taaja khabar...देश में कोरोना से मौत के गलत आंकड़े जारी करने के दावों को सरकार ने किया खारिज, बताया बेबुनियाद...केरल की जेलों में बंद अधिकांश कैदियों को लगी कोरोना वैक्‍सीन, राज्‍य सरकार ने हाईकोर्ट को दी जानकारी..देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 41 हजार से ज्यादा मामले दर्ज, 507 की गई जान..एनएसओ ग्रुप के खिलाफ जांच का अध्ययन कर रहा इजरायली रक्षा मंत्रालय..मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी का मामला, 6 पुलिसकर्मी समेत 8 लोगों के खिलाफ FIR..लखनऊ से इंदौर तक...मीडिया के दफ्तरों पर छापेमारी! कई पत्रकारों के घर पहुंची IT की टीम..

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने किया पल्लू सीएचसी एवं थिराना पीएचसी का वर्चुअल लोकार्पण

हनुमानगढ़। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमितों की कम होती संख्या के बावजूद अभी हमें पूरी सावधानी रखनी है। सरकार ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में बहुत सावधानी बरती और अगर तीसरे लहर आती है, तो चिकित्सा विभाग उसके लिए पूरी तरह तैयार है। डॉक्टर्स एवं चिकित्साकर्मियों ने कोरोना संक्रमण एवं कोरोना-19 वैक्सीनेशन में बहुत अच्छा काम किया है। डॉ. शर्मा ने जिले की नोहर विधानसभा में स्थित पल्लू में 400 लाख रुपए की लागत से बने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) एवं थिराना में 185 लाख रुपए की लागत से बने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (पीएचसी) का वर्चुअल लोकार्पण के दौरान यह बात कही। इस दौरान नोहर विधायक अमित चाचाण, जिला कलक्टर नथमल डिडेल, जिला एसपी श्रीमती प्रीति जैन, नोहर पंचायत समिति प्रधान सोहन ढिल, महात्मा गांधी दर्शन समिति के जिला संयोजक श्रवण तंवर, सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा, पीएमओ डॉ. दीपकमित्र सैनी, पूर्व पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा, नोहर बीसीएमओ डॉ. प्रदीप कड़वासरा, रावतसर बीसीएमओ डॉ. संजीव चौधरी, एनटीसीपी इंचार्ज निपेन शर्मा, त्रिलोक शर्मा एवं सीओ-आईईसी मनीष शर्मा उपस्थित थे। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना के प्रारम्भ में सरकार ने अनेक चुनौतियों का सामना किया। कोरोना से निपटने के लिए आईसीयू बैड, ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, कोरोना के उपचार में काम आने वाली जरूरी दवाइयां, इंजेक्शन व जांच के लिए आरटीपीसीआर लैब की स्थापना की गई। कोरोना संक्रमण में लॉकडाउन के दौरान भी सरकार, प्रशासन, चिकित्सा अधिकारियों एवं स्वास्थ्यकर्मियों ने हर स्थिति को सम्भाला और आमजन का बेहतर से बेहतर उपचार करने की व्यवस्था की। अन्य राज्यों के भी नागरिकों ने राजस्थान में आकर इलाज करवाया और ठीक होकर यहां से गए। सरकार की कार्यकुशलता का ही परिणाम है कि अब राज्य में कोरोना संक्रमण के केस में निरंतर गिरावट आ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश है कि प्रत्येक जिले में मेडिकल कॉलेज स्थापित हो। हनुमानगढ़ में मेडिकल कॉलेज की कार्यवाही चल रही है जबकि पड़ोसी जिला श्रीगंगानगर में मेडिकल कॉलेज का कार्य भी शुरु हो गया है। अब गरीब व जरूरतमंद व्यक्ति के बच्चे भी डॉक्टर बन सकेंगे। उन्होंने कहा चिकित्सा संस्थानों में 18 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर स्थापित किए जा चुके हैं और राज्य सरकार 50 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर समस्त चिकित्सा संस्थानों पर लगाएगी। प्रत्येक सीएचसी पर सभी बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन में भी चिकित्सा विभाग अच्छा कार्य कर रहा है। 44 से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों का वैक्सीनेशन के साथ-साथ 18 से 44 आयु के युवाओं का वैक्सीनेशन भी किया जा रहा है। वैक्सीन का आखरी डोज का भी उपयोग किया जा रहा है। नोहर विधायक अमित चाचाण ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा का आभार व्यक्त किया और कहा कि पल्लू सीएचसी व थिराना पीएचसी की नई बिल्डिंग में चिकित्सक सुविधापूर्वक आमजन का उपचार कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि मुख्मयंत्री व चिकित्सा मंत्री के निर्णयों व कार्यों की बदौलत ही राज्य में कोरोना संक्रमण पर काबू पाया जा सका है। जिले में जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों, दानदाताओं व चिकित्साकर्मियों की कार्य कुशलता की वजह से ही कोरोना संक्रमण में अब गिरावट आ चुकी है। इसमें आवश्यक दवाइयां, इंजेक्शन, आईसीयू बैड, ऑक्सीजन सिलेण्डर, ऑक्सीजन कंसनटें्रटर उपलब्ध करवाए गए, जिससे गंभीर कोरोना रोगियों का इलाज सम्भव हो पाया। आमजन के लिए दानदाताओं ने दस दिन में चालीस लाख रूपए एकत्र किए। इससे ऑक्सीजन कंसनट्रेटर, सेनेट्रलाइज ऑक्सीजन व अन्य जरूरी सामान क्रय किया गया। दो एम्बूलेंस भी क्रय की गई, जो नोहर और पल्लू में सेवाएं दे रही है। विधायक कोष से 50 लाख रूपए का ऑक्सीजन प्लांट का भी शिलान्यास कर दिया गया है, जो बहुत जल्द स्थापित हो जाएगा। कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए विभाग द्वारा समस्त तैयारियां कर ली गई है। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में 30 अप्रेल से 30 मई के मध्य बढ़ते संक्रमण के समय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत व चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा द्वारा निर्धारित गाइडलाइन के अनुरुप समस्त कार्य किया गया, जो बहुत सफल रही। जरूरत के समय पर जिले को लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति दी गई, जिससे अतिगंभीर रोगियों का इलाज सम्भव हो पाया। इसके अलावा कोरोना रोगियों के लिए आवश्यक जीवन रक्षक दवाइयां, जरूरी इंजेक्शन जिले की मांग के अनुसार उपलब्ध करवाई गई। इसके अलावा जरूरत के समय जिले को कोविड सहायक, सीएचओ आदि की भर्ती कर मानव संसाधन उपलब्ध करवाए गए, उनकी सेवाएं कोविड संक्रमण के समय बहुत लाभदायक रहीं। क्योंकि हमारे डॉक्टर्स व नर्सिंगकर्मी निरंतर कोविड पॉजीटिव आ रहे थे। ऐसे में कोविड सहायक और सीएचओ रोगियों के उपचार में निरंतर कार्यरत रहे। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा की सहमति से नोहर विधायक अमित चाचाण ने पल्लू सीएचसी व थिराना पीएचसी का रीबन काटकर वर्चुअल लोकार्पण किया। इस अवसर पर सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने समस्त मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, विधायक अमित चाचाण सहित समस्त जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों का आभार व्यक्त किया।

Top News