taaja khabar....पुलवामा अटैक पर बोले PM मोदी- जो आग आपके दिल में है, वही मेरे दिल में.....धुले रैली में पाक को पीएम मोदी की चेतावनी- हम छेड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं.....पुलवामा हमला: मीरवाइज उमर फारूक समेत 5 अलगाववादियों की सुरक्षा वापस....भारत ने आसियान और गल्फ देशों के प्रतिनिधियों को दिए जैश-ए-मोहम्मद और पाक के लिंक के सबूत...पुलवामा हमला: बदले की कार्रवाई से पहले पाक को अलग-थलग करने की रणनीति....पुलवामा अटैक: पाकिस्तान क्रिकेट को बड़ा झटका, चैनल ने PSL को किया ब्लैकआउट..पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य कार्रवाई के डर से LoC के पास अपने लॉन्च पैड्स कराए खाली!...पाकिस्तान से आयात होने वाले सभी सामानों पर सीमाशुल्क बढ़ाकर 200 फीसदी किया गया: जेटली...पुलवामा अटैक: JeM सरगना मसूद अजहर पर अब विकल्प तलाशने में जुटा चीन....पुलवामा आतंकवादी हमले के लिए सेना जिम्‍मेदार: कांग्रेस नेता नूर बानो...
आयुष्मान भारत योजना: हरियाणा सरकार ने किया पहले दावे का निपटारा
चंडीगढ़ मोदी सरकार की बड़ी स्वास्थ्य योजना 'आयुष्मान भारत' के आधिकारिक ऐलान के दो दिन बाद ही देश को इसका पहला लाभार्थी मिल गया है। दरअसल, हरियाणा सरकार ने आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत नौ हजार रुपये के पहले दावे का शनिवार को निपटारा किया। सार्वजनिक स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत इस दावे का निपटारा प्रदेश के करनाल जिले में सरकारी अस्पताल में एक बच्ची के जन्म के लिए किया गया। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि करनाल जिले के घिसारपुरी गांव में रहने वाली 'मौसमी' इस योजना की पहली लाभार्थी बनी है। मौसमी ने ऑपरेशन के जरिए 17 अगस्त को एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। बच्ची का जन्म कल्पना चावला चिकित्सा महाविद्यालय में हुआ था। प्रवक्ता ने बताया कि वह (मौसमी) राज्य की पहली ऐसी महिला हैं जिसका इलाज आयुष्मान भारत योजना के तहत हुआ और उपचार करने वाले अस्पताल को 31 अगस्त को राशि का भुगतान किया गया। हरियाणा सरकार ने आयुष्मान भारत-हरियाणा स्वास्थ्य सुरक्षा योजना को 15 अगस्त को लागू किया था। बता दें कि आयुष्मान भारत योजना देशभर में 25 सितंबर से शुरू की जाएगी। लाल किले से बोलते हुए पीएम ने कहा था कि पंडित दीन दयाल की जयंती पर 'प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना' शुरू कर दी जाएगी। इससे निर्धनों को अच्छी और किफायती हेल्थकेयर सुविधा मिलेगी। इस योजना का लाभ उठानेवाले गरीब मरीजों का इंश्योरेंस किया जाएगा और उनका कैशलेस इलाज किया जाएगा। पहले खुद के खर्चे से इलाज करवाकर सरकार से पांच लाख रुपये तक की रकम वापस पाने का झंझट नहीं होगा।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/