taaja khabar....अमेरिका ने भारत को हथियार क्षमता वाले गार्जियन ड्रोन देने की पेशकश की: सूत्र....अविश्वास प्रस्ताव: मोदी सरकार को मिलेगा विपक्ष पर निशाना साधने का मौका....संसद भवन पर हमले के लिए निकले हैं खालिस्तानी आतंकी: खुफिया इनपुट....धरती के इतिहास में वैज्ञानिकों ने खोजा 'मेघालय युग'....कठुआ केस में नया मोड़, पीड़िता के 'असल पिता' कोर्ट में होंगे पेश...निकाह हलाला: बरेली में ससुर पर रेप का केस, अप्राकृतिक सेक्‍स के लिए पति पर भी मुकदमा...मॉनसून सत्र: अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन नहीं करेगी शिवसेना?....देश के हर गांव को जाएगा कुंभ का न्योता, योगी पत्र लिख मुख्यमंत्रियों को बुलाएंगे....क्या अविश्वास प्रस्ताव के मुद्दे पर मोदी सरकार के दांव में फंस गया विपक्ष?...लखनऊ में बड़े कारोबारी के यहां छापे, 89 किलो सोना-चांदी बरामद, 8 करोड़ कैश भी...
इस साल मॉनसून रहेगा सामान्य, अच्छी बारिश की संभावना: मौसम विभाग
नई दिल्ली कृषि क्षेत्र और देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर आई है। भारतीय मौसम विभाग ने इस साल अच्छी बारिश की संभावना जताई है। सोमवार को मौसम विभाग ने कहा कि जून से सितंबर की अवधि में मॉनसून के सामान्य रहने की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग के डीजी के जी रमेश ने कहा, 'मॉनसून का लंबी अवधि (एलपीए) का औसत 97 फीसदी रहेगा जो कि इस मौसम के लिए सामान्य है। कम मॉनसून की 'बहुत कम संभावना' है। इससे पहले मौसम का पूर्वानुमान लगाने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट ने भी 4 अप्रैल को कहा था कि 2018 में मॉनसून 100 फीसदी सामान्य रहने की संभावना है। बारिश यदि एलपीए के 96-104 फीसदी हो तो इसे सामान्य मॉनसून कहा जाता है। सामान्य से अधिक मॉनसून में बारिश एलपीए के 104-110 फीसदी होती है। एलपीए के 110 फीसदी से अधिक होने पर इसे 'अत्यधिक' कहा जाता है। मौसम विभाग के मुताबिक, 42 फीसदी संभावना सामान्य वर्षा की है जबकि 12 फीसदी आसार हैं कि बारिश सामान्य से अधिक होगी। इसका मतलब है कि देश में बारिश सामान्य से अधिक होने की अच्छी संभावना है। मॉनसून मई के अंतिम सप्ताह या जून के पहले सप्ताह में केरल पहुंच सकता है। इससे पहले 2017 और 2016 में भी मॉनसून सामान्य रहा था, लेकिन 2014 और 2015 में मॉनसून कम होने की वजह से देश को सूखे की मार झेलनी पड़ी थी। सामान्य बारिश होने से अच्छी खेती होगी और अर्थव्यवस्था पर इसका सीधा और सकारात्मक असर होता है।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/