taaja khabar...पीएम मोदी का पाक पर करारा वार, कहा- जो आतंकवाद का टूल के तौर पर इस्‍तेमाल कर रहे हैं उनको भी खतरा........यूएन महासभा में भाषण के बाद सुरक्षा प्रोटोकाल तोड़कर भारतीयों के बीच पहुंचे पीएम मोदी, लगे भारत माता की जय के नारे...चाय बेचने वाले के बेटे का चौथी बार UNGA का संबोधित करना भारत के लोकतंत्र की ताकत: पीएम मोदी...UNGA में पीएम मोदी ने पाक और चीन की खोली पोल, कहा- समुद्री सीमा का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए..अमेरिका चाहता है यूएन में भारत को मिले स्थायी सदस्यता - हर्षवर्धन श्रृंगला..अफगानिस्तान में हजारा समुदाय को जमीन छोड़ने के लिए मजबूर कर रहा तालिबान..भारत को 'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा....केंद्र सरकार ने कहा- सफल नहीं होगी आतंकियों की ना'पाक' कोशिश, देश सुरक्षित हाथों में..दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या, दो हमलावर ढेर...सचिन पायलट ने पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनने से किया इंकार...: निषाद पार्टी व अपना दल के साथ BJP का गठबंधन, प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान ने की घोषणा...भारत में 84 करोड़ से अधिक हुआ टीकाकरण, यूपी नंबर 1..ब्रिटिश सांसद ने दी चेतावनी, जम्‍मू-कश्‍मीर से हटी भारतीय सेना तो आएगा 'तालिबान राज'... आजादी के बाद सेनाओं के सबसे बड़े कायापलट की दिशा में भारत...PM नरेंद्र मोदी के सामने कमला हैरिस ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को लताड़ा, 'ऐक्शन लें इमरान'...इजरायली 'लौह कवच' से लैस होगा अमेरिका, आयरन डोम से मिलेगी फौलादी सुरक्षा...

Hanumangarh


हनुमानगढ़, 24 सितंबर। 26 सितंबर को रीट परीक्षा को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती प्रीति जैन ने लोगों से अपील की है कि वे 26 सितंबर को अति आवश्यक कार्य के लेिए ही घर से बाहर निकलें। जो कार्य अगले दिन पर टाले जा सकते हैं तो उसे अगले दिन या बाद के लिए टाल दें। उन्होने बताया कि चूंकि 26 सितंबर को रविवार का दिन है। आर्थिक गतिविधियां वैसे भी बंद होती है। अत अति आवश्यक कार्य होने पर ही घर से निकलें अन्यथा जिन कार्यों को आगे के लिए टाला जा सकता है तो उसे आगे के लिए टाल दें। उन्होने बताया कि 26 सितंबर को करीब 50 हजार परीक्षार्थियों का मूवमेंट रहेगा तो यातायात व्यवस्था पर काफी दबाव रहेगा। लिहाजा 26 सितंबर को अनावश्यक कार्यों हेतु घर से बाहर निकलने और यात्रा करने से बचें। जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रीट परीक्षा को लेकर अलग अलग स्तर पर सुरक्षा की पूरी व्यवस्था की गई है। आवागमन को लेकर कानून व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न ना हो। इसको लेकर यातायात और पार्किंग की माकूल व्यवस्था की गई है। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर दो कांस्टेबल, दो होमगार्ड के जवान और 2 महिला कार्मिक लगाई गई हैं। ताकि कोई भी परीक्षार्थी अवांछनीय सामग्री के साथ परीक्षा केन्द्र में प्रवेश ना कर सके। अगर कोई भी अवांछनीय व्यक्ति परीक्षा की निष्पक्ष प्रक्रिया को प्रभावित करने का प्रयास करता है तो सभी पुलिस ऑफिसर्स को निर्देशित किया गया है कि ऐसे व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई तुरंत करे। ताकि परीक्षा को सफलतापूर्वक संपन्न करवाया जा सके।
इंदिरा रसोई में 25 से 27 सितंबर तक परीक्षार्थियों के लिए रहेगी निशुल्क भोजन की व्यवस्था
रीट परीक्षा सफलता पूर्वक संपन्न करवाने के लिए पूरे जिले में चाकचौबंद रहेगी व्यवस्था- जिला कलक्टर
संपर्क पोर्टल को जिला स्तरीय अधिकारी खुद करें प्रतिदिन लॉगिन ताकि परिवेदनाओं का हो समय पर निस्तारण- जिला कलक्टर
2 अक्टूबर को होने वाली ग्राम सभा में जल जीवन मिशन अंतर्गत सहयोगी एजेंसी वंचित विलेज एक्शन प्लान अनुमोदित करवाएं-जिला कलक्टर

hot news


नई दिल्ली, 10 अक्टूबर 2019,जब से अमित शाह ने गृह मंत्री का कार्यभार संभाला है, तभी से गृह मंत्रालय हमेशा से ही चर्चा का विषय बना हुआ है. गृह मंत्रालय कब क्या कर रहा है, इसपर हर किसी की नज़र है. राष्ट्रपति भवन के पास नॉर्थ ब्लॉक में मौजूद गृह मंत्रालय के दफ्तर में अब चप्पे-चप्पे नज़र रखी जा रही है, दफ्तर में हर जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. इस मामले में ताजा अपडेट ये है कि पिछले हफ्ते से CCTV कैमरे लगने की शुरुआत जो हुई है अभी तक मंत्रालय की अहम लोकेशन पर पूरी हो चुकी है. नॉर्थ ब्लॉक-साउथ ब्लॉक में मौजूद दफ्तरों पर सुरक्षा काफी कड़ी रहती है, इसी के तहत यहां पर इन सभी काम को किया जा रहा है. गृह मंत्रालय की पूरी सुरक्षा CISF के हाथ में है, जो कि इन CCTV कैमरों की मदद से हर किसी पर नजर रखेंगे. CISF ने इनके अलावा बॉडी कैमरा, एक्स-रे मशीन और मेटल डोर डिटेक्टर भी सुरक्षा में तैनात किए हुए हैं. इनमें काफी सीसीटीवी कैमरे पहले फ्लोर पर लगेंगे, जहां पर गृह मंत्री, गृह राज्य मंत्री, गृह सचिव, सीबीआई डायरेक्टर, IB चीफ, ज्वाइंट सेक्रेटरी रहते हैं. गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक, इसे A रूटीन अपग्रेडशन कहा जाता है. ना सिर्फ गृह मंत्रालय बल्कि CCTV के कैमरे अब वित्त मंत्रालय में भी लगाए जा रहे हैं. CCTV से क्या होगा? साफ है कि इन कैमरों के लग जाने के बाद गृह मंत्रालय के हर कोने पर नज़र रहेगी और ये भी पता चलता रहेगा कि कौन किससे मिल रहा है. खास बात ये है कि मंत्रालय में मौजूद मीडिया रूम में भी कैमरे लगाए गए हैं, यानी कौन पत्रकार कब किससे मिल रहा है इसपर भी मंत्रालय की नज़र रहेगी. गृह मंत्रालय में हो रहे इस बदलाव पर मंत्रालय के अफसरों ने भी खुशी जताई है और इस बात का जिक्र किया है कि अब कौन-कब आ रहा है, इसपर आसानी से नज़र रखी जा सकेगी.
66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का ऐलान, अंधाधुन बेस्ट हिंदी फिल्म, आयुष्मान और विकी कौशल बेस्ट ऐक्टर
विवादित वीडियो मामला: मुश्किल में एजाज खान, कोर्ट ने 1 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा
आर्टिकल 15 रिलीज, लोग बोले- आयुष्मान खुराना की एक और ब्लॉकबस्टर फिल्म
जल्द इंड‍िया लौट रहे हैं ऋषि कपूर, इस फिल्म में जूही चावला संग करेंगे काम

rajasthan


जयपुर, राजस्थान कांग्रेस में पिछले दो साल से चल रहा सियासी संग्राम अब खत्म होने की उम्मीद है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच एक सप्ताह में दो बार हुई मुलाकात के बाद राजस्थान सत्ता और संगठन में बदलाव की योजना तैयार कर ली गई। इसके तहत अक्टूबर में राज्य मंत्रिमंडल में फेरबदल के साथ ही संगठन में भी नीचे से ऊपर तक बदलाव होने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चाहते थे कि मौजूदा मंत्रियों में से किसी को नहीं हटाते हुए मंत्रिमंडल में विस्तार किया जाए, लेकिन आलाकमान ने फेरबदल करने का मानस बनाया है। इसके तहत विभिन्न आरोपों से घिरे मंत्रियों को हटाया जाएगा। प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने राहुल गांधी को जो रिपोर्ट सौंपी है, उसके छह मंत्रियों को हटाने की सिफारिश की गई है। सूत्रों के मुताबिक, इस रिपोर्ट में 21 में से मात्र पांच मंत्रियों के कामकाज पर संतोष जताया गया है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के कामकाज पर भी माकन ने नाखुशी जताई है। ऐसे में डोटासरा को लेकर भी शीघ्र ही निर्णय किया जा सकता है। बदलाव से पहले चल रही कसरत के बीच वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह एक अक्टृबर को जयपुर में मंत्रियों और विधायकों की बैठक लेंगे। अजय माकन की रिपोर्ट पर जताई नाराजगी राहुल गांधी ने महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी अजय माकन के साथ राजस्थान के सत्ता और संगठन को लेकर शनिवार को चर्चा की। इस दौरान अजय माकन की रिपोर्ट पर नाराजगी भी जताई गई। इस दौरान मंत्रियों के आम लोगों के बीच नहीं जाने और कार्यकर्ताओं से दूरी होने, सत्ता व संगठन में तालमेल के लिए बनी समन्वय समिति के सक्रिय नहीं होने, अग्रिम संगठनों की निष्क्रियता, पिछले 18 माह से जिला और ब्लाक कांग्रेस कमेटियों की कार्यकारिणी नहीं होने पर भी चर्चा हुई। दरअसल, पिछले साल सचिन पायलट खेमे की बगावत के समय संगठन की सभी इकाइयां भंग कर दी गई थीं। जयपुर से दिल्ली तक सक्रियता बढ़ी सूत्रों के अनुसार, गहलोत मंत्रिमंडल के छह सदस्यों भंवर सिंह भाटी, प्रमोद जैन भाया, राजेंद्र यादव, भजनलाल जाटव, सुखराम विश्नोई और अशोक चांदना को हटाने की बात माकन की रिपोर्ट में कही गई है। जिन पांच मंत्रियों के कामकाज पर संतोष जताया गया, उनमें स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल, चिकित्सा मंत्री डा. रघु शर्मा, उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा, कृषि मंत्री लालचंद कटारिया व महिला व बाल विकास मंत्री ममता भूपेश शामिल है। पायलट की पहले 17 और फिर 24 सितंबर को राहुल गांधी से हुई मुलाकात व माकन की रिपोर्ट के बाद जयपुर से दिल्ली तक सक्रियता बढ़ी है। डा. शर्मा, प्रमोद जैन भाया और राजस्व मंत्री ने दिल्ली में राष्ट्रीय नेताओं से मुलाकात की है। कुछ विधायक शनिवार को जयपुर से दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं।
सचिन पायलट ने पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री बनने से किया इंकार
राजस्थान महिलाओं और बच्चियों के लिए सर्वाधिक असुरक्षित, दुष्‍कर्म के मामले 25 फीसद बढ़े
राजस्थान में बहुसंख्यकों ने घरों के बाहर लगाए 'पलायन के लिए मजबूर' होने के पोस्टर
नागौर में जीप व ट्रक की टक्कर में 11 की मौत 7 घायल, पीएम ने किया पीड़ित परिवारों के लिए 2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान

bahut kuchh


प्रतापगढ़ यूपी के प्रतापगढ़ में बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता और उनके समर्थकों के साथ कथित मारपीट की घटना हुई। आरोप है कि कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और कार्यकर्ताओं ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इस दौरान बीजेपी सांसद की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई। प्रतापगढ़ के सांगीपुर विकास खंड में आयोजित आरोग्य मेले में बीजेपी सांसद के पहुंचने पर दोनों पक्षों के बीच हंगामा हुआ। दोनों तरफ से आधा दर्जन कार्यकर्ता और पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। कार्यक्रम में आए लोगों ने किसी तरह भागकर जान बताई। संगम लाल गुप्ता का कहना है कि कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और कुछ कांग्रेस समर्थकों ने उनपर हमला किया। डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने आरोपियों पर सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। डेप्युटी सीएम ने दिए सख्त कार्रवाई के आदेश केशव प्रसाद ने ट्वीट किया,'जनपद प्रतापगढ़ के सांगीपुर ब्लॉक में आयोजित गरीब कल्याण मेले में बीजेपी सांसद और भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव श्री संगमलाल गुप्ता पर हमला करने वाले गुंडों के खिलाफ कठोर कारवाई जल्द से जल्द किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। एक भी दोषी को बक्शा नहीं जाएगा।' अपने ही सांसद-विधायकों को संरक्षण नहीं दे पा रही बीजेपी- अखिलेश बीजेपी सांसद पर हुए हमले पर अखिलेश ने सत्तारूढ़ पार्टी पर निशाना साधा। अखिलेश ने ट्वीट किया, 'बीजेपी सरकार में जिस तरह सरेआम हिंसा को प्रोत्साहन-संरक्षण दिया गया, उसका खामियाजा आज उसके ही सांसदों-विधायकों को भुगतना पड़ रहा है। ये अपने जनप्रतिनिधियों तक को संरक्षण नहीं दे पा रही है। उप्र बीजेपी सरकार में कानून-व्यवस्था फरार है। जनआक्रोश का हिंसक होना अच्छा नहीं होता।' कार्यक्रम में कैसे शुरू हुआ विवाद? प्रतापगढ़ के सांगीपुर ब्लॉक में गरीब कल्याण मेले का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में पूर्व राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी और उनकी बेटी आराधना मिश्रा 'मोना' को 2 बजे से मुख्य अतिथि बनाया गया था। इसके बाद तीन बजे से बीजेपी सांसद संगम लाल गुप्ता को मुख्य अतिथि बनाया गया था। जैसे ही बीजेपी सांसद अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंचे तो बीजेपी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। प्रतिक्रिया में कांग्रेसियों ने भी नारे लगाए। दोनों के समर्थकों के बीच जमकर नारेबाजी हुई और देखते ही देखते बवाल शुरू हो गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप है कि बीजेपी सांसद के साथ आए कार्यकर्ताओं ने माइक छीनकर तोड़ दिया जिससे कांग्रेसी भड़क गए। वहीं बीजेपी सांसद ने आरोप लगाया कि कांग्रेसियों ने बीजेपी के लोगों पर जानलेवा हमला किया। उन्होंने बताया कि 'जैसे ही मंच की ओर पहुंचा तो पचास-साठ लोग पहले से वहां बैठे थे। वे लोग इंस्पेक्टर को मारने लगे तो मैंने विरोध किया। इसके बाद मुझे और मेरे सुरक्षाकर्मियों को मारने लगे। हमारे कार्यकर्ताओं को गिरा-गिराकर पीटा गया।'
भारत को 'विश्व गुरु' बनाना मोदी का एक मात्र लक्ष्य, प्रधानमंत्री के यूएनजीए संबोधन पर बोले नड्डा
आतंक के खिलाफ वार की तैयारी में NIA, कश्मीर में जमात-ए-इस्लामी के ठिकानों पर करेगी छापेमारी
असम के दारांग में गोलीबारी की घटना की होगी सीबीआइ जांच, मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने दिया आदेश
पाकिस्तान के दुष्प्रचार को रोकेगा हाई पावर ट्रांसमीटर, कारगिल में 13 हजार फीट की ऊंचाई पर हुआ स्थापित

weather


desh videsh


नई दिल्ली,कोरोना काल में एक बार फिर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के लिए दो अहम घोषणाएं की हैं। ये घोषणाएं कोरोना के खिलाफ चल रहे युद्ध के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण हैं। प्रधानमंत्री ने पहली घोषणा की कि 21 जून से 18 वर्ष से ऊपर की आयु के देश के सभी नागरिकों को वैक्सीन मुफ्त लगेगी। केंद्र सरकार, प्रत्येक राज्य को इसके लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद खरीदेगी और फिर इसे राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। दूसरी महत्पूर्ण घोषणा 'प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना' को अब दीपावली तक आगे बढ़ाने की हुई है। मतलब नवंबर-2021 तक केंद्र सरकार 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध कराएगी। विस्तार से पढ़ें प्रधानमंत्री के संबोधन की प्रमुख बातें देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, कोरेाना की दूसरी लहर की लड़ाई जारी है। अन्य देशों की तरह भारत इस पीड़ा से गुजरा है। कई लोगों ने अपने परिजनों को खोया है। बीते सौ वर्षों में आई ये सबसे बड़ी महामारी है, त्रासदी है। इस तरह की महामारी आधुनिक विश्व ने न देखी थी, न अनुभव की थी। इतनी बड़ी वैश्विक महामारी से हमारा देश कई मोर्चों पर एक साथ लड़ा है। नरेंद्र मोदी ने कहा कि सेकेंड वेव के दौरान अप्रैल और मई के महीने में भारत में मेडिकल ऑक्सीजन की डिमांड अकल्पनीय रूप से बढ़ गई थी। भारत के इतिहास में कभी भी इतनी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत महसूस नहीं की गई। इस जरूरत को पूरा करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया गया। सरकार के सभी तंत्र लगे। उन्होंने कहा, आज पूरे विश्व में वैक्सीन के लिए जो मांग है, उसकी तुलना में उत्पादन करने वाले देश और वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां बहुत कम हैं। कल्पना करिए कि अभी हमारे पास भारत में बनी वैक्सीन नहीं होती तो आज भारत जैसे विशाल देश में क्या होता? पीएम मोदी ने कहा, हर आशंका को दरकिनार करके भारत ने 1 साल के भीतर ही एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स लॉन्च कर दी। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश ने, वैज्ञानिकों ने ये दिखा दिया कि भारत बड़े-बड़े देशों से पीछे नही है। आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं तो देश में 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। उन्होंने कहा पिछले काफी समय से देश लगातार जो प्रयास और परिश्रम कर रहा है, उससे आने वाले दिनों में वैक्सीन की सप्लाई और भी ज्यादा बढ़ने वाली है। आज देश में 7 कंपनियाँ, विभिन्न प्रकार की वैक्सीन्स का प्रॉडक्शन कर रही हैं। तीन और वैक्सीन्स का ट्रायल भी एडवांस स्टेज में चल रहा है। राज्य सरकारों को लॉकडाउन की छूट क्यों नहीं मिल रही? One Size Does Not Fit All जैसी बातें भी कही गईं। पीएम मोदी ने कहा, देश में कम होते कोरोना के मामलों के बीच, केंद्र सरकार के सामने अलग-अलग सुझाव भी आने लगे, भिन्न-भिन्न मांगे होने लगीं। पूछा जाने लगा, सब कुछ भारत सरकार ही क्यों तय कर रही है? राज्य सरकारों को छूट क्यों नहीं दी जा रही? दूसरी तरफ किसी ने कहा कि उम्र की सीमा आखिर केंद्र सरकार ही क्यों तय करे? कुछ आवाजें तो ऐसी भी उठीं कि बुजुर्गों का वैक्सीनेशन पहले क्यों हो रहा है? भांति-भांति के दबाव भी बनाए गए, देश के मीडिया के एक वर्ग ने इसे कैंपेन के रूप में भी चलाया। इस बीच, कई राज्य सरकारों ने फिर कहा कि वैक्सीन का काम डी-सेंट्रलाइज किया जाए और राज्यों पर छोड़ दिया जाए। तरह-तरह के स्वर उठे। जैसे कि वैक्सीनेशन के लिए एज ग्रुप क्यों बनाए गए? प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल 16 जनवरी से शुरू होकर अप्रैल महीने के अंत तक, भारत का वैक्सीनेशन कार्यक्रम मुख्यत: केंद्र सरकार की देखरेख में ही चला। सभी को मुफ्त वैक्सीन लगाने के मार्ग पर देश आगे बढ़ रहा था। देश के नागरिक भी, अनुशासन का पालन करते हुए, अपनी बारी आने पर वैक्सीन लगवा रहे थे। आज ये निर्णय़ लिया गया है कि राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 प्रतिशत काम था, उसकी जिम्मेदारी भी भारत सरकार उठाएगी। ये व्यवस्था आने वाले 2 सप्ताह में लागू की जाएगी। इन दो सप्ताह में केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर नई गाइडलाइंस के अनुसार आवश्यक तैयारी कर लेंगी। उन्होंने कहा कि 21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे। सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी। एक अन्य महत्वपूर्ण घोषणा में पीएम मोदी ने कहा कि आज सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा। महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है। यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा, जो लोग भी वैक्सीन को लेकर आशंका पैदा कर रहे हैं, अफवाहें फैला रहे हैं, वो भोले-भाले भाई-बहनों के जीवन के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसी अफवाहों से सतर्क रहने की जरूरत है।
'मुझे जहर देकर मारने की कोशिश की गई'... ISRO के सीनियर वैज्ञानिक तपन मिश्रा का सनसनीखेज आरोप
योगी लाएंगे लव जिहाद पर कानून, सीधे विरोध-समर्थन से बच रहे हैं विपक्षी दल
प्रॉपर्टी कार्ड देकर बोले PM, तकलीफ हो तो भी बच्चों को पढ़ाइए, राजमिस्त्री बनने पर मजबूर मत करिए
शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी,

taaja khabar


taaja khabar...काला धनः भारत को स्विस बैंक में जमा भारतीयों के काले धन से जुड़ी पहली जानकारी मिली...SPG सिक्यॉरिटी पर केंद्र सख्त, विदेश दौरे पर भी ले जाना होगा सिक्यॉरिटी कवर, कांग्रेस बोली- निगरानी की कोशिश....खराब नहीं हुआ था इमरान का विमान, नाराज सऊदी प्रिंस ने बुला लिया था वापस ....करीबियों की उपेक्षा से नाराज हैं राहुल गांधी? ताजा घटनाक्रम और कुछ कांग्रेस नेता तो इसी तरफ इशारा कर रहे हैं....2 राज्यों के चुनाव से पहले राहुल गांधी गए कंबोडिया? पहले बैंकॉक जाने की थी खबर...2019 में चिकित्सा क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार का ऐलान, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से मिला...चीन सीमा पर तोपखाने की ताकत बढ़ा रहा भारत, अरुणाचल प्रदेश में तैनात करेगा अमेरिकी तोप....J-K: पुंछ में PAK ने की फायरिंग, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब ...राफेल में मिसाइल लगाने वाली कंपनी बोली, ‘भारत को मिलेगी ऐसी ताकत जो कभी ना थी’ ..

Top News