taaja khabar...कोरोना से तबाही पर बोले पीएम मोदी- जिस दर्द से देशवासी गुजरे हैं, उसे मैं भी महसूस कर रहा हूं....चित्रकूट जेल के अंदर गैंगवॉर, दो गैंगस्टर की हत्या, तीसरा पुलिस कार्रवाई में मारा गया..995.40 रुपये में मिलेगी रूसी कोरोना वैक्सीन की एक डोज, देश में बनने पर हो सकती है सस्‍ती...गुजरात, असम सहित कई राज्यों को भेजी कोवैक्सीन की खेप...जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं...हमास कर रहा रॉकेट की बारिश, इजरायली 'लौह कवच' आयरन डोम कर रहा तबाह...PM Kisan में 50 लाख नए लोगों को भी मिलेंगे 2000-2000 रुपए, ऐसे कर सकते हैं अपना अकाउंट चेक...केंद्र ने कहा, राज्यों को निशुल्क भेजी जाएगी करीब एक करोड़ 92 लाख कोरोना वैक्सीन...पत्रकारों के लिए मध्यप्रदेश सरकार का अहम ऐलान, कोरोना संक्रमित होने पर इलाज का खर्च देगी राज्य सरकार...दवाओं की कालाबाजारी करने वालों पर भड़के प्रधानमंत्री, राज्य सरकारों को दिया कड़ी कार्रवाई का आदेश...कोरोना के एक दिन में नए मामलों से अधिक ठीक होने वालों का आंकड़ा, इस दौरान 4000 संक्रमितों की मौत..कोरोना महामारी के बीच सांसों के साथ अपनों ने छोड़ा हाथ, संघ निभा रहा मानवता का रिश्ता...

बीजापुर हमले पर बोले CM भूपेश बघेल- नहीं हुआ इंटेलिजेंस फेलियर, नक्सलियों के खिलाफ जारी रहेगा ऑपरेशन

रायपुर, छत्तीसगढ़ के सुकमा-बीजापुर क्षेत्र में हुए घातक नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हो गए हैं। घटना पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि यह इंटेलिजेंस फेलियर नहीं है। नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में शिविर लगाने का काम तेजी से पूरा किया जाएगा। असम से रायपुर लौटकर मुख्यमंत्री ने राज्य के वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों से बीजापुर हमले पर जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा, 'हमारे जवान लड़ाई में शहीद हो गए, लेकिन उन्होंने हिम्मत से लड़ाई लड़ी। मैं उनकी शहादत को नमन करता हूं।' मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सुरक्षा बल नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिए और दृढ़ हो गए हैं। उन्होंने कहा कि इस मुठभेड़ में नक्सलियों को बहुत नुकसान हुआ है। हमें जानकारी मिली है कि मुठभेड़ स्थल से चार ट्रैक्टरों में नक्सली अपने मृत और घायल साथियों को ले गए थे। उन्होंने आगे कहा कि चार घंटे तक चली मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने नक्सल प्रभावित इलाकों में बहादुरी दिखाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का प्रभाव तेजी से कम हो रहा है और अब यह राज्य के कुछ क्षेत्रों तक ही सीमित है। इस वजह से नक्सली इस तरह की हिंसक घटनाओं के माध्यम से अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित इलाकों में पुलिस शिविर लगाने का काम जारी है और भविष्य में भी यह काम जारी रहेगा। उन्होंने कहा, 'लगभग 2000 सैनिकों को एक ऐसे क्षेत्र में शिविर लगाने के लिए भेजा गया था, जो नक्सल गढ़ है। इसलिए नक्सली परेशान थे। यह कोई खुफिया विफलता नहीं थी। हम निश्चित रूप से वहां शिविर लगाएंगे। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के महानिदेशक कुलदीप सिंह, जो नक्सल हमले के बाद स्थिति पर नजर रखने के लिए छत्तीसगढ़ में हैं, उन्होंने रविवार को कहा कि ऑपरेशन में बिल्कुल भी खुफिया विफलता नहीं थी। सिंह ने बताया कि लगभग 25-30 नक्सलियों को भी मार दिया गया है। नक्सलियों द्वारा तीन ट्रैक्टरों का इस्तेमाल नक्सलियों के शवों को घटना स्थल से ले जाते हुए देखा गया है। अभी ऑपरेशन में मारे गए नक्सलियों की सही संख्या कहना कठिन है।

Top News