taaja khabar.....इंडोनेशिया के पहले दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी, भारतीय नौसेना को मिल सकता है बड़ा तोहफा.....पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, 1 बीएसफ जवान शहीद....कानूनी पैंतरे और लिंगायत कार्ड से विपक्षी विधायकों का समर्थन हासिल करेगी BJP?....कर्नाटक: सियासी उठापटक के बीच हैदराबाद पहुंचे कांग्रेस-जेडीएस के विधायक...रमजान में नो ऑपरेशन फैसले के बाद सेना की टेंशन पत्थरबाजों से निपटना...पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नेता ने सेना पर लगाए आरोप, नवाज शरीफ का किया समर्थन....नवाज के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की याचिकाएं खारिज.....अयोध्या मामला: 'राम की जन्मभूमि कहीं और शिफ्ट नहीं हो सकती'...रेलगाड़ियों के फ्लेक्सी फेयर में एक जून से मिल सकती है छूट...J&K: रमजान के पहले दिन आतंकियों ने की युवक की हत्या..
अमेरिकी शेयर मार्केट पर ब्लैक फ्राइडे, डाउ जोन्स फिर 1000 अंक लुढ़का
न्यूयॉर्क, एशिया में सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन से एक दिन पहले गुरुवार को एक बार फिर अमेरिकी शेयर बाजार के प्रमुख इंडेक्स डाउ जोन्स पर फिर जोरदार बिकवाली के चलते 4 फीसदी तक की गिरावट दर्ज हुई है. इस गिरावट से अमेरिकी बाजार ने अपने हाल के उच्चतम स्तर से 10 फीसदी तक गोता खाया है. अमेरिकी बाजार में गुरुवार देर शाम प्रमुख स्टॉक इंडेक्सों में तेज गिरावट का देखने को मिली. अमेरिकी बाजार में लगातार दूसरा दिन है जब बाजार बंद होने से पहले जोरदार गिरावट देखने को मिली. इससे पहले सोमवार को डॉउ जोन्स पर 1100 अंकों से अधिक की गिरावट दर्ज होने के बाद दुनियाभर के शेयर बाजारों में जोरदार गिरावट आई, जिसमें यूरोप, एशिया समेत भारत में सेंसेक्स और निफ्टी ने भी 2 से 3 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार की शुरुआत की थी. अमेरिकी बाजार में इस गिरावट से प्रमुख इंडेक्स स्टैंडर्ड एंड पूअर 500 जनवरी के अंत के उच्चतम शिखर से लगभग 10 फीसदी नीचे पहुंच गया. जानकारों का मानना है कि सोमवार की गिरावट के बाद यह अमेरिकी बाजार में इस सप्ताह का दूसरा बड़ा सुधार है और इससे बीते 9 साल से जारी तेजी पर लगाम लगाते हुए बाजार के नए स्तर को निर्धारित होते देखा जाएगा. वहीं अमेरिकी बाजार के जानकारों के मुताबिक बाजार में यह गिरावट बढ़ती महंगाई, बढ़ती ट्रेजरी ईल्ड और शुक्रवार सुबह आए जॉब आंकड़ों के चलते देखने को मिल रही है. अमेरिकी बाजार पर असर गुरुवार की गिरावट में डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज 1033 अंक यानी 4.15 फीसदी लुढ़ककर 23,860 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया. अन्य प्रमुख इंडेक्स स्टैंडर्ड एंड पुअर 500 पर 101 अंक यानी 3.75 फीसदी की गिरावट के साथ 2,581 के स्तर पर कारोबार करता देखा गया. वहीं नैसडैक कंपोजिट 275 अंक यानी 3.9 फीसदी लुढ़ककर 6,777 अंक पर कारोबार करता देखा गया. गौरतलब है कि अमेरिकी बाजार में बीते एक साल की तेजी के लिए जिम्मेदार अमेजन और फेसबुक के शेयरों को इस गिरावट में सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा है. वहीं बीते सोमवार की तरह एक बार फिर शेयर बाजार की गिरावट के इतर अमेरिकी ट्रेजरी ईल्ड (10 साल के बॉन्ड) 2.8 फीसदी की उछाल के साथ 4 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए. सोमवार को भी लुढ़का था अमेरिकी बाजार इस हफ्ते अमेरिकी बाजार में सोमवार को पिछले 6 साल में सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली थी. सोमवार को डाउ जोन्स 1175 अंक टूटकर बंद हुआ. अमेरिकी बाजार के बड़ी गिरावट के साथ बंद होने का असर एशियाई बाजार पर भी साफ नजर आया था. डाउ जोन्स में आई यह गिरावट अगस्त 2011 के बाद से सबसे बड़ी गिरावट है. यूएस मार्केट में आई इस गिरावट के चलते एशियाई बाजारो ने भी गिरावट के साथ शुरुआत की है. जापान के निक्केई इंडेक्स ने 4 फीसदी टूटकर शुरुआत की थी. वहीं, ऑस्ट्रेलिया का एसएंडपी/एएसएक्स 200 अंक गिरकर खुला था. इसमें 3 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी. जानकारों के मुताबिक अमेरिकी बाजार में गिरावट का यह दौर पिछले हफ्ते से शुरू हो गया था. यूएस इकोनॉमी को लेकर उठाई जा रही चिंताओं का असर निवेशकों के सेंटीमेंट पर पड़ा है. इसकी वजह से यूएस मार्केट कमजोर हुआ है.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/