taaja khabar...लद्दाख में अब चीनी सैनिकों का 1962 जैसा पैंतराः बजा रहे पंजाबी गाने, PM मोदी के खिलाफ भड़का रहे ...पैंगोंग झील: भारत के ऐक्‍शन के बाद 33 साल में पहली बार सबसे ज्‍यादा अलर्ट पर चीनी सेना ...लद्दाख: राजनाथ सिंह के बयान पर चीनी मीडिया को लगी म‍िर्ची, दे डाली युद्ध की धमकी ...लद्दाख में चीन से लंबा चलेगा तनाव! देपसांग में ग्राउंड वाटर की संभावनाएं तलाश रही सेना...महाराष्ट्र सरकार ने बढ़ाई बच्चन फैमिली की सुरक्षा, बीजेपी बोली- सुशांत और कंगना को क्यों नहीं दी? ...योगी आदित्यनाथ ने 87 लाख गरीबों के खाते में ट्रांसफर की 1311 करोड़ रुपये पेंशन ...चीन से तनाव के बीच शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक, कांग्रेस उठाएगी LAC का मुद्दा...UP के बाहुबली MLA विजय मिश्रा पर कसा शिकंजा, पत्नी-बेटा नहीं हुए हाजिर तो संपत्ति होगी कुर्क...नवंबर तक भारत में आ जाएगा कोरोना का रूसी टीका! डॉ. रेड्डीज से हुआ करार ...सरकार किसानों को दे रही 80% सब्सिडी, ऐसे ले सकते हैं फायदा..तीन महीने का इंतजार और फिर ‘ऑपरेशन स्नो लेपर्ड’ चला सेना ने ऐसे दी चीन को मात...जया पर रवि किशन का पलटवार, 'जिस थाली में जहर हो उसमे छेद करना ही पड़ेगा'..

200 रुपये के लिए की थी दिल्ली के ऑटो चालक की हत्या, दो गिरफ्तार

गाजियाबाद, 02 अगस्त 2020, गाजियाबाद के लोनी कोतवाली क्षेत्र में 17-18 जून की रात दिल्ली के रहने वाले एक ऑटो चालक की चाकू गोदकर हत्या कर दिए जाने की वारदात हुई थी. घटना के डेढ़ महीने बाद तक हाथ-पांव मारती रही गाजियाबाद पुलिस ने अब इस हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया है. गाजियाबाद पुलिस के मुताबिक दो युवकों ने किराए के 200 रुपये न होने पर ऑटो चालक की हत्या कर दी थी. दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है. गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) कलानिधि नैथानी ने इस घटना का खुलासा करते हुए कहा कि 17/ 18 जून की देर शाम दिल्ली के रहने वाले मोहिद्दीन नाम के एक ऑटो चालक की लोनी इलाके में चाकू गोदकर हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड का खुलासा करने और हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एसपी देहात नीरज कुमार जादौन के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया था. एसएसपी के मुताबिक विशेष टीम ने मोहिद्दीन की हत्या के मामले में आरोपी मोनू और आफताब नाम के दो युवकों को गिरफ्तार किया है. पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे दिल्ली से लोनी के लिए मोहिद्दीन के ऑटो में बैठे थे. इनके पास किराए के पैसे नहीं थे. इन्हें मोहिद्दीन को 200 रुपये किराया देना था. वे ऑटो से उतरकर भागने लगे. जिसका मोहिद्दीन ने विरोध किया. उन्होंने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में यह खुलासा किया कि इसी बात को लेकर दोनों ने मोहिद्दीन को चाकू गोदकर मौत के घाट उतार दिया और मौके से फरार हो गए. एसएसपी ने इस मामले का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 15000 रुपये का इनाम देने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि हत्यारोपी मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करते थे, जिससे इस मामले का खुलासा पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण हो गया था. इलाके के कई अपराधियों और मुखबिर से मिली जानकारी को आधार बनाकर पुलिस आरोपियों तक पहुंची. गौरतलब है कि ऑटो चालक की हत्या करने के बाद उसका शव ऑटो के पास ही फेंक दिया गया था.

Top News