taaja khabar...चीनी जासूसी कांड: प्रधानमंत्री कार्यालय और अहम मंत्रालयों में हो रही थी सेंधमारी, पूछताछ में हुआ अहम खुलासा ...जम्मू-कश्मीर में अब होगा जिला पंचायत चुनाव, मोदी कैबिनेट ने लगाई मुहर...फ्रांसीसी टीचर के कटे सिर की तस्‍वीर शेयर कर भारतीय ISIS समर्थकों ने दी धमकी, 'तलवारें नहीं रुकेंगी' ....बरेली में 'लव जिहाद' पर बवाल, हिंदू संगठन के वर्कर्स पर पुलिस का लाठीचार्ज, चौकी इंचार्ज सस्पेंड ...कराची: जोरदार धमाके से बर्बाद हो गई पूरी बिल्डिंग, 5 की मौत, 20 घायल...एनसीपी में शामिल होंगे बीजेपी नेता एकनाथ खडसे, बोले- पार्टी में नहीं मिला न्याय...दशहरे पर चीन बॉर्डर पर शस्त्र पूजा करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह....राजदूत के जख्मी होने पर भड़का ताइवान, कहा- चीन के 'गुंडे अधिकारियों' से डरेंगे नहीं...मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, 30 लाख सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा दिवाली बोनस ...पाक में पुलिस और फौज में ठनी:आर्मी पर IG को अगवा करने और नवाज के दामाद के खिलाफ जबर्दस्ती FIR लिखवाने का आरोप...

UP के बाहुबली MLA विजय मिश्रा पर कसा शिकंजा, पत्नी-बेटा नहीं हुए हाजिर तो संपत्ति होगी कुर्क

भदोही, 16 सितंबर 2020, उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में ज्ञानपुर विधानसभा सीट से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. इन दिनों चित्रकूट जेल में बंद विधायक विजय मिश्रा की पत्नी और बेटा फरार चल रहे हैं. इस मामले में पुलिस ने कोर्ट से धारा 82 के तहत कार्रवाई की अपील की थी, जिसमें मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने फरमान जारी करते हुए कहा कि अगर एक महीने में विधायक की पत्नी और बेटा हाजिर नहीं हुए तो उनकी संपत्ति कुर्क की जाएगी. बाहुबली विधायक विजय मिश्रा, उनकी पत्नी रामलली मिश्रा और बेटे विष्णु मिश्रा के खिलाफ उनके रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने गोपीगंज कोतवाली में मकान और कंपनी पर कब्जा करने समेत कंपनी के चेक पर जबरन सिग्नेचर कराने समेत कई आरोपों में मुकदमा दर्ज कराया था. इसी केस में विधायक विजय मिश्रा इस समय चित्रकूट जेल में बंद हैं. वहीं विधायक की पत्नी जो मिर्जापुर-सोनभद्र से एमएलसी हैं और उनका बेटा विष्णु मिश्रा फरार चल रहे हैं. पुलिस उनकी गिरफ्तारी के तमाम प्रयास कर रही है, लेकिन अभी तक दोनों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. जिसको लेकर कोर्ट ने दोनों के खिलाफ धारा 82 के तहत कार्रवाई करते हुए दोनों को हाजिर होने के लिए 1 महीने की मोहलत दी है. गौरतलब है कि दोनों के हाजिर ना होने पर कुर्की की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. भदोही के पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने कहा कि अगर विधायक की पत्नी और बेटा हाजिर नहीं हुए तो उनकी संपत्ति कुर्क की जाएगी. जब से मुकदमा पंजीकृत हुआ है, तब से पुलिस उनकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है. लेकिन अभी तक वो गिरफ्त में नहीं आए हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

Top News