taaja khabar....संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- नागपुर से नहीं चलती सरकार, कभी नहीं जाता फोन...जॉब रैकिट का पर्दाफाश, कृषि भवन में कराते थे फर्जी इंटरव्यू...हिज्बुल का कश्मीरियों को फरमान, सरकारी नौकरी छोड़ो या मरो...एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी बीएसपी को चाहिए ज्यादा सीटें...अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का दुबई से जल्द हो सकता है प्रत्यर्पण....PM मोदी की पढ़ाई पर सवाल उठाकर फंसीं कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड स्पंदना, हुईं ट्रोल...
सैनी के सेलेक्शन पर गंभीर का बेदी-चौहान पर 'हमला'- जताया शोक!
नई दिल्ली, भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाते हैं. मंगलवार को उन्होंने भारत के पूर्व खिलाड़ियों बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान को अपने निशाने पर लिया है. दरअसल, सोमवार को बीसीसीआई की चयन समिति ने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की जगह नवदीप सैनी को अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरु में होने वाले एकमात्र टेस्ट के लिए शामिल किया है. इसके बाद गौतम गंभीर ने दिल्ली और जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के सदस्यों बेदी और चौहान पर हमला किया है, जिन्होंने दिल्ली की रणजी ट्रॉफी टीम में सैनी के चयन पर आपत्ति जताई थी और उन्हें हरियाणा का होने के कारण 'बाहरी व्यक्ति' कहा था. उनकी टिप्पणियों पर कटाक्ष करते हुए गंभीर ने ट्विटर पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया जताई है. गंभीर ने पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान को टैग करते हुए ट्वीट किया, 'मैं 'बाहरी व्यक्ति' नवदीप सैनी के भारतीय टीम में चयन होने पर डीडीसीए के कुछ सदस्यों के प्रति शोक जताता हूं. मुझे बताया गया है कि काले 'आर्म बैंड (बांह पर लगाई जाने वाली काली पट्टी)' बेंगलुरु में भी 225 रुपये प्रति रोल उपलब्ध हैं. महोदय, बस याद रखें नवदीप पहले भारतीय हैं और फिर बाद में उनका डोमिसाइल आता है.' बेदी और चौहान ने जताया था विरोध लगभग पांच साल पहले बिशन सिंह बेदी ने तत्कालीन डीडीसीए अध्यक्ष अरुण जेटली को एक पत्र लिखा था, जिसमें विदर्भ के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच के लिए दिल्ली की टीम में सैनी के शामिल होने पर सवाल उठाया गया था. बेदी ने लिखा था, 'रणजी टीम को अंतिम रूप देने के लिए आज की बैठक में एक बाहरी व्यक्ति करनाल के एक तेज गेंदबाज नवदीप सैनी का चयन किया गया है. इस लड़के ने पिछले साल दिल्ली में कोई क्रिकेट नहीं खेला है ऐसे में कुछ लोगों को बाहर से लाना अनुचित है और बहुत अच्छे लड़के दिल्ली का प्रतिनिधित्व करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं.' चयन के लिए सैनी ने गंभीर को दिया श्रेय सोमवार को भारतीय टीम में चयन के बाद नवदीप सैनी ने बताया कि उन्हें लाल एसजी गेंद से गेंदबाजी करने का कोई अनुभव नहीं था, लेकिन गौतम गंभीर ने उनकी मदद की थी. अधिकारियों के विरोध के बावजूद सैनी दिल्ली की टीम में जगह बनाने में कामयाब रहे. अधिकारी उन्हें हरियाणा का और बाहरी बताकर विरोध करते रहे लेकिन गंभीर ने डीडीसीए अधिकारियों से लड़कर उन्हें टीम में शामिल कराया. सैनी ने कहा,‘मुझे हर बात पता है. मुझे मालूम है कि गौतम भैया को चयनकर्ताओं को मनाने में कितनी मेहनत करनी पड़ी. आशीष नेहरा, मिथुन मन्हास और सुमित नरवाल सभी ने मेरे लिए मेहनत की.’ दिल्ली की ओर से 31 प्रथम श्रेणी मैच खेल चुके 25 साल के नवदीप ने 96 विकेट चटकाए हैं. इस बार आईपीएल के लिए हुई नीलामी में नवदीप को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 3 करोड़ रुपये में खरीदा था, लेकिन उन्हें एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/