taaja khabar....पुलवामा अटैक पर बोले PM मोदी- जो आग आपके दिल में है, वही मेरे दिल में.....धुले रैली में पाक को पीएम मोदी की चेतावनी- हम छेड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं.....पुलवामा हमला: मीरवाइज उमर फारूक समेत 5 अलगाववादियों की सुरक्षा वापस....भारत ने आसियान और गल्फ देशों के प्रतिनिधियों को दिए जैश-ए-मोहम्मद और पाक के लिंक के सबूत...पुलवामा हमला: बदले की कार्रवाई से पहले पाक को अलग-थलग करने की रणनीति....पुलवामा अटैक: पाकिस्तान क्रिकेट को बड़ा झटका, चैनल ने PSL को किया ब्लैकआउट..पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य कार्रवाई के डर से LoC के पास अपने लॉन्च पैड्स कराए खाली!...पाकिस्तान से आयात होने वाले सभी सामानों पर सीमाशुल्क बढ़ाकर 200 फीसदी किया गया: जेटली...पुलवामा अटैक: JeM सरगना मसूद अजहर पर अब विकल्प तलाशने में जुटा चीन....पुलवामा आतंकवादी हमले के लिए सेना जिम्‍मेदार: कांग्रेस नेता नूर बानो...
रोजाना सिर्फ एक कैप्सूल खाने से दूर होगा मोटापा!
एक नई स्टडी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि विटामिन डी सप्लीमेंट लेने से बच्चों में बढ़ रहे मोटापे को कम किया जा सकता है. आजकल अधिकतर बच्चे मोटापे से पीड़ित हैं. इन सभी बच्चों की डाइट में मिनरल्स, विटामिन के साथ-साथ विटामिन डी की भी अधिक कमी देखी गई है. स्टडी में बच्चों का मोटापा रोकने का सबसे बेहतरीन विकल्प हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज को बताया है. ग्रीस की एक नई स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, रोजाना विटामिन डी की डोज लेने से बच्चों में बढ़ रहे मोटापे और कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियंत्रण में रखने में मदद मिलती है. स्टडी की रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि मोटे और ज्यादा वजनी बच्चों में बढ़े होने पर मोटापे का शिकार होने की संभावना ज्यादा होती है. साथ ही उनमें डायबिटीज, दिल की बीमारी और कैसंर जैसी घातक बीमारी होने का खतरा भी अधिक होता है. इस स्टडी में बताया गया है कि जिन लोगों का पेट जरूरत से ज्यादा बढ़ा होता है, उन लोगों में विटामिन डी की कमी हो सकती है. साथ ही शरीर में न्यूट्रिएंट्स की कमी के कारण हड्डियां और इम्यून सिस्टम भी कमजोर होने लगता है. विटामिन डी से भरपूर चीजें, जैसे मछली और दूध, डायबिटीज, कैसंर और बालों के झड़ने जैसी समस्या को कम करने में मददगार साबित होती हैं. स्टडी के दौरान शोधकर्ताओं ने 232 मोटे बच्चों की 1 साल से ज्यादा समय तक जांच की. उनमें से आधे बच्चों को रोजाना विटामिन डी के कैप्सूल दिए गए, जबकि 115 बच्चों को प्लेसबो यानी उन्हें इंजेक्शन या चीनी को गोली दी गई. नतीजों में सामने आया कि जिन बच्चों को रोजाना विटामिन डी सप्लीमेंट दिया गया उनमें 12 महीने के बाद वजन और कोलेस्ट्रोल का स्तर उन बच्चों के मुकाबले बेहद कम पाया गया जिन्हें प्लेसबो दिया गया था. स्टडी के मुख्य लेखक Dr. Evangelia Charmandari ने बताया कि इस स्टडी कि रिपोर्ट के जरिए मोटापे से ग्रस्त बच्चों में दिल और दूसरी गंभीर बीमारियों को दूर करने में मदद मिलेगी.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/