taaja khabar..जबलपुर के न्यू लाइफ हॉस्पिटल में भीषण आग, 4 लोगों की मौत, कई झुलसे..कानपुर के प्राइवेट स्कूल में बच्चों को रटवाया कलमा, घर में पढ़ने लगे तो खुली पोल, पैरेंट्स ने किया विरोध..4 अगस्‍त तक ED की कस्‍टडी में रहेंगे संजय राउत, PMLA कोर्ट से नहीं मिली राहत..आमिर खान के बदले सुर, कहा- मुझे देश से प्यार है, लाल सिंह चड्ढा का बॉयकॉट न करें प्लीज..संहार हथियारों के वित्त पोषण को रोकने के प्रावधान वाले विधेयक को संसद की मंजूरी..राज्यसभा में गतिरोध कायम, हंगामे के बीच दो विधेयक पारित..आईपीएस अधिकारी संजय अरोड़ा ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त के तौर पर कार्यभार संभाला..सिसोदिया व जैन को बर्खास्त करने की मांग को लेकर केजरीवाल के घर के बाहर धरने पर बैठे भाजपा नेता..

खंजर से कन्हैयालाल की हत्या, PM मोदी को जान से मारने की धमकी...उदयपुर हत्याकांड में NIA की जांच का ऐंगल क्या है?

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) की टीम भी जांच में जुट गई है। घटना की सूचना मिलते ही NIA की 4 सदस्यीय टीम दिल्ली से उदयपुर पहुंची है। NIA की टीम घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच में जुटी दिखी। उदयपुर हत्याकांड में NIA की एंट्री से लोगों के जेहन में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर इस हत्याकांड में केंद्रीय जांच एजेंसी को क्यों शामिल होना पड़ा है। गृह मंत्रालय की आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कहा गया है, 'कन्हैयालाल हत्याकांड की जांच NIA करेगी। किसी भी संगठन और अंतरराष्ट्रीय संबंधों की संलिप्तता की गहनता से जांच की जाएगी। आरोपियों ने PM मोदी को दी धमकी दर्जी कन्हैयालाल की हत्या करने के बाद आरोपियों ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया था। इस वीडियो में आरोपियों ने पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी दी थी। आरोपियों ने वीडियो में सीधे तौर से बीजेपी प्रवक्ता नुपूर शर्मा के कथित विवादित टिप्पणी का जिक्र करता हुआ दिखता है। वह धमकी देता है कि जिस तरह से उसने कन्हैयालाल की हत्या की है उसी तरह एक दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी करेगा। धमकी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम आते ही केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी अलर्ट मोड में आ गई है। राजस्थान पुलिस के आला अफसरों का कहना है कि अगर आरोपियों ने पीएम मोदी का नाम नहीं लिया होता तो शायद मामले की जांच राजस्थान स्तर पर ही रहती। लेकिन मामले में पीएम मोदी का नाम आने के बाद जांच में केंद्रीय एजेंसियों को शामिल करना जरूरी हो गया है। हत्या के तरीके पर NIA अलर्ट उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल साहू की जिस तरीके से हत्या की गई है उसको लेकर NIA चिंतित है। हत्यारोपियों ने खंजर से वार कर वारदात को अंजाम दिया है। आरोपियों ने खंजर से कन्हैयालाल का गला रेतकर हत्या की है। आरोपियों ने हत्या का पूरा वीडियो भी रेकॉर्ड किया था। हत्या करने का यह तरीका आमतौर पर आतंकी आजमाते हैं। खासतौर से ISIS और तालिबान जैसे आंतकी संगठन इस नृशंस तरीके से हत्या की वारदात को अंजाम देते हैं। NIA को शक है कि कहीं दोनों आरोपियों का जुड़ाव किसी आतंकी संगठन से है क्या। बता दें कि आरोपी रफीक मोहम्मद मूल रूप से राजसमंद जिले का रहने वाला है। जबकि रियाज भीलवाड़ा जिले का रहने वाला है। फिलहाल दोनों उदयपुर के सूरजपोल इलाके में रहते थे। दोनों आरोपियों के परिजनों ने मीडिया के सामने आकर पहचान की पुष्टि की है। नुपूर शर्मा के बयान पर विदेशों में भी गुस्सा बीजेपी प्रवक्ता नुपूर शर्मा के मोहम्मद साहब पर कथित विवादित टिप्पणी को लेकर ना केवल भारत बल्कि विदेशों में भी नाराजगी जाहिर की गई थी। कई मुस्लिम देशों ने खुलकर नुपूर शर्मा के बयान पर आपत्ति जताई थी। आखिरकर भारत सरकार को इसपर सफाई देनी पड़ी थी। ऐसे में NIA को अंदेशा है कि कहीं किसी आंतकी संगठन या उपद्रवी संस्था ने उदयपुर वारदात को अंजाम देने के लिए उकसाया है। हालांकि NIA के सूत्रों का कहना है कि जांच के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जाएगा। NIA के एक अफसर ने न्यूज एजेंसी PTI को बताया कि केंद्र सरकार उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की नृशंस हत्या को आतंकवादी हमला मान रहा है और मंगलवार रात आतंकवाद निरोधी जांच एजेंसी NIA की चार सदस्यीय एक टीम वहां भेजी गई। अधिकारी ने नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर कहा कि प्रथम दृष्टया यह किसी आतंकी हमले की तरह लग रहा है। आतंकवाद विरोधी कानून गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज होने के बाद इसे जांच के लिए एनआईए को सौंपा जा सकता है। बता दें उदयपुर के धानमंडी थानाक्षेत्र में दो लोगों ने दर्जी कन्हैयालाल की कथित रूप से गला काटकर हत्या कर दी और सोशल मीडिया पर एक वीडियो डालकर कहा कि उन्होंने ‘इस्लाम के अपमान’ का बदला लेने के लिए ऐसा किया।

Top News