taaja khabar..चेहरे ढके थे, पर चाल बता रही थी रियाज-गौस का पूरा हाल, कोर्ट में उठाकर ले गए पुलिसवाले..कन्हैयालाल के हत्यारों को मिल नहीं रहे वकील, दो और साथी हुए गिरफ्तार..कन्हैया लाल केस को लेकर सरकार का एक्शन, उदयपुर SP और IG पर गिरी गाज, राजस्थान में 32 IPS का ट्रांसफर..अमरावती में उदयपुर जैसी घटना? 54 साल के केमिस्ट की गला काटकर हत्या, NIA टीम कर रही जांच..20 करोड़ लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य, हर घर तिरंगा अभियान चलाएगी बीजेपी..हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की पत्नी को जान से मारने की धमकी, लखनऊ पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा..दिल्ली की अदालत ने जुबैर की जमानत याचिका खारिज की, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा..नुपुर शर्मा को 18 जून को नोटिस जारी किया गया था, हुई थी पूछताछ: दिल्ली पुलिस..

पंजाब में आप MLA विवादों में:​​​​​​​सनौर विधायक पर चुनाव में केस की जानकारी छुपाने का आरोप; हाईकोर्ट ने की जवाबतलबी

चंडीगढ़ पंजाब में सनौर विधानसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक हरमीत सिंह पठानमाजरा विवादों में घिर गए हैं। उन पर चुनाव के दौरान आपराधिक केस की जानकारी छुपाने का आरोप है। इस संबंध में उनसे चुनाव हारे अकाली नेता हरिंदरपाल सिंह चंदूमाजरा ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी। जिसके बाद हाईकोर्ट ने विधायक हरमीत सिंह से 15 जुलाई तक इसका जवाब तलब कर लिया है। इससे पहले चुनाव के वक्त हरमीत सिंह पर केस की जानकारी छुपाने के आरोप में FIR दर्ज हो चुकी है। सनौर के जुलका पुलिस थाने में रिटर्निंग अफसर जसलीन कौर भुल्लर की शिकायत पर यह केस दर्ज हुआ था। जिस केस में भगोड़े, वह छुपाया अकाली नेता हरिंदरपाल सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि हरमीत सिंह ने चुनाव लड़ते वक्त एफिडेविट में सभी केसों की जानकारी नहीं दी। इनमें एक केस ऐसा है, जिसमें उन्हें भगोड़ा करार दिया गया है। इसकी जानकारी उन्होंने अपने एफिडेविट में नहीं दी। उन्होंने चुनाव आयोग के नियमों का उल्लंघन किया है। इसलिए उनका निर्वाचन रद्द किया जाए। आरोप सही साबित हुए तो रद्द होगा निर्वाचन चुनाव आयोग के नियमों के मुताबिक चुनाव लड़ने वाले को अपने ऊपर दर्ज केसों और उनकी मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी देना अनिवार्य है। जनप्रतिनिधि अधिनियम के तहत इसे अनिवार्य किया गया है। अगर हाईकोर्ट में चंदूमाजरा का आरोप सही साबित हो जाता है तो नियम के मुताबिक हरमीत सिंह का निर्वाचन रद्द हो सकता है। जानकारी छुपाने पर विधायक अपने पद पर बने रहने में अयोग्य हो जाता है।

Top News