taaja khabar....संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- नागपुर से नहीं चलती सरकार, कभी नहीं जाता फोन...जॉब रैकिट का पर्दाफाश, कृषि भवन में कराते थे फर्जी इंटरव्यू...हिज्बुल का कश्मीरियों को फरमान, सरकारी नौकरी छोड़ो या मरो...एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी बीएसपी को चाहिए ज्यादा सीटें...अगस्ता डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का दुबई से जल्द हो सकता है प्रत्यर्पण....PM मोदी की पढ़ाई पर सवाल उठाकर फंसीं कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड स्पंदना, हुईं ट्रोल...
मिशन 2019: सोनिया की डिनर डिप्लोमेसी, मांझी भी होंगे खेवनहार?
पटना 2019 लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए से बगावत कर अलग हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी अब विपक्षी खेमे में अपनी स्थिति मजबूत करने में जुटे हैं। बीजेपी से मुकाबले के लिए एकजुट हो रहे विपक्ष में अब मांझी भी अपनी भूमिका निभाने को तैयार हैं। इसी तैयारी के तहत मांझी यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी की तरफ से 13 मार्च को विपक्षी पार्टियों के लिए आयोजित डिनर में शामिल होने जा रहे हैं। बता दें कि 2019 लोकसभा चुनावों की ओर बढ़ रहे देश में बदलते समीकरणों के बीच तमाम दल अपने-अपने तरीके से अपना घर मजबूत करने की कोशिश में जुटे हैं। इसी दिशा में कांग्रेस ने एक बार फिर विपक्षी दलों को एक साथ लाने के लिए डिनर डिप्लोमेसी की योजना बनाई है। कांग्रेस की सीनियर नेता और यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने 3 मार्च को एक डिनर का आयोजन किया है, जिसमें उन्होंने विपक्ष के तमाम दलों को न्योता भेजा है। गैर बीजेपी-गैर कांग्रेस फ्रंट का संकेत जहां एक तरफ एनडीए के साथ गठबंधन में शामिल पार्टियों के तीखे तेवर सामने आ रहे हैं। अभी हाल ही में टीडीपी के मंत्री सरकार से बाहर हुए हैं। हालांकि अभी पार्टी एनडीए में है लेकिन कबतक यह सवाल अब भी मौजूं है। वहीं दूसरी ओर बीजेपी और कांग्रेस से इतर तमाम दल आपस में मिलकर तीसरे मोर्चे की संभावनाओं को भी खंगाल रहे हैं। कुछ दिन पहले ही तेलंगाना के सीएम वीएस चंद्रशेखर ने ऐसे ही एक थर्ड फ्रंड की तरफ संकेत भी किया है। इसे उन्होंने गैर बीजेपी-गैर कांग्रेस फ्रंट बताया है। यही नहीं वह इसकी अगुवाई के लिए तैयार हैं और उन्हें तृणमुल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी ने समर्थन भी किया है। बीजेपी को घेरने की तैयारी ऐसे में पीएम मोदी और बीजेपी को घेरने के लिए कांग्रेस ने विपक्षी दलों को नए सिरे से साधने की कोशिश शुरू की है। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, पार्टी एनडीए के घटक दलों से भी संपर्क कर रही है और उन दलों से संपर्क में है, जो एनडीए व यूपीए का हिस्सा नहीं हैं।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/