taaja khabar.....इंडोनेशिया के पहले दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी, भारतीय नौसेना को मिल सकता है बड़ा तोहफा.....पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, 1 बीएसफ जवान शहीद....कानूनी पैंतरे और लिंगायत कार्ड से विपक्षी विधायकों का समर्थन हासिल करेगी BJP?....कर्नाटक: सियासी उठापटक के बीच हैदराबाद पहुंचे कांग्रेस-जेडीएस के विधायक...रमजान में नो ऑपरेशन फैसले के बाद सेना की टेंशन पत्थरबाजों से निपटना...पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नेता ने सेना पर लगाए आरोप, नवाज शरीफ का किया समर्थन....नवाज के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की याचिकाएं खारिज.....अयोध्या मामला: 'राम की जन्मभूमि कहीं और शिफ्ट नहीं हो सकती'...रेलगाड़ियों के फ्लेक्सी फेयर में एक जून से मिल सकती है छूट...J&K: रमजान के पहले दिन आतंकियों ने की युवक की हत्या..

Hanumangarh


हनुमानगढ़, 22 मई। जिला कलक्टर श्री दिनेश चंद जैन ने जिले में ड्रीप इरीगेशन और फॉर्म पोंड को बढा़वा देने के निर्देश कृषि अधिकारियों को दिए हैं। मंगलवार को जिला कलक्टर ने कृषि विभाग के अधिकारियों से चर्चा करते हुए ये निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में पानी का बेहतर मैनेजमेंट करें ताकि पानी कम आए या ज्यादा आए, दोनों ही स्थितियों में किसानों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। जिला कलक्टर ने कहा कि होर्टिकल्चर में जिले में क्या नवाचार हो सकता है उसको लेकर अधिकारी समय समय पर इस पर कार्य करें। जिला कलक्टर ने मंगलवार को कृषि विभाग समेत ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, उद्योग, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक मामलात, एससीएसटी निगम समेत विभिन्न विभागों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को जिले में आम जनता के लिए कार्य करने के लिए निर्देशित किया। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान को लेकर भी जिला कलक्टर ने कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान को कहा। बैठकों में जिला कलक्टर के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री गोपाल बिरदा, जीएम डीआईसी श्री हरीश मित्तल, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, समाज कल्याण के डीडी श्री विक्रम सिंह, अल्पसंख्यक कल्याण के श्री अमरसिंह ढाका, एसई वाटरशैड श्री भूपसिंह, मनरेगा एईएन श्री छगनलाल, समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
रोडवेज बस स्टैंड पर पानी और बैठने की उत्तम व्यवस्था करें- कलक्टर
न्याय आपके द्वार में भूमि रूपांतरण करके ही पट्टे जारी करें- मुख्य सचिव
दुलमाना में 26 मई को लगेगा फसली ऋण माफी का पहला शिविर
बीसूका बैठक 31 मई को

Ganganagar


श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर जिले की नहरों में पंजाब से कैमिकलयुक्त पानी आने के मामले को लेकर भाजपा पार्टी के पदाधिकारी बेहद गंभीर हैं ओर इस समस्या के निराकरण को लेकर हर संभव प्रयास कर रहे हैं। इसी को लेकर आज भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्र्ता एक दिवसीय दौरे पर श्रीगंगानगर आये केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल से होमलैंड सिटी के आगे मिले ओर पंजाब से आ रहे कैमिकलयुक्त पानी से निजात दिलाने की मांग केन्द्रीय राज्यमंत्री से की। जिस पर इस मामले को गंभीरता से लेते हुए केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल ने कल बुधवार सुबह इस मामले को लेकर केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ओर केन्द्रीय जल प्राधिकरण के केेन्द्रीय विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर विस्तार से चर्चा करके मामले के निराकरण कराने की बात कहीं। वहीं केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल ने भाजपा पदाधिकारियों के साथ गंगनहर का भी जायजा लिया ओर कैमिकलयुक्त पानी आने को लेकर इस मामले को गंभीर माना। इस दौरान केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल ने भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को बुधवार को होने वाली इस महत्वपूर्ण बैठक में शामिल होने के लिये दिल्ली आने का न्यौता दिया। जिस पर श्रीगंगानगर से भाजपा पार्टी की ओर से भाजपा जिला उपाध्यक्ष प्रहलादराय टाक व भाजपा देहात मंडल अध्यक्ष सुभाष देवर्थ के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम मंगलवार शाम को दिल्ली के लिये रवाना हुई। वहीं केन्द्रीय राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल से मिलने वालों में भाजपा जिला उपाध्यक्ष प्रहलादराय टाक, भाजपा देहात मंडल अध्यक्ष सुभाष देवर्थ, शहर मंडल अध्यक्ष प्रदीप धेरड़, महामंत्री संजीव सैनी, महिला मोर्चा महामंत्री रीना महंत, महिला मोर्चा महामंत्री प्रभा शर्मा, भाजपा एससी मोर्चा के अध्यक्ष ओमी नायक, व्यापारी नेता हनुमान गोयल, अजय चड्ढा, श्रमिक नेता लीलाधर पटवा सहित काफी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता तथा गणमान्य लोग मौजूद थे।
श्रीगंगानगर में हिस्ट्रीशीटर जॉर्डन को जिम में गोलियों से भूना
-पंचायती धर्मशाला में सर्वदलीय सभा का आयोजन, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल के घेराव और 29 को कलक्टरी पर प्रदर्शन का फैसला
दी गंगानगर क्लब के अध्यक्ष यश रिंकू मिड्ढ़ा 21 को लेंगे शपथ
भगत के वश में है भगवान : श्रीहित मोहन महाराज

business and job


बेंगलुरु देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट आज वॉलमार्ट के हाथों बिक गई। वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट के शीर्ष अधिकारियों की बेंगलुरु में हुई टाउनहॉल मीटिंग में वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट के 70% शेयरों को करीब साढ़े नौ खरब रुपये में खरीदने का सौदा तय कर लिया। सॉफ्टबैंक के सीईओ मासायोशी सन ने इसकी पुष्टि की है। इस मीटिंग में वॉलमार्ट के सीईओ डग मैकमिलन समेत दोनों कंपनियों के शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे। करीब 13 खरब रुपये मूल्य के फ्लिपकार्ट और दुनिया की सबसे बड़ी रिटले चेन वॉलमार्ट के बीच की हुई यह डील भारत के सबसे बड़े विलय और अधिग्रहण समझौतों में एक है। खबरों के मुताबिक, अब मैकमिलन दिल्ली रवाना आनेवाले हैं, जहां वह शीर्ष सरकारी अधिकारियों से मुलाकात करके उन्हें वॉलमार्ट की भविष्य की योजनाओं की जानकारी देंगे। इस डील के बाद भी फ्लिपकार्ट के अपने दो फाउंडरों में एक बिन्नी बंसल के नेतृत्व में ही संचालित होगा। हालांकि, दूसरे फाउंडर सचिन बंसल कंपनी में अपनी पूरी 5.5% की हिस्सेदारी बेचकर बाहर होने का फैसला लिया है। फ्लिपकार्ट के शुरुआती निवेशकों में रहे टाइगर ग्लोबल और एस्सेल पार्टनर्स की भी टेंसेंट के साथ अपनी छोटी-छोटी हिस्सदेरियां बरकरार रहेंगी। फ्लिपकार्ट का 20% शेयरधारक जापान का सॉफ्टबैंक भी वॉलमार्ट को अपने शेयर बेचकर कंपनी से निकल जाएगा। खबरों की मानें तो न्यूयॉर्क का हेज फंड टाइगर ग्लोबल और अमेरिका की ही प्राइवेट इक्विटी फंड एसेल पार्टनर्स भी अपनी हिस्सेदारी भी बेच देंगे। नैस्पर्स लि., चीन की टेंसेंट होल्डिंग्स लि., ईबे इंक और माइक्रोसॉफ्ट वॉलमार्ट के मालिकाना हक वाले फ्लिपकार्ट में भी बने रहेंगे। सूत्रों ने बताया कि वॉलमार्ट की योजना भारत में कारोबार के विस्तार की है। इसके लिए वह 50 से 60 लाख किराना स्टोर्स से गठजोड़ करके उनके आधुनिकीकरण में मदद करेगा ताकि ये स्टोर्स वॉलमार्ट की संपूर्ण सप्लाइ चेन का हिस्सा बन जाएं। वॉलमार्ट किराना स्टोर्स के साथ पार्टनरशिप के जरिए भारतीय ग्राहकों को खुद से जोड़ना चाहती है। वॉलमार्ट की भविष्य की योजनाओं से अवगत एक सूत्र के मुताबिक, वॉलमार्ट डिजिटल पेमेंट्स और अन्य क्षेत्रों की तकनीक पर भारी-भरकम निवेश करनेवाला है। कहा जा रहा है कि वॉलमार्ट के सीईओ डग मैकमिलन शीर्ष सरकारी अधिकारियों के साथ मुलाकात में कंपनी के भारत में 'पिछले दरवाजे से प्रवेश' को लेकर पैदा हुए डर पर भी अपनी स्थिति स्पष्ट करेंगे। ध्यान रहे कि भारत सरकार ने देश में किसी विदेशी रिटेरलर कंपनी को स्टोर खोलने की इजाजत नहीं दी है। कर्नाटक चुनाव की तैयारियां अंतिम चरण में पहुंच रही हैं। ऐसे में बीजेपी सरकार का तंत्र इस तरह का कोई सिग्नल नहीं देना चाहता है जिससे यह संदेश जाए कि इस डील को उसका समर्थन प्राप्त है। ऐसा हुआ तो व्यापारी वर्ग नाराज होगा जिसे बीजेपी का ताकतवर वोट बैंक माना जाता है।
बाजार की गिरावट पर ब्रेक, सेंसेक्स 293 अंक बढ़ा, निफ्टी 10700 के पार बंद
बैंक ऑफ बड़ौदा में निकली है बेहतरीन नौकरी, जल्दी करें अप्लाई
SBI PO भर्ती 2018: 2000 वेकंसी, यूं करें आवेदन
पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ने से सोना महंगा, चांदी की भी चमक बढ़ी

Top News

http://www.hitwebcounter.com/