ttaaja khabar.....गुजरात: कांग्रेस पर मोदी का वार, पूछा-अहमद को सीएम बनाने की अपील क्यों कर रहा पाक?.....गुजरात: मंदिर से बाहर आते राहुल के सामने लगे 'मोदी-मोदी' के नारे....'दंगल गर्ल' के साथ फ्लाइट में छेड़छाड़, सोशल मीडिया पर की शिकायत....नई तकनीक: डॉक्टरों ने पेट में लगाया दूसरा दिल.....राहुल की नसीहत, 'कांग्रेस पार्टी के हो! मीठा बोलो और भगाओ उनको'....धर्मशाला वनडे: 112 रन पर ढेर हुई भारतीय टीम, धोनी के चलते पार हुआ सैकड़ा....aaja khabar...EVM से नहीं हुई छेड़छाड़, चुनाव आयोग ने खारिज किया कांग्रेस का आरोप...गुजरात चुनावः पहले चरण की वोटिंग खत्म, 5 बजे तक 68 प्रतिशत मतदान.....पेट्रोल में मेथनॉल मिलाने की नीति की जल्द घोषणा करेगी सरकार: गडकरी.....गुजरात में अपनी पांचों सीटें हारेंगे अखिलेश: मुलायम.....गुजरात विकास मॉडल को छलावा बताकर दुष्प्रचार कर रही कांग्रेस: जेटली....ड्रोन क्रैश को तूल दे रहा चीन, भारत से माफी की मांग और परिणाम भुगतने की चेतावनी....स्पाइसजेट ने मुंबई में किया सीप्लेन का ट्रायल, एयर कनेक्टिविटी से जुड़ेंगे छोटे शहर.....छत्तीसगढ़: आपसी झगड़े में सीआरपीएफ जवान ने की 4 साथियों की हत्या, एक घायल......इराक में ISIS का खात्मा, पीएम ने किया जंग खत्म होने का ऐलान.....यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता, अमेरिका के साथ है सऊदी अरब?...
शनि सहित बदल रहे हैं कई ग्रह, अक्टूबर 7 राशियों के लिए भाग्यशाली
अक्टूबर के महीन में कई ग्रहों की स्थितियां बदल रही हैं। सबसे महत्वपूर्ण शनि का हो रहा है। 26 अक्टूबर को शनि महाराज वृश्चिक राशि से धनु में वापस आएंगे। इससे पहले 9 तारीख को शुक्र तारीख को शुक्र कन्या राशि में आ रहे हैं। इस महीने मंगल, बुध सूर्य की स्थिति भी बदल रही है। ऐसे में यह महीना आपके लिए कैसा रहेगा जानिए। सूर्य छठे स्थान में बुध के साथ युति में है। पंचम स्थान में सिंह राशि में मंगल के साथ शुक्र की युति है। सप्तम भाव में स्थित गुरु आपके लिए दांपत्य जीवन में उत्तम सुख प्रदान करने वाला बन सकता है। आपको भाग्यवृद्धि संबंधी अवसर मिलेंगे। शुक्र के पांचवें में होने से प्रेम संबंधों में निकटता बढ़ेगी। नये संबंध जोड़ने अथवा पुराने संबंध सुधारने के लिए योग्य समय है। भागीदारी के लिए भी गणेशजी हरी झंडी दिखा रहे हैं। फिलहाल संतान के साथ संबंधों में गुस्से का कारण आंशिक तनाव आ सकता है, इसलिए गुस्से को नियंत्रण में रखें। विद्यार्थियों में सृजनात्मकता और अध्ययन के लिए जोश में वृद्धि होगी। प्रतियोगी परीक्षाओं में आगे बढ़ने के लिए उत्तम समय है। महीने के मध्य में सूर्य राशि बदलकर सप्तम स्थान में आएगा जो दांपत्य जीवन में अहं का टकराव करा सकता है। इसके साथ ही बुध के भी इसी स्थान में आने से संबंधों में नीरसता में थोड़ी वृद्धि होगी। मंगल और शुक्र दोनों छठे भाव में होने से आप कामकाज के स्थल पर उत्साह से काम करेंगे। विचारों में नवीनता रहेगी। दैनिक कार्यों को छोड़कर कुछ नया सृजन करने की उत्सुकता रहेगी। हालांकि, सहकर्मियों के साथ व्यवहार में गुस्से के कारण टकराव की संभावना रहेगी। इस समय विशेषकर जिन्हें ऐसिडिटी, त्वचा संबंधित समस्या, गुप्तरोग, आंखों में जलन आदि समस्या हो तो उन्हें स्वास्थ्य की विशेष संभाल रखनी होगी। सूर्य छठे स्थान में बुध के साथ युति में है। पंचम स्थान में सिंह राशि में मंगल के साथ शुक्र की युति है। सप्तम भाव में स्थित गुरु आपके लिए दांपत्य जीवन में उत्तम सुख प्रदान करने वाला बन सकता है। आपको भाग्यवृद्धि संबंधी अवसर मिलेंगे। शुक्र के पांचवें में होने से प्रेम संबंधों में निकटता बढ़ेगी। नये संबंध जोड़ने अथवा पुराने संबंध सुधारने के लिए योग्य समय है। भागीदारी के लिए भी गणेशजी हरी झंडी दिखा रहे हैं। फिलहाल संतान के साथ संबंधों में गुस्से का कारण आंशिक तनाव आ सकता है, इसलिए गुस्से को नियंत्रण में रखें। विद्यार्थियों में सृजनात्मकता और अध्ययन के लिए जोश में वृद्धि होगी। प्रतियोगी परीक्षाओं में आगे बढ़ने के लिए उत्तम समय है। महीने के मध्य में सूर्य राशि बदलकर सप्तम स्थान में आएगा जो दांपत्य जीवन में अहं का टकराव करा सकता है। इसके साथ ही बुध के भी इसी स्थान में आने से संबंधों में नीरसता में थोड़ी वृद्धि होगी। मंगल और शुक्र दोनों छठे भाव में होने से आप कामकाज के स्थल पर उत्साह से काम करेंगे। विचारों में नवीनता रहेगी। दैनिक कार्यों को छोड़कर कुछ नया सृजन करने की उत्सुकता रहेगी। हालांकि, सहकर्मियों के साथ व्यवहार में गुस्से के कारण टकराव की संभावना रहेगी। इस समय विशेषकर जिन्हें ऐसिडिटी, त्वचा संबंधित समस्या, गुप्तरोग, आंखों में जलन आदि समस्या हो तो उन्हें स्वास्थ्य की विशेष संभाल रखनी होगी। आप की राशि से आठवें भाव में केतु का भ्रमण स्वास्थ्य में अधिक सावधानी रखने के लिए का संकेत दे रहा है। धन स्थान में स्थित राहु आपको आर्थिक चिंता कराएगा। इसके अलावा, नौकरी के स्थान में स्थित शनि नौकरीपेशा लोगों को कामकाज में विलंब का संकेत दे रहा है। हालांकि, अगर इसके अच्छे पहलुओं पर ध्यान दें तो पंचम स्थान में स्थित गुरु विद्यार्थी जातकों के लिए बेहतर अवसर प्रदान कराएगा। फिलहाल, आपमें अध्ययन संबंधी रुचि थोड़ी कम रहेगी परंतु समय बीतने पर उसमें उल्लेखनीय सुधार आएगा। आध्यात्मिक विषयों में भी आपकी ज्ञान जिज्ञासा बढ़ेगी। जो लोग गूढ़ विद्या, कर्मकांड आदि में रुचि रखते हैं वे भी इस दिशा में गहन अध्ययन के लिए आगे बढ़ सकते हैं। पैतृक संपत्ति में उलझनें उत्पन्न होंगी। जहां तक संभव हो वहां तक इस संबंध में पुराने केसों को फिलहाल मत खोलें, अन्यथा आपके लिए घाटे का सौदा साबित होगा। महीने के मध्य में आप विशेष रूप से पारिवारिक मामलों पर अथवा परिजनों की जरूरतें पूरा करने के लिए अधिक खर्च करेंगे। आपके घर में किसी मांगलिक अथवा धार्मिक प्रसंग का आयोजन होने की संभावना रहेगी। महीने के उत्तरार्द्ध में अचल संपत्ति संबंधी विवादों का समाधान हो सकता है। रियल एस्टेट, वाहन के क्रय-विक्रय अथवा मशीनरी के कामकाज से जुड़े हुए जातकों को प्रगति का अवसर प्राप्त होगा। महीने के अंत में प्रेम संबंधों में थोड़ी नीरसता बढ़ सकती है। परिवार में आप संतान पर अधिक ध्यान देंगे। आपके विवाह स्थान में राहु और सप्तम स्थान में केतु होने से व्यवसायिक मोर्चे पर भागीदार के साथ तथा परिवार में जीवनसाथी के साथ मतभेद की संभावना रहेगी। ससुराल पक्ष से किसी लाभ की संभावना अधिक रहेगी। प्रथम सप्ताह में आप आध्यात्मिक विषयों में अधिक रुचि लेंगे। धन स्थान में स्थित शुक्र और मंगल की युति के कारण आय के साथ के साथ खर्च की मात्रा भी बढ़ेगी। उच्च अध्ययन करने वाले जातकों को विदेश यात्रा से संबंधित बढ़िया समाचार मिल सकते हैं। दूसरे सप्ताह में शुक्र राशि बदलकर आपकी राशि से तीसरे स्थान में बुध और सूर्य के साथ युति में आएगा। आपको कोई उद्यम करने की इच्छा अधिक होगा। नौकरीपेशा लोग नए अवसरों की तरफ विचार करें ऐसी संभावना अधिक रहेगी। इस समय आप परिवार की खुशियों पर खर्च करने में पीछे नहीं रहेंगे। महीने के पिछले पखवाड़े में बुध राशि परिवर्तन करके आपकी राशि से चौथे स्थान में गुरु के साथ तुला में आ रहा है। परिवार में कोई आनंद का समाचार मिल सकता है। सूर्य भी चौथे भाव में आएगा जिससे परिवार के सदस्यों के साथ व्यवहार में कहीं अहं की भावना नहीं आए इसका ख्याल रखें। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले जातकों को अधिक मेहनत की तैयारी रखनी पड़ेगी। महीने के प्रारंभ में आपके जन्म के चंद्र से छठे में भ्रमण करता हुआ मकर का चंद्र, केतु के ऊपर से भ्रमण करेगा। यह आपकी नौकरी में, नौकर-चाकर के लिए, ननिहाल पक्ष अथवा रोग और शत्रु के लिए नकारात्मक परिणाम प्रदान करेगा। इन दिनों में चिंता अधिक सतत सताएगी जिसके कारण मानसिक रूप से रोगग्रस्त महसूस करेंगे। दुर्घटना का योग होने से वाहन चलाने में सतर्कता रखें। पैतृक संपत्ति से संबंधित कार्य भी होंगे। धार्मिक यात्राओं पर जाने का कार्यक्रम बनेगा। शनि की ढैय्या आ रही है, इसलिए हनुमान चालीसा का पाठ करें। भाग्यवृद्धि संबंधी अवसर प्राप्त होंगे। पिता के साथ अच्छा तालमेल बनेगा। आकस्मिक खर्च भी हो सकता है। अप्रत्याशित बीमारी की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य का ध्यान रखें। महीने के उत्तरार्ध में अथवा अकारण मानसिक चिंता महसूस होगी। आर्थिक क्षेत्र में लाभ मिलेगा। पारिवारिक सुख की प्राप्ति होगी। 20, 21 तारीख को तुला राशि में से गोचर होते हुए चंद्र का तृतीय में से भ्रमण हो रहा है। छोटे भाई-बहन का आगमन होगा तथा मित्रों के साथ अच्छा तालमेल रहेगा। आनंदपूर्वक समय बिता सकेंगे। छोटी दूरी की यात्रा का योग दिखाई दे रहा है। महीने के अंतिम दिनों में प्रणय संबंधों में, संतान के अध्ययन के लिए, शेयर सट्टे जैसे आर्थिक मामलों में शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। नौकरी, नौकर-चाकर, ननिहाल के लिए, तंदुरस्ती जैसे विषयों में मध्यम परिणाम मिलेंगे। इस महीने के प्रारंभ में बुध आपकी जन्म राशि के स्थान में भ्रमण कर रहा है। इसका उच्च राशि कन्या में भ्रमण करना आपके लिए अति उत्तम रहेगा। विद्यार्थी जातकों की एकाग्रता बढ़ेगी और अधिक उत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए आप योजनाबद्ध ढंग से बढ़ेंगे। दांपत्य जीवन मध्यम रहेगा। कभी-कभी संबंधों में अहं का टकराव हो सकता है। किसी नई नौकरी में इंटरव्यू देने जा रहे हैं तो उसके लिए शुभ समय है। बारहवें स्थान में स्थित शुक्र के कारण आपमें विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों की तरफ आवश्यकता से अधिक आकर्षण रहेगा और उनके ऊपर खर्च भी खूब बढ़ जाएगा। इस स्थान में ही मंगल के होने से आप आवश्यकता से अधिक उत्साही अथवा उतावले भी रहेंगे जिससे आकस्मिक चोट की संभावना भी दिखाई दे रही है। सरकारी अथवा कानूनी कार्यों में आपकी प्रगति की संभावना रहेगी। महीने के मध्य में मंगल और शुक्र आपके विवाह स्थान में आएंगे जबकि बुध और सूर्य धन स्थान में आएंगे जिससे प्रेम संबंधों के लिए अनुकूल समय शुरू होगा। कोई भी कामकाज आप भारी उत्साह से और जोशपूर्वक करेंगे। अभी आपको बिजली का करंट, आकस्मिक चोट, औजार अथवा मशीनरी द्वारा रक्त निकले ऐसी चोट आदि से संभाल रखनी पड़ेगी। आय और व्यय का पलड़ा अभी संतुलन में रहेगा, क्योंकि आपकी आय तो रहेगी परंतु साथ ही साथ व्यवसायिक मोर्चे पर अथवा लंबी अवधि में मुनाफा मिलने से सुरक्षित निवेश में आप पैसा लगाएंगे। विद्यार्थी जातकों में फिलहाल सृजनात्मकता बढ़िया रहेगी। आपके दिमाग में नये विचार आएंगे अथवा अध्ययन में अलग ही पद्धति अपनाने की संभावना रहेगी। टेक्नीकल विषयों के अध्ययन में फिलहाल बढ़िया सफलता मिल सकती है। महीने के प्रारंभ में आपके लग्न स्थान में गुरु, धन स्थान में शनि, चतुर्थ स्थान में केतु, कर्म स्थान में राहु, लाभ स्थान में मंगल और शुक्र और व्यय स्थान में सूर्य व बुध की युति है। जायदाद के क्रय-विक्रय से संबंधित कार्य सरलता से हल कर सकेंगे। विदेश में पढ़ाई के प्रयोजन से जाने के इच्छुक जातकों के लिए अनुकूल चरण है। आपके प्रेम संबंधों में भी निकटता आएगी, पर आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपमें दंभ भाव नहीं आने पाएं। द्वितीय सप्ताह में दांपत्य संबंधों में निकटता बढ़ेंगी। 12,13,14 तरीख को आपको किसी बिजनस अथवा व्यापार के काम से दूसरे शहर में जाना हो सकता है। महीने के आखिरी पखवाड़े में सूर्य राशि परिवर्तन करके आपकी राशि में आएगा तथा मंगल राशि परिवर्तन करके आपकी राशि से बारहवें स्थान में आएगा। बुध के राशि परिवर्तन करके आपकी राशि में आने से दुर्घटना की संभावनाओं को देखते हुए वाहन संभलकर चलाएं। आनंद-प्रमोद से संबंधित गतिविधियों में आपकी रुचि बढ़ेगी। आपका परिवार प्रेम बढ़ेगा। महीने के अंतिम सप्ताह में माता के तबीयत की देखभाल करनी होगी। मानसिक कलेश रहेगा। सरकारी कामकाज में अथवा कोर्ट कचहरी के काम से आपको दौड़-धूप करनी पड़ सकती है। यदि आप किसी से प्रेम करते हैं तो महीने के अंतिम दिनों में प्रेम की अभिव्यक्ति खूब बढ़िया तरीके से कर सकेंगे। महीने के प्रारंभ में जहां आपके कर्म स्थान में शुक्र और मंगल है, वहीं लाभ स्थान में बुध व सूर्य की युति है। महत्वपूर्ण कार्यों और कार्यक्रमों में अप्रत्याशित सहयोग तथा इच्छित परिणाम प्राप्त कराने वाला समय है। हालांकि, आर्थिक जरूरतें पूरी करने के लिए आपको पहले से तैयारी रखनी पड़ेगी। नौकरीपेशा वर्ग को अगर आंतरिक खटपट की वजह से प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है तो उससे बाहर आएंगे। दांपत्य जीवन में मिलाजुला वातावरण रहेगा। दूसरे सप्ताह में आपकी बौद्धिक शक्ति अत्यधिक गहन होने से हरेक कार्य में छोटी से छोटी बात को भी ध्यान में रखेंगे। हमारे जो जातक आध्यात्मिक विद्या, ज्योतिषशास्त्र, कर्मकांड आदि में रुचि रखते हैं उनके लिए समय अनुकूल रहेगा। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और बुध राशि बदलकर बारहवें भाव में, जबकि मंगल और शुक्र ग्यारहवें भाव में आएंगे। विद्या अध्ययन के लिए विदेश जाने के इच्छुक हैं तो सफलता मिलेगी। सार्वजनिक जीवन में आप बहुत अधिक सक्रिय होंगे। धंधे संबंधी क्षेत्र में रुकावटों का सामना करना पड़ेगा, परंतु प्रगति होगी। महीने के अंत में इस अवधि के दौरान गणेशजी कह रहे हैं कि आप आलस और लापरवाही से दूर रहें तथा परिवार के साथ अधिक जुड़ाव रखें। सरकारी अथवा कानूनी विषयों में फिलहाल खर्च बढ़ सकता है। इसलिए थोड़ा विलंब भी हो सकता है। आपके कर्मस्थान में बुध का अपनी ही राशि में भ्रमण होने से वाणिज्य और व्यापार में वृद्धि की संभावना रहेगी। व्यवहारिक, सामाजिक तथा परिवार से संबंधित कार्य आगे बढ़ेंगे। बुजुर्गों तथा पिता की तरफ आप अधिक भावुक रहेंगे। दांपत्य संबंधों में सौहार्द बना रहेगा। प्रथम सप्ताह में प्रेमीजनों को मुलाकात के अवसर मिलेंगे। फिलहाल, आपके धन स्थान में केतु स्थित होने से आर्थिक मामलों में थोड़ी अनुकूलता तथा प्रतिकूलता दोनों रहेंगी। जमीन, मकान तथा संपत्ति से संबंधित कार्य को वेग मिलेगा। महीने के मध्य में आपको थोड़ी मानसिक दुविधा महसूस होगी और मन में अच्छे-बुरे विचार आएंगे। महीने के अंतिम पखवाड़े में सूर्य राशि बदलकर लाभ स्थान में आएगा। विदेश में व्यवसायिक प्रयोजन से जाने के इच्छुक जातकों के लिए यह बेहतर समय है। विवाह के इच्छुक जातकों के लिए भी शुभ संयोग बनेगा। अधिक आय के लिए एक से अधिक स्रोत खड़े करने पर भी आप गंभीरतापूर्वक विचार करेंगे। खाने-पीने, होटल का व्यवसाय करने वाले को तथा सौंदर्य प्रसाधनों, गिफ्ट-आर्टिकल का व्यापार करने वालों का व्यापार अति उत्तम रहेगा। प्रणय संबंधी खर्चे अधिक होंगे। महीने के अंतिम दिनों में विशेष रूप से आर्थिक मोर्चे पर थोड़ी चिंता होने की संभावना है। आप लोगों के साथ कम बातचीत करेंगे और कोई भी आर्थिक निर्णय लेने में अधिक समय लेंगे। महीने के पूर्वार्ध में घर में शुभ कार्य का आयोजन होगा। किसी नये कार्य में लगे रहेंगे और वह शुभ फल प्रदान करेगा। 2 और 3 तारीख के दौरान मिश्रित फल मिलेगा। मानसिक तनाव रहेगा, परंतु हाथ में लिया गया काम पूर्ण कर सकेंगे। 4 और 5 तारीख को व्यापार और कामकाज में आने वाले विघ्न दूर होंगे। किसी संबंधी से शुभ समाचार मिलेगा। आर्थिक मामले में स्थिति मजबूत बनेगी। आपकी पैसे की तंगी दूर होती महसूस होगी। उधार-वसूली करने के लिए उत्तम समय कहा जा सकता है, परंतु आपको भागीदार द्वारा या व्यवसाय में किसी से धोखा का होगा, इसलिए विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। महीने के उत्तरार्ध में मन बैचेन और अशांत रहेगा। स्वास्थ्य ढीला रहेगा। यात्रा-प्रवास टालें, अन्यथा परेशानी का अनुभव करेंगे। यदि आपका कोई काम अटका हुआ हो तो इस सप्ताह में वह पूरा कर सकेंगे। महीने के अंतिम चरण में नौकरी में पदोन्नति मिलने की संभावना है। आपके मान तथा प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। मकान, गाड़ी तथा दूसरी अन्य सुख सुविधाओं का कार्य आसानी से हो सकता है। इस समय मित्रों, समाज, परिवार की तरफ से भाग्योदय होगा अथवा लाभ होता दिखाई देगा। सप्ताह के अंतिम भाग में चिंता बढ़ सकती है। महीने के प्रारंभ का समय दांपत्य जीवन का सुख उठाने के लिए उत्तम है। आपमें जोश व उत्साह की मात्रा बहुत ज्यादा रहेगी। विपरीत लिंग वाले व्यक्तियों के प्रति आकर्षण रहने से अंतरंग सुख हेतु भी शुरुआत का समय अनुकूल है। हालांकि, आपको अपने स्वभाव में गुस्से पर नियंत्रण रखना पड़ेगा। पूर्वार्ध में विशेष रूप से बुजुर्गों के साथ तथा कामकाज के स्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों या प्रतिष्ठित लोगों के साथ संबंधों में तनाव आने की संभावना है। जिनको ब्लड प्रेशर अथवा हृदय से संबंधित समस्या है, उन्हें विशेष सावधानी बरतनी होगी। इस समय विशेष रूप से ज्योतिष विद्या, कर्मकांड, धार्मिक विषयों अथवा गूढ़ विद्या में गहन अध्ययन करना हो तो इसके लिए उत्तम समय है। समय गुजरने पर शुक्र और मंगल के आपके अष्टम स्थान में आने से विशेष रूप से जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता अधिक होगी। आकस्मिक चोट से बचने के लिए सतर्कता बरतनी पड़ेगी। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य नौवें स्थान में आएगा तब प्रफेशनल विषयों में खर्च अधिक रहेंगे। हालांकि, इसके साथ गुरु के होने की वजह से स्थिति नियंत्रण में रहेगी। विदेश में कामकाज से जुड़े जातकों के कार्य धीमी परंतु एक समान गति से आगे बढ़ेंगे। विवाह के इच्छुक जातकों की भी यदि किसी जगह बात चल रही है तो गति धीमी रहेगी। आप सार्वजनिक जीवन में कम रुचि लेंगे। पत्नी अथवा ससुराल पक्ष की ओर से फायदा होगा। प्रारंभिक चरण में आपकी आय में वृद्धि होगी। व्यापार-धंधे में भी बढ़िया फायदा मिलेगा। हालांकि, इस समय कोई भी लंबी यात्रा अथवा छोटी दूरी का प्रवास आपके हित में रहेगा। शुरू के दिनों में ही शुक्र राशि बदलकर आपकी राशि से सातवें भाव में परिभ्रमण करेगा जो आपके लिए अशुभ रहेगा। शुक्र पति-पत्नी के वैवाहिक जीवन में झगड़े उत्पन्न करेगा। जीवनसाथी की तबीयत बिगड़ेगी। भागीदारों के साथ भी संबंध बिगड़ेंगे, क्योंकि इसी स्थान में पहले से ही सूर्य व बुध युति में है। इसके सिवाय, मंगल भी राशि बदलकर आपके सातवें भाव में प्रवेश करेगा जो आपको शारीरिक व मानसिक रूप से बीमार रखेगा। मस्तिष्क तथा आंख में तकलीफ होगी। बुध राशि बदलकर आपकी राशि से आठवें स्थान में आएगा जो आपके लिए शुभ रहेगा। गूढ़ विद्या, ज्योतिष विद्या, कर्मकांड, आध्यात्मिक ज्ञान में रुचि बढ़ेगी और उसमें गहन अध्ययन कर सकेंगे। विरासत और आकस्मिक धन लाभ होगा। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य राशि बदलकर अष्टम भाव में आएगा जो गुरु और बुध के साथ युति करेगा। पेट का रोग होने से शारीरिक तकलीफ होगी। सरकार की तरफ से दंडित होने, अदालती कार्यवाही अथवा धरपकड़ होने का भय रहेगा। शत्रु अपना सर ऊंचा उठाएंगे तथा खर्चों में भी वृद्धि होगी। अंतिम सप्ताह में शनि मार्गी होकर आपकी राशि से दसवें कर्म स्थान में भ्रमण करेगा जो आपको धंधे में तकलीफ उत्पन्न कराएगा। अंतिम सप्ताह में जीवनसाथी के साथ संबंधों में आंशिक सुधार आएगा। आप परिवार को अधिक समय देने पर बल देंगे।

Top News