taaja khabar....कोरोना वैक्‍सीन कब, कैसे और कितने में मिलेगी, सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने दिया हर जवाब ...तब संसद में कृषि कानून की वकालत कर रही थी कांग्रेस, सिब्बल का वीडियो वायरल..कनाडा पीएम ट्रूडो के बयान पर भारत सख्त, उच्चायुक्त को किया तलब ...अमेरिका और बाकी दुनिया के लिए चीन सबसे बड़ा खतरा: अमेरिकी खुफिया निदेशक ...उइगर मुस्लिमों को हर शुक्रवार को सूअर का मांस खाने को मजबूर कर रहा चीन ...कश्‍मीर में नागोर्नो-काराबाख दोहराने की तैयारी में पाकिस्‍तान, तुर्की भेज रहा सीरियाई हत्‍यारे ....उत्तराखंड: नए डीजीपी अशोक कुमार का भ्रष्ट पुलिसकर्मियों को साफ संदेश, 'करप्शन किया, तो वर्दी पहनना भूल जाएं' ....मेघालय में 1525 किलोग्राम विस्फोटक, 6000 डेटोनेटर बरामद, छह लोग गिरफ्तार...कंगना रनौत पर भड़कीं स्वाति मालीवाल, बोलीं- चंद फिल्में करके गंदगी फैलाने वाली ...अयोध्या में 'राम सेतू' की शूटिंग करना चाहते हैं अक्षय, CM योगी से मांगी इजाजत...ईडी से बोला अकाउंटेंट- PFI के शाहीन बाग दफ्तर में रखा गया था बेहिसाब पैसा...

किसान कानून विरोध: अमरिंदर के धरने में हिस्‍सा लेने पहुंचे सिद्धू को बॉर्डर पर रोका, पुलिस से हुई गरमागरमी

चंडीगढ़/नई दिल्ली पंजाब में केंद्र के नए कृषि कानूनों के विरोध की आंच नई दिल्‍ली तक पहुंचने लगी है। बुधवार सुबह पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह के क्रमिक धरने के आह्वान पर दिल्‍ली पहुंचे कांग्रेस विधायक नवजोत सिंह सिद्धू को पुलिस ने बॉर्डर पर रोक लिया। काफी गरमागरमी के बाद सिद्धू को दिल्‍ली में प्रवेश मिला। कृषि कानूनों के विरोध के चलते पंजाब में कोयला लाने वाली ट्रेनों पर रोक है जिससे राज्‍य में बिजली कटौती करनी पड़ रही है। इन्‍हीं मुद्दों पर अमरिंदर सिंह ने जंतर-मंतर पर क्रमिक धरने की अपील की है। खुद अमरिंदर भी बुधवार को धरना देंगे। नवजोत सिंह सिद्धू जब पंजाब से दिल्‍ली बॉर्डर पर पहुंचे तो उन्‍हें दिल्‍ली पुलिस ने रोक लिया। उनके साथ और कांग्रेस नेता थे। सिद्धू ने पुलिस से कहा कि वे लोग दस लाख लोगों के प्रतिनिधि हैं। यह प्रजातंत्र है, वे लोग (केंद्र सरकार) नहीं जानते हमें जितना दबाया जाएगा हम उतने जोर से पलटवार करेंगे।' इस बीच पंजाब के पटियाला में किसान राजपुरा थर्मल पावर प्‍लांट के पास रेल की पटरियों पर जमे हैं और केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा लागू तीन कृषि कानूनों को निष्प्रभावी करने के लिए पंजाब विधानसभा में पारित विधेयकों को मंजूरी दिलाने की मांग को लेकर बुधवार को राष्ट्रपति से मुलाकात का समय मांगा था। राज्य सरकार ने मंगलवार को बताया कि राष्ट्रपति भवन ने मुलाकात का समय देने से इनकार कर दिया है। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली में प्रदर्शन, केंद्र द्वारा मालगाड़ियों का परिचालन स्थगित किए जाने की वजह से राज्य में उत्पन्न हालात को रेखांकित करेगा। पंजाब के विपक्षी दलों ने अमरिंदर सिंह के दिल्ली में धरने का नेतृत्व करने के कदम को ‘ड्रामा’ करार दिया है। इसलिए रोकी गईं ट्रेन रेलवे ने पंजाब में ट्रेनों का परिचालन यह कहकर रोक दिया है कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान अब भी कुछ पटरियों पर जमे हैं। हालांकि, राज्य सरकार का कहना है कि पटरियों पर से अवरोधक हटा लिए गए हैं और मालगाड़ियों को परिचालन की अनुमति दी जा रही है। चार-चार विधायक देंगे धरना पंजाब सरकार ने कहा कि कोयले की कमी की वजह से राज्य के ताप विद्युत संयंत्र बंद हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में चूंकि धारा 144 लागू है और लोगों के जमा पर होने पर रोक है, इसलिए विधायक चार-चार के समूह में पंजाब भवन से महात्मा गांधी की समाधि राजघाट जाकर क्रमिक धरना देंगे। सिंह ने कहा कि पहला समूह सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर राजघाट पहुंचेगा। उन्होंने राज्य के कांग्रेस विधायकों के अलावा पंजाब के अन्य पार्टियों के विधायकों से भी धरना में शामिल होने का आह्वान किया।

Top News