taaja khabar....पीएम मोदी ने जस्टिन ट्रूडो से किया कोरोना वैक्‍सीन देने का वादा, कनाडा में बंद हुई आलोचना...बच्‍ची के लिए पीएम मोदी ने माफ कर दिया 6 करोड़ का टैक्‍स...रक्षा मंत्री का बड़ा बयान- खत्म हुआ भारत-चीन सीमा विवाद तनाव, लद्दाख में पैंगोंग झील से पीछे हटेंगे चीनी सैनिक...सेना वापसी समझौते में भारत ने कुछ नहीं खोया, पैंगोंग झील में पीछे हट रहा चीन...मुंबई एयरपोर्ट पर 20 मिनट तक बैठे रहे गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी, उद्धव सरकार ने नहीं दिया प्लेन...हमारे जवानों का अपमान कर रही है सरकार, राजनाथ के बयान पर राहुल गांधी का पलटवार...कश्मीरियों के आत्मनिर्णय में नहीं पाकिस्तान की रुचि, अमेरिकी विशेषज्ञ की राय....ट्विटर की आनाकानी पर सख्त कार्रवाई की तैयारी, सरकार ने किया साफ, करना ही होगा कानून का पालन...

पंजाब सीएम की अपील नहीं आई काम, रात भर में 150 से ज्यादा टेलीकॉम टावरों को पहुंचाया गया नुकसान

चंडीगढ़ ऐसा लगता है कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह की किसानों से मोबाइल टावर जैसी दूरसंचार क्षेत्र की ढांचागत सुविधाओं को नुकसान नहीं पहुंचाने की अपील का कोई असर नहीं पड़ा है। उनके आग्रह के बावजूद एक रात में ही 150 से अधिक दूरसंचार टावरों को नुकसान पहुंचाया गया। दूरसंचार टावरों को नुकसान पहुंचाने के पीछे यह कहानी कही जा रही है कि नए कृषि कानूनों से मुकेश अंबानी और गौतम अडाणी जैसे उद्योगपतियों को लाभ होगा। इस आधार पर पंजाब में विभिन्न स्थानों पर रिलायंस जियो के टावरों को नुकसान पहुंचाया गया है, जिससे दूरसंचार संपर्क व्यवस्था पर असर पड़ा। हालांकि, यह अलग बात है कि अंबानी और अडाणी से जुड़ी कंपनियां किसानों से अनाज नहीं खरीदती हैं। मामले से जुड़े दो सूत्रों ने कहा कि शनिवार से अब तक 151 दूरसंचार टावरों को नुकसान पहुंचा है। इससे अब तक कुल 1,338 दूरसंचार टावरों को नुकसान पहुंचाया जा चुका है। ज्यादातर जियो के टावरों को पहुंचाया गया नुकसान एक सूत्र ने बताया कि पंजाब के विभिन्न स्थानों से दूरसंचार टावरों को नुकसान पहुंचाए जाने की सूचना है। जिन दूरसंचार टावरों को नुकसान पहुंचाया गया है, उनमें से ज्यादातर जियो और दूरसंचार उद्योग के साझा बुनियादी ढांचा सुविधाओं से जुड़े हैं। सूत्रों ने कहा कि हमलों का असर दूरसंचार सेवाओं पर पड़ा है और परिचालकों को पुलिस की तरफ से कार्रवाई नहीं होने के कारण सेवाओं को बहाल करने में समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। सीएम अमरिंदर सिंह ने की थी अपील पंजाब के मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को प्रदर्शनकारी किसानों से इस प्रकार के कार्यों से आम लोगों को असुविधा नहीं पहुंचाने की अपील की। उन्होंने किसानों से कहा कि जिस संयम के साथ वे आंदोलन करते आए हैं, उसे बरकरार रखें। मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपने बयान में कहा था, 'मुख्यमंत्री ने कोविड महामारी के बीच दूरसंचार संपर्क व्यवस्था को महत्वपूर्ण बताया और किसानों से आंदोलन के दौरान उसी तरह का अनुशासन और जिम्मेदारी दिखाने को कहा जिसे वह दिल्ली सीमा पर और पूर्व के विरोध-प्रदर्शन में दिखाते आए हैं।' किसान आंदोलन को एक महीना बता दें कि किसानों के कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन को एक महीना पूरा हो गया है। मुख्यमंत्री की यह अपील टावर ऐंड इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर्स असोसिएशन (टीएआईपीए) के आग्रह पर आई है। दूरसंचार बुनियादी ढांचा प्रदाताओं के इस पंजीकृत संघ ने राज्य सरकार से किसानों को अपनी न्याय की लड़ाई में किसी भी गैरकानूनी गतिविधि का सहारा नहीं लेने को लेकर अनुरोध करने का आग्रह किया था।

Top News