taaja khabar....भारत ने पाकिस्तान को दिखाया 'ठेंगा', नहीं भेजा सीमा शुल्क मीटिंग का न्यौता...यूपीः 69,000 सहायक शिक्षकों की भर्ती परीक्षा 6 जनवरी को....पंजाब: कैप्टन बयान पर नवजोत सिंह सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा...साबुन-मेवे की दुकान में मिले सीक्रेट लॉकर, 25 करोड़ कैश बरामद....J-K: शोपियां में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ जारी...
पंजाब: कैप्टन बयान पर नवजोत सिंह सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा
चंडीगढ़ कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को अपना कैप्‍टन बताकर चौतरफा घिरे पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ राज्य के 18 मंत्रियों ने मोर्चा खोल दिया है। पंजाब के इन मंत्रियों की मांग है कि सिद्धू सीएम से माफी मांगें और 'बड़ों का सम्‍मान करना सीखें।' उधर, सिद्धू भी राज्‍य के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से माफी मांगने के मूड में दिखाई नहीं पड़ रहे हैं। कैप्‍टन के वफादार मंत्री सिद्धू का मुद्दा सोमवार को होने वाली राज्‍य कैबिनेट की बैठक में उठा सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक ये सभी मंत्री सिद्धू द्वारा माफी नहीं मांगने पर उनपर इस्तीफे का दबाव बनाने के लिए कैबिनेट में प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहे हैं। इस बीच, ऐसी भी खबरें हैं कि सिद्धू इस बैठक में शामिल नहीं होंगे। उधर, इस मसले पर सिद्धू का कहना है कि 'उन्‍होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है।' चुनावी राज्‍य राजस्‍थान में चुनाव प्रचार कर रहे सिद्धू ने कहा, 'मैं ऐसे स्‍थान पर रहता हूं जहां दिमाग बिना भय के रहता है और सिर ऊंचा रहता है।' इससे पहले शुक्रवार को सिद्धू से पूछा गया था कि क्‍या करतापुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह में पाकिस्‍तान जाने से उन्‍हें सीएम ने रोका था ? इस पर सिद्धू ने कहा, 'किस कैप्‍टन की बात कर रहे हो? ओह! कैप्‍टन अमरिंदर सिंह। वह सेना में एक कैप्‍टन थे, मेरे कैप्‍टन राहुल गांधी हैं। उनके (सीएम के) कैप्‍टन भी राहुल गांधी हैं।' इसके बाद शनिवार को पंजाब के मंत्री तृप्‍त रजिंदर सिंह बाजवा ने सिद्धू से कहा कि वह या तो इस्‍तीफा दें या माफी मांगें। इस बीच खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह ने कहा, 'मेरे कैबिनेट के ज्‍यादातर साथी चाहेंगे कि इस मुद्दे पर सोमवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में चर्चा हो। विशेषकर इसलिए कि इसने लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी को कमजोर किया है।' सिद्धू इस समय राजस्थान में प्रचार में व्यस्त हैं और यह साफ नहीं है कि वह कैबिनेट की बैठक में भाग लेने के लिए चंडीगढ़ आएंगे या नहीं। राज्‍य के एक अन्‍य मंत्री ने कहा, 'अमरिंदर सिंह के ज्‍यादातर वफादार मंत्री इस मुद्दे को कैबिनेट में उठाने के लिए उत्‍सुक हैं।' रविवार को पंजाब सरकार में मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने भी कहा था, 'मैं यह सुनकर थोड़ा नाराज हूं (नवजोत सिंह सिद्धू का बयान), बिल्‍कुल राहुल गांधी हमारे इंडियन कैप्टन हैं लेकिन सिद्धू यह भूल गए कि अमरिंदरजी हमारे सीएम हैं। उन्हें सम्मान करना चाहिए, यह कपिल शर्मा का शो नहीं है।' बता दें कि पंजाब कांग्रेस के नेताओं के खुलकर नाराजगी जताने के बाद विवाद बढ़ता देख सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने रविवार को उनके बचाव में सफाई दी थी। कौर ने यह कहकर विवाद थामने की कोशिश की है कि उनके पति हमेशा कहते हैं कि कैप्टन साहब उनके पिता के समान हैं। नवजोत कौर सिद्धू ने कहा, 'नवजोतजी हमेशा कहते हैं कि कैप्टन साहब उनके पिता की तरह हैं। हम यह बात हमेशा स्पष्ट रखते हैं कि कैप्टन साहब का सम्मान सभी चीजों से ऊपर है। सिद्धू का आधा-अधूरा नहीं बल्कि पूरा बयान पढ़ा जाना चाहिए।'

Top News

http://www.hitwebcounter.com/