taaja khabar...पीएम मोदी और ट्रंप के बीच CAA पर कोई चर्चा नहीं, कश्मीर का जिक्र ...कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर लगाया दंगाइयों को बचाने का आरोप, कहा- 'मुझे मारने की धमकियां दी जा रही हैं'...दिल्ली में सीएए को लेकर बढ़ा बवाल, केजरीवाल बोले- हिंसा से किसी का फायदा नहीं...दिल्ली हिंसा की नेताओं ने की निंदा, कांग्रेस ने मांगा गृह मंत्री शाह का इस्तीफा...दिल्ली हिंसा में पुलिस पर फायरिंग करने वाला शख्स हिरासत में...दिल्ली हिंसा में मरने वालों की संख्या हुई 9, चैनल के पत्रकार को भी लगी गोली ...छत्तीसिंहपुरा हिंसा: क्लिंटन के भारत दौरे पर कश्मीर में हुई थी 35 सिखों की हत्या ...नीतीश राज में NRC नहीं, बिहार विधानसभा में प्रस्ताव पास, NPR में भी बदलाव ....इलाहाबाद HC का बड़ा आदेश- बंद कमरे की घटना पर SC/ST एक्ट लागू नहीं ...CAA: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री बोले- ट्रंप के दौरे के वक्त हिंसा एक साजिश ...

रोडवेज मुख्य प्रबन्धक की श्रमिक विरोधी कार्यशैली पर आक्रोश व्यक्त

- 29 जुलाई से दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन व आमरण-अनशन किया जाएगा श्रीगंगानगर, 19 जुलाई 2019: राजस्थान निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन तथा भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों की बैठक मीरा चौक स्थित उप जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि इस बैठक में राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन द्वारा श्रमिक हित व संस्थान हित में मुख्य प्रबन्धक, गंगानगर आगार को दिये गये 19 सूत्री मांग-पत्र का निराकरण नहीं होने पर आक्रोश व्यक्त किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए फैडरेशन के सम्भागीय संरक्षक मलखान सिंह ने बताया कि गत दिनों जयपुर में आयोजित विशाल प्रदर्शन में श्रीगंगानगर से भी फैडरेशन पदाधिकारियों ने भाग लिया। इस मौके पर संगठन पदाधिकारियों द्वारा प्रबन्ध निदेशक से मिलकर उन्हें मुख्य प्रबन्धक की हठधर्मिता तथा द्वेषतापूर्ण कार्यवाही से अवगत करवाया गया तथा मुख्य प्रबन्धक द्वारा लूट-खसोट को बंद करने की माँग की गई। इस मौके पर संगठन द्वारा 19 सूत्री माँग-पत्र भी सौंपा गया। संगठन ने माँग की है कि रोडवेज कर्मचारियों को चयनित वेतनमान का लाभ देने, सहारा अनुबन्ध पर लिए चालकों-परिचालकों को निगम में नई भर्ती में प्राथमिकता से नियुक्ति देने, नई बसों का संचालन करने, चालकों, परिचालकों व मैकेनिकों के रात्रि भत्ते में वृद्धि करने, पूर्व की भांति टीआई व एटीआई ग्रेड देने, व्हीकल इंस्पेक्टर पद पर पदोन्नति प्रदान करने, महिला कर्मचारियों को अन्य विभागों की तरह प्रसव के दौरान अवकाश देने, छोटे बच्चे की स्थिति में उसकी देखभाल हेतु मार्ग पर न भेजकर कार्यालय कार्य लेने, मुख्य प्रबन्धक द्वारा किए जा रहे भाई-भतीजावाद व अमानवीय कार्य व्यवहार पर अंकुश लगाने, सेवानिवृत्त कर्मचारियों का बकाया भुगतान करने, तकनीकी कर्मचारियों की लम्बे समय से रूकी हुई पदौन्नति करने आदि माँगों के निराकरण की माँग की गई। इस पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा संगठन की माँगों को जायज ठहराते हुए यथोचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया गया। संगठन पदाधिकारियों ने कहा कि मुख्य प्रबन्धक श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण करने की बजाय कार्यालय में ही नहीं आ रहा है तथा निरन्तर श्रमिक विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहता है। जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’ ने बताया कि बैठक में विचार-विमर्श के पश्चात् सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि मुख्य प्रबन्धक द्वारा संगठन के 19 सूत्री माँग-पत्र का निराकरण नहीं करने पर रोषस्वरूप 29 जुलाई, 2019 से जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी के नेतृत्व में रोडवेज आगार गेट पर दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया तथा मुख्य प्रबन्धक की कार्यशैली में सुधार नहीं होने पर भूख हड़ताल व आमरण-अनशन करने की घोषणा की गई, जिसकी समस्त जिम्मेवारी मुख्य प्रबन्धक की होगी। धरना-प्रदर्शन व आमरण-अनशन आंदोलन में राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन के साथ-साथ भारतीय मजदूर संघ से सम्बन्धित 18 संगठनों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल होंगे। इस अवसर पर बैठक में जिलाध्यक्ष हेमराज चौधरी, जिला संगठन मंत्री प्रदीप पंडित ‘कश्मीरी’, फैडरेशन के सम्भागीय संरक्षक मलखान सिंह, सम्भागीय उपाध्यक्ष लीलाधर माहर, शाखा अध्यक्ष सुरेन्द्र बागड़ी, शाखा सचिव करणी सिंह सहित भारतीय मजदूर संघ से सम्बन्धित संगठनों के अनेक पदाधिकारी उपस्थित थे।

Top News