taaja khabar....कोरोना वैक्‍सीन कब, कैसे और कितने में मिलेगी, सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने दिया हर जवाब ...तब संसद में कृषि कानून की वकालत कर रही थी कांग्रेस, सिब्बल का वीडियो वायरल..कनाडा पीएम ट्रूडो के बयान पर भारत सख्त, उच्चायुक्त को किया तलब ...अमेरिका और बाकी दुनिया के लिए चीन सबसे बड़ा खतरा: अमेरिकी खुफिया निदेशक ...उइगर मुस्लिमों को हर शुक्रवार को सूअर का मांस खाने को मजबूर कर रहा चीन ...कश्‍मीर में नागोर्नो-काराबाख दोहराने की तैयारी में पाकिस्‍तान, तुर्की भेज रहा सीरियाई हत्‍यारे ....उत्तराखंड: नए डीजीपी अशोक कुमार का भ्रष्ट पुलिसकर्मियों को साफ संदेश, 'करप्शन किया, तो वर्दी पहनना भूल जाएं' ....मेघालय में 1525 किलोग्राम विस्फोटक, 6000 डेटोनेटर बरामद, छह लोग गिरफ्तार...कंगना रनौत पर भड़कीं स्वाति मालीवाल, बोलीं- चंद फिल्में करके गंदगी फैलाने वाली ...अयोध्या में 'राम सेतू' की शूटिंग करना चाहते हैं अक्षय, CM योगी से मांगी इजाजत...ईडी से बोला अकाउंटेंट- PFI के शाहीन बाग दफ्तर में रखा गया था बेहिसाब पैसा...

पश्चिम पर फूटा मलेशिया के पूर्व PM महातिर मोहम्मद का गुस्सा, कहा- 'मुस्लिमों को है फ्रांसीसी लोगों को मारने का अधिकार'

कुआलालंपुर फ्रांस इन दिनों पैगंबर मोहम्मद के कार्टून पर विवाद और अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर कहीं चर्चा, तो कहीं आलोचना के घेरे में है। फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैन्युअल मैक्रों पर ताजा हमला मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने बोला है। मोहम्मद ने न सिर्फ फ्रांस में की गईं हत्याओं को सही ठहराया है बल्कि यह तक कह डाला है कि गुस्साए मुस्लिमों को फ्रांस के लाखों लोगों को मारने का अधिकार है। इस बीच उन्होंने महिलाओं की आजादी पर भी बयानबाजी की है। बता दें कि महातिर भारत में उस वक्त आलोचना के शिकार बने थे, जब उन्होंने कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ दिया था। 'हत्या का समर्थन नहीं लेकिन...' कई सारे ट्वीट कर महातिर ने लिखा है कि फ्रांस में 18 साल के चेचन्याई मूल के लड़के ने एक टीचर का गला काट गिया। हमलावर इस बात से गुस्सा था कि टीचर ने पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाया था। टीचर अभिव्यक्ति की आजादी दिखाना चाहता था। उन्होंने लिखा है- 'एक मुस्लिम के तौर पर मैं हत्या का समर्थन नहीं करूंगा लेकिन जहां मैं अभिव्यक्ति की आजादी में विश्वास करता हूं, मुझे नहीं लगता कि उसमें लोगों का अपमान करना शामिल होता है।' गुस्साए लोग करते हैं हत्या' फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों पर हमला बोलते हुए महातिर ने लिखा है- 'मैक्रों यह नहीं दिखा रहे हैं कि वह सभ्य हैं। वह अपमान करने वाले स्कूल टीचर की हत्या करने पर इस्लाम और मुस्लिमों पर आरोप लगाकर पुराने विचार दिखा रहे हैं। यह इस्लाम की सीख में नहीं है।' उन्होंने आग कह डाला, 'हालांकि, धर्म से परे, गुस्साए लोग हत्या करते हैं। फ्रांस ने अपने इतिहास में लाखों लोगों की हत्या की है जिनमें से कई मुस्लिम थे। मुस्लिमों को गुस्सा होने और इतिहास में किए गए नरसंहारों के लिए फ्रांस के लाखों लोगों की हत्या करने का हक है।' पश्चिम के असर की आलोचना महातिर ने पश्चिमी मूल्यों और उनके असर की भी आलोचना की है। उन्होंने लिखा है कि हम अक्सर पश्चिम के तरीकों को कॉपी करते हैं। उनकी तरह कपड़े पहनते हैं, उनकी राजनीतिक व्यवस्था और अजीब प्रथाओं को भी अपना लेते हैं लेकिन हमारे अपने मूल्य हैं, जो नस्लों और धर्मों के बीच अलग-अलग हैं, इन्हें हमें बरकरार रखना है। महिलाओं के पहनावे पर भी बोले महातिर ने महिलाओं के पहनावे पर लिखा है, 'पश्चिम में महिलाओं के कपड़ों पर एक वक्त में बहुत प्रतिबंध थे। चेहरे को छोड़कर शरीर का कोई हिस्सा खुला नहीं रहता है लेकिन धीरे-धीरे शरीर के कई एक्सपोज किए जाने लगे। कई तटों पर बिलकुल कपड़े नहीं पहने जाते। पश्चिम में लोग इसे सामान्य मानते हैं लेकिन पश्चिम को दूसरों पर इसे बलपूर्वक नहीं थोपना चाहिए। ऐसा करने से इन लोगों की आजादी छीनी जाती है।'

Top News