taaja khabar...लद्दाख में अब चीनी सैनिकों का 1962 जैसा पैंतराः बजा रहे पंजाबी गाने, PM मोदी के खिलाफ भड़का रहे ...पैंगोंग झील: भारत के ऐक्‍शन के बाद 33 साल में पहली बार सबसे ज्‍यादा अलर्ट पर चीनी सेना ...लद्दाख: राजनाथ सिंह के बयान पर चीनी मीडिया को लगी म‍िर्ची, दे डाली युद्ध की धमकी ...लद्दाख में चीन से लंबा चलेगा तनाव! देपसांग में ग्राउंड वाटर की संभावनाएं तलाश रही सेना...महाराष्ट्र सरकार ने बढ़ाई बच्चन फैमिली की सुरक्षा, बीजेपी बोली- सुशांत और कंगना को क्यों नहीं दी? ...योगी आदित्यनाथ ने 87 लाख गरीबों के खाते में ट्रांसफर की 1311 करोड़ रुपये पेंशन ...चीन से तनाव के बीच शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक, कांग्रेस उठाएगी LAC का मुद्दा...UP के बाहुबली MLA विजय मिश्रा पर कसा शिकंजा, पत्नी-बेटा नहीं हुए हाजिर तो संपत्ति होगी कुर्क...नवंबर तक भारत में आ जाएगा कोरोना का रूसी टीका! डॉ. रेड्डीज से हुआ करार ...सरकार किसानों को दे रही 80% सब्सिडी, ऐसे ले सकते हैं फायदा..तीन महीने का इंतजार और फिर ‘ऑपरेशन स्नो लेपर्ड’ चला सेना ने ऐसे दी चीन को मात...जया पर रवि किशन का पलटवार, 'जिस थाली में जहर हो उसमे छेद करना ही पड़ेगा'..

प्राचीन भारतीय संस्कृति का अध्ययन करने के लिए 16 सदस्यीय समिति गठित :पटेल

नयी दिल्ली, 14 सितंबर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने सोमवार को संसद को सूचित किया कि सरकार ने करीब 12 हजार साल पहले भारतीय संस्कृति के उद्भव और विकास का अध्ययन करने के लिए विशेषज्ञ समिति का गठन किया है। पटेल ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि 16 सदस्यीय समिति में भारतीय पुरातत्व परिषद, नयी दिल्ली के अध्यक्ष और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पूर्व संयुक्त महानिदेशक के एन दीक्षित समेत अन्य शामिल हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आज से 12,000 साल पहले भारतीय संस्कृति के उद्भव और विकास तथा दुनिया की अन्य संस्कृतियों के साथ इसके समन्वय का समग्र अध्ययन करने के लिए एक समिति बनाई गयी है।’’ उक्ति समिति की रिपोर्ट का शैक्षणिक अनुसंधान के उद्देश्य से पाठ्यपुस्तकों में उपयोग करने की मंत्रालय की योजना संबंधी एक अन्य प्रश्न के जवाब में मंत्री ने कहा कि फिलहाल इस तरह का कोई प्रस्ताव नहीं है।

Top News