taaja khabar...पीएम मोदी और ट्रंप के बीच CAA पर कोई चर्चा नहीं, कश्मीर का जिक्र ...कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर लगाया दंगाइयों को बचाने का आरोप, कहा- 'मुझे मारने की धमकियां दी जा रही हैं'...दिल्ली में सीएए को लेकर बढ़ा बवाल, केजरीवाल बोले- हिंसा से किसी का फायदा नहीं...दिल्ली हिंसा की नेताओं ने की निंदा, कांग्रेस ने मांगा गृह मंत्री शाह का इस्तीफा...दिल्ली हिंसा में पुलिस पर फायरिंग करने वाला शख्स हिरासत में...दिल्ली हिंसा में मरने वालों की संख्या हुई 9, चैनल के पत्रकार को भी लगी गोली ...छत्तीसिंहपुरा हिंसा: क्लिंटन के भारत दौरे पर कश्मीर में हुई थी 35 सिखों की हत्या ...नीतीश राज में NRC नहीं, बिहार विधानसभा में प्रस्ताव पास, NPR में भी बदलाव ....इलाहाबाद HC का बड़ा आदेश- बंद कमरे की घटना पर SC/ST एक्ट लागू नहीं ...CAA: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री बोले- ट्रंप के दौरे के वक्त हिंसा एक साजिश ...

हॉन्ग कॉन्ग: ट्रेन में घुसकर प्रदर्शनकारियों की पिटाई, हिंसा के बल पर आंदोलन को कुचल रहा चीन

हॉन्ग कॉन्ग चीन ने अपने शासन वाले स्वायत्त हॉन्ग कॉन्ग शहर में विरोध प्रदर्शनों को कुचलने के लिए भीषण हिंसा शुरू कर दी है। बीते कई महीनों से जारी प्रदर्शनों के खिलाफ बल प्रयोग करते हुए पुलिस ने रेलवे स्टेशनों के भीतर घुसकर आंदोलनकारियों की पिटाई की है। आंदोलनकारियों के साथ इस हिंसा का विडियो सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म टेलिग्राम पर भी शेयर हो रहा है। इस विडियो में हॉन्ग कॉन्ग पुलिस प्रदर्शनकारियों को खदेड़कर लाठी-डंडों से पीटती दिख रही है। इससे पहले सरकार विरोधी प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिस थानों में पेट्रोल बम फेंके, जिसके बाद पुलिस ने लोगों पर पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले छोड़े। यही नहीं रेलवे स्टेशन में ट्रेन के अंदर घुसकर प्रदर्शनकारियों की जमकर पिटाई की। प्रशासन ने शहर में प्रदर्शनों पर रोक लगा दी है, लेकिन शनिवार को हजारों लोगों ने मुख्य मार्गों पर आंदोलन किए। हालांकि ये प्रदर्शन कुछ ही देर में हिंसक हो गए और पुलिस मेट्रो ट्रेन में घुसकर प्रदर्शनकारियों की पिटाई करती दिखी। गौरतलब है कि चीन ने हॉन्ग कॉन्ग के लोकतंत्र समर्थक 25 वर्षीय नेता जोशुआ वॉन्ग समेत तीन नेताओं को पहले ही अरेस्ट कर रखा है। जोशुआ वॉन्ग को हॉन्ग कॉन्ग में लोकतंत्र समर्थक चेहरा माना जाता है। गौरतलब है कि करीब दो महीने पहले हॉन्ग कॉन्ग के अपराधियों को चीन प्रत्यर्पित किए जाने का बिल पेश करने के बाद से ही आंदोलन जारी हैं। आंदोलनकारियों का कहना था कि यह कानून शहर की स्वायत्ता को कम करने का प्रयास है।

Top News