taaja khabar....राफेल डील पर नई रिपोर्ट का दावा, नियमों के तहत रिलायंस को मिला ठेका.....सीबीआई को पहली कामयाबी, भारत लाया गया विदेश भागा भगोड़ा मोहम्मद याह्या.....राजस्थान विधानसभा चुनाव की बाजी पलट कर लोकसभा के लिए बढ़त की तैयारी में BJP.......GST के बाद एक और बड़े सुधार की ओर सरकार, पूरे देश में समान स्टैंप ड्यूटी के लिए बदलेगी कानून....UNHRC में भारत की बड़ी जीत, सुषमा स्वराज ने जताई खुशी....PM मोदी के लिखे गाने पर दृष्टिबाधित लड़कियों ने किया गरबा.....मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: कांग्रेस के साथ नहीं एसपी-बीएसपी, बीजेपी को हो सकता है फायदा....गुरुग्रामः जज की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने उनकी पत्नी, बेटे को बीच सड़क गोली मारी, अरेस्ट....बेंगलुरु में HAL कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, बोले- राफेल आपका अधिकार....कैलाश गहलोत के घर से टैक्स चोरी के सबूत मिलेः आईटी विभाग.....मेरे लिए पाकिस्तान की यात्रा दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर: सिद्धू....घायल रहते 2 उग्रावादियों को किया ढेर, शहादत के बाद इंस्पेक्टर को मिलेगा कीर्ति चक्र....छत्तीसगढ़: कांग्रेस को तगड़ा झटका, रामदयाल उइके BJP में शामिल....
1 जनवरी से अमान्य हो जाएंगे SBI से मर्ज हुए बैंकों के अकाउंट होल्डर्स के पुराने चेकबुक
नई दिल्ली 1 जनवरी से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के खाताधारकों के लिए नए नियम लागू हो जाएंगे। जिन लोगों के पास एसबीआई में मर्ज हो चुके बैंकों की चेकबुक हैं, वे इन्हें बदलवा लें। इन बैंकों की पुरानी चेक बुक और IFSC कोड 31 दिसंबर के बाद मान्य नहीं होंगे।पहली जनवरी से एसबीआई के पहली जनवरी से एसबीआई के असोसिएट बैंकों के पुराने चेक अमान्य हो जाएंगे। यानी वे बैंक जिनका एसबीआई में मर्जर हो चुका है उसकी चेकबुक अब किसी काम की नहीं रहेगी। एसबीआई के आदेश के अनुसार, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर और जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ रायपुर, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद और भारतीय महिला बैंक के खाताधारकों को नई चेक बुक के लिए आवेदन करना होगा नए चेकबुक के लिए आप एसबीआई की शाखा, एसबीआई एटीएम या मोबाइल ऐप पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। एसबीआई ने बड़े शहरों की कुछ ब्रांचों के नाम, ब्रांच कोड और आइएफएससी कोड भी बदल दिए हैं। इसलिए कहीं भी IFSC कोर्ड की जानकारी देने से पहले एक बार अपने बैंक का IFSC कोर्ड फिर से जांच लें।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/