taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

मूसेवाला मर्डर : जिन गांववालों ने कल तक AAP पर प्यार लुटाया, आज विधायक को भगा रहे

चंडीगढ़ : पंजाब में सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद आम आदमी पार्टी को लेकर विरोध तेज हो गया है। स्थिति यह है कि सीएम भगवंत मान से लेकर पार्टी के विधायक लोगों के गुस्से का शिकार हो रहे हैं। पंजाब में सरदूलगढ़ से आम आदमी पार्टी के विधायक गुरप्रीत सिंह शुक्रवार को सुबह सिद्ध मूसेवाला के घर पहुंचे थे।. आप विधायक को देखते ही लोगों का गुस्सा भड़क गया। आप विधायक किसी तरह से वहां से बाहर निकले। अब सवाल यह है कि आखिर दो महीने में ही सूबे में ऐसा क्या हो गया कि जिस आम आदमी पार्टी पर लोगों ने जान छिड़की थी अब उसके नेताओं को दौड़ा रहे हैं। चुनाव में बंपर जीत अब लोग कर रहे विरोध पहले बात सरदूलगढ़ के विधायक गुरप्रीत सिंह बनवाली की कर लेते हैं। गुरप्रीत सिंह बनावली को इस बार हुए पंजाब चुनाव में 41 हजार से अधिक मतों से जीत मिली थी। बनावली को करीब 50 फीसदी वोट मिले थे। बनवाली ने यहां कांग्रेस के उम्मीदवार बिक्रम सिंह को हराया था। बिक्रम सिंह को 34 हजार 446 वोट मिले थे। शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार दिलराज सिंह भूंदर तीसरे स्थान पर रहे मानसा में आप उम्मीदवार बने थे 'लखपति' सिंगर सिद्धू मूसेवाला ने मानसा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था। यहां भी आम आदमी पार्टी को लोगों का जोरदार समर्थन मिला था। मानसा से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार डॉ. विजय सिंगला को एक लाख से अधिक वोट मिले थे। सिंगला ने कांग्रेस उम्मीदवार शुभदीप सिंह सिद्धू मूसेवाला को 63 हजार से अधिक वोटों के अंतर से हराया था। यहां आम आदमी पार्टी को 57 प्रतिशत से अधिक वोट मिले थे। हालांकि, भ्रष्टाचार में नाम आने के बाद भगवंत मान ने सिंगला को मंत्री पद से हटा दिया था। संगरूर उपचुनाव पर पड़ेगा असर पंजाब में सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद से कानून और व्यवस्था को लेकर आम आदमी पार्टी और सीएम भगवंत मान विपक्ष के साथ ही लोगों के निशाने पर हैं। कानून व्यवस्था के साथ ही लोग वीआईपी सुरक्षा को घटाए जाने को लेकर भी नाराजगी दिखा रहे हैं। इस बीच 23 जून को संगरूर लोकसभा सीट पर उपचुनाव होना है। माना जा रहा है कि विपक्ष लोगों के इस गुस्से को आप के खिलाफ भुनाना चाहेगा। ऐसे में संभव है कि संगरूर उपचुनाव पर इसका कुछ असर दिखे। संगरूर सीएम भगवंत मान की सीट रही है। मान ने यहां से 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव जीता था। सीएम मान की तरह ग्रामीण क्षेत्र में मूसेवाला की लोकप्रियता पंजाब चुनाव में कांग्रेस की असफलता के पीछे ग्रामीण क्षेत्रों में पिछड़ना वजह रहा। आम आदमी पार्टी ने ग्रामीण क्षेत्रो में बेहतर प्रदर्शन किया था। जानकारों का मानना है कि सीएम भगवंत मान की तरफ से सिंगर सिद्धू मूसेवाला भी ग्रामीण क्षेत्रों में काफी लोकप्रिय हैं। मूसेवाला के अंतिम संस्कार में हजारों लोगों की उमड़ी भीड़ से इस बात के संकेत भी दिखाई दिए। वहीं, मूसेवाला की हत्या के बाद विपक्ष ने वीआईपी लोगों की सिक्योरिटी कम किए जाने को लेकर भी सरकार को निशाने पर लिया है। बठिंडा लोकसभा में 9 विधानसभा सीट सिंगर सिद्धू मूसेवाला की सीट मानसा बठिंडा लोकसभा क्षेत्र में आती है। बठिंडा लोकसभा में लांबी, भूचो मंडी, बठिंडा शहरी, बठिंडा ग्रामीण, तलवंडी साबो, मौर, मानसा, सरदूलगढ़ और बुढलाढा 9 विधानसभा सीट आती हैं। इन सभी सीटों पर आम आदमी पार्टी ने जीत हासिल की थी। इन सभी सीटों पर आप उम्मीदवार को 37 से लेकर 57 प्रतिशत तक वोट मिले थे।

Top News