taaja khabar...सावधान! चीन से आ रहे हैं खतरनाक सीड पार्सल, केंद्र ने राज्यों और इंडस्ट्री को किया सतर्क....लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक हवाई हमले की ताकत जुटा रहा चीन, सैटलाइट तस्‍वीर से खुलासा..स्वतंत्रता दिवस से पहले गड़बड़ी की बड़ी साजिश, दिल्ली में भी विदेश से आए 'जहरीले' कॉल....सुशांत सिंहः बीजेपी ने कहा, राउत और आदित्य का CBI करे नार्को, राहुल और प्रियंका गांधी तोड़ें चुप्पी..विदेश मंत्री जयशंकर बोले- भारत और चीन पर दुनिया का बहुत कुछ निर्भर करता है...चीन को बड़ा झटका देने की तैयारी, गडकरी ने बताया क्या है प्लान...कोरोना पर खुशखबरी, देश में 70% के पास पहुंचा कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट...सुशांत के पिता पर टिप्पणी कर फंसे शिवसेना नेता संजय राउत, परिवार करेगा मानहानि का केस...राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, घर वापसी कराने की कोशिशें तेज ...पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव हुए, अस्पताल में भर्ती ...कोरोना पॉजिटिव पाए गए केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, AIIMS में भर्ती ...दिल्ली हिंसा: आरोपी गुलफिशा ने किए चौंकाने वाले खुलासे, 'सरकार की छवि खराब करना था मकसद' ...

भूमि पूजन से पहले भक्तों के नाम ट्रस्ट का संदेश, अयोध्या आने को न हों आतुर

अयोध्या, 29 जुलाई 2020,श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्र्स्ट ने देश भर के राम श्रद्धालुओं से अपील की है कि 5 अगस्त को वे भूमि पूजन के मौके पर अयोध्या पहुंचने के लिए आतुर न हों. ट्रस्ट ने कहा है कि लोग सायंकाल में अपने घरों में दीपक जलाकर इस दिव्य अवसर का भव्य स्वागत करें. ट्रस्ट ने कहा है कि भविष्य में किसी उचित अवसर पर राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण यज्ञ में सभी राम भक्तों को शामिल होने का अवसर मिले, यह प्रयास अवश्य होगा. राम मंदिर निर्माण और प्रबंधन के लिए ट्विटर अकाउंट बता दें कि श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ट्विटर पर एंट्री शानदार रही है. वेरिफाई होने के कुछ ही देर बाद इस अकाउंट को हजारों फॉलोअर मिल गए हैं. श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्विटर अकाउंट पर परिचय में कहा गया है कि इस ट्विटर अकाउंट को राम मंदिर निर्माण और इसके प्रबंधन के लिए बनाया गया है. इसमें कहा गया है कि ये श्री राम रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का आधिकारक अकाउंट है. 5 अगस्त को अयोध्या में भूमिपूजन कार्यक्रम के बारे में ट्वीट करते हुए श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने कहा, "1984 में प्रारंभ हुए श्री राम जन्म भूमि मन्दिर निर्माण आन्दोलन में लाखों करोड़ों राम भक्तों का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष सहयोग प्राप्त हुआ हैं. उन सभी की यह स्वाभाविक इच्छा होगी कि वे इस भूमि पूजन के पवित्र ऐतिहासिक अवसर पर प्रत्यक्ष उपस्थित रहें." कोरोना की वजह से सबकी उपस्थिति संभव नहीं ट्रस्ट ने कहा कि श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की भी ऐसी ही भावना थी. किंतु कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थिति में ऐसा करना असंभव है, किंतु प्रधानमंत्री इस ऐतिहासिक प्रसंग पर अयोध्या आकर श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण कार्य तीव्र गति से प्रारंभ करा दें, इसलिए भूमि पूजन आवश्यक है. अयोध्या आने के लिए आतुर न हों श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास सभी राम भक्तों से निवेदन करता है कि अयोध्या पहुंचने के लिए व्यग्र न हो , सभी लोग अपने स्थान से समारोह का सजीव प्रसारण देखें और सायंकाल अपने घर पर दीपक जलाकर दिव्य भव्य अवसर का स्वागत करें. ट्रस्ट के मुताबिक भविष्य में किसी उचित अवसर पर राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण यज्ञ में सभी राम भक्तों को सम्मिलित होने का अवसर मिले, यह प्रयास अवश्य होगा.

Top News