पानी के लिए लाइन में खड़ी थीं महिलाएं, मारपीट में एक की मौत

नई दिल्ली, 16 जुलाई 2019, ग्लोबल वार्मिंग का हवाला देकर अक्सर यही कहा जाता है कि भविष्य में पीने के पानी के लिए इंसानों के बीच लड़ाई होगी. लेकिन ये भविष्य आज ही के समय में सच होता दिखाई दे रहा है. आंध्र प्रदेश में सोमवार को एक ऐसा ही मामला सामने आया जहां पीने के पानी के लिए दो महिलाओं में लड़ाई हुई. मामला इतना बढ़ गया कि एक महिला की जान ही चली गई. इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और अब जांच भी चल रही है. आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में सोमवार को सार्वजनिक नल पर जब महिलाएं पानी भर रही थीं, तो लाइन टूटने के चक्कर में महिलाओं के दो समूह में झगड़ा हो गया. इस दौरान 38 साल की तातीपुडी पद्मा पर कुछ महिलाओं ने हमला बोला और उनकी मौत हो गई. चश्मदीदों के मुताबिक, महिलाओं के गुट ने तातीपुडी पद्मा पर स्टील के बर्तन से हमला किया था जिसकी वजह से उसकी मौत हुई है स्थानीय पुलिस ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से कहा कि दिक्कत तब शुरू हुई, जब नल पर कुछ महिलाओं ने लाइन को तोड़ दिया. पद्मा अपनी बारी का इंतजार कर रही थी, उसने इसे लेकर आपत्ति जताई. बस यही झगड़े की वजह बना. इसे लेकर कहा-सुनी हुई, जिसके बाद कुछ महिलाओं ने उस पर हमला कर दिया. पद्मा को सिर में चोट आई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. न्यूज एजेंसी IANS के अनुसार, अब तक इस मामले में पुलिस ने एक महिला को हिरासत में लिया है, जिसकी पहचान सुंदरम्मा के रूप में हुई है. गौरतलब है कि आंध्र प्रदेश के विभिन्न भाग मानसून की देरी की वजह से पेयजल की कमी का सामना कर रहे हैं. राज्य में मानसून की देरी की वजह से प्रमुख जलाशयों में जल स्तर गिर गया है गौरतलब है कि इस समय देश के कई हिस्सों में बाढ़ की स्थिति बन रही है तो वहीं कुछ जिले ऐसे हैं जो पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं. फिर चाहे वो आंध्र प्रदेश हो या फिर चेन्नई, हर जगह पीने के पानी का संकट है जो आम लोगों के लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है.

Top News