taaja khabar.....इंडोनेशिया के पहले दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी, भारतीय नौसेना को मिल सकता है बड़ा तोहफा.....पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, 1 बीएसफ जवान शहीद....कानूनी पैंतरे और लिंगायत कार्ड से विपक्षी विधायकों का समर्थन हासिल करेगी BJP?....कर्नाटक: सियासी उठापटक के बीच हैदराबाद पहुंचे कांग्रेस-जेडीएस के विधायक...रमजान में नो ऑपरेशन फैसले के बाद सेना की टेंशन पत्थरबाजों से निपटना...पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नेता ने सेना पर लगाए आरोप, नवाज शरीफ का किया समर्थन....नवाज के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की याचिकाएं खारिज.....अयोध्या मामला: 'राम की जन्मभूमि कहीं और शिफ्ट नहीं हो सकती'...रेलगाड़ियों के फ्लेक्सी फेयर में एक जून से मिल सकती है छूट...J&K: रमजान के पहले दिन आतंकियों ने की युवक की हत्या..

Hanumangarh


- राजस्थान कैनाल की अपेक्षा फिरोजपुर फीडर में प्रवाहित हो रहा अधिक साफ पानी - पूरी तरह हालात सुधरने में लगेगा दो-तीन दिन का और वक्त हनुमानगढ़। राजस्थान के दस जिलों में पेयजल और सिंचाई की आवश्यक्ता पूरी करने वाली इंदिरा गांधी नहर, गंगनहर और भाखड़ा नहर में पंजाब से आ रहे जहरीले पानी की गुणवत्ता में सुधार होने लगा है। ब्यास व सतलुज नदियों के संगम स्थल हरिके हेड पर बुधवार को मटमैले दूषित काला पानी कुछ साफ हुआ। लेकिन पूरी तरह से पानी साफ न होने के कारण यह अभी पीने लायक नहीं है। हालातों में कुछ सुधार होने पर राजस्थान व पंजाब के सिंचाई अधिकारियों ने भी राहत की सांस ली है। बुधवार को हरिके हेड से निकलने वाली फिरोजपुर फीडर में राजस्थान कैनाल की अपेक्षा साफ पानी प्रवाहित हो रहा था। इस कारण संभावना जताई जा रही है कि अभी नहरों में प्रवाहित हो रहे जहरीले पानी की गुणवत्ता पूरी तरह से सुधरने में दो-तीन दिन का समय और लग सकता है। तब तक जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की ओर से नहरों का पानी डिग्गियों में स्टोरेज न करने की हिदायत दी गई है। उधर जहरीले पानी से मछलियां, कछुए व पानी वाले सांपों के मरने से पानी बहुत बदबू मार रहा है। यह पानी मानव जीवन के साथ ही जीव-जंतुओं व पशुओं के लिए मुसीबत बन गया है। गौरतलब है कि पंजाब की एक शुगर मिल ने जहरीला शीरा ब्यास नदी में छोड़ दिया। इसी नदी का पानी पंजाब से राजस्थान आ रही इंदिरा गांधी नहर, गंगनहर और भाखड़ा नहर में आ गया है। जहरीला पानी आने के कारण हनुमानगढ़ जिले के 245 और श्रीगांनगर जिले के 250 मोघे बंद कर दिए हैं। इससे जहरीला पानी जलदाय विभाग की डिग्गियों में ना आ सके। जहरीले पानी के कारण इन तीनों नदियों में लाखों की संख्या में मछलियां मर गई हैं। पंजाब से आ रहे जहरीले पानी के कारण एक तरफ तो लोगों में दहशत का माहौल है, वहीं जलदाय और सिंचाई विभाग के अधिकारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। पंजाब के बटाला जिले में स्थित एक शुगर मिल का लाखों टन शीरा करीब दस-बारह दिन पहले ब्यास नदी में आ गया और नदी के 50 किलोमीटर क्षेत्र में फैल गया। इस नदी का पानी पंजाब से राजस्थान आ रही तीनों नहरों में आता है। जहरीला शीरा सतलुज नदी में छोड़ने वाली पंजाब की शुगर मिल को सीज कर दिया गया है और मिल पर 25 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। जानकारी के अनुसार इंदिरा गांधी नहर में मरम्मत के कारण पिछले एक माह से नहरबंदी कर रखी थी। इस कारण लोगों को पानी की समस्या का सामना करना पड़ रहा था। अब जहरीले पानी के कारण हालात पहले से अधिक खराब हो गए हैं। अधिकारियों के अनुसार तीनों नहरों से राज्य के हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू, बाड़मेर, बीकानेर, जोधपुर, जैसलमेर, सीकर और झुंझुनूं आदि जिलों में पानी की आपूर्ति होती है। नहरों में रसायनयुक्त जहरीले पानी से करीब 10 जिलों में महामारी फैलने की आशंका बनी हुई है। उल्लेखनीय है कि इन नहरों के पानी का उपयोग पेयजल में भी किया जाता है, लेकिन अब जो पानी राजस्थान की नहरों में आ गया है, उसे जलदाय योजना की डिग्गियों में भरने से रोक लगा दी गई है।
राजस्व संबंधी बैठक अब 27 को
घर-घर जाकर सिखाई जाएगी ओआरएस का घोल तैयार करने की विधि: डॉ. अरूण कुमार
-रिजर्व बैंक की जमाकर्ता शिक्षा तथा जागरूकता निधि कार्यशालाओं के राज्य व्यापी अभियान की संगरिया से शुरुआत
जिले में ड्रीप इरीगेशन और फॉर्म पोंड को दें बढ़ावा - कलक्टर

Ganganagar


-राजस्थान स्कूल एजूकेशन बोर्ड ने जारी किया 12वीं वाणिज्य व विज्ञान का परिणाम श्रीगंगानगर। सेठ जीएल बिहाणी एसडी सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के विद्यार्थियों ने राजस्थान स्कूल एजूकेशन बोर्ड द्वारा बुधवार को जारी किए गए 12वीं वाणिज्य एवं विज्ञान वर्ग के परिणामों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। वाणिज्य वर्ग का परिणाम सौ प्रतिशत रहा, जबकि विज्ञान वर्ग में 92.30 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण रहे। प्राचार्या श्रीमती दुर्गा स्वामी ने बताया कि वाणिज्य वर्ग में 81.80 प्रतिशत अंक लेकर आशीष शर्मा प्रथम स्थान पर रहा, जबकि 81.40 प्रतिशत प्राप्त करने वाले दीपक ने द्वितीय एवं 80.40 प्रतिशत अंकों के साथ तुषार सुखीजा ने तृतीय स्थान हासिल किया। इस वर्ग में कुल 66 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए, जिनमें से 39 विद्यार्थियों ने प्रथम श्रेणी प्राप्त की। इसी तरह, विज्ञान वर्ग में 83.20 प्रतिशत अंकों के साथ हर्षित फुटेला ने प्रथम, 82.20 प्रतिशत अंकों के साथ प्रदीपकुमार घोड़ेला ने द्वितीय एवं 78.80 प्रतिशत अंक लेकर अरूण वर्मा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। श्रीमती स्वामी के अनुसार इस वर्ग में परीक्षा में शामिल हुए कुल 65 विद्यार्थियों में से 28 ने प्रथम श्रेणी प्राप्त की। इस उपलब्धि पर प्रबंध समिति के अध्यक्ष जयदीप बिहाणी, सचिव घनश्याम दास बिनानी, अकादमिक निदेशक डॉ. एमएल शर्मा एवं संयुक्त निदेशक राजेंद्र राठी ने स्टाफ व विद्यार्थियों को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।
सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में उठाया नहरी पानी के प्रदूषण का मामला
टीम सहित दिल्ली पहुंचे भाजपा नेता प्रहलादराय टाक, आज दोपहर 3 बजे होगी
एमडी पीजी कॉलेज में आयोजित कार्यशाला में विशेषज्ञों ने दिये विद्यार्थियों को पढ़ाई के गुर
जोशपूर्ण माहौल में यश रिंकू मिड्ढ़ा ने संभाला पदभार

business and job


बेंगलुरु देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट आज वॉलमार्ट के हाथों बिक गई। वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट के शीर्ष अधिकारियों की बेंगलुरु में हुई टाउनहॉल मीटिंग में वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट के 70% शेयरों को करीब साढ़े नौ खरब रुपये में खरीदने का सौदा तय कर लिया। सॉफ्टबैंक के सीईओ मासायोशी सन ने इसकी पुष्टि की है। इस मीटिंग में वॉलमार्ट के सीईओ डग मैकमिलन समेत दोनों कंपनियों के शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे। करीब 13 खरब रुपये मूल्य के फ्लिपकार्ट और दुनिया की सबसे बड़ी रिटले चेन वॉलमार्ट के बीच की हुई यह डील भारत के सबसे बड़े विलय और अधिग्रहण समझौतों में एक है। खबरों के मुताबिक, अब मैकमिलन दिल्ली रवाना आनेवाले हैं, जहां वह शीर्ष सरकारी अधिकारियों से मुलाकात करके उन्हें वॉलमार्ट की भविष्य की योजनाओं की जानकारी देंगे। इस डील के बाद भी फ्लिपकार्ट के अपने दो फाउंडरों में एक बिन्नी बंसल के नेतृत्व में ही संचालित होगा। हालांकि, दूसरे फाउंडर सचिन बंसल कंपनी में अपनी पूरी 5.5% की हिस्सेदारी बेचकर बाहर होने का फैसला लिया है। फ्लिपकार्ट के शुरुआती निवेशकों में रहे टाइगर ग्लोबल और एस्सेल पार्टनर्स की भी टेंसेंट के साथ अपनी छोटी-छोटी हिस्सदेरियां बरकरार रहेंगी। फ्लिपकार्ट का 20% शेयरधारक जापान का सॉफ्टबैंक भी वॉलमार्ट को अपने शेयर बेचकर कंपनी से निकल जाएगा। खबरों की मानें तो न्यूयॉर्क का हेज फंड टाइगर ग्लोबल और अमेरिका की ही प्राइवेट इक्विटी फंड एसेल पार्टनर्स भी अपनी हिस्सेदारी भी बेच देंगे। नैस्पर्स लि., चीन की टेंसेंट होल्डिंग्स लि., ईबे इंक और माइक्रोसॉफ्ट वॉलमार्ट के मालिकाना हक वाले फ्लिपकार्ट में भी बने रहेंगे। सूत्रों ने बताया कि वॉलमार्ट की योजना भारत में कारोबार के विस्तार की है। इसके लिए वह 50 से 60 लाख किराना स्टोर्स से गठजोड़ करके उनके आधुनिकीकरण में मदद करेगा ताकि ये स्टोर्स वॉलमार्ट की संपूर्ण सप्लाइ चेन का हिस्सा बन जाएं। वॉलमार्ट किराना स्टोर्स के साथ पार्टनरशिप के जरिए भारतीय ग्राहकों को खुद से जोड़ना चाहती है। वॉलमार्ट की भविष्य की योजनाओं से अवगत एक सूत्र के मुताबिक, वॉलमार्ट डिजिटल पेमेंट्स और अन्य क्षेत्रों की तकनीक पर भारी-भरकम निवेश करनेवाला है। कहा जा रहा है कि वॉलमार्ट के सीईओ डग मैकमिलन शीर्ष सरकारी अधिकारियों के साथ मुलाकात में कंपनी के भारत में 'पिछले दरवाजे से प्रवेश' को लेकर पैदा हुए डर पर भी अपनी स्थिति स्पष्ट करेंगे। ध्यान रहे कि भारत सरकार ने देश में किसी विदेशी रिटेरलर कंपनी को स्टोर खोलने की इजाजत नहीं दी है। कर्नाटक चुनाव की तैयारियां अंतिम चरण में पहुंच रही हैं। ऐसे में बीजेपी सरकार का तंत्र इस तरह का कोई सिग्नल नहीं देना चाहता है जिससे यह संदेश जाए कि इस डील को उसका समर्थन प्राप्त है। ऐसा हुआ तो व्यापारी वर्ग नाराज होगा जिसे बीजेपी का ताकतवर वोट बैंक माना जाता है।
बाजार की गिरावट पर ब्रेक, सेंसेक्स 293 अंक बढ़ा, निफ्टी 10700 के पार बंद
बैंक ऑफ बड़ौदा में निकली है बेहतरीन नौकरी, जल्दी करें अप्लाई
SBI PO भर्ती 2018: 2000 वेकंसी, यूं करें आवेदन
पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ने से सोना महंगा, चांदी की भी चमक बढ़ी

Top News

http://www.hitwebcounter.com/