taaja khabar....पाकिस्तान को अमेरिका की चेतावनी- अब भारत पर हमला हुआ तो 'बहुत मुश्किल' हो जाएगी ...नहीं रहे 1971 युद्ध के हीरो, रखी थी बांग्लादेश नौसेना की बुनियाद......मध्य प्रदेश: सट्टा बाजार में फिर से 'मोदी सरकार...J&K: होली पर पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, एक जवान शहीद, सोपोर में पुलिस टीम पर आतंकी हमला...लोकसभा चुनाव: बीजेपी की पहली लिस्ट के 250 नाम फाइनल, आडवाणी, जोशी का कटेगा टिकट?....प्लास्टिक सर्जरी से वैनुआटु की नागरिकता तक, नीरव ने यूं की बचने की कोशिश...हिंद-प्रशांत क्षेत्र: चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने की काट, इंडोनेशिया में बंदरगाह बना रहा भारत...समझौता ब्लास्ट में सभी आरोपी बरी होने पर भड़का पाकिस्तान, भारत ने दिया जवाब ...राहुल गांधी बोले- हम नहीं पारित होने देंगे नागरिकता संशोधन विधेयक ...
ट्रंप-किम की ऐतिहासिक मुलाकात से कारोबारी खुश, एशियाई बाजार हरे निशान में
नई दिल्ली,एक दूसरे को खुले तौर पर परमाणु युद्ध और सबक सिखाने की धमकी देने वाले दुनिया के दो बड़े नेताओं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन ने सिंगापुर के सेंटोसा द्वीप में एक दूसरे से हाथ मिलाया और हंसकर बातचीत की. इस ऐतिहासिक मुलाकात को देखते हुए एशिया के शेयर बाजार चढ़ गए हैं. इस मुलाकात के पहले अमेरिकी-यूरोपीय शेयर बाजारों में भी तेजी देखी गई थी. डॉलर में भी मजबूती देखी गई है. डॉलर तीन हफ्ते के शीर्ष स्तर पर पहुंच गया है. भारतीय शेयर बाजार भी सुबह कारोबार की शुरुआत में हरे निशान में दिखे. सीएनबीसी के मुताबिक मंगलवार सुबह एशिया के ज्यादातर शेयर बाजारों में तेजी देखी गई. दोनों नेताओं के इस ऐतिहासिक मुलाकात को बाजार भी बेसब्री से देख रहा है. जी-7 के तनावपूर्ण सम्मेलन से कारोबारियों में जो चिंता बनी थी, वह अब दूर हो गई है. सुबह के कारोबार में जापान के सूचकांक निक्केई 225 में 0.58 फीसदी की बढ़त हुई. दक्षिण कोरिया के शेयर सूचकांक कोस्पी में 0.25 फीसदी की बढ़त हुई. ऑस्ट्रेलिया का एसऐंडपी/एएसएक्स 200 इंडेक्स 0.24 फीसदी बढ़ गया. इसी प्रकार हांगकांग के हैंग सेंग इंडेक्स में 0.16 फीसदी की बढ़त देखी गई. दोनों नेताओं के बीच वन-ऑन-वन मुलाकात खत्म हो गई है. सेंटोसा द्वीप के कैपेला रिजॉर्ट में दोनों नेताओं के बीच करीब 41 मिनट तक मुलाकात हुई. ये मुलाकात कई मायनों में ऐतिहासिक है. अमेरिका का कोई सिटिंग राष्ट्रपति पहली बार किसी उत्तर कोरियाई नेता से मिला है. वहीं, सत्ता संभालने के 7 साल बाद किम जोंग उन पहली बार इतनी लंबी विदेश यात्रा पर आए हैं.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/