taaja khabar...नंदीग्राम में विपक्ष पर हमलावर ममता, बोलीं- 'BJP काले को सफेद करने वाला वॉशिंग पाउडर'...संयुक्त किसान मोर्चा ने गुरनाम सिंह चढ़ूनी को किया सस्पेंड...किसान संगठनों में आरोप-प्रत्यारोप, गुरनाम सिंह ने शिव कुमार कक्का को कहा RSS एजेंट...किसानों के ट्रैक्टर मार्च पर सुनवाई टली, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- दिल्ली में कौन आएगा, पुलिस तय करे... 'BJP' का मिशन 'RJD' शुरू, बिहार में शाहनवाज हुसैन के 'तीर' से बंगाल के 'TMC' पर भी निशाना ...

दिल्ली दंगों पर पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कहा, आरोपियों ने मानवता के खिलाफ अपराध किया

नई दिल्ली दिल्ली दंगों के मामले में यहां एक अदालत में दायर अपनी सप्लीमेंट्री चार्जशीट में पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने हाल के दंगों में 'मानवता के खिलाफ अपराध' किया जिसे 'बेहद बर्बर', 'विकृत' और 'नृशंस' तरीके से अंजाम दिया गया। इस आरोपपत्र में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद और जेएनयू छात्र शरजील इमाम का भी आरोपियों के तौर पर नाम है। इसमें कहा गया है कि इस 'गैरकानूनी' कृत्य को अंजाम देने के लिए आरोपियों के बीच 'गुपचुप सहमति' थी। सप्लीमेंट्री चार्जशीट में कहा गया है कि 'सुनियोजित अभियान' के तहत उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय के दिमाग में डर और असुरक्षा की भावना पैदा की। पुलिस ने रविवार को दायर आरोपपत्र में दावा किया, 'आरोपी व्यक्तियों की तरफ से बेहद बर्बर, विकृत और नृशंस तरीके से इस अपराध को अंजाम दिया गया। निर्दोष और असहाय लोगों को इस खतरनाक और खौफनाक अपराध में निशाना बनाया गया। लोगों की जानें गईं।' दिल्ली पुलिस ने आरोपपत्र में दावा किया, 'आरोपियों ने मानवीय मूल्यों के प्रति पूर्ण अनादर दिखाया और उनके भ्रष्ट, क्रूर और साजिशपूर्ण दिमाग से यह साजिश उपजी। आरोपियों ने मानवता के खिलाफ अपराध को अंजाम दिया।' इसमें आगे कहा गया कि आपराधिक साजिश जारी रही और इसे पुलिस के खुलासे और आरोपियों की गिरफ्तारी से झटका लगा लेकिन यह न तो बंद हुई और न ही इसे छोड़ा गया। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 24 फरवरी को संशोधिन नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प के बाद सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी जिसमें कम से कम 53 लोगों की जान चली गई थी और 200 अन्य घायल हुए थे।

Top News