taaja khabar...लद्दाख में अब चीनी सैनिकों का 1962 जैसा पैंतराः बजा रहे पंजाबी गाने, PM मोदी के खिलाफ भड़का रहे ...पैंगोंग झील: भारत के ऐक्‍शन के बाद 33 साल में पहली बार सबसे ज्‍यादा अलर्ट पर चीनी सेना ...लद्दाख: राजनाथ सिंह के बयान पर चीनी मीडिया को लगी म‍िर्ची, दे डाली युद्ध की धमकी ...लद्दाख में चीन से लंबा चलेगा तनाव! देपसांग में ग्राउंड वाटर की संभावनाएं तलाश रही सेना...महाराष्ट्र सरकार ने बढ़ाई बच्चन फैमिली की सुरक्षा, बीजेपी बोली- सुशांत और कंगना को क्यों नहीं दी? ...योगी आदित्यनाथ ने 87 लाख गरीबों के खाते में ट्रांसफर की 1311 करोड़ रुपये पेंशन ...चीन से तनाव के बीच शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक, कांग्रेस उठाएगी LAC का मुद्दा...UP के बाहुबली MLA विजय मिश्रा पर कसा शिकंजा, पत्नी-बेटा नहीं हुए हाजिर तो संपत्ति होगी कुर्क...नवंबर तक भारत में आ जाएगा कोरोना का रूसी टीका! डॉ. रेड्डीज से हुआ करार ...सरकार किसानों को दे रही 80% सब्सिडी, ऐसे ले सकते हैं फायदा..तीन महीने का इंतजार और फिर ‘ऑपरेशन स्नो लेपर्ड’ चला सेना ने ऐसे दी चीन को मात...जया पर रवि किशन का पलटवार, 'जिस थाली में जहर हो उसमे छेद करना ही पड़ेगा'..

राजस्थान विधानसभा में हुआ हंगामा ,उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ को सदन से बाहर करने का प्रस्ताव पारित,

जयपुर राजस्थान विधानसभा में सोमवार को भी सत्र भारी हंगामेदार रहा। वहीं इस दौरान उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ को मौजूदा सत्र की शेष अवधि के लिए सदन से बाहर करने का प्रस्ताव पारित किया गया। वहीं इस दौरान भाजपा विधायकों ने वॉक आउट कर प्रश्नकाल-शून्यकाल नहीं होने पर सांकेतिक विरोध भी जताया। आपको बता दें कि विपक्ष के भारी हंगामें के बीच सदन की कार्यवाही तीन बार स्थगित करनी पड़ी। राठौड़ के खिलाफ प्रस्ताव लाने के बाद सबसे पहले आधे घंटे के लिए कार्यवाही को स्थगित करने का फैसला स्पीकर की ओर से लिया गया। यह था पूरा मामला दरअसल एक विधेयक को लेकर स्पीकर की विपक्षी भाजपा के विधायकों से तीखी नोंक झोंक हुई। विपक्ष के सदस्यों ने स्पीकर के सामने आकर नारेबाजी की। स्पीकर के बार बार कहने पर भी विधायक अपनी सीटों पर नहीं गए । लगातार उपनेता प्रतिपक्ष राठौड़ की विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी पी जोशी से तीखी नोकझोंक जारी रही। इसके बाद संसदीय मंत्री शांति धारीवाल से राठौड़ को सदन से बाहर करने का प्रस्ताव रखा, जिसे स्पीकर ने बिना किसी देरी के स्वीकार कर लिया। इसी तरह आगे विपक्ष के हंगामे के बीच इस प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया । स्पीकर नरम पड़े, तो दोबारा राठौड़ को निलंबन के लिए प्रस्ताव लाने की कहीं बात सोमवार को जहां बीजेपी ने हंगामा जारी रखा। वहीं राठौड़ को सदन से बाहर किए जाने के बाद एक बार फिर स्पीकर सी.पी. जोशी ने नरमाई दिखाई। उन्होंने प्रतिपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष व विधायक सतीश पूनियां से कहा कि वे अध्यक्ष की ओर से की गयी व्यवस्था का पालन करते हुए राठौड़ को एक बार बाहर भेजें, इसके बाद वह खुद सत्तापक्ष से कहेंगे कि उनका निलंबन रद्द करने का प्रस्ताव लाया जाए। लेकिन विपक्ष ने उनकी बात एक तरह से अनसुना कर दी। शोरशराबे की बीच पारित हुए विधयक जहां दिन भर सदन में हंगामों का दौर जारी रहा। वहीं इस बीच कई विधेयक पारित किए गए। अध्यक्ष ने लगभग दो बजे विपक्षी सदस्यों से एक बार फिर सदन की व्यवस्था का पालन करने की अपील की। इसके बाद कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी गई। इससे पहले राजस्थान भिखारियों या निर्धन व्यक्तियों का पुनर्वास संशोधन विधेयक 2020 को लेकर भी भारी हंगामा रहा। इसके अलावा जीएसटी के मुद्दे पर भी सत्तापक्ष और विपक्ष आमने- सामने दिखाई दिए

Top News