taaja khabar...तो विनाशकारी दूसरी लहर का अंत हो गया!, डब्ल्यूएचओ ने कहा- भारत हो सकता है पाबंदियों से मुक्त...नारद स्टिंग केस: ममता की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट के जज अनिरुद्ध बोस ने खुद को किया अलग..कांग्रेस कमेटी से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, पंजाब कांग्रेस में कलह दूर करने पर मंथन..त्रिपुरा के दो गावों में सभी लोगों को लगा कोरोना टीका, सीएम बोले- जल्द पूरे राज्य का हो जाएगा टीकाकरण..रेलवे की बड़ी उपलब्धि, गुजरात के मुंद्रा से राजस्थान के लिए डबल-स्टैक कंटेनर ट्रेन का पहला ट्रायल रन पूरा...बीते 24 घंटे में तीन महीने में सबसे कम केस सामने आए, 68 दिनों में सबसे कम मौतें...कोरोना वैक्सीनेशन में दुनिया भर में अव्वल भारत, एक दिन में दी गई 86.16 लाख से अधिक खुराकें;...छत्तीसगढ़ में नक्सली मोर्चे पर कामयाबी, दंतेवाड़ा में 3 नक्सलियों ने किया सरेंडर..साम्यवाद का ढिंढोरा पीटने वाले नक्सली कैडर से करते हैं भेदभाव, विलासिता से भरा जीवन बिताते हैं टाप कमांडर..पीएम की बैठक में शामिल होगा गुपकार, बैठक के बाद महबूबा बोलीं-तालिबान से बात हो सकती है तो पाकिस्तान से क्यों नहीं?..

देश में कम हो रहे कोरोना के सक्रिय मामले, 17 राज्यों में हैं 50 हजार से भी कम केस: स्वास्थ्य मंत्रालय.

नई दिल्ली,देश के अधिकतर राज्यों में कोरोना के सक्रिय में गिरावट देखी गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश के 11 राज्यों में 1 लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं। 8 राज्यों में 50,000 से 1 लाख के बीच कोरोना के सक्रिय मामले हैं। देश के 17 राज्यों में 50,000 से कम कोरोना के सक्रिय मामले हैं। महाराष्ट्र, यूपी, गुजरात और छत्तीसगढ़ जहां अधिक संख्या में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं और वहां भी अब सक्रिय मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है। इसके साथ ही मंत्रालय ने बताया कि चिंता का कारण तमिलनाडु है जहां पिछले एक सप्ताह में सक्रिय मामलों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के अनुसार देश में सक्रिय मामलों में कमी देखी जा रही है। 3 मई को रिकवरी रेट 81.3 फीसद थी जिसके बाद रिकवरी में सुधार हुआ है।अब रिकवरी रेट 83.83 फीसद है। 75 फीसद मामले 10 राज्यों से आ रहे हैं और कुल सक्रिय मामलों का 80 फीसद सिर्फ 12 राज्यों में है। स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि देश में 24 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं जहां 15 फीसद से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट है। 5 से 15 फीसद पॉजिटिविटी रेट 10 राज्यों में है। 5 फीसद से कम पॉजिटिविटी रेट 3 राज्यों में है। पिछले 1 सप्ताह में 18 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश पॉजिटिविटी रेट कम हुई है। देशभर में पॉजिटिविटी रेट जो 21.9 फीसद थी, वो अब 19.8 फीसद रह गई है। इसके साथ ही एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने बताया कि जैसे-जैसे कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, यह सबसे महत्वपूर्ण है कि हम अस्पतालों में संक्रमण नियंत्रण प्रथाओं के प्रोटोकॉल का पालन करें। यह देखा गया है कि ज्यादातर मरीज दूसरे संक्रमण यानी फंगल और बैक्टेरिया के संक्रमण से मृत्यु का कारण बन रहे हैं।

Top News