taaja khabar....टीकाकरण को गति देने के लिए केंद्र देगा विदेशी कोविड वैक्सीन को झटपट अनुमति, प्रकिया होगी तेज...दार्जिलिंग में बोले शाह- दीदी ने भाजपा-गोरखा एकता तोड़ने का प्रयास किया, देना है मुंहतोड़ जवाब...और मजबूत हुई भारतीय वायुसेना, 6 टन के लाइट बुलेट प्रूफ वाहनों को एयरबेस में किया गया शामिल...इस साल मानसून में सामान्य से बेहतर होगी बारिश, स्काइमेट वेदर का पूर्वानुमान....सुशील चंद्रा ने देश के मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार संभाला...प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैसाखी त्योहार पर कड़ी मेहनत करने वालों किसानों की तारीफ की...Sputnik V को मंजूरी के बाद अब जल्द मिलेगी डोज, भारत में एक साल में बनेगी 85 करोड़ खुराक....'टीका उत्सव' के तीसरे दिन दी गईं 40 लाख से ज्यादा डोज, अब तक 10.85 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन....शरीर में नई जगह छिपकर बैठ रहा कोरोना, अब RT-PCR टेस्ट से भी नहीं हो रहा डिटेक्ट...

दूध वाली चाय ये कहीं फायदेमंद है लौंग की चाय, मोटापा घटाने से लेकर ब्‍लड शुगर तक करती है कंट्रोल

हमारे घरों में ज्‍यादातर लोग सुबह उठकर दूध या काली चाय पीना पसंद करते हैं। जबकि रेगुलर वाली चाय के बजाए यदि लौंग वाली चाय पी जाए तो उसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ कहीं ज्‍यादा होंगे। जी हां, हमारे किचन में मौजूद कई मसाले हैं, जिसमें से लौंग का अपना ही महत्‍व है। लौंग के सेवन से वजन कम करने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण पाचन को बढ़ावा देने और अन्य बीमारियों से राहत प्रदान करने में मदद कर सकते हैं। लौंग में विटामिन ई, विटामिन सी, फोलेट, राइबोफ्लेविन, विटामिन ए, थायमिन और विटामिन डी जैसे आवश्यक विटामिन भी होते हैं। आप चाहें तो लौंग को करी बनाते वक्‍त उसमें प्रयोग कर सकते हैं या फिर चाय बनाते वक्‍त लौंग के पाउडर को उसमें डालकर लाभ उठा सकते हैं। ​लौंग की चाय बनाने का तरीका: सामग्री: 2 कप पानी 4-5 लौंग 1/2 इंच दालचीनी 1/2 इंच अदरक गुड़ नींबू का रस बनाने की विधि- एक गहरे पैन में पानी डालें और एक उबाल आने दें। गैस बंद कर दें, पानी में लगभग 4-5 लौंग, कसा हुआ अदरक और दालचीनी डालें। इन सब चीजों को पानी में लगभग 15 से 20 मिनट तक रहने दें। एक कप में पानी छान लें और इसमें 1 चम्मच शहद और 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाएं। अपनी मसालेदार हर्बल चाय का आनंद लें। ​इससे आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है यह मसालेदार चाय आपके पाचन को बेहतर बनाने में मदद कर सकती है। चाय में इस्तेमाल होने वाले लौंग और मसालों में मौजूद यौगिक आपकी पाचन प्रक्रिया को बेहतर बना सकते हैं, जिससे आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है क्योंकि दोनों प्रक्रियाएं एक-दूसरे से निकटता से जुड़ी हुई हैं। मसालों को आपके चयापचय दर में सुधार करने के लिए भी जाना जाता है, जो फैट बर्निंग प्रक्रिया को तेज कर देता है। फैट बर्न करने के मामले में क्‍या कहता है शोध USDA नेशनल न्यूट्रिएंट डेटाबेस के अनुसार, लौंग कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और डाइट्री फाइबर सहित कई पोषक तत्वों से भरपूर है। वैज्ञानिकों ने लौंग के मोटापे पर संभावित प्रभाव के बारे में अध्ययन किया है। pubmed.ncbi में छपी एक रिसर्च के मुताबिक चूहों के एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि लौंग का अर्क मोटापे के प्रभाव को कम कर सकता है, जो कि हाई-फैट डाइट की वजह से होता है। अन्‍य चूहों कि तुलना में, वे चूहे जिन्हें लौंग का अर्क दिया गया था, उनके शरीर का न सिर्फ वजन कम था बल्‍कि, एबडॉमिनल और लिवर फैट भी कम था। ​ब्‍लड शुगर कंट्रोल करे रिसर्च से पता चलता है कि लौंग में पाए जाने वाले यौगिक ब्‍लड शुगर को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकते हैं। ncbi में छपी जानवरों के ऊपर किए गए एक अध्ययन के अनुसार पाया गया कि लौंग का अर्क मधुमेह से पीड़ित चूहों में रक्त शर्करा को मीडियम गति से बढ़ाने में मदद करता है। इंसुलिन एक हार्मोन है जो आपके रक्त से शर्करा को आपके कोशिकाओं में ले जाने के लिए जिम्मेदार होता है। स्थिर रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने के लिए इंसुलिन का उचित कार्य आवश्यक है। संतुलित आहार के संयोजन में, लौंग आपके ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद कर सकती है। ​स्किन इन्फेक्शन से राहत दिलाए यह आपको कई तरह के स्किन इन्फेक्शन से राहत दिलाएगा। लौंग की चाय में एंटीसेप्‍टिक गुण होता है जो शरीर से टॉक्सिन निकालता है। अगर इसे किसी घाव पर लगाया जाए तो वह जल्दी ठीक हो जाता है। यह फंगल इन्फेक्शन, दाद, झुर्रियों और झाइयों से भी छुटकारा दिलाता है। ​साइनस का इलाज करे यह स्‍पेशल चाय छाती में जमे बलगम को निकालने में मदद कर सकती है और साइनस से राहत दिलाती है। मसाले में यूजेनॉल पाया जाता है, जो कंजेशन को साफ करता है और रिलीफ दिलाता है। लौंग में विटामिन ई और विटामिन के होता है, जो बैक्टीरिया के संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है। यह चाय बुखार के इलाज में भी कारगर है। ​मसूड़ों और दांतों के दर्द से राहत दिलाए लौंग में एंटी-इंफ्लेमेटरी कंपाउंड पाया जाता है, जो दांत दर्द और मसूड़ों की सूजन से राहत प्रदान करने में मदद कर सकता है। हर्बल चाय आपके मुंह से बैक्टीरिया को हटाने में मदद कर सकती है, जिससे दंत समस्याओं से त्वरित राहत मिलती है। ​लौंग की चाय के साइड इफेक्‍ट भी जानें वैसे तो मसाले खाने के लिए पूरी तरह से सुरक्षित माने जाते हैं, लेकिन जब अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है, तो इसके कुछ सामान्य दुष्प्रभाव भी देखने को मिल जाते हैं। इस लौंग की चाय को दिन में एक या दो बार पीना स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। यदि आप इसका अधिक सेवन करते हैं तो आपको गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिस्‍ट्रेस, मांसपेशियों में दर्द और थकान से जूझना पड़ सकता है। गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को लौंग की चाय लेते वक्‍त विशेष रूप से सावधान रहना चाहिए। मसालेदार चाय का अधिक सेवन भी उनके शिशुओं के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। यदि आप इस चाय को पीने के बाद उल्टी और मतली महसूस करते हैं, तो इसे न पिएं। सांस फूलने, बुखार या ठंड लगने की स्थिति में तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

Top News