taaja khabar..जबलपुर के न्यू लाइफ हॉस्पिटल में भीषण आग, 4 लोगों की मौत, कई झुलसे..कानपुर के प्राइवेट स्कूल में बच्चों को रटवाया कलमा, घर में पढ़ने लगे तो खुली पोल, पैरेंट्स ने किया विरोध..4 अगस्‍त तक ED की कस्‍टडी में रहेंगे संजय राउत, PMLA कोर्ट से नहीं मिली राहत..आमिर खान के बदले सुर, कहा- मुझे देश से प्यार है, लाल सिंह चड्ढा का बॉयकॉट न करें प्लीज..संहार हथियारों के वित्त पोषण को रोकने के प्रावधान वाले विधेयक को संसद की मंजूरी..राज्यसभा में गतिरोध कायम, हंगामे के बीच दो विधेयक पारित..आईपीएस अधिकारी संजय अरोड़ा ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त के तौर पर कार्यभार संभाला..सिसोदिया व जैन को बर्खास्त करने की मांग को लेकर केजरीवाल के घर के बाहर धरने पर बैठे भाजपा नेता..

रेलवे ने बीते पांच साल में 800 से ज्यादा नई ट्रेनें शुरू कीं

नई दिल्ली, वर्ष 2016 में रेल बजट को आम बजट के साथ संयुक्त किए जाने और भारतीय रेलवे द्वारा एक बार में नई ट्रेनों की घोषणा की परंपरा को खत्म करने बाद से अभी तक रेलवे ने 800 से ज्यादा नई रेलगाड़ियां चलाई हैं। सूचना के अधिकार (आरटीआइ) के तहत मिले एक जवाब में यह जानकारी सामने आई है। मध्य प्रदेश निवासी चंद्र शेखर गौड़ के आरटीआइ आवेदन पर रेलवे बोर्ड की ओर से दिए गए जवाब में बताया गया है कि वर्ष 2020-21 में कोविड-19 महामारी के चलते कोई नई रेलगाड़ी नहीं चलाई गई। महामारी के कारण सामान्य सेवाओं को भी स्थगित करना पड़ा था। लेकिन रेलवे ने वर्ष 2019-20 में 144, वर्ष 2018-19 में 266, वर्ष 2017-18 में 170 और वर्ष 2016-17 में 223 नई रेलगाड़ियों का परिचालन शुरू किया। पारंपरिक रूप से नई रेलगाड़ियों की घोषणा को लेकर रेल बजट का इंतजार किया जाता था। खासतौर पर केंद्र में शासित पार्टी की जिन राज्यों में सरकार होती थी वहां रेल बजट का इंतजार रहता था। रेलवे अधिकारी ने बताया कि अकसर राजनीतिक कारणों से नई रेलगाडि़यों की घोषणा की जाती थी। अब चीजों को तार्किक किया है और नई रेलगाड़ियों की तब घोषणा की जाती है जब उनकी जरूरत होती है।

Top News