taaja khabar...सुप्रीम कोर्ट से मोदी को राफेल पर बड़ी राहत, राहुल को झटका....मध्य प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री होंगे कमलनाथ, कांग्रेस ने किया ऐलान...हिमाचल विधानसभा में पारित हुआ गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा देने का प्रस्ताव...मुठभेड़ में मारे गए तीन लश्कर आतंकियों में हैदर मूवी में ऐक्टिंग करने वाला युवक भी शामिल...मिजोरम: पहली बार ईसाई रीति-रिवाजों के साथ होगा शपथ ग्रहण...पाकिस्तानियों को भारत में बसाने का विवादित कानून, SC ने उठाए सवाल...तीन राज्यों में हार के बाद 2019 के लिए मैराथन प्रचार में जुटेंगे पीएम मोदी, दक्षिण, पूर्व और पूर्वोत्तर पर नजर...बीजेपी का बड़ा दांव, गांधी परिवार के गढ़ से कुमार विश्वास को दे सकती है टिकट...छत्तीसगढ़ में हर तीसरे MLA पर आपराधिक केस, तीन-चौथाई करोड़पति...हार के बाद BJP ने 2019 के चुनाव के लिए भरी हुंकार, रणनीति तैयार...
फ्रांस को पीछे छोड़ भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था
पैरिस विकास के दम पर भारतीय अर्थव्यवस्था ने ऊंची उड़ान भरी है। फ्रांस को सातवें पायदान पर पीछे छोड़ते हुए भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। विश्व बैंक के 2017 के अपडेटेड डेटा में इसकी जानकारी दी गई है। इसके मुताबिक, भारत की GDP (सकल घरेलू उत्पाद) पिछले साल के आखिर में 2.597 ट्रिलियन डॉलर थी जबकि फ्रांस की 2.582 ट्रिलियन डॉलर। कई तिमाहियों की मंदी के बाद भारत की अर्थव्यवस्था जुलाई 2017 से फिर से मजबूत होने लगी। आपको बता दें कि भारत की आबादी इस समय 1 अरब 34 करोड़ है और यह दुनिया का सबसे आबादीवाला मुल्क बनने की दिशा में अग्रसर है। फ्रांस की आबादी 6 करोड़ 7 लाख है। हालांकि आंकड़ों के अनुसार प्रति व्यक्ति आय के मामले में भारत फ्रांस से कई गुना पीछे है। नोटबंदी और जीएसटी (माल एवं सेवा कर) के कारण दिखे ठहराव के बाद पिछले साल मैन्युफैक्चरिंग और उपभोक्ता खर्च में आई तेजी भारतीय अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के प्रमुख कारक रहे। एक दशक में भारत की जीडीपी दोगुनी हो चुकी है और संभावना जताई जा रही है कि चीन की रफ्तार धीमी पड़ सकती है जिससे भारत एशिया का प्रमुख आर्थिक ताकत के तौर पर उभर सकता है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुसार, इस साल भारत की ग्रोथ 7.4 फीसदी रह सकती है और कर सुधार एवं घरेलू खर्चे के चलते 2019 में भारत की विकास दर 7.8 फीसदी पहुंच सकती है। वहीं, दुनिया की औसत विकास दर के 3.9 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है। लंदन स्थित कंसल्टंसी फर्म सेंटर फॉर इकनॉमिक्स ऐंड बिजनस रिसर्च ने पिछले साल के आखिर में कहा था कि GDP के लिहाज से भारत ब्रिटेन और फ्रांस दोनों को पीछे छोड़ देगा। यही नहीं, 2032 तक भारत के दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यव्था बनने की भी संभावना जताई गई है। 2017 के आखिर में ब्रिटेन 2.622 ट्रिलियन की GDP के साथ दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था। आपको बता दें कि इस समय अमेरिका दुनिया की टॉप अर्थव्यवस्था है, उसके बाद चीन, जापान और जर्मनी का नंबर आता है।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/