taaja khabar.....30 करोड़ को कोरोना वैक्सीन देने के लिए चुनाव जैसी महातैयारी, पोलिंग बूथ जैसे बनेंगे 'वैक्सीन बूथ' ....लक्ष्मी विलास बैंक के DBIL में विलय को कैबिनेट की मंजूरी, NIIF को 6 हजार करोड़ ​पूंजी ...स्मृति ईरानी बोलीं- घुसपैठियों की मदद कर रहे ओवैसी और केसीआर..पंजाब के सभी शहरों में फिर से नाइट कर्फ्यू, मास्क न पहनने पर लगेगा 1000 का जुर्माना...बंगालः दिलीप घोष की रैली में आ रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला, TMC पर धमकाने का आरोप...'लव जिहाद' पर कानून किसी धर्म के खिलाफ नहीं, किसी धर्म के पक्ष में नहीं : वीएचपी ....वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने पहले हुए थे कोरोना पॉजिटिव.....विजय कुमार सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर, हंगामे के बीच हुई वोटिंग में महागठबंधन के अवध बिहारी को हराया ,....‘बोल दो कोरोना हो गया’, सुशील मोदी का दावा- लालू ने किया BJP MLA को फोन, ऑडियो जारी...गांगुली होंगे BJP का चेहरा? टीएमसी सांसद बोले- उन्हें नहीं पता गरीबों की दिक्कत, टिक नहीं पाएंगे...यूपी के बाद हरियाणा सरकार भी बनाएगी लव जिहाद पर कानून, अनिल विज बोले- योगी जिंदाबाद...अमेरिका के नए विदेश मंत्री ऐंटनी ब्लिंकेन पाकिस्तान के लिए बुरी खबर? ...नीतीश कुमार और अशोक चौधरी का सदन में रहना गलत नहीं, कानून विशेषज्ञ....

अंडकोष में दर्द और सूजन भी है कोरोना का नया लक्षण, तुर्की में सामने आया केस

कोरोना वायरस का एक और नया लक्षण सामने आया है. यह नया लक्षण सिर्फ पुरुषों में संभव है. तुर्की के एक शख्स के अंडकोषों (Testicles) में पिछले कई दिनों से लगातार दर्द हो रहा था. पहले उसे लगा कि सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STI) हो सकता है. जब वह जांच कराने पहुंचा तो वह कोरोना पॉजिटिव निकला, जबकि उसके शरीर में कोरोना का और कोई लक्षण नहीं था. डेली मेल में प्रकाशित खबर के अनुसार तुर्की का यह 49 वर्षीय शख्स पिछले कई दिनों से अंडकोषों में दर्द से परेशान था. उसके बाएं Testicle में सूजन भी थी. उसे पहली बार दर्द शुरू हुआ गर्मियों में. बीच-बीच में दर्द कम हो जाता फिर बढ़ जाता. हाल ही में उसका दर्द और सूजन बढ़ी तो वह डॉक्टर के पास पहुंचा. डॉक्टरों ने सबसे पहले उसकी कोविड जांच की, जिसमें पता चला कि वह कोरोना पॉजिटिव है. हालांकि, उसके शरीर में कोरोना संक्रमण के कोई और लक्षण एकदम नहीं थे. न ही उसके शरीर में सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STI) के कोई लक्षण दिखाई दिए. इसके बाद डॉक्टर हैरान हो गए क्योंकि यह कोरोना संक्रमण का बिल्कुल नया लक्षण था. इस अजीबो-गरीब मामले के बारे में डॉक्टरों ने मेडिकल जर्नल यूरोलॉजी केस रिपोर्ट में रिपोर्ट भी किया. इसमें बताया गया है कि कोरोना वायरस के लक्षण हर व्यक्ति के अनुसार बदल रहे हैं. जरूरी नहीं सबको एक जैसे ही लक्षण दिखाई दें. अभी तक अंडकोषों के दर्द का कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से कोई प्रमाणिक सबूत नहीं मिला है. हालांकि, चीन में हुई एक छोटी स्टडी में इस बात का जिक्र किया गया था हर पांच में से एक कोविड मरीज के अंडकोष इस बीमारी से प्रभावित हो सकते हैं. वैज्ञानिक अब इस बात से परेशान हैं कि अगर कोरोना वायरस अंडकोषों के अंदर पहुंच गया है तो क्या वह वीर्य (Sperm) की संख्या या उसके उत्पादन के दर को कम कर सकते हैं या नहीं. अभी तक ऐसे मामले बेहद कम आए हैं. अभी तक साइंटिस्ट इस बात को पुख्ता नहीं कर पाए हैं कि वीर्य को ले जाने वाले फ्लूड यानी सीमेन में वायरस मौजूद है या नहीं. यह शख्स अपना इलाज तुर्की की राजधानी इस्तांबुल के असीबादेम मेहमत अली अयदिनलार यूनिवर्सिटी में करवा रहा है. इस शख्स का इलाज करने वाले डॉक्टर हाकन ओजवेरी और उनकी टीम ने बताया कि इस शख्स के अंडकोषों में हो रहा दर्द कोविड-19 संक्रमण का अपनी तरह का पहला केस है. हम इसे कोरोना होने का क्लीनिकल साइन मान रहे हैं. डॉ. ओजवेरी ने बताया कि यह शख्स अपने बाएं अंडकोष में सूजन और सनसनाहट वाला दर्द लेकर हमारे पास आया था. थोड़ी देर तक तो उसका दर्द हल्का रहा लेकिन बाद में इतना बढ़ गया कि वह पेट तक पहुंच गया. जब हमने जांच की तो पता चला कि उसके बाएं अंडकोष की तरफ जाने वाली स्पर्मैटिक कॉर्ड (स्पर्म ले जाने वाली नस) जरूरत से ज्यादा नरम हुई पड़ी थी. यह पेट से होकर बाएं अंडकोष तक जाती है. डॉ. ओजवेरी ने बताया कि शख्स के बाएं अंडकोष की तरफ हल्के हाथ से छूने पर भी भयानक दर्द हो हा था. हमने जांच की तो पता चला कि उसे सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STI), यूनिरनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन या ओर्चाइटिस भी नहीं था. आमतौर पर कोरोना वायरस श्वसन प्रणाली पर असर डालता है लेकिन यह पहला मामला है जब उसने अंडकोष को अपना शिकार बनाया है. डॉ. हाकन ओजवेरी ने कहा कि अब दुनिया भर के डॉक्टरों को इस लक्षण पर भी काम करना चाहिए. अगर कोई मरीज लगातार अंडकोषों में दर्द और सूजन की शिकायत लेकर आता है तो उसकी जांच की जानी चाहिए. क्या पता कोरोना वायरस ने अपना ठिकाना फेफड़ों के बजाय वहां बना लिया हो. क्योंकि ये भविष्य के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है. आपको बता दें कि अमेरिका के मेसाच्युसेट्स में एक 43 वर्षीय शख्स अस्पताल में भर्ती हुआ था, जिसके अंडकोषों में दर्द था. जो बाद में कोविड पॉजिटिव निकला. ठीक इसी तरह नवंबर के महीने में इटली के एक शख्स को अंडकोषों में भयानक दर्द हो रहा था. जो कुछ दिनों बाद कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से जान गंवा बैठा.

Top News