Hanumangarh

हनुमानगढ़ 22। जिला मुख्यालय हनुमानगढ़ में 22 जून को वर्ल्ड ओलिंपिक डे के उपलक्ष पर मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया। मैराथन दौड़ जिला ओलंपिक संघ हनुमानगढ़ मालवा हॉकी एकेडमी हनुमानगढ़ व राजीव गांधी प्रशिक्षण केंद्र के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित की गई। मैराथन दौड़ में राजीव गांधी स्टेडियम हनुमानगढ में चल रहे ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर में आने वाले खिलाडि़यों द्वारा बढचढकर भाग लिया गया। यह मैराथन दौड़ राजीव गांधी स्टेडियम से प्रारंभ होकर सरस डेयरी में समापन किया गया। मैराथन दौड़ को जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन व पीएमओ डॉ. एम.पी.शर्मा द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। मैराथन दौड़ का समापन सरस डेयरी में किया गया जहां पर डेयरी द्वारा बच्चों को दूध पिलाया गया व डेयरी प्रतिनिधि द्वारा बच्चों का डेयरी प्लांट का अवलोकन करवाया गया। इस मौके पर पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, भारोत्तोलन कोच श्री सीताराम प्रजापत, जिला ओलंपिक संघ के अध्यक्ष श्री मलकीत सिंह मान, पार्षद श्री सुमित रिणवा, साई कोच श्रीमति सुरेन्द्र कौर, भूतपूर्व पार्षद श्री गुरप्रीत मान, मालवा हॉकी एकेडमी कोच श्री हरवीर सिंह, श्री देवेन्द्र पूनिया, श्री राकेश मटोरिया, श्री हंसराज शर्मा, श्री अभयजीत, श्री भागीरथ, श्री प्रदीप सैनी, श्री आनंद पूनिया, विकास कंकर, श्री जगतार सिंह व श्री ओमप्रकाश सैन आदि मौजूद थे।
हनुमानगढ़, 22 जून। जिला मुख्यालय स्थित राजीव गांधी स्टेडियम में 24 जून को सांय 6 बजे सेमिनार ‘‘स्पोर्टस इंजरी रीहेबलीटेशन एण्ड केरियर इन स्पोर्टस’’ का आयोजन किया जाएगा। इस सेमिनार के मुख्य वार्ताकार डॉ. राम सिहाग (एमपीटी न्यूरोलॉजी, डायरेक्टर एक्टिव लाईफ पॉली क्लिनिक एण्ड एडवांस न्यूरो रिहेबलीटेशन सेंटर हनुमानगढ़, प्रोफेसर डॉ. हरबंस गोदारा राजस्थान विश्विद्यालय जयपुर, हैण्डबाल प्रशिक्षक राकेश मटोरिया होंगे। जिला खेल अधिकारी श्री उम्मेद सिंह यादव ने बताया कि इस सेमिनार का आयोजन स्टेडियम के जूडो हॉल में सोमवार को सांय 6 बजे किया जाएगा जिसमें वर्तमान में स्टेडियम में चल रहे ग्रीष्मकालीन शिविर में भाग लेने वाले खिलाडि़यों के अलावा अन्य खिलाड़ी भी भाग लेकर सेमिनार का लाभ उठा सकते हैं। सेमिनार में खेलों के दौरान खिलाडि़यों को लगने वाली चोटों से बचाव व खेलों में करियर संबंधी विस्तृत जानकारी दी जाएगी।
हनुमानगढ़, 22 जून। जिला मुख्यालय स्थित राजीव गांधी स्टेडियम में 24 जून को सांय 6 बजे सेमिनार ‘‘स्पोर्टस इंजरी रीहेबलीटेशन एण्ड केरियर इन स्पोर्टस’’ का आयोजन किया जाएगा। इस सेमिनार के मुख्य वार्ताकार डॉ. राम सिहाग (एमपीटी न्यूरोलॉजी, डायरेक्टर एक्टिव लाईफ पॉली क्लिनिक एण्ड एडवांस न्यूरो रिहेबलीटेशन सेंटर हनुमानगढ़, प्रोफेसर डॉ. हरबंस गोदारा राजस्थान विश्विद्यालय जयपुर, हैण्डबाल प्रशिक्षक राकेश मटोरिया होंगे। जिला खेल अधिकारी श्री उम्मेद सिंह यादव ने बताया कि इस सेमिनार का आयोजन स्टेडियम के जूडो हॉल में सोमवार को सांय 6 बजे किया जाएगा जिसमें वर्तमान में स्टेडियम में चल रहे ग्रीष्मकालीन शिविर में भाग लेने वाले खिलाडि़यों के अलावा अन्य खिलाड़ी भी भाग लेकर सेमिनार का लाभ उठा सकते हैं। सेमिनार में खेलों के दौरान खिलाडि़यों को लगने वाली चोटों से बचाव व खेलों में करियर संबंधी विस्तृत जानकारी दी जाएगी।
हनुमानगढ़ 22 मई। 15 दिन बीत जाने के बावजूद भी मारपीट मामले में कानूनी कार्रवाई नहीं होने का परिवार जनों ने विरोध जताया। चक 21 एनडीआर चौईलावाली निवासी विद्या देवी पत्नी अमरजीत जाति जाट ने बताया कि दिनांक 7 मई 2019 शाम करीब 4:30 बजे मेरे पति घर पर मौजूद नहीं थे तभी मैं व मेरी पुत्रियां ज्योति व मीनाक्षी खेत में पानी की बारी लगा रहे थे तभी सूरजभान, छोगाराम, जयपाल, विजय, सुरेंद्र मुंड, ओम प्रकाश, प्रह्लाद, लालचंद, रवि, विनोद सांई व अन्य 5-7 जने हाथ में लाठी व गंडासीयां लेकर हमारे खेत में घुस गए तथा मेरी पुत्रियों के साथ गाली-गलौच व मारपीट करने की कोशिश करने लगे तभी मैं व मेरी पुत्रियां खेत में बनी अपनी ढाणी के मकान में घुस गए तभी यह लोग भी हमारे पीछे भाग कर मकान में घुस गए व मेरी पुत्रियां ज्योति व मीनाक्षी को जबरदस्ती घसीटते हुए हाथ पकड़कर घर से बाहर ले आए तथा सूरजभान व छोगाराम ने मेरी पुत्रियों को बेइज्जत करने की नियत से नीचे गिरा दिया तथा उनके कपड़े फाड़ दिए व जयपाल ने ज्योति के पैर पर गंडासी की चोट मारी व रवि ने मीनाक्षी के शरीर व पैर पर लाठी मारी जिससे मीनाक्षी व ज्योति के पैर की हड्डी टूट गई जो जिला चिकित्सालय में उपचाराधीन है। उन्होंने बताया कि झगड़े के दौरान विनोद साईं द्वारा मेरी पुत्रीयों के कानों में पहनी सोने की बालियां उतार ली गई तथा ज्योति का फोन भी उठा लिया गया। परिवारजनों ने बताया कि थोड़े दिन पूर्व भी झगड़े की आशंका को लेकर थाने में प्रार्थना पत्र भी दिया गया था परंतु पुलिस प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया और अब झगड़ा होने के पश्चात लखुवाली चौकी व महिला थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया है परंतु आज 15 दिन बीत जाने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई।उन्होंने बताया कि झगड़े के दौरान जो मोबाइल उठाया गया था वह आज भी चालू है परंतु पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है जिससे साफ जाहिर होता है कि पुलिस की आरोपियों के साथ मिलीभगत है। पीड़ित परिवार के लोगों ने कहा कि जल्द से जल्द आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर गिरफ्तार नहीं किया गया तो हमें मजबूरन आंदोलनात्मक कदम उठाना पड़ेगा।
जंक्शन के राजीव गांधी स्टेडियम में 22 जून से शुरू होंगी नियमित निशुल्क योग क्लास हनुमानगढ़, 21 जून। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शुक्रवार को जिले भर में बड़ी संख्या में लोगों ने सुबह 7 से 8 बजे तक योगाभ्यास किया। जिला मुख्यालय के अलावा सभी ब्लॉक और सभी 251 ग्राम पंचायत मुख्यालय पर योग कार्यक्रम आयोजित किए गए जिसमें हजारों लोगों ने पहुंच कर योगाभ्यास किया। जिला स्तरीय कार्यक्रम टाउन के एनएमपीजी कॉलेज में आयोजित किया गया। जिसमें योगाभ्यास के बाद जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग का आयोजन करके हम लोगों को योग की महत्ता बता रहे हैं लेकिन योगाभ्यास को नियमित करके हम इसका बड़ा फायदा ले सकते हैं। लिहाजा प्रशासन की ओर से जंक्शन के राजीव गांधी स्टेडियम में 22 जुलाई से निशुल्क योग क्लासेज सुबह साढ़े 5 बजे से साढ़े 6 बजे तक शुरू की गई है। जिसमें योग में प्रशिक्षित शिक्षक के द्वारा योगाभ्यास करवाया जाएगा। टाउन में पहले से ही आयुर्वेद चिकित्सालय में योगाभ्यास जारी है। योग क्लासेज में अधिक से अधिक लोग पहुंच कर स्वास्थ्य लाभ लें। आयुर्वेद विभाग ने भारत स्वाभिमान ट्रस्ट एवं पतंजलि योग समिति के सहयोग से जिले भर में योग कार्यक्रम करवाया। जिला स्तरीय कार्यक्रम में पंतजलि योग समिति की जिला महिला प्रभारी श्रीमती रेणु चौधरी ने मंच संचालन करते हुए योग क्रियाओं को बोलकर बताया। वहीं योग प्रचारक श्री महावीर माली, पतंजलि योग समिति अध्यक्ष श्री सुभाष बिश्नोई, युवा भारत के श्री रवि चौहान, श्री जगन्नाथ सिंह, श्रीमती प्रियंका शर्मा, श्रीमती अचला, श्रीमती उषा बब्बर ने योग करवाया। खास बात ये कि इस दौरान सूर्यवंशी स्पोर्ट्स एकेडमी के करीब दो दर्जन बच्चों ने स्केट्स पर योग किया। अकादमी निदेशक श्री संजय सूर्यवंशी इन बच्चों को कई दिनों से योगाभ्यास करवा रहे थे। योग कार्यक्रम के बाद डेयरी की ओर से योग प्रतिभागियों को निशुल्क दूध वितरण किया गया। योग कार्यक्रम को लेकर एनएमपीजी कॉलेज में सभी व्यवस्थाएं नगर परिषद की ओर से की गई थी। कार्यक्रम के आखिर में योगाभ्यास के एक पोस्टर का भी जिला कलक्टर और एसपी ने विमोचन किया। जिला स्तरीय योगाभ्यास कार्यक्रम में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत,सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, डीआईजी स्टांप श्री भवानीसिंह पंवार, डीएसओ श्री अरविंद जाखड़, नगर परिषद कमीश्नर श्री शैलेन्द्र गोदारा, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई,पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा, सीएमएचओ डॉ. अरूण चमडि़या,डेयरी एमडी श्री पवन गोयल, एसई पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. मुखराम कड़वासरा,सहायक निदेशक श्रीमती शकुंतला चौधरी, जीएम डीआईसी सुश्री आकाशदीप सिद्दू,तहसीलदार श्री वेद प्रकाश, आयुर्वेद विभाग के सहायक निदेशक डॉ. सोहनलाल सैनी, योग कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. जितेन्द्र शर्मा, आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. अनिता चौधरी, आयुर्वेद चिकित्साधिकारी श्री तीर्थ कुमार, राजीव गांधी स्टेडियम से वेट लिफ्टिंग कोच श्री सीताराम, श्री ओम प्रकाश समेत अन्य अधिकारीगण, कार्मिक व बड़ी संख्या में स्थानीय लोग शामिल थे। पुलिस लाइन में एडीएश्नल एसपी के नेतृत्व में हुआ योगाभ्यास- अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर जिला पुलिस लाइन ग्राउंड में भी योगाभ्यास कार्यक्रम हुआ। जिसमें एडीश्नल एसपी श्री चंद्रेश गुप्ता के नेतृत्व में सैंकड़ों जवानों ने योगाभ्यास किया।
- ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान का बोर्ड जिला अस्पताल में लगा हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आज जिला अस्पताल में सिगरेट व तम्बाकू का सेवन करने वालों के कोटपा एक्ट के तहत चालान काटे। इसके अलावा जिला अस्पताल के सौ गज के मध्य तंबाकू उत्पाद का प्रदर्शन एवं विक्रय करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई। पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा ने जिला अस्पताल में ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की। टीम में जिला अस्पताल के डिप्टी कण्ट्रोलर डॉ. हरिओम बंसल, मनीष शर्मा, सुदेश जांगिड़, जितेन्द्र सिंह, संदीप कुमार व महेन्द्र सिंह शामिल थे। डिप्टी कण्ट्रोलर डॉ. हरिओम बंसल ने बताया कि आज राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम (एनटीसीपी) के तहत जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण कर सिगरेट व तम्बाकू का सेवन करने वालों के चालान काटे गए। इसके अलावा अस्पताल के नजदीक तम्बाकू बेचने वालों के भी चालान काटे गए। विभाग की ओर से लोगों को जिला अस्पताल में तम्बाकू का सेवन नहीं करने के लिए आगाह किया। व्यापारियों को जिला अस्पताल के नजदीक तम्बाकू का विक्रय नहीं करने व आमजन को तंबाकू उत्पाद से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी देकर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया गया। व्यापारियों को बताया कि जिला अस्पताल व शिक्षण संस्थाओं के 100 गज के दायरे में तम्बाकू का विक्रय करने वाले व 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को तम्बाकू बेचने वालों पर भी कार्यवाही की जायेगी। एनटीसीपी टीम द्वारा समस्त तंबाकू उत्पादों को हटवाया और उससे आइन्दा ऐसा ना करने के लिए पाबंद किया। कई दुकानदार द्वारा भविष्य में ऐसा नहीं किए जाने की बात कही। पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा ने जिला अस्पताल में ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की। उन्होंने हस्ताक्षर अभियान में तम्बाकू का सेवन नहीं करने करने का संदेश लिखा व अपने हस्ताक्षर करके कार्यक्रम को विधिवत आरम्भ किया। उन्होंने कहा कि लोगों को तम्बाकू के हानिकारक दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने उपस्थित समस्त डॉक्टरों व रोगियों को तम्बाकू का सेवन नहीं करने की अपील की। ज्ञात रहे कि ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान गत 28 मई से शुरू किया गया था। इसके तहत जिला कलक्ट्रेट, जिला अस्पताल सहित अनेक स्वास्थ्य केन्द्रों पर इसकी शुरूआत की गई है। जिला अस्पताल स्थित टीबी निवारण केन्द्र पर डॉ. रविशंकर शर्मा ने टीबी से प्रभावित रोगियों के हस्ताक्षर करवाकर उन्हें इस अभियान से जोड़ा है। वे नियमित ऐसे रोगियों की काउंसलिंग कर उन्हें तम्बाकू उत्पादों का सेवन नहीं करने के लिए प्रयास करते रहते हैं।
- ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान का बोर्ड जिला अस्पताल में लगा हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आज जिला अस्पताल में सिगरेट व तम्बाकू का सेवन करने वालों के कोटपा एक्ट के तहत चालान काटे। इसके अलावा जिला अस्पताल के सौ गज के मध्य तंबाकू उत्पाद का प्रदर्शन एवं विक्रय करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई। पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा ने जिला अस्पताल में ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की। टीम में जिला अस्पताल के डिप्टी कण्ट्रोलर डॉ. हरिओम बंसल, मनीष शर्मा, सुदेश जांगिड़, जितेन्द्र सिंह, संदीप कुमार व महेन्द्र सिंह शामिल थे। डिप्टी कण्ट्रोलर डॉ. हरिओम बंसल ने बताया कि आज राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम (एनटीसीपी) के तहत जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण कर सिगरेट व तम्बाकू का सेवन करने वालों के चालान काटे गए। इसके अलावा अस्पताल के नजदीक तम्बाकू बेचने वालों के भी चालान काटे गए। विभाग की ओर से लोगों को जिला अस्पताल में तम्बाकू का सेवन नहीं करने के लिए आगाह किया। व्यापारियों को जिला अस्पताल के नजदीक तम्बाकू का विक्रय नहीं करने व आमजन को तंबाकू उत्पाद से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी देकर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया गया। व्यापारियों को बताया कि जिला अस्पताल व शिक्षण संस्थाओं के 100 गज के दायरे में तम्बाकू का विक्रय करने वाले व 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को तम्बाकू बेचने वालों पर भी कार्यवाही की जायेगी। एनटीसीपी टीम द्वारा समस्त तंबाकू उत्पादों को हटवाया और उससे आइन्दा ऐसा ना करने के लिए पाबंद किया। कई दुकानदार द्वारा भविष्य में ऐसा नहीं किए जाने की बात कही। पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा ने जिला अस्पताल में ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की। उन्होंने हस्ताक्षर अभियान में तम्बाकू का सेवन नहीं करने करने का संदेश लिखा व अपने हस्ताक्षर करके कार्यक्रम को विधिवत आरम्भ किया। उन्होंने कहा कि लोगों को तम्बाकू के हानिकारक दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने उपस्थित समस्त डॉक्टरों व रोगियों को तम्बाकू का सेवन नहीं करने की अपील की। ज्ञात रहे कि ‘दो को रोको-चार को टोको‘ हस्ताक्षर अभियान गत 28 मई से शुरू किया गया था। इसके तहत जिला कलक्ट्रेट, जिला अस्पताल सहित अनेक स्वास्थ्य केन्द्रों पर इसकी शुरूआत की गई है। जिला अस्पताल स्थित टीबी निवारण केन्द्र पर डॉ. रविशंकर शर्मा ने टीबी से प्रभावित रोगियों के हस्ताक्षर करवाकर उन्हें इस अभियान से जोड़ा है। वे नियमित ऐसे रोगियों की काउंसलिंग कर उन्हें तम्बाकू उत्पादों का सेवन नहीं करने के लिए प्रयास करते रहते हैं।
-ब्लू बेल्स एकेडमी में आयोजित अभिरुचि परख शिविर संगरिया। उपभोक्ता संरक्षण समिति के अध्यक्ष एडवोकेट संजय आर्य ने जीवन में करियर की ऊंचाइयां छूने के लिए अभिरुचि को आवश्यक तत्व बताया है। उन्होंने कहा कि अगर करियर का साधन अभिरुचि के अनुसार हो तो व्यक्ति सफलता की ऊंचाइयां छू सकता है। वे आज नाथवाना रोड स्थित ब्लू बेल्स एकेडमी में आयोजित अभिरुचि परख शिविर को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हम चाहे कोई भी कार्य करें मगर उसमें श्रेष्ठता होनी चाहिए। सफलता के लिए श्रेष्ठता और जुनून जरूरी है। आर्य ने कहा कि ग्यारहवीं कक्षा मेंं विषयों का चयन सावधानी से करना चाहिए। पहले अपने जीवन के लक्ष्य और अभिरुचि को परखें और फिर उसी के अनुसार भविष्य की योजना निर्धारित करें। एकेडमी की प्राचार्य श्रीमती दीप्ति आर्य ने दसवीं कक्षा में श्रेष्ठ स्थान हासिल करने वाले विद्यार्थियों को बधाई दी एवं कहा कि जिन विद्यार्थियों का परिणाम उनकी अपेक्षा के अनुसार नहीं रहा है, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। वह लक्ष्य बनाकर मेहनत करें। परिणाम वैसा ही आएगा, जैसा वह चाहते हैं। अध्यापिका कंचन धारणीया ने कहा कि अंक तालिका ही जीवन का आधार नहीं है। दूरदृष्टि, कड़ी मेहनत और पक्के इरादे से सफलता का निर्धारण होता है। 2
-ब्लू बेल्स एकेडमी में आयोजित अभिरुचि परख शिविर संगरिया। उपभोक्ता संरक्षण समिति के अध्यक्ष एडवोकेट संजय आर्य ने जीवन में करियर की ऊंचाइयां छूने के लिए अभिरुचि को आवश्यक तत्व बताया है। उन्होंने कहा कि अगर करियर का साधन अभिरुचि के अनुसार हो तो व्यक्ति सफलता की ऊंचाइयां छू सकता है। वे आज नाथवाना रोड स्थित ब्लू बेल्स एकेडमी में आयोजित अभिरुचि परख शिविर को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हम चाहे कोई भी कार्य करें मगर उसमें श्रेष्ठता होनी चाहिए। सफलता के लिए श्रेष्ठता और जुनून जरूरी है। आर्य ने कहा कि ग्यारहवीं कक्षा मेंं विषयों का चयन सावधानी से करना चाहिए। पहले अपने जीवन के लक्ष्य और अभिरुचि को परखें और फिर उसी के अनुसार भविष्य की योजना निर्धारित करें। एकेडमी की प्राचार्य श्रीमती दीप्ति आर्य ने दसवीं कक्षा में श्रेष्ठ स्थान हासिल करने वाले विद्यार्थियों को बधाई दी एवं कहा कि जिन विद्यार्थियों का परिणाम उनकी अपेक्षा के अनुसार नहीं रहा है, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। वह लक्ष्य बनाकर मेहनत करें। परिणाम वैसा ही आएगा, जैसा वह चाहते हैं। अध्यापिका कंचन धारणीया ने कहा कि अंक तालिका ही जीवन का आधार नहीं है। दूरदृष्टि, कड़ी मेहनत और पक्के इरादे से सफलता का निर्धारण होता है। 2
हनुमानगढ, 19 जून। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत जिला स्तरीय निगरानी समिति की बैठक बुधवार को कलैक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में जिला कलक्टर ने खरीफ फसल 2018 के 3121 बीमित कृषकों की क्लेम राशि 4, 32,34,790 रूपए जल्द उनके खातों में डालने के निर्देश बीमा कंपनी को दिए। बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों ने बैठक में बताया कि इन किसानों के बैंक खातों में या तो त्रूटि है या बैंक खाते बंद हो गए हैं । इस पर जिला कलक्टर ने बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों से साफ कहा कि किसानों बैंक खाते बंद हो गए हैं या त्रूटि है तो किसानों के आधार से लिंक अन्य खातों की जानकारी लेकर उनके खातों में बीमा के पैसे जल्द से जल्द जमा करवाएं और इसकी जानकारी संबंधित बैंक को दें जिनसे किसानों ने फसल का बीमा करवाया था। साथ ही जिला कलक्टर ने बैंक के प्रतिनिधियों को भी सख्त हिदायत दी कि वे किसानों के बैंक खाता नंबर बीमा कंपनी को उपलब्ध करवाएं। बैठक में सहायक निदेशक श्री बलबीर खाती ने कहा कि वैसे तो ज्यादातर किसानों के बचत खाते बंद नहीं है केवल रोल अकाउंट बंद हो सकता है। लिहाजा बचत खाते का पता लगाकर बीमा कंपनी किसानों के खातों में पैसा डाल सकती है। बैठक में ये बात भी आई कि बीमा कंपनी बीमित किसानों के बारे में कोई जानकरी कृषि विभाग को नहीं देती है। ना तो ये बताती है कि किन किन किसानों के खाते से प्रीमियम राशि कितनी कितनी काटी गई है और ना ही ये बताती है कि किन किन किसानों के खातों में कितना बीमा क्लेम डाल दिया गया है। जिला कलक्टर ने बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों को सख्त हिदायत दी कि वे ये सारी जानकारी कृषि विभाग को देंगे ताकि कृषि विभाग के अधिकारी किसानों की समस्या के बारे में हल निकाल सकें। बैठक में बैंकों के प्रतिनिधियों ने बताया कि बीमा कंपनी अपनी मनमर्जी करती है । जवाब भी सही नहीं देते। कई बार बीमा क्लेम की डिमांड करते हैं तो कहते हैं दे तो दिया और कितना दें। जिला कलक्टर ने बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों को कहा कि बैंक जो भी जानकारी मांगे उसे जल्द से जल्द उपलब्ध करवाए। खरीफ 2018 का क्लेम 27 फीसदी ही देने पर भी जिला कलक्टर ने नाराजगी जताई। बैठक में जिला कलक्टर ने बीमा कम्पनी, बैंक और कृषि विभाग के अधिकारियों को उपखण्ड स्तर पर उपखण्ड अधिकारी के साथ बैठक का आयोजन कर कृषकों की स्थानीय समस्या का समाधान करने के लिए निर्देशित किया ताकि कृषकों को अपनी समस्याओं के लिए परेशान नही होना पडे। इससे पहले कृषि विस्तार उप निदेशक श्री दानाराम गोदारा ने खरीफ 2016 से अब तक हुए कार्यों की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की। जिले में प्रधानमंत्राी फसल बीमा योजना खरीफ 2016 से रबी फसल 2019 तक की समीक्षा की। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा कृषि विस्तार के सहायक निदेशक श्री दानाराम गोदारा, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, सहायक निदेशक श्री बलबीर खाती, एलडीएम श्री बीएल मीणा, जिले में कार्यरत फसल बीमा कंपनी एवं बैंकों के प्रतिनिधि, कृषि विभाग एवं योजना से संबंधित अन्य विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया ।
24 जून से बढ़ी हुई दरें होंगी लागू हनुमानगढ़, 19 जून। राज्य सरकार की अधिसूचना दिनांक 07-06-2006 की पालना में जिले की अचल संपत्तियों के बाजार भाव के निर्धारण किए जाने के संबंध में गठित जिला स्तरीय समिति हनुमानगढ़ की बैठक बुधवार को जिला कलेक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में आयोजित की गई। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कई गई इस बैठक में डीएलसी दरों में 10 से लेकर 30 प्रतिशत तक बढ़ोतरी को लेकर जिले के सभी उप पंजीयकों के द्वारा प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए। जिन्हें समिति ने अनुमोदित किया। कुछ जगहों की डीएलसी दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया। बैठक में उप महानिरीक्षक पंजीयन एवं मुद्रांक श्री भवानी सिंह पंवार ने बताया कि गत समय दिनांक 11-07-2013 को डीएलसी की बैठक आयोजित हुई थी। जिसमें सम्पूर्ण जिले की डीएलसी दरों में 10 से 40 प्रतिशत औसत वृद्धि की जाकर दरें दिनांक 12-07-2013 से लागू की गई। उसके बाद 01-04-2015 और 01-04-2016 को डीएलसी दरों में 10-10 प्रतिशत की वृद्धि की गई। उसके पश्चात राज्य सरकार द्वारा बजट घोषणा में दिनांक 13-02-2018 को डीएलसी की दरों में 10 प्रतिशत की कमी की गई। उसके उपरान्त ना ही डीएलसी में बढ़ोतरी हुई ओर ना ही कमी की गई। वर्तमान में बाजार भाव में काफी वृद्धि हुई है, जिसे मध्य नजर रखते हुए डीएलसी दरों में वृद्धि किया जाना आवश्यक है। बैठक में डीआईजी स्टांप कार्यालय के अधीनस्थ 15 उप पंजीयक कार्यालय के उप पंजीयकों की ओर से डीएलसी के विभिन्न प्रस्ताव बैठक में रखे गए जिन्हें समिति के द्वारा अनुमोदित किया गया। श्री पंवार ने बताया कि अनुमोदित दरें दिनांक 24-06-2019 से लागू होंगी। 1. उप पंजीयक, हनुमानगढ़ के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, हनुमानगढ़ द्वारा शंकर नगर, गोल्डन सिटी, भेरों सिंह पंवार नगर, आदर्श एनकलेव, हिसारिया कॉलोनी के नये जोन गठित किये गये। भगत सिंह चौक से 200 फुट एवं इसके बाद के जोन में किसी प्रकार की दरों में वृद्धि नहीं की गई। ट्रांसपोर्ट नगर, न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, आईडीएसएमटी कॉलोनी एवं मल्टीपर्पज की दरें यथा स्थिति में रखते हुए 10 प्रतिशत कम करते हुए प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजने के निर्देश दिये गये, जो की राज्य सरकार की अनुमति के बाद प्राप्त दिनांक से लागू होगें। अन्य जोन में स्थित सम्पतियों के भाव बाजार मूल्य के अनुरूप करने हेतु डीएलसी दरों में लगभग 10 से 30 प्रतिशत तक की वृद्धि की गई। ग्रामीण क्षेत्र में 10 प्रतिशत की वृद्धि की गई।समस्त आवासीय, व्यावसायिक एवं समस्त कृषि क्षेत्र के संशोधित प्रस्ताव अनुसार दरों का यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 2.उप पंजीयक, नोहर के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, नोहर द्वारा जनता अस्पताल के पास एवं गावंजोगीआसान, चक सरदारपुरा, चक राजासर, चक 1 एनएचआर, ढाणी चारनान, मुख्य रोड़ आबादी से 100 मीटर तक किसी प्रकार की बढोतरी नहीं की।किसी प्रकार की वृद्धि नहीं की।शेष आवासीय, वाणिज्यक एवं कृषि भूमि क्षेत्र में 10 से 30 प्रतिशत की वृद्धि की गई। प्रस्तुतप्रस्तावोंको यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 3. उप पंजीयक, भादरा के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, भादरा द्वारा शहरी आवासीय, वाणिज्यक में 10 से 15 प्रतिशत एवं कृषि भूमि की दरों में 10 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 4. उप पंजीयक, छानीबड़ी के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, छानीबड़ी द्वारा शहरी आवासीय, वाणिज्यक में 25 प्रतिशत एवं कृषि भूमि की दरों में 20 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 5. उप पंजीयक, डबलीराठान के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, डबलीराठान द्वारा शहरी आवासीय, वाणिज्यक एवं कृषि भूमि की दरों में 8 से 15 की वृद्धि के प्रस्ताव प्रस्तुत किये गये, जिनका यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 6. उप पंजीयक, पल्लू के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, पल्लू द्वारा पल्लू एवं रेखराखासर की आबादी क्षेत्र में 30 प्रतिशत व शेष में 20 प्रतिशत वृद्धि की गई। कृषि बूमि की दरों में 20 से 30 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 7. उप पंजीयक, पीलीबंगा के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, पीलीबंगा द्वारा कॉटन यार्ड नवीन मण्डी प्रागंण पीलीबंगा की दरें यथास्थिति रखते हुए वहां की बाजार दर अधिक होने के कारण डीएलसी दरों में 15 प्रतिशत कम करते हुए प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजने के निर्देश दिये गये, जो की राज्य सरकार की अनुमति के बाद प्राप्त दिनांक से लागू होगें।शेष समस्त जोन में प्रस्तावित दरें यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 8. उप पंजीयक, रावतसर के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, रावतसर द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के जोन संख्या 1 एवं 2 में 20 प्रतिशत एवं शेष सभी में 10 प्रतिशत की वृद्धि की गई। शहरी क्षेत्र में धानमण्डी में 20 प्रतिशत तथा शेष में 10 प्रतिशत की वृद्धि प्रस्तावित की गई। प्रस्तावित दरों को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 9. उप पंजीयक, संगरिया के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, संगरिया द्वारा बसन्त पैलेस, जनरल मार्किट, भगतपुरा रोड़, मुख्य बस स्टेण्ड, नई धान मण्डी की छोटी दुकाने, तहबाजारी, कैची रोड़ की दरों यथावत रखते हुए शेष सभी क्षेत्रों में 10 प्रतिशत में वृद्धि की गई। ग्रामीण आवासीय क्षेत्र में हीरासिंहवाला, मानकसर, रतनपुरा में 20 प्रतिशत एवं शेष में 10 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 10. उप पंजीयक, टिब्बी के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, टिब्बी द्वारा समस्त आवासीय, वाणिज्यक एवं कृषि भूमि की दरों में 15 से 25 प्रतिशत एवं राज्य मार्ग पर लगते हुए क्षेत्र के नये डीएलसी प्रस्तावों को यथाप्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 11. उप पंजीयक, रामगढ़ के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, रामगढ़ द्वारा समस्त आवासीय, वाणिज्यक एवं कृषि भूमि की दरों में 15 से 25 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 12. उप पंजीयक, ढाबा के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, ढाबा द्वारा समस्त आवासीय, वाणिज्यक में 20 प्रतिशत एवं कृषि भूमि की दरों में 10 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 13. उप पंजीयक, तलवाड़ा झील के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, तलवाड़ा झील द्वारा जोन नम्बर 3 में किसी प्रकार की वृद्धि ना करते हुए शेष समस्त जोन की आवासीय, वाणिज्यक एवं कृषि भूमि की दरों में 15 से 25 प्रतिशत एवं राज्य मार्ग पर लगते हुए क्षेत्र के नये डीएलसी प्रस्तावको यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 14. उप पंजीयक, खुईयां के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, खुईयां द्वारा समस्त आवासीय, वाणिज्यक में 10 प्रतिशत की वृद्धि की गई। ग्राम पंचायत सुरजनसर, खुईयां, कानसर, नीमला, भगवानसर, जबरासर, धानसियां, सिंरगसर, गोरखाना, रानीसर, भावलदेसर, जोखासर में 20 प्रतिशत एवं शेष सभी गावों में 15 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। 15. उप पंजीयक, गोलूवाला के अनुमोदित प्रस्ताव उप पंजीयक, गोलूवाला द्वारा समस्त आवासीय, वाणिज्यक एवं कृषि भूमि की दरों में 10 प्रतिशत की वृद्धि को यथा प्रस्ताव अनुमोदन किया गया। इन प्रस्तावों पर किया गया विरोध दर्ज- बैठक में विधायक संगरिया श्री गुरदीप शाहपीनी द्वारा तहसील संगरिया की हरीजन बस्ती एवं रतनपुरा कैचिंया एवं उप पंजीयक, तलवाड़ा झील के क्षेत्र खिनानियां, श्योदानपुरा में वृद्धि पर विरोध दर्ज करवाया गया। इसी प्रकार पीलीबंगा विधायक श्री धर्मेन्द्र मोची द्वारा न्यूकॉटनयार्ड, पीलीबंगा, न्यू विकसित स्टेट हाईवे, पीलीबंगा से लखूवाली रोड़, ग्राम पंचायत गन्धेली में की वृद्धिपर विरोध दर्ज करवाया गया। विधायक भादरा श्री बलवान पूनियां द्वारा बैठक के पश्चात उपस्थित होकर डीएलसी में की गई वृद्धि पर लिखित रूप में ज्ञापन प्रस्तुत कर विरोध दर्ज करवाया। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में हुई बैठक में हनुमानगढ़ विधायक श्री विनोद कुमार, संगरिया विधायक श्री गुरदीप सिंह, पीलीबंगा विधायक श्री धर्मेन्द्र मोची, पंचायत समिति हनुमानगढ़ के प्रधान श्री जयदेव भिडासरा, डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह पंवार, समेत जिले के समस्त उप पंजीयक शामिल रहे।
हनुमानगढ, 19 जून। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने मंगलवार रात ग्राम पंचायत नवां में रात्रि चौपाल लगाई। जिसमें लोगों की ज्यादातर समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया गया। रात्रि चौपाल की खास बात ये कि इस मौके पर ग्राम पंचायत स्तर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाली बालिकाओं को जिला कलक्टर के द्वारा सम्मानित किया गया। महिला अधिकारिता विभाग की ओर से बेटी-बचाओ, बेटी-पढाओ अभियान के तहत बेटियों के जन्मदिन केक जिला कलक्टर से कटवाया गया। हनुमानगढ़ तहसील की ग्राम पंचायत नवां में आयोजित रात्रि चौपाल में ब्लॉक के साथ सभी जिला स्तरीय अधिकारी भी शामिल हुए और उन्होने अपने अपने विभाग में चल रही सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के बारे में स्थानीय लोगों को विस्तृत जानकारी दी। बीसीएमओ ने ग्रामिणों को मौसमी बीमारियों व उनकी रोकथाम के लिए उपायों की सरल भाषा जानकारी देते हुए गर्मी के मौसम में अधिक से अधिक पेय पदार्थो के सेवन तथा ताजा भोजन करने की सलाह दी। शिक्षा विभाग, अल्पसंख्यक विभाग, पंचायत राज विभाग के अधिकारियों ने विद्यालयों के अन्दर नामांकन बढ़ाने के लिए ग्रामीणों से अपील की । सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी दी। मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद् श्री परशुराम धानका ने ग्रामिणों से कहा कि वे साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। कोई भी व्यक्ति खुले में शौच नहीं करें। ताकि विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचा जा सके। सभी ग्रामिण शौचालयों का प्रयोग करें और ग्राम पंचायत को स्वच्छ एवं सुन्दर बनाने में आवश्यक सहयोग प्रदान करें। रात्रि चौपाल में जिला कलक्टर द्वारा खुले पंडाल में जन सुनवाई की गई। जिसमें मुख्य रूप से ग्राम पंचायत में सफाई, खेल मैदान, आगंनबाडी केन्द्र के लिए कमरा निर्माण, बसस्टैण्ड के लिए जगह चिन्हित करना, किसानों को खातेदारी देना इत्यादि समस्याऐं ग्रामिणों द्वारा चौपाल में रखी गई । जिसके संबंध में जिला कलक्टर द्वारा मौके पर ही संबंधित विभागों के अधिकारियों को समाधान के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने चौपाल में ग्रामिणों से कहा कि राज्य सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं की जानकारी ज्यादा से ज्यादा प्राप्त करें तथा उनसे समय समय पर लाभ प्राप्त कर अपने निम्न जीवन स्तर को उंच्चा उठाने के प्रयास करें। साथ उन्होनें ने कहा कि अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाएं। जिला कलक्टर द्वारा रात्रि चौपाल में समुचित व्यवस्था के लिए उपनिदेशक महिला एवं अधिकारिता विभाग के साथ ग्राम पंचायत सरपंच, ग्राम सचिव पटवारी आंगबाडी कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट किया गया। चौपाल में मंच संचालन मोहम्मद अली ने किया। चौपाल में कलक्टर के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, एसडीएम श्री कपिल यादव समेत सभी जिला स्तरीय अधिकारी समेत सरपंच शफी मोहम्मद, समाजसेवी बृजलाल भाकर, खुशी मोहम्मद, प्राधनाध्यापक श्री राजेखाना व अन्य ग्रामीण उपस्थित रहे। -
योग दिवस 21 जून को एनएम पीजी कॉलेज में होगा जिला स्तरीय योग कार्यक्रम हनुमानगढ़, 19 जून। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को जिले भर में सुबह 7 से 8 बजे तक योग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिसमें अधिक से अधिक संख्या में पहुंच कर स्थानीय लोग स्वास्थ्य लाभ लें। जिला स्तरीय कार्यक्रम जहं टाउन के एनएमपीजी कॉलेज में होगा।वहीं ब्लॉक और जिले की सभी 251 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर भी योग कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। ये कहना है जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन का जो अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोल रहे थे। कलेक्ट्रेट सभागार में बुधवार को आयोजित हुई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर ने बताया कि 21 जून को तो जहां जिले भर में योग कार्यक्रम होंगे। वहीं इसे बाद में भी लगातार जारी रखा जाएगा। जिला मुख्यालय पर टाउन में जहां प्राकृतिक चिकित्सालय में नियमित योग की क्लासेज सुबह 7 से 8 बजे तक चल रही हैं वहीं जंक्शन में 22 जून से राजीव गांधी स्टेडियम में सुबह साढ़े पांच से साढे 6 बजे तक योग की नियमित क्लासेज शुरू की जाएगी। ताकि आमजन और खिलाड़ी योगाभ्यास करके स्वास्थ्य लाभ ले सके। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अनिवार्य रूप से शामिल होने के लिए पाबंद किया गया है वहीं उनके कार्यालय में काम कर रहे कार्मिकों को भी योग कार्यक्रम में शामिल करने के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। योग कार्यक्रम को लेकर आयुर्वेद विभाग के अलावा महिला एवं बाल विकास विभाग, चिकित्सा विभाग, शिक्षा विभाग, नगरीय निकाय, पुलिस विभाग, कृषि विभाग को भी कार्यक्रम के आयोजन को लेकर अलग-अलग दिशा निर्देश दिए गए हैं। बैठक में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को लेकर नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी श्री जितेन्द्र शर्मा ने योग कार्यक्रम को लेकर अब तक की गई तैयारियों के बारे में विस्तृत रूप से बताते हुए कहा कि जिले भर में योग कार्यक्रम को सफलता पूर्वक करवाने के लिए सभी ब्लॉक और 251 ग्राम पंचायतों पर योग शिक्षकों की लिस्ट तैयार कर ली है। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट एवं पतंजलि योग समिति के सहयोग से जिले भर में योग कार्यक्रम करवाया जाएगा। उन्होेने बताया कि टाउन के एनएमपीजी कॉलेज में होने वाले जिला स्तरीय योग कार्यक्रम में हर बार की तरह इस बार भी योग शिक्षक श्रीमती रेणु चौधरी के नेतृत्व में योगिक क्रियाओं को करवाया जाएगा। वे उदघोषक की भूमिका निभाते हुए योग करवाएंगी वहीं योग का डेमो श्री महावीर माली, श्री जगन्नाथ, श्री विवेक मीर, श्रीमती उषा बब्बर और श्रीमती प्रियंका शर्मा देंगी। श्री रवि चौहान और श्री कैलाश वर्मा को रिजर्व के रूप में रखा गया है। श्री शर्मा ने बताया कि जिला स्तरीय कार्यक्रम के बाद छाछ की व्यवस्था डेयरी की ओर से निशुल्क की गई है। डेयरी एमडी श्री पवन गोयल के नेतृत्व में डेयरी की टीम वहां मिट्ठी और नमकीन छाछ की व्यवस्था करेगी। इसके अलावा चिकित्सा विभाग की ओर से एक टीम जिला स्तरीय कार्यक्रम में तैनात रहेगी। नगर परिषद की ओर से एनएमपीजी कॉलेज में दरी, पानी, माइक इत्यादि की व्यवस्था की गई है। सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने कहा कि जिला स्तरीय और सभी ब्लॉक स्तरीय कार्यक्रम में पत्रकार बंधु और उनके परिजन भी हिस्सा लें और योग कर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करें।उन्होने कहा कि श्श्स्वास्थ्यश्श् एक बड़ा विषय है। योग इसको बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लिहाजा योग कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा लोग हिस्सा लें। श्री बिश्नोई ने बताया कि योग कार्यक्रम केवल सरकारी कार्यक्रम बनकर ना रह जाए और इसमें अधिक से अधिक लोग हिस्सा लें इसको लेकर इस बार योग कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर आयुर्वेद विभाग की ओर से जिले के गणमान्य लोगों को भी कार्ड भेजकर आमंत्रित किया गया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई,आयुर्वेद विभाग के उपनिदेशक श्री सोहनलाल सैनी, नोडल अधिकारी श्री जितेन्द्र शर्मा, आयुर्वेद चिकित्साधिकारी श्रीमती अनिता चौधरी, आयुर्वेद चिकित्साधिकारी श्री तीर्थ कुमार शामिल थे।
अधिकारियों को दिये सजग होकर कार्य करने के निर्देश हनुमानगढ, 18 जून। मंगलवार को जिला कलैक्ट्रैट सभागार में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में मौसमी बीमारियों के संबंध में बैठक हुई। बैठक में पूर्व में हुई बैठक में दिये गये निर्देशों के संबंध में अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट ली गई। जिला कलक्टर ने कहा कि मीडिया में विभिन्न विभागों से संबंधित समस्याओं की जो भी खबरें सामाचार पत्रों तथा न्यूज चैनल में प्रकाशित होती है उन पर संबंधित अधिकारी त्वरित रूप से कार्रवाई करें। बैठक में जिला कलक्टर ने सभी विभागों से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करते हुए संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। बरसात के मौसम को देखते हुये जिला कलक्टर ने पीएमओ व नरगपरिषद आयुक्त को निर्देश दिये कि बीमारियों के रोकथाम के लिये समुचित व्यवस्था की जावे व आगे आने वाले मानसून को देखते हुये शहर में पानी निकासी की समुचित व्यवस्था करे तथा सभी नालों की सफाई करवाये जिससे कि बरसात के समय में पानी गलियों में न भरकर उसकी निकासी तुरन्त प्रभाव से हो सके। उन्होने शहरी क्षेत्र में आवारा पशु बहुतायात में पाए जाने की शिकायत पर जिला कलक्टर ने नगर परिषद कमीशनर को निर्देश दिए कि पशु चाहे आवारा हों या पालतू, अगर वो सड़क पर विचरण कर रहे हैं तो उन्हें गौशालाओं में बंद करो।और साथ ही घरेलु पालतु पशु अगर कोई व्यक्ति लापरवाही से खुले में छोड़ता है तो नियमानुसार नरगपरिषद उस विरूद्ध कार्यवाही करे। बैठक में जिला कलक्टर ने संपर्क पोर्टल पर आई शिकायतों की समीक्षा करते हुए कहा कि संपर्क पोर्टल पर आई शिकायतों का जल्द निस्तारण करें। कई जगह ईमित्र संचालकों के द्वारा तय दर से अधिक पैसा वसूले जाने के मामले में ईमित्र संचालक को ब्लैक लिस्टेड करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि संबंधित उपखण्ड मुख्यालय के उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार ऐसे सभी ईमित्रों की आकस्मिक जांच करे और दोषी पाये जाने पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। इसके अलावा जिले में जिप्सम के अवैध खनन पर रोक लगाने, नवजीवन सोसाइटी, आदर्श सोसाइटी इत्यादि जैसी जालसाज कॉपरेटिव सोसाइटियों के धोखाधड़ी से बचने के लिए आमजन को इनके बारे में अवेयर करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही खनन विभाग के प्रतिनिधि को निर्देश दिये कि वे जिला उद्योग केन्द्र के अधिकारियों के साथ सामजस्य स्थापित कर पीओपी उद्योग लगाने वाले व्यक्तियों को लाभान्वित किया जाये, ताकि वे अपना रोजगार स्वयं कमा सके और सक्षम बन सके। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि शहरी क्षेत्र, ग्रामीण क्षेत्र उद्योगिक क्षेत्र में लगाये गये खम्बों की तारों को कस्वां जाये जिससे कि गर्मी के मौसम के लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े व आने वाले मानसून के मौसम में भी ढीली तारों से किसी आमजन को कोई हानि न पहुचे तथा वार्ड नम्बर 03 नई खुंजा चमकौर सिंह पार्क के अन्दर लगे हुये ट्राॅन्सफार्मर से पार्क में खेलने वाले बच्चों को करंट से बचाने व बड़ी दुर्घटना से बचने के लिये विभाग के स्तर पर इस समस्या के हल करने के निर्देश दिये। सिंचाई विभाग के अधिकारियों को बैठक में जिला कलक्टर ने निर्देशित करते हुये कहा कि नहरों में हो रही पानी चोरी के मामलों को टीम गठित करते हुये धरपकड़ करे जिससे कि किसानों तक नहरों का पूरा पानी पहुच सके। कलैक्ट्रैट की समस्याओं के बारे में अधिकारियों के साथ विस्तार से चर्चा की गई तथा नगरपरिषद आयुक्त शैलेन्द्र गोदारा को निर्देश दिये गये कि कलैक्ट्रैट परिसर के पार्क में समरसिबल व हाई मास्ट लाईट लगाये जाये व पीडब्लयुडी विभाग के अधिकारी से कहा गया कि कलैक्ट्रैट परिसर में रंग रोगन, पार्क का जीवर्णोद्धार, पार्किग व्यवस्था में सुधार, टाॅयलेट की मरम्मत, वाहन चालकों के बैठने के लिये कमरा निर्माण, कलैक्ट्रैट परिसर के अन्दर व बाहर दोनो तरफ टूटी सड़कों के पेच वर्क करवाने, पानी पाईप मरम्मत के निर्देश दिये। बैठक में मुख्य रूप से कलैक्ट्रैट परिसर में बंद पड़ी कैन्टीन को पुनः शुरू करवाने के लिये डेयरी विभाग व महिला अधिकारिता विभाग के अधिकारियों को आपसी तालमेल से सुचारू करने के निर्देश दिये। जिला खेल अधिकारी कार्यालय के प्रतिनिधि से गया कि स्टेडियम में ज्यादा से ज्यादा खेल कुद प्रतियोगिताओं को करवाया जाए जिससे लोगों को नशे से दूर रखा जा सके। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, पीएमओ डॉ एम पी शर्मा, सीएमएचओ डॉ अरूण चमड़िया, नगर परिषद कमीश्नर श्री शैलेन्द्र गोदारा, महिला अधिकारिता की सहायक निदेशक श्रीमती शकुंतला चैधरी, सामाजिक न्याय अधिकारिता के सहायक निदेशक श्री विक्रम सिंह, डीआर कॉपरेटिव श्री अमीलाल सहारण, एसई पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, एसई बिजली श्री अरूण शर्मा, एसई पीएचईडी श्री रमेश गर्ग, सामान्य शाखा के श्री प्रलेश यादव, समेत विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।
अधिकारियों को दिये सजग होकर कार्य करने के निर्देश हनुमानगढ, 18 जून। मंगलवार को जिला कलैक्ट्रैट सभागार में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में मौसमी बीमारियों के संबंध में बैठक हुई। बैठक में पूर्व में हुई बैठक में दिये गये निर्देशों के संबंध में अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट ली गई। जिला कलक्टर ने कहा कि मीडिया में विभिन्न विभागों से संबंधित समस्याओं की जो भी खबरें सामाचार पत्रों तथा न्यूज चैनल में प्रकाशित होती है उन पर संबंधित अधिकारी त्वरित रूप से कार्रवाई करें। बैठक में जिला कलक्टर ने सभी विभागों से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करते हुए संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। बरसात के मौसम को देखते हुये जिला कलक्टर ने पीएमओ व नरगपरिषद आयुक्त को निर्देश दिये कि बीमारियों के रोकथाम के लिये समुचित व्यवस्था की जावे व आगे आने वाले मानसून को देखते हुये शहर में पानी निकासी की समुचित व्यवस्था करे तथा सभी नालों की सफाई करवाये जिससे कि बरसात के समय में पानी गलियों में न भरकर उसकी निकासी तुरन्त प्रभाव से हो सके। उन्होने शहरी क्षेत्र में आवारा पशु बहुतायात में पाए जाने की शिकायत पर जिला कलक्टर ने नगर परिषद कमीशनर को निर्देश दिए कि पशु चाहे आवारा हों या पालतू, अगर वो सड़क पर विचरण कर रहे हैं तो उन्हें गौशालाओं में बंद करो।और साथ ही घरेलु पालतु पशु अगर कोई व्यक्ति लापरवाही से खुले में छोड़ता है तो नियमानुसार नरगपरिषद उस विरूद्ध कार्यवाही करे। बैठक में जिला कलक्टर ने संपर्क पोर्टल पर आई शिकायतों की समीक्षा करते हुए कहा कि संपर्क पोर्टल पर आई शिकायतों का जल्द निस्तारण करें। कई जगह ईमित्र संचालकों के द्वारा तय दर से अधिक पैसा वसूले जाने के मामले में ईमित्र संचालक को ब्लैक लिस्टेड करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि संबंधित उपखण्ड मुख्यालय के उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार ऐसे सभी ईमित्रों की आकस्मिक जांच करे और दोषी पाये जाने पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। इसके अलावा जिले में जिप्सम के अवैध खनन पर रोक लगाने, नवजीवन सोसाइटी, आदर्श सोसाइटी इत्यादि जैसी जालसाज कॉपरेटिव सोसाइटियों के धोखाधड़ी से बचने के लिए आमजन को इनके बारे में अवेयर करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही खनन विभाग के प्रतिनिधि को निर्देश दिये कि वे जिला उद्योग केन्द्र के अधिकारियों के साथ सामजस्य स्थापित कर पीओपी उद्योग लगाने वाले व्यक्तियों को लाभान्वित किया जाये, ताकि वे अपना रोजगार स्वयं कमा सके और सक्षम बन सके। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि शहरी क्षेत्र, ग्रामीण क्षेत्र उद्योगिक क्षेत्र में लगाये गये खम्बों की तारों को कस्वां जाये जिससे कि गर्मी के मौसम के लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े व आने वाले मानसून के मौसम में भी ढीली तारों से किसी आमजन को कोई हानि न पहुचे तथा वार्ड नम्बर 03 नई खुंजा चमकौर सिंह पार्क के अन्दर लगे हुये ट्राॅन्सफार्मर से पार्क में खेलने वाले बच्चों को करंट से बचाने व बड़ी दुर्घटना से बचने के लिये विभाग के स्तर पर इस समस्या के हल करने के निर्देश दिये। सिंचाई विभाग के अधिकारियों को बैठक में जिला कलक्टर ने निर्देशित करते हुये कहा कि नहरों में हो रही पानी चोरी के मामलों को टीम गठित करते हुये धरपकड़ करे जिससे कि किसानों तक नहरों का पूरा पानी पहुच सके। कलैक्ट्रैट की समस्याओं के बारे में अधिकारियों के साथ विस्तार से चर्चा की गई तथा नगरपरिषद आयुक्त शैलेन्द्र गोदारा को निर्देश दिये गये कि कलैक्ट्रैट परिसर के पार्क में समरसिबल व हाई मास्ट लाईट लगाये जाये व पीडब्लयुडी विभाग के अधिकारी से कहा गया कि कलैक्ट्रैट परिसर में रंग रोगन, पार्क का जीवर्णोद्धार, पार्किग व्यवस्था में सुधार, टाॅयलेट की मरम्मत, वाहन चालकों के बैठने के लिये कमरा निर्माण, कलैक्ट्रैट परिसर के अन्दर व बाहर दोनो तरफ टूटी सड़कों के पेच वर्क करवाने, पानी पाईप मरम्मत के निर्देश दिये। बैठक में मुख्य रूप से कलैक्ट्रैट परिसर में बंद पड़ी कैन्टीन को पुनः शुरू करवाने के लिये डेयरी विभाग व महिला अधिकारिता विभाग के अधिकारियों को आपसी तालमेल से सुचारू करने के निर्देश दिये। जिला खेल अधिकारी कार्यालय के प्रतिनिधि से गया कि स्टेडियम में ज्यादा से ज्यादा खेल कुद प्रतियोगिताओं को करवाया जाए जिससे लोगों को नशे से दूर रखा जा सके। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, पीएमओ डॉ एम पी शर्मा, सीएमएचओ डॉ अरूण चमड़िया, नगर परिषद कमीश्नर श्री शैलेन्द्र गोदारा, महिला अधिकारिता की सहायक निदेशक श्रीमती शकुंतला चैधरी, सामाजिक न्याय अधिकारिता के सहायक निदेशक श्री विक्रम सिंह, डीआर कॉपरेटिव श्री अमीलाल सहारण, एसई पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, एसई बिजली श्री अरूण शर्मा, एसई पीएचईडी श्री रमेश गर्ग, सामान्य शाखा के श्री प्रलेश यादव, समेत विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।
हनुमानगढ़। जिला कलक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र में जिला परिषद् के सीईओ श्री परशुराम धानका की अध्यक्षता में आज एक वीडियो कांफ्रेसिंग (वीसी) का आयोजन किया गया। वीसी में सीएमएचओ डॉ. अरुण कुमार, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, डीपीएम रचना चौधरी, एनयूएचएम डीपीएम जितेन्द्र सिंह राठौड़, डीएनओ सुदेश जांगिड़, डेम महेन्द्र व्यास, आशा कॉडिनेटर संदीप कुमार व सीओ-आईईसी मनीष शर्मा उपस्थित थे। ब्लॉक स्तर से समस्त बीसीएमओ, बीपीएम, सीएचसी-पीएचसी के मेडिकल ऑफिसर्स व कम्प्यूटर ऑप्रेटर्स उपस्थित थे। वीसी में चिकित्सा विभाग की योजनाओं की समीक्षा की गई। जिला परिषद् सीईओ श्री परशुराम धानका ने वीसी में उपस्थित मेडिकल ऑफिसर्स से कहा कि आपके द्वारा किए जा रहे कार्यों के बावजूद भी योजनाओं की क्रियान्विति में समस्याएं आ रही है। आप अपने-अपने चिकित्सा संस्थानों के समस्त कार्यों की मोनिटरिंग करें और इनमें आ रही समस्याओं को प्रभावी ढंग से दूर करने का प्रयास करें। इन समस्याओं को दूर करने में आप जितनी मेहनत करेंगे, आपके चिकित्सा संस्थान की छवि सुधरेगी और जिले की रैकिंग अन्य जिलों से बेहतर रहेगी। चिकित्सा संस्थानों में इलाज करवाने आए मरीज डॉक्टर्स की तरफ आशा से देखते हैं। आपका अच्छा व्यवहार ही उनकी आधी तकलीफ कम देगा। हमारी यह कोशिश रहनी चाहिए कि योजनाओं का संबंधित रिकॉर्ड ऑनलाइन रजिस्टर्ड किया जाए। क्योंकि भारत सरकार व राज्य सरकार को समस्त योजनाओं की जानकारी ऑनलाइन भेजनी पड़ती है। इसलिए संबंधित कम्प्यूटर ऑपरेटर को नियमित डाटा फिडिंग करने के लिए प्रोत्साहित करें ताकि अधिक से अधिक रिकॉर्ड दर्ज हो सके। मुख्यमंत्री राजश्री योजना व जननी सुरक्षा योजना की पेण्डेंसी समाप्त करवाने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि योग दिवस को लेकर समस्त बीसीएमओ अपने-अपने ब्लॉक में तैयारियों का जायजा ले लें। एएनसी कार्य में पिछड़ रहे ब्लॉकों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि यदि यह चिकित्सा संस्थान आपका अपना प्राइवेट अस्पताल होता, तो क्या आप उसकी कमियां दूर नहीं करते। उन्होंने कहा कि कई ब्लॉकों में मई माह तक एएनसी का कार्य सही चल रहा था, पर क्या कारण है कि अब वहां पर कार्य नहीं हो रहा है। बीसीएमओ और मेडिकल ऑफिसर्स एएनएम द्वारा किए जाने वाले कार्यों की मोनिटरिंग करें तथा उनके कार्य के आधार पर ग्रेडिंग भी शुरू करें ताकि उनके कार्यों का मूल्याकन हो सके। उन्होंने कहा कि मेडिकल ऑफिसर्स को अपने पदस्थापन केन्द्र पर ही रहना होगा। विभाग ने पदस्थापन केन्द्र पर ही उनके रहने के लिए आवास की सुविधा दी हुई है। आप आवास स्थान को व्यवस्थित कर, वहीं पर ही रहना शुरू करें ताकि किसी को भी चिकित्सकीय सुविधा से वंचित ना रहने पड़े। श्री परशुराम धानका ने कहा कि चिकित्सा अधिकारियों को साथ ब्लॉकों में जाएंगे और वहां एएनएम के कार्यों का जायजा लेंगे। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने कहा कि ब्लॉक स्तर पर आयोजित की जा रही बैठकों में बीसीएमओ, बीपीएम व मेडिकल ऑफिसर्स (एमओ) अपने चिकित्सा संस्थानों की समस्याओं पर चिन्हित करें और एजेण्डा बनाकर उन्हें दूर करने की कोशिश करें। सैक्टर बैठक में एमओ आरसीएच रजिस्टर आवश्यक रूप से चैक करें। कई एएनएम द्वारा एएनसी कार्याें में लापरवाही बरती जा रही है। मेडिकल ऑफिसर्स अपने अधीन कार्य करने वाली एएनएम के कार्यों की मोनिटरिंग करें व अपेक्षा के अनुरूप कार्य नहीं करने वाली एएनएम का लक्ष्य निर्धारित करें। उन्होंने कहा कि पीसीटीएस सॉफ्टवेयर में कम्प्यूटर ऑपरेटर्स द्वारा नियमित डाटा फिडिंग नहीं की जा रही है। कई ब्लॉकों द्वारा सिफलिस रिपोर्ट की फिडिंग करने में भी लापरवाही बरती जा रही है। जो ऑपरेटर नियमित ऐसा कर रहे हैं, उन्हें कार्य सुधारने के लिए एक मौका दिया जाए। इसके बावजूद यदि कोई लापरवाही बरतता है, तो उसकी सेवाएं समाप्त कर दी जावेंगी। उन्होंने कहा कि कई अधिकारियों द्वारा अवकाश लेने की जानकारी वर्ट्सअप पर भेजी जा रही है। इस तरह भेजी जाने वाली अवकाश सूचना को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कई संस्थानों पर संस्थागत प्रसव नहीं हो रहे हैं। स्टॉफ होने के बावजूद व मोनिटरिंग के अभाव में संस्थागत प्रसव पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी इस तरह की वीसी आयोजित की जाती रहेगी।
हनुमानगढ़। जिला कलक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र में जिला परिषद् के सीईओ श्री परशुराम धानका की अध्यक्षता में आज एक वीडियो कांफ्रेसिंग (वीसी) का आयोजन किया गया। वीसी में सीएमएचओ डॉ. अरुण कुमार, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, डीपीएम रचना चौधरी, एनयूएचएम डीपीएम जितेन्द्र सिंह राठौड़, डीएनओ सुदेश जांगिड़, डेम महेन्द्र व्यास, आशा कॉडिनेटर संदीप कुमार व सीओ-आईईसी मनीष शर्मा उपस्थित थे। ब्लॉक स्तर से समस्त बीसीएमओ, बीपीएम, सीएचसी-पीएचसी के मेडिकल ऑफिसर्स व कम्प्यूटर ऑप्रेटर्स उपस्थित थे। वीसी में चिकित्सा विभाग की योजनाओं की समीक्षा की गई। जिला परिषद् सीईओ श्री परशुराम धानका ने वीसी में उपस्थित मेडिकल ऑफिसर्स से कहा कि आपके द्वारा किए जा रहे कार्यों के बावजूद भी योजनाओं की क्रियान्विति में समस्याएं आ रही है। आप अपने-अपने चिकित्सा संस्थानों के समस्त कार्यों की मोनिटरिंग करें और इनमें आ रही समस्याओं को प्रभावी ढंग से दूर करने का प्रयास करें। इन समस्याओं को दूर करने में आप जितनी मेहनत करेंगे, आपके चिकित्सा संस्थान की छवि सुधरेगी और जिले की रैकिंग अन्य जिलों से बेहतर रहेगी। चिकित्सा संस्थानों में इलाज करवाने आए मरीज डॉक्टर्स की तरफ आशा से देखते हैं। आपका अच्छा व्यवहार ही उनकी आधी तकलीफ कम देगा। हमारी यह कोशिश रहनी चाहिए कि योजनाओं का संबंधित रिकॉर्ड ऑनलाइन रजिस्टर्ड किया जाए। क्योंकि भारत सरकार व राज्य सरकार को समस्त योजनाओं की जानकारी ऑनलाइन भेजनी पड़ती है। इसलिए संबंधित कम्प्यूटर ऑपरेटर को नियमित डाटा फिडिंग करने के लिए प्रोत्साहित करें ताकि अधिक से अधिक रिकॉर्ड दर्ज हो सके। मुख्यमंत्री राजश्री योजना व जननी सुरक्षा योजना की पेण्डेंसी समाप्त करवाने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि योग दिवस को लेकर समस्त बीसीएमओ अपने-अपने ब्लॉक में तैयारियों का जायजा ले लें। एएनसी कार्य में पिछड़ रहे ब्लॉकों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि यदि यह चिकित्सा संस्थान आपका अपना प्राइवेट अस्पताल होता, तो क्या आप उसकी कमियां दूर नहीं करते। उन्होंने कहा कि कई ब्लॉकों में मई माह तक एएनसी का कार्य सही चल रहा था, पर क्या कारण है कि अब वहां पर कार्य नहीं हो रहा है। बीसीएमओ और मेडिकल ऑफिसर्स एएनएम द्वारा किए जाने वाले कार्यों की मोनिटरिंग करें तथा उनके कार्य के आधार पर ग्रेडिंग भी शुरू करें ताकि उनके कार्यों का मूल्याकन हो सके। उन्होंने कहा कि मेडिकल ऑफिसर्स को अपने पदस्थापन केन्द्र पर ही रहना होगा। विभाग ने पदस्थापन केन्द्र पर ही उनके रहने के लिए आवास की सुविधा दी हुई है। आप आवास स्थान को व्यवस्थित कर, वहीं पर ही रहना शुरू करें ताकि किसी को भी चिकित्सकीय सुविधा से वंचित ना रहने पड़े। श्री परशुराम धानका ने कहा कि चिकित्सा अधिकारियों को साथ ब्लॉकों में जाएंगे और वहां एएनएम के कार्यों का जायजा लेंगे। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने कहा कि ब्लॉक स्तर पर आयोजित की जा रही बैठकों में बीसीएमओ, बीपीएम व मेडिकल ऑफिसर्स (एमओ) अपने चिकित्सा संस्थानों की समस्याओं पर चिन्हित करें और एजेण्डा बनाकर उन्हें दूर करने की कोशिश करें। सैक्टर बैठक में एमओ आरसीएच रजिस्टर आवश्यक रूप से चैक करें। कई एएनएम द्वारा एएनसी कार्याें में लापरवाही बरती जा रही है। मेडिकल ऑफिसर्स अपने अधीन कार्य करने वाली एएनएम के कार्यों की मोनिटरिंग करें व अपेक्षा के अनुरूप कार्य नहीं करने वाली एएनएम का लक्ष्य निर्धारित करें। उन्होंने कहा कि पीसीटीएस सॉफ्टवेयर में कम्प्यूटर ऑपरेटर्स द्वारा नियमित डाटा फिडिंग नहीं की जा रही है। कई ब्लॉकों द्वारा सिफलिस रिपोर्ट की फिडिंग करने में भी लापरवाही बरती जा रही है। जो ऑपरेटर नियमित ऐसा कर रहे हैं, उन्हें कार्य सुधारने के लिए एक मौका दिया जाए। इसके बावजूद यदि कोई लापरवाही बरतता है, तो उसकी सेवाएं समाप्त कर दी जावेंगी। उन्होंने कहा कि कई अधिकारियों द्वारा अवकाश लेने की जानकारी वर्ट्सअप पर भेजी जा रही है। इस तरह भेजी जाने वाली अवकाश सूचना को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कई संस्थानों पर संस्थागत प्रसव नहीं हो रहे हैं। स्टॉफ होने के बावजूद व मोनिटरिंग के अभाव में संस्थागत प्रसव पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी इस तरह की वीसी आयोजित की जाती रहेगी।
हनुमानगढ़।15 जून को दिल्ली पुलिस द्वारा की गई दो सिक्ख पिता-पुत्र की निर्मम पिटाई के विरोध में मंगलवार सर्व सिक्ख समाज समिति के बैनर तले सिक्ख समाज के लोगो ने राष्टपति के नाम का ज्ञापन जिला कलेक्टर को सौंपा।समिति अध्यक्ष देवेंद्र खिंडा की अगुवाई में सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया है कि देश मे दर्जनों ऐसी घटनाएं हो रही है जिसमे पुलिस द्वारा जहाँ वर्दी के रौब में बेकसूर लोगो के साथ वहशियाना सलूक किया जाता है परन्तु अल्पसंख्यकों के मामले में तो देश की पुलिस व प्रशाशन हद से ज्यादा बेरहम व क्रूर हो जाता है जिसका ताजा उदाहरण दिल्ली पुलिस द्वारा दो सिक्ख पिता पुत्र की बिना वजह की गई निर्मम पिटाई की घटना है जिसका वीडियो गत तीन दिवस से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।उन्होंने बताया की उक्त घटना ने पुरी सिक्ख कौम को हिलाकर रख दिया है।गुरुद्वारा सिंह सभा के प्रधान इंद्र सिंह मक्कासर ने बताया कि देश का अल्पसंख्यक वर्ग वैसे ही ख़ौफ़ज़दा है परन्तु ऐसी घटनाएं सामने आने के बाद इनमें ओर भी दहशत फैल जाती है।उन्होंने बताया कि इस घटना से सिक्ख कौम में रोष है और पूरी सिक्ख कौम अपने आप को अपमानित महसूस कर रही है।उन्होंने बताया कि इस घटना को लेकर सिक्ख समाज द्वारा जगह जगह विरोध प्रदर्शित किया जा रहा है ।परविंदर सिंह पुरबा ने बताया कि देश व प्रदेश की सरकारों को सिक्ख कौम की भावनाओ का सम्मान करते हुए ऐसे कठोर कदम उठाने चाहिए जिससे कि भविष्य में इस तरह की घटनायों पर रोक लगाई जा सके।ज्ञापन में उक्त वहशियाना घटना को अंजाम देने वाले दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ क्रिमिनल ऑफेंस के तहत मुकदमा दर्ज करने व पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा देते हुए सम्पूर्ण सिक्ख समाज को राहत देने की मांग की गई है।इस दौरान बलकरण सिंह गिल,मोहन सिंह पटवारी,जसप्रीत सिंह जेपी,जंगीर सिंह,एडवोकेट महेंद्र सिंह,बलदेव सिंह रामगढ़िया, लाभ सिंह,तेद्र सिंह,सलविंदर सिंह,दीदार सिंह,राजवंत सिंह,कुलवीर सिंह,बलजीत सिंह सहित समूह सिक्ख जत्थेबंदियों के सदस्य मोजुद थे।
ग्रामीण क्षेत्र की 41 बेटियां खड़ी हो गईं अपने पांवों पर -पंजाब स्किल्ड डवलपमेंट मिशन के तत्वावधान में मिला प्रशिक्षण, अब मिलेगी नौकरी अबोहर। सीतो गुन्नो के ग्रामीण क्षेत्र की 41 बेटियां अब अपने पांवों पर खड़ी हो गई हैं। पंजाब स्किल डवलपमेंट मिशन के तत्वावधान में इन बेटियों को रेडिमेड कपड़ों की डिजाइनिंग एवं सिलाई का प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनाया गया है। अब इन बेटियों को देश की नामी रेडिमेड वस्त्र निर्माता कंपनी शाही एक्सपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड में रोजगार मिलेगा। इन लड़कियों को शाही एक्सपोर्ट की फरीदाबाद यूनिट में औपचारिक प्रशिक्षण के लिए भेजा गया है। लड़कियों की बस को पंजाब स्किल्ड डवलपमेंट मिशन के ब्लॉक थेमेटिक एक्सपर्ट (एसएम) रजत ओटरेजा तथा ब्लॉक थेमेटिक एक्सपर्ट (टी एंड पी) रविन्द्र सिंह ने हरी झंडी दिखाकर फरीदाबाद के लिए रवाना किया। 26 दिन के औपचारिक प्रशिक्षण के बाद इन लड़कियों को कंपनी में नौकरी पर रखा जाएगा। प्रत्येक लड़की को हर महीने 10 हजार 200 रुपए वेतन दिया जाएगा। शाही एक्सपोर्ट के सीतो गुन्नो स्थित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना सेंटर के प्रबंधक विक्रम सिंह ने बताया कि ये सभी लड़कियां सीतो गुन्नो क्षेत्र के ग्रामीण इलाके की रहने वाली हैं। इन लड़कियों को दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के तहत चयनित कर 52 दिन तक नियमित प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण अवधि के दौरान लड़कियों को 125 रुपए प्रतिदिन टीए-डीए भत्ता दिया गया। जल्द शुरू होगा नया बैच... विक्रम सिंह ने बताया कि दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के तहत नए सिलाई मशीन ऑप्रेटर बैच की शुुरुआत जल्द ही की जाएगी। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्र की पांचवीं कक्षा उत्तीर्ण और अठारह वर्ष आयु पूर्ण कर चुकी लड़कियां पात्र हैं। प्रशिक्षण प्राप्त करने की इच्छुक पात्र लड़कियां अधिक जानकारी के लिए सेंटर में अपने परिजनों के साथ संपर्क कर सकती हैं। जिन लड़कियों को प्रशिक्षण के लिए चयनित किया जाएगा, उन्हें 125 रुपए प्रतिदिन टीए-डीए दिया जाएगा।
’30 जून तक पात्र किसानों के आवेदन पोर्टल पर करें अपलोड- मुख्य सचिव’ हनुमानगढ़ध्जयपुर, 17 जून। मुख्य सचिव श्री डी.बी. गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लंबित प्रकरणों का एक सप्ताह में निस्तारण करें। उन्होंने कहा कि पीएम किसान योजना की संशोधित गाइड़ लाइन के अनुसार योजना के दायरे में आने वाले सभी किसानों के आवेदन 30 जून तक पोर्टल पर अपलोड करना सुनिश्चित करावें। श्री गुप्ता सोमवार को शासन सचिवालय मेें विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिला कलक्टरों के साथ प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पात्र किसानो को जागरूक किया जाए, इसके उन्होंने जिले में हेल्प डेस्क बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि योजना के क्रियान्वयन के लिए ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज जैसी संस्थाओें को भी शामिल करें। मुख्य सचिव ने कहा कि पीएम किसान योजना में जहां पहले सीमांत एवं लघु किसान ही पात्र थे लेकिन केंद्र सरकार की संशोधित गाइड लाइन के अनुसार सीमांत एवं लघु किसानों के साथ वृहद किसानों को भी शामिल कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि आंकलन के अनुसार राज्य के लगभग 55 लाख किसान पीएम किसान योजना के लिए पात्र है। जिसमें से 38.10 लाख किसानों के आवेदन प्राप्त हो गए हेै। उन्होंने निर्देश दिए कि शेष 17 लाख किसानों के आवेदन प्राप्त कर योजना का क्रियान्वयन पूर्ण करें। श्री गुप्ता ने कहा कि 34.50 लाख किसानों के आवेदन पीएम किसान पोर्टल पर अपलोड किये जा चुके है जिसमें से 19.34 लाख आवेदनों का पटवारियों द्वारा सत्यापन कर लिया गया हेै। उन्होंने निर्देश दिए कि शेष लगभग 19 लाख आवेदनों का पटवारी के स्तर पर शीघ्र सत्यापन करवाएं।उन्होंने निर्देश दिए कि तहसीलदार एवं जिला कलक्टर स्तर पर लंबित शेष आवेदनों का भी एक सप्ताह में सत्यापन करें। इसके अतिरिक्त नए 17 लाख किसानों से भी जून अंत तक आवेदन प्राप्त करें। वीडियो कॉन्फ्रेंस में जिला कलेक्टर हनुमानगढ़ श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि जिले में कुल 80,661 आवेदन प्राप्त हुए हैं जिनमे से 35,508 आवेदनों का पटवारियों के द्वारा सत्यापन कर लिया गया है। बाकी आवेदनों का सत्यापन 21 जून तक करने के निर्देश सभी ेकउ को दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के द्वारा पीएम किसान योजना के लिए राजस्थान द्वारा अपनाए गए मॉडल की पर््रशंसा की गई है तथा अन्य राज्यों को भी राजस्थान द्वारा अपनाए गए पोर्टल के मॉडल को लागू करने का सुझाव केन्द्र ने दिया है। उन्होंने कहा कि किसान किसी भी ई-मित्र केन्द्र पर जाकर स्व घोषणा पत्र के आधार पर जमाबंदी से अपना पंजीकरण करा सकता है। श्री कुमार ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा आयकर किसान, सरकारी कर्मचारी एवं जनप्रतिनिधि को योजना से बाहर रखा गया है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार से इस संबंध मेें बात की जा रही है कि पटवारी द्वारा सत्यापित आवेदन सीधे ही भारत सरकार को भेजे जा सके ताकि पात्र किसानों को शीघ्र लाभ मिल सके। रजिस्ट्रार, सहकारिता ने राज्य में पीएम किसान योजना में धीमी प्रगति वाले जिलों यथा अजमेर, जयपुर, बारां, सिरोही, अलवर, पाली, बाड़मेर के बारे में मुख्य सचिव को अवगत कराया, जिस पर मुख्य सचिव ने संबंधित जिला कलक्टरों से योजना की धीमी प्रगति पर चिंता जाहिर करते हुए एक सप्ताह में लम्बित प्रकरणों के निस्तारण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि राज्य की 116 तहसील ऑनलाइन हो चुकी है। वीडियों कॉफ्रेसिंग में भीलवाड़ा जिले द्वारा अच्छा प्रदर्शन करने पर मुख्य सचिव ने जिला कलक्टर की प्रशंसा की। रजिस्ट्रार, सहकारिता एवं पीएम किसान योजना के स्टेट नोडल अधिकारी डॉ. नीरज के. पवन ने योजना के एजेण्डे को सभी के समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि जिन आवेदनों को पात्र श्रेणी में नहीं माना गया था ऎसे आवेदनों को नई संशोधित गाइड लाइन के अनुसार पुनः भेजा जाएगा ताकि पात्र किसानों को लाभ मिल सके। वीडियों कॉफ्रेंसिंग के दौरान जयपुर में अतिरिक्त मुख्य सचिव, कृषि श्री पवन कुमार गोयल, प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार, आयुक्त, सूचना एवं प्रौद्योगिकी श्री अम्बरीष कुमार, वहीं हनुमानगढ़ में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन, एसीपी श्री योगेंद्र कुमार सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 17 जून। टाउन स्थित प्रेमनगर क्षेत्र में आर.यू.आई.डी.पी. के तृतीय चरण के कार्य के तहत उपभोक्ता सेवा केन्द्र (सी.आर.एम.सी. बिल्डिंग ) निर्माण कार्य सोमवार को प्रारम्भ कर दिया । उपभोक्ता सेवा केन्द्र के निर्माण से उपभोक्ताओं को जल वितरण से सम्बधित समस्या का समाधान समय पर हो सकेगा। आर.यू.आई.डी.पी. के तृतीय चरण के अन्तर्गत चार स्थानों पर उपभोक्ता केन्द्र का निर्माण करवाया जाना है जिसमे जंक्शन में सुरेशिया 100 फुट रोड के पास व पुरानी खुजा क्षेत्र में निर्माण कार्य पहले से ही प्रगति पर है। इस अवसर पर अधीशाषी अभियंता श्री राजेन्द्र स्वामी के अलावा, आर.यू.आई.डी.पी. सहायक अभियंता श्री दिपक मांडन, सी.ए.पी.सी. हनुमानगढ के सामाजिक विकास विशेषज्ञ श्री संतलाल सहारण, पी.एम.डी.एस.सी. हनुमानगढ के इंजिनीयर श्री हिमांशु श्रीवास्तव, संवेदक फर्म टेक्नोफैब के श्री विजय जादव व ठेकेदार श्री विनोद बिषु तथा वार्ड नं. 33 के श्री प्रेम कुमार उपस्थित थे। -
हनुमानगढ़, 17 जून। राजकीय नेहरु मेमोरियल महाविद्यालय हनुमानगढ़ में सत्र 2019-20 में नियमित,पूर्व स्वयंपाठी छात्र जो नियमित प्रवेश के इच्छुक हैं स्नातक द्वितीय, तृतीय एवं स्नातकोत्तर में प्रवेश करवाने हेतु ई-मित्र पर फीस जमा करवाने की अन्तिम तिथि 26 जून 2019 निर्धारित हैं। प्रवेश के इच्छुक छात्र-छात्राएं शीध्र अपना शुल्क ई-मित्र के माध्यम से जमा करवा देवे। इसके पश्चात प्रवेश प्रकिया समाप्त हो जाएगी। ऐसे छात्र-छात्राएं जो गत वर्ष 2018-19 की विश्वविद्यालय परीक्षा में अनुतीर्ण हैं तथा पुनर्मुल्याकन का आवेदन कर चुके हैं वे अपनी फीस जमा करवा सकते हैं यदि वे पुनर्मुल्याकन में उत्तीर्ण घोषित हो जाते हैं तो नियमित विद्यार्थी के रुप में प्रवेशित माने जायेगे अन्यथा अनुत्तीर्ण घोषित होने पर वे अपना शुल्क महाविद्यालय से पुनः प्राप्त कर सकते हैं । कार्यवाहक प्रचार्य डॉ. रामपाल अहरोदिया ने बताया कि महाविद्यालय में 1 जुलाई से स्नात्तक, स्नातकोत्तर की नियमित कक्षाएं प्रारम्भ हो जाएंगी। महाविद्यालय सूचनापटृ से छात्र-छात्राएं सम्बन्धित कक्षा की समय सारणी प्राप्त कर नियमित महाविद्यालय में उपस्थित होंगे। अकादमिक सत्र में नियमित रहने के लिए 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है अन्यथा छात्र-छात्रा को स्वयंपाठी के रुप में परिवर्तित करवा अपना परीक्षा आवेदन करना होगा। उन्होने बताया कि इस वर्ष प्रत्येक माह के अन्तिम सप्ताह में अध्ययन करवाए गए टॅापिक्स की परख परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी। जिसकी सूचना आयुक्तालय,कालेज शिक्षा राजस्थान को भी प्रेषित होगी।
हनुमानगढ़, 17 जून। राजकीय नेहरु मेमोरियल महाविद्यालय हनुमानगढ़ में सत्र 2019-20 में नियमित,पूर्व स्वयंपाठी छात्र जो नियमित प्रवेश के इच्छुक हैं स्नातक द्वितीय, तृतीय एवं स्नातकोत्तर में प्रवेश करवाने हेतु ई-मित्र पर फीस जमा करवाने की अन्तिम तिथि 26 जून 2019 निर्धारित हैं। प्रवेश के इच्छुक छात्र-छात्राएं शीध्र अपना शुल्क ई-मित्र के माध्यम से जमा करवा देवे। इसके पश्चात प्रवेश प्रकिया समाप्त हो जाएगी। ऐसे छात्र-छात्राएं जो गत वर्ष 2018-19 की विश्वविद्यालय परीक्षा में अनुतीर्ण हैं तथा पुनर्मुल्याकन का आवेदन कर चुके हैं वे अपनी फीस जमा करवा सकते हैं यदि वे पुनर्मुल्याकन में उत्तीर्ण घोषित हो जाते हैं तो नियमित विद्यार्थी के रुप में प्रवेशित माने जायेगे अन्यथा अनुत्तीर्ण घोषित होने पर वे अपना शुल्क महाविद्यालय से पुनः प्राप्त कर सकते हैं । कार्यवाहक प्रचार्य डॉ. रामपाल अहरोदिया ने बताया कि महाविद्यालय में 1 जुलाई से स्नात्तक, स्नातकोत्तर की नियमित कक्षाएं प्रारम्भ हो जाएंगी। महाविद्यालय सूचनापटृ से छात्र-छात्राएं सम्बन्धित कक्षा की समय सारणी प्राप्त कर नियमित महाविद्यालय में उपस्थित होंगे। अकादमिक सत्र में नियमित रहने के लिए 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है अन्यथा छात्र-छात्रा को स्वयंपाठी के रुप में परिवर्तित करवा अपना परीक्षा आवेदन करना होगा। उन्होने बताया कि इस वर्ष प्रत्येक माह के अन्तिम सप्ताह में अध्ययन करवाए गए टॅापिक्स की परख परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी। जिसकी सूचना आयुक्तालय,कालेज शिक्षा राजस्थान को भी प्रेषित होगी।
जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने संबंधित अधिकारियों बैठक लेकर दिए निर्देश जंक्शन के राजीव गांधी स्टेडियम में 22 जून से नियमित शुरू होगी निशुल्क योग क्लास हनुमानगढ़, 17 जून। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को जिला स्तरीय योग कार्यक्रम टाउन के एनएमपीजी कॉलेज में होगा। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के सफल आयोजन को लेकर जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक ली। बैठक में जिला कलक्टर ने बताया कि जिले की सभी 251 ग्राम पंचायत मुख्यालय, ब्लॉक मुख्यालय और जिला स्तर पर योग का कार्यक्रम होगा। योग कार्यक्रम का समय सुबह 7 से 8 बजे रहेगा। उन्होने योग कार्यक्रम के नोडल डिपार्टमेंट आयुर्वेदिक विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी ग्राम पंचायतों और ब्लॉक मुख्यालय पर आयोजित होने वाले योग कार्यक्रमों में पर एक-एक योग शिक्षक लगाए जाएं ताकि सही ढंग से लोगों को योग सिखाया जा सके। साथ ही जिला स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को लेकर नगर परिषद कमीश्नर समेत विभिन्न विभागों के अधिकारियों को योग कार्यक्रम को लेकर पूरी तैयारी पहले से पूरी करने के लिए निर्देशित किया। बैठक में सभी अधिकारियों को जिला कलक्टर ने कहा कि योग दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में सभी जिला स्तरीय अधिकारी तो आवश्यक रूप से आएंगे ही, साथ ही अपने स्टॉफ को भी योग कार्यक्रम में आने के लिए पाबंद करेंगे। इसी प्रकार ब्लॉक स्तरीय कार्यक्रम में सभी ब्लॉक स्तरीय अधिकारी और कर्मचारियों को आने के लिए पाबंद किया। खास बात ये कि जिला कलक्टर ने योग दिवस 21 जून को होने वाले योग कार्यक्रम के बाद जंक्शन में योग क्लासेज 22 जून से ही नियमित रूप से शुरू करने के निर्देश दिए। इसके लिए जगह जंक्शन के राजीव गांधी स्टेडियम को तय किया गया है। जहां प्रतिदिन सुबह साढे 5 बजे से साढ़े 6 बजे तक निशुल्क योग क्लासेज होंगी। जिला कलक्टर ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को लेकर होने वाले कार्यक्रम में एनसीसी, एनएसएस, खिलाडि़यों, स्काउट एंड गाइड के विद्यार्थियों को बुलाने, जंक्शन से टाउन जाने के लिए बसों की व्यवस्था करने, योग वाले स्थान पर प्राथमिक चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाने, जिले के गणमान्य लोगों को योग कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रण पत्र देकर आमंत्रित करने, सरकारी-गैर सरकारी राजकीय संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं को बुलाने, कॉलेज में निबंध प्रतियोगिता का आयोजन करवाने के लिए निर्देशित किया। हिस्सा लेने इत्यादि के आदेश दिए। बैठक में जिला कलक्टर ने बताया कि विद्यार्थियों के लिए सरकार के निर्देश हैं कि अगर बच्चे यहां नहीं हो तो जहां वे हैं उनके पास के स्कूल में जाकर योग कार्यक्रम में हिस्सा ले सकते हैं। जिले में योग कार्यक्रम का नोडल अधिकारी सहायक निदेशक श्री जितेन्द्र कुमार शर्मा को और सहायक नोडल अधिकारी श्री सत्यप्रकाश और आयुर्वेद चिकित्साधिकारी श्रीमती अनिता चौधरी को बनाया गया है। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह, डीएसओ श्री अरविंद जाखड़, एसडीएम श्री कपिल यादव, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, एसई पीडब्ल्यूडी श्री गुरनाम सिंह, एसई पीएचईडी श्री रमेश गर्ग, जीएम डीआईसी सुश्री आकाशदीप सिद्दू, सहायक निदेशक श्री प्रवेश सोलंकी, जिला शिक्षा अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह यादव, एसीपी श्री योगेन्द्र कुमार, आयुर्वेद विभाग के उपनिदेशक श्री सोहनलाल सैनी, श्रम कल्याण अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह इत्यादि विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
हनुमानगढ़, 17 जून। विभिन्न अनियमित्ताएं पर औषधि अनुज्ञा पत्रा निलम्बित किया गया है। लाईसेसिंग ऑथोरिटी एवं सहायक औषधि नियंत्राक श्री अशोक कुमार मित्तल ने औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम एवं नियमावली 59 व 66 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग कर हनुमानगढ़ जंक्शन के नई धान मण्डी, भूमि विकास बैंक के सामने मैसर्स हनुमानगढ़ सहाकारी उपभोक्ता हॉलसेल भण्डार लिमिटेड को जारी औषधि अनुज्ञा पत्रा 17 से 21 जून तक पांच दिवस के लिए निलम्बित कर दिया है।
हनुमानगढ़, 14 जून। वित्तीय वर्ष 2019-20 के तहत राजस्थान उद्योग रत्न पुरस्कार के आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये हैं। जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक सुश्री आकाशदीप सिद्दू ने बताया कि राजस्थान उद्योग रत्न पुरस्कार राज्य में स्थापित एमएसएमईडी एक्ट 2006 में एक्नोलेजमेन्ट, उद्योग आधार प्राप्त समस्त सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम में स्थापित उद्योगों को प्रत्येक श्रेणी के लिये पृथक-पृथक राजस्थान उद्योग रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जावेगा। इसके अतिरिक्त उद्योग रत्न अवार्ड वर्ष के पूर्व में वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित बनुकरों एवं हस्तशिल्पियों को भी क्रमशः राजस्थान बुनकर रत्न पुरस्कार तथा राजस्थान हस्तशिल्प रत्न पुरस्कार से योजनांतर्गत पुरस्कृत किया जावेगा। जिला उधोग केन्द्र की महाप्रबंधक ने बताया कि राज्य में एमएसएमईडी एक्ट 2006 में एक्नोलेजमेन्ट, उधोग आधार प्राप्त समस्त सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम श्रेणी में स्थापित एवं विगत तीन वर्षों में निरन्तर कार्यरत उद्यम पात्र होगें। ऐसा कोई भी उद्यम पुरस्कार के लिये पात्र नहीं होगा जो अपने उत्पादन के आरम्भ के बाद या वर्तमान में कभी भी किसी कारणवश कम से कम 6 माह तक बन्द रहा हो और उसके बाद पुनः चालू हो गया हो। परन्तु पुनः चालू होने के तीन वर्ष पश्चात ऐसा उद्यम पुनः आवेदन करने के लिये पात्र हो जायेगा। यह प्रावधान रूग्ण घोषित इकाईयों के लिये लागू नही होगा। आर्टीजन एवं बुनकरों की दशा में वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार के लिये चयनित एवं पुरस्कृत आर्टीजन एवं बुनकर ही आवार्ड हेतु पात्र होंगे। राजस्थान उधोग रत्न पुरस्कार हेतु पात्र इकाईयां अपना आवेदन पत्र जिला उधोग केन्द्र श्रीगंगानगर में 20 जून 2019 तक प्रस्तुत कर सकती है।
डीएलएसडीसी की बैठक में बोले जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन हनुमानगढ़, 14 जून। समाज कल्याण विभाग, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, एससीएसटी निगम समेत अन्य विभाग उनकी योजनाओं से संबंधित बेरोजगार युवाओं की सूची आरएसएलडीसी को भेजें ताकि उन्हें रोजगारपरक ट्रेनिंग दी जा सके और युवाओं को रोजगार मिले।ये कहना है जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन का जो शुक्रवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय कौशल विकास निगम की बैठक ले रहे थे। बैठक में आरएसएलडीसी के जिला स्तरीय समन्वयक श्री विवेक शर्मा ने हनुमानगढ़ में संचालित स्कील डवलपमेंट सेंटर्स की प्रगति रिपोर्ट के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि जिले में वर्तमान में कुल 16 स्कील डवलपमेेंट सेंटर वर्तमान में संचालित हो रहे हैं। जिनमें करीब 1 हजार युवा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। श्री शर्मा ने बताया कि आरएसएलडीसी की ओर से चार विभिन्न योजनाओं रोजगार परक कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम ( ईएलएसटीपी), नियमित कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम( आरएसटीपी), दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना और प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिले में मार्च 2013 से अब तक कुल 11 हजार 297 युवाओं को विभिन्न योजनाओं में स्कील प्रशिक्षण दिया जा चुका है। जिनमें से 3 हजार 878 युवाओं को रोजगार से भी जोड़ा जा चुका है। बैठक में जिला कलक्टर ने जिला स्कील समन्वयक को निर्देशित किया कि आगामी बैठक में वर्ष वाइज अलग अलग डाटा उपलब्ध करवाएं। बैठक में जिला कलक्टर ने आरएसएलडीटी के अभिसरण विभागों, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, समाज कल्याण विभाग, एससीएसटी निगम समेत अन्य विभागीय अधिकारियों से कहा कि आप के विभाग में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत युवाओं की सूची उपलब्ध रहती है ऐसे युवाओं की सूची स्कील डवलपमेंट को भेजी जाए ताकि विभिन्न रोजगारपरक कोर्सेज कर युवाओं को रोजगार से जोडा सा सके। साथ ही उन्होने जिला स्कील समन्वयक को निर्देशित किया कि आगामी बैठक में डीएलएसडीसी के वर्ष वाइज अलग अलग डाटा लेकर आएं। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक श्री विक्रम सिंह शेखावत,एलडीएम श्री बीएल मीणा, अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी श्री अमर सिंह ढाका, रोजगार अधिकारी श्रीमती बबीता कुमारी, श्री गजेन्द्र सिंह,नाबार्ड के डीडीएम श्री दयानंद काकोडिया, आरएसएलडीसी के जिला स्कील समन्वयक श्री विवेक शर्मा समेत आरएसएलडीसी के ट्रेनिंग पार्टनर्स के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
- बन्द हो जाता पसीना और बढ़ जाती है बेहोश होने की आशंका हनुमानगढ़। गर्मी के मौसम में हीट स्ट्रोक (लू) का खतरा रहता है। विशेषकर खाली पेट धूप में निकलने से इसकी आशंका बढ़ जाती है इसलिए हीट स्ट्रोक से बचने के लिए सावधान रहने की जरूरत है। गर्मी की लहर तेज होने के साथ ही बच्चों, बुजुर्गो और पहले से बीमार लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। हीट स्ट्रोक के सम्पर्क में आने से शरीर में कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने इससे प्रभावितों को तुरंत राहत देने हेतु के निर्देश जारी किए हैं। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि मौसम का तापमान 40 डिग्री के आसपास पहुंचने पर हीट स्ट्रोक चलने का खतरा उत्पन्न हो जाता है, लेकिन जिले का तापमान कई दिनों 48 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच गया है। सुबह 8 बजे से तापमान में बढ़ोतरी हो जाती है, जो सायं सायं 7 बजे तक रहती है। ऐसे में हीट स्ट्रोक के प्रकोप से लोगों में स्वास्थ्य समस्याएं बढ़ सकती है। उन्होंने बताया कि हीट स्ट्रोक में शरीर का तापमान बढ़ जाता है और पसीना आना बंद हो जाता है। शरीर की जैविक क्रिया अनियमित हो जाती है। ऐसे में व्यक्ति का मुंह सूखने लगता है, बेहोशी और चक्कर भी आ सकता है। ऐसे में अगर व्यक्ति की सम्भाल ना की जाए, तो यह जानलेवा भी साबित हो सकता है। ऐसी स्थिति में रोगी को तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र सम्पर्क करना चाहिए। हीट स्ट्रोक से बचने के लिए क्या करें डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि जरूरी कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें। 12 से 5 बजे तक हीट वेव का असर सबसे अधिक होता है। कोशिश करें कि छाया वाली जगह पर खड़े हों। बाहर निकलते समय छाते, टोपी, सिर पर कपड़ा या पगड़ी आदि का प्रयोग करें। हल्के रंग का ढीले-ढाले सूती वस्त्र का प्रयोग करें। कपड़ा सफेद रंग का पहनें, तो बहुत अच्छा है। ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ साफ, पानी, छाछ, लस्सी, तोड़नी (राइस वाटर) व नींबू पानी का प्रयोग करें। कमरे का तापमान कम करने के लिए खिड़कियों को बंद कर रखें। पंखों का इस्तेमाल और वायु संचार के आवागमन की व्यवस्था होनी चाहिए। हीट स्ट्रोक के व्यक्ति को ठंडे घर में या छायादार जगह में रखना चाहिए। हीट स्ट्रोक प्रभावित व्यक्ति के शरीर को को भींगें हुए कपड़े से पोंछना चाहिए। प्रभावित व्यक्ति की गर्दन व कांख के बीच बर्फ पैकेट का इस्तेमाल करें। अगर फिर भी लक्षणों में सुधार नहीं हो तो जल्द से जल्द नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में दिखाएं। क्या नहीं करें डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि हीट स्ट्रोक से बचाव रखना बहुत जरूरी है। सूर्य की रोशनी में सीधे नहीं जाना चाहिए, यदि जाना भी हो, तो छाता, टोपी, पगड़ी या सिर ढककर बाहर निकलना चाहिए। काले ंिसंथेटिक और मोटे कपड़ों का पहनना से बचना चाहिए। बच्चों को नंगे पाव तेज धूप में बाहर निकलना से रोकना चािहए। आवश्यक ना हो तो तेज धूप में मेहनत वाले शारीरिक कार्य नहीं करने चाहिए। तापमान के समय महिलाएं को खाना नहीं बनाना चाहिए। चाय, कॉफी, गर्म तरल पदार्थ व बासी खाने का सेवन नहीं करना चाहिए। धूप में खाली पेट घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। हमेशा हल्का भोजन करने के बाद ही घर से निकलना चाहिए तथा पानी हमेशा साथ रखना चाहिए। स्वास्थ केंद्रों को किया गया है तैयार डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि गर्मी को देखते हुए सभी अस्पतालों में रोगियों हेतु कुछ बैड आरक्षित रखे गए हैं, जहां कूलर व शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, संस्थान में रोगी के उपचार हेतु आपातकालीन किट उपलब्ध है। आपातकालीन किट में ओआरएस, ड्रिपसेट, जीएनएस/जीडीडब्लू/रिगरलेकट्रेट (आरएल) फ्लूड एवं आवश्यक दवाइयां उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि लू-तापघात से बचाव के लिए चिकित्साकर्मियों, एएनएम और आशा कार्यकर्ताओं द्वारा गांव-गांव में सघन प्रचार-प्रसार अभियान चलाकर आम जन को जागरूक करने का प्रयास जारी है। लू-तापघात के किसी रोगी की जानकारी देने के लिए कण्ट्रोल रूम नं. 01552-261190 पर सम्पर्क किया जा सकता है।
- बन्द हो जाता पसीना और बढ़ जाती है बेहोश होने की आशंका हनुमानगढ़। गर्मी के मौसम में हीट स्ट्रोक (लू) का खतरा रहता है। विशेषकर खाली पेट धूप में निकलने से इसकी आशंका बढ़ जाती है इसलिए हीट स्ट्रोक से बचने के लिए सावधान रहने की जरूरत है। गर्मी की लहर तेज होने के साथ ही बच्चों, बुजुर्गो और पहले से बीमार लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। हीट स्ट्रोक के सम्पर्क में आने से शरीर में कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने इससे प्रभावितों को तुरंत राहत देने हेतु के निर्देश जारी किए हैं। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि मौसम का तापमान 40 डिग्री के आसपास पहुंचने पर हीट स्ट्रोक चलने का खतरा उत्पन्न हो जाता है, लेकिन जिले का तापमान कई दिनों 48 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच गया है। सुबह 8 बजे से तापमान में बढ़ोतरी हो जाती है, जो सायं सायं 7 बजे तक रहती है। ऐसे में हीट स्ट्रोक के प्रकोप से लोगों में स्वास्थ्य समस्याएं बढ़ सकती है। उन्होंने बताया कि हीट स्ट्रोक में शरीर का तापमान बढ़ जाता है और पसीना आना बंद हो जाता है। शरीर की जैविक क्रिया अनियमित हो जाती है। ऐसे में व्यक्ति का मुंह सूखने लगता है, बेहोशी और चक्कर भी आ सकता है। ऐसे में अगर व्यक्ति की सम्भाल ना की जाए, तो यह जानलेवा भी साबित हो सकता है। ऐसी स्थिति में रोगी को तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र सम्पर्क करना चाहिए। हीट स्ट्रोक से बचने के लिए क्या करें डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि जरूरी कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें। 12 से 5 बजे तक हीट वेव का असर सबसे अधिक होता है। कोशिश करें कि छाया वाली जगह पर खड़े हों। बाहर निकलते समय छाते, टोपी, सिर पर कपड़ा या पगड़ी आदि का प्रयोग करें। हल्के रंग का ढीले-ढाले सूती वस्त्र का प्रयोग करें। कपड़ा सफेद रंग का पहनें, तो बहुत अच्छा है। ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ साफ, पानी, छाछ, लस्सी, तोड़नी (राइस वाटर) व नींबू पानी का प्रयोग करें। कमरे का तापमान कम करने के लिए खिड़कियों को बंद कर रखें। पंखों का इस्तेमाल और वायु संचार के आवागमन की व्यवस्था होनी चाहिए। हीट स्ट्रोक के व्यक्ति को ठंडे घर में या छायादार जगह में रखना चाहिए। हीट स्ट्रोक प्रभावित व्यक्ति के शरीर को को भींगें हुए कपड़े से पोंछना चाहिए। प्रभावित व्यक्ति की गर्दन व कांख के बीच बर्फ पैकेट का इस्तेमाल करें। अगर फिर भी लक्षणों में सुधार नहीं हो तो जल्द से जल्द नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में दिखाएं। क्या नहीं करें डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि हीट स्ट्रोक से बचाव रखना बहुत जरूरी है। सूर्य की रोशनी में सीधे नहीं जाना चाहिए, यदि जाना भी हो, तो छाता, टोपी, पगड़ी या सिर ढककर बाहर निकलना चाहिए। काले ंिसंथेटिक और मोटे कपड़ों का पहनना से बचना चाहिए। बच्चों को नंगे पाव तेज धूप में बाहर निकलना से रोकना चािहए। आवश्यक ना हो तो तेज धूप में मेहनत वाले शारीरिक कार्य नहीं करने चाहिए। तापमान के समय महिलाएं को खाना नहीं बनाना चाहिए। चाय, कॉफी, गर्म तरल पदार्थ व बासी खाने का सेवन नहीं करना चाहिए। धूप में खाली पेट घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। हमेशा हल्का भोजन करने के बाद ही घर से निकलना चाहिए तथा पानी हमेशा साथ रखना चाहिए। स्वास्थ केंद्रों को किया गया है तैयार डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि गर्मी को देखते हुए सभी अस्पतालों में रोगियों हेतु कुछ बैड आरक्षित रखे गए हैं, जहां कूलर व शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, संस्थान में रोगी के उपचार हेतु आपातकालीन किट उपलब्ध है। आपातकालीन किट में ओआरएस, ड्रिपसेट, जीएनएस/जीडीडब्लू/रिगरलेकट्रेट (आरएल) फ्लूड एवं आवश्यक दवाइयां उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि लू-तापघात से बचाव के लिए चिकित्साकर्मियों, एएनएम और आशा कार्यकर्ताओं द्वारा गांव-गांव में सघन प्रचार-प्रसार अभियान चलाकर आम जन को जागरूक करने का प्रयास जारी है। लू-तापघात के किसी रोगी की जानकारी देने के लिए कण्ट्रोल रूम नं. 01552-261190 पर सम्पर्क किया जा सकता है।
केन्द्रीय सहकारी बैंक शीघ्र ही किसानों को उपलब्ध करवाएगा फसली ऋण प्रथम चरण में सदस्य किसानों और दूसरे चरण में अवधिपार और नए सदस्यों का किया जाएगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हनुमानगढ, 13 जून। केन्द्रीय सहकारी बैंक अपने सदस्य किसानों को शीध्र ही फसली ऋण उपलब्ध करवाने जा रहा है। केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबन्धक निदेशक श्री सुरेश कुमार मीणा ने बताया कि फसली ऋणी लेने वाले किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होना जरूरी है और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए ई-मित्र केन्द्रों को पहले ही अधिकृत किया गया है। श्री मीणा ने बताया कि वर्तमान में समिति व्यवस्थापकों द्वारा इस कार्य में सहयोग नही करने के कारण ई-मित्र केन्द्रों को अधिकृत किया जा चुका है। उन्होने बताया कि एपेक्स बैंक के प्रबंधक निदेशक की अध्यक्षता में पिछले दिनों हुई आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेस में दिए निर्देशानुसार सहकारी फसली ऋण ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन एवं वितरण 2019 के तहत पोर्टल के माध्यम से ऑन लाईन ऋण बांटने के लिए किसान सदस्यों का पोर्टल पर पंजीयन किया जाना जरूरी है। ई-मित्र केन्द्र पर प्रथम चरण में पंजीयन नियमित लेन देन करने वाले सदस्यों का ही किया जा रहा है। अवधिपार व नये सदस्यों का पंजीयन द्वितीय चरण में किया जावेगा। पंजीयन के लिए आधार नम्बर, सहकारी बैंक का खाता नम्बर, आईएफसी कोड नम्बर की आवश्यकता होगी। भूमि का विवरण किसान की जमाबंदी के आधार पर अंकित होगा।
पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ मुखराम कड़वासरा ने पशुओं को लू से बचाव के बताए उपाए हनुमानगढ़, 13 जून। पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. मुखराम कड़वासरा ने भीषण गर्मी में पशुओं को लू और तापमान के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए पशुपालकों को एहतियात बरतने की सलाह दी है। उन्होने कहा कि भीषण गर्मी की स्थिति में पशुधन को सुरक्षित रखने के लिए विशेष प्रबन्ध एवं उपायों, जिनमें ठंडा एवं छायादार पशु आवास, स्वच्छ पीने का पानी आदि पर ध्यान दिये जाने की आवश्यकता हैं। तेज गर्मी से बचाव प्रबंधन में जरा सी लापरवाही से पशु को ’लू’ लग जाती है। ’लू’ से ग्रस्त पशु को तेज बुखार हो जाता है और वो सुस्त होकर खाना पीना बन्द कर देता है। शुरू में पशु की श्वसन गति एवं नाड़ी गति तेज हो जाती है। कभी कभी नाक से खून भी बहने लगता है। पशु पालक के समय पर ध्यान नहीं देने से पशु की श्वसन गति धीरे-धीरे कम होने लगती है एवं पशु चक्कर खाकर बेहोशी की दशा में ही मर जाता है। लू से बचने के लिए पशु आवास को रखें ठंडा- संयुक्त निदेशक डॉ. मुखराम कड़वासरा ने पशुपालकों को सलाह दी है कि वे पक्के पशु आवास को ठंडा रखने के लिए पक्के आवास की छत पर सूखी घास या कडबी रखें ताकि छत को गर्म होने से रोका जा सके। पशु आवास के अभाव मे पशुओं को छायादार पेड़ों के नीचे भी बांधा जा सकता है लेकिन गर्म हवा का सीधा प्रवाह नही हो, इसके लिए लकडी के फंटे या बोरी के टाट लगाई जानी चाहिए। आवश्यकता पड़ने पर बोरी की टाट को गीला कर दें, जिससे पशु आवास में ठण्डक बनी रहेगी। पशु आवास गृह में आवश्यकता से अधिक पशुओं को नही बांधे तथा रात्रि में पशुओं को खुले स्थान पर बांधे। पशुओं को खिलाएं हरा चारा- गर्मी के मौसम में पशुओं को हरा चारा अधिक खिलाएं । पशु इसे चाव से खाता है तथा हरे चारे में 70-90 प्रतिशत जल की मात्रा होती है, जो समय-समय पर पशु शरीर को जल की आपूर्ति भी करता है। इस मौसम में पशुओं को भूख कम व प्यास अधिक लगती है। इसके लिए गर्मी मे पशुओ को स्वच्छ पानी दिन में कम से कम तीन बार अवश्य पिलाएं ,इससे पशु शरीर के तापमान को नियंत्रित बनाये रखने मे मदद मिलती है। इसके अलावा पानी में थोड़ी मात्रा में नमक और आटा मिलाकर पिलाना भी अधिक उपयुक्त रहता है। इससे अधिक समय तक पशु के शरीर में पानी की आपूर्ति बनी रहती है। जो शुष्क मौसम में लाभकारी भी हैं। पशु को प्रतिदिन ठण्डे पानी से नहलाना भी चाहिए। लू लगने पर ये करें इलाज- पशुओं को ’लू’ लगने पर प्याज का रस एवं पानी में ग्लूकोज अथवा नमकऔर शक्कर घोलकर पिलाना चाहिए। ’लू’ लगने पर पशु को ठण्डे स्थान पर बांधे तथा माथे पर बर्फ या ठण्डे पानी की पट्टियां बांधने से पशु को तुरन्त आराम मिलेगा। डॉ कड़वासरा ने बताया कि पशु में बीमारी के लक्षण दिखाई देने पर तुरन्त नजदीकी पशु चिकित्सक से सम्पर्क कर पशु का उपचार करावें जिससे पशुधन की हानि से बचा जा सके।
संगरिया। बीकानेर में आयोजित जिओ कम्युनिकेशन के संवाद कार्यक्रम में उपभोक्ता संरक्षण समिति के सदस्यों ने उपभोक्ताओं का पक्ष प्रस्तुत किया। समिति के सदस्य सुखमहेन्द्र चौधरी और इन्द्रज्ञान पूनिया ने उपभोक्ताओं की शिकायतों के त्वरित समाधान पर जोर दिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्ण सेवा न केवल उपभोक्ता के लिए ही आवश्यक है बल्कि सेवा प्रदाता कंपनी को इस प्रतिस्पर्धा के युग में बाजार में बने रहने के लिए भी गुणवत्तापूर्ण सेवा प्रदान करना आवश्यक है। कार्यक्रम मेंं उपभोक्ता संरक्षण समिति संगरिया की ओर से भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण के पंजीकृत उपभोक्ता समूह के रूप में उपभोक्ताओं को जागरूक किया गया। इस मौके पर जिओ कम्युनिकेशन की ओर से कस्टमर सक्सेस मैनेजर सुप्रिया मित्रा, डिप्टी जनरल मैनेजर राणा वीरेंद्र सिंह तथा अन्य अधिकारियों ने विचार व्यक्त किए। इस मौके पर उपभोक्ता मार्गदर्शन समिति उमस तथा मारुति सेवा समिति उदयपुर के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।
जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में हुई जिला गोपालन समिति की बैठक में मिली स्वीकृति जिले की 166 गौशालाओं को फरवरी-मार्च और 7 गौशालाओं को जनफरी-फरवरी और मार्च का मिलेगा अनुदान हनुमानगढ़, 12 जुन। जिले की गौशालाओं के लिए 14 करोड़ 66 लाख 49 हजार 232 रूपए के अनुदान प्रस्ताव स्वीकृत हो गए हैं। बुधवार को जिला कलेक्ट्रेट में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में हुई जिला गोपालन समिति में अनुदान प्रस्ताव को स्वीकृति दी गई। लिहाजा अब जिले की 166 गौशालाओं को फरवरी-मार्च माह का 13 करोड़ 70 लाख 37 हजार 232 रूपए का अनुदान दिया जाएगा। इसी प्रकार जिले की 7 गौशालाओं को जनवरी, फरवरी और मार्च तीन महीनों का कुल 96 लाख 12 हजार का अनुदान स्वीकृत किया गया। बैठक में पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ मुखराम कड़वासरा ने बताया कि जिला गोपालन समिति की 29 मार्च 2019 को हुई बैठक में जनवरी माह के लिए जिले की कुल 166 पात्र गौशालाओं को द्वितीय किश्त का भुगतान करने की प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई थी। जिसके अंतर्गत जिले की कुल 159 गौशालाओं का जनवरी माह का भुगदान कर दिया गया। बची हुई 7 गौशालाओं को अनुदान नहीं दिया जा सका था। लिहाजा अब इन 7 गौशालाओं को जनवरी समेत फरवरी और मार्च तक का अनुदान दिया जाएगा। बैठक में डॉ कड़वासरा ने बताया कि गौशाला निधि नियम 2016 के अंतर्गत गौशाला के बड़े पशु को 32 रूपए और छोटे पशु को 16 रूपए प्रतिदिन की दर से अनुदान दिया जाता है। अनुदान की कार्यवाही संपन्न करने से पहले जिले में स्थित पात्र सभी गौशालाओं को 3 बार सर्वे और निरीक्षण किया गया। पहला निरीक्षण पशुपालन विभाग की ओर से दूसरा संयुक्त दल और तीसरा औचक निरीक्षण करवाया गया। तीनों निरीक्षण में सबसे कम पशु पाए जाने के साक्ष्य के आधार पर अनुदान भुगतान प्रस्तावित किया गया। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा एडीएम श्री अशोक कुमार असीजा, सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ मुखराम कड़वासरा, कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री दानाराम गोदारा समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।
हनुमानगढ़, 12 जून। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय सलाहकार समिति एवं समीक्षा समिति की बैठक का आयोजन अग्रणी बैंक प्रबन्धक द्वारा किया गया। चर्चा के उपरांत इस वर्ष जिले के प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र एवं अन्य क्षेत्रों के लक्ष्यों को पूरा करने हेतु रूपरेखा तैयार की गई जिसमें कृषि क्षेत्र में दीर्घावधि ऋण के प्रवाह को बढ़ाने पर विशेष जोर दिया गया । जिले में कृषि यंत्रीकरण, खाद्यान्न भंडारण, पशुपालन, बागवानी, सब्जियाँ, मछलीपालन आदि गतिविधियों हेतु ऋण प्रदान करने के लिए बैंकों को निर्देशित किया गया। अग्रणी बैंक प्रबन्धक श्री बीएल मीणा द्वारा बैठक में 31 मार्च 2019 की लक्ष्य प्राप्ति का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया जो कि जिले में उपलब्ध पोटेंशियल के अनुरूप नहीं था । जिला कलेक्टर ने इस पर असंतोष जाहिर किया। साथ ही इस वर्ष जिले के लक्ष्यों को शत प्रतिशत प्राप्त करने हेतु सभी बैंकर्स एवं सरकारी विभागों को साथ मिलकर पूर्ण करने का निर्देश दिए। उन्होने कहा कि अल्प संख्यक वर्ग, एस एच जी ध्जे एल जी, आरसेटी आदि से प्राप्त ऋण आवेदनों का सकारात्मक सोच के साथ निस्तारण करें ताकि कमजोर वर्ग का उत्थान हो सके। आरसेटी प्रबंधक ने कहा कि आरसेटी से प्रशिक्षण प्राप्त अभ्यर्थी बैंकों में लोन के लिए जाता है तो उससे खाली पेपर पर साइन करवा लिया जाता है। और फिर उस साइन किए हुए खाली पेपर पर बैंक कर्मचारी ही लिख देते हैं कि मुझे बैंक लोन की आवश्यकता नहीं है। इस तरह के वाकिए कई बैंकों के सामने आए हैं। आरबीआई के प्रतिनिधि ने वित्तीय जागरूकता सप्ताह के दौरान सभी बैंकों से प्राप्त सहयोग के लिए धन्यवाद दिया, साथ ही सभी बैंकों को सभी प्रकार के आवेदनों का निस्तारण व लीड बैंक को डी जाने वाली एलबीआर सूचना समय पर भेजना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। डीडीएम नाबार्ड द्वारा जिले में कृषि क्षेत्र में दीर्घावधि ऋण हेतु जैसे कृषि यंत्रीकरण, खाद्यान्न भंडारण, पशुपालन, बागवानी, सब्जियाँ, मछलीपालन आदि गतिविधियों हेतु ऋण प्रदान करने की आवश्यकता पर बल दिया ताकि किसानों की अतिरिक्त आय में वृद्धि हो सके साथ ही भारत सरकार द्वारा प्रायोजित योजनाओं क्म्क्ै, ।डप् में उपलब्ध अनुदान का लाभ मिल सके। बैठक के आखिर में जिला कलक्टर ने कहा कि वित्तीय वर्ष की शुरूआत हो चुकी है। कुछ आइटम ऐसे हैं जिनमें प्रोग्रेस आनी ही चाहिए। उन्होने कहा कि जिले में खजूर प्रोसेसिंग यूनिट, किन्नू प्रोसेसिंग यूनिट और शहद प्रोसेसिंग यूनिट लगाने को लेकर लोगों को गाइड कर सकते हैं। उन्होने इस आशा के साथ बैठक का समापन किया कि जिले के सभी लक्ष्य शत प्रतिशत पूर्ण किए जाएंगे। इस बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, आरबीआई के एलडीओ श्री ए.के.तिवारी, नाबार्ड के ही डीडीएम श्री दयानन्द काकोडिया, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, एलडीएम श्री बीएल मीणा, एसबीआई के एजीएम श्री अभिषेक सिंह के अतिरिक्त सभी जिला बैंक समन्वयक एवं संबन्धित विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया।
हनुमानगढ़ 12 जून। राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद की बैठक बुधवार को कलैक्ट्रेट सभागार में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री परशुराम धानका की अध्यक्षता में आयोजित हुई। राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद भादरा ब्लॉक अधिकारी श्री हरीनारायण सावरिया ने कहा कि महिला सहायता समूह के सदस्यों के खाते बैंक अधिकारियों द्वारा दो -तीन माह तक नहीं खाले जा रहे है। इस पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री परशुराम धानका ने नाराजगी प्रकट करते हुए बैंक अधिकारियों से कहा कि वे 20 जून से पूर्व सभी आवेदन कर्ताओं के खाते आवश्यक रूप से खोल दें। जो बैंक अधिकारी निर्धारित तिथि तक खाते नहीं खोलेंगे उनके विरूद्ध कठोर कार्रवाई करने हेतु प्रस्ताव उच्च अधिकारियों को लिखा जाएगा। भादरा ब्लाक अधिकारी ने अवगत करवाया कि भादरा ब्लॉक में 19 महिलाओं के ऋण आवेदन पत्रों पर 15 जून को बैंक अधिकारियों के स्तर से ऋण स्वीकृत करने की कार्यवाही की जाएगी। श्री परशुराम धानका द्वारा सभी बैंक अधिकारियों से सकारात्मक सोच के साथ चलें तो महिला सहायता समूह को ज्यादा से ज्यादा लाभान्वित किया जा सकता है। बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री परशुराम धानका के अलावा,एससीएसटीनिगम प्रबन्धक श्री बजरंगलाल मीणा, श्री हरीनारायण सावरिया, संबंधित बैंकर्स प्रतिनिधि सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
हनुमानगढ़ जयपुर, 10 जून। मुख्य सचिव श्री डी बी गुप्ता ने प्रदेश में 22 जुलाई से शुरु होने वाले खसरा -रुबेला अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रत्येक जिला कलेक्टर तथा संबंधित अधिकारियों को दिशा- निर्देश दिये। मुख्य सचिव ने कहा कि खसरा और रुबेला गंभीर बीमारियां हैं और पोलियो से भी बड़ी चुनौती हैं। उन्होंने कहा कि इन्हें केवल टीकाकरण के माध्यम से ही रोका जा सकता है और इसीलिए देश भर में इस बीमारी से लड़ने के लिए युद्ध स्तर पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 22 जुलाई से यह अभियान चलाया जाएगा और इसके तहत लगभग 2 करोड़ 26 लाख बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य होना चाहिये कि एक भी बच्चा टीकाकरण से नही बचे। मुख्य सचिव ने प्रत्येक जिला कलेक्टर को इस अभियान के लिए जिला तथा ब्लॉक स्तर पर टास्क फोर्स गठित कर बैठक करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता के लिए अभियान से पहले ग्राम सभाओं तथा स्कूलों में इसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए। श्री गुप्ता ने कहा कि निजी चिकित्सकों तथा नेहरू युवा केन्द्रों की भी सहायता ली जा सकती है। मुख्य सचिव ने कहा कि सही तरीके से टीकाकरण किया जाना सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण है। उन्होंने चिकित्सा विभाग, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग तथा जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के अधिकारियों से आपसी समन्वय के साथ कार्य योजना तैयार कर काम करने के लिये कहा। उन्होंने कहा कि इस अभियान की सफलता प्रदेश के लिए एक चुनौति है और सभी के सहयोग से इसे सफल बनाया जा सकता है। एनएचएम मिशन निदेशक डॉ. समित शर्मा ने बताया कि यह केन्द्र सरकार का एक महत्वपूर्ण अभियान है। देश भर में इससे अब तक लगभग 30 करोड़ बच्चे लाभान्वित हो चुके हैं। उन्होंने कहा प्रदेश में यह अभियान 22 जुलाई से शुरु होकर 6 सप्ताह तक चलेगा, जिसके तहत 9 माह से लेकर 15 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा। श्री शर्मा ने कहा कि अभियान के विभिन्न चरणों में निजी और सरकारी स्कूलों तथा मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों, कच्ची बस्ती में रहने वाले, स्कूल नही जाने वाले बच्चों तथा ईंट भट्टों, घुमन्तु आबादी के बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जहां जयपुर से स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री आर. वेंकेटेश्वरन्, आयुक्त सूचना एवं जनसंपर्क विभाग श्री एनएल मीणा, श्रम एवं नियोजन विभाग सचिव श्री नवीन जैन, अतिरिक्त मिशन निदेशक एनएचएम श्री शंकर लाल कुमावत, नगरीय विकास विभाग के संयुक्त सचिव श्री एम एल योगी तथा संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे तो हनुमानगढ़ में वीडियो कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन, एडीएम श्री अशोक कुमार असीजा, सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, पीएमओ डॉ एमपी शर्मा, सीएमएचओ डॉ अरूण चमडि़या, आरसीएचओ डॉ विक्रम सिंह, डीपीएम श्रीमती रचना चौधरी, श्रम विभाग के श्री गजेन्द्र सिंह, महिला एवं बाल विकास विभाग के श्री प्रवेश सोलंकी समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।
हनुमानगढ़ 11 मई। जंक्शन ओवरब्रिज के नीचे स्थित गुरु रविदास मंदिर में मंगलवार को श्री गुरु रविदास सेवा समिति द्वारा इस भंयकर गर्मी के प्रकोप को देखते हुए राहगीरों के लिए हर वर्ष की भांति इस बार भी ठंडे मीठे पानी की छबील लगाई गई। इस अवसर पर बाबा रामसिंह, सतगुरपाल सिंह बंगा, मोहनलाल, नरेश कुमार, रूपाराम, मक्खन सिंह, अमरसिंह, आनंद कुमार, चेतनप्रकाश आदि ने अपनी सेवाएं देते हुए राहगीरों को ठंडा मीठा पानी पिलाकर गर्मी से कुछ राहत प्रदान की। इस मौके पर बाबा रामसिंह ने बताया कि समिति द्वारा पूर्व में भी ऐसे समाजसेवी कार्य किए जा रहे है जो आगे भी निरंतर जारी रहेंगे। 3
95 से अधिक विधार्थियों की दसवीं कक्षा में प्रथम श्रेणी,आठवी में ए प्लस व ए ग्रेड संगरिया.दसवीं और आठवी बोर्ड में कोंचिग संस्थान ने टॉप रिजल्ट देकर एक बार फि र से श्रेष्ठता कायम की है। यह बात मीरा कॉलोनी में स्थित टीच वैल कोचिंग संस्थान के डायेक्टर सतीश गर्ग ने कही। डायेरक्टर सतीश गर्ग ने बताया कि लगातार 15 वर्षो से बोर्ड कक्षाओं का संस्थान के द्वारा श्रेष्ठ परिणाम दिया जा रहा है। इस बार संस्थान के 95 से अधिक विधार्थियों दसवीं कक्षा में प्रथम श्रेणी प्राप्त की है। वही केशव पुत्र हनुमान प्रसाद मित्तल ने 96.67 प्रतिशत अंक प्राप्त किए है। वही संस्थान की निहारिका बुडानिया ने 95 प्रतिशत, मिनाक्षी ने 93.33 प्रतिशत, मुस्कान ने 92.33, नुपूर ने 91.50, गुनगुन ग्रोवर ने 91.17,नित्यम ने 91.17 व सन्नी ने 90 प्रतिशत अंक प्राप्त किये है। संस्थान के विधार्थियों ने गणित,विज्ञान,अंंग्रेजी व एसएसटी में 100 में से 100 अंक भी प्राप्त किए है। यह संस्थान की उपलब्धि है। डायेक्टर गर्ग ने बताया कि आठवी बोर्ड में 100 प्रतिशत परिणाम में विधार्थियों ने ए प्लस और ए रैंक प्राप्त किए है। उन्होने बताया कि संस्थान के द्वारा इंगलिश व हिंदी दोनो मीडियम के लिए 20 जून से दसवीं और आठवी बोर्ड कक्षाओं का तीसरा नया बैच शुरू होने जा रहा है। विशेषज्ञ शिक्षकों के द्वारा मैथ्स, साईंस, इंगलिश व एसएस.टी पर विशेष रूप से फ ोक्स किया जाता है। खास बात है कि विधार्थियों को बैच में रटाने की बजाये समझाने पर ध्यान दिया जाता है। कोंचिग में विधार्थियों पर सतीश सर द्वारा व्यक्तिगत रूप से ध्यान दिया जाता है। विधार्थियों को बोर्ड में शत प्रतिशत अंक लाने के लिए बोर्ड पैटर्न पर बार-बार पेपर्स का अभ्यास करवाया जाता है। कोचिंग में विधार्थियों से पूरे साल के लिए एक बार फ ीस ली जाती है और सलेब्स का तीन बार रिवीजन करवाया जाता है। जिससे विधार्थी की प्रत्येक विषय में बोर्ड पैटर्न पर अच्छी तैयारी भी हो जाती है। विधार्थी को कक्षा में समझ नही आने पर उनके डाउटस अलग से बताये जाते है। विधार्थियों को कोचिंग में प्रत्येक विषय के कम्प्यूटराईज्ड नोट्स भी दिये जाते है। कोचिंग में अनुभवी स्टॉफ के द्वारा सही मार्गदर्शन किया जाता है। अव्वल विधार्थियों को रविंद्र सर,गुरविंद्र सर,मोहित सर आदि के द्वारा मिठाई खिलाई गई। बोर्ड कक्षाओं में 100 में से 100 अंक लाने के दिए जाते है टिप्स कोचिंग में सतीश सर के द्वारा बोर्ड कक्षाओं में 100 में से 100 अंक लाने के अलग से विधार्थियों को टिप्स भी दिये जाते है। पांचवी,आठवी और दसवी बोर्ड कक्षाओं में बोर्ड पैटर्न का विधार्थियों को हर प्रकार से अभ्यास करवाया जाता है। अंग्रेजी,हिंदी और पंजाबी भाषाओं की ग्रामर को विशेषज्ञ अध्यापकों द्वारा करवाया जाता है। कई बार विधार्थी पुराने बोर्ड पैटर्न के अनुसार ही तैयारी करते रहते है। क्योकि हर साल बोर्ड का नया पैटर्न होता है। यह सब कोचिंग संस्थान में विधार्थी को पहले ही बता दिया जाता है । सभी विषयों की एक साथ कोचिंग से समय की होती है बचत डायरेक्टर गर्ग ने बताया कि विधार्थियों को अलग-अलग विषयों की कोचिंग के लिए इधर उधर भटकने से समय की बर्बादी होती है। सलेब्स भी मुश्किल से एक बार पूर्ण नही होता है। जिससे विधार्थी की सभी विषयों में अधिकतर परेशानी रहती है और परिणाम स्वरूप ऑल ओवर रिजज्ट भी अच्छा नही रहता । एक ही स्थान पर सभी विषयों का अध्ययन करने से समय की बचत के साथ साथ ऑल ओवर परिणाम बेहतर और अच्छा रहता है।
Ganganagar/Hanumangarh 9th June 2 Days 1st National Archery & CRB Crossbow Championship-2019 today concluded with the declaration of winners at Aryans Group of Colleges, Rajpura, Near Chandigarh. The championship was organized by Aryans in association with National Archery Sports Federation of India on the occasion of 13th Foundation Day. In the felicitation ceremony, Dr. Anshu Kataria, Chairman, Aryans Group presented trophies and medals to the winners. In the 2 days championship around 22 teams constituting 300 participants from Punjab, Haryana, Himachal Pradesh, JK, Rajasthan etc participated. Krishika Joshi sweeps highest score in women category with 193 points while Ishu Jain sweeps highest score in men category with 188 points. In men category: CRB Crossbow (under 15): Deepankar Garg(1st Position) with 160 points, Neeranter Singh (2nd position) with 145 points, Vishawjeet Singh (3rd position) with 140 points. In CRB Cadet Men (15-17 years): Agampreet Singh (1st position) with 157 points, Harneet Singh (2nd position) with 156 points, Gurnoor Handa (3rd position) with 153 points. In CRB Crossbow Men (18-21 years): Narinder Singh (1st position) with 170 points, Gurwinder Sharma (2nd position) with 166 points, Gurnoor Rana and Parul Pandit (3rd position) with 164 points. In CRB Crossbow Senior Men (21-50 years): Ishu Jain (1st position) with 188 points, Surinder Kumar (2nd position) with 177 points, Ishpinder Singh Walia (3rd position) with 160 points. In Women category: women crossbow (under 15): Krishika Joshi (1st Position) with 193 points, Khushi Sharma (2nd Position) with 115 points, Ravneet Kaur (3rd position) with 111 points. In CRB Cadet Women (15-17 years): Japneet Kaur (1st position) with 153 points, Jashanjot Singh (2nd position) with 137 points. In CRB Junior women (18-21 years): Khushboopreet Kaur (1st position) with 171 points, Arpandeep Kaur (2nd position) with 151 points. In CRB Senior Women (21-50 years): Shefali Goutam (1st position) with 142 points, Gagandeep Kaur (2nd position) with 120 points. On the occasion DSP, Rajpura, Sh. Manpreet Singh; Dr. Raman Rani Gupta, Principal, Aryans Group; Mr. Steven Jawinda, Registrar; Director of Federation Ms Savita Joshi; Coordinators Mr. Kamal, Mr. Parvez Joshi etc were also present.
-याचिकाकर्ता एडवोकेट संजय आर्य ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन -बजट आवंटन और शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक स्टाफ की नियुक्ति की मांग संगरिया। मीरा शिक्षा समिति के सचिव एवं हाई कोर्ट मेंं याचिकाकर्ता एडवोकेट संजय आर्य ने मीरा कॉलेज में शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक स्टाफ की नियुक्ति करने, मीरा कॉलेज के राजकीय विद्यालय के रूप मेंं संचालन के लिए बजट आवंटन करने तथा कॉलेज में प्रवेश के लिए ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया आरंभ करने की मांग की है। उन्होंने इस बारे में प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को ज्ञापन भेजा है। एडवोकेट आर्य ने ज्ञापन में कहा कि कॉलेज शिक्षा आयुक्त ने गत दिनों सभी सरकारी कॉलेजों को प्रवेश प्रक्रिया आरंभ करने के निर्देश जारी किए हैं लेकिन इसमें संगरिया के मीरा कन्या महाविद्यालय को शामिल नहीं किया गया है। जबकि मीरा कॉलेज में ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू करवानी चाहिए थी क्योंकि राजस्थान हाई कोर्ट का आदेश प्रभावी हो जाने के कारण मीरा कॉलेज 31 अगस्त 2013 से राजकीय महाविद्यालय है। आर्य ने कहा कि 31 अगस्त 2013 को तत्कालीन अशोक गहलोत सरकार ने संगरिया के मीरा गल्र्स कॉलेज का अधिग्रहण कर उनका सरकारीकरण कर दिया था। इसके बाद सत्तारूढ़ हुई भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने राजनीतिक कारणों से 26 सितंबर 2013 को मीरा कॉलेज को राजकीय महाविद्यालय की सूची से डिनोटिफाई कर दिया। मीरा कॉलेज की मातृ संस्था रही मीरा शिक्षा समिति ने इसके खिलाफ हाई कोर्ट की शरण ली। आर्य ने बताया कि हाई कोर्ट की एकल पीठ ने 17 अक्टूबर 2016 को मीरा कॉलेज को डि-नोटिफाई करने के सरकारी फैसले को निरस्त कर दिया। राज्य सरकार ने इसके खिलाफ हाई कोर्ट की खंडपीठ में अपील की। खंडपीठ ने 2 अप्रेल 2018 को निर्णय पारित कर एकल पीठ के निर्णय की पुष्टि कर दी। इन परिस्थितियों में मीरा कॉलेज को डिनोटिफाई किए जाने का आदेश रद्द हो चुका है और मीरा कॉलेज एक राजकीय महाविद्यालय है। आर्य ने ज्ञापन में राज्य के समस्त सरकारी कॉलेजों के साथ-साथ संगरिया के मीरा कॉलेज में भी ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया आरंभ कराने की मांग की है। उन्होंने ज्ञापन में लिखा है कि शिक्षा सत्र 2019-20 के लिए राजकीय महाविद्यालयों की प्रवेश नीति के अनुसार मीरा कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया कराई जाए ताकि क्षेत्र की बालिकाओं की सुचारू शिक्षा का मार्ग प्रशस्त हो सके। साथ ही, कॉलेज में बजट आवंटन एवं शैक्षणिक व गैर शैक्षणिक स्टाफ की नियुक्ति के काम भी प्राथमिकता के आधार पर किए जाएं।
हाई कोर्ट ने की अपेक्षा-संबंधित अधिकारी गुलाब कोठारी मामले में दिए निर्देशों की पालना करेंगे संगरिया। राजस्थान उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने अधिकारियों से अपेक्षा की है कि वह संगरिया के वार्ड 4 में आरक्षित जन उपयोग के लिए चिन्हित जगहों से गुलाब कोठारी बनाम राज्य सरकार प्रकरण में दिए गए निर्देशों की पालना करते हुए अतिक्रमण हटाने के लिए आवश्यक कदम उठाएंगे। उच्च न्यायालय के न्यायाधीश संगीत लोढ़ा एवं विनीत कोठारी की खंडपीठ ने संगरिया निवासी विद्यासागर शर्मा तथा विनोद कुमार मोदी की ओर से प्रस्तुत जनहित याचिका का निस्तारण करते हुए यह अपेक्षा की है। एडवोकेट संजय आर्य ने बताया कि संगरिया निवासी विद्यासागर शर्मा तथा विनोद कुमार मोदी ने जनहित याचिका पेश कर वार्ड 4 में शिवबाड़ी, दुर्गा मंदिर-पार्क, कब्रिस्तान आदि की भूमि पर अप्रार्थी गणों द्वारा किए गए अतिक्रमण हटाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को देने का आग्रह उच्च न्यायालय से किया था। न्यायाधीश लोढ़ा एवं कोठारी ने जनहित याचिका का निस्तारण करते हुए कहा कि गुलाब कोठारी बनाम राज्य सरकार प्रकरण में 12 जनवरी 2017 को दिए फैसले में न्यायालय आदेश पारित कर आरक्षित उपयोग के लिए चिन्हित जगहों से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दे चुका है। इसलिए संगरिया से संबंधित जनहित याचिका में अलग से पुन: निर्देश दिए जाने की आवश्यकता नहीं है। न्यायालय ने याचिका का निस्तारण करते हुए लिखा है कि संबंधित अधिकारी इस मामले में गुलाब कोठारी बनाम राज्य सरकार प्रकरण में दिए न्यायालय के निर्देशों की पालना करेंगे, ऐसी उनसे अपेक्षा की जाती है। गौरतलब है कि याचिकाकर्ताओं ने जनहित याचिका में राज्य सरकार, निदेशक स्थानीय निकाय विभाग, उपखंड अधिकारी संगरिया, अधिशासी अधिकारी संगरिया और छह अतिक्रमियों को प्रतिवादी बनाया था।
--अनेक सामाजिक संगठनों ने की सहभागिता संगरिया. स्थानीय राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय खेल मैदान में बुधवार को अनेक सामाजिक संगठनों द्वारा पौधरोपण किया गया। पर्यावरण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में उपखण्ड अधिकारी उमेदसिह रतनू, अधिशाषी अधिकारी देंवेंद्र कौशिक, प्रधानाचार्य जयपाल सिंह, हरदीप सिंह शाहपिनी, विनोद कुमार धारणियां, विजय सिंह बेनीवाल, इंद्रपाल सिंह सहायक वनपाल, हरि निर्मल जन जागृति संस्थान से संत हरदेव सिंह, राज किंगरा प्रधान श्रीगो सेवा संस्थान, श्रीराम सोशल सोसायटी के सदस्य संजय बिश्नोई, स्वच्छता निरीक्षक रामनारायण पंवार, राजेश चोयल, प्रमोद डेलू, कपिल करवा, विद्यार्थी कल्याण परिषद के राहुल बंसल, जाट सभा के अध्यक्ष राजीव सिहाग, भारतीय जनता युवा मोर्चा के सोनू जिंदल, उपभोक्ता संरक्षण समिति के संजय आर्य, खो-खो संघ के सचिव व कोच रामप्रताप गोदारा, अशोक जैन, मंगत स्वामी, हरीश शर्मा, भूपेंद्र भोबिया, करनजीत सिकंदर पटवारी, विकलांग संघर्ष समिति के देपाल सोनी, पार्षद दीपेंद्र जाखड़, मिशन बलजोत के हरमीत बलजोत, अमित खान, प्रवेश स्वामी, श्योपत बेनीवाल, बिश्नोई युवा संगठन के जयदीप बिश्नोई, अरविंद धारणिया, मेडिकल एसोसिएशन के पवन सोनी, रविंद्र भोभिया डायरेक्टर मीरा कालेज, भूपेंद्र स्वामी, अमन बिश्नोई , रवि जिंदल, मदन गुप्ता, शिव भगवान बिश्नोई, सुरेंद्रपाल सिंह, राज अक्कू, डिप्टी कंवल शर्मा आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम में हरदीप सिंह शाहपीनी द्वारा सबमर्सिबल स्थापित करने की घोषणा की। इस अवसर पर खेल मैदान के सुधार, स्टेडियम रुप में विकास व पंजाब से आ रहे गंदे पानी की समस्या के समाधान सहित अनेक विषयों पर चर्चा की गई। अभिनव पार्क में किया पौधरोपण संगरिया. स्थानीय अभिनव पार्क में पर्यावरण दिवस के अवसर पर बुधवार को पौधरोपण किया गया। कार्यक्रम में माहेश्वरी समाज के विजय राठी, कपिल करवा, विनय पेड़ीवाल, अभिनव संगरिया के हरीश शर्मा, डॉ.भूपेंद्र भोबिया व एडवोकेट रविंद्र भोबिया द्वारा पौधरोपण किया गया।
हनुमानगढ़, 4 जून। जिस गांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नहीं है वहां भी खुल सकेगी दवाईयों की दुकान। लाईसेंन्सिग ऑथोरिटी एवं सहायक औषधि नियंत्राक श्री अशोक मित्तल ने बताया कि गत् माह जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के साथ हुई बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार जिस गांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नहीं है वहां के लिए भी ड्रग लाइसेंन्स जारी किए जा सकंेगे। उन्होने बताया कि ड्रग लाइसेंस के लिए आवेदक को उसी ग्राम पंचायत का मूल निवास व स्वयं का रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट होना आवश्यक है।
हनुमानगढ़, 4 जून। जिस गांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नहीं है वहां भी खुल सकेगी दवाईयों की दुकान। लाईसेंन्सिग ऑथोरिटी एवं सहायक औषधि नियंत्राक श्री अशोक मित्तल ने बताया कि गत् माह जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के साथ हुई बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार जिस गांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नहीं है वहां के लिए भी ड्रग लाइसेंन्स जारी किए जा सकंेगे। उन्होने बताया कि ड्रग लाइसेंस के लिए आवेदक को उसी ग्राम पंचायत का मूल निवास व स्वयं का रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट होना आवश्यक है।
हनुमानगढ़, 4 जून। नगरपालिकाओं में रिक्त पदों के उप चुनाव हेतु मतदान केन्द्र स्थापित किए गए है। जिला निर्वाचन अधिकारी (नगरपालिका) श्री जाकिर हुसैन ने एक आदेश जारी कर रावतसर नगरपालिका के वार्ड 13 तथा नोहर नगरपालिका के वार्ड 12 में होने वाले वार्ड पार्षदों के उप चुनाव हेतु संबंधित क्षेत्रा के विधालय भवनों को अधिग्रहण कर मतदान केन्द्र स्थापित किए है। जारी आदेश के अनुसार रावतसर में पुलिस थाना के सामने स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कमरा नम्बर 1 तथा नोहर में नई अनाज मण्डी के पास स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कमरा नम्बर -2 को 9 एवं 10 जून दो दिवस के लिए अधिग्रहण किया है। अधिग्रहित भवनों में स्थापित मतदान केन्द्रों में समुचित व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने हेतु संबंधित क्षेत्रा के अधिशाषी अधिकारियों को पाबंद किया है।
हनुमानगढ़, 4 जून। राजस्थान डिस्ट्रिक्ट मिनरल फाउण्डेशन ट्रस्ट हनुमानगढ़ (डी.एम.एफ.टी.) स्ल्स, 2016 के नियम 10 के अन्तर्गत गठित मैनेजिंग कमेटी की बैठक 14 जून को प्रातः 11.30 बजे होगी। खान एवं भू विज्ञान विभाग के सहायक खनि अभियन्ता श्री एस.सी.अग्रवाल ने बताया कि शुक्रवार 14 जून को कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में होगी। उन्होने बताया कि बैठक में डी.एम.एफ.टी. मद के अन्तर्गत पूर्व में स्वीकृत कार्यो की प्रगति की समीक्षा, वर्ष 2016 -17 व 2017 -18 की ऑडिट रिपोर्ट का अनुमोदन तथा नए प्राप्त प्रस्तावों पर चर्चा की जाएगी।
जिला गोपालन समिति की कलक्टर की अध्यक्षता में हुई बैठक में मिली अनुमति हनुमानगढ़, 4 मई। जिला गोपालन समिति की मंगलवार को जिला कलेक्ट्रेट में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में हुई बैठक में जिले की सभी 166 गोशालाओं के लिए फरवरी-मार्च के अनुदान जारी करने की प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति दी गई। बैठक में जिला कलक्टर ने संयुक्त निदेशक पशुपालन डॉ मुखराम कड़वासरा को नियमानुसार जिले की सभी 166 गौशालाओं को फरवरी-मार्च के अनुदान देने की प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति जारी करने के लिए अधिकृत किया। इससे पहले डॉ कड़वासरा ने वर्ष 2018-19 की द्वितीय किस्त के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 29 मार्च 2019 की बैठक में जनवरी माह हेतु 166 पात्र गौशालाओं को द्वितीय किस्त का भुगतान करने के आदेश दिए थे जिसमें से 159 गौशालाओं का जनवरी माह का भुगतान कर दिया गया है। शेष 7 गोशालाओं को बजट के अभाव में अनुदान नहीं दिया जा सक। लिहाजा 159 गौशालों को 59 दिन का और 7 गौशालाओं को 90 दिन के अनुदान का भुगतान करने के निर्देश दिए गए। डॉ कड़वासरा ने बताया कि गौशालाओं के बिल मिलते ही भुगतान जल्द कर दिया जाएगा। डॉ कड़वासरा ने बताया कि गौशालाओं को अनुदान देने के लिए तीन बार गोशालाओं को सर्वे किया जाता है। एक बार पशुपालन, दूसरी बार पशुपालन विभाग और रेवन्यू के तहसीलदार और तीसरी बार औचक निरीक्षण पशुपालन विभाग और जिला कलेक्टर के नोमीनी के द्वारा किया जाता है तीनों में से जिसमें सबसे कम अनुदान होता है वो जारी किया जाता है। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ मुखराम कड़वासरा, टीओ श्री महादेव बलारा, कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री दानाराम गोदारा उपस्थित थे।
जिले में ग्वार की जगह तिल को स्थापत कर किसानों की आय दुगुनी करने की कवायद एग्रीकल्चर टेक्नोलोजी मैनेजमेंट एजेंसी(आत्मा) परियोजना की शासी परिषद की बैठक में अधिकारियों ने दी जानकारी बैंक केसीसी लिमिट और लोन सही फसल का ही जारी करे- कलक्टर जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने बैंक अधिकारियों को दिए निर्देश जिले में किन्नू के किसानों का व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर दिसंबर में उन्हें दी जाएगी ट्रेनिंग हनुमानगढ़, 4 जून। अगर सब कुछ ठीक चला तो जिले के किसान जल्द ही ग्वार की जगह तिल की खेती करते नजर आएंगे। इससे किसानों की आय तो दुगुनी होगी ही जिले की तस्वीर ही बदल जाएगी। मंगलवार को जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन की अध्यक्षता में कृषि विभाग की आत्मा परियोजना की शादी परिषद की हुई बैठक में उपनिदेशक आत्मा श्री जय नारायण बेनीवाल ने जानकारी दी कि जिले में फिलहाल करीब 1500 हैक्टेयर जमीन पर ही तिल की खेती होती है। जिसमें से ज्यादातर इलाका नोहर-भादरा का बारानी क्षेत्र है। एक बीघा में 3-4 क्विटंल तिल होता है और तिल के भाव करीब 10हजार हैं। यानि तिल की प्रति बीघा इनकम 30-40 हजार है। जबकि जिले में ग्वार की खेती बारानी में 2 लाख 60 हजार हैक्टेयर और कमांड इलाके में 1 लाख 6 हजार हैक्टेयर में होती है। प्रति बीघा करीब 4 क्विटंल ग्वार होता है 4 हजार के भाव से इनकम करीब 16000 ही बैठती है। यानि किसान को अगर तिल की खेती की पूरी जानकारी दी जाए तो तिल के जरिए अपनी इनकम दुगुनी कर सकता है। श्री बेनीवाल ने बताया कि टेक्नोलोजी के अभाव में किसान तिल की खेती नहीं करता है। लेकिन अब हम हिसार समेत कई कई विश्वविद्यालयों कीआधुनिक टेक्नोलोजी किसानों को देंगे। उपनिदेशक आत्मा श्री बेनीवाल ने बताया कि तिल की खेती को जिले में प्रमोट करने के लिए हम प्रत्येक तहसील में करीब 100-100 किसानों के खेत में डेमोस्ट्रेशन लगाएंगे। एक ब्लॉक में 1-2 ग्राम पंचायत का ही चयन किया जाएगा। उन्होने बताया कि ग्वार संवेदनशील होता है लिहाजा उसमें ट्यूबवैल का पानी नहीं लगा सकते जबकि तिल मेें लगा सकते हैं। हमारे देश से प्रति वर्ष करीब 4 हजार करोड़ का तिल का तेल एक्सपोर्ट किया जाता है और ओयल सीड के रेट गिरने का कोई कारण भी नहीं है। लिहाजा तिल के रेट भी 10 हजार के आसपास ही रहने हैं। श्री बेनीवाल ने बताया कि आत्मा परियोजना की थीम ही रूटीन से हटकर अलग करने की है लिहाजा इस प्रोजेक्ट को सफल बनाने में विभाग कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा। बैंक केसीसी लिमिट और फसल सही फसल का ही जारी करे- बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कहा कि देखने में आता है कि केसीसी लिमिट बढ़ाने के चलते बैंक कपास की फसल दिखा देता है। ऐसा नहीं होना चाहिए। जो फसल खेत में है उसी के आधार पर लिमिट और लोन स्वीकृत हो। फसल बीमा की मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए। साथ ही कहा कि बीमा कंपनी का ऑफिस हर ब्लॉक में होना चाहिए। साथ ही जिला कलक्टर ने कहा कि जन घोषणा पत्र के अनुरूप कृषि विभाग योजना तैयार कर उस पर कार्य करे। किन्नू के किसानों का बनाया जाएगा व्हाट्सअप ग्रुप- बैठक में श्री बेनीवाल ने बताया कि जिले में करीब 500 किसान होंगे जिन्होने किन्नू का बाग लगाया हुआ है। इन किसानों का अब ब्लाक वाइज व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर उन्हें दिसंबर में ट्रेनिंग देंगे। ताकि किसान किन्नू ही अच्छी फसल ले सके। व्हाट्सअप ग्रुप पर समय समय पर जानकारी दी जाएगी। अभी हालात यें है कि जिले के किन्नू के किसानों को आधुनिक टेक्नोलोजी की जानकारी नहीं मिल पाती है और फसलें पिट जाती है। जिले में किन्नू, खजूर और शहद प्रोसेसिंग यूनिट खोलने की मांग- बैठक में आए प्रगतिशील किसानों ने जिला कलक्टर से मांग करते हुए कहा कि जिले में किन्नू और खजूर की प्रोसेसिंग यूनिट खुल जाए तो किसानों को फसल के दाम अच्छे मिलने लगेंगे। केवीके संगरिया के डॉ अनूप कुमार ने बताया कि जिले में करीब 400 किसान मधुमक्खी पालन कर रहे हैं और 80-90 हजार बॉक्स लगा रखे हैं। वे शहद का रॉ मेटिरियल 70-80 रूपए में बेचते हैं व्यापारी उनसे शहद लेकर प्रोसेसिंग कर 250 रूपए लीटर में बेचता है अगर यहां केवीके में ही शहद प्रोसेसिंग यूनिट खुल जाए तो किसानों को बड़ा फायदा होगा। नहरबंदी में किन्नू किसानों को डिग्गी भरने की मिले अनुमति-बैठक में किसान श्री दयाराम जाखड़ ने मांग करते हुए कहा कि भाखड़ा में एक डेढ़ महीने की बंदी आती है उस दौरान किन्नू की फसल पिट जाती है और किसान बाग को बचा नहीं पाता। सिंचाई विभाग जब नहरों में पीने का पानी छोड़ता है तब किन्नू किसानों की डिग्गियां भरने की छूट मिले। ताकि फसल को बचाया जा सके। बैठक में उपनिदेशक कृषि श्री दानाराम गोदारा ने जानकारी दी कि जिले में अगस्त तक टिड्डी के आने का खतरा बना रहेगा। जिले में उर्वरक और बीज की कोई कमी नहीं है। जिले में रावतसर, हनुमानगढ़ और नोहर ई-मंडियां बनने जा रही है। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री दानाराम गोदारा, आत्मा परियोजना के उपनिदेशक श्री जय नारायण बेनीवाल,पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, सहायक निदेशक उद्यान डॉ प्रमोद कुमार, केवीके संगरिया के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ अनूप कुमार,एडी नोहर श्री बलबीर सिंह खाती, एडी भादरा श्री मुंशीराम ढिल्ल, एमडी सीसीबी श्री सुरेश मीणा, डीआर कॉपरेटिव श्री अमीलाल सहारण, संयुक्त निदेशक पशुपालन डॉ मुखराम कड़वासरा समेत बड़ी संख्या में जिले के प्रगतिशील किसान उपस्थित थे।
हनुमानगढ़, 31 मई। राज्य सरकार द्वारा जारी जन धोषणा पत्र को लागू करने को लेकर शुक्रवार को कलैक्ट्रेट सभागार में बीकानेर संभागीय आयुक्त श्री हरसहाय मीणा की अध्यक्षता में समीक्षात्मक बैठक आयोजित हुई। बैठक में श्री मीणा ने जिले में सफल व शांतिपूर्ण लोकसभा चुनाव संपन्न करवाने के लिए सभी अधिकारियों को धन्यवाद दिया। उन्होंने समस्त विभागों के अधिकारियों को अपने विभाग से संबंधित योजनाओं की सभी गतिविधियों के बारे में प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। श्री मीणा ने जिले में संचालित मनरेगा कार्यक्रम की प्रगति रिपोर्ट का अवलोकन करते हुए मुख्य कार्यकारी अधिकारी को राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मजदूरी दर पर सभी श्रमिको को भुगतान करने के निर्देश दिए। उन्होनें जिले में संचालित समस्त समाज सकल्याण योजनाओं के लिए महिला, विषेश योग्यजन व्यक्ति, पिछडी जाति, व अल्पसंख्यक लोगो की भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसके अलावा स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम के तहत टांका निर्माण, खेल मैदान, श्मशान व कब्रीस्तान के रख रखाव आदि समस्त कार्यक्रमों को समयबद्ध पूर्ण करने को कहा। संभागीय आयुक्त ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को जिले में गर्भवती महिला को मूलभूत सुविधा उपलब्ध करवाने, जिले को नशामुक्त बनाने व ई-सिगरेट के इस्तेमाल की बढ रही लत को रोकने के लिए एक्शन प्लान बनाकर त्वरित कार्यवाही के आदेश दिए। इसके अलावा अनाधिकृत रूप से काम कर रहे झोलाछाप डॉक्टरों पर भी लगाम लगाने के लिए निर्देश दिए। श्री मीणा ने गर्मी के मौसम व हाल में आए तुफान की वजह से ढिले पडे बिजली के तारों को दुरस्त करने, टास्फामरों के चारोओर से फैन्सींग करने, बिजली चोरी को रोके जाने, किसानो में जिसों के भावों की जागरूकता बढाने के लिए शहर के मुख्य स्थानों पर देश की प्रमुख मंडियों के भावों को दर्शाने वाले डिस्पले बोर्ड लगाने व समस्त स्थानीय मंडियों को ईमंडी से जोडे जाने हेतु अधिकारियो को कहा ताकी किसान अपनी फसलों का अधिकाधिक दाम पा सके। देश में लगातार बढ रहें कॉरपोरेटिव सोसाएटी के धोटालों को देखते हुए जिले में संचालित समस्त कॉरपोरेटिव सोसाएटीज की जांच कर फर्जी तरिके से संचालित की जा रही सोसायटीज के खिलाफ कार्यवाही करने व फर्जीवाडे से बचने के लिए लोगो को जागरूक करने हेतु पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित किया । उन्होने सडक हादसों से बचने के लिए जिला परिवहन अधिकारी से समस्त वाहनों पर रिफलैक्टर लगवाने, सभी पेंटाªेल पम्प संचालकों को रिफलैक्टर रहित वाहनों पर रिफलैक्टर लगवाने, शहर में होने वाले धरने प्रदर्शनों के लिए शहर से बाहर स्थान चिन्हित करने को कहा ताकि इससे आम लोगों को परेशानी ना हो तथा ट्रेफिक व्यवस्था भी प्रभावित ना हों। उन्होंने महिला शिक्षा पर जोर देते हुए आगामी शैक्षणिक सत्र में महिला विद्यार्थिया की संख्या बढानें व महिला सशक्तिकरण के लिए जिले में कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए। जिले में बैरोजगार भतों के लिए प्राप्त आवेदन पत्रों की तुरंत पात्रता संबधी जांच की जाए ताकी पात्र अभ्यर्थी को इसका लाभ जल्द से जल्द लाभ मिल सके। श्रम विभाग की प्रगति रिपोर्ट पर असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि निर्माण श्रमिकों के भुगतान से संबंधित आवेदन पत्रों की पन्डेसी ज्यादा है इसे एक माह आवेदन पत्रों की जांच पूरी कर पात्र निर्माण श्रमिकों लाभान्वित किया जाए। जिले में अनुचित तरीके से संचालित हो रहे आरकेसीएल सेंटरों की जांच करने एवं अनुचित पाए जाने पर उन्हें बंद किया जाए तथा समस्त मदरसों को राज्य सरकार की योजनानुसार कम्प्यूटरीकरण से जोडा जाने पर बल दिया। नगर पालिका क्षेत्र में आवारा पशुओं की रोकथाम हेतु सभी अधिशाषी अधिकारियों को प्रभावी कदम उठाए ताकि आवारा पशुओं की टक्कर से जोटिल होने की घटनाओं को रोका जा सके। शहरी क्षेत्रों में चल रहे कॉचिंग सैन्टर एवं मैरीज पैलस की जांच की जाए तथा इन स्थानों पर आपालकाल संबंधित सभी सुविधाए उपलब्ध नही होने पर ऐसे मामलों पर सख्त कार्यवाही की जाए। इसके अलावा उन्होने सभी निजी एवं राजकीय कार्यालयों में अग्नी श्मन यन्त्र सही हालत में रखे जाए तथा इनकी समय -समय पर देखभाल भी की जाए। श्री मीणा ने ई मित्रा प्लस की बंद पडी मशीनों को तत्काल चालू करने हेतु एसीपी को निर्देश दिए। इससे पूर्व संभागीय आयुक्त श्री हरसहाय मीणा ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले को तंबाकु सेवन मुक्त बनाने हेतु कलैक्ट्रेट में रखे गए फलैक्स पर हस्ताक्षर किए गए। बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अशोक असिजा, एसडीएम श्री कपील यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री परशुराम धानका, डीएसओ के अलावा संबंधित विभागों अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।
हनुमानगढ़. समाज सेविका प्रेरणा पाहुजा को समाजिक हित के कार्यों व बेटियों की आवाज को मुखर करने के लिए नेशनल अचीवर्स अवार्ड से नवाजा गया।अंतरराष्ट्रीय मातृत्व दिवस के उपलक्ष्य में कार्यक्रम का भव्य आयोजन 26 मई 2019 को पंचकूला में किया गया। ये सम्मान डाक्टर किरण कम्बोज(हरियाणा महिला विश्वविद्यालय की रजिस्ट्रार) ने अपने कर कमलों से क्राउन पहनाकर और मेडल व प्रशस्ति पत्र देकर दिया,इस मौके पर मिसेज एशिया 2019 सर्बजीत कौर,राजेंद्र कपूर चीफ वार्डन सिविल डिफेंस,दिल्ली,अभय मीना,एसीपी सीआईडी,जयपुर,बॉलीवुड एक्टर कमल मलिक सहित देश की अन्य हस्तियां माजूद रही,इस सम्मान समारोह की आयोजक व वूमेन पावर सोसायटी इंडिया की अध्यक्ष मोनिका अरोरा ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रेरणा सहित देश-विदेश की उन शख्सियतों को भी सम्मानित किया गया, जिन्होंने पत्रकारिता, चिकित्सा व शिक्षा सहित अन्य सामाजिक कार्यों में उत्कृष्ट कार्य किया है। हनुमानगढ़ के लिए गर्व की बात है कि संस्था की प्रेरणा पाहुजा पहले भी देहदान का संकल्प व अन्य सामाजिक कार्यों के लिए सम्मानित हो चुकी हैं।
- राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम (एनटीसीपी) के तहत आज ‘दो को रोको-चार को टोको‘ जन-जागरुकता अभियान की शुरुआत की। अभियान के तहत जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने आज संदेश लिखे हुए बोर्ड पर हस्ताक्षर कर इसकी शुरूआत की। उन्होंने कहा कि लोगों को तम्बाकू के हानिकारक दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देना अत्यंत आवश्यक है। वे स्वयं जब किसी को तम्बाकू का सेवन करते देखते हैं, तो उसे अवश्य टोक देते हैं। उनके साथ जिला परिषद सीईओ परशुराम धानका, सीएमएचओ डॉ. अरुण कुमार, पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, डॉ. रविशंकर शर्मा, विभिन्न विभागों के अधिकारीगण, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, सीएचसी इंचार्ज, बीपीएम व चिकित्सा स्टॉफ के अधिकारियों ने भी इस पर हस्ताक्षर कर शपथ ली। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने अभियान के बारे में बताया कि चिकित्सा विभाग ने आज से ‘दो को रोको-चार को टोको‘ जन-जागरुकता हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत की है, जिसके तहत शहर का जागरुक लोगों से इस बोर्ड पर हस्ताक्षर करवा कर शपथ दिलवाई जाएगी कि वे स्वयं तम्बाकू का सेवन करने वालों को इससे होने वाली बीमारियों एवं दुष्प्रभावों से अवगत करवाएंगे और उसकी यह बुरी आदत छुड़वाने की हरसम्भव कोशिश करेंगे। सीओ-आईईसी मनीष मनीष शर्मा ने बताया कि इस बोर्ड को जिला कलक्ट्रेट परिसर में रखवा दिया गया है, जहां आमजन को अपील की जाएगी कि आप भी शपथ लेकर इस अभियान में शामिल हों। उन्होंने बताया कि इस संदेश के माध्यम से आग्रह किया जाएगा कि वे इस बोर्ड पर हस्ताक्षर कर शपथ लें कि अपने आसपास तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों को रोकते और टोकते रहेंगे। आपकी मनुहार के चलते वह व्यक्ति अवश्य ही इसका सेवन कम करने लगेगा और आपके सामने तो बिलकुल ही नहीं करेगा। शुरुआत में यह बोर्ड जिला कलक्ट्रेट परिसर, एमजीएम जिला अस्पताल सहित, समस्त सरकारी परिसर, चिकित्सा विभाग के समस्त ब्लॉकों ऑफिस व सीएचसी पर लगाए जाएंगे। सरकारी ऑफिसों के अधिकारियों-कर्मचारियों से आग्रह किया जाएगा कि वे अधिकाधिक संख्या में इस जन-जागरुकता हस्ताक्षर अभियान के अंतर्गत जनमानस को जोड़ें।
- राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम (एनटीसीपी) के तहत आज ‘दो को रोको-चार को टोको‘ जन-जागरुकता अभियान की शुरुआत की। अभियान के तहत जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने आज संदेश लिखे हुए बोर्ड पर हस्ताक्षर कर इसकी शुरूआत की। उन्होंने कहा कि लोगों को तम्बाकू के हानिकारक दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देना अत्यंत आवश्यक है। वे स्वयं जब किसी को तम्बाकू का सेवन करते देखते हैं, तो उसे अवश्य टोक देते हैं। उनके साथ जिला परिषद सीईओ परशुराम धानका, सीएमएचओ डॉ. अरुण कुमार, पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा, आरसीएचओ डॉ. विक्रम सिंह, डॉ. रविशंकर शर्मा, विभिन्न विभागों के अधिकारीगण, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, सीएचसी इंचार्ज, बीपीएम व चिकित्सा स्टॉफ के अधिकारियों ने भी इस पर हस्ताक्षर कर शपथ ली। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने अभियान के बारे में बताया कि चिकित्सा विभाग ने आज से ‘दो को रोको-चार को टोको‘ जन-जागरुकता हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत की है, जिसके तहत शहर का जागरुक लोगों से इस बोर्ड पर हस्ताक्षर करवा कर शपथ दिलवाई जाएगी कि वे स्वयं तम्बाकू का सेवन करने वालों को इससे होने वाली बीमारियों एवं दुष्प्रभावों से अवगत करवाएंगे और उसकी यह बुरी आदत छुड़वाने की हरसम्भव कोशिश करेंगे। सीओ-आईईसी मनीष मनीष शर्मा ने बताया कि इस बोर्ड को जिला कलक्ट्रेट परिसर में रखवा दिया गया है, जहां आमजन को अपील की जाएगी कि आप भी शपथ लेकर इस अभियान में शामिल हों। उन्होंने बताया कि इस संदेश के माध्यम से आग्रह किया जाएगा कि वे इस बोर्ड पर हस्ताक्षर कर शपथ लें कि अपने आसपास तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों को रोकते और टोकते रहेंगे। आपकी मनुहार के चलते वह व्यक्ति अवश्य ही इसका सेवन कम करने लगेगा और आपके सामने तो बिलकुल ही नहीं करेगा। शुरुआत में यह बोर्ड जिला कलक्ट्रेट परिसर, एमजीएम जिला अस्पताल सहित, समस्त सरकारी परिसर, चिकित्सा विभाग के समस्त ब्लॉकों ऑफिस व सीएचसी पर लगाए जाएंगे। सरकारी ऑफिसों के अधिकारियों-कर्मचारियों से आग्रह किया जाएगा कि वे अधिकाधिक संख्या में इस जन-जागरुकता हस्ताक्षर अभियान के अंतर्गत जनमानस को जोड़ें।
हनुमानगढ़। जिले में पांच वर्ष की आयु तक के बच्चों में दस्त के कारण होने वाली मृत्यु दर में कमी लाने के लिए आमजन में जनचेतना जाग्रत करने के लिए गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा जिले में शुरु कर दिया गया। इस पखवाड़े के दौरान उप स्वास्थ्य केन्द्र, आंगनबाड़ी केन्द्र से लेकर जिला अस्पताल तक ओरआरएस कॉर्नर स्थापित किए गए हैं, जहां पर बच्चों को जिंक टेबलेट व ओआरएस के पैकेट्स वितरित किए गए। जिले के सभी ब्लॉकों में स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा छोटे बच्चों वाले परिवारों में ओआरएस के पैकेट बांटे गए व बच्चों को जिंक टैबलेट खाने को दी गई। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि जिले में बाल मृत्यु कम करने की कवायद को लेकर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा कार्यक्रम आज शुरु कर दिया गया, जो 9 जून तक चलेगा। कार्यक्रम के पहले दिन आज जिले में 5 साल से छोटे बच्चों को ओआरएस घोल तथा जिंक टैबलेट उपलब्ध करवाई गई। जिले के समस्त ब्लॉकों में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के परिवारों तक दस्त रोग के इलाज के लिए जरूरी जीवन रक्षक ओआरएस के घोल एवं जिंक की गोली के उपयोग एवं बनाने की विधि के संदेश को पहुंचाए गए। उन्होंने बताया कि जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों पर ओआरएस तथा जिंक तैयार करने एवं इसके उपयोग की विधि सिखाने के लिए ओआरएस जिंक डेमोंस्ट्रेशन साइट की स्थापना की गई। समस्त ब्लॉकों में आशाओं ने घर-घर जाकर प्रोफाइलेक्टिक ओआरएस का वितरण किया। आशा सहयोगिनी, एएनएम इत्यादि द्वारा विद्यालयों में विद्यार्थियों को स्वच्छता, पौष्टिक आहार एवं खाना खाने से पहले व बाद में हाथ धोने के महत्व एवं अन्य स्वास्थ्य शिक्षा की जानकारियां दी जा रही हैं।
-संस्था प्रतिनिधियों, अधिकारियों और जांच दल प्रभारियों को सुनवाई मेंं बुलाया संगरिया। मीरा कन्या महाविद्यालय के संबंध में राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा पारित निर्णय की अनुपालना के संबंध मेंं राज्य सरकार 29 मई को जयपुर में सुनवाई करेगी। इस सुनवाई मेंं मीरा कॉलेज को राज्य के अधीन लेने अथवा नहीं लेने के बारे में संबंधित लोगों के पक्ष सुने जाएंगे। इस मसले को हाई कोर्ट में ले जाने वाले मीरा शिक्षा समिति के सचिव एडवोकेट संजय आर्य ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से 29 मई को सुबह 11 बजे जयपुर में शासन सचिवालय स्थित शासन सचिव (उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग) कार्यालय में यह सुनवाई होगी। सुनवाई में संबंधित शिक्षण संस्था पदाधिकारियों, अधिकारियों और जांच दल प्रभारियों को बुलाया गया है। आर्य ने बताया कि पूर्ववर्ती अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने एक निर्णय कर संगरिया के मीरा गल्र्स कॉलेज सहित राज्य के छह प्राइवेट कॉलेजों का सरकारीकरण कर दिया था। इसके बाद सत्तारूढ़ हुई भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने 26 सितंबर 2013 को आदेश जारी कर मीरा कॉलेज समेत सभी कॉलेजों को राजकीय महाविद्यालय की सूची से डिनोटिफाई कर दिया। मीरा कॉलेज की मातृ संस्था रही मीरा शिक्षा समिति ने इसके खिलाफ हाई कोर्ट की शरण ली। हाई कोर्ट की सिंगल बेंच ने 17 अक्टूबर 2016 संगरिया के मीरा कॉलेज को डि-नोटिफाई करने के सरकारी फैसले को निरस्त कर दिया। राज्य सरकार ने इसके खिलाफ हाई कोर्ट की डबल बेंच में अपील की। डबल बेंच ने 2 अप्रेल 2018 को निर्णय पारित कर एकल पीठ के निर्णय की पुष्टि कर दी। गौरतलब है कि हाई कोर्ट के फैसले की पालना के संबंध मेंं राज्य सरकार के निर्देश पर जयपुर मेंं पिछले साल जून 2018 को भी सुनवाई की गई थी। इसके बाद फरवरी 2019 मेंं राज्य सरकार ने दो दलों का गठन कर उन्हें मीरा कॉलेज की भूमि, स्टाफ एवं संसाधनोंं की जांच के बाद सात दिवस में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा था। जांच दलों ने मीरा कॉलेज का अवलोकन कर निर्धारित समय में रिपोर्ट दे दी थी। अब सरकार ने इस रिपोर्ट के आधार और कॉलेज का पक्ष सुनकर इस मसले पर निर्णय करना तय किया है। इसीलिए जयपुर मेंं पुन: सुनवाई आयोजित की गई है।
हनुमानगढ़। राष्ट्रीय युवक परिषद हनुमानगढ़ की जिला कार्यकारणी के सदस्यों ने जिलाध्यक्ष प्रवीण जैन की अध्यक्षता में अतिरिक्त जिला कलक्टर को शहर में आवारा कुत्तों एवं पशुओं से निजात दिलवाने के संबंध में ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के अनुसार हनुमानगढ़ जंक्शन व टाउन कीसडक़ों व गलियों में आवारा पशु व कुत्तों की भरमार है जिनसे आम नागरिक व वाहन चालकों को परेशानी होती है। आवारा कुत्तों व पशुओं के कारण वाहनों के टकराने से कई लोग चोटिल भी हो चुके है। यह आवारा पशु व कुत्ते सडक़ों पर मल मूत्र त्याग कर गन्दगी फैलाते है। कई नागरिक अपने पशुओं को लेकर सडक़ों पर चिवरण के लिये खुला छोड़ देते है जो कि राहगीरों को घायक कर कई बार उनकी जान भी ले चुके है। आवारा सांड आपस में लडाई करते है जिनसे कई बार आम नागरिक घायल हुये है और वाहनों का नुकसान होता है वो अलग। राष्ट्रीय युवक परिषद ने मांग की है कि इन आवारा पश्ुाओं व कुत्तेां को पकडऩे के लिये नगरपरिषद को निर्देश दे, जिससे शहर सुन्दर व स्वच्छ बन सके और स्वच्छ व स्वस्थ हनुमानगढ़ का सपना साकार बना रहे। इस मौके पर जिलाध्यक्ष प्रवीण जैन, मनोज तंवर, राजेश अरोड़ा, परसाराम नंदा, भोला सिंह, संदीप गोदारा, रामलाल कांवलिया, हंसराज गर्ग, मदनलाल बागड़ी, सुभाषचंद सुखीजा, रमेश कुमार खन्ना, प्रदीप कुमार, सावंरमल, दुर्गा प्रसाद व अन्य सदस्य मौजूद थे।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की योजनाओं की जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने की समीक्षा हनुमानगढ़, 27 मई। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने सोमवार को जिला कलेक्ट्रेट सभागार में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की योजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान जिला कलक्टर ने कहा कि सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार करवाने की आवश्यकता है ताकि आमजन को इसका फायदा मिल सके। बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक श्री विक्रम सिंह ने विभागीय योजनाओं यथा अनुसूचित जाति -जनजाति उत्तर मेट्रिक छात्रवृत्ति योजना, छात्रावास संचालन, अनुप्रति योजना, अत्याचार निवारण योजना, दहेज प्रतिषेध अधिनियम, लोकल लेवल कमेटी, नवजीवन योजना इत्यादि की जानकारी व प्रगति के बारे में विस्तार से बताया। बैठक में इसके अलावा बाल अधिकाारिता विभाग के अंतर्गत जिला बाल संरक्षण इकाई के अंतर्गत किशोर न्याय अधिनियम 2015 एवं आदर्श नियम 2016 की समीक्षा भी की गई। जिसमें 18 वर्ष तक के अनाथ, बाल श्रमिक व बाल अपचारी बच्चों के बारें में संचालित कार्यक्रमों एवं योजनाओं की जानकारी दी गई । बैठक में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा एसडीएम श्री कपिल यादव, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई,सीएमएचओ डॉ अरूण चमडि़या, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता के सहायक निदेशक श्री विक्रम सिंह शेखावत, जिला श्रम अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह,जिला आबकारी अधिकारी श्री सहदेव रतनू, जिला उद्योग केन्द्र की जीएम सुश्री आकाशदीप सिद्दू, जिला शिक्षा अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह यादव, सहायक निदेशक महिला एवं बाल विकास श्री प्रवेश सोलंकी समेत स्वयं सेवी संस्थाओं के कार्मिक उपस्थित थे।
हनुमानगढ़। पीएम नरेंद्र दामोदर दास मोदी अपने अधिकांश पुराने साथियों पर विश्वास जता उन्हें दुबारा मंत्रिमंडल में शामिल करेंगे,इसकी पूरी सम्भावना है।मोदी ने कल सर्वसम्मति से एनडीए का नेता चुने जाने के बाद राष्ट्रपति से मिल सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। पिछले मंत्रिमंडल में कई मंत्रियों ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया ,उन्हें दुबारा मंत्री बनाया जाना तय है।राजनाथसिंह,नितिन ,सुषमा स्वराज,निर्मला सीतारमन,प्रकाश जावडेकर, जनरल वीके सिंह, किरन रिजुजू,मुख्तार अब्बास नकवी का पुराने मंत्रालयों के साथ वापसी तय है। जितेंद्र सिंह,राज्यवर्धनसिंह,हर्षवर्धन,विजय गोयल,गजेन्द्र सिंह,अर्जुन मेघवाल,RAVIPARSHAD शंकर,पीयूष गोयल,सुरेश प्रभु,मेनका गांधी,हरसिमरत कौर बादल, हरदीप सिंह पुरी, इन्द्र जीत राव, स्मृति ईरानी, जेपी नड्डा, धर्मेन्द्र प्रधान,बाबुल सुप्रिय,का दुबारा मंत्री बनना तय है।इनके अलावा अनुराग ठाकुर, बिजेंद्र सिंह, सिरसा से एमपी सुनीता को भी मंत्री बनाया जा सकता है।अरुण जेटली की बिना मंत्रालय या कम प्रभाव वाला मंत्रालय उनकी सेहत को देखते हुए दिया जा सकता है।पीयूष गोयल नए वित मंत्री हो सकते हैं,यूपी से रीता बहुगुणा भी मंत्री बनाईं जा सकती है।राजस्थान से पीपी चौधरी भी मंत्री बनाए जा सकते हैं।अपना दल की अनुप्रिया पटेल का भी मंत्री बन बनना तय है।एनडीए के सहयोगी जो नाम प्रस्तावित करेंगे उन्हें मंत्री बनाया जाएगा। मदन अरोड़ा
एडीएम ने जंक्शन स्थित बाइपास पर गंदे पानी निकासी का लिया नगर परिषद अधिकारियों के साथ लिया जायजा हनुमानगढ़, 17 मईई। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के निर्देश पर शुक्रवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अशोक कुमार असीजा ने जंक्शऩ स्थित बाइपास पर गंदे पानी के भराव की समस्या का मौका मुआयना किया। साथ ही नगर परिषद के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बाइपास रोड़ के साथ साथ जो पानी भराव लेता है उसे तुरंत बंद किया जाए। जब तक उच्च जलाशय और ट्रीटमेंट प्लांट का कार्य पूर्ण नहीं होता तब तक इस उपचारित पानी की निकासी नहर के पूर्व दिशा में स्थित खेतों में करवाई जाए। बची आबादी क्षेत्रों के पास पानी के भराव न हो। इस पर अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल व संवेदक द्वारा अस्थाई मोटर पंप सेट लगवाने हेतु विद्युत कनेक्शन की मांग की गई। कनेक्शन मिलते ही पानी निकासी नहर के उत्तर दिशा में शुरू कर दी जाएगी। व बाइपास के साथ साथ जो पानी भराव लेता है को बंद कर दिया जाएगा। एडीएम ने जोधपुर डिस्कॉम के अधिकारियों को जल्द विद्युत कनेक्शन के निर्देश दिए। मौक मुआयना में एडीएम ने देखा कि नगर परिषद जंक्शन क्षेत्रा का गंदा पानी वेयर हाउस के पीछे बने सेंपवेल में भरने के बाद पानी को पंप किया जा कर बाइपास रोड़ पर स्थित नगर परिषद की करीब 100 बीघा जमीन में डाला जाता है। जिसे पानी के खड्डों में डाला जाकर पानी साफ होने के बाद बची अतिरिक्त भूमि में खेती के रूप में उपयोग में किया जाता है। इसके साथ साथ नहर के उत्तर दिशा में स्थित निजी काश्तकारों की भूमि में पंप कर पानी को डाला जाता है। साथ ही जंक्शन क्षेत्रा का जो इलाका सीवरेज से जुड़ा हुआ है उसका पानी भी सीवर लाइनों के जरिए वेयर हाउस के पीछे बने सीवर पंप हाउस में आने के बाद पंप किया जा कर बाइपास रोड़ पर आरयूआईडीपी द्वारा डब्ल्यूएसपी की तकनीक पर आधारित निर्मित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट( सीटीपी) में निस्तारित किया जाने के बाद पानी का उपयोग सिचित भूमि में उपयोग में लिया जाता है। अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल ने बताया कि पूर्व में निर्मित एसटीपी के पोंड के पूर्व दिशा में स्थित नगर परिषद की भूमि में से 5 बीघा भूमि उच्च जलाशय निर्माण व पूर्व शोधित पानी को 10 बीओडी तक शोधित करने व प्लांट लगाने हेतु भूमि का कब्जा व निशान देही नगर परिषद द्वारा आरयूआईडीपी को दे दिया गया है। व आरयूआईडीपी के द्वारा कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।
सीईटीपी की 15 बीघा जमीन की लीज मनी रीको जल्द नगर परिषद को जमा करवाएं- एडीएम एडीएम श्री अशोक कुमार असीजा ने नगर परिषद अधिकारियों के साथ देखा रीको के गंदे पानी निकासी का क्षेत्र हनुमानगढ़, 17 मई। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के निर्देश पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अशोक कुमार असीजा ने शुक्रवार को रिको क्षेत्र में फैक्ट्रियों की ओर से छोडे जा रहे इंट्रस्ट्रील वेस्ट वाली जगह का मौका मुआयना किया गया। नगर परिषद अधिकारियों के साथ किए गए इस मौके मुआयने के दौरान एडीएम श्री असीजा ने नगर परिषद अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे इंडस्ट्रील समिति और रीको को सीईटीपी निर्माण जल्द शुरू करवाने के लिए लिखें। साथ ही निर्देश दिए कि रिको को भी सीईटीपी बनाने के लिए नगर परिषद की ओऱ से उपलब्ध करवाई जा रही 15 बीघा जमीन की लीज मनी जल्द जमा करवाने को लेकर पत्र लिखें। ताकि 15 बीघा जमीन की अंतिम लीजडीड जारी की जा सके। नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल ने एडीएम को बताया कि रिको द्वारा डेयरी के उत्तरी पश्चिमी कोने पर रेलवे ट्रेक और रोड़ के बीच रीको क्षेत्र की समस्त फैक्ट्रियों से निकलने वाले गंदे पानी को इकट्ठा किया जाता है। फिर उसे पंप के जरिए बाइपास रोड़ पर स्थित नगर परिषद की 37 बीघा भूमि में डाला जाता है जिसमें से 15 बीघा जमीन रीको को सीईटीपी के लिए आवंटित की गई है। खुले में इंट्र्स्ट्रील वेस्ट डाला जाता है इससे वातावरण दूषित हो रहा है और आसपाल के लोगों को वहां रहना मुहाल हो रहा है। इस वेस्ट को इंडस्ट्रील समिति और रीको द्वारा कोमन इंस्ट्रा ट्रीटमेंट प्लांट( सीईटीपी) बनाकर उपचारित किया जाना है। लेकिन रिको द्वारा नगर परिषद की 15 बीघा आवंटित भूमि की लीज मनी जमा नहीं करवाई जा रही। लिहाजा अंतिम लीजडीड जारी नहीं की जा सकी है। हालांकि रीको की ओर से लीज मनी माफी को लेकर स्वायत्त शासन विभाग को एक पत्र लिखा गया था लेकिन विभाग ने लीज मनी वसूल करने के निर्देश दिए हैं।
सीईटीपी की 15 बीघा जमीन की लीज मनी रीको जल्द नगर परिषद को जमा करवाएं- एडीएम एडीएम श्री अशोक कुमार असीजा ने नगर परिषद अधिकारियों के साथ देखा रीको के गंदे पानी निकासी का क्षेत्र हनुमानगढ़, 17 मई। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के निर्देश पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री अशोक कुमार असीजा ने शुक्रवार को रिको क्षेत्र में फैक्ट्रियों की ओर से छोडे जा रहे इंट्रस्ट्रील वेस्ट वाली जगह का मौका मुआयना किया गया। नगर परिषद अधिकारियों के साथ किए गए इस मौके मुआयने के दौरान एडीएम श्री असीजा ने नगर परिषद अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे इंडस्ट्रील समिति और रीको को सीईटीपी निर्माण जल्द शुरू करवाने के लिए लिखें। साथ ही निर्देश दिए कि रिको को भी सीईटीपी बनाने के लिए नगर परिषद की ओऱ से उपलब्ध करवाई जा रही 15 बीघा जमीन की लीज मनी जल्द जमा करवाने को लेकर पत्र लिखें। ताकि 15 बीघा जमीन की अंतिम लीजडीड जारी की जा सके। नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल ने एडीएम को बताया कि रिको द्वारा डेयरी के उत्तरी पश्चिमी कोने पर रेलवे ट्रेक और रोड़ के बीच रीको क्षेत्र की समस्त फैक्ट्रियों से निकलने वाले गंदे पानी को इकट्ठा किया जाता है। फिर उसे पंप के जरिए बाइपास रोड़ पर स्थित नगर परिषद की 37 बीघा भूमि में डाला जाता है जिसमें से 15 बीघा जमीन रीको को सीईटीपी के लिए आवंटित की गई है। खुले में इंट्र्स्ट्रील वेस्ट डाला जाता है इससे वातावरण दूषित हो रहा है और आसपाल के लोगों को वहां रहना मुहाल हो रहा है। इस वेस्ट को इंडस्ट्रील समिति और रीको द्वारा कोमन इंस्ट्रा ट्रीटमेंट प्लांट( सीईटीपी) बनाकर उपचारित किया जाना है। लेकिन रिको द्वारा नगर परिषद की 15 बीघा आवंटित भूमि की लीज मनी जमा नहीं करवाई जा रही। लिहाजा अंतिम लीजडीड जारी नहीं की जा सकी है। हालांकि रीको की ओर से लीज मनी माफी को लेकर स्वायत्त शासन विभाग को एक पत्र लिखा गया था लेकिन विभाग ने लीज मनी वसूल करने के निर्देश दिए हैं।
हनुमानगढ़, 17 मई। अबोहर बाइपास पर स्थित डिस्ट्रिक्ट पार्क में शहीद स्मारक का निर्माण भी किया जाएगा। इसको लेकर डिस्ट्रिक्ट पार्क के उत्तरी पश्चिमी कोने में जमीन छोड़ी गई है। लेकिन पिछले दिनों जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने जब डिस्ट्रिक्ट पार्क का मुआयना किया तो जिला कलक्टर ने पार्क के अंदर शहीद स्मारक नहीं बनाकर पार्क से बाहर की साइड में कॉर्नर पर शहीद स्मारक बनाने को लेकर दिशा निर्देश दिए थे। इसी को लेकर एडीएम श्री अशोक कुमार असीजा ने शुक्रवार सुबह नगर परिषद के अधिशाषी अभियंता श्री सुभाष बंसल के साथ डिस्ट्रिक्ट पार्क का निरीक्षण किया। इस दौरान एडीएम ने पार्क के बाहर की जमीन का सर्वे करने के निर्देश नगर परिषद अधिकारियों को दिए। एडीएम ने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशानुसार नगर परिषद अधिकारियों को जमीन का सर्वे करने के निर्देश दिए गए हैं। सर्वे होने के बाद डीपीआर बना कर जल्द ही शहीद स्मारक बनाया जाएगा। गौरतलब है कि अमृत योजना के अंतर्गत बनाए गए डिस्ट्रिक्ट पार्क की 238 लाख की लागत के अंतर्गत ही इस शहीद स्मारक का निर्माण किया जाना है।
-- पंजीयन क्रमांक 1 और 786 के लिए 1 लाख 1 हजार का जमा करवाना होगा डिमांड ड्राफ्ट पंजीयन क्रंमाक 2 से 9, 11,101, 1111 और 9999 के लिए जमा करवाने होंगे 51 हजार रूपए हनुमानगढ़, 17 मई। परिवहन विभाग की ओर से जिले में चौपहिया वाहनों के पंजीयन हेतु नई सीरिज ''RJ-31-CD'' जारी की जा रही है। जिला परिवहन अधिकारी श्री देवानंद नायक ने बताया कि चौपहिया वाहनों का पंजीयन नई सीरिज CD में किया जाएगा। इस सीरिज में पंजीयन हेतु RJ-31-CD 0001 से सभी नंबर रिक्त हैं। इच्छुक आवेदक निर्धारित शुल्क जमा करवाकर वाहन का ऐच्छिक पंजीयन नंबर आंवटित करवा सकता है। डीटीओ ने बताया कि नई सीरिज में पंजीयन क्रमांक 1 और 786 के लिए अग्रिम आवंटन शुल्क 1 लाख 1 हजार तय किया गया है। इसी प्रकार पंजीयन क्रमांक 2 से 9 और 11,101, 1111 व 9999 अग्रिम आवंटन के लिए शुल्क 51000 तय किया गया है। अग्रिम नंबर चाहने वाले नवीन चौपहिया वाहन स्वामियों द्वारा नंबर आवंटन हेतु प्रार्थना पत्र जिला परिवहन अधिकारी के समक्ष आगामी सात दिवसों में प्रस्तुत कर सकते हैं। किसी एक अग्रिम नंबर पर एक से अधिक आवेदन आने पर उक्त नंबर को नीलामी के द्वारा उच्चतम बोलीदाता को उक्त नंबर आवंटित कर दिया जाएगा।
- राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर निकाली गई जागरूकता रैली हनुमानगढ़। जिले में आज गुरूवार को ‘राष्ट्रीय डेंगू दिवस-2019‘ पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया। इन गतिविधियों का एक ही उद्देश्य था कि मच्छरों से होने वाले विभिन्न बीमारियों के बारे में जनमानस को जागरूक करना। इस अवसर पर सीएमएचओ कार्यालय सहित सभी ब्लॉकों में जागरूकता रैली निकाली गई, जिसमें डेंगू, मलेरिया, जीका व चिकनगुनिया की रोकथाम और नियंत्रण के लिए लोगों को जागरूक किया गया। आज प्रातः सीएमएचओ कार्यालय में सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने वाहन रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि डेंगू की रोकथाम और नियंत्रण हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है। हम सभी मिलकर कुछ बेहतर कर सकते हैं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा हर वर्ष 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य डेंगू के बारे में जागरूकता प्रसारित, निवारक कार्रवाई की पहल और रोग के संचारण वाले मौसम के समाप्त होने तक डेंगू को नियंत्रित करना है। उन्होंने बताया कि डेंगू मच्छर के काटने से प्रसारित होने वाला सामान्य वायरल रोग है। यह रोग मच्छर के माध्यम से संचारित होता है, जिसे एडीज एजिप्टी कहा जाता है। यह दो रूपों में होता है। इसका एक रूप क्लासिकल डेंगू बुखार होता हैं, जिसे हड्डी तोड़ बुखार के रूप में जाना जाता है, क्योंकि इसमें रोगी के जोड़ों में गंभीर दर्द होता है। इसका दूसरा रूप डेंगू हैमरेज ज्वर यानि कि रक्तस्रावी डेंगू बुखार होता हैं। यह बुखार न केवल दर्दनाक होता है बल्कि जीवन के लिए प्राणघातक भी होता है। आमतौर पर, इसके परिणामस्वरुप नाक, मसूड़ों या मूत्र में असामान्य रक्तस्राव होता है। डेंगू को रोकने का सबसे बेहतर उपाय मच्छरों के काटने और घरों के अंदर एवम् उसके आसपास मच्छरों प्रजनन के बचना है। विभिन्न गतिविधियां आयोजित जागरूकता रैली: सीएमएचओ कार्यालय के साथ-साथ समस्त ब्लॉकों में भी जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। हनुमानगढ़ में बीसीएमओ डॉ. ज्योति धीगड़ा ने स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। अन्य ब्लॉकों में वाहन रैली में ऑडियो के जरिए डेंगू की जानकारी दी गई। नगर परिषद् द्वारा कचरा संग्रहण के लिए रखे गए ऑटो रिक्शा के द्वारा भी शहर में प्रचार किया गया। इन वाहनों में लगे लाउडस्पीकर पर डेंगू से सावधानी एवं बचाव के ऑडियो के जरिए लोगों को जाग्रत किया गया। आईईसी कॉर्नर: समस्त चिकित्सा संस्थानों में आईईसी कॉर्नर स्थापित कर डेंगू से होने वाली बीमारियों के बारे में जानकारी दी गई। जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आने वाले रोगियों, उनके परिजनों एवं अन्यों को पम्फलेट्स व प्रचार सामग्री देकर जागरूक किया गया। लार्वा का प्रदर्शन: चिकित्सा अधिकारियों व प्रभारियों ने ओपीडी में लार्वा का प्रदर्शन कर बताया कि कैसे जमा हुए पानी में मच्छर पनपते हैं। वहां उपस्थित महिलाओं को जानकारी दी गई कि आप सभी घरों में पानी इकट्ठा ना होने दें। कूलर, पानी की टंकी, पक्षियों के पीने के पानी का बर्तन, फ्रिज की ट्रे, फूलदान, नारियल का खोल, टूटे हुए बर्तन व टायर इत्यादि की भी जांच कर लें कि कहीं इनमें पानी तो इकट्ठा नहीं हो रहा। उन्हें पानी से भरे हुए बर्तनों व टंकियों आदि को भी ढक कर रखने की सलाह दी। पम्फलेट्स बंटवाए: चिकित्सा कर्मियों द्वारा शहर में घूम-घूम कर पम्फलेट्स बंटवाए गए व मौखिक जानकारी दी गई। बसों, रिक्शा सवारियों, सब्जी विक्रेताओं सहित राहगिरों को भी प्रचार-सामग्री वितरित की गई। उन्हें डेंगू से होने वाले हानिकारक प्रभावों से अवगत करवाया गया। इसके साथ-साथ विभिन्न ट्रेनिंग में भी आवश्यक जानकारी दी गई। इसके अलावा स्वास्थ्यकर्मियों, एएनएम व आशा कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर कूलर, पानी की टंकी, फ्रिज आदि की जांच की गई और जहां भी उन्हें जमा पानी मिला, उसे नाली में बहा दिया गया। जहां भी जमा पानी मिला, वहां एमएलओ का छिड़काव किया गया।
कार्यकारणी की पहली बैठक कलैक्ट्रेट परिसर स्थित पेेंशनर्स हॉल में 10 जून को पेंशनर्स समाज हेतु विशेषज्ञ सदस्यों का संरक्षक एवं सलाहकार मण्डल मनौनीत हनुमानगढ़,15 मई। हनुमानगढ़ जंक्शन राज. पेंशनर्स समाज जिला शाखा अध्यक्ष श्री आर.एल. कक्कड ने मंगलवार को कलैक्ट्रेट परिसर स्थित पेंशनर्स हॉल में आयोजित संक्षिप्त कार्यक्रम में राज. पेंशनर्स समाज की पच्चीस सदस्यों की कार्यकारणी गठित कर दी है। उन्होने बताया कि कार्यकारणी में मदनलाल धींगडा को राज. पेंशनर्स समाज का वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री रमेशचन्द रहेजा उपाध्यक्ष, श्री देवकी नंदन चौटिया मंत्राी, बनारसीदास संयुक्त मंत्राी, श्री भीमसैन शर्मा प्रचार मंत्राी, श्री रमेश कुमार दर्गन कोषाध्यक्ष होंगे। साथही रावतसर, संगरिया, नोहर ,भादरा एवं पीलीबंगा उपशाखा स्तर से राज. पेंशनर्स समाज के उपशाखा अध्यक्ष सहित सदस्यगण नियुक्त किए गए है। इसके अलावा राज. पेंशनर्स समाज द्वारा आयोजित विशेष बैठकों में सलाह एवं सुझाव लेने हेतु वरिष्ठ एवं विशेषज्ञ सदस्यों का संरक्षक मण्डल एवं सलाहकार मण्डल बनाया गया है। वरिष्ठ एवं विशेषज्ञ सदस्यों के छः सदसीय संरक्षक मण्डल में श्री बी.एस. सिद्धू, श्री हजारीलाल बैनीवाल,श्री लेखराम कुलडिया, श्री जोगेन्द्र सिंह, श्री बी.डी.गोयल व श्री के.के. बंसल को शामिल किया है। इसी प्रकार आठ सदसीय सलाहकार मण्डल में श्री एस.एन गुप्ता, श्री महेन्द्रसिंह मान, श्री हरीसिंह, श्री ओमप्रकाश मांझू श्री जयसिंह बैनीवाल, श्री कुलवन्तराय शर्मा, श्री राजेन्द्रप्रसाद शर्मा व श्री मेघराज गोयल को मनोनीत किया गया है। श्री आर.एल. कक्कड ने राज.पेंशनर्स समाज के उपखण्ड स्तर पर नियुक्त सभी उपशाखा अध्यक्षों सहित सदस्यगणों को 10 जून को प्रातः 11.30 बजे कलैक्ट्रेट परिसर स्थित पेेंशनर्स हॉल में आयोजित कार्यकारणी की पहली व प्रमुख बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने को कहा है।
हनुमानगढ़। परिवार कल्याण की विभिन्न गतिविधियों के सुदृढ़ीकरण हेतु आज जिला स्तर पर एक दिवसीय कार्यशाला एवं कार्यक्रमों की समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जयपुर से एफआरएचएस इण्डिया से क्वालिटी कण्ट्रोलर डॉ. वीके चौमाल, यूएनएफपीए से स्टेट कंसलटेंट डॉ. जीपी लड्ढा व एफपी-एलएमआईएस के लॉजिस्टिक मैनेजर सीयाराम शर्मा उपस्थित थे। इसके अलावा सीएमएचओ डॉ़. अरूण कुमार, संत कुमार एवं सीएमएचओ कार्यालय का स्टॉफ उपस्थित था। प्रशिक्षणार्थियों में ब्लॉक स्तर से समस्त बीसीएमओ, बीपीएम, सीएचसी इंचार्ज, ब्लॉक आशा फेसिलिटेटर, ब्लॉक लेखा प्रबंधक आदि उपस्थित थे। कार्यशाला में परिवार कल्याण गतिविधियों, पुरूष नसबंदी, महिला नसबंदी, पीपीआईयूसीडी, पीआईयूडीसी, आईयूसीडी, अंतरा इंजेक्शन आदि पर जानकारी दी गई। स्टेट कंसलटेंट डॉ. जीपी लड्ढा ने बताया कि परिवार कल्याण कार्यक्रम में स्थाई परिवार कल्याण साधन (पुरुष/महिला नसबन्दी) पीपीआईयूसीडी, आईयूसीडी, निरोध, ओरल पिल्स आदि का विशेष महत्व है। हमारा प्रयास रहना चाहिए कि हर डिलेवरी प्वाइंट में प्रसूतिकाओं को पीपीआईयूसीडी प्रशिक्षित हाथों द्वारा लगवाया जाये। उन्होंने बताया कि जिले एवं ब्लॉक स्तर पर एक सम्पर्क सेतु बनाया जाये, जो प्रतिदिन मैदानी कार्यकर्ताओ से चर्चा करें एवं परिवार कल्याण कार्यक्रम में चिन्हित हितग्राहियों को नसबन्दी, अस्थाई साधन के लिए प्रोत्साहित करें। अन्य प्रशिक्षकों ने भी परिवार कल्याण से संबंधित योजनाओं को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने की बात कहीं। उन्होंने आशाओं और एएनएम को अंतरा इंजेक्शन के बारे में और प्रभावी तरीके से काउंसलिंग करने के लिए कहा गया। अंत में सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने मलेरिया, डेंगू के साथ लू-ताप की जानकारी दी। राज्य स्तर से आए अतिथियों ने सीएमएचओ कार्यालय में आकर समस्त योजनाओं की जानकारी ली।
हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाया जाएगा। इस मौके पर विभाग की ओर से आमजन को डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया आदि मौसमी रोगों के लक्षण, बचाव व रोकथाम के बारे में जागरूक किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अरूण कुमार ने सभी चिकित्सा अधिकारी, प्रभारियों को ओपीडी में लार्वा का प्रदर्शन कर आमजन को जागरूक करने के निर्देश दिए हैं। वहीं आशा व एएनएम द्वारा क्षेत्र में एंटीलार्वा गतिविधियां की जाएगी। उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मीणा ने बताया कि 16 मई को डेंगू रोग के बारे में आमजन को जागरूक करने के लिए सभी चिकित्सा संस्थानों पर आईईसी कॉर्नर की स्थापना की जाएगी। फिल्म व वीडियो के माध्यम से डेंगू मच्छर के बारे में जानकारी दी जाएगी।
वाट्सअप ग्रुप पर मिली सूचना के आधार पर 14 वर्ष के लड़के और 17 वर्ष की लड़की का रूकवाया बाल विवाह संयुक्त टीम ने जिले में अब तक रूकवाए तीन बाल विवाह हनुमानगढ़,13 मई। न्यायिक, प्रशासनिक और पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा जिले में बाल विवाह को रूकवाने का क्रम जारी है। सोमवार को टीम ने पल्लू तहसील की ग्राम पंचायत धीरदेसर में एक 14 वर्ष लड़के और साढ़े 17 वर्ष की लड़की का बाल विवाह रूकवाया। एडीजे और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री विजय प्रकाश सोनी ने बताया कि जिले में अक्षय तृतीया और पीपल पूर्णिमा को बाल विवाह की संभावना को देखते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री ज्ञान प्रकाश गुप्ता की अध्यक्षता में न्यायिक, प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक कुछ दिन पहले आयोजित हुई थी जिसमें जिले में बाल विवाह रोकने को लेकर न्यायिक, प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों का एक वाट्सअप ग्रुप बनाने और उसमें बाल विवाह की सूचना शेयर करने व सूचना मिलते ही तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए थे। श्री सोनी ने बताया कि सोमवार को इसी वाट्सअप ग्रुप पर दोपहर 1.15 बजे खबर आई कि पल्लू के गांव धीरदेसर में परमेश्वर नाथ के 14 वर्षीय बेटे संदीप और 17 वर्ष की आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली बालिका का दिन में ही विवाह होने जा रहा है। इस पर बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी रावतसर उपखण्ड मजिस्ट्रेट और थानाधिकारी पल्लू को ये सूचना तुरंत 01.23 पीएम पर प्रेषित कर अग्रिम कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। जिसकी पालना में उपखंड मजिस्ट्रेट रावतसर ने तहसीलदार, रावतसर की अध्यक्षता में एक संयुक्त टीम का गठन किया जिसमें विकास अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी तथा थानाधिकारी पल्लू को शामिल किया गया। टीम ने मौके पर जाकर तुरन्त कार्रवाई करते हुए स्थिति का जायजा लिया तो पाया गया कि जिस नाबालिग लडकी की शादी होनी थी उसकी उम्र 17 वर्ष व लड़के की उम्र 14 वर्ष पाई गई। लिहाजा नाबालिगों के पिता को बच्चों का विवाह नहीं करने के लिए पाबंद किया गया। साथ ही उनसे बातचीत कर बाल विवाह के दुष्परिणाम और आपराधिक प्रावधानों के बारे में बताया गया। जिस पर नाबालिग के पिता ने लिखकर दिया कि वह अपनी नाबालिग लड़की व लड़के की शादी नहीं करेंगे और यह विश्वास दिलाया कि अपनी दोनों नाबालिग लड़के व लड़की का बाल विवाह इस उधर ले जाकर भी नहीं करेंगे। श्री सोनी ने बताया कि नाबालिगों का विवाह ना हो, इसको लेकर विभिन्न विभागों के कर्मचारियों द्वारा लगातार नजर रखी जा रही है और पाबंद करने के बावजूद शादी नहीं हो, यह सुनिश्चित किया जा रहा है। गौरतलब है कि इससे पूर्व न्यायिक, प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों की टीम ने ग्राम चक ज्वालासिंहवाला व कोहला में नाबालिग लड़की का बाल विवाह रूकवाया था। जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने एक और बाल विवाह न्यायिक, प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों की संयुक्त टीम द्वारा रूकवाए जाने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि हनुमानगढ जिले को बाल विवाह मुक्त बनाने के जिले में न्यायिक, प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी लामबंद है।बाल विवाह की सूचना मिलते ही तुरंत कार्रवाई की जा रही है।
जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की ली बैठक विभाग के अधिकारियों को प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को लू-तापघात से बचाव एवं उपचार की जानकारी देेने के दिए निर्देश हनुमानगढ़, 13 मई। अत्यधिक गर्मी बढने के कारण लू-तापघात की बढ़ती सम्भावना को देखते हुए जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने सोमवार को मौसंमी बिमारियों की बैठक के बाद चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की अलग से बैठक ली जिसमें गर्मी को देखते हुए चिकित्सा अधिकारियो,कर्मचारियों व आमजन को विशेष अहतियात बरतने को कहा। बैठक में जिला कलक्टर ने सीएमएचओ को निर्देशित किया कि वे समस्त स्वास्थ्यकर्मी को निर्देश दें कि वे स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपस्थिति के साथ-साथ फील्ड में भी नजर रखें। सभी संस्थान आवश्यक दवाओं का वांछित स्टाॅक रखें एवं प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को लू-तापघात से बचाव एवं उपचार की जानकारी देते रहें। जिला कलक्टर ने आमजन से अपील की है कि जहां तक संभव हो धूप में न निकलें। अगर धूप में जाना पड़े, तो शरीर पूर्ण तरह से ढ़का हो। धूप में बाहर जाते समय हमेशा सफेद या हल्के रंग के ढीले व सूती कपड़ों का उपयोग करें। बहुत अधिक भीड़, गर्म घुटन भरे कमरों में बैठने से बचें, रेल या बस आदि की यात्रा अत्यावश्यक होने पर ही करें। खाली पेट घर से बाहर न निकलें। भोजन करके एवं पानी पीने के बाद ही घर से बाहर निकलें। ऐसे मौसम में सड़े-गले फल व बासी सब्जियों का उपयोग ना करें। गर्दन के पिछले भाग कान एवं सिर को गमछे या तौलिए से ढ़क कर ही धूप में निकलें एवं रंगीन चश्में एवं छतरी का प्रयोग करें। गर्मी मे हमेशा पानी अधिक मात्रा मे पिएं एवं नीबू पानी, नारियल पानी, ज्यूस आदि का प्रयोग करें। लू तापघात से प्राय कुपोषित बच्चे, वृद्ध, गर्भवती महिलाएं, श्रमिक आदि शीघ्र प्रभावित हो सकते हैं। इन्हें प्रातः 10 से सायं 6 बजे तक तेज गर्मी से बचाने हेतु छायादार ठण्डे स्थान पर रहने का प्रयास करें। अकाल राहत कार्यों पर अथवा श्रमिकों के कार्यस्थल पर छाया एवं पानी का पूर्ण प्रबंध रखा जावे ताकि श्रमिक थोड़ी-थोड़ी देर में छायादार स्थानों पर विश्राम कर सके। लू-तापघात के लक्षण बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए सीएमएचओ डाॅ अरूण कुमार ने बताया कि शरीर में लवण व पानी अपर्याप्त होने पर विषम गर्म वातावरण में लू-तापघात का कई लक्षणों से पता लगाया जा सकता है। यदि ऐसे में सिर का भारीपन व सिरदर्द हो, अधिक प्यास लगना व शरीर में भारीपन के साथ थकावट लगे, तो लू-तापघात हो सकता है। इसके अलावा जी मिचलाना, सिर चकराना व शरीर का तापमान बढ़ना (105 एफ या अधिक), पसीना आना बंद होना, मुंह का लाल हो जाना व त्वचा का सूखा होना, अत्यधिक प्यास का लगना, बेहोश होना या बेहोशी लगना जैसी स्थिति होने पर लू-तापघात का प्रभाव हो सकता है। कैसे करें घरेलू उपचार सीएमएचओ डाॅ. अरूण कुमार ने बताया कि लू-तापघात से प्रभावित रोगी को तुरंत छायादार जगह पर कपड़े ढ़ीले कर लेटा दिया जावे एवं हवा का इन्तजाम करें। रोगी को होश मे आने पर उसे ठण्डे पेय पदार्थ, जीवन रक्षक घोल, कच्चा आम का पना दें। रोगी के शरीर का ताप कम करने के लिए यदि सम्भव हो, तो उसे ठण्डे पानी से नहलाएं या उसके शरीर पर ठण्डे पानी की पट्टियां रखकर पूरे शरीर को ढंक दें। इस प्रक्रिया को तब तक दोहराएं, जब तक की शरीर का ताप कम नही हो जाता है। उक्त प्राथमिक उपचार के साथ-साथ प्रभावित मरीज को निकट स्वास्थ्य केन्द्र ले जाकर जांच करवाएं।
Around 4000 seats available against over 10,000 applicants near tricity Ganganagar/Hanumangarh 9th May Great enthusiasm among the students of tricity and other states of North India is being observed for admissions in Aryans College of Law which is being run by Aryans Group of Colleges, Rajpura, near Chandigarh. Over 10,000 students try to seek admission in law courses from Chandigarh periphery while only 3000-4000 seats are available in the colleges near Chandigarh. Free student counseling: For the convenience and free career counseling of the law aspirants, Aryans has launched its free Tollfree helpline number 1800-123-3633. Students can also send their queries at www.aryans.edu.in 3 Law courses at Aryans College of Law: Dr. Anshu Kataria, Chairman, Aryans Group of Colleges said that Aryans Group was started in the year 2007 near Chandigarh. In the 4th Batch at Aryans College of Law, 3 Courses including LL.B (3 Years), BA-LL.B (5 Years), B.Com (5 Years) are running presently. These courses are approved by Bar Council of India, New Delhi & Affiliated from Punjabi University, Patiala. Eligibility: Graduation/Post Graduation (in any stream) with minimum 45% marks and 40% in case of SC/ST are eligible for LL.B (3 years course) 10+2 (in any stream) with minimum 45% marks and 40% in case of SC/ST and Physically handicapped for BA-LL.B or B.Com-LL.B Course. Aryans only to become the part of CLAT: In the short span of 4 years, Aryans College of Law is the first Campus which has become the part of Common Law Admission Test (CLAT). Now the College will use CLAT score to admit the students in its law courses. CLAT 2019 will be conducted on May 26, 2019. The exam will be conducted by National Law University Odisha, Cuttack (NLUO) for the admission in the year 2019-2020 in 21 National law universities and 31 Law colleges and Universities in India. Renowned dignitaries from judiciary visited Aryans Campus: It is to be mentioned that many dignitaries related to the judiciary including Hon’ble Mr. Justice Swatanter Kumar, Former Judge, Supreme Court of India; Former Chief Justice of Punjab & Haryana High Court, Mr. Justice Vijender Jain; Dr. Anmol Rattan Sidhu, President, Punjab & Haryana High Court Bar Association; S. Fatehdeep Singh, Hon’ble Justice, Punjab & Haryana High Court; Senior Supreme Court Advocate & Rajya Sabha Member, Sh. KTS Tulsi; Advocate Amit Rana, Co-Chairman, Bar Council of India, New Delhi; Dr. Vijay Nagpal, Punjab University, Chandigarh; Dr. Bhupinder Singh, Punjabi University, Patiala have graced various functions organized by Aryans College of Law.
टैगोर के बहुआयामी व्यक्तित्व से प्रेरणा लें छात्र: सिंह संगरिया। शिक्षा विद् बलविन्द्र सिंह ने बच्चों से गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर के आदर्शों पर चलने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि नोबल पुरस्कार से सम्मानित टैगोर का व्यक्तित्व बहुआयामी था। टैगोर महान कवि, कहानीकार, गीतकार, संगीतकार, नाटककार और निबंधकार थे। उनका समूचा जीवन प्रेरणादायी है। उन्होंने आज ब्लू बेल्स चिल्ड्रन एकेडमी में रवीन्द्रनाथ जयंती के उपलक्ष्य मेंं आयोजित कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए यह बात कही। सिंह ने कहा कि राष्ट्रगान जन गण मन के रचियता रवीन्द्रनाथ टैगोर हमारी धरोहर हैं। उनका व्यक्तित्व एवं कृतित्व हमारे लिए सदैव प्रेरणास्पद रहेगा। ब्लू बेल्स चिल्ड्रन एकेडमी की प्रधानाचार्य दीप्ति आर्य ने टैगोर के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बचपन से कुशाग्र बुद्धि के रवीन्द्रनाथ टैगोर ने देश और विदेश के साहित्य, दर्शन, संस्कृति को अपने भीतर समाहित कर लिया था। वह मानवता को विशेष महत्व देते थे। इसकी झलक उनकी रचनाओं में स्पष्ट रूप से प्रदर्शित होती है। साहित्य के क्षेत्र में टैगोर ने विशिष्ट योगदान दिया। अध्यापक विकास शर्मा ने भगवान परशुराम जी के बारे में जानकारी दी। इस मौके पर बच्चों की भाषण एवं ड्राइंग प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। भाषण प्रतियोगिता में मानसी, निर्मलप्रीत व अनमोल प्रथम और कनिका व रिया द्वितीय स्थान पर रहे। ड्राइंग प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में हरमन व अर्शदीप प्रथम व अनमोल रतन द्वितीय रहे। जूनियर वर्ग में शबनम प्रथम एवं जय व खुशप्रीत द्वितीय स्थान पर रहे। मुख्य अतिथि ने विजेता बच्चों को पुरस्कार प्रदान किए। अध्यापिका मंजू ने सभी का आभार प्रकट किया।
जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने लाइन में लग कर किया मतदान जिले में कुल 12 कंट्रोल यूनिट, 10 बैलेट यूनिट और 42 वीवीपैट हुई खराब, तुरंत बदला गया जिले भर में लोगों ने उत्साह और उमंग के साथ लोकतंत्र के इस उत्सव में लिया भाग हनुमानगढ़, 6 मई। लोकसभा चुनाव 2019 में हनुमानगढ़ जिले में 72.73फीसदी मतदान हुआ। यानि जिले में पिछले लोकसभा चुनाव में हुए मतदान का रिकॉर्ड टूटा और पिछली बार से करीब साढ़े तीन फीसदी मतदान इस बार ज्यादा हुआ। पिछली बार वर्ष 2014 में जिले में 69.08 फीसदी मतदान हुआ था। विधानसभावार देखा जाए तो पीलीबंगा विधानसभा में सर्वाधिक 76.04 फीसदी,उसके बाद हनुमानगढ़ में 73.81फीसदी, संगरिया में 72.97 फीसदी, नोहर में 71.77 और सबसे कम भादरा में 68.09 फीसदी मतदान हुआ है। हनुमानगढ जिले में मतदान को लेकर सुबह से ही जोरदार उत्साह नजर आया।वहीं प्रशासन की ओर से भी इस बार स्वीप गतिविधियों समेत अन्य तरीकों से मतदाताओं को खूब जागरूक किया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन ने पिछली बार से ज्यादा मतदान होने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि जिले की जनता ने लोकतंत्र के इस उत्सव में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। साथ ही प्रशासन की ओर से मतदान जागरूकता को लेकर जो भी अभियान चलाए गए उसे प्रिंट और इलैक्ट्रोनिक मीडिया ने बेहतरीन तरीके से कवरेज करके जनता के सामने रखा। साथ ही टीम वर्क के साथ कार्य किया गया। जिसका नतीजा ये रहा कि जिले में पिछली बार से करीब पौने चार प्रतिशत मतदान ज्यादा हुआ। गौरतलब है कि जिले की हनुमानगढ़, पीलीबंगा और संगरिया विधानसभा सीट गंगानगर लोकसभा सीट और नोहर व भादरा विधानसभा सीट चूरू लोकसभा सीट के अंतर्गत आती है। जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने लाइन में लग कर किया मतदान - लोकसभा चुनाव 2019 में गंगानगर लोकसभा सीट के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन और जिला पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत ने सोमवार को लाइन में लगकर मतदान किया। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री हुसैन ने जंक्शन में सरस्वती गर्ल्स कॉलेज में करीब साढ़े नौ बजे मतदान किया। मतदान के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी ने कॉलेज के भाग संख्या 70 के मतदान बूथ पर मतदान करने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि जिले में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान चल रहा है । किसी तरह की कोई गड़बड़ी जिले में नहीं हुई। प्रशासन की ओर से मतदान को लेकर पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। महिला प्रबंधित बूथ और मॉडल बूथ को बारात के मंडप की तरह जिले भर में सजाया गया है। लोकतंत्र के इस उत्सव में लोग उत्साहपूर्वक हिस्सा ले रहे हैं। जिला पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत ने कैनाल कॉलोनी स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के मतदान केन्द्र भाग संख्या 87 में लाइन में लगकर मतदान किया। जिला पुलिस अधीक्षक ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि जिले भर में मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे लिहाजा किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। लोगों ने शांतिपूर्वक तरीके से मतदान किया। जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने किया महिला प्रबंधित और अन्य बूथ का निरीक्षण- जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन और पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत ने सोमवार को मतदान के अवसर पर जिला मुख्यालय पर कई बूथों का निरीक्षण किया। दोनों अधिकारी जंक्शन स्थित एनपीएस ्स्कूल पहुंचे और वहां व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इसके बाद दोनों अधिकारी कैनाल कॉलोनी के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय पहुंचे जहं एसपी ने मतदान किया। तत्पश्चात दोनों अधिकारी टाउन के महिला प्रबंधित स्कूल राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पहुंचे जहां बायां भाग में बनाए महिला प्रबंधित बूथ का दोनों अधिकारियों ने निरीक्षण किया। दोनों अधिकारियों ने तीनों बूथों पर की गई व्यवस्थाओं पर संतुष्टि जताते हुए बूथ पर तैनात एनसीसी, स्काउट इत्यादि के तैनात किए गए वॉलेंटियर्स का भी मनोबल बढ़ाया। साथ ही देखा कि सभी जगह बुजुर्गों और दिव्यांगों को बूथ के अंदर तक ले जाने के लिए ट्राई साइकिल को काम में लिया जा रहा था। वहीं सभी बूथ पर छाया, पानी इत्यादि की पर्याप्त व्यवस्था थी। मॉकपोल में ये मशीनें हुई खराब- लोकसभा चुनाव को लेकर जिले में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक हुए मतदान में कुल 12 कंट्रोल यूनिट, 10 बैलेट यूनिट और 42 वीवीपैट खराब हुई जिन्हें तुरंत बदल दिया गया। एनआईसी के डीआईओ श्री शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि मतदान शुरू होने से पहले सुबह 6 से 7 बजे तक हुए मॉकपोल के दौरान जिले भर में कुल 6 कंट्रोल यूनिट,4 बैलेट यूनिट और 18 वीवीपैट खराब हुई। जिसे तत्काल प्रभाव से बदल दिया गया। हनुमानगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक 4 बैलेट यूनिट और 3 कंट्रोल यूनिट खराब हुई। वहीं भादरा विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक 8 वीवीपैट खराब हुई। जिन्हें तुरंत बदल दिया गया। सामान्य प्रेक्षक, जिला निर्वाचन अधिकारी और एसपी ने किया वेबकास्टिंग का निरीक्षण- गंगानगर लोकसभा सीट के लिए भारत निर्वाचन आयोग की ओर से लगाए गए सामान्य प्रेक्षक सीनियर आईएएस अधिकारी डॉ अभिषेक जैन, जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन और एसपी श्री कालूराम रावत ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में स्थापित अभय कंमाड सेंटर का निरीक्षण किया। जहां संवेदनशील केन्द्रों पर लगाए गए वैबकैमरों की मॉनिटरिंग की जा रही थी। इस दौरान सामान्य प्रेक्षक ने करीब आधे घंटे तक वेबकास्टिंग के जरिए संवेदनशील बूथों पर हो रही गतिविधियों पर नजर रखी। एसीपी श्री योगेन्द्र कुमार के नेतृत्व में अभय कमांड सेंटर में वेबकास्टिंग के जरिए 90 संवेदनशील बूथ पर पूरे मतदान के दौरान नजर रखी गई। एसीपी श्री योगेन्द्र कुमार प्रति दो घंटे बाद जिले भर में हो रही वोटिंग को लेकर सूचनाएं उपलब्ध करवा रहे थे। जिसे सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई के जरिए मीडिया को उपलब्ध करवाई गई। गौरतलब है कि जिले में कुल 1276 मतदान बूथ में से 171 संवेदनशील बूथ थे जिनमें से 90 बूथ पर वेबकास्टिंग के जरिए नजर रखी गई। -
हनुमानगढ़ जिले में 6 बजे तक हुआ 71.97 प्रतिशत मतदान जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने लाइन में लग कर किया मतदान हनुमानगढ़, 6 मई। लोकसभा चुनाव 2019 में हनुमानगढ़ जिले ने पिछले लोकसभा चुनाव के मतदान प्रतिशत को 6 बजे तक ही क्रॉस कर लिया है। छह बजे तक जिले में 71.97 प्रतिशत मतदान हो चुका है। जिसमें से पीलीबंगा विधानसभा में सर्वाधिक 75.56 फीसदी, हनुमानगढ़ में 74.46 फीसदी, संगरिया में 73.56 फीसदी, भादरा में 69.44 और नोहर में 68.98 फीसदी मतदान हुआ है। हनुमानगढ जिले में मतदान को लेकर सुबह से ही जोरदार उत्साह नजर आया। गौरतलब है कि जिले की हनुमानगढ़, पीलीबंगा और संगरिया विधानसभा सीट गंगानगर लोकसभा सीट और नोहर व भादरा विधानसभा सीट चूरू लोकसभा सीट के अंतर्गत आती है। जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने लाइन में लग कर किया मतदान - लोकसभा चुनाव 2019 में गंगानगर लोकसभा सीट के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन और जिला पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत ने सोमवार को लाइन में लगकर मतदान किया। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री हुसैन ने जंक्शन में सरस्वती गर्ल्स कॉलेज में करीब साढ़े नौ बजे मतदान किया। मतदान के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी ने कॉलेज के भाग संख्या 70 के मतदान बूथ पर मतदान करने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि जिले में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान चल रहा है । किसी तरह की कोई गड़बड़ी जिले में नहीं हुई। प्रशासन की ओर से मतदान को लेकर पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। महिला प्रबंधित बूथ और मॉडल बूथ को बारात के मंडप की तरह जिले भर में सजाया गया है। लोकतंत्रा के इस उत्सव में लोग उत्साहपूर्वक हिस्सा ले रहे हैं। जिला पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत ने कैनाल कॉलोनी स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के मतदान केन्द्र भाग संख्या 87 में लाइन में लगकर मतदान किया। जिला पुलिस अधीक्षक ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि जिले भर में मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे लिहाजा किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। लोगों ने शांतिपूर्वक तरीके से मतदान किया। जिला निर्वाचन अधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने किया महिला प्रबंधित और अन्य बूथ का निरीक्षण- जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन और पुलिस अधीक्षक श्री कालूराम रावत ने सोमवार को मतदान के अवसर पर जिला मुख्यालय पर कई बूथों का निरीक्षण किया। दोनों अधिकारी जंक्शन स्थित एनपीएस ्स्कूल पहुंचे और वहां व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इसके बाद दोनों अधिकारी कैनाल कालोनी के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय पहुंचे जहं एसपी ने मतदान किया। तत्पश्चात दोनों अधिकारी टाउन के महिला प्रबंधित स्कूल राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पहुंचे जहां बायां भाग में बनाए महिला प्रबंधित बूथ का दोनों अधिकारियों ने निरीक्षण किया। दोनों अधिकारियों ने तीनों बूथों पर की गई व्यवस्थाओं पर संतुष्टि जताते हुए बूथ पर तैनात एनसीसी, स्काउट इत्यादि के तैनात किए गए वॉलेंटियर्स का भी मनोबल बढ़ाया। साथ ही देखा कि सभी जगह बुजुर्गों और दिव्यांगों को बूथ के अंदर तक ले जाने के लिए ट्राई साइकिल को काम में लिया जा रहा था। वहीं सभी बूथ पर छाया, पानी इत्यादि की पर्याप्त व्यवस्था थी। मॉकपोल में ये मशीनें हुई खराब- लोकसभा चुनाव को लेकर जिले में सुबह 7 बजे मतदान शुरू होने से पहले 6 से 7 बजे तक मॉकपोल हुआ। एनआईसी के डीआईओ श्री शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि मॉकपोल के दौरान जिले भर में कुल 6 कंट्रोल यूनिट,4 बैलेट यूनिट और 18 वीवीपैट खराब हुई। जिसे तत्काल प्रभाव से बदल दिया गया। हनुमानगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक 4 बैलेट यूनिट और 3 कंट्रोल यूनिट खराब हुई। वहीं भादरा विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक 8 वीवीपैट खराब हुई। जिन्हें तुरंत बदल दिया गया।
मतदान कार्मिकों को लेकर तैयार हो रहे बैग्स की तैयारियों को भी देखा हनुमानगढ़, 26 अप्रैल। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन ने शुक्ववार को बैलेट पेपर प्रकोष्ठ और मीडिया प्रकोष्ठ का निरीक्षण किया। साथ ही सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में मतदान दलों के लिए तैयार किए जा रहे मतदान सामग्री बैग की तैयारियों का निरीक्षण किया। जिला कलक्टर पहले बैलेट पेपर का कार्य चल रहे जिला उद्योग केन्द्र पहुंचे। जहां बैलेट पेपर प्रकोष्ठ प्रभारी श्रीमती मीनू वर्मा और सहायक प्रभारी जीएम डीआईसी सुश्री आकाशदीप सिद्दू ने बैलेट पेपर को लेकर चल रही तैयारियों के बारे में बताया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बैलेट पेपर प्रकोष्ठ के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस प्रकोष्ठ का दायित्व महिला अधिकारियों को सौंपा गया है जो दोनों महिला अधिकारियों ने बहुत अच्छे से संभाला है। जिला उद्योग केन्द्र के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय पहुंचे जहां मीडिया प्रकोष्ठ का निरीक्षण किया। सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री सुरेश बिश्नोई ने जिला निर्वाचन अधिकारी को प्रिंट और इलैक्ट्रोनिक मीडिया में आ रही खबरों पर किस प्रकार नजर रखी जा रही है इसके बारे में विस्तार से बताया। साथ ही बताया कि प्रति दिन मीडिया प्रकोष्ठ के द्वारा पैड न्यूज पैनी रखी जा रही है। विधानसभा चुनाव में कुल 9 पैड न्यूज कंफर्म की गई थी और उनका खर्चा प्रत्याशियों के खाते में जोड़ा गया था। लोकसभा चुनाव में भी खबरों पर 24 घंटे नजर रखी जा रही है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में चल रहे मतदान सामग्री बैग की तैयारियों को भी देखा और संतुष्टी जताई। डीएसओ और मतदान सामग्री बैग के प्रभारी अधिकारी श्री अरविंद जाखड़ ने बताया कि इस कार्यालय में नोहर, भादरा और हनुमानगढ़ विधानसभा के बैग तैयार किए जा रहे हैं आत्मा कार्यालय में संगरिया और पीलीबंगा के बैग तैयार हो रहे हैं। कुल 1450 बैग तैयार किए जा रहे हैं। जिनका बारिकी से निरीक्षण किया जा रहा है। इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन के अलावा एडीएम श्री अशोक कुमार असीजा, सीईओ जिला परिषद श्री परशुराम धानका, एसडीएम नोहर श्री सुरेन्द्र सिंह पुरोहित, डीएसओ श्री अरविंद जाखड़, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, मीडिया प्रकोष्ठ के श्री राजकुमार छाबड़ा, श्री सूर्य प्रकाश जोशी, श्री संदीप माहर, श्री सतवीर सिंह, श्री भागीरथ शीला, श्री प्रेमशंकर शर्मा, श्री रवि, श्री पंचम पीआरओ कार्यालय के श्री सोनू, श्री त्रिलोक सिंह, श्री चेतन कुमार और श्री सनाक अली मौजूद थे।
हनुमानगढ़ 6 मई। पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई के हनुमानगढ़ आगमन पर एनएसयूआई प्रदेशाध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया के निवास स्थान पर जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया के नेतृत्व में बिश्नोई समाज के विशिष्ट जनों व युवाओं द्वारा पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई का शॉल उड़ाकर व पगड़ी पहनाकर जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर पूर्व पंचायत समिति प्रधान दलवीर पूनिया, चेतराम खीचड़, कृष्ण पूनिया, पूर्व सरपंच देवीलाल सिराव, जिला कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष तरुण विजय, करण दूध वाल, निहालसिंह बिश्नोई, हवासिंह, मांगीलाल बिश्नोई, डॉक्टर दलवीर, डॉक्टर बीएल साहू, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष विजय पूनिया, सुभाष लोहरा, हेमंत चौधरी, रवि सिराव, विकास मंडा, विनोद जिनागल, संदीप सिहाग सहित भारी संख्या में एनएसयूआई व कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।
- जुलाई से शुरू होगा टीकाकरण हनुमानगढ़। प्रदेश के साथ ही जिले में भी निमोनिया को लेकर निःशुल्क टीके की शुरुआत के बाद अब सरकार की ओर से रुबेला और खसरा रोग से बचाने के लिए बच्चों को निःशुल्क टीके लगाए जाएंगे। इसके लिए खसरा-रुबेला (एमआर) के टीके बच्चों को लगाए जाएंगे। मिजल्स रुबेला अभियान के तहत टीका नौ माह से 15 साल तक के उम्र के सभी बच्चों को सभी स्कूलों, सामुदायिक केंद्रों व आंगनबाड़ी केंद्रों पर लगाया जाएगा। टीका उन बच्चों को भी लगाया जाएगा, जिन्हें पहले भी एमआर का टीका लगाया जा चुका है। टीकाकरण जुलाई के दूसरे सप्ताह से शुरू होगा। कुछ ही दिन पहले प्रमुख चिकित्सा सचिव डॉ. समित शर्मा ने महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग (वीसी) कर तैयारियां करने के निर्देश दिए थे। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि खसरा से हर साल 50 हजार बच्चों की मौत भारत में हो जाती है। रुबेला से गर्भवती माताओं के अबोर्शन, नवजात की मौत, नवजात को जन्मजात बीमारी का खतरा रहता है, अगर जन्म ले भी लेता है तो उसका जीवन भी परेशानियों से भरा होता है। पूरी दुनिया में लगभग सभी देशों में यह अभियान पूर्ण हो चुका है। भारत के भी कुछ राज्यों में यह अभियान पूरा हो चुका है व कुछ राज्यों में होने जा रहा है। भारत में 36 करोड़ बच्चों को यह टीका सुरक्षित तरीके से लगाया जा चुका है। यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। खसरा के लक्षण और इसलिए जरूरी है ये टीका डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि खसरा वायरस जनित जानलेवा रोग है। इसमें बुखार, खांसी, जुकाम, आंखें लाल होना आदि लक्षण दिखते हैं। बच्चों में खसरे के कारण विकलांगता और अनहोनी का खतरा रहता है। इस बीमारी में बुखार, खांसी, जुकाम, आंखें लाल होने की शिकायत हो जाती है। खसरे के चकत्ते बुखार आने के दो दिन बाद दिखते हैं। इसमें डायरिया, निमोनिया, मस्तिष्क की सूजन जैसी जटिलताएं भी हो सकती हैं। इस टीके के जरिए बच्चों में जन्मजात बीमारी दूर होगी। बहरापन, मोतियाबिंद व हृदय से जुड़ी बीमारियों से छुटकारा मिलेगा। उन्होंने बताया कि सबसे पहले यह अभियान सभी तरह की स्कूलों में चलाया जाएगा। सरकारी, प्राइवेट, मदरसा, अन्य प्रकार के शिक्षा केंद्र सभी इसमें शामिल होंगे। इसके लिए सभी स्कूल अपने एक से दस कक्षा के बच्चों की संख्या कक्षा वाइज व सैक्शन वाइज देंगे। षिक्षण संस्था को फॉर्म-1 भरकर देना होगा, जिसमें बच्चों की संख्या का विवरण होगा। टीकाकरण से वंचित बच्चों की लिस्ट देनी होगी, जिन्हें बाद मे टीके लगाने की कार्रवाई की जाएगी।
- जुलाई से शुरू होगा टीकाकरण हनुमानगढ़। प्रदेश के साथ ही जिले में भी निमोनिया को लेकर निःशुल्क टीके की शुरुआत के बाद अब सरकार की ओर से रुबेला और खसरा रोग से बचाने के लिए बच्चों को निःशुल्क टीके लगाए जाएंगे। इसके लिए खसरा-रुबेला (एमआर) के टीके बच्चों को लगाए जाएंगे। मिजल्स रुबेला अभियान के तहत टीका नौ माह से 15 साल तक के उम्र के सभी बच्चों को सभी स्कूलों, सामुदायिक केंद्रों व आंगनबाड़ी केंद्रों पर लगाया जाएगा। टीका उन बच्चों को भी लगाया जाएगा, जिन्हें पहले भी एमआर का टीका लगाया जा चुका है। टीकाकरण जुलाई के दूसरे सप्ताह से शुरू होगा। कुछ ही दिन पहले प्रमुख चिकित्सा सचिव डॉ. समित शर्मा ने महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग (वीसी) कर तैयारियां करने के निर्देश दिए थे। सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि खसरा से हर साल 50 हजार बच्चों की मौत भारत में हो जाती है। रुबेला से गर्भवती माताओं के अबोर्शन, नवजात की मौत, नवजात को जन्मजात बीमारी का खतरा रहता है, अगर जन्म ले भी लेता है तो उसका जीवन भी परेशानियों से भरा होता है। पूरी दुनिया में लगभग सभी देशों में यह अभियान पूर्ण हो चुका है। भारत के भी कुछ राज्यों में यह अभियान पूरा हो चुका है व कुछ राज्यों में होने जा रहा है। भारत में 36 करोड़ बच्चों को यह टीका सुरक्षित तरीके से लगाया जा चुका है। यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। खसरा के लक्षण और इसलिए जरूरी है ये टीका डॉ. अरूण कुमार ने बताया कि खसरा वायरस जनित जानलेवा रोग है। इसमें बुखार, खांसी, जुकाम, आंखें लाल होना आदि लक्षण दिखते हैं। बच्चों में खसरे के कारण विकलांगता और अनहोनी का खतरा रहता है। इस बीमारी में बुखार, खांसी, जुकाम, आंखें लाल होने की शिकायत हो जाती है। खसरे के चकत्ते बुखार आने के दो दिन बाद दिखते हैं। इसमें डायरिया, निमोनिया, मस्तिष्क की सूजन जैसी जटिलताएं भी हो सकती हैं। इस टीके के जरिए बच्चों में जन्मजात बीमारी दूर होगी। बहरापन, मोतियाबिंद व हृदय से जुड़ी बीमारियों से छुटकारा मिलेगा। उन्होंने बताया कि सबसे पहले यह अभियान सभी तरह की स्कूलों में चलाया जाएगा। सरकारी, प्राइवेट, मदरसा, अन्य प्रकार के शिक्षा केंद्र सभी इसमें शामिल होंगे। इसके लिए सभी स्कूल अपने एक से दस कक्षा के बच्चों की संख्या कक्षा वाइज व सैक्शन वाइज देंगे। षिक्षण संस्था को फॉर्म-1 भरकर देना होगा, जिसमें बच्चों की संख्या का विवरण होगा। टीकाकरण से वंचित बच्चों की लिस्ट देनी होगी, जिन्हें बाद मे टीके लगाने की कार्रवाई की जाएगी।
जिले भर के लिए कुल 1450 बैग हो रहे हैं तैयार नोहर,भादरा और हनुमानगढ के बैग जिला सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में, पीलीबंगा, संगरिया के आत्मा कार्यालय में हो रहे हैं तैयार हनुमानगढ़, 25 अप्रैल। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर जिले में चुनावी तैयारियां चरम पर है। मतदान दलों को दिए जाने वाले मतदान सामग्री बैग सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय और आत्मा कार्यालय में तैयार किए जा रहे हैं। सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में तीन विधानसभा क्षेत्रों हनुमानगढ़, नोहर और भादरा विधानसभा क्षेत्रा के बैग तैयार किए जा रहे हैं। वहीं आत्मा कार्यालय में पीलीबंगा और संगरिया विधानसभा क्षेत्रा के बैग तैयार हो रहे हैं। सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में बैग तैयार कर रहे भादरा विधानसभा के इंचार्ज श्री मनोज कुमार ने बताया कि एक बैग में अभी तक 80 विभिन्न सामग्री डाली जा रही है। जिसमें आलपिन, ईवीएम के लिए धागा, सेलो टेप, रबर बैंड, रबर रिजेक्शन सील, ब्रास सील, मोमबत्ती, गोंद, स्टांप पैड, अमिट स्याही, कीलें, ट्विन धागा,स्टांप स्याही, चपड़ी, कार्बन पेपर, व्हाइट पेपर, डमी बैलेट, मूंज की रस्सी, सूतली, धातू की पत्ती, मेडिकल किट, खाली सिगरेट टीन, प्लास्टिक का डिब्बा, चॉक, समेत चुनाव समाप्ति के बाद वीवीपैट की बैटरी संबंधी दिशा निर्देश, मोक पोल हिंदी और अंग्रेजी में, लिफाफे , पोस्टर समेत 22 प्रकार के फॉर्म, 22 प्रकार के ही लिफाफे, 5 प्रकार के पोस्टर, 5 प्रकार के कार्ड इत्यादि कुल 80 विभिन्न सामग्री इसमें शामिल की गई है। अभी इस बैग में कुछ चीजें और भी शामिल की जानी है। मतदान सामग्री प्रकोष्ठ के आईओसी और जिला रसद अधिकारी श्री अरविंद जाखड़ ने बताया कि कुल 1450 बैग तैयार किए जा रहे हैं जिसमें से हनुमानगढ़ विधानसभा के लिए 258, नोहर के लिए 257, भादरा के लिए 249, पीलीबंगा के लिए 284 और संगरिया विधानसभा क्षेत्र के लिए कुल 228 बैग्स यानि कुल मतदान केन्द्र 1276 के हिसाब से उतने ही बैग तैयार किए जा रहे हैं इसके अलावा जोनल मजिस्ट्रेट के लिए 129, तहसील मुख्यालय प्रत्येक पर 5-5 यानि कुल 35 और स्टोर रिजर्व के तौर पर 10 बैग तैयार किए जा रहे हैं ।बैग को तैयार करने का कार्य अंतिम चरण में है।
जिले भर के लिए कुल 1450 बैग हो रहे हैं तैयार नोहर,भादरा और हनुमानगढ के बैग जिला सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में, पीलीबंगा, संगरिया के आत्मा कार्यालय में हो रहे हैं तैयार हनुमानगढ़, 25 अप्रैल। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर जिले में चुनावी तैयारियां चरम पर है। मतदान दलों को दिए जाने वाले मतदान सामग्री बैग सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय और आत्मा कार्यालय में तैयार किए जा रहे हैं। सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में तीन विधानसभा क्षेत्रों हनुमानगढ़, नोहर और भादरा विधानसभा क्षेत्रा के बैग तैयार किए जा रहे हैं। वहीं आत्मा कार्यालय में पीलीबंगा और संगरिया विधानसभा क्षेत्रा के बैग तैयार हो रहे हैं। सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में बैग तैयार कर रहे भादरा विधानसभा के इंचार्ज श्री मनोज कुमार ने बताया कि एक बैग में अभी तक 80 विभिन्न सामग्री डाली जा रही है। जिसमें आलपिन, ईवीएम के लिए धागा, सेलो टेप, रबर बैंड, रबर रिजेक्शन सील, ब्रास सील, मोमबत्ती, गोंद, स्टांप पैड, अमिट स्याही, कीलें, ट्विन धागा,स्टांप स्याही, चपड़ी, कार्बन पेपर, व्हाइट पेपर, डमी बैलेट, मूंज की रस्सी, सूतली, धातू की पत्ती, मेडिकल किट, खाली सिगरेट टीन, प्लास्टिक का डिब्बा, चॉक, समेत चुनाव समाप्ति के बाद वीवीपैट की बैटरी संबंधी दिशा निर्देश, मोक पोल हिंदी और अंग्रेजी में, लिफाफे , पोस्टर समेत 22 प्रकार के फॉर्म, 22 प्रकार के ही लिफाफे, 5 प्रकार के पोस्टर, 5 प्रकार के कार्ड इत्यादि कुल 80 विभिन्न सामग्री इसमें शामिल की गई है। अभी इस बैग में कुछ चीजें और भी शामिल की जानी है। मतदान सामग्री प्रकोष्ठ के आईओसी और जिला रसद अधिकारी श्री अरविंद जाखड़ ने बताया कि कुल 1450 बैग तैयार किए जा रहे हैं जिसमें से हनुमानगढ़ विधानसभा के लिए 258, नोहर के लिए 257, भादरा के लिए 249, पीलीबंगा के लिए 284 और संगरिया विधानसभा क्षेत्र के लिए कुल 228 बैग्स यानि कुल मतदान केन्द्र 1276 के हिसाब से उतने ही बैग तैयार किए जा रहे हैं इसके अलावा जोनल मजिस्ट्रेट के लिए 129, तहसील मुख्यालय प्रत्येक पर 5-5 यानि कुल 35 और स्टोर रिजर्व के तौर पर 10 बैग तैयार किए जा रहे हैं ।बैग को तैयार करने का कार्य अंतिम चरण में है।
राजकीय पोलिटेक्निक कॉलेज में बनाए गए हैं ईवीएम स्ट्रांग रूम 26 अप्रैल से ईवीएम की तैयारियां कर दी जाएंगी शुरू हनुमानगढ़, 25 अप्रैल। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन ने गुरूवार को जंक्शन बाइपास पर स्थित राजकीय पोलिटेक्निक कॉलेज में बनाए गए ईवीएम स्ट्रांग रूम का जायजा लिया। इस अवसर पर जिला कलक्टर ने ईवीएम स्ट्रांग रूम के बाहर लगाए जा रहे सीसीटीवी कैमरों इत्यादि की जानकारी ली और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के निर्देश दिए। डीआईजी स्टांप श्री भवानीसिंह पंवार ने बताया कि जिला कलेक्ट्रेट से ईवीएम को राजकीय पोलिटेक्निक कॉलेज के स्टांग रूम में शिफ्ट की जा रही है। इन ईवीएम मशीन पर भेल की इंजीनियरिंग टीम बैलेट पेपर लगाने, वीवीपैट में सिंबल अलोट करने समेत तमाम तैयारियां 30अप्रैल तक पूरा कर लेंगी। साथ ही बताया कि ईवीएम की तैयारियों का जायजा पोलिटिक्टल पार्टियों के नेताओं को बुलाकर भी दिखाया जाएगा। शुक्रवार से ईवीएम की तैयारियां शुरू कर दी जाएगी। इस अवसर जिला निर्वाचन अधिकारी के साथ उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अशोक कुमार असीजा, डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह पंवार, एसडीएम हनुमानगढ़ श्री कपिल यादव, संगरिया एसडीएम श्री उम्मेद सिंह रतनू, उपस्थित थे।
जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन ने मतदान दलों के द्वितीय प्रशिक्षण का लिया जायजा जंक्शन में सेक्टर 12 के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में शुरू हुआ प्रशिक्षण हनुमानगढ़, 25 अप्रैल। लोकसभा चुनाव को लेकर जंक्शन के सेक्टर 12 में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में चल रहे मतदान दल कार्मिकों के द्वितीय प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी ने गुरूवार को कहा कि विधानसभा चुनाव में जो मतदाता पर्ची मान्य थी वो लोकसभा चुनाव में नहीं है इसका सभी विशेष ध्यान रखें। साथ ही इसका प्रचार प्रसार भी करें ताकि लोग मतदाता पर्ची लेकर मतदान स्थल पर ना आ जाए। मतदाताओं को इस बार मतदाता पहचान पत्र या आधार कार्ड, राशनकार्ड इत्यादि 11 अन्य दस्तावेज साथ लाने होंगे तभी उन्हें मतदान करने दिया जाएगा। साथ ही जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मॉकपोल सावधानी से करवाएं ताकि कोई समस्या ना आए। इस अवसर पर डीआईजी स्टांप और मतदान दल गठन के प्रभारी अधिकारी श्री भवानी सिंह पंवार ने मतदान दल कार्मिकों टेंडर वोट समेत कई सवाल पूछे और मतदान कार्मिकों के सवालों के जवाब दिए। इस अवसर पर डीवाईएसपी श्री निहाल सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि मतदान दल बिना डर के निष्पक्ष चुनाव करवाएं। मतदान दल के साथ पुलिस जाप्ता मतदान दल के रवानगी से लेकर ईवीएम जमा करवाने तक साथ रहेगा। तमाम बदमाशों के खिलाफ 107 और 151 के इस्तगासे पेश करते हुए उन्हें पाबंद कर दिया गया है। साथ ही सिंह ने कहा कि मतदान दल जहां मतदान करवाने जाए वहां रिश्तेदारों से ना मिले। निष्पक्ष होने के साथ साथ निष्पक्ष दिखना भी जरूरी है। इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी के अलावा उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अशोक कुमार असीजा, डीईडीआईजी स्टांप और मतदान दल गठन के प्रभारी अधिकारी श्री भवानी सिंह पंवार,डीवाईएसपी श्री निहाल सिंह, सहायक निदेशक श्रीमती शकुंतला चौधरी, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई, राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर श्री एमपी सिंह, सहायक प्रशासनिक अधिकारी श्री सहदेव तिवाड़ी उपस्थित थे। सहायक प्रशासनिक अधिकारी और मतदान दल गठन के सहायक प्रभारी श्री सहदेव तिवाड़ी ने बताया कि लोकसभा चुनाव को लेकर मतदान दल कार्मिकों का द्वितीय प्रशिक्षण जंक्शन के 12 नंबर सेक्टर स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में गुरूवार को शुरू हुआ जिसमें गुरूवार को सभी 1 से 1676 पीठासीन अधिकारियों का प्रशिक्षण हुआ। जिसमें उपस्थिति शतप्रतिशत रही। अब शुक्रवार 26 अप्रैल को पीओ-1 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-1 क्रमांक 851 से 1676 तक का प्रशिक्षण दोपहर 2 बजे से होगा। 27 अप्रैल को पीओ-2 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-2 क्रमांक 851 से 1676 तक दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। इसी प्रकार 28 अप्रैल को पीओ-3 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-3 क्रमांक 851 से 1676 तक दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। सभी महिला कार्मिकों का तीसरा प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा। पीआरओ, पीओ-1 और पीओ-2 को सुबह साढे 9 बजे और पीओ-3 को दोपहर डेढ़ बजे बुलाया गया है। सभी माइक्रो ऑब्जर्वर का प्रथम प्रशिक्षण 27 अप्रैल को जिला परिषद में सुबह 10 बजे से रखा गया है।
हनुमानगढ 25 अप्रेल। राजस्थान राज्य क्रीडा परिषद द्वारा वर्ष 2018-19 हेतु राज्य के उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाडि़यों एवं प्रशिक्षकों को महाराणा प्रताप एवं गुरू वशिष्ठ पुरूस्कार हेतु 29 अप्रेल तक आवेदन आमंत्रित किए गए है। जिला खेल अधिकारी श्री उम्मेद ंिसह यादव ने बताया कि परिषद से मान्यता प्राप्त अथवा भारतीय खेलों के सम्बद्ध राज्य स्तरीय खेल संघो, राजस्थान ओलंपिक संघ अथवा जिला खेलकूद प्रशिक्षण केन्द्र से अप्रेल माह में पुरूस्कारों के लिए अपने अपने खेल में परिषद द्वारा आवेदन चाहे गये हैं। उन्होने बताया कि खेल संस्थाऐं अधिकतम 5 योग्य खिलाडि़यों के आवेदन दे सकती है, 5 से अधिक खिलाडि़यों के आवेदन मान्य नहीं होंगे अथवा प्रथम 5 खिलाडि़यों के आवेदन पर ही विचार किया जाएगा। साथ ही उन्होने बताया कि पुरूस्कार उसी कलैण्डर वर्ष के लिए दिए जाएंगे जिस वर्ष के लिए यह आमंत्रित किए गए है। श्री यादव ने बताया कि आवेदन भेजने वाली संस्थाओं को यह प्रमाणित करना आवश्यक होगा कि नामांकन करने वाले खिलाड़ी अनुशासित हैे, किसी भी तरह से आपराधिक और नैतिक प्रकृति के कृत्यों में शामिल नहीं है। उन्होने बताया कि आवेदन प्रपत्र जिला खेलकूद प्रशिक्षण केन्द्र, राजीव गंाधी स्टेडियम हनुमानगढ़ में किसी भी कार्य दिवस व समय में प्राप्त कर आवश्यक दस्तावेजों सहित निर्धारित तिथि तक जमा किए जाएंगे।
हनुमानगढ़,जयपुर, 25 अप्रेल। प्रदेश में बेमौसम हुई बारिष एवं ओलावृष्टि से 50 प्रतिशत से अधिक खराब हुये चमकहीन गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिये केन्द्र सरकार द्वारा चार अधिकारियों के दो दलों का गठन किया है। यह जानकारी खाद्य सचिव श्रीमती मुग्धा सिन्हा ने गुरूवार को दी। श्रीमती सिन्हा ने बताया कि आई.जी.एम.आर.आई. के सहायक निदेशक, श्री आर.के. सिंह एवं तकनीकी अधिकारी, श्री राकेश बराला का संयुक्त दल कोटा, बारां एवं बूंदी जिलों तथा दिल्ली मुख्यालय के सहायक निदेशक श्री ए.एन. पाण्डे एवं तकनीकी अधिकारी श्री विरेन्द्र ए.सी. के नेतृत्व में दूसरा दल हनुमानगढ़ एवं श्रीगंगानगर जिलों की मण्डियों तथा समर्थन मूल्य खरीद के लिये स्थापित केन्द्रों पर 26 अप्रेल से दौरा कर गेहूं के नमूनों को एकत्र करेगा। दोनों दल आज रात तक प्रदेश में पहुॅचेगे। उन्होने बताया कि उपभोक्ता मामलात, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा गठित दोनों दल बेमौसम हुई बारिश से खराब हुई गेहूं की चमक के संबंध में एकत्र किये गये नमूनों को भारतीय खाद्य निगम, क्षेत्रीय प्रयोगशाला में जांच कर एक समेकित रिपोर्ट पेश करेंगे। इन दोनों दलों का गठन प्रदेश के किसानों अधिक से अधिक राहत प्रदान करने के लिये गेहूं खरीद के लिये निर्धारित किये गये मानकों में छूट देने के लिये किया गया है। श्रीमती सिन्हा ने बताया कि प्रदेश में हाल ही में हुई प्राकृतिक आपदा के कारण राज्य सरकार के स्तर से केन्द्र सरकार को मापदण्डों में ढिलाई देने के लिये आग्रह किया गया था। जिसके क्रम में बुधवार को 50 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूॅ खरीद की अनुमति प्रदान कर दी थी, लेकिन 90 प्रतिशत तक चमकहीन गेहॅू की खरीद के लिये अनुमति के लिये केन्द्र सरकार द्वारा इन दो दलों को गठन किया है। दलों की रिपोर्ट के बाद 90 प्रतिशत तक चमकहीन गेहॅू खरीद की अनुमति भारत सरकार से मिलने की पूरी सम्भावना है। उन्हांेने बताया कि बेमौसम बारिश से मुख्य रूप से हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, कोटा, बारां एवं बूंदी जिलों में गेहूं की फसल प्रभावित हुई थी। कोटा संभाग में 15 मार्च से तथा प्रदेश के अन्य संभागों में 1 अप्रेल से किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद की जा रही है।
अगर कहीं बाल विवाह की सूचना मिले तो कंट्रोल रूम के नंबर 01552-260299 पर दें सूचना आगामी 7 मई को अक्षय तृतीया और 18 मई को पीपल पूर्णिमा पर है विवाह का अबूझ मुहूर्त इन दोनों मुहूर्त पर बाल विवाह की रहती है संभावना कंट्रोल रूम पर सूचना कभी भी दी जा सकती है 24 घंटे कार्य कर रहा है कंट्रोल रूम हनुमानगढ़, 24 अप्रैल। आगामी 7 मई को अक्षय तृतीया और 18 मई को पीपल पूर्णिमा के अवसर पर विवाह का अबूझ मुहूर्त होने के कारण जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कलेक्ट्रेट में कंट्रोल रूम स्थापित किया है जो 24 घंटे कार्य करेगा। कंट्रोल रूम की स्थापना जिला कलेक्ट्रेट के कमरा नंबर 230 में की गई है और इसके नंबर हैं 01552-260299. इस नंबर पर बाल विवाह की सूचना कभी भी दी जा सकती है। कंट्रोल रूम की स्थापना 24 अप्रैल से 18 मई तक की गई है। कंट्रोल रूम पर बाल विवाह की सूचना मिलते ही इसकी जानकारी कंट्रोल रूम प्रभारी, जिला कलक्टर और महिला एवं बाल विकास विभाग को दी जाएगी और बाल विवाह रोकने की तत्काल कार्रवाई होगी। जिला कलक्टर श्री हुसैन ने चिकित्सा और शिक्षा विभाग के ग्राम स्तरीय कार्मिकों को बाल विवाह रोकने को लेकर प्रभावी मॉनिटरिंग रखने के निर्देश दिए हैं साथ ही कहा है कि पटवारी, ग्राम सेवल, अध्यापक, अध्यापिका इत्यादि को अगर बाल विवाह की सूचना मिलती है तो वे इसकी जानकारी कंट्रोल रूम में, निकट के पुलिस स्टेशन में या फिर बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी संबंधित एसडीएम और तहसीलदार को तुरंत दें। ताकि प्रभावी कार्रवाई की जा सके। जिला कलक्टर ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी एसडीएम और तहसीलदार को निर्देशित किया है कि वे बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम में दिए दायित्वों का निर्वहन करते हुए तत्काल कार्रवाई करें। साथ ही जिला कलक्टर ने सभी धार्मिक गुरूओं और संस्था प्रधानों से भी अपील की है कि वे बाल विवाह के दुष्परिणामों और उसके कानूनी प्रावधानों के बारे में लोगों को जानकारी देवें और बाल विवाह रोकने में सहयोग करें। जिला कलक्टर ने कहा कि अगर कहीं बाल विवाह होता है तो उसमें पंडित, पंडाल व टैंट लगाने वाले, हलवाई, कार्ड प्रिंटर, बैंड बाजा इत्यादि के लोग सहयोग करते हैं तो उन्हें भी बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के प्रावधानों के अंतर्गत दंडित करने का प्रावधान है। लिहाजा ये सब लोग बाल विवाह में बिल्कुल हिस्सा ना लें।
अगर कहीं बाल विवाह की सूचना मिले तो कंट्रोल रूम के नंबर 01552-260299 पर दें सूचना आगामी 7 मई को अक्षय तृतीया और 18 मई को पीपल पूर्णिमा पर है विवाह का अबूझ मुहूर्त इन दोनों मुहूर्त पर बाल विवाह की रहती है संभावना कंट्रोल रूम पर सूचना कभी भी दी जा सकती है 24 घंटे कार्य कर रहा है कंट्रोल रूम हनुमानगढ़, 24 अप्रैल। आगामी 7 मई को अक्षय तृतीया और 18 मई को पीपल पूर्णिमा के अवसर पर विवाह का अबूझ मुहूर्त होने के कारण जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कलेक्ट्रेट में कंट्रोल रूम स्थापित किया है जो 24 घंटे कार्य करेगा। कंट्रोल रूम की स्थापना जिला कलेक्ट्रेट के कमरा नंबर 230 में की गई है और इसके नंबर हैं 01552-260299. इस नंबर पर बाल विवाह की सूचना कभी भी दी जा सकती है। कंट्रोल रूम की स्थापना 24 अप्रैल से 18 मई तक की गई है। कंट्रोल रूम पर बाल विवाह की सूचना मिलते ही इसकी जानकारी कंट्रोल रूम प्रभारी, जिला कलक्टर और महिला एवं बाल विकास विभाग को दी जाएगी और बाल विवाह रोकने की तत्काल कार्रवाई होगी। जिला कलक्टर श्री हुसैन ने चिकित्सा और शिक्षा विभाग के ग्राम स्तरीय कार्मिकों को बाल विवाह रोकने को लेकर प्रभावी मॉनिटरिंग रखने के निर्देश दिए हैं साथ ही कहा है कि पटवारी, ग्राम सेवल, अध्यापक, अध्यापिका इत्यादि को अगर बाल विवाह की सूचना मिलती है तो वे इसकी जानकारी कंट्रोल रूम में, निकट के पुलिस स्टेशन में या फिर बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी संबंधित एसडीएम और तहसीलदार को तुरंत दें। ताकि प्रभावी कार्रवाई की जा सके। जिला कलक्टर ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी एसडीएम और तहसीलदार को निर्देशित किया है कि वे बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम में दिए दायित्वों का निर्वहन करते हुए तत्काल कार्रवाई करें। साथ ही जिला कलक्टर ने सभी धार्मिक गुरूओं और संस्था प्रधानों से भी अपील की है कि वे बाल विवाह के दुष्परिणामों और उसके कानूनी प्रावधानों के बारे में लोगों को जानकारी देवें और बाल विवाह रोकने में सहयोग करें। जिला कलक्टर ने कहा कि अगर कहीं बाल विवाह होता है तो उसमें पंडित, पंडाल व टैंट लगाने वाले, हलवाई, कार्ड प्रिंटर, बैंड बाजा इत्यादि के लोग सहयोग करते हैं तो उन्हें भी बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के प्रावधानों के अंतर्गत दंडित करने का प्रावधान है। लिहाजा ये सब लोग बाल विवाह में बिल्कुल हिस्सा ना लें।
जंक्शन में सेक्टर 12 के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में होगा प्रशिक्षण हनुमानगढ़, 24 अप्रैल। लोकसभा चुनाव को लेकर मतदान दल कार्मिकों का द्वितीय प्रशिक्षण जंक्शन के 12 नंबर सेक्टर स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में आज से शुरू होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि 25 अप्रैल को पीठासीन अधिकारियों का पीआरओ क्रमांक 1 से 850 तक का सुबह का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीआरओ क्रमांक 851 से 1676 तक का दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। इसी प्रकार पीओ-1 का प्रशिक्षण 26 अप्रैल को, पीओ-2 का 27 अप्रैल, पीओ-3 का 28 अप्रैल को होगा। इसी प्रकार सभी महिला कार्मिकों पीआरओ, पीओ-1, पीओ-2 और पीओ-3 का प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा। सभी कार्मिकों को प्रशिक्षण में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। मतदान गठन के प्रभारी और डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह पंवार ने बताया कि 26 अप्रैल को पीओ-1 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-1 क्रमांक 851 से 1676 तक का प्रशिक्षण दोपहर 2 बजे से होगा। 27 अप्रैल को पीओ-2 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-2 क्रमांक 851 से 1676 तक दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। इसी प्रकार 28 अप्रैल को पीओ-3 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-3 क्रमांक 851 से 1676 तक दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। समस्त महिला कार्मिकों का तृतीय प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा- मतदान गठन के सहायक प्रभारी अधिकारी और सहायक प्रशासक अधिकारी श्री सहदेव तिवाड़ी ने बताया कि सभी महिला कार्मिकों का तीसरा प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा। पीआरओ, पीओ-1 और पीओ-2 को सुबह साढे 9 बजे और पीओ-3 को दोपहर डेढ़ बजे बुलाया गया है। माइक्रो ऑब्जर्वर का प्रथम प्रशिक्षण 27 अप्रैल को - मतदान गठन के सहायक प्रभारी अधिकारी और सहायक प्रशासक अधिकारी श्री सहदेव तिवाड़ी ने बताया सभी माइक्रो ऑब्जर्वर का प्रथम प्रशिक्षण 27 अप्रैल को जिला परिषद में सुबह 10 बजे से रखा गया है।
जंक्शन में सेक्टर 12 के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में होगा प्रशिक्षण हनुमानगढ़, 24 अप्रैल। लोकसभा चुनाव को लेकर मतदान दल कार्मिकों का द्वितीय प्रशिक्षण जंक्शन के 12 नंबर सेक्टर स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में आज से शुरू होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि 25 अप्रैल को पीठासीन अधिकारियों का पीआरओ क्रमांक 1 से 850 तक का सुबह का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीआरओ क्रमांक 851 से 1676 तक का दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। इसी प्रकार पीओ-1 का प्रशिक्षण 26 अप्रैल को, पीओ-2 का 27 अप्रैल, पीओ-3 का 28 अप्रैल को होगा। इसी प्रकार सभी महिला कार्मिकों पीआरओ, पीओ-1, पीओ-2 और पीओ-3 का प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा। सभी कार्मिकों को प्रशिक्षण में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। मतदान गठन के प्रभारी और डीआईजी स्टांप श्री भवानी सिंह पंवार ने बताया कि 26 अप्रैल को पीओ-1 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-1 क्रमांक 851 से 1676 तक का प्रशिक्षण दोपहर 2 बजे से होगा। 27 अप्रैल को पीओ-2 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-2 क्रमांक 851 से 1676 तक दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। इसी प्रकार 28 अप्रैल को पीओ-3 क्रमांक 1 से 850 का प्रशिक्षण सुबह 10 बजे से और पीओ-3 क्रमांक 851 से 1676 तक दोपहर 2 बजे से शुरू होगा। समस्त महिला कार्मिकों का तृतीय प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा- मतदान गठन के सहायक प्रभारी अधिकारी और सहायक प्रशासक अधिकारी श्री सहदेव तिवाड़ी ने बताया कि सभी महिला कार्मिकों का तीसरा प्रशिक्षण 29 अप्रैल को होगा। पीआरओ, पीओ-1 और पीओ-2 को सुबह साढे 9 बजे और पीओ-3 को दोपहर डेढ़ बजे बुलाया गया है। माइक्रो ऑब्जर्वर का प्रथम प्रशिक्षण 27 अप्रैल को - मतदान गठन के सहायक प्रभारी अधिकारी और सहायक प्रशासक अधिकारी श्री सहदेव तिवाड़ी ने बताया सभी माइक्रो ऑब्जर्वर का प्रथम प्रशिक्षण 27 अप्रैल को जिला परिषद में सुबह 10 बजे से रखा गया है।
किसानों से 25 अप्रेल से पुनः शुरू होगी गेहूं खरीद जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन और किसानों का सामूहिक प्रयास लाया रंग हनुमानगढ़,जयपुर, 24 अप्रेल। केन्द्र सरकार ने राज्य में किसानों से समर्थन मूल्य पर हो रही गेहूं खरीद के मापदण्डों में छूट प्रदान करते हुए फिलहाल 50 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं खरीदने की अनुमति प्रदान कर दी है। बारिश एवं ओलावृष्टि प्रभावित जिलों में 25 अप्रेल से पुनः गेहूं खरीद शुरू हो जायेगी। यह जानकारी बुधवार को जयपुर में खाद्य सचिव श्रीमती मुग्धा सिंन्हा ने दी। उन्होंने बताया कि हाल ही में प्रदेश में बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों की गेहूं की उपज एवं फसल को नुकसान हुआ था, जिसके कारण गेहूं की चमक फीकी हो गई थी। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद के निर्धारित मापदण्डों के तहत चमकहीन गेहूं नहीं खरीदा जा सकता है। श्रीमती सिन्हा ने बताया कि किसानों की समस्या को देखते हुए फसल पर गुणात्मक एवं मात्रात्मक क्षति से भारत सरकार को अवगत कराया गया था और उसमें निर्धारित गुणवत्ता मापदण्ड में गेहूं की चमक को हटाने या अधिकतम रियायत प्रदान करने की अनुमति देने का आग्रह किया गया था। इस पर सरकार ने 50 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं की खरीद की अनुमति दे दी है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार से 50 प्रतिशत से अधिक चमकहीन हुए गेंहूं की खरीद की अनुमति के लिए भी प्रयास किये जा रहे है। श्रीमती सिन्हा ने बताया कि बेमौसम बारिश से मुख्य रूप से हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, कोटा, बारां एवं बून्दी जिलों में गेहूं की फसल प्रभावित हुई थी। उन्होनें बताया कि 15 मार्च से कोटा संभाग में तथा 1 अप्रेल से अन्य संभागों में किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद की जा रही है। प्रदेश में गेहूं की खरीद भारतीय खाद्य निगम एवं राजफैड द्वारा स्थापित किये गये केन्द्रों पर हो रही है। गौरतलब है कि हनुमानगढ़ में बेमौसम बारिश से गेहूं की चमक कम होने और एफसीआई की ओर से नहीं खरीदने को लेकर जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने पिछले तीन दिनों से किसानों की समस्या को पूरजोर तरीके से खाद्य सचिव श्रीमती मुग्धा सिन्हा के सामने रखा था। श्रीमती सिन्हा ने इस मामले को केन्द्र सरकार के सामने उठाया । उसी का नतीजा है कि किसानों की 50 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं की खरीद को अनुमति मिल गई है।

Top News