taaja khabar..कोयले की कमी, बिजली कटौती, पीएम से गुहार लगाते सीएम... लेकिन ऊर्जा मंत्री बोले- सब चंगा सी..बलूचों के हमलों से डरे चीन-पाकिस्‍तान, ग्‍वादर नहीं अब कराची को बनाएंगे CPEC का हब..आशीष मिश्रा 'मोनू' को रिमांड पर लेगी पुलिस, कल कोर्ट में अर्जी डालेगी लखीमपुर खीरी की पुलिस टीम..केंद्रीय मंत्री बोले, बिजली आपूर्ति बाधित होने का खतरा बिल्कुल नहीं, पर्याप्त मात्रा में मौजूद है कोयले का स्टाक...बसपा तथा कांग्रेस के आधा दर्जन से अधिक पूर्व विधायक व एमएलसी भाजपा में शामिल..बसपा तथा कांग्रेस के आधा दर्जन से अधिक पूर्व विधायक व एमएलसी भाजपा में शामिल..

Hanumangarh


हनुमानगढ़ हनुमानगढ़ के प्रेमपुरा गांव में आधा दर्जन युवाओं ने एक लड़के की लाठी से पीट-पीटकर हत्या कर दी। 3 युवक इस घटना का वीडियो बनाते रहे। हत्या के बाद शव उसी के घर के बाहर फेंककर चले गए। यह वारदात 7 अक्टूबर की है। मरने वाले का नाम जगदीश है। वीडिया वायरल हुआ तो पुलिस हरकत में आई और 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। गुस्साए परिजनों ने 2 दिन तक पोस्टमॉर्टम नहीं कराया। वीडियो में आरोपियों के चेहरे साफ दिख रहे हैं, फिर भी पुलिस ने गिरफ्तारी नहीं की। इसके लिए परिजनों को शनिवार को आंदोलन करना पड़ा। दबाव बढ़ा तो अब पुलिस ने मात्र 3 आरोपियों को हिरासत में लिया है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि एक युवक को कुछ लड़कों ने अपने घुटनों से दबा रखा है। एक लड़का उसकी कमर और पैरों के पास ताबड़तोड़ वार कर रहा है। गुरुवार को हुई वारदात के बाद शनिवार को मृतक के परिजनों ने धरना खत्म किया। मृतक जगदीश चुनाई मिस्त्री का काम करता था। केंद्गीय जल शक्ति मंत्री ने किया ट्वीट केंद्गीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि राहुल जी आप लखमीपुर की चिंता न करें। वहां योगी जी का शासन है। आपके प्रिय गहलोत जी का नहीं! आप राजस्थान के प्रेमपुरा में इस दलित युवक की हत्या पर कुछ कहने की हिम्मत दिखाएं, ताकि जनता को मालूम हो कि आप कितने सच्चे हैं? दो दिन बाद धरना खत्म एसडीएम रंजीत कुमार ने बताया कि प्रेमपुरा हत्याकांड मामले में शनिवार दोपहर बाद जगदीश के परिजनों से प्रशासन की बातचीत हुई। वार्ता में जगदीश के हत्यारों व उसकी हत्या करने की साजिश में शामिल आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी करवाने, मामले की निष्पक्ष जांच एवं पीड़ित परिवार को नियमानुसार आर्थिक सहायता मुहैया करवाने की मांग रखी गई। तीनों मांगों पर सहमति बनने पर पीड़ित परिवार शव ले जाने को तैयार हुआ। तीन आरोपियों को हिरासत में लिया पीलीबंगा थाना प्रभारी इंद्रकुमार ने बताया कि अभी तक इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी मुकेश पुत्र हेतराम, ओमप्रकाश उर्फ शिवप्रकाश उर्फ नेन्हो पुत्र भागीरथ और हंसराज पुत्र काशीराम निवासी प्रेमपुरा को हिरासत में लिया गया है। शेष फरार आरोपियों की धरपकड़ के लिए दो टीमें गठित की गई हैं। फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए उनके परिजनों को भी हिरासत में लिया है। शीघ्र ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर लिया जाएगा। विनोद, मुकेश, लालचंद उर्फ रामेश्वर, सिकंदर, दलीप ओड, गंगाराम, महेंद्र, इंद्राज, ओमप्रकाश उर्फ नेन्हों, सुमन, हंसराज ओड के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
PM Modi बोले - राजस्थान का सामर्थ पूरे देश को देता है प्रेरणा, आज हम 6 एम्स से 22 पर पहुंचे
हनुमानगढ़,सिरोही, बांसवाड़ा एवं दौसा मेें नवीन राजकीय मेडिकल कॉलेजों का शिलान्यास
मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास हनुमानगढ़ जिले के लिए ऐतिहासिक दिन- चौ. विनोद कुमार
राजस्थान पूरे देश में मेडिकल कॉलेज खोलने में नंबर वन स्थान पर है-उच्च शिक्षा राज्यमंत्री

hot news


नई दिल्ली, 10 अक्टूबर 2019,जब से अमित शाह ने गृह मंत्री का कार्यभार संभाला है, तभी से गृह मंत्रालय हमेशा से ही चर्चा का विषय बना हुआ है. गृह मंत्रालय कब क्या कर रहा है, इसपर हर किसी की नज़र है. राष्ट्रपति भवन के पास नॉर्थ ब्लॉक में मौजूद गृह मंत्रालय के दफ्तर में अब चप्पे-चप्पे नज़र रखी जा रही है, दफ्तर में हर जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. इस मामले में ताजा अपडेट ये है कि पिछले हफ्ते से CCTV कैमरे लगने की शुरुआत जो हुई है अभी तक मंत्रालय की अहम लोकेशन पर पूरी हो चुकी है. नॉर्थ ब्लॉक-साउथ ब्लॉक में मौजूद दफ्तरों पर सुरक्षा काफी कड़ी रहती है, इसी के तहत यहां पर इन सभी काम को किया जा रहा है. गृह मंत्रालय की पूरी सुरक्षा CISF के हाथ में है, जो कि इन CCTV कैमरों की मदद से हर किसी पर नजर रखेंगे. CISF ने इनके अलावा बॉडी कैमरा, एक्स-रे मशीन और मेटल डोर डिटेक्टर भी सुरक्षा में तैनात किए हुए हैं. इनमें काफी सीसीटीवी कैमरे पहले फ्लोर पर लगेंगे, जहां पर गृह मंत्री, गृह राज्य मंत्री, गृह सचिव, सीबीआई डायरेक्टर, IB चीफ, ज्वाइंट सेक्रेटरी रहते हैं. गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक, इसे A रूटीन अपग्रेडशन कहा जाता है. ना सिर्फ गृह मंत्रालय बल्कि CCTV के कैमरे अब वित्त मंत्रालय में भी लगाए जा रहे हैं. CCTV से क्या होगा? साफ है कि इन कैमरों के लग जाने के बाद गृह मंत्रालय के हर कोने पर नज़र रहेगी और ये भी पता चलता रहेगा कि कौन किससे मिल रहा है. खास बात ये है कि मंत्रालय में मौजूद मीडिया रूम में भी कैमरे लगाए गए हैं, यानी कौन पत्रकार कब किससे मिल रहा है इसपर भी मंत्रालय की नज़र रहेगी. गृह मंत्रालय में हो रहे इस बदलाव पर मंत्रालय के अफसरों ने भी खुशी जताई है और इस बात का जिक्र किया है कि अब कौन-कब आ रहा है, इसपर आसानी से नज़र रखी जा सकेगी.
66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का ऐलान, अंधाधुन बेस्ट हिंदी फिल्म, आयुष्मान और विकी कौशल बेस्ट ऐक्टर
विवादित वीडियो मामला: मुश्किल में एजाज खान, कोर्ट ने 1 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा
आर्टिकल 15 रिलीज, लोग बोले- आयुष्मान खुराना की एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म
जल्द इंड‍िया लौट रहे हैं ऋषि कपूर, इस फिल्म में जूही चावला संग करेंगे काम

rajasthan


जयपुर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गांधी जयंती पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में एक तीर से दो शिकार किए हैं। विपक्ष को जवाब देने के साथ साथ उन्होंने पायलट खेमे को भी जवाब दे दिया। गहलोत ने कहा कि प्रदेश में उनकी सरकार पूरे 5 साल चलेगी और रिपीट भी होगी। उन्होंने यह भी कह दिया कि शांति धारीवाल को फिर से नगरीय विकास मंत्री बनाऊंगा। इस बयान से उन्होंने पायलट खेमे को आईना भी दिखा दिया कि अगली बार भी मुख्यमंत्री वे ही बनेंगे। उन्होंने साफ किया कि उनकी मुख्यमंत्री की कुर्सी को कहीं कोई खतरा नहीं है। विपक्ष के साथ पायलट खेमे को भी जवाब विपक्ष लगातार यह आरोप लगाता रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कमरे में बंद रहते हैं, बाहर ही नहीं निकलते। इसी का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पलटवार किया। पायलट खेमे की ओर इशारा करते हुए यह भी कह दिया कि जिनके दर्द हो रहा है उनकी वे जाने। केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अमित शाह, धर्मेंद्र प्रधान और अन्य लोगों की कृपा से हम 34 दिन होटलों में रहे, तो बंद कैसे रहे। आप लोगों की बड़ी कृपा रही। हमारे विधायकों की कृपा से वो टाइम भी निकल गया। गहलोत बोले- कोई दुखी हो तो हों, मैं कही जाने वाला नहीं हूं 'प्रशासन शहरों के संग' अभियान के शुभारंभ के दौरान अपने विरोधियों को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे 15-20 साल कुछ नहीं होने वाला है, यदि कोई दुखी हो तो हों, मैं कही जाने वाला नहीं हूं। ये सरकार पांच साल चलेगी और दोबारा भी हमारी ही सरकार बनेगी। स्वायत्त शासन मंत्री के शानदार काम को देखते हुए शांति धारीवाल को चौथी बार यूडीएच मंत्री बनाऊंगा। गहलोत ने कहा कि जनता खुद कहती हैं कि राजस्थान में कहीं भी एंटीइनकम्बेंसी नहीं है, हां हमारे पार्टी के कुछ साथी जरूर लाइन पार कर देते है। प्रदेश की जनता कांग्रेस की ही सरकार बनाएगी। 'हमारे कुछ साथी इधर-उधर की बात करते हैं' सीएम गहलोत ने कहा कि अभी तक सरकार के खिलाफ कोई एंटी इंकम्बेंसी पैदा नहीं हुई है। कुछ हमारे पार्टी के साथी जरूर इधर उधर की बात कई बार कर देते हैं। हमने काम में कोई कमी नहीं रखी। पता नहीं आगे क्या होगा, लेकिन इस बार जनता का मूड वापसी का है। दो बार में एक बार हम 56 पर आए, दूसरी बार 21 पर। हमने दोनों बार काम में कोई कसर नहीं रखी थी। अब लगता है रिपीट होंगे। उप चुनाव के दौरान कोरोना में ही मैनेें तो प्रतिपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया को सलाह दी थी कि वे बाहर नहीं जाएं लेकिन वे राजसमंद गए क्यों कि किरण माहेश्वरी सीट उन्हें हरवानी थी। माहेश्वरी को स्वर्गवास के बाद भी निपटाना था। गहलोत ने कहा कि वे तो सबको कह रहे थे कि अभी बचाव करें और बाहर नहीं निकलें। बीजेपी-RSS ने 60 साल बाद गांधी को अपनाया सीएम गहलोत ने कहा कि विपक्ष के साथियों को हम साथ लेकर चलते हैं। बीजेपी-आरएसएस ने 60 साल बाद गांधी को अपनाया है। गांधी की हत्या करने वाला भी इन्हीं की विचारधारा का था। मोहन भागवत, पीएम मोदी और अमित शाह से कहना चाहूंगा कि वे अब देश से माफी मांगे या न मांगें, लेकिन आपके दिल में वही भाव आने चाहिए, जिसकी आप शपथ लेते हो।
अलवर में समुदाय विशेष के दो लोगों ने की दलित युवक की हत्या, भाजपा ने कानून-व्यवस्था पर उठाए सवाल
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई से ईडी ने की पूछताछ
राजस्थान में सत्ता और संगठन में बदलाव की योजना तैयार, जयपुर से दिल्ली तक बढ़ी सक्रियता
सचिन पायलट ने पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनने से किया इंकार

bahut kuchh


लखनऊ,उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की आहट के बीच में नेताओं का पाला बदलने का क्रम जारी है। समाजवादी पार्टी के बाद अब बड़ी संख्या में नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं। भाजपा प्रदेश मुख्यालय में रविवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ भाजपा के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने विभिन्न दलों से आने वाले नेताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाई। भाजपा उत्तर प्रदेश के मुख्यालय में रविवार को विभिन्न राजनीतिक दलों के आए 17 नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने इन सभी को भाजपा की सदस्यता दिलाई। इस अवसर पर स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश तो उत्तम प्रदेश बन रहा है। प्रदेश में चौतरफा विकास होने के साथ ही कानून का राज स्थापित हुआ है। हमारी सरकार के कार्यकाल में सभी योजना का लाभ एक-एक व्यक्ति को मिला है। अब तो लक्ष्य 2024 तक हर गरीब को पक्का मकान का है। गोरखपुर जिले के सहजनवा और महराजगंज के पनियरा से विधायक रहे पूर्व राज्यमंत्री देव नारायण सिंह उर्फ जीएम सिंह ने बसपा से इस्तीफा देने के बाद नया ठिकाना भाजपा में खोज लिया है। वह भाजपा में शामिल होने का मौका तलाश रहे थे। पूर्व विधायक जीएम सिंह ने बसपा से इस्तीफे की सूचना फेसबुक पर भी शेयर की। इनके साथ ही सहारनपुर नगर से बहुजन समाज पार्टी से विधायक रहे मुकेश दीक्षित भी आज भाजपा में शामिल हो गए। बहुजन समाज पार्टी से विधान परिषद सदस्य रहे बिजनौर के सुबोध पाराशर पूर्व जिला पंचायत सदस्य रहीं अपनी पत्नी गायत्री पाराशर के साथ भाजपा में शामिल हो गए। कुशीनगर के हाटा से बसपा नेता वीरेन्द्र सिंह सैथवार के साथ ही बाराबंकी के हैदरगढ़ से कांग्रेस के टिकट पर 2012 में चुनाव लड़े आरके चौधरी ने भाजपा ज्वाइन की। सोनभद्र के दुद्धी से निर्दलीय विधायक रहीं रूबी प्रसाद, हरदोई से बसपा के पूर्व विधायक वीरेन्द्र कुमार पासी, आगरा में बसपा से विधायक रहे सूरज पाल, वाराणसी के रोहनियां से बसपा नेता डॉ.भावना पटेल, बुलंदशहर से राष्ट्रीय लोकदल के नेता वीरेन्द्र सिंह लौर, चौधरी प्रताप सिंह तथा वाराणसी के युवा सपा नेता शुभम गुप्ता ने भाजपा की सदस्यता ली। भाकियू के मंडल महासचिव राजू अहलावत भाजपा में शामिल मुजफ्फरनगर से भाकियू के मंडल महासचिव राजू अहलावत ने भाजपा का दामन थाम लिया है। लखनऊ में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दी। भाकियू ने रविवार को अपनी प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा की है, जिसमें राजू अहलावत को शामिल नहीं किया। इससे आहत राजू अहलावत ने भाकियू को अलविदा कहा है। दो वर्ष पहले राजू अहलावत को भाकियू हाईकमान ने जिलाध्यक्ष पद से हटा दिया था। उनके समर्थकों ने इसका विरोध किया था, लेकिन तब राजू अहलावत ने खुलकर कुछ नहीं कहा था। अब प्रदेश कार्यकारिणी में स्थान नहीं मिलने से आहत होकर उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया। जल्द ही उनके समर्थक भी भाजपा में शामिल होंगे।
केंद्रीय मंत्री बोले, बिजली आपूर्ति बाधित होने का खतरा बिल्कुल नहीं, पर्याप्त मात्रा में मौजूद है कोयले का स्टाक
आशीष मिश्रा 'मोनू' को रिमांड पर लेगी पुलिस, कल कोर्ट में अर्जी डालेगी लखीमपुर खीरी की पुलिस टीम
कोयले की कमी, बिजली कटौती, पीएम से गुहार लगाते सीएम... लेकिन ऊर्जा मंत्री बोले- सब चंगा सी
हरियाणा सरकार की अर्जी पर SC ने राकेश टिकैत सहित 40 से ज्‍यादा किसान संगठनों को जारी किया नोटिस,

weather


desh videsh


नई दिल्ली,कोरोना काल में एक बार फिर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के लिए दो अहम घोषणाएं की हैं। ये घोषणाएं कोरोना के खिलाफ चल रहे युद्ध के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण हैं। प्रधानमंत्री ने पहली घोषणा की कि 21 जून से 18 वर्ष से ऊपर की आयु के देश के सभी नागरिकों को वैक्सीन मुफ्त लगेगी। केंद्र सरकार, प्रत्येक राज्य को इसके लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद खरीदेगी और फिर इसे राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। दूसरी महत्पूर्ण घोषणा 'प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना' को अब दीपावली तक आगे बढ़ाने की हुई है। मतलब नवंबर-2021 तक केंद्र सरकार 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध कराएगी। विस्तार से पढ़ें प्रधानमंत्री के संबोधन की प्रमुख बातें देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, कोरेाना की दूसरी लहर की लड़ाई जारी है। अन्य देशों की तरह भारत इस पीड़ा से गुजरा है। कई लोगों ने अपने परिजनों को खोया है। बीते सौ वर्षों में आई ये सबसे बड़ी महामारी है, त्रासदी है। इस तरह की महामारी आधुनिक विश्व ने न देखी थी, न अनुभव की थी। इतनी बड़ी वैश्विक महामारी से हमारा देश कई मोर्चों पर एक साथ लड़ा है। नरेंद्र मोदी ने कहा कि सेकेंड वेव के दौरान अप्रैल और मई के महीने में भारत में मेडिकल ऑक्सीजन की डिमांड अकल्पनीय रूप से बढ़ गई थी। भारत के इतिहास में कभी भी इतनी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत महसूस नहीं की गई। इस जरूरत को पूरा करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया गया। सरकार के सभी तंत्र लगे। उन्होंने कहा, आज पूरे विश्व में वैक्सीन के लिए जो मांग है, उसकी तुलना में उत्पादन करने वाले देश और वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां बहुत कम हैं। कल्पना करिए कि अभी हमारे पास भारत में बनी वैक्सीन नहीं होती तो आज भारत जैसे विशाल देश में क्या होता? पीएम मोदी ने कहा, हर आशंका को दरकिनार करके भारत ने 1 साल के भीतर ही एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स लॉन्च कर दी। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश ने, वैज्ञानिकों ने ये दिखा दिया कि भारत बड़े-बड़े देशों से पीछे नही है। आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं तो देश में 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। उन्होंने कहा पिछले काफी समय से देश लगातार जो प्रयास और परिश्रम कर रहा है, उससे आने वाले दिनों में वैक्सीन की सप्लाई और भी ज्यादा बढ़ने वाली है। आज देश में 7 कंपनियाँ, विभिन्न प्रकार की वैक्सीन्स का प्रॉडक्शन कर रही हैं। तीन और वैक्सीन्स का ट्रायल भी एडवांस स्टेज में चल रहा है। राज्य सरकारों को लॉकडाउन की छूट क्यों नहीं मिल रही? One Size Does Not Fit All जैसी बातें भी कही गईं। पीएम मोदी ने कहा, देश में कम होते कोरोना के मामलों के बीच, केंद्र सरकार के सामने अलग-अलग सुझाव भी आने लगे, भिन्न-भिन्न मांगे होने लगीं। पूछा जाने लगा, सब कुछ भारत सरकार ही क्यों तय कर रही है? राज्य सरकारों को छूट क्यों नहीं दी जा रही? दूसरी तरफ किसी ने कहा कि उम्र की सीमा आखिर केंद्र सरकार ही क्यों तय करे? कुछ आवाजें तो ऐसी भी उठीं कि बुजुर्गों का वैक्सीनेशन पहले क्यों हो रहा है? भांति-भांति के दबाव भी बनाए गए, देश के मीडिया के एक वर्ग ने इसे कैंपेन के रूप में भी चलाया। इस बीच, कई राज्य सरकारों ने फिर कहा कि वैक्सीन का काम डी-सेंट्रलाइज किया जाए और राज्यों पर छोड़ दिया जाए। तरह-तरह के स्वर उठे। जैसे कि वैक्सीनेशन के लिए एज ग्रुप क्यों बनाए गए? प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल 16 जनवरी से शुरू होकर अप्रैल महीने के अंत तक, भारत का वैक्सीनेशन कार्यक्रम मुख्यत: केंद्र सरकार की देखरेख में ही चला। सभी को मुफ्त वैक्सीन लगाने के मार्ग पर देश आगे बढ़ रहा था। देश के नागरिक भी, अनुशासन का पालन करते हुए, अपनी बारी आने पर वैक्सीन लगवा रहे थे। आज ये निर्णय़ लिया गया है कि राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 प्रतिशत काम था, उसकी जिम्मेदारी भी भारत सरकार उठाएगी। ये व्यवस्था आने वाले 2 सप्ताह में लागू की जाएगी। इन दो सप्ताह में केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर नई गाइडलाइंस के अनुसार आवश्यक तैयारी कर लेंगी। उन्होंने कहा कि 21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे। सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी। एक अन्य महत्वपूर्ण घोषणा में पीएम मोदी ने कहा कि आज सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है। यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा, जो लोग भी वैक्सीन को लेकर आशंका पैदा कर रहे हैं, अफवाहें फैला रहे हैं, वो भोले-भाले भाई-बहनों के जीवन के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसी अफवाहों से सतर्क रहने की जरूरत है।
'मुझे जहर देकर मारने की कोशिश की गई'... ISRO के सीनियर वैज्ञानिक तपन मिश्रा का सनसनीखेज आरोप
योगी लाएंगे लव जिहाद पर कानून, सीधे विरोध-समर्थन से बच रहे हैं विपक्षी दल
प्रॉपर्टी कार्ड देकर बोले PM, तकलीफ हो तो भी बच्चों को पढ़ाइए, राजमिस्त्री बनने पर मजबूर मत करिए
शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी,

taaja khabar


taaja khabar...काला धनः भारत को स्विस बैंक में जमा भारतीयों के काले धन से जुड़ी पहली जानकारी मिली...SPG सिक्यॉरिटी पर केंद्र सख्त, विदेश दौरे पर भी ले जाना होगा सिक्यॉरिटी कवर, कांग्रेस बोली- निगरानी की कोशिश....खराब नहीं हुआ था इमरान का विमान, नाराज सऊदी प्रिंस ने बुला लिया था वापस ....करीबियों की उपेक्षा से नाराज हैं राहुल गांधी? ताजा घटनाक्रम और कुछ कांग्रेस नेता तो इसी तरफ इशारा कर रहे हैं....2 राज्यों के चुनाव से पहले राहुल गांधी गए कंबोडिया? पहले बैंकॉक जाने की थी खबर...2019 में चिकित्सा क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार का ऐलान, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से मिला...चीन सीमा पर तोपखाने की ताकत बढ़ा रहा भारत, अरुणाचल प्रदेश में तैनात करेगा अमेरिकी तोप....J-K: पुंछ में PAK ने की फायरिंग, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब ...राफेल में मिसाइल लगाने वाली कंपनी बोली, ‘भारत को मिलेगी ऐसी ताकत जो कभी ना थी’ ..

Top News