taaja khabar....पाकिस्तान को अमेरिका की चेतावनी- अब भारत पर हमला हुआ तो 'बहुत मुश्किल' हो जाएगी ...नहीं रहे 1971 युद्ध के हीरो, रखी थी बांग्लादेश नौसेना की बुनियाद......मध्य प्रदेश: सट्टा बाजार में फिर से 'मोदी सरकार...J&K: होली पर पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, एक जवान शहीद, सोपोर में पुलिस टीम पर आतंकी हमला...लोकसभा चुनाव: बीजेपी की पहली लिस्ट के 250 नाम फाइनल, आडवाणी, जोशी का कटेगा टिकट?....प्लास्टिक सर्जरी से वैनुआटु की नागरिकता तक, नीरव ने यूं की बचने की कोशिश...हिंद-प्रशांत क्षेत्र: चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने की काट, इंडोनेशिया में बंदरगाह बना रहा भारत...समझौता ब्लास्ट में सभी आरोपी बरी होने पर भड़का पाकिस्तान, भारत ने दिया जवाब ...राहुल गांधी बोले- हम नहीं पारित होने देंगे नागरिकता संशोधन विधेयक ...
एयरस्ट्राइक इफेक्ट? एनडीए का कुनबा होने लगा मजबूत
नई दिल्ली, 13 मार्च 2019, एयर स्ट्राइक के बाद सियासी समीकरण पूरी तरह से बदलते दिख रहे हैं. महागठबंधन में सहयोगी दल जहां कांग्रेस को आंखें दिखाने में जुटे हैं. जबकि बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के सहयोगी दल जो साथ छोड़कर अलग रास्ते पर चले गए थे, वे फिर से वापस आने के संकेत दे रहे हैं. इतना ही नहीं विपक्षी दलों के कई नेता अपने सियासी भविष्य को बचाने के लिए अपनी पार्टी को छोड़कर बीजेपी का दामन थामने में जुट गए हैं. ऐसे में एनडीए का कुनबा चुनावी रण में उतरने से पहले मजबूत होता नजर आ रहा है. असम गण परिषद फिर एनडीए का बना हिस्सा असम में नागरिकता संशोधन बिल के मुद्दे पर असम गण परिषद दो महीने पहले बीजेपी से नाता तोड़कर अलग हो गई थी. लेकिन लोकसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही असम गण परिषद की एक बार फिर एनडीए में वापसी हुई है. बीजेपी के महासचिव राम माधव ने कहा कि बीजेपी, असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपल्स फ्रंट (बीपीएफ) असम में कांग्रेस को हराने के लिए आगामी लोकसभा चुनाव में एकसाथ आने का फैसला किया है. हम एकसाथ सुनिश्चित करेंगे कि राज्य में सभी 14 सीटों पर कांग्रेस को हराएंगे. बता दें कि असम में इन दोनों पार्टियों की एनडीए में वापसी से बीजेपी के राजनीतिक समीकरण मजबूत होते नजर आ रही है. बीजेपी, असम गण परिषद और बीपीएफ 2016 असम विधानसभा चुनाव में एक साथ चुनाव लड़कर असम में सरकार बनाई थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में असम की 14 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को सात सीटें मिली थी. जबकि कांग्रेस को 3 और अन्य को 4 सीटें मिली थी. गुजरात से बंगाल तक MLA-MP बीजेपी में शामिल लोकसभा चुनाव के ऐलान के साथ ही विपक्षी दलों के नेताओं में भगदड़ देखी जा रही है. गुजरात में कांग्रेस के कई विधायक बीजेपी का दामन थाम चुके हैं. वहीं, मंगलवार को पश्चिम बंगाल टीएमसी के कई नेताओं ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की. टीएमसी के एक सांसद और सीपीआई (एम) और कांग्रेस के एक-एक विधायक बीजेपी में शामिल हो गए हैं. बीजेपी का दामन थामने वालों में टीएमसी सांसद अनुपम हाजरा, सीपीआई (एम) विधायक खगेन मुर्मु और कांग्रेस विधायक दुलाल चंद्र बार शामिल हैं. महाराष्ट्र में कांग्रेस को झटका लोकसभा चुनाव से ऐन पहले महाराष्ट्र में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे सुजय विखे पाटिल ने बीजेपी का दामन थाम लिया है. दिलचस्प बात ये है कि राधाकृष्ण विखे पाटिल महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता भी हैं. सुजय विखे पाटिल अहमदनगर लोकसभा सीट से सियासी रण में उतरने की प्लानिंग में थे, लेकिन एनसीपी ने इस सीट को छोड़ने से इनकार कर दिया है. ऐसे में सुजय विखे पाटिल ने कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए. सपा-बसपा-RLD नेता बीजेपी में शामिल उत्तर प्रदेश में भी सियासी पारा काफी गर्म है. सपा-बसपा और आरएलडी के कई नेताओं ने अपनी-अपनी पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थाम रहे हैं. पूर्व मंत्री वंश नारायण पटेल, नगीना के पूर्व सांसद यशबीर सिंह , पूर्व विधायक गोटियारीलाल दबेश, सहारनपुर के मुकेश चौधरी, कैप्टन सिकंदर रिजवी, पूर्व प्रत्याशी उमेश सैंटिया और उम्मेद प्रताप सिंह को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय ने मंगलवार को पार्टी की सदस्यता दिलाई.

Top News

http://www.hitwebcounter.com/