taaja khabar....अमेरिका ने भारत को हथियार क्षमता वाले गार्जियन ड्रोन देने की पेशकश की: सूत्र....अविश्वास प्रस्ताव: मोदी सरकार को मिलेगा विपक्ष पर निशाना साधने का मौका....संसद भवन पर हमले के लिए निकले हैं खालिस्तानी आतंकी: खुफिया इनपुट....धरती के इतिहास में वैज्ञानिकों ने खोजा 'मेघालय युग'....कठुआ केस में नया मोड़, पीड़िता के 'असल पिता' कोर्ट में होंगे पेश...निकाह हलाला: बरेली में ससुर पर रेप का केस, अप्राकृतिक सेक्‍स के लिए पति पर भी मुकदमा...मॉनसून सत्र: अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन नहीं करेगी शिवसेना?....देश के हर गांव को जाएगा कुंभ का न्योता, योगी पत्र लिख मुख्यमंत्रियों को बुलाएंगे....क्या अविश्वास प्रस्ताव के मुद्दे पर मोदी सरकार के दांव में फंस गया विपक्ष?...लखनऊ में बड़े कारोबारी के यहां छापे, 89 किलो सोना-चांदी बरामद, 8 करोड़ कैश भी...
यूपी: 2019 लोकसभा चुनाव में नहीं दिखेगा राहुल-अखिलेश का 'दोस्ताना'?
लखनऊ यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (एसपी) और कांग्रेस गठबंधन को सफलता नहीं मिली थी। इसके बाद से दोनों पार्टियों की राह यूपी में अबतक जुदा रही है। निकाय चुनाव में दोनों पार्टियां अलग-अलग मैदान में उतरीं। और अब ऐसा लग रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भी यूपी में कांग्रेस और एसपी अलग-अलग ताल ठोकने की तैयारी में हैं। दरअसल, सभी राजनीतिक पार्टियां 2019 की तैयारी में जुट गई हैं। निकाय चुनाव में बेहतर प्रदर्शन से उत्साहित बीएसपी ने इन दिनों पश्चिमी यूपी में पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं सत्तारूढ़ बीजेपी भी लोकसभा में बेहतर प्रदर्शन के लिए कमर कस चुकी है। इधर, एसपी ने भी 2019 की तैयारी के संकेत दे दिए हैं। हालांकि इस दौरान कांग्रेस के साथ गठबंधन के मुद्दे पर एसपी ने अपने पत्ते नहीं खोले। एसपी प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा, '2019 का चुनाव अभी दूर है। 2019 लोकसभा चुनाव में किसी के साथ गठबंधन होगा या नहीं, अभी इस पर निर्णय नहीं लिया गया है। लेकिन हम सभी सीटों पर तैयारी कर रहे हैं।' ऐसे में यह कयास लगाए जाने लगे हैं कि 2019 लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस और एसपी की राहें अलग-अलग रह सकती हैं। उधर, इस बात के संकेत भी मिलने शुरू हो गए हैं कि एसपी और कांग्रेस के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। दरअसल, पिछले दिनों ईवीएम के महत्वपूर्ण मुद्दे पर एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में बीएसपी और कांग्रेस को शामिल होना था। पर, दोनों ही पार्टियां इस बैठक में शामिल नहीं हुईं। इस बैठक से कांग्रेस की दूरी बनाने को लेकर भी सियासी गलियारों में खूब चर्चा रही। बता दें कि एसपी संरक्षक मुलायम सिंह यादव शुरू से ही कांग्रेस और एसपी के गठबंधन के खिलाफ रहे हैं। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले भी उन्होंने इस गठबंधन पर सवाल उठाए थे। हार के बाद मुलायम सिंह ने आरोप भी लगाया था कि कांग्रेस के साथ गठबंधन के कारण ही यूपी में एसपी की हार हुई है।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/