taaja khabar...सावधान! चीन से आ रहे हैं खतरनाक सीड पार्सल, केंद्र ने राज्यों और इंडस्ट्री को किया सतर्क....लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक हवाई हमले की ताकत जुटा रहा चीन, सैटलाइट तस्‍वीर से खुलासा..स्वतंत्रता दिवस से पहले गड़बड़ी की बड़ी साजिश, दिल्ली में भी विदेश से आए 'जहरीले' कॉल....सुशांत सिंहः बीजेपी ने कहा, राउत और आदित्य का CBI करे नार्को, राहुल और प्रियंका गांधी तोड़ें चुप्पी..विदेश मंत्री जयशंकर बोले- भारत और चीन पर दुनिया का बहुत कुछ निर्भर करता है...चीन को बड़ा झटका देने की तैयारी, गडकरी ने बताया क्या है प्लान...कोरोना पर खुशखबरी, देश में 70% के पास पहुंचा कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट...सुशांत के पिता पर टिप्पणी कर फंसे शिवसेना नेता संजय राउत, परिवार करेगा मानहानि का केस...राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी कराने की कोशिशें तेज ...पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव हुए, अस्पताल में भर्ती ...कोरोना पॉजिटिव पाए गए केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, AIIMS में भर्ती ...दिल्ली हिंसा: आरोपी गुलफिशा ने किए चौंकाने वाले खुलासे, 'सरकार की छवि खराब करना था मकसद' ...

मिला अलर्ट, दिल्ली में बढ़ी चौकसी, ड्रोन से निगरानी

नई दिल्ली खुफिया एजेंसियों ने 5 अगस्त और 15 अगस्त को लेकर बड़े हमले का अलर्ट जारी किया है। खासकर हिंदूवादी नेताओं की जान को खतरा बताया है। 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाने का एक साल पूरा हो रहा है। इसी तारीख को रामजन्म भूमि पूजन है। ह्यूमन इंटेलिजेंस और इलेक्ट्रॉनिक इंटरसेप्ट्स के आधार पर यह अंदेशा जताया जा रहा है कि आतंकवादियों की टोली स्लीपर मॉड्यूल की मदद से खतरनाक मंसूबों को अंजाम देने की फिराक में है। इनपुट दिल्ली, यूपी, पंजाब, कश्मीर और मुंबई के लिए जारी किया है। कहा गया है कि 5 अगस्त के आसपास इस बार आतंकी संगठन कुछ बड़ा करने की फिराक में हैं। आरएसएस, हिंदूवादी संगठन और बीजेपी नेताओं को निशाना बनाया सकता है। माना जा रहा है कि आतंकी पुलिस या आर्मी यूनिफॉर्म में हमला कर सकते हैं। नेताओं की सुरक्षा में लगे जवानों को सर्तकता बरतते हुए अपनी मूवमेंट के बारे में पुलिस को पहले से जानकारी देने के लिए कहा है। सभी एजेंसियों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। पुलिस को साझा किए गए इंटेल नोट की जानकारी में कहा गया है कि पाकिस्तान के आईएसआई समर्थित आतंकवादी संगठन 5 अगस्त को हमले को अंजाम देने की कोशिश कर रहे हैं। आईएसआई ने लश्कर ए तैयबा और जैश ए मोहम्मद के टॉप कमांडर को हमला करने का आदेश दिया है। ऐसे में दिल्ली पुलिस और सटे हुए राज्यों की पुलिस के साथ कॉर्डिनेशन कम्यूनिकेशन जारी है। कॉर्डिनेशन मीटिंग भी होने जा रही है। संवेदनशील इलाकों में आने जाने वालों पर पैनी निगाह है। डोर-टु-डोर चेकिंग भी की जा रही है। पुलिस अफसर ने कहा कि संवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरे से निगरानी की जाएगी। दिन हो या रात, लोकल इंटेलिजेंस की पैनी नजर है। सुरक्षा एजेंसियों की चिंता यूएन की रिपोर्ट ने और बढ़ा दी है, जिसमें कहा गया है कि केरल और कर्नाटक में आईएसआईएस ने गहरी जड़ें जमा ली हैं। हमले की साजिश रची जा रही है। संगठन में भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और म्यामांर के करीब 200 आतंकवादी हैं, जो एक बड़े खतरे का संकेत हैं। इस बीच, अदालत व अन्य ट्रिब्लयूनल में तैनात दिल्ली पुलिस के जवानों को 31 जुलाई तक अपने संबंधित थाने, यूनिट, पीएचक्यू डीसीपी को रिपोर्ट करने का निर्देश जारी किया गया है। आला अफसर ने बताया कि इन दिनों कोरोना की वजह से थानों, यूनिटों में स्टाफ की कमी चल रही है। 5 अगस्त और 15 अगस्त को लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाया गया है।

Top News