taaja khabar...चीन बॉर्डर पर तनाव के बीच राष्‍ट्रपति कोविंद से मिले पीएम मोदी, आधे घंटे तक हुई बातचीत...हुवावे बैन: अमेरिका-भारत से तनाव, चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के सपने को करारा झटका....सभी गुरुजनों को नमन...गुरु पूर्णिमा पर पीएम नरेंद्र मोदी ने दी बधाई;...सिर्फ 12 दिनों में तैयार हुआ DRDO का 1000 बिस्तरों का Covid-19 अस्पताल, देखने पहुंचे अमित शाह...चीन को राजनाथ सिंह की दो टूक- अस्पताल हो या बॉर्डर, तैयारी में हम पीछे नहीं रहते...कानपुर मुठभेड़: सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गया था पूरा मंजर? डीवीआर साथ लेकर भागा है हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे...गिरफ्तार गुर्गे ने खोला राज...फोन आने पर बुलाए गए थे 25-30 लोग, विकास दुबे ने खुद की थी फायरिंग...गलवान पर ही नहीं है चीन की लालची नजर, 250 द्वीपों पर कब्जे का प्लान ....

Hanumangarh


हनुमानगढ़, 5 जुलाई। गर्भवती महिलाओं को नगद सहायता देने के लिए बनाई गई योजना प्रधानमंत्री मातृृ वंदना योजना हनुमानगढ़ जिला पूरे प्रदेश में अव्वल आया है। वहीं सीकर दूसरे और झुंझुनूं तीसरे स्थान पर है। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने महिला एवं बाल विकास की पूरी टीम को इसके लिए बधाई दी है। महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक श्री प्रवेश सोलंकी ने बताया कि निदेशालय महिला एवं बाल विकास विभाग ने सितम्बर 2020 के जो लक्ष्य दिए थे, उसका जून तक का लेखा जोखा जारी किया गया है। हनुमानगढ़ को 26 हजार 166 का लक्ष्य दिया गया था जिसके विरूद्व हनुमानगढ़ जिले ने 32 हजार 325 ऑनलाइन फॉर्म भरवाकर यह उपलब्धि हासिल की है। हनुमानगढ़ द्वारा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में लक्ष्य की तुलना में करीब 124 प्रतिशत महिलाओं को सहायता प्रदान की है। श्री सोलंकी ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा डोर टू डोर सम्पर्क कर गर्भवती महिलाओं से फॉर्म भरवाए गये। जिन महिलाओं द्वारा प्रथम किश्त का लाभ ले लिया गया उन्हें द्वितीय एवं तृतीय किश्त से लाभान्वित करने हेतु टीकाकरणध्जन्म प्रमाण-पत्र आदि कार्य भी कार्यकर्ताओं द्वारा करवाये गये। सेक्टर स्तर पर मिशन मोड में फॉर्म की जांच करवाई गयी एवं वर्क फ्रोम होम के समय सभी फॉर्मो की ऑनलाईन फिडिंग संबंधित कार्मिकों द्वारा घर से की गई। बाल विकास परियोजना अधिकारियों के स्तर पर त्वरित गति से फॉर्मों की जांच कर योजना का लाभ दिलवाने हेतु अप्रूवल दिया गया ताकि कोविड-19 संकट के दौरान गर्भवती महिलाओं को लाभ मिल सकें एवं उनके पोषण के स्तर में सुधार हो सकें। श्री सोलंकी बताया की इस योजना के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से दंपति के प्रथम जीवित बच्चे पर कुल पांच हजार(5000ध्-ं) रूपये की सहायता तीन किश्तों में दी जाती है। प्रथम किश्त एक हजार (1000ध्-ंउचय) रूपये महिला के प्रथम गर्भवती होने पर एवं आंगनबाड़ी पर पंजीकरण करवाने पर। द्वितीय किश्त दो हजार (2000ध्-ं) रूपये गर्भावस्था के छः माह पूर्ण होने पर एवं कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच हो जाने पर। तृतीय किश्त भी दो हजार (2000ध्-ंउचय) रूपये बच्चे के जन्म के पश्चात बच्चे का प्रथम टीकारण चक्र (3) माह) पूर्ण होने पर एवं जन्म प्रमाण-ंपत्र लाने पर। सरकार की ओर से राषि देने के पीछे मंशा ये है कि आर्थिक तंगी क चलते गर्भवती महिलाओं का पोषण नही रूकना चाहिए।
कलक्टर-एसपी समेत 13 जिला स्तरीय अधिकारियों ने करवाया कोरोना टेस्ट
जिला कलक्टर ने मोहल्ले में घर-घर बांटे कोरोना जागरूकता के पंपलेट ताकि लोगों को कोरोना से बचाव को लेकर जागरूक कर सकें
4 जुलाई को कुल 396 सैंपल हनुमानगढ़ से बीकानेर भेजे
जिले भर में नुक्कड़ नाटक के जरिए दिया गया कोरोना जागरूकता का संदेश

hot news


नई दिल्ली, 10 अक्टूबर 2019,जब से अमित शाह ने गृह मंत्री का कार्यभार संभाला है, तभी से गृह मंत्रालय हमेशा से ही चर्चा का विषय बना हुआ है. गृह मंत्रालय कब क्या कर रहा है, इसपर हर किसी की नज़र है. राष्ट्रपति भवन के पास नॉर्थ ब्लॉक में मौजूद गृह मंत्रालय के दफ्तर में अब चप्पे-चप्पे नज़र रखी जा रही है, दफ्तर में हर जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. इस मामले में ताजा अपडेट ये है कि पिछले हफ्ते से CCTV कैमरे लगने की शुरुआत जो हुई है अभी तक मंत्रालय की अहम लोकेशन पर पूरी हो चुकी है. नॉर्थ ब्लॉक-साउथ ब्लॉक में मौजूद दफ्तरों पर सुरक्षा काफी कड़ी रहती है, इसी के तहत यहां पर इन सभी काम को किया जा रहा है. गृह मंत्रालय की पूरी सुरक्षा CISF के हाथ में है, जो कि इन CCTV कैमरों की मदद से हर किसी पर नजर रखेंगे. CISF ने इनके अलावा बॉडी कैमरा, एक्स-रे मशीन और मेटल डोर डिटेक्टर भी सुरक्षा में तैनात किए हुए हैं. इनमें काफी सीसीटीवी कैमरे पहले फ्लोर पर लगेंगे, जहां पर गृह मंत्री, गृह राज्य मंत्री, गृह सचिव, सीबीआई डायरेक्टर, IB चीफ, ज्वाइंट सेक्रेटरी रहते हैं. गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक, इसे A रूटीन अपग्रेडशन कहा जाता है. ना सिर्फ गृह मंत्रालय बल्कि CCTV के कैमरे अब वित्त मंत्रालय में भी लगाए जा रहे हैं. CCTV से क्या होगा? साफ है कि इन कैमरों के लग जाने के बाद गृह मंत्रालय के हर कोने पर नज़र रहेगी और ये भी पता चलता रहेगा कि कौन किससे मिल रहा है. खास बात ये है कि मंत्रालय में मौजूद मीडिया रूम में भी कैमरे लगाए गए हैं, यानी कौन पत्रकार कब किससे मिल रहा है इसपर भी मंत्रालय की नज़र रहेगी. गृह मंत्रालय में हो रहे इस बदलाव पर मंत्रालय के अफसरों ने भी खुशी जताई है और इस बात का जिक्र किया है कि अब कौन-कब आ रहा है, इसपर आसानी से नज़र रखी जा सकेगी.
66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का ऐलान, अंधाधुन बेस्ट हिंदी फिल्म, आयुष्मान और विकी कौशल बेस्ट ऐक्टर
विवादित वीडियो मामला: मुश्किल में एजाज खान, कोर्ट ने 1 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा
आर्टिकल 15 रिलीज, लोग बोले- आयुष्मान खुराना की एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म
जल्द इंड‍िया लौट रहे हैं ऋषि कपूर, इस फिल्म में जूही चावला संग करेंगे काम

rajasthan


नई दिल्ली, 04 जुलाई 2020, 103 भारतीय प्रशासनिक सेवा(आईएएस) अधिकारियों के तबादले के एक दिन बाद अब राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने 66 भारतीय पुलिस सेवा(आईपीएस) अधिकारियों का तबादला किया है. गुरुवार को ही राज्य सरकार ने 103 आईएएस अधिकारियों का तबादला किया गया था. राजस्थान में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी एमएल लाथेर को क्राइम ब्रांच का डायरेक्टर जनरल बनाया गया है. इससे पहले उनकी नियुक्ति कानून व्यस्था के डीजी के तौर पर थी. बीएल सोनी को डीजी जेल बना दिया गया है, इससे पहले वही क्राइम ब्रांच के डीजी थे. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक एडीजीपी रैंक के अधिकारियों में अनिल पालीवाल को पुलिस विभाग, अशोक कुमार राठौर कोएटीएस और एसओजी की जिम्मेदारी सौंपी गई है. प्रशाखा माथुर को राजस्थान स्टेट ह्यूमन राइट्स कमीशन में भेजा गया है, बीजू जॉर्ज को विजिलेंस डिपार्टमेंट और गोविंद गुप्ता को रिक्रूटमेंट और प्रमोशन बोर्ड में भेज दिया गया है. हेमंत प्रियदर्शी को राजस्थान पुलिस विभाग के रिकॉन्स्टिट्यूशन एंड रूल्स विंग की जिम्मेदारी दी गई है. राज्य सरकार की ओर से जारी आदेश के मुताबिक 35 एसपी रैंक के अधिकारियों के तबादले किए गए हैं.
भारत-पाक सीमा पर चीनी एयरफोर्स हुई सक्रिय, राजस्थान से सटे पाकिस्तानी इलाके में युद्धाभ्यास की तैयारी!
केंद्रीय मंत्री ने घायलों को तड़पते देखा, गाड़ी से भेजा हॉस्पिटल
कोरोनिल: बाबा रामदेव पर केस दर्ज कराएगी राजस्थान सरकार
गहलोत बनाम पायलट: कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक जारी, प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर कौन?

bahut kuchh


लखनऊ, 05 जुलाई 2020,कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया है कि विकास दुबे के घर में बंकर था, जिसमें वह हथियार छुपाकर रखता था. आईजी ने कहा कि जिस तरह कहा जाता है कि लोग सामान दीवारों में चुनवा कर रखते हैं, कुछ उसी प्रकार विकास दुबे ने दीवारों में असलहा-बारूद दबाकर रखा था. आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि विकास दुबे के घर से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया गया है जिसकी विस्तृत जानकारी जल्द दी जाएगी. उन्होंने कहा कि मुठभेड़ के दौरान बदमाशों ने 200-300 फायर किए जिसके खोखे भी बरामद किए गए हैं. पुलिस के पांच हथियार विकास दुबे और उसके गुर्गे लूट ले गए थे, जिसमें एक AK 47, एक Insaas राइफल और 3 पिस्टल शामिल हैं. इन 5 हथियारों में से एक पिस्टल पुलिस ने बरामद की है. एसपी आरए ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि अपराधी नक्सलियों की तरह पुलिस पर हमला करना चाहते थे. विकास के घरवालों के नाम एक दर्जन लाइसेंसी असलहे हैं. पुलिस को उसके घर की दीवारों की खुदाई में 6 तमंचे, 25 कारतूस, बम बनाने के विस्फोटक, कीलें आदि बरामद हुई हैं. पुलिस का कहना है कि विकास दुबे पुलिस पर नक्सलियों की तरह हमला करना चाहता था. पुलिस का ये भी कहना है कि विकास के घर में एक दर्जन लाइसेंसी हथियार थे. अब इन सबको निरस्त कराने की कार्यवाही चल रही है. बता दें, आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद इस घटना के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश जारी है. वहीं, दूसरी तरफ कानपुर प्रशासन ने विकास दुबे के बिठुर स्थित आवास को गिरा दिया है. घर गिराने के लिए विकास दुबे की उसी जेसीबी का इस्तेमाल किया गया, जिसके जरिए पुलिस टीम को घेरा गया था. इसके अलावा प्रशासन, विकास दुबे की सारी प्रॉपर्टी अटैच करने की तैयारी कर रहा है. प्रशासन उसकी सभी संपत्तियों की जांच करेगा. साथ ही सभी बैंक अकाउंट्स भी सीज किए जाएंगे. बताया जा रहा है कि कानपुर के बाद विकास दुबे का अब लखनऊ स्थित घर भी गिरेगा. लखनऊ में कृष्णानगर के इंद्रलोक में विकास दुबे का घर है. एलडीए की टीम ने उसके घर का मुआयना किया है. मकान को गिराने की प्रक्रिया पर काम जारी है. मालिकाना हक, नक्शा, दस्तावेज की जांच की गई है. लखनऊ विकास प्राधिकरण की शुरुआती जांच में विकास के मकान को लेकर काफी कुछ गड़बड़ मिला है.
पूरब से पश्चिम तक कांपी धरती, गुजरात और मिजोरम में आया भूकंप
खालिस्तानी समर्थक संगठन 'सिख फॉर जस्टिस' पर बड़ी कार्रवाई, 40 वेबसाइट बैन की गईं
देहरादून-मसूरी रोड पर बड़ा हादसा, BJP नेता राजीव प्रताप रूडी के समधी-समधन की मौत
गिरफ्तार गुर्गे ने खोला राज...फोन आने पर बुलाए गए थे 25-30 लोग, विकास दुबे ने खुद की थी फायरिंग

weather


desh videsh


नई दिल्ली दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus Cases in Delh) के बढ़ते मामलों पर लगाम के लिए केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से लगातार जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (RajNath Singh) ने दिल्ली कैंट में डीआरडीओ की ओर से बनाए गए सरदार वल्लभ भाई पटेल कोविड-19 अस्पताल (DRDO Built Covid19 Hospital) का दौरा किया। उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद हैं। डीआरडीओ के चेयरमैन जी सतीश रेड्डी भी इस दौरान उनके साथ मौजूद रहे। अस्पताल में 250 से अधिक ICU यूनिट्स: राजनाथ सिंह राजनाथ सिंह ने बताया कि केवल 12 दिनों में कोरोना मरीजों के लिए 1000 बेड वाले इस अस्थायी अस्पताल का निर्माण किया गया। WHO की गाइडलाइंस के साथ यहां 250 से अधिक ICU यूनिट्स उपलब्ध कराए गए हैं। राजनाथ ने कहा- 12 दिनों हुआ अस्पताल का निर्माण राजनाथ सिंह ने बताया कि केवल 12 दिनों में कोरोना मरीजों के लिए 1000 बेड वाले इस अस्थायी अस्पताल का निर्माण किया गया। WHO की गाइडलाइंस के साथ यहां 250 से अधिक ICU यूनिट्स उपलब्ध कराए गए हैं। राजनाथ ने कहा- 12 दिनों हुआ अस्पताल का निर्माण रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि डीआरडीओ, गृह मंत्रालय, टाटा संस इंडस्ट्रीज और कई अन्य संगठनों के सहयोग से इस अस्पताल का निर्माण कराया गया है। केजरीवाल ने कहा- अस्पतालों में बेड की कमी नहीं इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी अस्पतालों में बेड की कोई कमी नहीं है, हमारे पास 15,000 से अधिक बेड हैं। जिनमें से सिर्फ 5300 ही इस्तेमाल में है। हालांकि, आईसीयू बेड की कमी है, लेकिन अगर कोरोना मामले बढ़ते हैं तो ये ICU बेड हमारे लिए काफी अहम साबित होंगे। डीआरडीओ के अस्पताल का दौरा करते शाह और राजनाथ डीआरडीओ की ओर से बनाए गए सरदार वल्लभ भाई पटेल कोविड-19 अस्पताल का दौरा करते हुए केंद्रीय मंत्री अमित शाह और राजनाथ सिंह। उन्होंने अस्पताल के अधिकारियों से भी बात की। अधिकारियों ने बताया कि सरदार वल्लभ भाई पटेल कोविड-19 अस्पताल में क्या-क्या सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं।
चीन बॉर्डर पर तनाव के बीच राष्‍ट्रपति कोविंद से मिले पीएम मोदी, आधे घंटे तक हुई बातचीत
सभी गुरुजनों को नमन...गुरु पूर्णिमा पर पीएम नरेंद्र मोदी ने दी बधाई
लॉकडाउन के दौरान सहायता के लिए पीएम मोदी ने की बीजेपी कार्यकर्ताओं की तारीफ
बिहार के लोगों से बात करते हुए पीएम मोदी बोले- कुछ का मानना था कि पूर्वी भारत में कोरोना ज्यादा फैलेगा, आपने इसे गलत साबित किया

taaja khabar


taaja khabar...काला धनः भारत को स्विस बैंक में जमा भारतीयों के काले धन से जुड़ी पहली जानकारी मिली...SPG सिक्यॉरिटी पर केंद्र सख्त, विदेश दौरे पर भी ले जाना होगा सिक्यॉरिटी कवर, कांग्रेस बोली- निगरानी की कोशिश....खराब नहीं हुआ था इमरान का विमान, नाराज सऊदी प्रिंस ने बुला लिया था वापस ....करीबियों की उपेक्षा से नाराज हैं राहुल गांधी? ताजा घटनाक्रम और कुछ कांग्रेस नेता तो इसी तरफ इशारा कर रहे हैं....2 राज्यों के चुनाव से पहले राहुल गांधी गए कंबोडिया? पहले बैंकॉक जाने की थी खबर...2019 में चिकित्सा क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार का ऐलान, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से मिला...चीन सीमा पर तोपखाने की ताकत बढ़ा रहा भारत, अरुणाचल प्रदेश में तैनात करेगा अमेरिकी तोप....J-K: पुंछ में PAK ने की फायरिंग, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब ...राफेल में मिसाइल लगाने वाली कंपनी बोली, ‘भारत को मिलेगी ऐसी ताकत जो कभी ना थी’ ..

Top News