taaja khabar....राफेल डील पर नई रिपोर्ट का दावा, नियमों के तहत रिलायंस को मिला ठेका.....सीबीआई को पहली कामयाबी, भारत लाया गया विदेश भागा भगोड़ा मोहम्मद याह्या.....राजस्थान विधानसभा चुनाव की बाजी पलट कर लोकसभा के लिए बढ़त की तैयारी में BJP.......GST के बाद एक और बड़े सुधार की ओर सरकार, पूरे देश में समान स्टैंप ड्यूटी के लिए बदलेगी कानून....UNHRC में भारत की बड़ी जीत, सुषमा स्वराज ने जताई खुशी....PM मोदी के लिखे गाने पर दृष्टिबाधित लड़कियों ने किया गरबा.....मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: कांग्रेस के साथ नहीं एसपी-बीएसपी, बीजेपी को हो सकता है फायदा....गुरुग्रामः जज की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने उनकी पत्नी, बेटे को बीच सड़क गोली मारी, अरेस्ट....बेंगलुरु में HAL कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, बोले- राफेल आपका अधिकार....कैलाश गहलोत के घर से टैक्स चोरी के सबूत मिलेः आईटी विभाग.....मेरे लिए पाकिस्तान की यात्रा दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर: सिद्धू....घायल रहते 2 उग्रावादियों को किया ढेर, शहादत के बाद इंस्पेक्टर को मिलेगा कीर्ति चक्र....छत्तीसगढ़: कांग्रेस को तगड़ा झटका, रामदयाल उइके BJP में शामिल....
सिख फॉर जस्टिस की लंदन रैली के विरोध में पंजाब के राजनीतिक दल
चंडीगढ़, पंजाब के राजनीतिक दलों ने पाकिस्तान की आईएसआई द्वारा समर्थित संस्था सिख फॉर जस्टिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. पंजाब कांग्रेस, बीजेपी और सीपीआई सिख फॉर जस्टिस द्वारा 12 अगस्त को लंदन के ट्राफलगर स्क्वायर में आयोजित की जा रही लंदन डिक्लेरेशन के खिलाफ खड़े हो गए हैं. उन्होंने सिख फॉर जस्टिस संस्था पर भारत विरोधी षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है. सिख और जस्टिस के कर्ता-धर्ता गुर पटवन्त सिंह पनुन को आड़े हाथ लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उससे पूछा है कि वह बताएं कि सिख भारत के कौन से राज्य में बेहतर काम नहीं कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने उस पर आरोप लगाया कि वह सिखों की धार्मिक भावनाएं भड़का कर उनसे पैसा इकट्ठा कर रहा है, जिससे कुछ होने वाला नहीं है क्योंकि पंजाब के लोग शांति और विकास चाहते हैं. भाजपा ने कहा, सिखों की भावनाओं को भड़काने की कोशिश उधर भारतीय जनता पार्टी ने सिख फॉर जस्टिस को पाकिस्तान की आईएसआई का फ्रंटल ऑर्गनाइजेशन बताते हुए कहा है कि वह न केवल सिखों की भावनाओं को भड़का रहा है बल्कि रेफरेंडम के नाम पर हिंदू सिखों के भीतर वैमनस्य पैदा करने की कोशिश भी कर रहा है. भाजपा नेता विनीत जोशी ने कहा कि इससे पहले क्यूबेक और कैटेलोनिया जैसे कई देशों में रेफरेंडम की कोशिश की जा चुकी है लेकिन नतीजे शून्य रहे. उन्होंने कहा कि जब सयुंक्त राष्ट्र संघ भारत को कश्मीर के मुद्दे पर जनमत करवाने पर मजबूर नहीं कर पाया तो पंजाब के बारे में सवाल ही पैदा नहीं होता. सीपीआई ने बताया सिख फॉर वायलेंस उधर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने सिख फॉर जस्टिस को सिख फॉर वायलेंस का नाम देते हुए कहा कि यह संस्था कनाडा और ब्रिटेन जैसे देशों में बैठकर भारत के विरुद्ध षड्यंत्र रच रही है जिसे सहन नहीं किया जाएगा. सीपीआई राष्ट्रीय काउंसिल के सदस्य डॉक्टर जोगेंद्र दयाल ने कहा कि पंजाब ने बहुत कुछ खोकर शांति हासिल की है जिसे इस राज्य के लोग आसानी से गंवाना नहीं चाहते, लेकिन विदेशों में बैठे कुछ लोग देश को बांटने की कोशिश कर रही है जिनको मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. गौरतलब है कि सिख फॉर जस्टिस नामक संस्था लंदन में 12 अगस्त को लंदन डिक्लेरेशन का आयोजित कर रही है जिसके आधार पर वह रेफरेंडम 2020 करवाना चाहती है. भारत सरकार ने इस कार्यक्रम को रोकने की कोशिश की लेकिन ब्रिटेन सरकार ने इस आयोजन पर यह कहकर रोक लगाने से इंकार कर दिया कि जब तक आयोजन शांतिपूर्ण है तब तक इस पर रोक नहीं लगाई जा सकती. सूत्रों के मुताबिक सिख और जस्टिस संस्था इस कार्यक्रम के लिए बकायदा पंजाब से भर्तियां तक करती आई हैं. कुछ लोगों को मुफ्त में लंदन की हवाई यात्रा के टिकट भी दिए गए हैं.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/