taaja khabar...तो विनाशकारी दूसरी लहर का अंत हो गया!, डब्ल्यूएचओ ने कहा- भारत हो सकता है पाबंदियों से मुक्त...नारद स्टिंग केस: ममता की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट के जज अनिरुद्ध बोस ने खुद को किया अलग..कांग्रेस कमेटी से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, पंजाब कांग्रेस में कलह दूर करने पर मंथन..त्रिपुरा के दो गावों में सभी लोगों को लगा कोरोना टीका, सीएम बोले- जल्द पूरे राज्य का हो जाएगा टीकाकरण..रेलवे की बड़ी उपलब्धि, गुजरात के मुंद्रा से राजस्थान के लिए डबल-स्टैक कंटेनर ट्रेन का पहला ट्रायल रन पूरा...बीते 24 घंटे में तीन महीने में सबसे कम केस सामने आए, 68 दिनों में सबसे कम मौतें...कोरोना वैक्सीनेशन में दुनिया भर में अव्वल भारत, एक दिन में दी गई 86.16 लाख से अधिक खुराकें;...छत्तीसगढ़ में नक्सली मोर्चे पर कामयाबी, दंतेवाड़ा में 3 नक्सलियों ने किया सरेंडर..साम्यवाद का ढिंढोरा पीटने वाले नक्सली कैडर से करते हैं भेदभाव, विलासिता से भरा जीवन बिताते हैं टाप कमांडर..पीएम की बैठक में शामिल होगा गुपकार, बैठक के बाद महबूबा बोलीं-तालिबान से बात हो सकती है तो पाकिस्तान से क्यों नहीं?..

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने लगवाया कोरोना का टीका, जानें Covaxin से जुड़ी हर बात

स्‍वदेशी कोरोना वायरस वैक्‍सीन Covaxin का इंसानों पर आखिरी दौर का ट्रायल शुरू हो गया है। देशभर में 26 हजार लोगों पर वैक्‍सीन का डबल ब्‍लाइंड, रैंडमाइज्‍ड ट्रायल होगा। हरियाणा में गृह मंत्री अनिल विज ने पहली डोज लेकर फेज 3 ट्रायल की शुरुआत की। विज ने खुद को पहला वालंटियर बनाने की पेशकश की थी। उन्‍हें अंबाला के एक अस्‍पताल में Covaxin का पहला इंजेक्‍शन दिया गया। 14 दिन बाद उन्‍हें वैक्‍सीन की दूसरी डोज दी जाएगी। इस वैक्‍सीन का कोडनेम BBV152 है। ट्रायल में सफल होने पर इस वैक्‍सीन के अगले साल की पहली तिमाही के बाद उपलब्‍ध होने की संभावना जताई जा रही है। Covaxin को हैदराबाद की भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नैशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वॉयरलॉजी (NIV) के साथ मिलकर तैयार किया है। इसका फेज 1 ट्रायल 15 जुलाई से शुरू हुआ था। कैसे तैयार की गई? किस तरह करती है असर? Covaxin एक 'इनऐक्टिवेटेड' वैक्‍सीन है। यह उन कोरोना वायरस के पार्टिकल्‍स से बनी है जिन्‍हें मार दिया गया था ताकि वे इन्फेक्‍ट न कर पाएं। इसकी डोज से शरीर में वायरस के खिलाफ ऐंटीबॉडीज बनती हैं। ये ऐंटीबॉडीज शरीर को कोरोना इन्‍फेक्‍शन से बचाती हैं। Covaxin की कीमत क्‍या होगी? भारत बायोटेक के एमडी डॉ कृष्‍णा एल्‍ला ने कहा था कि वैक्‍सीन की कीमत एक पानी की बोतल के दाम से भी कम होगी। यानी इसका मतलब है कि वैक्‍सीन की एक डोज 20 रुपये से ज्‍यादा की नहीं होनी चाहिए।

Top News