taaja khabar...देश में कोरोना से मौत के गलत आंकड़े जारी करने के दावों को सरकार ने किया खारिज, बताया बेबुनियाद...केरल की जेलों में बंद अधिकांश कैदियों को लगी कोरोना वैक्‍सीन, राज्‍य सरकार ने हाईकोर्ट को दी जानकारी..देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 41 हजार से ज्यादा मामले दर्ज, 507 की गई जान..एनएसओ ग्रुप के खिलाफ जांच का अध्ययन कर रहा इजरायली रक्षा मंत्रालय..मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मामला, 6 पुलिसकर्मी समेत 8 लोगों के खिलाफ FIR..लखनऊ से इंदौर तक...मीडिया के दफ्तरों पर छापेमारी! कई पत्रकारों के घर पहुंची IT की टीम..

जम्मू-कश्मीर को लेकर सर्वदलीय बैठक में किनारा कर सकती हैं महबूबा, दिल्ली में पीएम मोदी ने की मीटिंग

नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ होने वाली 24 जून को होने वाली सर्वदलीय बैठक पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती किनारा कर सकती हैं। वहीं, दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक से पहले एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल व पीएमओ के अधिकारी भी शामिल हुए। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद खत्म किए हुए दो साल हो चुके हैं। ऐसे में इस लिहाज से भी यह बैठक काफी अहम मानी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में जम्मू-कश्मीर के 8 राजनीतिक दलों के 14 नेताओं को आमंत्रित किया गया है। महबूबा मुफ्ती ने बैठक से किया किनारा पीएम मोदी की तरफ से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक से पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने किनारा कर सकती हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से खबर है कि महबूबा इस बैठक में शामिल नहीं होंगी। रिपोर्ट के अनुसार महबूबा ने गुपकार अलायंस के मुखिया फारूक अब्दुल्ला को फोन कर बैठक में शामिल होने में असमर्थता जताई है। महबूबा के इस फैसले के बाद फारूक अब्दुल्ला के घर पर भी एक बैठक शुरू हो गई है। इसमें आगे की रणनीति पर फैसला होगा। पीडीपी प्रवक्ता सैयद सुहैल बुखारी ने कहा कि दो दिन में पीपुल्स अलायंस फॉर गुप्कर डिक्लेरेशन की बैठक होगी। इस मामले पर वहां भी चर्चा होगी। बैठक में शामिल होने पर विचार-विमर्श के बाद फैसला इससे पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, कांग्रेस और माकपा ने शनिवार को कहा कि वे अपने-अपने दलों के भीतर विचार-विमर्श के बाद दिल्ली में प्रधानमंत्री के साथ बैठक में शामिल होने के बारे में फैसला करेंगे। जबकि भाजपा ने सभी आमंत्रित सदस्यों के सर्वदलीय बैठक में शामिल होने की उम्मीद जताई। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के वास्ते भविष्य के कदम पर चर्चा होने की उम्मीद है।

Top News