taaja khabar...सावधान! चीन से आ रहे हैं खतरनाक सीड पार्सल, केंद्र ने राज्यों और इंडस्ट्री को किया सतर्क....लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक हवाई हमले की ताकत जुटा रहा चीन, सैटलाइट तस्‍वीर से खुलासा..स्वतंत्रता दिवस से पहले गड़बड़ी की बड़ी साजिश, दिल्ली में भी विदेश से आए 'जहरीले' कॉल....सुशांत सिंहः बीजेपी ने कहा, राउत और आदित्य का CBI करे नार्को, राहुल और प्रियंका गांधी तोड़ें चुप्पी..विदेश मंत्री जयशंकर बोले- भारत और चीन पर दुनिया का बहुत कुछ निर्भर करता है...चीन को बड़ा झटका देने की तैयारी, गडकरी ने बताया क्या है प्लान...कोरोना पर खुशखबरी, देश में 70% के पास पहुंचा कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट...सुशांत के पिता पर टिप्पणी कर फंसे शिवसेना नेता संजय राउत, परिवार करेगा मानहानि का केस...राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी कराने की कोशिशें तेज ...पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव हुए, अस्पताल में भर्ती ...कोरोना पॉजिटिव पाए गए केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, AIIMS में भर्ती ...दिल्ली हिंसा: आरोपी गुलफिशा ने किए चौंकाने वाले खुलासे, 'सरकार की छवि खराब करना था मकसद' ...

दिल्ली दंगा मामले में कांग्रेस की पूर्व पार्षद की याचिका HC ने की खारिज

नई दिल्ली, 31 जुलाई 2020,दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली दंगों के मामले में गिरफ्तार कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां की याचिका को खारिज कर दिया है. दिल्ली हिंसा मामले में यूएपीए कानून के तहत इशरत जहां को गिरफ्तार किया गया था. पटियाला हाउस कोर्ट ने पुलिस को इस मामले में जांच करने के लिए 60 दिन का अतिरिक्त समय और दे दिया था. इसी को आरोपी इशरत जहां ने दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. हाई कोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए 20 जुलाई को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. बीते 26 फरवरी को दिल्ली पुलिस ने हिंसा के आरोप में इशरत जहां को गिरफ्तार किया था. दिल्ली पुलिस ने निचली अदालत से जांच के लिए अतिरिक्त समय मांगते हुए अदालत को बताया था कि खालिद सैफी इस्लामी उपदेशक और भगोड़े जाकिर नायक समेत कुछ और लोगों से विदेश में मुलाकात की थी. इस मुलाकात का मकसद आतंकी गतिविधियों के उनके एजेंडे को फैलाने के लिए पैसा इकट्ठा करने का था. इशरत को किसी गुप्त माध्यम से और खालिद सैफी को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के अलावा विदेशों से भी अवैध धन मिला था. हाई कोर्ट में इशरत जहां की अर्जी पर दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को दिए अपने हलफनामा में कहा कि अभी इस मामले में जांच जारी है. और निचली अदालत ने इन्ही दलीलों को सुनने के बाद पुलिस को 60 दिन का अतिरिक्त समय जांच के लिए दे दिया था.

Top News