में लम्बित प्रकरणों की अपेक्षा लोक अदालत में रेफर किये गये प्रकरणों पर चर्चा की गई तथा जिस न्यायालय द्वारा प्रकरण कम रेफर किये गये थे उन्हें अधिक प्रयास कर प्रकरण लोक अदालत में रेफर करने हेतु प्रेरित किया गया। लोक अदालत में प्रकरण समाप्त होने से रूपये व पैसे दोनों की बचत होती है तथा आपसी भाईचारा बना रहता है न किसी की हार होती है अैार न किसी की जीत होती है संकल्पना के बारे में श्रीमती संदीप कौर द्वारा बैठक में बताया गया।
हनुमानगढ़, 20 अप्रैल। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार पूरे प्रदेश में कोविड-19 के प्रसार को रोकने हेतु नवीन कोविड-19 कम्पैन चलाया जा रहा है जिसके तहत श्रीमती संदीप कौर, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, हनुमानगढ़ द्वारा जिला कारागृह तथा रामदेव मन्दिर के पास ओवर ब्रिज के नीचे हनुमानगढ़ जंक्शन में दो शिविरों का आयोजन किया गया। जिला कारागृह में आयोजित शिविर में श्रीमती संदीप कौर द्वारा विचाराधीन बंदियों से किस-किस का वैक्सीनेशन हो चुका है के बारे में जानकारी ली गई बंदियों को वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया वैक्सीनेशन से होने वाले लाभ के बारे में बताते हुए संदीप कौर द्वारा कोविड-19 से बचाव के उपायों के बारे में भी बताया गया। इसके साथ ही बंदियों को उनके विधिक अधिकारों, बाल विवाह के दुष्परिणामों के बारे में विस्तार से बताया गया। मौका पर उपस्थित जेल अधीक्षक श्री योगेन्द्र कुमार द्वारा भी शिविर में सैनेटाईजर, मास्क, सोशल डिस्टेसिंग के महत्व के बारे में बताया गया। उक्त शिविर आयोजन के पश्चात् श्रीमती संदीप कौर द्वारा रामदेव मन्दिर के पास ओवर ब्रिज के नीचे हनुमानगढ़ जंक्शन में भी एक शिविर का आयोजन किया गया जिसमें मौका पर उपस्थित आमजन को भी कोविड-19 वैक्सीनेशन के बारे में जागरूक किया गया तथा अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन करवाने हेतु प्रेरित किया गया। शिविर में मौका पर उपस्थित आमजन को कोविड-19 से बचाव के उपायों व वैक्सीनेशन के पम्पलेटस व पोस्टर वितरित किये गये।
हनुमानगढ़। एल्बी फूड प्रोडक्ट्स के मालिक महादेव टेकवानी ने आमजन के स्वास्थ्य उपचार एवं अन्य कार्यों में कार्यरत एवं कोरोना योद्धाओं की भूमिका निभा रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिए एक ऑटोमैटिक हैण्ड सेनिटाइजर मशीन भेंट की है। यह मशीन आज चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के मुख्य गेट पर स्थापित की गई। श्री टेकवानी ने कहा कि चिकित्सा विभाग द्वारा अपने स्वास्थ्य की परवाह किए बगैर कार्य किया जा रहा है। उन्हें कोरोना संक्रमण के दौर में लगातार काम कर रहे मेडिकल कर्मियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए सेनिटाइजर मशीन भेंट करने का विचार आया और उन्होंने बिना देरी किए विभाग को हैण्ड सेनिटाइजर मशीन विभाग को भेंट की। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि यह सेनिटाइजर मशीन निश्चित ही स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना संक्रमण से बचाने में उपयोगी साबित रहेगी। कार्यालय में प्रवेश करने से पूर्व समस्त चिकित्साकर्मी एवं आमजन इसका उपयोग करके ही कार्यालय में प्रवेश करेगा। उन्होंने चिकित्सा विभाग की तरफ से महादेव टेकवानी का आभार व्यक्त किया।
संगरिया। राजस्थान गैर सरकारी शैक्षिक संस्था अधिकरण, जयपुर ने संगरिया के मीरा कॉलेज की पूर्व व्ख्यायाता सुशीला अग्रावत के उस दावे को खारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने मीरा शिक्षा समिति से बकाया वेतन, भत्ते, ग्रेच्युटी आदि का भुगतान दिलाए जाने की मांग की थी। अधिकरण ने इस संबंध में आदेश पारित करते हुए कहा है कि मीरा कन्या राजकीय महाविद्यालय को राज्य सरकार 31 अगस्त 2013 के आदेश के जरिए अधिग्रहित कर चुकी है। इसलिए यह संस्था अब गैर सरकारी शैक्षणिक संस्था नहीं है। लिहाजा यह संस्था राजस्थान गैर सरकारी शैक्षिक संस्था अधिकरण के क्षेत्राधिकार में नहीं आती है। इस कारण संस्था का कोई कर्मचारी अब अपने सेवा संबंधी विवाद के लिए अधिकरण में नहीं आ सकता है। मीरा कॉलेज की सेवानिवृत व्याख्याता सुशीला अग्रावत ने बकाया वेतन, भत्ते, ग्रेच्युटी के भुगतान के लिए अधिकरण में आवेदन प्रस्तुत किया था। संस्था के सचिव संजय आर्य ने जवाब प्रस्तुत कर कहा कि राज्य सरकार की ओर से संस्था का अधिग्रहण समस्त चल व अचल परिसम्पत्तियों सहित किया गया है। इसलिए अब पुराने कर्मचारियों की अदायगी के लिए सरकार ही उत्तरदायी है। मीरा कॉलेज पर 31 अगस्त 2013 के बाद से राजस्थान गैर सरकारी शैक्षणिक संस्था अधिनियम 1989 लागू ही नहीं होता है। इसलिए कॉलेज की मातृ संस्था मीरा शिक्षा समिति किसी प्रकार की अदायगी के लिए उत्तरदायी नहीं है। आर्य के इस तर्क से सहमत होते हुए अधिकरण ने पूर्व कर्मचारी का दावा खारिज कर दिया। एडवोकेट आर्य ने बताया कि मीरा कॉलेज के पूर्व कर्मचारियों को अपने बकाया वेतन, भत्तों, ग्रेच्युटी के लिए राज्य सरकार के विरुद्ध न्यायालय मेें जाना पड़ेगा।
हनुमानगढ़, 15 अप्रैल। कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक असीजा ने संपूर्ण जिले के शहरी क्षेत्र में धारा 144 लागू की है। आदेश में लिखा गया है कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के संक्रमण की गम्भीर स्थिति के मध्यनजर जिले में मानव जीवन एवं स्वास्थ्य रक्षा को लगातार खतरा बना हुआ है। इस खतरे से निवारण एवं बचाव के लिए शीघ्र उपचार करना वांछनीय है। लिहाजा गृह विभाग की ओर से 14 अप्रैल को गाइडलाइन जारी की गई है। जिसकी अनुपालना में दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए दिनांक 30.04.2021 तक सम्पूर्ण जिला क्षेत्र के शहरी क्षेत्रों में नगर निकाय की सीमाओं में निम्नानुसार प्रतिबन्धित आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किए जाते हैं। 1. जिले के समस्त शहरी क्षेत्रों में नगरीय निकाय की सीमाओं में दिनांक 30.04.2021 तक सांय 6ः00 बजे से प्रातः 5ः00 बजे तक रात्रि कालीन कफ्र्यू रहेगा। सभी बाजार, कार्य स्थल एवं व्यावसायिक काॅम्प्लेक्स रात्रिकालीन कफ्र्यू के दौरान बंद रहेंगे। बाजार एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान आदि सांय 5ः00 बजे बंद कर दिये जायें, ताकि संबंधित स्टाफ एवं अन्य व्यक्ति सांय 6ः00 बजे तक अपने घर पहुंच जाये। 2. जिला हनुमानगढ़ में स्थित सरकारी एवं निजी समस्त शैक्षणिक/कोचिंग संस्थाए, लाईब्रेरीज आदि दिनांक 30.04.2021 तक बंद रहेगी, परन्तु वर्तमान में चल रही 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाओं/प्रायोगिक परीक्षाओं के आयोजन हेतु शैक्षणिक संस्थाओं को खोलने की अनुमति होगी। मेडिकल व नर्सिंग महाविद्यालयों में अध्ययन यथावत रहेगा। शेष शैक्षणिक कार्य आॅनलाईन/डिस्टेंस लर्निंग द्वारा सम्पादित किया जावेगा, इसके साथ ही गृह विभाग, चिकित्सा विभा व शिक्षा द्वारा जारी निर्देशों की शतप्रशित पालना सुनिश्चित की जावेगी। 3. समस्त राजकीय कार्यालय (कोविड मेनेजमेंट से संबंधित सभी कार्यालय, वाॅर रूम, कन्ट्रोल रूम को छोड़कर) सांय 4ः00 बजे तक खुले रहेंगे। समस्त निजी कार्यालय एवं प्रतिष्ठानों को परामर्श दिया जाता है कि कोविड-19 के संक्रमण की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए वह भी अपने कार्यालय समय को इस अनुरूप परिवर्तित करें। रात्रिकालीन कफ्र्यू निम्निलिखित पर लागू नहीं होगा:- वे फैक्ट्रियां, जिनमें निरन्तर उत्पादन हो रहा हो, फैक्ट्रियां जिनमें रात्रिकालीन शिफ्ट चालू हो, आई.टी. कम्पनियां, कैमिस्ट शाॅप,अनिवार्य एवं आपातकालीन सेवाओं से संबंधित कार्यालय, विवाह संबंधी समारोह, चिकित्सा सेवाओं से संबंधित कार्यस्थल,बस स्टैण्ड, रेल्वे स्टेशन और एयरपोर्ट से आने/जाने वाले यात्रीगण,माल परिवहन करने वाले भार वाहनों के आवागमन, माल के लोण्डिंग एवं अनलोडिंग तथा उक्त कार्य हेतु नियोजित व्यक्ति पर ये लागू नहीं होगा। इस हेतु अलग से पास की आवश्यकता नहीं होगी। 4. जिला हनुमानगढ़ की राजस्व सीमाओं में आयोजित होने वाले विवाह समारोह/अन्य निजी आयोजनों में आमंत्रित व्यक्तियों की संख्या दिनांक 31.05.2021 तक 50 से अधिक नहीं होगी, जिसमें बैण्ड-बाजा वादकों को शामिल नहीं किया जावेगा, इसके अतिरिक्त आयोजनकर्ता राज्य सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) की शतप्रतिशत पालना सुनिश्चित करते हुए संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट को आयोजन के संबंध में पूर्व में सूचित किया जाना अनिवार्य होगा। (प्राथमिकता से ई-मेल द्वारा) 5. अन्त्येष्टि/अंतिम संस्कार आदि में अनुमत व्यक्तियों की संख्या 20 से अधिक नहीं होगी तथा अन्त्येष्टि के दौरान राज्य सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) की शतप्रतिशत पालना की जावेगी। 6. जिला हनुमानगढ़ की राजस्व सीमाओं में सार्वजनिक/सामाजिक/राजनैतिक/खेलकूद संबंधी, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृति एवं धार्मिक समारोह/जुलुस/त्योहारों की अनुमति नहीं होगी। 7. सिनेमा हाॅल/थियेटर/मल्टीप्लेक्स, मनोरंजन पार्क, स्विमिंग पूल्स/जिम आदि समान प्रकृति संस्थान बंद रखे जावेगे। 8. रेस्टोरेंट्स/क्लबस 50 प्रतिशत क्षमता के साथ अनुमत होंगे। इन पर रात्रिकालीन कफ्र्यू की पालना की जावेगी। रेस्टोरेंट्स से टेक अवे एवं होम डिलीवीरी (Take away and home delivery) रात्रि 8ः00 बजे तक ही अनुमत होगी, परन्तु होटल/रेस्टोरेंट द्वारा अपने इन हाऊसगेस्ट को सर्विस देना अनुमत होगा। आदेश में लिखा गया है कि जिले के सभी नागरिकों को इस आदेश की पालना करने एवं अवहेलना नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं। यदि कोई व्यक्ति उपर्युक्त प्रतिबन्धात्मक आदेशों का उल्लंघन करेगा, तो वह भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188, 269, 270 एवं "The Rajasthan Epidemic Diseases ordinance, 2020, National Disaster Management Act 2005" तथा अन्य सुसंगत विधिक प्रावधानों के अन्तर्गत अभियोजित किया जावेगा।
हनुमानगढ़, 15 अप्रैल। कोरोना रोकथाम को लेकर गृह विभाग के द्वारा 14 अप्रैल को जारी नई गाइडलाइन की अनुपालना में गुरूवार को कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक असीजा ने आदेश जारी किए। आदेश में लिखा गया है कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के संक्रमण की गम्भीर स्थिति के मध्यनजर जिले में मानव जीवन एवं स्वास्थ्य रक्षा को लगातार खतरा बना हुआ है। लिहाजा इस खतरे से निवारण एवं बचाव के लिए शीघ्र उपचार करना वांछनीय है कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने हेतु गृह विभाग द्वारा गाईडलाईन जारी की गई है। जिसकी पालना हेतु सुनिश्चित करने के आदेश दिए जाते हैं कि जिले के समस्त क्षेत्रों में दिनांक 16 अप्रैल 2021 से 30.04.2021 तक सांय 6ः00 बजे से प्रातः 5ः00 बजे तक रात्रि कालीन कफ्र्यू रहेगा। सभी बाजार, कार्य स्थल एवं व्यावसायिक काॅम्प्लेक्स रात्रिकालीन कफ्र्यू के दौरान बंद रहेंगे। बाजार एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान आदि सांय 5ः00 बजे बंद कर दिये जायें, ताकि संबंधित स्टाफ एवं अन्य व्यक्ति सांय 6ः00 बजे तक अपने घर पहुंच जाये। 2. जिला हनुमानगढ़ में स्थित सरकारी एवं निजी समस्त शैक्षणिक/कोचिंग संस्थाए, लाईब्रेरीज आदि दिनांक 30.04.2021 तक बंद रहेगी, परन्तु वर्तमान में चल रही 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाओं/प्रायोगिक परीक्षाओं के आयोजन हेतु शैक्षणिक संस्थाओं को खोलने की अनुमति होगी। मेडिकल व नर्सिंग महाविद्यालयों में अध्ययन यथावत रहेगा। शेष शैक्षणिक काल ऑनलाइिन/डिस्टेंस लर्निंग द्वारा सम्पादित किया जावेगा, इसके साथ ही गृह विभाग, चिकित्सा विभा व शिक्षा द्वारा जारी निर्देशों की शतप्रशित पालना सुनिश्चित की जावेगी। 3. समस्त राजकीय कार्यालय (कोविड मेनेजमेंट से संबंधित सभी कार्यालय, वाॅर रूम, कन्ट्रोल रूम को छोड़कर) सांय 4ः00 बजे तक खुले रहेंगे। समस्त निजी कार्यालय एवं प्रतिष्ठानों को परामर्श दिया जाता है कि कोविड-19 के संक्रमण की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए वह भी अपने कार्यालय समय को इस अनुरूप परिवर्तित करें। रात्रिकालीन कफ्र्यू निम्निलिखित पर लागू नहीं होगा:- वे फैक्ट्रियां, जिनमें निरन्तर उत्पादन हो रहा हो, फैक्ट्रियां जिनमें रात्रिकालीन शिफ्ट चालू हो, आई.टी. कम्पनियां, कैमिस्ट शाॅप,अनिवार्य एवं आपातकालीन सेवाओं से संबंधित कार्यालय, विवाह संबंधी समारोह, चिकित्सा सेवाओं से संबंधित कार्यस्थल,बस स्टैण्ड, रेल्वे स्टेशन और एयरपोर्ट से आने/जाने वाले यात्रीगण,माल परिवहन करने वाले भार वाहनों के आवागमन, माल के लोण्डिंग एवं अनलोडिंग तथा उक्त कार्य हेतु नियोजित व्यक्ति पर ये लागू नहीं होगा। इस हेतु अलग से पास की आवश्यकता नहीं होगी।आदेश में लिखा गया है कि उपरोक्त वर्णित संस्थाओ/संगठनो द्वारा कोविड-19 सुरक्षा पोटोकाॅल की पालना सुनिश्चित नही किये जाने की सूरत में जिला प्रशासन द्वारा गठीत Joint Enforcement Teams/Anti-Covid Teams द्वारा संस्था/संगठन को सील किया जावेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में आपदा प्रबंधन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग, राजस्थान द्वारा जारी आदेश दिनांक 03.04.2021 को गठित ग्राम पंचायत स्तरीय कोर ग्रुप द्वारा कोविड-19 दिशा-निदेशों की पालना सुनिश्चित करवायेगी। 4. जिला हनुमानगढ़ की राजस्व सीमाओं में आयोजित होने वाले विवाह समारोह/अन्य निजी आयोजनों में आमंत्रित व्यक्तियों की संख्या दिनांक 31.05.2021 तक 50 से अधिक नहीं होगी, जिसमें बैण्ड-बाजा वादकों को शामिल नहीं किया जावेगा, इसके अतिरिक्त आयोजनकर्ता राज्य सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) यथा सामाजिक देरी की पालना, फेस मास्क का प्रयोग, नो मास्क नो एन्ट्री, थर्मल स्केनिंग, हैण्ड वाॅश एवं सेनेटाईजर का प्रयोग की शतप्रतिशत पालना सुनिश्चित करते हुए संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट को आयोजन के संबंध में पूर्व में सूचित किया जाना अनिवार्य होगा। (प्राथमिकता से ई-मेल द्वारा) 5. अन्त्येष्टि/अंतिम संस्कार आदि में अनुमत व्यक्तियों की संख्या 20 से अधिक नहीं होगी तथा अन्त्येष्टि के दौरान राज्य सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) की शतप्रतिशत पालना की जावेगी। 6. जिला हनुमानगढ़ की राजस्व सीमाओं में सार्वजनिक/सामाजिक/राजनैतिक/खेलकूद संबंधी, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृति एवं धार्मिक समारोह/जुलुस/त्योहारों की अनुमति नहीं होगी। पूजा-अर्चना, इबादत आदि घर पर रह कर की जावेगी। धार्मिक स्थलो पर पूजा-अर्चना, इबादत प्रबंधन द्वारा ही किया जावेगेा। 7. सिनेमा हाॅल/थियेटर/मल्टीप्लेक्स, मनोरंजन पार्क, स्विमिंग पूल्स/जिम आदि समान प्रकृति संस्थान बंद रखे जावेगे। 8. रेस्टोरेंट्स/क्लबस 50 प्रतिशत क्षमता के साथ अनुमत होंगे। इन पर रात्रिकालीन कफ्र्यू की पालना की जावेगी। रेस्टोरेंट्स से टेक अवे एवं होम डिलीवीरी (Take away and Home Delivery) रात्रि 8ः00 बजे तक ही अनुमत होगी, परन्तु होटल/रेस्टोरेंट द्वारा अपने इन हाऊसगेस्ट को सर्विस देना अनुमत होगा। 9. समस्त JET/ACT Teams सार्वजनिक स्थानो पर कोविड-19 के बचाव हेतु एहतियाति उपायों की पालना नही करने वालों के विरूध उचित जुर्माना लगाने की कार्यवाही अमल में लाने के साथ-साथ भीड़-भाड़ वाली जगहो विषेशकर बाजारों, साप्ताहिक बाजारों और सार्वजनिक परिवहन में सामाजिक दूरी बनाये रखनें एवं संक्रमण के प्रसार को रोकने हेतु जारी एसओपी की सख्ती से पालना करवायेगी। सार्वजनिक स्थानों पर थूकना, शराब, पान, गुटखा, तम्बाकू आदि निषिद्ध रहेंगे। अवेहलना करने पर जुर्माने से दण्डित किया जावेगा। 10. आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर अन्य सरकारी/निजी कार्यालय जिनमें कार्मिको की संख्या 100 से अधिक है उनमें 50 प्रतिशत कार्मिक ही अनुमत होंगे शेष कार्मिक वर्क फ्राॅम हाॅम (घर से कार्य) करेंगे। वर्क फ्राॅम हाॅम (घर से कार्य) कार्मिको से सेवाए Anti Covid Teams (ACT) के रूप में ली जावेगी। जिस किसी कार्यस्थल पर कार्मिक कोविड पाॅजिटिव या फिर संभावित संक्रमित होन की स्थिति में कार्यालय अध्यक्ष द्वारा कार्यलय कक्ष को 72 घंटे के लिये बन्द किया जावेगा तथा जो कार्यालय एक ही परिसर में स्थित है, के अलावा सभी के साथ बैठक आॅनलाईन सम्पादीत की जावेगी। 11. राज्य में वर्तमान में रबी की फसलों की आवक तथा समर्थन मूल्य पर विक्रय के दौरान खरीद केन्द्रों पर कोविड-19 के संबंध में उपयुक्त व्यवहार की पालना की जावेगी। राज्य के बाहर से आने वाले यात्रियों को राजस्थान में आगमन से पूर्व यात्रा प्रारम्भ करने के 72 घण्टे के अन्दर करवाई गई आरटीपीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट प्रस्तुत किया जाना अनिवार्य होगा। यदि कोई यात्री जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने में असमर्थ रहता है, तो उसे गन्तव्य स्थल पर 15 दिन के लिए क्वारेनटाईन किया जावेगा। राज्य में सड़क मार्ग से प्रवेश करने वाले व्यक्तियों की जांच बोर्डर चैकपोस्ट पर की जावेगी। चैकपोस्ट पर पल्स आॅक्सीमीटर चिकित्सा विभाग द्वारा उपलब्ध करवाया जावेगा। 12. जिला हनुमानगढ़ में रेल द्वारा अन्य राज्यों से प्रवेश करने वाले व्यक्तियों की आरटीपीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट संबंधित स्टेशन मास्टर द्वारा चैक की जावेगी, यदि कोई यात्री जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने में विफल रहता है, तो उसे 15 दिवस के लिए क्वारेनटाईन करवाने की कार्यवाही की जावे। 13. भेद्य व्यक्तियों ( Vulnerable Persons ) जैसे ( 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के व्यक्ति, पुराने रोगों एवं सःरूग्नता परिस्थितियों से पीड़ित व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं तथा 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे) को घर पर रहने एवं केवल आवश्यक व स्वास्थ्य उद्देश्यों के लिए ही या अपरिहार्य परिस्थितियों में मांग किये जाने कोविड-19 के संबंध में जारी ैव्च् की पूर्णतः पालना किये जाने की शर्त पर ही अनुमत होंगे। आदेश में लिखा गया है कि जिले के सभी नागरिकों को इस आदेश की पालना करने एवं अवहेलना नहीं करने के निर्देश दिये जाते हैं। यदि कोई व्यक्ति उपर्युक्त आदेशों का उल्लंघन करेगा, तो वह भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188, 269, 270, आपदा प्रबंधन एवं"The Rajasthan Epidemic Diseases ordinance, 2020, National Disaster Management Act 2005" तथा अन्य सुसंगत विधिक प्रावधानों के अन्तर्गत अभियोजित किया जावेगा।
हनुमानगढ़। युवा जाट मंच भारत संगठन को मजबूती प्रदान करने के मकसद से स्थानीय जिला कार्यकारिणी का विस्तार किया गया है।अध्यक्ष विनोद झुरिया ने अपनी टीम में दो जिलाउपाध्यक्ष , दो जिला सचिव, एक जिलमहाचिव सहित 9 सदस्यों की कार्यकारिणी घोषित कर दी। जिला उपाध्यक्ष पद पर रवि चोटिया और अनिल थोरी, सचिव पद पर राजेश खीचड़ और सुभाष घोटिया, जिला महासचिव पद पर संजय थालोड़, कोषाध्यक्ष पद पर लोकेश सहारण, सहसचिव काशी राम नेण, संगठन मंत्री कपिल सहारण और मिडिया प्रभारी राजाराम कुकणा को मनोनीत किया गया है। जिला जाट भवन में आयोजित कार्यकारिणी विस्तार बैठक में जाट भवन अध्यक्ष इंद्रपाल रिणवां भी मौजूद रहे।
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाएं स्थगित 8वीं, 9वीं एवं 11वीं के विद्यार्थी अगली कक्षा में होंगे प्रमोट हनुमानगढ़/जयपुर, 14 अप्रेल। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर द्वारा आयोजित की जाने वाली 10वीं एवं 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। इसी के साथ राज्य सरकार ने 8वीं बोर्ड के छात्र-छात्राओं को नवीं, कक्षा 9 के छात्र-छात्राओं को दसवीं तथा 11वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं को बारहवीं कक्षा में प्रमोट करने का भी फैसला किया है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की शिक्षा राज्य मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा से चर्चा के बाद इस संबंध में निर्णय किया गया।
हनुमानगढ़/जयपुर, 14 अप्रेल। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि महापुरूषों की जयन्ती मनाते हुए हमें उनके विचारों को अपनाना चाहिए। देश में जैसी परिस्थितियां आज हैं, ऎसे में हमें बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलते हुए समाज में समरसता कायम करने की ज़रूरत है। श्री गहलोत बुधवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अम्बेडकर जयन्ती पर आयोजित ‘सर्व समाज की भूमिका शांतिपूर्ण प्रदेश के लिए‘ विषयक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिस परिवार में झगड़े होते हैं, वहां सुख-शांति कायम नहीं हो सकती। यही बात हमारे समाज, प्रदेश एवं देश पर भी लागू होती है। आज समाज को विघटित करने वाली भाषा प्रयोग में लाई जा रही है, लोगों को गुमराह किया जा रहा है। इससे समाज के विभिन्न वर्गों में वैमनस्य कायम हो रहा है। धर्म निपेक्षता की मूल भावना को भुला दिया गया है। संवैधानिक संस्थाओं पर भारी दबाव है। उन्होंने कहा कि संविधान की मूल भावना को आत्मसात करते हुए हमें अपने व्यवहार एवं भाषा पर संयम रखने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉ. अम्बेडकर ने बचपन में उनके साथ हुए अन्याय और अपमान पर प्रतिक्रिया नहीं की बल्कि उच्च अध्ययन कर अपने आपको काबिल बनाया और दलित, शोषित एवं पिछड़ों को उनका हक दिलाया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी दक्षिण अफ्रीका में उनके साथ हुए भेद-भाव एवं अपमान का घूंट पीकर ऊंच-नीच दूर करने एवं समाज में समरसता कायम करने में जुट गए। हमारे युवाओं को भी सही राह दिखाने की आवश्यकता है। उन्हें देश के हालात पर चिंतन-मनन करने के लिए प्रेरित करना होगा, ताकि वे इनमें सुधार ला सकें। उन्होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के इस युग में छुआछूत एवं घूंघट प्रथा मानवता पर कलंक हैं। अल्पसंख्यक मामलात मंत्री श्री शाले मोहम्मद ने कहा कि आज जाति और धर्म के आधार पर समाज को बांटने के प्रयास किए जा रहे हैं, ऎसे में गांधीजी और बाबा साहेब डॉ. अम्बेडकर के विचारों को अपनाने की जरूरत है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री श्री राजेन्द्र यादव ने कहा कि बाबा साहेब के विचारों को अपनाते हुए प्रदेश में दलित, शोषित एवं पिछड़े वर्गों के कल्याण की भावना के साथ कार्य किया जा रहा है। संगोष्ठी के वक्ता गांधीवादी विचारक डॉ. एन सुब्बाराव ने कहा कि धर्म, जाति एवं क्षेत्र के आधार पर किसी तरह का विभेद नहीं हो और पूरी मानव जाति को एक परिवार की तरह माना जाए, ऎसी शिक्षा हमें हमारे बच्चों को देने की जरूरत है। उन्होंने अम्बेडकर जयन्ती पर इस कार्यक्रम के माध्यम से सर्व समाज को एक साथ लाने के प्रयास के लिए मुख्यमंत्री को साधुवाद दिया। गांधीवादी विचारक एवं गांधी पीस फाउण्डेशन के पूर्व उपाध्यक्ष श्री पीवी राजगोपाल ने कहा कि समाज को तोड़ने वाली भाषा के प्रयोग का हमारी भावी पीढ़ी पर गलत असर पड़ेगा। भाषा का संतुलन एवं ज्ञान आधारित सूचना आज समाज के लिए बहुत जरूरी है। हिंसा की तुलना में हमें अहिंसा को उससे भी मजबूत करना होगा। उन्होंने कहा कि गांधीजी विरोधी के प्रति भी नफरत की भावना रखने में विश्वास नहीं करते थे। डॉ. भीमराव अम्बेडकर विधि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. देव स्वरूप ने कहा कि बाबा साहेब ने पहली बार दलित एवं शोषित वर्ग में चेतना पैदा की और उन्हें इस बात का अहसास दिलाया कि संसाधनों पर उनका भी बराबरी का हक है। वे मानते थे कि व्यक्ति की पहचान उसकी जाति या धर्म से नहीं बल्कि उसकी काबिलियत के आधार पर होनी चाहिए। वे एक संतुलित एवं न्यायपूर्ण समाज की स्थापना के पक्षधर थे। मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने कहा कि रागात्मक एवं भावनात्मक एकता बाबा साहेब डॉ. अम्बेडकर के सिद्धांतों का एक बड़ा पहलू था, जिसकी आज जरूरत है। शासन सचिव सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता डॉ समित शर्मा ने अतिथियों का स्वागत किया। शांति एवं अहिंसा प्रकोष्ठ के समन्वयक श्री मनीष शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम की शुरूआत में मुख्यमंत्री एवं अन्य अतिथियों ने बाबा साहेब की तस्वीर पर पुष्प अर्पित किए। इस अवसर पर उल्लेखनीय सेवाओं के लिए पुरस्कार वितरित किए गए। वर्ष 2020 का अम्बेडकर सामाजिक सेवा पुरस्कार श्री कोदरलाल बुनकर को जबकि 2021 का अम्बेडकर सामाजिक सेवा पुरस्कार श्री ए. आर. खान को दिया गया। पुरस्कार के तहत एक लाख रूपए का चैक एवं प्रतीक चिन्ह दिया गया। 50 हजार रूपए का अम्बेडकर सामाजिक न्याय पुरस्कार एडवोकेट श्री महावीर जिन्दल को जबकि 50 हजार रूपए का अम्बेडकर महिला कल्याण पुरस्कार अरमान फाउण्डेशन की डॉ. मेनका भूपेश को दिया गया। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न जिलों से चयनित 17 प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को अम्बेडकर शिक्षा पुरस्कार के तहत 51-51 हजार रूपए की राशि के चैक दिए गए। हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर कार्यक्रम में ये हुए शामिल- जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जो कार्यक्रम में शामिल हुए उनमें कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक आसीजा, महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के जिला संयोजक श्री श्रवण तंवर, सहसंयोजक श्री तरुण विजय, संगरिया खाद्य व्यापार संघ अध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार जैन, किशोर न्याय बोर्ड सदस्य श्री मुजफ्फर अली , श्री इशाक खान, पार्षद श्री गुरूदीप चहल, श्री ऐस मोहम्मद, डॉ अंबेडकरइ वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष श्री मोहनलाल इंदलिया, श्री कुलदीप सिला, श्री मजीद खान, चर्च फादर श्री माईकल मसीह, श्री बलराज सिंह, श्री विनोद कुमार, श्री अमन कुमार, श्री अशोक जैन, श्री रमजान खान, जंडावाली से श्री अशफाक हुसैन, श्री अब्दुल हफीज समेत सर्वसमाज/संस्थाओं के अन्य कई पदाधिकारी शामिल थे। कार्यक्रम के अन्त में जिला समाज कल्याण अधिकारी श्री सुरेन्द्र पूनियां और जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी श्री अमर सिंह ढाका ने आये हुये सर्वसमाज के लोगों का आभार व्यक्त किया। --
पीलीबंगां. समाज का प्रत्येक युवा अच्छी शिक्षा ग्रहण करे यह हमारा लक्ष्य होना चाहिए परंतु उसके बाद समाज परिवार को छोड़कर नौकरी के लिए बाहर रहना उस शिक्षा का उद्देश्य नहीं है, प्रत्येक युवा को चाहिए की अधिकाधिक ज्ञान प्राप्त करे परंतु कंफर्ट जोन में जीवन जीने के स्थान पर बाजार में आकर प्रतिस्पद्र्धा का सामना कर अपने व्यापार को आगे बढाएं, यह विचार उत्तर राजस्थान प्रादेशिक माहेश्वरी सभा के प्रदेशाध्यक्ष बाबू लाल मोहता ने माहेश्वरी भवन में आयोजित हनुमानगढ जिला माहेश्वरी सभा की प्रथम कार्यकारी मंडल की बैठक को मुख्य वक्ता के रुप में सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। बैठक की शुरुआत भगवान महेश के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके व दिव्यांशी लखोटिया द्वारा महेश वंदना करके की गई। जिलाध्यक्ष रतनलाल लाहोटी व जिला सचिव राधेश्याम लखोटिया ने जिले में कोरोना काल के समय करवाए गए प्रकल्पों की जानकारी देते हुए जिले के इतिहास के बारे में बताया। कार्यक्रम को प्रदेश सचिव राकेश जाजू, जिला संरक्षक रामेश्वर लाल पेड़ीवाल, अखिल भारतीय माहेश्वरी महासभा के सदस्य नौरंग लाल सोमानी, पूर्व प्रदेश संगठन मंत्री मदन गोपाल लढ्ढा, माहेश्वरी महिला मंडल की जिला सचिव श्वेता नढाणी, पार्षद लखन करवा आदि ने सम्बोधित करते हुए समाज व संगठन का महत्व बताते हुए कहा कि इससे सम्पर्क बनने के साथ-साथ सांस्कृतिक विकास होता है व समाज के रीति रिवाज की जानकारी भी होती है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि अखिल भारतीय माहेश्वरी महासभा के सदस्य शिवभगवान ढुढाणी, स्थानीय संरक्षक शंकरलाल सोमानी, कमलेश पेड़ीवाल व चेतनलाल लखोटिया, प्रदेश उपाध्यक्ष श्याम सुंदर पेड़ीवाल, प्रदेश सहसचिव राजेंद्र कुमार थिरानी, प्रदेश कोषाध्यक्ष महेश दम्माणी, प्रदेश संगठन मंत्री बलदेव मूंधड़ा, युवा संगठन के जिलाध्यक्ष अंकूर लखोटिया, महिला मंडल की जिलाध्यक्ष प्रियंका बजाज रहे। कार्यक्रम में नवनिर्वाचित पार्षद संदीप बिहाणी रावतसर, सुशीला करवा, लखन करवा व अनिता करवा संगरिया, लगातार पांच वर्ष से नि:शुल्क नेत्र शल्य चिकित्सा शिविर का आयोजन करने के लिए विजय कुमार थिरानी नोहर का शॉल ओढाकर व स्मृति चिन्ह प्रदान कर अभिनंदन किया गया। कोरोना काल में जिला सभा के माध्यम से समाज के जरुरतमंद लोगों के सहयोग के लिए तीन दर्जन परिवारों के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया। पीलीबंगां माहेश्वरी समाज सेवा समिति के अध्यक्ष उमेश सोनी व सचिव पवन झंवर ने आए हुए अतिथियों का धन्यवाद करते हुए बताया कि भवन में प्रथम मंजिल पर करीब बीस लाख रुपए की लागत से सात कमरों का निर्माण प्रस्तावित है जिस पर सात परिवारों ने सहमति प्रदान की है व निर्माण कार्य 24 अप्रेल से शुरू किया जाएगा। कार्यक्रम में नोहर से जिला उपाध्यक्ष ओमप्रकाश कलाणी व अध्यक्ष द्वारका प्रसाद लखोटिया, जयकिशन गिलड़ा, रावतसर अध्यक्ष लक्ष्मीकांत सोनी व विमल चांडक, हनुमानगढ जंक्शन के अध्यक्ष नारायण राठी व कमल सोमानी, संगरिया से प्रदेश प्रतिनिधि कृष्ण करवा, जिला सचिव पवन राठी, पूर्व अध्यक्ष देवकिशन लखोटिया, टिब्बी के गौरीशंकर कलाणी, भादरा के बजरंग राठी सहित बड़ी संख्या में समाज बंधु उपस्थित रहे। कार्यक्रम में पीलीबंगां से बाबू लाल पेड़ीवाल, जेठमल राठी, दीवान चंद होलानी, जगदीश करवा, महावीर लखोटिया, महेश पेड़ीवाल, शंकर पेड़ीवाल, अरुण राठी, भुवनेश बिहाणी, संजयकांत सोमानी, कन्हैया लखोटिया, प्रशांत कोठारी, मनोज सोनी, मुकेश कोठारी, रोशन मूंधड़ा, रवि होलानी, सचिन चांडक, आशीष करवा, प्रदीप सोमानी, मधु लखोटिया, निर्मला चांडक, नेहा चांडक, रश्मि करवा, नीतू सोमानी आदि ने व्यवस्था संभाली।
श्रीगंगानगर, 14 अप्रेल। जिले में निवास कर रहे पूर्वांचल समुदाय के लोगों ने मिथिला सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ. शगुन सिंह महात्मा, हनुमानगढ़ से आए श्री सार्वजनिक छठ महोत्सव प्रबंध समिति के प्रवक्ता प्रदीपपाल के नेतृत्व में नवनियुक्त जिला कलक्टर जाकिर हुसैन से मिलकर समुदाय के नागरिकों के समक्ष आ रही समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर एक ज्ञापन सौंपा तथा नवनियुक्त जिला कलक्टर का गुलदस्ते भेंट कर स्वागत किया। ज्ञापन में जिला कलक्टर को बताया कि पूर्वांचल समुदाय के लोगों के लिए दरभंगा बिहार के लिए कोई सीधी ट्रेन नहीं होने से आने-जाने में परेशानी होती हैं। गत 15 वर्षों से श्रीगंगानगर से दरभंगा के लिए सीधी ट्रेन की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हैं, यदि सीधी टे्रन मिलती हैं तो आने-जाने में कोई परेशानी नहीं होगी तथा यूपी, बिहार के किसानों को भी बड़ा लाभ मिलेगा। ज्ञापन में बताया कि पूर्वांचल समुदाय के लोग श्रीगंगानगर में असंगठित क्षेत्र के कामगार मजदूर हैं, जिनकी दैनिक मजदूरी निश्चित नहीं हैं, जिस कारण रोजगार समाप्त होने का भय बना रहा हैं। वर्षों पूर्व यहां बसे पूर्वांचल समुदाय के लोगों के राशनकार्ड, वोटरकार्ड आदि बन गए हैं, लेकिन जाति प्रमाण-पत्र आज तक नहीं बन पाए हैं, जिससे वे सरकार की योजनाओं से लाभान्वित नहीं हो पाते। इसके अलावा ज्ञापन में श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर पूर्वांचल समुदाय के लोगों के लिए धर्मशाला के लिए भूमि आवंटन की भी मांग की गयी। इस अवसर पर गोपाल सिंह ठाकुर, उमेश सिंह, यशपाल सिंह चोहान, अब्दुल गफ्फार आदि मौजूद थे। संगठनों ने किया कलक्टर का सम्मान : नवनियुक्त जिला कलक्टर जाकिर हुसैन का मिथिला सेवा समिति, छत्रपति शिवाजी फाउंडेशन ट्रस्ट, श्री राजपूत करणी सेना, पाटिलपुत्र फाउंडेशन, श्री दुर्गा पूजा एकता सेवा समिति, श्री सूर्य छठ पूजा सेवा समिति, इंटरनेशनल रंगरेटा दल, होटल वेटर एसोसिएशन, श्री अन्नपूर्णा आध्यात्मिक सेवा समिति हनुमानगढ़, श्री सार्वजनिक छठ महोत्सव प्रबंध सेवा समिति हनुमानगढ़ के प्रतिनिधियों एवं वरिष्ठ पत्रकार शिव स्वामी, पत्रकार प्रदीप पाल ने जिला कलक्टर का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।
हनुमानगढ़, 12 अप्रैल। कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक असीजा ने जिले भर के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों को 13 अप्रैल 2021 से 30 अप्रैल 2021 तक दर्शनार्थियों के लिए बंद रखने के आदेश जारी किए हैं। आदेश में लिखा गया है कि धार्मिक स्थलों को खुला रखने या बंद करने के संबंध में सोमवार को रखी गई बैठक में सर्वसम्मति से लिए गए निर्णय़ के अनुसार जिला हनुमानगढ़ के प्रमुख धार्मिक स्थलों गोगामेड़ी के गोगाजी मंदिर, पल्लू की मां ब्राह्मणी माता मंदिर, रावतसर के खेत्रपाल मंदिर, अमरपुरा थेहड़ी के मां भद्रकाली मंदिर, गुरूद्वारा सिंह सभा हनुमानगढ़ व नवां की दरगार नादिरशाह समेत जिले के अन्य प्रमुख मंदिर, मस्जिद, ईदगाह, गुरूद्वारा और चर्च में दर्शनार्थियों के लिए पूजा अर्चना, इबादत व जियारत इत्यादि पर रोक लगा दी गई है।इनके अलावा जिले के अन्य सभी प्रमुख धार्मिक स्थल भी 13 अप्रैल से 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे। ताकि नवरात्र व रमजान पर्व के दौरान अत्यधिक भीड़ एकत्र होने के कारण कोविड 19 के संक्रमण का फैलाव ना हो सके। बैठक में संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी, कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक असीजा के अलावा एडीश्नल एसपी श्री जस्साराम बोस, एसडीएम श्री कपिल यादव, एसीईओ श्री अवि गर्ग, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, जिला क्षय रोग अधिकारी और कंट्रोल रूम से जुड़े हुए डॉ रविशंकर शर्मा,समेत विभिन्न धर्मों के धर्मगुरू उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 12 अप्रैल। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत राज संस्थाओं में रिक्त हुए पदों पर उप-चुनाव करवाने हेतु प्रारम्भिक तैयारियां किये जाने हेतु निर्देशित किया है। हनुमानगढ़ जिले में 28 फरवरी 2021 कुल 23 वार्ड पंचों के पद रिक्त है जिनके लिए अप्रैल 2021 में उप चुनाव होने प्रस्तावित है। कार्यवाहक जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अशोक असीजा ने बताया कि उप चुनावों के दृष्टिगत प्रारम्भिक तैयारियों से संबंधित कार्य सम्पादन हेतु अधिकारियों का उतरदायित्व निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक हनुमानगढ़ द्वारा उपचुनाव हेतु पर्याप्त पुलिस जाब्ते की यथा समय नियुक्ति करना व पुलिस जाब्ते की तैनाती, रवानगी, प्रशिक्षण आदि हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं करवाई जाएगी। समस्त रिटर्निंग अधिकारी द्वारा संबंधित रिक्त क्षेत्र की निर्वाचक नामावलियों का अंतिम प्रकाशन 19 अप्रैल 2021 को कर, सूचना जिला निर्वाचन कार्यालय को भिजवाने के निर्देश दिए गए हैं। अंतिम निर्वाचक नामावलियों का मुद्रण अपने स्तर से करवाकर आयोग के निर्देशानुसार कार्यकारी प्रतियां तैयार करेंगे। आयोग के निर्देशानुसार (पत्रांक 1586 दिनांक 10.05.2019) मतदान केन्द्रों का निर्धारण कर सूचना निर्धारित प्रारूप में प्रेषित करेंगे। साथ ही मतदान केन्द्रों पर आवश्यक मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए प्रमाण पत्र प्रेषित करेंगे। संवेदनशीलध्अतिसंवेदनशील क्षेत्र हो तो उसकी सूचना प्रेषित करे। इनके द्वारा मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण हेतु मास्टर ट्रेनर्स की नियुक्ति की जाएगी। मतदान दल कार्मिकों के प्रशिक्षण, रवानगी, सग्रहण-वितरण से संबंधित समस्त व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए गए हैं। जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी द्वारा आयोग के निर्देशानुसार उपचुनाव हेतु कम्पनी की एमके-4 एवं 5 तथा कम्पनी की एम-2 मॉडल की मशीनों का उपयोग किया जायेगा। इसलिए जिले में उक्त मॉडल की कितनी मशीनें उपलब्ध है तथा निर्वाचन के लिए कितनी मशीनों की आवश्यकता होगी इसका आंकलन कर सूचना जिला कार्यालय को 12 अप्रैल 2021 तक प्रेषित करने के निर्देश दिए गए हैं। आवश्यक होने पर उक्तानुसार रिक्तियों के अनुरूप कार्मिकों का डाटाबेस अपडेट किए जाएं। कार्मिकों का आंकलन कर उपलब्धता की स्थिति की सूचना जिला कार्यालय को प्रेषित करने के निर्देश भी दिए गए हैं। रिटर्निंग अधिकारी, मतदान अधिकारी एवं मतदान दल कार्मिकों की नियुक्ति आदेश जारी करने से संबंधित समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश जारी किए गए हैं। कोषाधिकारी द्वारा मतपत्र मुद्रण हेतु फर्म निर्धारित कर सूचना प्रेषित करना,मतपत्र मुद्रण हेतु कागज की उपलब्धता सुनिश्चित करना, मतपत्र मुद्रण से संबंधित समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं करवाने के निर्देश दिए हैं। प्रभारी अधिकारी जिला निर्वाचन स्टोर द्वारा मतदान सामग्री यथा फॉमर्स, लिफाफे, पीठासीन अधिकारी की मुहर, ऐरोक्रॉस सील आदि की उपलब्धता का आंकलन कर दिनांक 12 अप्रैल तक सूचना जिला कार्यालय को प्रेषित करना, संबंधित रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा आवश्यकतानुसार सामग्री उपलब्ध करवाने के निर्देश जारी किए गए हैं। हनुमानगढ़ कलैक्ट्रेट प्रभारी अधिकारी जिला पूल द्वारा रिक्तियों के अनुरूप उपचुनाव हेतु आवश्यकतानुसार वाहनों का आंकलन कर रिपोर्ट जिला कार्यालय को प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं। प्रभारी अधिकारी न्याय शाखा द्वारा उपचुनाव हेतु आवश्यक होने पर कार्यपालक मजिस्ट्रेट, एरिया मजिस्ट्रेट, सैक्टर मजिस्ट्रेट की नियुक्तियों से संबंधित आवश्यक कार्यवाही करवाएंगे।
हनुमानगढ़, 12 अप्रेल। राज्य सरकार ने संवेदनशील निर्णय लेते हुए प्रदेश के राजकीय विद्यालयों के अतिरिक्त अन्य शिक्षण संस्थाओं में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिये दुर्घटना बीमा की दर में संशोधन कर इसे 10 रूपये प्रति एक लाख बीमाधन निर्धारित किया है। राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग द्वारा संचालित विद्यार्थी सुरक्षा दुर्घटना बीमा योजना के तहत राज्य के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को दुर्घटना बीमा का लाभ दिया जा रहा है। कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक असीजा ने बताया कि राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत समस्त विद्यार्थियों के लिए प्रीमियम राशि माध्यमिक शिक्षा एवं प्रारंभिक शिक्षा निदेशालयों से प्रतिवर्ष एक मुश्त आधार पर राज्य बीमा विभाग को प्राप्त होती है। इसके आधार पर राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत समस्त विद्यार्थी, एक लाख रूपये बीमाधन प्रति विद्यार्थी की विभागीय दुर्घटना बीमा पॉलिसी के अंतर्गत बीमित होते हैं। उन्होंने बताया कि निजी विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों हेतु यह योजना वैकल्पिक आधार पर लागू है। इसी प्रकार राजकीय एवं निजी महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों तथा तकनीकी शिक्षण संस्थाओं में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए भी वैकल्पिक आधार पर इस योजना का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन संस्थानों हेतु प्रीमियम दरों में संशोधन कर अब संशोधित प्रीमियम दर 10 रूपये प्रति लाख बीमाधन प्रति विद्यार्थी प्रतिवर्ष तय की गई है। यह दर तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। उन्होंने बताया कि दुर्घटना में विद्यार्थियों की मृत्यु होने अथवा क्षति कारित होने की स्थिति में अभिभावकों को आर्थिक सम्बल प्रदान करने के उद्देश्य से राज्य सरकार की यह कल्याणकारी योजना संचालित है। हनुमानगढ़ के कार्यवाहक जिला कलक्टर श्री अशोक असीजा ने बताया कि राज्य सरकार के इस महत्वपूर्ण निर्णय का लाभ जिले के लाखों विद्यार्थयों को भी मिलेगा।
हनुमानगढ़/जयपुर,12 अप्रेल। मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने कहा कि मानवता पर आए संकट कोरोना वैश्विक महामारी से निजात पाने के लिए निजी अस्पताल खुले मन और दिमाग से आगे आकर सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी अस्पतालों के सामुहिक प्रयासों से हम इस महामारी को हरा सकते हैं। मुख्य सचिव सोमवार को शासन सचिवालय में वीसी के माध्यम से अस्पतालों सरकारी और निजी अस्पतालों के अधिकारियों तथा चिकित्सकों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने प्रदेश में कोविड प्रबंधन के तहत कोरोना संक्रमण की दर, सेम्पल टेस्टिंग की स्थिति, कोरोना से मृत्यु, अस्पतालों में बेड की स्थिति, दवाइयों की उपलब्धता तथा वेक्सीनेशन के बारे में जानकारी ली। उन्होंने निजी क्षेत्र के अस्पतालों से कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित बेड की संख्या आवश्यकता अनुसार 25 प्रतिशत से बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने के लिए भी कहा। श्री आर्य ने कहा कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन नए लक्षण और नई चुनौतियां लेकर सामने आ रहा है, उसी के अनुसार नई गाइड लाइन के साथ हमें कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकोल की सम्पूर्ण पालना सुनिश्चित कर इस महामारी को नियंत्रित किया जा सकता है। मेडिकल सुविधाओं के साथ जन जागरुकता के भी निरंतर प्रयास किये जाने चाहिये। श्री आर्य ने कोविड के बेहतरीन प्रबंधन के लिए ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल निगरानी समिति तथा जिला स्तरीय निगरानी समिति बनाने के भी निर्देश दिए। बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ महाजन ने कहा कि निजी चिकित्सालयों को भी स्वयं के स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त कर समन्वय एवं टीम भावना के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रशासन द्वारा मरीजों को मोबाइल का प्रयोग करने दिया जाना चाहिये, जिससे अनावश्यक तनाव की स्थिति उत्पन्न नहीं हो। उन्होंने कहा कि मरीज के परिजनों को मरीज की स्थिति की जानकारी देने के लिए डेस्क या कियोस्क बनाया जाए, जहां से दिन में एक या दो बार मरीज की स्थिति की जानकारी उसके परिजनों को दी जा सके। उन्होंने कहा कि किसी अस्पताल में बैड उपलब्ध नहीं होने पर जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग के सहयोग से मरीजों को अन्य चिकित्सालयों में उपचार हेतु भर्ती कराने की व्यवस्था की जाए। श्री महाजन ने चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि संस्थाओं से सम्बन्धित अद्यतन सूचनाओं को फीडबैक लेकर पोर्टल पर अपलोड करें। बैठक में एस एम एस चिकित्सालय के प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से कोविड मेनेजमेंट प्रोटोकॉल की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने वीसी के माध्यम से जुड़े सभी चिकित्सा अधिकारियों की प्रोटोकॉल के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में आ रही समस्याओं का भी समाधान किया। हनुमानगढ़ में ये रहे उपस्थित- वीडियो कॉन्फ्रेंस में हनुमानगढ़ जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र में एडीएम श्री अशोक असीजा, एसडीएम श्री कपिल यादव, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, एसीएमएचओ डॉ पवन छींपा, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ रविशंकर शर्मा, जिला ड्रग कंट्रोलर श्री अशोक मित्तल समेत प्राइवेट अस्पताल संचालक उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 05 अप्रैल। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जिला मुख्यालय पर स्थापित की गई प्रतिमा का मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि कलेक्ट्रेट परिसर स्थित उद्यान में गांधीजी की स्थापित की गई है। जिसका जयपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वर्चुअल लोकार्पण 6 अप्रैल को दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत करेंगे। इस अवसर पर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र में जिले के विधायकगण व अन्य जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारीगण और महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाने को लेकर स्थापित की गई जिला स्तरीय समिति के संयोजक और सहसंयोजक भी उपस्थित रहेंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि इस दौरान उद्यान में जहां महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थापित की गई है। वहां भी कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसमें एलईडी के जरिए प्रतिमा के लोकार्पण कार्यक्रम को लाइव देखा जा सकेगा। उद्यान परिसर में करीब 50 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम के दौरान कोरोना गाइडलाइन का विशेष ध्यान रखा जाएगा। जिला कलक्टर ने बताया कि वर्तमान में जिला मुख्यालय पर टाउन में महात्मा गांधी की करीब 24 इंच की एक मात्र छोटी प्रतिमा राजकीय चिकित्सालय में ही स्थापित थी। जो जिला कलक्ट्रेट से करीब 12 किलोमीटर दूर है। जिला कलेक्ट्रेट परिसर में गांधीजी की मूर्ति की महत्ती आवश्यकता महसूस की जा रही थी। लिहाजा कलेक्ट्रेट परिसर में कलेक्ट्रेट की मुख्य बिल्डिंग के मुख्य द्वार के सामने स्थित उद्यान में गांधी जी की प्रतिमा बनाई गई है।गांधी जी की इस प्रतिमा का आकार मनुष्य के साधारण आकार से तीन गुना है तथा बापू की बैठी हुई मुद्रा के बावजूद इसकी उंचाई करीब 7 फीट है। जिसका निर्माण नवोदय विद्यालय, पल्लू (हनुमानगढ़) में कार्यरत कला शिक्षक श्री रामकिशन अडिग से करवाया गया है। प्रतिमा का निर्माण सीमेंट,लोहे के सरियों और पत्थरों से किया गया है। निर्माण में करीब एक माह का समय व्यय हुआ। मूर्ति और उसके प्लेटफॉर्म निर्माण पर करीब 4.5 लाख रूपए की लागत आई है। जिसे नगर परिषद के सहयोग से खर्च किया गया है। प्रतिमा निर्माण के पश्चात् उस पर हरित-श्याम रंग का प्रयोग किया गया है। ताकि यह कांस्य प्रतिमा सदृश्य नजर आए। प्रतिमा को उद्यान के मध्य टीलेनुमा ऊंचे स्थान पर बनाया गया जो इसे भव्यता और विशालता प्रदान करती है। साथ ही सभी दिशाओं से दर्शनीयता बनी रहती है। उद्यान में बने होने के कारण किसी प्रकार के आवागमन में बाधा भी नहीं है। जिला कलक्टर ने बताया कि महात्मा गांधी जी की उक्त प्रतिमा के लोकार्पण के पश्चात ना केवल गांधी जयंती आदि कार्यक्रम गरिमामय आयोजित किए जा सकेंगे बल्कि यह आंगतुकों के लिए भी आकर्षण का केन्द्र बनेगी। निर्माण के दौरान भी आमजन इस प्रतिमा के साथ सेल्फी लेते रहे हैं। आमजन को भी बापू के द्वारा भारत निर्माण में किए सहयोग के लिए श्रद्धासुमन अर्पित करने का अवसर प्राप्त होगा। साथ ही लोगों को ये मूर्ति गांधी के दर्शन को आत्मसात करने के लिए प्रेरणा देती रहेगी।
हनुमानगढ़। राज्य में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसे देखते हुए राज्य सरकार ने किसी भी क्षेत्र में कोरोना संक्रमित रोगी पाए जाने पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने के आदेश दिए हैं। इसी के चलते कोविड जिला प्रभारी डॉ. रविशंकर शर्मा एवं कोविड सहप्रभारी डॉ. पवन कुमार ने आज टिब्बी स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण किया। कंटेनमेंट जोन के औचक निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने समस्त व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां भर्ती मरीजों एवं उनके परिजनों की कुशलक्षेम पूछी। उन्होंने वहां स्टॉफ की जानकारी ली और भर्ती मरीजों को दिए जा रहे उपचार के बारे जानकारी ली। उन्होंने कंटेनमेंट जोन में उपलब्ध थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सीमीटर, मास्क, सैनेटाइजर एवं दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी भी ली। स्टॉफ की बैठक लेते हुए उन्होंने समस्त भर्ती लोगों के विवरण रखने और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए। अधिकारियों ने कहा कि कोविड संक्रमण बड़ी तेजी से फैल रहा है। ऐसे में किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और लापरवाह कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
हनुमानगढ़, 5 अप्रैल। नहरबंदी के दौरान बंद पड़ी जिले के सभी नहरों की डिसिल्टिंग की जाए। ये निर्देश जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता को जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की सोमवार को हुई बैठक की अध्यक्षता करते हुए विभिन्न मामलों की सुनवाई के दौरान दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि नहरबंदी के दौरान जिले की ज्यादातर नहरें बंद है। लिहाजा इन परिस्थितियों का सदुपयोग डिसिल्टिंग के रूप में किया जाए। बैठक में जिला कलक्टर ने विभिन्न मामलों की जनसुनवाई करते हुए ज्यादातर मामलों का मौके पर ही निस्तारण किया। बैठक में सीएम सैल के पेंडिंग मामलों की समीक्षा करते हुए पेंडिंग मामलों को जल्द से जल्द निस्तारण के जिला कलक्टर ने निर्देश दिए। इस दौरान जिला कलक्टर ने सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों एसडीएम, बीडीओ, तहसीलदार समेत अन्यों को निर्देशित किया कि कोरोना को लेकर जो नई गाइड लाइन सरकार ने जारी की है। उसका संबंधित क्षेत्र में अक्षरश पालना सुनिश्चित करें। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए पुलिस, प्रशासन के अधिकारी संयुक्त रूप से कोरोना गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित कराएं। जो लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं उनके तत्काल जुर्माना लगाएं। साथ ही इसकी रिपोर्ट भी सभी ब्लॉक मुख्यालय से जिला मुख्यालय भिजवाना सुनिश्चित करें। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को प्रेरित करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों के टीकाकरण किया जा सके। उन्होने निर्देश दिए कि 1 अप्रैल से शुरू हुई चिरंजीवी योजना के अंतर्गत सभी ब्लॉक में ज्यादा से ज्यादा लोगों का रजिस्ट्रेशन करवाएं। सतर्कता समिति की बैठक में पत्रकार श्री गुरदेव सैनी के द्वारा हनुमानगढ़ से वाया पीलीबंगा होते हुए सूरतगढ़ तक टोल रोड़ के किनारे संबंधित ठेका कंपनी के द्वारा पौधे नहीं लगाए जाने को लेकर दर्ज अभियोग की सुनवाई के दौरान वन विभाग के अधिकारी द्वारा आधी-अधूरी सूचना प्रस्तुत किए जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि आगामी बैठक में सभी जिला स्तरीय अधिकारी ही बैठक में आएं। अगर वो किसी कारणवश ना आ सके तो जिस भी अधिकारी को बैठक में भेजे, पूरी तैयारी के साथ भेजे। कस्टोडियन भूमि अलोटमेंट को लेकर आए एक मामले में विधायक के साथ बैठक आयोजित नहीं करवा पाने की बात सामने आई तो संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी ने इन मामलों को लेकर विधायकों की बैठक आयोजित करवाने का आग्रह किया तो जिला कलक्टर ने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे आगामी एक सप्ताह में विधायकों के साथ बैठक आयोजित करे। बैठक में हनुमानगढ़ विधायक चौधरी विनोद कुमार, संगरिया विधायक श्री गुरदीप शाहपीणी, जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन, सीईओ जिला परिषद श्री रामनिवास जाट, पूर्व प्रधान श्री दयाराम जाखड़, संगरिया व्यापार मंडल अध्यक्ष श्री कृष्ण जैन, डीएसओ श्री राकेश न्यौल, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, सहायक निदेशक लोक सेवाएं श्री ऋषभ जैन, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, अधीक्षण अभियंता पीएचईडी श्री पीसी मिढ्ढा, अधीक्षण अभियंता सिंचाई श्री देवीसिंह, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक श्री हंसराज, डीईओ प्रारंभिक श्री रामेश्वर लाल, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी, समाज कल्याण अधिकारी डॉ अभिषेक समेत विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, कलेक्ट्रेट के कार्यालय अधीक्षक श्री बृजमोहर सोखल मौजूद थे।
हनुमानगढ़। 1 अप्रेल 2021 से 45 से अधिक आयु के लोगों को कोविड-19 वैक्सीनेशन शुरू किया जाएगा। सीएमएचओ डाॅ. नवनीत शर्मा ने बताया कि निर्देशालय से मिले निर्देशानुसार आगामी 1 अप्रैल से 45 वर्ष से उच्च आयु के लोगों का वैक्सीनेशन किया जाना है। इसकी जानकारी मिलते ही खण्ड स्तर पर वैक्सीनेशन की तैयारियों किए जाने को लेकर आदेश जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि 27, 30 व 31 मार्च को अधिक से अधिक बुजुर्गों के वैक्सीनेशन किए जाएं। जिले में तृतीय चरण का कोविड-19 वैक्सीनेशन जारी है। जिले में आज 4840 बुजुर्गों ने वैक्सीनेशन करवाया। अब तक 72 हजार 568 बुजुर्ग वैक्सीनेशन करवा चुके हैं। डाॅ. रविशंकर शर्मा कोविड प्रभारी नियुक्त जिला क्षय रोग अधिकारी डाॅ. रविशंकर शर्मा को कोविड प्रभारी नियुक्त किया गया है। जिला कलक्टर जाकिर हुसैन के निर्देश पर सीएमएचओ डाॅ. नवनीत शर्मा ने आज यह आदेश जारी किए। इसके अलावा एसीएमएचओ डाॅ. पवन कुमार को सहायक कोविड प्रभारी भी नियुक्त किया गया है। सीएमएचओ डाॅ. नवनीत शर्मा ने बताया कि डाॅ. रविशंकर शर्मा व डाॅ. पवन कुमार कोविड की शुरूआत से ही इसके नियंत्रण के लिए कार्य कर रहे हैं। डाॅ. रविशंकर शर्मा व डाॅ. पवन कुमार चिकित्सा संस्थानों के साथ-साथ पीएमओ डाॅ. दीपकमित्र सैनी के निर्देशन में समन्वय स्थापित कर जिला अस्पताल में भी कोविड से बचाव, संक्रमण व रोकथाम के लिए कार्य करेंगे।
हनुमानगढ़। जिलेवासियों को चिकित्सा सुविधाएं एवं व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नवनीत शर्मा ने आज खण्ड टिब्बी में चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण किया। उन्होंने आज सीएचसी टिब्बी व सिलवाला खुर्द पीएचसी का निरीक्षण किया। डॉ. नवनीत शर्मा ने चिकित्सा संस्थान में कोविड-19 वैक्सीनेशन, लाभार्थियों को कोविड संबंधी दी जाने वाली सुविधाएं, चिकित्सा विभाग के सभी कार्यक्रमों एवं योजना की स्थिति के बारे में चिकित्सा अधिकारी प्रभारी से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि चिकित्सा संस्थान में सभी नागरिकों एवं मरीजों के समय पर सुविधा मिले, यही विभाग का अहम उद्देश्य है। उन्होंने कोल्ड चैन प्वाईंट, निःशुल्क दवा योजना, निःशुल्क जांच योजना, ओपीडी, लेबर रूम, संस्थागत प्रसव, मेडिकल बायो वेस्ट निस्तारण, साफ-सफाई, दवाइयों की जांच, स्वास्थ्य केन्द्र में उपयोग हो रहे मेडिकल उपकरणों की स्थिति, उनकी साफ-सफाई, आरसीएच रजिस्टर, परिवार कल्याण, आरसीएच सेवाओं का भौतिक सत्यापन किया गया। उन्होंने टिब्बी में मोर्चरी बनाए जाने वाली जगह का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अपूर्ण रिकॉर्ड को जल्द से जल्द पूर्ण कर इसकी रिपोर्ट कार्यालय में भिजवाने के लिए निर्देशित किया गया। कार्यालय स्टॉफ की आपात बैठक लेते हुए उन्होंने निर्देश दिए कि चिकित्सा संस्थान का स्टॉफ समय पर अपने-अपने कार्यालय पहुंचे, ताकि किसी को भी स्वास्थ्य सेवाएं के लिए इन्तजार ना करना पड़े।
हनुमानगढ़। चिकित्सा विभाग की ओर से मिलावटी खाद्य पदार्थों पर अंकुश लगाने के लिए निरीक्षण की कार्यवाही की जा रही है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आज भादरा क्षेत्र में पांच खाद्य पदार्थों के सैम्पल भरे गए। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आज चिकित्सा विभाग द्वारा भादरा में निरीक्षण अभियान किया। खाद्य निरीक्षण जीतसिंह यादव के साथ सरस डेयरी से सौरभ कुमार व हीरावल्लभ ने खाद्य सामग्री का बेचान करने वाले संस्थानों का निरीक्षण किया एवं सैम्पल भी भरे। आज शुक्रवार को भादरा में से चाय, आटा, दूध, सरसों का तेल, व बेसन का सैम्पल भरा गया। इन्हें जांच के लिए बीकानेर स्थित लैब में भिजवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत लगातार निरीक्षण की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने आमजन से अपील की कि जिले में अगर कहीं पर भी मिलावटी खाद्य सामग्री का बेचान किया जाता है, तो उसकी सूचना चिकित्सा विभाग को आवश्यक रूप से दें।
हनुमानगढ़। चिकित्सा विभाग की ओर से मिलावटी खाद्य पदार्थों पर अंकुश लगाने के लिए निरीक्षण की कार्यवाही की जा रही है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आज भादरा क्षेत्र में पांच खाद्य पदार्थों के सैम्पल भरे गए। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आज चिकित्सा विभाग द्वारा भादरा में निरीक्षण अभियान किया। खाद्य निरीक्षण जीतसिंह यादव के साथ सरस डेयरी से सौरभ कुमार व हीरावल्लभ ने खाद्य सामग्री का बेचान करने वाले संस्थानों का निरीक्षण किया एवं सैम्पल भी भरे। आज शुक्रवार को भादरा में से चाय, आटा, दूध, सरसों का तेल, व बेसन का सैम्पल भरा गया। इन्हें जांच के लिए बीकानेर स्थित लैब में भिजवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत लगातार निरीक्षण की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने आमजन से अपील की कि जिले में अगर कहीं पर भी मिलावटी खाद्य सामग्री का बेचान किया जाता है, तो उसकी सूचना चिकित्सा विभाग को आवश्यक रूप से दें।
- ट्रांसफर किए गए 56 लाख 41 हजार 718 रूपए हनुमानगढ़। आशा सहयोगिनियों को चिकित्सा विभाग द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों में कार्य करने पर आज आशा सॉफ्ट सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऑनलाइन राशि ट्रांसफर की गई। डीएनओ सुदेश जांगिड़ ने बताया कि जिले की 1050 आशाओं को उनके द्वारा किए गए कार्यों के लिए 56 लाख 41 हजार 718 रूपए की राशि उनके अकाउंट में ट्रांसफर की गई। सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने आशा सॉफ्ट सॉफ्टवेयर के जरिए आशाओं के खाते में राशि हस्तांतरित की।

Top News