taaja khabar.....30 करोड़ को कोरोना वैक्सीन देने के लिए चुनाव जैसी महातैयारी, पोलिंग बूथ जैसे बनेंगे 'वैक्सीन बूथ' ....लक्ष्मी विलास बैंक के DBIL में विलय को कैबिनेट की मंजूरी, NIIF को 6 हजार करोड़ ​पूंजी ...स्मृति ईरानी बोलीं- घुसपैठियों की मदद कर रहे ओवैसी और केसीआर..पंजाब के सभी शहरों में फिर से नाइट कर्फ्यू, मास्क न पहनने पर लगेगा 1000 का जुर्माना...बंगालः दिलीप घोष की रैली में आ रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला, TMC पर धमकाने का आरोप...'लव जिहाद' पर कानून किसी धर्म के खिलाफ नहीं, किसी धर्म के पक्ष में नहीं : वीएचपी ....वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने पहले हुए थे कोरोना पॉजिटिव.....विजय कुमार सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर, हंगामे के बीच हुई वोटिंग में महागठबंधन के अवध बिहारी को हराया ,....‘बोल दो कोरोना हो गया’, सुशील मोदी का दावा- लालू ने किया BJP MLA को फोन, ऑडियो जारी...गांगुली होंगे BJP का चेहरा? टीएमसी सांसद बोले- उन्हें नहीं पता गरीबों की दिक्कत, टिक नहीं पाएंगे...यूपी के बाद हरियाणा सरकार भी बनाएगी लव जिहाद पर कानून, अनिल विज बोले- योगी जिंदाबाद...अमेरिका के नए विदेश मंत्री ऐंटनी ब्लिंकेन पाकिस्तान के लिए बुरी खबर? ...नीतीश कुमार और अशोक चौधरी का सदन में रहना गलत नहीं, कानून विशेषज्ञ....

कोरोना वायरस संक्रमण का 60 मिनट में चलेगा पता, आ रहा देसी 'फेलूदा'

नई दिल्ली कोरोना वायरस (Corona in India) ने पूरी दुनिया को हलकान कर दिया है। राजधानी दिल्ली में कोविड-19 की तीसरी लहर जारी रही इस बीच, इस बीमारी की जांच करने के लिए आज एक बड़ी खबर मिलने वाली है। दरअसल, अपोलो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के साथ मिलकर टाटा ग्रुप एक देश में निर्मित टेस्ट किट 'फेलूदा' का लॉन्च करेगी। इसकी खासियत ये है कि इस टेस्ट के नतीजे 1 घंटे के भीतर मिल जाएंगे। फेलूदा के किट को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से इसके देश में प्रयोग की अनुमति मिल गई है। कहा जा रहा है कि टेस्ट किट का सबसे पहले इस्तेमाल दिल्ली में किया जाएगा। रिपोर्ट्स के अनुसार, इस किट की कीमत 500 रुपये तक हो सकती है। क्या है फेलूदा कोविड-19 टेस्ट? स्वदेशी CRISPI जीन-एडिटिंग टेक्नोलॉजी पर आधारित है। ये तकनीक कोरोना वायरस SARS-CoV2 के जेनेटिक मटीरियल को पहचानने में मददगार है। ये टेस्ट Rt PCR टेस्ट जितना ही सटीक परिणाम देता है। पूरी दुनिया में अभी तक Rt PCR ही कोविड-19 के टेस्ट में कारगर माना जाता है। अब फेलूदा एक ऐसा विकल्प बनकर सामने आया है जो जल्दी नतीजे देने के साथ ही काफी सस्ता भी है। 1 घंटे से भी कम समय में देगा रिजल्ट सबसे बड़ी बात यह है कि आरटी-पीसीआर टेस्ट का रिजल्ट आने में लगभग 24 घंटे लग जाते हैं, लेकिन फेलूदा टेस्ट का रिजल्ट एक घंटे से भी कम समय में आ जाएगा। आइसीएमआर के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि अत्यधिक समय लगने के कारण आरटी-पीसीआर टेस्ट बड़े पैमाने पर करना संभव हो पाता है। मैन्युफैक्चर का दावा है कि इस टेस्ट को करवाने के बाद RT-PCR टेस्ट से पुष्टि की कोई ज़रूरत नहीं। इस टेस्ट में जो शख्स पॉजिटिव आएगा उसको पॉजिटिव माना जाएगा और जो शख्स नेगेटिव आएगा उसको नेगेटिव मान लिया जाएगा। टेस्ट किसने विकसित किया है इस टेस्ट को सीएसआईआर यानी वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के देवज्योति चक्रवर्ती और सौविक मैती की टीम और जीनोमिक्स और इंटीग्रेटिव बायोलॉजी संस्थान द्वारा विकसित किया गया है। जबकि इस टेस्ट का निर्माण टाटा संस द्वारा किया जा रहा है। फेलूदा टेस्ट को सितंबर महीने में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया द्वारा अनुमति मिली है। इस टेस्ट के जरिए नेगेटिव और पॉजिटिव मरीजों की पहचान की जाती है। यह टेस्ट आरटी-पीसीआर परीक्षणों के समान है, जिसका इस्तेमाल कोरोना वायरस निदान के लिए किए जा रहे हैं। इसलिए फेलूदा पड़ा नाम एडिटर लिंक्ड यूनिफॉर्म डिटेक्शन एसे (FNCAS9) को शार्ट में फेलूदा कहा जाता है। इसका नाम फेलूदा बंगाल के मशहूर फिल्म निर्माता और लेखक सत्यजीत रे के जासूस किरदार पर रखा गया है जो एक प्राइवेट जासूस था और किसी भी तरह से छानबीन कर आरोपी का पता लगा ही लेता था।

Top News