taaja khabar..कोयले की कमी, बिजली कटौती, पीएम से गुहार लगाते सीएम... लेकिन ऊर्जा मंत्री बोले- सब चंगा सी..बलूचों के हमलों से डरे चीन-पाकिस्‍तान, ग्‍वादर नहीं अब कराची को बनाएंगे CPEC का हब..आशीष मिश्रा 'मोनू' को रिमांड पर लेगी पुलिस, कल कोर्ट में अर्जी डालेगी लखीमपुर खीरी की पुलिस टीम..केंद्रीय मंत्री बोले, बिजली आपूर्ति बाधित होने का खतरा बिल्कुल नहीं, पर्याप्त मात्रा में मौजूद है कोयले का स्टाक...बसपा तथा कांग्रेस के आधा दर्जन से अधिक पूर्व विधायक व एमएलसी भाजपा में शामिल..बसपा तथा कांग्रेस के आधा दर्जन से अधिक पूर्व विधायक व एमएलसी भाजपा में शामिल..

लखीमपुर खीरी की आग पर योगी सरकार ने 20 घंटों के भीतर कैसे पा लिया काबू? पूरी टाइमलाइन समझ‍िए

लखनऊ लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों के प्रदर्शन के दौरान जिस तरह हिंसा भड़की, उसके व्‍यापक रूप लेने की आशंका थी। रात होते-होते विपक्ष के नेताओं ने जिस तरह से मामले को उठाया, उत्‍तर प्रदेश सरकार सतर्क हो गई। जिले के तिकोनिया इलाके में भारी पुलिस फोर्स शाम से ही मौजूद थी। सोमवार को बड़े पैमाने पर विरोध-प्रदर्शन की योजना थी। किसान नेता भी लखीमपुर खीरी पहुंच रहे थे और विपक्ष के बड़े नाम भी। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍याथ ने लखनऊ से एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार को भेजा। कुमार पर प्रदर्शनकारियों से बात कर बीच का रास्‍ता निकालने की जिम्‍मेदारी थी। इस बीच किसी तरह ही अ‍परिहार्य स्थिति से निपटने की पूरी व्‍यवस्‍था कर ली गई थी। न हिंसा भड़कने दी, न विपक्ष को मौका एक अभियान के तहत, विपक्षी नेताओं को लखीमपुर खीरी आने से रोका गया। किसी को लखनऊ में तो किसी को बीच रास्‍ते में। योगी सरकार को अंदेशा था कि विपक्ष वहां पहुंचकर तनाव और बढ़ा सकता है। उधर, सोमवार पौ फटते ही किसान नेताओं से बातचीत शुरू कर दी गई। कुछ शर्तों पर पेच फंसा था जिनपर भी कुछ घंटों में बात बन गई। आखिरकार घटना के 24 घंटों के भीतर समझौता हो गया। आइए, आपको बताते हैं कि इस मामले में कब-कब क्‍या हुआ? 03 अक्‍टूबर शाम 3.45 बजे: शुरुआत में खबर आई कि लखीमपुर खीरी में सांसद और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष उर्फ मोनू मिश्रा ने किसानों पर कार चढ़ा दी। गुस्‍साए किसानों ने मोनू की 2 गाड़ियां फूंक दी गईं। इस दौरान एक पत्रकार भी घायल हुआ जिसकी सोमवार को मौत हो गई। इस वक्‍त तक जिले के तिकोनिया इलाके में भारी बवाल हो चुका था। शाम 4.10 बजे: जिले के आला प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के मौके पर मौजूद होने की सूचना आती है। मिश्र के गांव में डेप्‍युटी सीएम का तय कार्यक्रम बीच में रोक दिया गया। इलाके में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। शाम 4.20 बजे: किसान मोर्चा ने दो किसानों की मौत और 8 के घायल होने का दावा किया। शाम 4.26 बजे: पूर्व सीएम अखिलेश यादव ट्वीट करते हैं। शाम 4.30 बजे: भारतीय किसान यूनियन ने आशीष पर कार से रौंद कर 3 किसानों को मारने का आरोप लगाया। राकेश टिकैत के गाजीपुर से लखीमपुर खीरी के लिए रवाना होने की जानकारी दी गई। शाम 5.00 बजे: मंत्री अजय मिश्र का एक वीडियो सामने आता है। आरोप कि इसी बयान के बाद से लोगों में आक्रोश भड़का। बयान करीब 20 दिन पहले का बताया जा रहा है। शाम 6 बजे: संयुक्त किसान मोर्चा एक प्रेस रिलीज जारी कर गृह राज्य मंत्री और समर्थकों पर तुरंत हत्या के मामले दर्ज करने औश्र मंत्री को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की। शाम 6.08 बजे: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ट्वीट करती हैं कि 'भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएंगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे?' रात 7.17 बजे: बसपा अध्‍यक्ष मायावती ट्वीट कर सुप्रीम कोर्ट से घटना का स्‍वत: संज्ञान लेने की अपील करती हैं। रात 7.25 बजे: पंजाब से गुरनाम सिंह चढूनी, लक्खा सिधाना के 4 दर्जन गाड़ियों के काफिले के साथ लखीमपुर आने की खबर आई। रात 7.30 बजे: किसान नेताओं ने ऐलान किया कि जब तक बीजेपी नेता का बेटा अरेस्ट नहीं होगा, तब तक एक भी शहीद किसान की चिता नहीं जलेगी। रात 8 बजे: पंजाब में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शन शुरू होने की रिपोर्ट्स आनी शुरू हुईं। रात 8.10 बजे: लखीमपुर खीरी जा रही प्रियंका गांधी को सीतापुर जिले में हिरासत में लिया गया। रात 8.30 बजे: अजय मिश्र का बयान आता है। वह कहते हैं कि हिंसा में 'हमारे चार लोगों को पीट-पीट कर मार दिया गया, मारे जाने वालों में तीन भाजपा कार्यकर्ता, एक कार चालक है।' रात 8.40 बजे: किसानों ने गदरपुर में नैनीताल-देहरादून हाइवे ब्‍लॉक किया। रात 8.50 बजे: लखीमपुर में इंटरनेट सेवाएं बंद की गईं। रात 9.30: पंजाब और छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्रियों ने लखीमपुर जाने की घोषणा की। रात 10 बजे: मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने घटना पर बयान जारी किया। रात 10.05 बजे: प्रियंका गांधी वाड्रा लखनऊ पहुंची। रात 10.10 बजे: किसान संगठनों ने पूरे भारत में सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक प्रदर्शन का ऐलान किया। रात 10.15 बजे: किसान नेता राकेश टिकैत का काफिलाबरेली से पीलीभीत होते हुए लखीमपुर के लिए निकला। हाईवे पर किसानों की सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात था। रात 10.45 बजे: प्रियंका गांधी लखीमपुर के लिए रवाना हुईं। रात 10.50 बजे: मुजफ्फरनगर के सिसौली में रात को महापंचायत बुलाई गई। 4 अक्‍टूबर रात 12 बजे: प्रियंका गांधी को लखनऊ में नजरबंद किया गया गया। राकेश टिकैत पीलीभीत पहुंचे। सतीश मिश्रा हाउस अरेस्ट। प्रियंका गांधी के लिए पुलिस फोर्स लगाई गई। पंजाब CM चन्नी, अखिलेश यादव, जयंत चौधरी, चंद्रशेखर आजाद कल सुबह जाएंगे। पुलिस सबको हाउस अरेस्ट करने की तैयारी में। रात 12.37 बजे: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद खैराबाद टोल प्लाजा पर रोके गए। रात 1 बजे: प्रियंका गांधी और राकेश टिकैत का काफिला लखीमपुर रवाना। सुबह 5 बजे: प्रियंका गांधी को पुलिस ने सीतापुर के हरगांव बॉर्डर पर हिरासत में लिया। सीतापुर में ही चेकिंग के दौरान आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह को रोका गया। सुबह 5.45 बजे: लखीमपुर खीरी पहुंचे राकेश टिकैत से बात करने डीएम अरविंद चौरसिया और एसपी विजय ढुल पहुंचे। सुबह 6.20 बजे: राकेश टिकैत ने किसानों के साथ चर्चा करके अपना मांग पत्र प्रशासन को सौंपा। अजय कुमार मिश्र के पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू पर एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी मुख्य मांग थी। सुबह 6.30 बजे: लखनऊ में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष के घर के बाहर पुलिस और PAC तैनात। सुबह 7 बजे: लखनऊ में अखिलेश यादव को हाउस अरेस्ट कर लिया गया। मकान के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात। सुबह 7.15 बजे: किसानों की मौत मामले में पुलिस ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्र समेत 14 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। सुबह 7.18 बजे: किसान और प्रशासन के बीच एक बार फिर बैठक शुरू, बैठक में किसान नेता राकेश टिकैत समेत 12 लोग मौजूद, बैठक में लखीमपुर के DM-SP मौजूद हैं। सुबह 7.57 बजे: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आवास के बाहर प्रशासन ने ट्रक खड़ा करवाया। बैरिकेडिंग की जगह 16 पहिये का ट्रक मुख्य मार्ग पर तैनात किया गया। सुबह 8.45 बजे: रैपिड ऐक्‍शन फोर्स को घटनास्‍थल की ओर रवाना किया गया। सुबह 8.49 बजे: बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री से सख्त कार्यवाही करने का निवेदन किया। सुबह 9.06 बजे: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने बहन प्रियंका के समर्थन में ट्वीट किया। सुबह 9.45 बजे: दिल्‍ली-एनसीआर के कई बॉर्डर्स बंद किए गए। सुबह 9.50 बजे: लखनऊ में प्रदर्शनकारियों ने अखिलेश यादव के घर के बाहर पुलिस जीप में आग लगाई। सुबह 9.55 बजे: शिवपाल यादव के दीवार फांदकर भागने की खबर आई। हालांकि बाद में उन्‍हें पुलिस ने फिर हिरासत में ले लिया। सुबह 10 बजे: आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी के समर्थकों ने गढ़मुक्तेश्वर (हापुड़)के टोल प्लाजा के बैरियर को तोड़ा। चौधरी लखीमपुर खीरी के रास्‍ते पर थे। सुबह 10.10 बजे: पुलिस ने अखिलेश यादव को हिरासत में लिया। रामगोपाल यादव और अन्‍य कार्यकर्ता भी हिरासत में। सुबह 10.30 बजे: लखीमपुर हिंसा में एक पत्रकार की भी मौत। सुबह 11 बजे: मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ी बैठक बुलाई। डेप्‍युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना समेत आला अधिकारी भी बैठक में मौजूद थे। दोपहर 12.40 बजे: किसानों और प्रशासन में सहमति बनी। मृतकों के आश्रितों को नौकरी, 8 दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी का भरोसा, किसानों के परिजनों को 45 लाख का मुआवजा, घटना की न्यायिक जांच होगी, घायलों को 10 लाख का मुआवजा। दोपहर 12.50 बजे: उत्‍तर प्रदेश सरकार और किसान नेताओं की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में समझौते का ऐलान। दोपहर 1.30 बजे: केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में आरएएफ और एसएसबी की दो-दो कंपनियों की तैनाती 6 अक्टूबर तक रहेगी।

Top News