नशे का सौदागर निकला पुलिस कांस्टेबल, इंटरनेशनल एयरपोर्ट से गिरफ्तार

नवांशहर, पंजाब के नवांशहर में तैनात पुलिस का एक हेड कांस्टेबल एक ड्रग्स तस्कर निकला. उसकी करतूत सामने आने के बाद पंजाब पुलिस ने उसे दिल्ली एयरपोर्ट से उस वक्त गिरफ्तार कर लिया, जब वह कनाडा से स्वदेश लौटा. पुलिस के सामने उसके काले कारनामों का बखान पहले पकड़े जा चुके दो तस्करों ने किया. आरोपी कांस्टेबल के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया गया था. पंजाब पुलिस विभाग में उस वक्त हड़कंप मच गया. जब उनके विभाग के कर्मचारी यानी नवांशहर में तैनात पुलिस हेड कांस्टेबल प्रीतपाल सिंह का नाम दो ड्रग्स स्मगलरों ने पुलिस को बताया. मामला अंदरूनी था, लिहाजा पुलिस ने प्रीतपाल के खिलाफ एक गुप्त जांच पड़ताल शुरू कर दी. छानबीन के दौरान चौंकाने वाले तथ्य सामने आए. दरअसल, पुलिस ने कुछ दिन पहले दो ड्रग्स तस्करों को पकड़ा था. जब उन दोनों से सख्ती के साथ पूछताछ की गई तो होशियारपुर निवासी हेड कांस्टेबल प्रीतपाल सिंह के नाम का खुलासा हुआ. वो दिल्ली में रहने वाले एक अफ्रीकन नागरिक के साथ मिलकर नशे का कारोबार कर रहा था. वो उसी अफ्रीकन से हेरोइन मंगवाकर उसे आगे बेच देता था. उसने अपना एक पूरा रैकेट तैयार कर लिया था. जिसमें अफ्रीकन नागरिक के अलावा एक महिला और एक युवक भी शामिल था. उनकी पहचान सन्नी और परमजीत कौर के तौर पर हुई. उन दोनों को पुलिस ने बीती 2 जुलाई को करीब 4 दर्जन नशे के इंजेक्शन और 20 ग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया था. जब उनसे पूछताछ की गई तो सारा खुलासा हो गया. इस संबंध में पंजाब पुलिस के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी कांस्टेबल प्रीतपाल सिंह बहुत शान की जिंदगी जी रहा था. उसने अपने परिवार को भी घूमने के लिए कनाडा भेजा था. वह साल 2002 से नशा कर रहा था. अफ्रीकन नागरिक के संपर्क में आने के बाद नशीले पदार्थ बेचने भी लगा. पुलिस के मुताबिक प्रीतपाल सिंह के रैकेट में शामिल सन्नी पर एक और परमजीत के खिलाफ 10 मामले अलग-अलग थानों में दर्ज हैं. पुलिस ने आरोपी हेड कांस्टेबल प्रीतपाल को कोर्ट से 3 दिन की रिमांड पर लिया है. अब पुलिस की एक टीम आरोपी और उसके साथियों से पूछताछ कर रही है. पुलिस को उम्मीद है कि पूछताछ में प्रीतपाल से अहम जानकारी मिल सकती है.

Top News