taaja khabar...देश में कोरोना से मौत के गलत आंकड़े जारी करने के दावों को सरकार ने किया खारिज, बताया बेबुनियाद...केरल की जेलों में बंद अधिकांश कैदियों को लगी कोरोना वैक्‍सीन, राज्‍य सरकार ने हाईकोर्ट को दी जानकारी..देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 41 हजार से ज्यादा मामले दर्ज, 507 की गई जान..एनएसओ ग्रुप के खिलाफ जांच का अध्ययन कर रहा इजरायली रक्षा मंत्रालय..मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मामला, 6 पुलिसकर्मी समेत 8 लोगों के खिलाफ FIR..लखनऊ से इंदौर तक...मीडिया के दफ्तरों पर छापेमारी! कई पत्रकारों के घर पहुंची IT की टीम..

जम्मू-कश्मीर में चल रही राजनीतिक प्रक्रिया में एनएसए डोभाल भी शामिल, जमीनी स्थिति पर पैनी नजर

नई दिल्ली, अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा स्थिति को संभालने में अहम भूमिका निभाने के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल केंद्र शासित प्रदेश में चल रही राजनीतिक प्रक्रिया के पीछे भी काम कर रहे हैं। गृह मंत्रालय के नेतृत्व में राजनीतिक दलों के साथ जुड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 24 जून को एक सर्वदलीय बैठक होगी। सूत्रों ने कहा कि एनएसए इस राजनीतिक प्रक्रिया को केंद्र शासित प्रदेश में आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे है। इसके लिए वो जमीनी स्थिति जानने के लिए विभिन्न स्तरों पर कनिष्ठ स्तर के नेतृत्व के साथ बैठकें भी कर रहा है। अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद एनएसए कई दिनों तक राज्य में रहे और वहां के लोगों से ऐसे समय में मुलाकात की थी जब माना जा रहा था कि केंद्रीय निर्णय का लोग विरोध करेंगे। जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की गत शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ एक बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद रहे। कहा जा रहा है कि इसी के बाद सर्वदलीय बैठक बुलाए जाने का फैसला हुआ। वहीं, हाल ही में अजीत डोभाल नियंत्रण रेखा पर भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच संघर्ष विराम समझौतों के पालन को सुनिश्चित करने की प्रक्रिया में भी शामिल रहे हैं। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच लगभग 110 दिनों से अधिक समय से बंदूकें खामोश हैं। सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी नियमित रूप से जमीनी स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं और स्थिति को नियंत्रण में रख रहे हैं।

Top News