taaja khabar..भारत में बड़ा आतंकी हमला करने की फिराक में है इस्लामिक स्टेट, रूस ने साजिश रच रहे आत्मघाती हमलावर को हिरासत में लिया..भाजपा का सिसोदिया पर पलटवार, कहा- केजरीवाल जिसे देते हैं ईमानदारी का सर्टिफिकेट वो जरूर जाता है जेल..शहनवाज हुसैन को सर्वोच्च न्यायालय से मिली बड़ी राहत, हाई कोर्ट के आदेश पर लगी रोक..आबकारी घोटाले में 'टूलकिट माड्यूल' की जांच, स्टैंडअप कामेडियन और हैदराबाद से जुड़े शराब के व्यापारी भी रडार पर..प्रधानमंत्री 24 अगस्त को हरियाणा और पंजाब में अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे..आबकारी नीति मामला: भाजपा की दिल्ली इकाई का केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन..

प्रॉपर्टी कार्ड देकर बोले PM, तकलीफ हो तो भी बच्चों को पढ़ाइए, राजमिस्त्री बनने पर मजबूर मत करिए

नई दिल्ली, 11 अक्टूबर 2020,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामित्व योजना की शुरुआत कर दी है. इस योजना के जरिए लोगों को एक ऐसा कार्ड मिलेगा जो उनके घर का मालिकाना सबूत होगा. रविवार को देश के 6 राज्यों के 763 पंचायतों के 1 लाख मकान मालिकों को ये कार्ड मिला. इस योजना के उद्घाटन के दौरान पीएम मोदी ने कार्ड पाने वाले लाभुकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की. इस दौरान पीएम ने हरियाणा के रहने वाले मुमताज अली से बात की. एक बेहद आत्मीय बातचीत में पेशे से राजमिस्त्री मुमताज अली को पीएम नरेंद्र मोदी ने सलाह दी कि अगर उन्हें थोड़ी आर्थिक तकलीफ हो तो भी वे अपने बच्चों को जरूर पढ़ाएं उन्हें राजमिस्त्री बनने पर मजबूर न करें. स्वामित्व योजना का उद्घाटन करने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के यमुनानगर के निवासी मुमताज अली से बात की. मुमताज अली ने कहा कि वे एक सामान्य परिवार से आते हैं, और उनकी महीने की कमाई लगभग 15 हजार रुपये है. मुमताज अली ने कहा कि इस कार्ड की वजह से गांव में होने वाला जमीन का झगड़ा समाप्त हो जाएगा. इस दौरान मुमताज अली ने कहा कि वे घर बनाने का काम करते हैं. इस कार्ड की वजह से वे बैंक से लोन लेकर सेंट्रिंग का काम शुरू करेंगे. उन्होंने कहा कि बैंक उन्हें 3 लाख रुपये का लोन देने पर राजी हो गया है. पीएम मोदी ने कहा कि ये खुशी की बात है कि स्वामित्व कार्ड के आधार पर उन्हें लोन मिल गया और इससे उनके परिवार की आर्थिक स्थिति सुधरेगी. पीएम ने मुमताज अली से पूछा कि क्या वे अपने बच्चों को पढ़ाएंगे? इस पर मुमताज अली ने कहा कि उनका एक बेटा और एक बेटी पढ़ाई कर रहे हैं. इस पर खुशी जताते हुए पीएम ने कहा कि अगर जीवन में थोड़ी तकलीफ भी हो जाए तो बच्चों को जरूर पढ़ाइएगा. उन्हें राजमिस्त्री बनने पर मजबूर नहीं करेंगे. पीएम की बात से हामी भरते हुए मुमताज अली ने कहा कि उनके बच्चे पढ़ रहे हैं और वे आगे राजमिस्त्री का काम नहीं करेंगे.

Top News