taaja khabar...देश में कोरोना से मौत के गलत आंकड़े जारी करने के दावों को सरकार ने किया खारिज, बताया बेबुनियाद...केरल की जेलों में बंद अधिकांश कैदियों को लगी कोरोना वैक्‍सीन, राज्‍य सरकार ने हाईकोर्ट को दी जानकारी..देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 41 हजार से ज्यादा मामले दर्ज, 507 की गई जान..एनएसओ ग्रुप के खिलाफ जांच का अध्ययन कर रहा इजरायली रक्षा मंत्रालय..मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मामला, 6 पुलिसकर्मी समेत 8 लोगों के खिलाफ FIR..लखनऊ से इंदौर तक...मीडिया के दफ्तरों पर छापेमारी! कई पत्रकारों के घर पहुंची IT की टीम..

सुखबीर बादल ने लगाए गंभीर आरोप, 400 में टीका खरीद कर निजी अस्पतालों को 1060 रुपये में बेच रही पंजाब सरकार

चंडीगढ़। शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने वैक्सीनेशन को लेकर पंजाब सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार वैक्सीन की कृत्रिम कमी पैदा कर लोगों के जान के साथ खिलवाड़ कर रही है। वहीं, उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू पर आरोप लगाया कि वह 400 रुपये के सरकारी रेट पर टीके खरीद कर प्राइवेट अस्पतालों को 1060 रुपये में बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री ने करोड़ रुपये का घोटाला किया है क्योंकि प्राइवेट अस्पताल 1500 से 2000 रुपये लेकर टीके लगा रहे हैं। सुखबीर बादल ने मांग की कि स्वास्थ्य मंत्री पर पर्चा दर्ज किया जाना चाहिए। वहीं, उन्होंने राहुल गांधी से सवाल पूछा कि वह सभी को मुफ्त वैक्सीन लगाने की मांग कर रहे हैं, जबकि पंजाब में 1500 रुपये में टीके लगाए जा रहे हैं। क्या वह इसका समर्थन करते हैं। सुखबीर ने कहा कि अकेले मोहाली में एक दिन में करीब दो करोड़ रुपये का लाभ कमाने के लिए निजी संस्थानों को 35000 वैक्सीन की डोज बेची गई। उन्होंने कहा कि राज्य में अकाली दल की सरकार बनने पर इस सारे मामले की न्यायिक जांच करवाई जाएगी। सुखबीर ने कहा कि मुख्य सचिव विनी महाजन ट्वीट कर लोगों को प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन लगाने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा करके सरकार ने वैक्सीन वितरण का निगमीकरण करके लोगों के प्रति अपनी जिम्मेदारी को त्याग दिया है। झूठ बोलने की भी हद होती है: सिद्धू स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू का कहना है कि झूठ बोलने की भी हद होती है। सुखबीर बादल सिरे से झूठ बोल रहे हैं। राज्यों के पास वैक्सीन की कमी है, यह जग जाहिर है। स्वास्थ्य विभाग वैक्सीन की न तो खरीद कर रहा है और न ही वितरण। इसके लिए नोडल एजेंसी बनाई गई है। हमारा काम वैक्सीन लगाना है। प्राइवेट अस्पताल खुद वैक्सीन खरीद कर लगा रहे हैं।

Top News