taaja khabar....राफेल डील पर नई रिपोर्ट का दावा, नियमों के तहत रिलायंस को मिला ठेका.....सीबीआई को पहली कामयाबी, भारत लाया गया विदेश भागा भगोड़ा मोहम्मद याह्या.....राजस्थान विधानसभा चुनाव की बाजी पलट कर लोकसभा के लिए बढ़त की तैयारी में BJP.......GST के बाद एक और बड़े सुधार की ओर सरकार, पूरे देश में समान स्टैंप ड्यूटी के लिए बदलेगी कानून....UNHRC में भारत की बड़ी जीत, सुषमा स्वराज ने जताई खुशी....PM मोदी के लिखे गाने पर दृष्टिबाधित लड़कियों ने किया गरबा.....मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: कांग्रेस के साथ नहीं एसपी-बीएसपी, बीजेपी को हो सकता है फायदा....गुरुग्रामः जज की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ने उनकी पत्नी, बेटे को बीच सड़क गोली मारी, अरेस्ट....बेंगलुरु में HAL कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, बोले- राफेल आपका अधिकार....कैलाश गहलोत के घर से टैक्स चोरी के सबूत मिलेः आईटी विभाग.....मेरे लिए पाकिस्तान की यात्रा दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर: सिद्धू....घायल रहते 2 उग्रावादियों को किया ढेर, शहादत के बाद इंस्पेक्टर को मिलेगा कीर्ति चक्र....छत्तीसगढ़: कांग्रेस को तगड़ा झटका, रामदयाल उइके BJP में शामिल....
शरीफ ने मुंबई हमले की अपनी टिप्पणी की निंदा खारिज की
इस्लामाबाद नवाज शरीफ ने 2008 के मुंबई हमले पर की गई अपनी विवादास्पद टिप्पणी की पाकिस्तान के शीर्ष असैन्य और सैन्य नेतृत्व द्वारा की गई निंदा को मंगलवार को खारिज कर दिया। साथ ही, अपदस्थ प्रधानमंत्री ने देशद्रोह करने वाले का पता लगाने के लिए एक राष्ट्रीय आयोग के गठन की मांग की। मुंबई हमलों पर शरीफ की टिप्पणी की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की सोमवार को हुई बैठक में निंदा की गई और इसे गलत एवं गुमराह करने वाला बताया गया था। गौरतलब है कि पिछले हफ्ते एक साक्षात्कार में शरीफ ने सीमा पार करने और मुंबई में लोगों की हत्या करने के लिए सरकार से इतर तत्वों को इजाजत देने की पाकिस्तान की नीति पर सवाल उठाया था। उन्होंने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया था कि देश में आतंकी संगठन सक्रिय हैं। उनकी टिप्पणी ने विवाद छेड़ दिया। इसके बाद पाकिस्तान के शीर्ष असैन्य-सैन्य संस्था एनएससी को एक उच्च स्तरीय बैठक बुलानी पड़ी थी। पाकिस्तानी मीडिया में सोमवार को आई खबर के मुताबिक बैठक के बाद प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने शरीफ से मुलाकात की और उन्हें मुंबई हमलों पर उनकी टिप्पणी को लेकर सैन्य नेतृत्व की चिंताओं से अवगत कराया। वहीं, शरीफ ने अदालत के बाहर संवाददाताओं से कहा कि एनएससी का बयान गलत, दुखद और भयावह है। उन्होंने एक राष्ट्रीय आयोग का गठन करने की मांग दोहराई, ताकि यह पता लगाया जा सके कि देशद्रोह किसने किया है। शरीफ ने कहा कि एक कौन देशभक्त है और कौन देशद्रोही है, इस बारे में फैसला किए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'हमें यह पता लगाना होगा कि देश में आतंकवाद की नींव किसने रखी।' शरीफ ने कहा, 'पाकिस्तान अलग-थलग नहीं पड़ रहा, यह पहले से अलग-थलग है। मुझे बताइए कि कौन देश हमारे साथ खड़ा है, क्या कोई है?' इस बीच, अब्बासी ने मंगलवार को शरीफ की टिप्पणी का नैशनल असेंबली में बचाव करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री के बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया और गलत मतलब निकाला गया।

Top News

http://www.hitwebcounter.com/